ज्योतिष

BBN दैनिक राशिफल : पढ़े आज10 अगस्त का राशिफल | ऐसा रहेगा आपका दिन, देखिए क्या कहती है आपकी राशि?

BBN_24_NEWS

मेष
व्यवसाय ठीक चलेगा। राजकीय सहयोग मिलेगा। धनार्जन होगा। प्रमाद न करें। अपनी भावनाओं को संयमित रखकर कार्य करें। भागीदारी के कार्यों में आपके द्वारा लिए गए निर्णयों से लाभ होगा। नवीन मुलाकातों से लाभ होगा। पूजा-पाठ में मन लगेगा।

वृष
कार्यस्थल पर सुधार होगा। नए अनुबंध हो सकते हैं। योजना फलीभूत होगी। धनार्जन होगा। आर्थिक क्षेत्र में उन्नति के अवसर प्राप्त होंगे। समाज, परिवार में आपकी सलाह को महत्व मिलेगा। अध्ययन में रुचि बढ़ेगी। पारिवारिक जीवन में मतभेद खत्म होंगे।

मिथुन
यात्रा, नौकरी व निवेश मनोनुकूल रहेंगे। बकाया वसूली होगी। आय में वृद्धि होगी। प्रसन्नता रहेगी। व्यापार-व्यवसाय लाभप्रद रहेगा। भौतिक सुख-साधनों की प्राप्ति होगी। व्यापार में नई योजनाओं का श्रीगणेश संभव है। दांपत्य जीवन सुखद रहेगा। कार्यक्षमता में वृद्धि होगी।

कर्क
अप्रत्याशित खर्च होंगे। कर्ज लेना पड़ सकता है। दुष्टजन हानि पहुंचा सकते हैं। वस्तुएं संभालकर रखें। आर्थिक स्थिति से ऋण की समस्या उभरेगी। चापलूसों से सावधान रहें। लेन-देन में सावधानी रखें। अनिर्णय की परिस्थिति से दूर रहना चाहिए।

सिंह
व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। भेंट व उपहार की प्राप्ति होगी। धनार्जन होगा। प्रसन्नता रहेगी। प्रमाद न करें। प्रसिद्ध व्यक्ति से मेलजोल बढ़ेगा। मकान, वाहन के क्रय-विक्रय की चर्चा संभव है। संतान की प्रगति से मन प्रसन्न रहेगा। रुका पैसा प्राप्त होगा।

कन्या
पुराने मित्र व संबंधी मिलेंगे। अच्छे समाचार मिलेंगे। विवाद से बचें। मान बढ़ेगा। व्यवसाय ठीक चलेगा। परिवार में शांति का अनुभव होगा। व्यापार-व्यवसाय में अनुकूल अवसर प्राप्त होंगे। कानूनी कार्रवाई, कोर्ट-कचहरी के मामलों से दूर रहना चाहिए।

तुला
मेहनत का फल मिलेगा। कार्यसिद्धि होगी। प्रतिष्ठा बढ़ेगी। व्यवसाय ठीक चलेगा। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। व्यापार-व्यवसाय में गति आएगी। आर्थिक समस्याओं का निराकरण संभव है। व्यापार, कारोबार में नई जवाबदारी बढ़ेगी। धर्म में रुचि रहेगी।

वृश्चिक
मेहनत अधिक होगी। बुरी खबर मिल सकती है। लेन-देन में सावधानी रखें। पुराना रोग उभर सकता है। व्यापार, नौकरी में स्थिति मध्यम रहेगी। बुद्धि, विवेक से कार्य करने पर विघ्न-बाधाएँ दूर हो सकेंगी। क्रोध एवं उत्तेजना पर संयम रखें।

धनु
स्वादिष्ट भोजन का आनंद मिलेगा। रचनात्मक कार्य सफल होंगे। व्यवसाय ठीक चलेगा। विवाद न करें। व्यापार में स्वयं के निर्णय से काम कर पाएँगे। स्थायी संपत्ति क्रय करने में जल्दबाजी न करें। साहस, पराक्रम में वृद्धि होगी। अपनी वस्तुओं को संभालकर रखें।

मकर
कोर्ट व कचहरी के कार्यों में अनुकूलता रहेगी। जीवनसाथी से सहयोग मिलेगा। व्यवसाय ठीक चलेगा। लाभ होगा। आर्थिक साधनों में बढ़ोतरी होगी। सामाजिक कार्यों में सीमित रहना चाहिए। समय का सदुपयोग होगा। परिवार में सुख-शांति रहेगी।

कुंभ
वाहन व मशीनरी के प्रयोग में सावधानी रखें। कुसंगति व जल्दबाजी से बचें। विवेक से कार्य करें, लाभ होगा। कार्यक्षेत्र का विस्तार होगा। जीवनसाथी से आर्थिक मतभेद हो सकते हैं। खर्च की अधिकता से मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है।

मीन
संपत्ति के कार्य लाभ देंगे। बेरोजगारी दूर होगी। व्यवसाय ठीक चलेगा। प्रसन्नता रहेगी। जल्दबाजी न करें। प्रवास में सावधानी रखें। विरोधियों एवं शत्रुओं के कारण अशांति होगी। नवीन कार्ययोजना की बातचीत में सफलता मिलने के संयोग बनें.

पवनदेव शर्मा ज्योतिष अध्ययनरत काशी हिंदु विश्व विधालय  वाराणसी

दैनिक राशिफल : पढ़े आज 9अगस्त का राशिफल | ऐसा रहेगा आपका दिन, देखिए क्या कहती है आपकी राशि?

मेष
ऐश्वर्यादि पर खर्च होगा। यश बढ़ेगा। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। नए काम मिल सकते हैं। आर्थिक वृद्धि के लिए योजना बनेगी। कार्यप्रणाली में सुधार होगा। कारोबार में वृद्धि के योग हैं। नौकरी में जवाबदारी बढ़ सकती है। थकान व कमजोरी रह सकती है। विरोधी सक्रिय रहेंगे।

वृष
विवेक से कार्य करें, लाभ होगा। किसी धार्मिक स्थल के दर्शन का कार्यक्रम बन सकता है। मित्रों से भेंट होगी। किसी प्रभावशाली व्यक्ति का सहयोग व मार्गदर्शन प्राप्त होगा। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। जीवनसाथी की चिंता रहेगी। घर में सुख-शांति बनी रहेगी। घर-बाहर पूछ-परख रहेगी।

मिथुन
वाहन व मशीनरी के प्रयोग में लापरवाही न करें। अनहोनी की आशंका निर्मूल नहीं हो सकती है। पुराना रोग उभर सकता है। वाणी पर नियंत्रण रखें। दूसरों के मामलों में हाथ न डालें। लेन-देन में जल्दबाजी न करें। किसी व्यक्ति के व्यवहार से क्लेश होगा। आय होगी। जोखिम न उठाएं।

कर्क
परिवार के किसी सदस्य के स्वास्थ्य संबंधी चिंता रहेगी। मित्रों का सहयोग प्राप्त होगा। परिवार में कोई मांगलिक कार्य का आयोजन हो सकता है। जीवनसाथी से सहयोग प्राप्त होगा। व्यापार-व्यवसाय लाभदायक रहेगा। शत्रुभय रहेगा। नौकरी में मातहतों का सहयोग मिलेगा।

सिंह
किसी भी व्यक्ति के उकसाने में न आएं। बातचीत में संयम रखें। शत्रुता में कमी रहेगी। स्थायी संपत्ति की खरीदी-बिक्री की योजना बनेगी। उन्नति के मार्ग प्रशस्त होंगे। पार्टनरों तथा मित्रों का सहयोग प्राप्त होगा। रोजगार प्राप्ति के प्रयास सफल रहेंगे। नौकरी में अधिकार बढ़ सकते हैं।

कन्या
शारीरिक कष्ट संभव है। चिंता तथा तनाव रहेंगे। संतान संबंधी बुरी सूचना प्राप्त हो सकती है। बौद्धिक कार्य सफल रहेंगे। पार्टी व पिकनिक का कार्यक्रम बन सकता है। सृजनशीलता का विकास होगा। धन प्राप्ति सुगम होगी। व्यापार-व्यवसाय सुखद रहेगा। जल्दबाजी न करें।

तुला
शत्रु पीठ पीछे षड्यंत्र रच सकते हैं। प्रियजनों के साथ रिश्तों में खटास आ सकती है। विवाद को बढ़ावा न दें। दूर से दु:खद समाचार मिल सकता है। पुराने रोग को नजरअंदाज न करें। व्यय होगा। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। व्यापार-व्यवसाय की गति धीमी रहेगी।

वृश्चिक
सुख के साधन जुटेंगे। यात्रा मनोरंजक रहेगी। मित्रों का साथ मिलेगा। प्रयास सफल रहेंगे। किसी विवाद में विजय मिल सकती है। सामाजिक काम करने का मन बनेगा। पराक्रम व प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। धन प्राप्ति सुगम होगी। कारोबारी कामकाज चलते रहेंगे। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी।

धनु
प्रेम-प्रसंग में अनुकूलता रहेगी। भेंट व उपहार देना पड़ सकते हैं। बेवजह तनाव रह सकता है। सिर में चोट लग सकती है। दूर से शुभ समाचार प्राप्त होंगे। घर में अतिथियों का आगमन होगा। व्यय बढ़ेगा। आत्मविश्वास में वृद्धि होगी। कोई बड़ा काम करने तथा यात्रा पर जाने का मन बनेगा। आय बनी रहेगी।

मकर
यात्रा लंबी तथा मनोरंजक रह सकती है। अप्रत्याशित लाभ के योग हैं। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। रोजगार प्राप्ति के प्रयास सफल रहेंगे। जीवन सुखमय व्यतीत होगा। प्रसन्नता तथा उत्साह से ओत-प्रोत रहेंगे। पारिवारिक सहयोग प्राप्त होगा। चोट-रोग व चोरी-विवाद से बचें।

कुंभ
जल्दबाजी से चोट लग सकती है। कुसंगति से बचें। कोई अप्रत्याशित खर्च सामने आएगा। कर्ज लेना पड़ सकता है। असमंजस की स्थिति बनेगी। लेन-देन में जल्दबाजी व लापरवाही न करें। भावनाओं को वश में रखें। मन की बात किसी को न बतलाएं। प्रतिष्ठा में कमी हो सकती है।

मीन
बकाया वसूली के प्रयास सफल रहेंगे। यात्रा मनोरंजक रहेगी। मित्रों तथा पारिवारिक सदस्यों के साथ समय सुखमय व्यतीत होगा। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। व्यापार-व्यवसाय लाभदायक रहेगा। नौकरी में अधिकार बढ़ सकते हैं। घर-बाहर पूछ-परख रहेगी। प्रमाद न करें।

आपका दिन मंगलमय हो

प .पवन देव शर्मा ज्योतिष अद्यययनरत काशी हिंदू विश्व विधालय वाराणसी

दैनिक राशिफल : पढ़े आज 8 अगस्त का राशिफल | ऐसा रहेगा आपका दिन, देखिए क्या कहती है आपकी राशि?

मेष
नई योजना बनेगी। कार्यप्रणाली में सुधार होगा। मान-सम्मान मिलेगा। व्यवसाय ठीक चलेगा। स्वास्थ्य के प्रति सावधानी रखें। कार्यक्षमता एवं कार्यकुशलता बढ़ेगी। कर्म के प्रति पूर्ण समर्पण व उत्साह रखें। व्यापार में नई योजनाओं से लाभ होगा।

वृष
दिन प्रेमभरा गुजरेगा। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। रुका हुआ धन मिलेगा। प्रसन्नता रहेगी। जल्दबाजी न करें। प्रियजनों से पूरी मदद मिलेगी। धन प्राप्ति के योग हैं। स्वयं के सामर्थ्य से ही भाग्योन्नति के अवसर आएँगे। संतान के कार्यों में उन्नति के योग हैं।

मिथुन
कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। व्ययवृद्धि होगी। तनाव रहेगा। अपरिचितों पर विश्वास न करें। प्रयास में आलस्य व विलंब नहीं करना चाहिए। रुके हुए काम समय पर होने की संभावना है। विरोधी परास्त होंगे। यात्रा कष्टप्रद हो सकती है। धैर्य एवं संयम बना रहेगा।

कर्क
बेरोजगारी दूर होगी। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। भेंट व उपहार की प्राप्ति होगी। जोखिम न लें। क्रोध एवं उत्तेजना पर संयम रखें। सत्कार्य में रुचि बढ़ेगी। प्रियजनों का पूर्ण सहयोग मिलेगा। व्यावसायिक चिंताएँ दूर होंगी। आर्थिक स्थिति मजबूत होगी।

सिंह
रोमांस में समय बीतेगा। मेहनत का फल मिलेगा। कार्यसिद्धि से प्रसन्नता रहेगी। व्यवसाय ठीक चलेगा। प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। परिवार में प्रसन्नता का वातावरण रहेगा। व्यापार के कार्य से बाहर जाना पड़ सकता है। कार्यपद्धति में विश्वसनीयता बनाएँ रखें। धनार्जन होगा।

कन्या
अतिथियों का आवागमन रहेगा। उत्साहवर्धक सूचना मिलेगी। स्वाभिमान बना रहेगा। नई योजनाओं की शुरुआत होगी। संतान की प्रगति संभव है। भूमि व संपत्ति संबंधी कार्य होंगे। पूर्व कर्म फलीभूत होंगे। परिवार में सुखद वातावरण रहेगा। व्यापार में इच्छित लाभ होगा।

तुला
उत्तेजना पर नियंत्रण रखें। शत्रु सक्रिय रहेंगे। शोक समाचार मिल सकता है। थकान महसूस होगी। व्यावसायिक चिंता रहेगी। संतान के व्यवहार से कष्ट होगा। सहयोगी मदद नहीं करेंगे। व्ययों में कटौती करने का प्रयास करें। वाहन चलाते समय सावधानी रखें।

वृश्चिक
रचनात्मक कार्य सफल रहेंगे। पार्टी व पिकनिक का आनंद मिलेगा। व्यवसाय ठीक चलेगा। विवाद न करें। सामाजिक एवं राजकीय ख्याति में अभिवृद्धि होगी। आर्थिक अनुकूलता रहेगी। रुका धन मिलने से धन संग्रह होगा। राज्यपक्ष से लाभ के योग हैं।

धनु
भूमि व भवन संबंधी कार्य लाभ देंगे। रोजगार मिलेगा। शत्रु भय रहेगा। निवेश व नौकरी लाभ देंगे। व्यापार अच्छा चलेगा। कार्य के विस्तार की योजनाएँ बनेंगी। रोजगार में उन्नति एवं लाभ की संभावना है। पठन-पाठन में रुचि बढ़ेगी। लाभदायक समाचार मिलेंगे।

मकर
राजकीय बाधा दूर होकर लाभ होगा। प्रेम-प्रसंग में अनुकूलता रहेगी। क्रोध पर नियंत्रण रखें। लाभ होगा। रुके हुए काम समय पर पूरे होने से आत्मविश्वास बढ़ेगा। परिवार की समस्याओं का समाधान हो सकेगा। व्यापार में नई योजनाएँ बनेंगी। व्यापार अच्छा चलेगा।

कुंभ
चोट, चोरी व विवाद से हानि संभव है। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। कुसंगति से हानि होगी। अपने काम से काम रखें। स्वास्थ्य के प्रति लापरवाही न करें। आवास संबंधी समस्या हल होगी। आलस्य न करें। सोचे काम समय पर नहीं हो पाएँगे।

मीन
कोर्ट-कचहरी में अनुकूलता रहेगी। पूजा-पाठ में मन लगेगा। व्यवसाय ठीक चलेगा। झंझटों में न पड़ें। उधार दिया धन मिलने से राहत हो सकती है। जीवनसाथी का सहयोग उलझे मामले सुलझाने में सहायक हो सकेगा। वाहन सावधानी से चलाएँ।

आपका दिन मंगलमय हो

प .पवनदेव शर्मा ज्योतिष अद्यययनरत काशी हिंदू विश्वविघालय वाराणसी

रूपमंडन ग्रंथ के अनुसार आर्थिक तरक्की के लिए घर में रखी जाती है गणेश जी की ऐसी मूर्ति

वास्तुशास्त्र के रूपमंडन और विष्णुधर्मोत्तर पुराण में बताया गया है कि गणेश जी की मूर्ति को घर में रखना शुभ होता है। मत्स्य पुराण का कहना है कि घर के मेनगेट पर बंदनवार के साथ ही गणेश जी की मूर्ति स्थापित करने से घर में सुख और समृद्धि बढ़ती है। काशी के ज्योतिष और वास्तु विशेषज्ञ पं. पवन देव शर्मा के अनुसार ऐसे घर में लक्ष्मीजी का वास माना गया है। वास्तु के ग्रंथों के अनुसार ऐसी मूर्ति जिसमें गणेश जी की सूंड दाईं ओर घूमी हुई हो, उसे घर में रखने से वहां रहने वाले लोग आर्थिक रूप से मजबूत होते हैं।

गणेशजी की मूर्ति से जुड़ी खास बातें और उनका महत्व

मत्स्य पुराण के अनुसार घर के मेन गेट पर बंदनवार बांधनी चाहिए। इसके साथ ही गणेश जी की छोटी सी मूर्ति भी मेनगेट के ऊपर स्थापित करने से घर में सुख और समृद्धि बढ़ती है।
घर में बैठे हुए गणेश जी तथा कार्यस्थल पर खड़े गणपति जी का चित्र लगाना चाहिए, ध्यान रखें कि खड़े गणेश जी के दोनों पैर जमीन का स्पर्श करते हुए हों। इससे कार्य में स्थिरता आती है।


घर या कार्यस्थल के किसी भी भाग में वक्रतुण्ड की प्रतिमा अथवा चित्र लगाए जा सकते हैं। यह ध्यान रखना चाहिए कि गणेश जी की मूर्ति का मुंह उत्तर या पूर्व दिशा में ना हो।
सुख, शांति, समृद्धि की चाह रखने वालों के लिए सफेद रंग के विनायक की मूर्ति, चित्र लगाना चाहिए। सर्वमंगल की कामना करने वालों के लिए सिन्दूरी रंग के गणपति की आराधना अनुकूल रहती है।
गणेश जी की जिस मूर्ति की सूंड दाईं ओर घूमी हुई हो ऐसी मूर्ति की पूजा करने से भौतिक सुख और समृद्धि बढ़ती है। इसके अलावा मोक्ष चाहने वाले लोगों को बाईं और मूडी सूंड वाले गणपति जी की मूर्ति घर में रखनी चाहिए।प.पवन देव शर्मा ज्योतिष  अध्ययनरत (काशी हिंदू विश्वविधालय वाराणसी

पढ़े आज 3 अगस्त का राशिफल | ऐसा रहेगा आपका दिन, देखिए क्या कहती है आपकी राशि?

मेष

धर्म-कर्म में रुचि रहेगी। सत्संग का लाभ मिलेगा। तीर्थयात्रा की योजना बनेगी। ऐश्वर्य के साधनों पर व्यय होगा। राजकीय सहयोग प्राप्त होगा। कारोबार में वृद्धि होगी। विरोधी सक्रिय रहेंगे। निवेश शुभ रहेगा। बुद्धि का प्रयोग करें। प्रमाद से बचें। रोजगार में वृद्धि होगी। नौकरी में प्रभाव क्षेत्र में वृद्धि होगी।

वृष

चोट व दुर्घटना से हानि तथा पीड़ा का योग बनता है। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। स्वास्थ्य का पाया कमजोर रहेगा। विवाद को बढ़ावा न दें, क्लेश हो सकता है। पार्टनरों से मतभेद हो सकता है। शारीरिक शिथिलता रहेगी। आय में निश्चितता रहेगी। जोखिम न उठाएं।

मिथुन

कानूनी अड़चन दूर होगी। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। नौकरी में अधिकारी वर्ग प्रसन्नता जाहिर करेगा। कारोबार में वृद्धि होगी। निवेश इत्यादि मनोनुकूल लाभ देंगे। पारिवारिक सहयोग मिलने से प्रसन्नता, उत्साह व संतुष्टि रहेंगे। कुसंगति से बचें। स्वास्थ्य कमजोर रह सकता है।

कर्क

स्थायी संपत्ति में वृद्धि के योग हैं। पार्टनरों से सहयोग प्राप्त होगा। कोई कारोबारी बड़ा सौदा लाभ दे सकता है। उन्नति के मार्ग प्रशस्त होंगे। रोजगार में वृद्धि होगी। व्यापार-व्यवसाय में मनोनुकूल लाभ होगा। नौकरी में सहकर्मी साथ देंगे। प्रतिद्वंद्विता बढ़ेगी। जल्दबाजी न करें।

सिंह

शत्रु परास्त होंगे। रचनात्मक कार्य सफल रहेंगे। पार्टी व पिकनिक का आयोजन हो सकता है। स्वादिष्ट व्यंजनों का लाभ प्राप्त होगा। जीवन सुखमय व्यतीत होगा। विवाद को बढ़ावा न दें। वाणी पर नियंत्रण आवश्यक है। काम में मन लगेगा। नौकरी में कोई नया काम कर पाएंगे। प्रमाद न करें।

कन्या

बुरी खबर प्राप्त हो सकती है। उत्साह में कमी रहेगी। स्वास्थ्य का पाया कमजोर रहेगा। दौड़धूप अधिक रहेगी। घर-परिवार की चिंता बनी रहेगी। दूसरों के कार्य में हस्तक्षेप न करें। अपने काम पर ध्यान दें। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। आय में निश्चितता रहेगी।

तुला

व्यापार-व्यवसाय में लाभ के योग हैं। मित्रों की सहायता कर पाएंगे। मेहनत का फल मिलेगा। नौकरी मे प्रभाव बढ़ेगा। उच्चाधिकारी प्रसन्न रहेंगे। सामाजिक प्रतिष्ठा बढ़ेगी। उत्साह वृद्धि होगी। आय के नए साधन प्राप्त हो सकते हैं। धनार्जन सुगम होगा। घर-बाहर प्रसन्नता बनी रहेगी।

वृश्चिक

घर में मेहमानों का आगमन होगा। उत्साहवर्धक सूचना प्राप्त होगी। आत्मसम्मान बना रहेगा। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। ऐश्वर्य के साधनों पर व्यय होगा। व्यापार-व्यवसाय मनोनुकूल लाभ देगा। नौकरी में चैन रहेगा। नए मित्र बनेंगे। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। जोखिम न लें।

धनु

आशंका-कुशंका के चलते निर्णय लेने की क्षमता कम हो सकती है। जीवनसाथी से सहयोग प्राप्त होगा। यात्रा मनोरंजक रहेगी। भेंट व उपहार की प्राप्ति के योग हैं। रोजगार में वृद्धि होगी। नौकरी में पदोन्नति संभव है। धन प्राप्ति सुगम होगी। उत्साह से काम कर पाएंगे। अच्छी खबरें प्राप्त होंगी।

मकर

वाणी में हल्के शब्दों के प्रयोग से बचें। फालतू खर्च होगा। कुसंगति से हानि होगी। बड़ों की सलाह मानें, लाभ होगा। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। कानूनी अड़चन से सामना हो सकता है। हड़बड़ी न करें। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। चिंता बनी रहेगी। व्यवसाय ठीक चलेगा।

कुंभ

यात्रा लाभदायक रहेगी। रुका हुआ धन प्राप्ति के योग हैं, प्रयास करें। कारोबार मनोनुकूल लाभ देगा। नौकरी में मातहतों का सहयोग मिलेगा। धन प्राप्ति सुगम होगी। उत्साह तथा प्रसन्नता से काम कर पाएंगे। थकान व कमजोरी रह सकती है। व्यस्तता रहेगी। जीवन सुखमय बीतेगा।

मीन

मित्रों तथा संबंधियों का सहयोग कर पाएंगे। मान-सम्मान मिलेगा। रुके कार्य पूर्ण होंगे। नई योजना बनेगी। कार्यप्रणाली में सुधार होगा। नए काम मिलेंगे। आय में वृद्धि होगी। प्रसन्नता रहेगी। नए लोगों से परिचय होगा। मित्रों का सहयोग प्राप्त होगा। घर-परिवार की चिंता रहेगी।

प. पवन देव शर्मा ज्योतिष अध्ययनरत काशी हिंदू विश्वविधालय वाराणसी

पढ़े आज 2 अगस्त का राशिफल | ऐसा रहेगा आपका दिन, देखिए क्या कहती है आपकी राशि?

????मेष

कार्यस्थल पर सुधार होगा। नए अनुबंध हो सकते हैं। मान-सम्मान बढ़ेगा। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। प्रमाद न करें। कार्य में प्रगति, उत्साह रहेगा। दूसरों की दखलंदाजी पसंद नहीं आएगी। कर्ज, लेन-देन कम होगा।

????वृष

धर्म-कर्म में रुचि रहेगी। महत्वपूर्ण व्यक्ति सहायता को आगे आएंगे। कार्यसिद्धि होगी। व्यवसाय लाभदायक रहेगा। उत्साहपूर्वक व्यावसायिक योजनाओं को पूरा करेंगे। अचानक धन की प्राप्ति संभव है। कार्यक्षमता एवं कार्यकुशलता बढ़ेगी। अनुज सहयोग करेंगे।

????मिथुन

पुराना रोग उभर सकता है। कार्य में लापरवाही व जल्दबाजी न करें। कुसंगति से बचें। विवेक से कार्य करें। लाभ होगा। सतर्कता एवं सावधानीपूर्वक व्यापारिक योजनाओं को अंजाम दें। विद्यार्थी शिक्षा में उल्लेखनीय सफलता अर्जित करेंगे। यात्रा न करें।

????कर्क

परिवार का सहयोग प्राप्त होगा। प्रसन्नता रहेगी। यात्रा, निवेश व नौकरी मनोनुकूल लाभ देंगे। कानूनी बाधा दूर होगी। अपरिचित व्यक्तियों के सहयोग से आत्मविश्वास का संचार होगा। खर्चों में कमी का प्रयास करना होगा। लाभकारी निवेश बढ़ेगा।

????सिंह

उन्नति के मार्ग प्रशस्त होंगे। संपत्ति के बड़े सौदे बड़ा लाभ दे सकते हैं। व्यवसाय ठीक चलेगा। बड़े एवं प्रतिष्ठित लोगों से संबंधों का लाभ मिल सकेगा। जोखिम, जवाबदारी के कामों में सावधानी आवश्यक है। पारिवारिक वातावरण खुशनुमा रहेगा।

????‍♀️कन्या

स्वादिष्ट भोजन का आनंद मिलेगा। बौद्धिक कार्य सफल रहेंगे। यात्रा, निवेश व नौकरी मनोनुकूल लाभ देंगे। व्यापार अच्छा चलेगा। आशानुरूप आमदनी होगी। व्यापार-व्यवसाय में अनुभव, निवेश में सफलता मिलेगी। समय का सदुपयोग होगा।

⚖️तुला

पुराना रोग उभर सकता है। शोक समाचार मिल सकता है, धैर्य रखें। मेहनत अधिक होगी। थकान रहेगी। व्यर्थ खींचतान में नुकसान संभव है। आर्थिक मामलों में विश्वास, भरोसे में नहीं रहें। दिन प्रतिकूल रहेगा। स्वभावगत चंचलता में कमी करना होगी।

????वृश्चिक

मेहनत रंग लाएगी। कार्य की प्रशंसा होगी। यात्रा सफल रहेगी। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। लाभ होगा। वाहन क्रय करने के योग बनेंगे। इच्छाशक्ति का लाभ मिलेगा। पारिवारिक वातावरण से आशान्वित रहेंगे। स्थायी संपत्ति, क्रय-विक्रय से लाभ की संभावना है।

????धनु

पुराने मित्र व संबंधियों से मुलाकात होगी। शुभ समाचार मिलेंगे। प्रसन्नता में वृद्धि होगी। उत्तेजित न हों। लाभ होगा। रोजगार की संभावनाएँ बढ़ेंगी। महत्व के मामले सुलझेंगे। घर में मूल्यवान वस्तुओं को संभालना होगा। विरोधी, शत्रु शांत रहेंगे।

????मकर

बेरोजगारी दूर होगी। भेंट व उपहार की प्राप्ति होगी। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी। नौकरी, रोजगार में उन्नति, सहयोग संभव है। आवश्यक मार्गदर्शन मिलेगा। संतान पक्ष के स्थायित्व की बात बनेगी। अपने व्यसनों पर नियंत्रण रखना होगा।

????कुंभ

व्ययवृद्धि होगी। विवेक से कार्य करें। दूसरों पर विश्वास न करें। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। व्यापारिक प्रतिष्ठा, लेन-देन अन्य कानूनी परेशानी संभव है। परिवार में किसी से विवाद होने की आशंका है। अनिश्चितता का वातावरण रहेगा। अपने कार्य-निर्णय गुप्त रखें।

????मीन

रुका हुआ धन प्राप्त होगा। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। थकान रहेगी। यात्रा सफल रहेगी। प्रसन्नता रहेगी। नौकरी में पद, स्थिति से लाभान्वित हो पाएँगे। परिश्रम की अधिकता रहेगी। आर्थिक मामलों में लोभ, प्रलोभन से बचें। कार्यक्षेत्र का विस्तार होगा।

आपका दिन मंगलमय हो

प.पवनदेव शर्मा ज्योतिष अध्यय नरत(काशी हिंदू विश्वविधालय वाराणसी उत्तर प्रदेश

रक्षाबंधन 2020 : पढ़े इस बार कब बंधेगी राखी, पढ़े सबसे अच्छे शुभ मुहूर्त - BBN24

इस वर्ष सुबह 9/28 बजे तक भद्रा; उसके बाद आयुष्मान योग में बँधेगी भाईयो की कलाई में राखी ।।

आयुष्मान योग में भाइयों की कलाई पर बहने बांधेंगी राखी ।।

इस बार न ग्रहण की छाया ना भद्रा की चिंता दिन भर बांध सकते राखी ।

श्रावण पूर्णिमा पर सावन के अंतिम सोमवार और रक्षाबंधन का संयोग बन रहा है । भाई- बहन के पवित्र त्यौहार रक्षाबंधन इस बार बेहड़ खास होगा। इस बार न ग्रहण की छाया है ना भद्रा का दीर्धकालिक झंझट । आयुष्मान योग में भाइयों की कलाई पर बहनें राखी बधेगीं।

ज्योतिष पंडित पवन देव शर्मा का कहना हैं । शुक्लपक्ष की पूर्णिमा को रक्षाबंधन विशेष संयोग है

भाई बहन का पवित्र त्योहार रक्षाबंधन इस बार बेहद खास होगा। इस बार न ग्रहण की छाया है न भद्रा का ही दीर्घकालिक झंझट है। राखी बाँधने के लिए सोमवार 3 अगस्त को सुबह साढ़े आठ बजे के बाद दिनभर का समय मिल रहा है। भद्रा रविवार 2 अगस्त को रात्रि 9:28से लगकर सोमवार 3 अगस्त को सुबह 9:28तक रहेगी। (यह देवपंचाग से लिया गया है)इसीलिए सोमवार 3 अगस्त को सुबह 9:30 से दिनभर तक रक्षाबंधन मनाया जायेगा। 3 अगस्त को दिन में 7:49 से दीर्घायु कारक आयुष्मान योग लग रहा है , जो इस वर्ष के रक्षाबंधन में विशेष संयोग बना रहा हैं।

व्रती को चाहिए कि उस दिन प्रातः स्नान आदि करके वेदोक्त विधि से रक्षाबंधन, पित्र तर्पण, और ऋषि पूजन करें । रक्षा के लिए किसी विचित्र वस्त्र या रेशम आदि की रक्षा बनावें।उसमें सरसों, सुवर्ण, केसर, चन्दन, अक्षत, और दूर्वा, रखकर रंगीन सूत के डोरे में बांधे अपने मकान के शुद्ध स्थान में कलशादि स्थापना करके उस पर उसका यथा विधि पूजन करें। फिर उसे बहन भाई को, मित्रादि परस्पर दाहिने हाथ में

येन बद्धोबलि राजा दानवेन्द्रो महाबल:।

तेन त्वामनुबध्नामि रक्षे मा चल मा चल।।

इस मंत्र से बांधे बाँधने से वर्ष भर तक पुत्र पौत्रादि सहित सभी सुखी रहते हैं।

य: श्रावणे विमलमासि विधानविज्ञो

रक्षाविधानमिदमाचरते मनुष्य:।

आस्ते सुखेन परमेण स वर्षमेकं

पुत्रप्रपौत्रसहित: ससुहृज्जन: स्यात।।

कथा यों है कि एक बार देवता और दानवों में 12 वर्ष तक युद्ध हुआ, पर देवता विजयी नहीं हुए, तब बृहस्पति जी ने सम्मति दी कि युद्ध रोक देना चाहिए। यह सुनकर इन्द्राणि ने कहा कि मै कल इन्द्र को रक्षा बाँधूंगी, उसके प्रभाव से इनकी रक्षा रहेगी और यह विजयी होंगे।

श्रावण शुक्ल पूर्णिमा को वैसा ही किया गया और इन्द्र के साथ संपूर्ण देवता विजयी हुए ।

श्रवण पूजन -

श्रावण शुक्ल पूर्णिमा को नेत्रहीन माता पिता का एकमात्र पुत्र श्रवण (जो उनकी दिन रात सेवा करता था) एक बार रात्रि के समय जल लाने को गया वहीं कहीं हिरण की ताक में दशरथ जी छुपे थे उन्होंने जल के घड़े के शब्दको पशु का शब्द समझ कर बाण छोड़ दिया जिससे श्रवण की मृत्यु हो गई ।यह सुनकर उसके माता-पिता बहुत दुखी हुए। तब दशरथ जी ने उनको आश्वासन दिया और अपने अज्ञान में किए हुए अपराध की क्षमा याचना करके श्रावणी को श्रवण पूजा का सर्वत्र प्रचार किया। उस दिन से संपूर्ण सनातनी श्रवण पूजा करते हैं। और उक्त रक्षा सर्वप्रथम उसी को अर्पण करते हैं।

ऋषि तर्पण- (उपाकर्पमद्धति आदि)--

यह भी श्रावण शुक्ल पूर्णिमा को किया जाता है इसमें ऋग, यजु, साम के स्वाध्यायी ब्राम्हण, क्षत्रिय, और वैश्य जो ब्रह्मचर्य, गृहस्थ, वानप्रस्थ, किसी आश्रम के हो अपने-अपने वेद कार्य और क्रियाा के अनुकूल काल में इस कर्म को संपन्न करते हैं ।इसका आद्योपान्त पूरा विधान यहां नहीं लिखा जा सकता और बहुत संक्षिप्त लिखने से उपयोग में ही नहीं आ सकता है। सामााऩ्य रुप से यही लिखना उचित है कि उस दिन नदी आदि के तटवर्ती स्थान में जाकर यथा विधि स्नान करें ।कुशा निर्मित ऋषियों की स्थापना करके उनका पूजन, तर्पण, और विसर्जन करें और रक्षा पोटलिका बना कर उसका मार्जन करे। तदनंन्तर आगामी वर्ष का अध्ययन क्रम नियत करके सायं काल के समय व्रत की पूर्ति करें। इस में उपाकर्पमद्धति आदि के अनुसार अनेक कार्य होते हैं। वे विद्वानों से जानकर यह कर्म प्रतिवर्ष सोपवीती प्रत्येक द्विज को अवश्य करना चाहिए। यद्यपि उपाकर्म चातुर्मासमें किया जाता है और इन दिनों नदियाँ रजस्वला होती हैं, तथापि

उपकर्माणि चोत्सर्गे प्रेतस्नाने तथैव च।

चन्द्रसूर्यग्रहे चैव रजोदोषो न विद्यते।।

इस वशिष्ठ वाक्य के अनुसार उपाकर्म में उसका दोष नही माना जाता।

प.पवन देव शर्मा ज्योतिष (अध्ययनरत काशी हिंदू विश्व विधालय वाराणसी उत्तर प्रदेश )

पढ़े आज 1 अगस्त का राशिफल

। ????मेष

लाभ के अवसर हाथ आएंगे। विद्यार्थी वर्ग अपने कार्य में सफलता हासिल करेगा। प्रतिद्वंद्वी सक्रिय रहेंगे। किसी मनोरंजक यात्रा का आयोजन हो सकता है। स्वादिष्ट भोजन का आनंद प्राप्त होगा। आराम तथा मनोरंजन का समय प्राप्त होगा। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी।

????वृष

वाहन, मशीनरी व अग्नि आदि के प्रयोग में सावधानी रखें। शारीरिक हानि की आशंका है। पुराना रोग परेशानी का कारण बन सकता है। क्रोध तथा उत्तेजना पर नियंत्रण रखें। राजमान व यश प्राप्ति की संभावना है। आय में वृद्धि होगी। व्यापार-व्यवसाय अच्छा चलेगा। निवेश शुभ रहेगा।

????मिथुन

जीवनसाथी के स्वास्थ्य का ध्यान रखें। सहयोग प्राप्त होगा। कानूनी अड़चन दूर होगी। शत्रुभय रहेगा। सुख के साधन जुटेंगे। आय में सुगमता रहेगी। भाग्य का साथ मिलेगा। शेयर मार्केट तथा म्युचुअल फंड मनोनुकूल रहेंगे। घर-बाहर प्रसन्नता तथा उत्साह बने रहेंगे।

????कर्क

कोई पुराना रोग उभर सकता है। किसी व्यक्ति विशेष से अकारण विवाद हो सकता है। संयम बरतें। दु:खद समाचार प्राप्त हो सकता है। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। भावनाओं को वश में रखें। मन की बात किसी को न बतलाएं। दूसरों के कार्य में दखल न लें।

????सिंह

पहले की गई मेहनत का फल अब मिलेगा। सामाजिक कार्य करने की प्रेरणा प्राप्त होगी। घर-बाहर पूछ-परख रहेगी। आय में वृद्धि होगी। व्यापार-व्यवसाय लाभदायक रहेगा। नौकरी में कार्य की प्रशंसा होगी। निवेश शुभ रहेगा। थकान महसूस होगी।

????‍♀️कन्या

प्रतिद्वंद्विता बढ़ेगी। विवाद बढ़ने की आशंका है। क्लेश होगा। भूमि व भवन संबंधी निर्णय लेने में जल्दबाजी न करें। कोई बड़ा कारोबारी सौदा बड़ा लाभ दे सकता है। रोजगार प्राप्ति के प्रयास सफल रहेंगे। आय में वृद्धि होगी। प्रसन्नता रहेगी।

⚖️तुला

बोलचाल में संतुलन रखें। परिवार के छोटे सदस्यों के स्वास्थ्य व अध्ययन संबंधी चिंता रहेगी। घर में अतिथियों का आगमन होगा। शुभ समाचार प्राप्त होंगे। आत्मविश्वास में वृद्धि होगी। कोई बड़ा कार्य प्रारंभ करने तथा लंबे प्रवास का मन बनेगा। लाभ होगा।

????वृश्चिक

किसी अनहोनी की आशंका रहेगी। शारीरिक कष्ट संभव है। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। लेन-देन में जल्दबाजी न करें। रोजगार प्राप्ति के प्रयास सफल रहेंगे। अप्रत्याशित लाभ के योग हैं। शेयर मार्केट व म्युचुअल फंड इत्यादि मनोनुकूल लाभ देंगे। थकान महसूस होगी।

????धनु

मानसिक उलझनें रहेंगी। शारीरिक कष्ट से बाधा होगी। अप्रत्याशित खर्च सामने आएंगे। कर्ज लेने की आवश्यकता पड़ सकती है। धैर्य रखें। किसी व्यक्ति विशेष से कहासुनी हो सकती है। नए संबंध बनाने से पहले व्यक्ति को परख लें। धोखा खा सकते हैं। आय होगी।

????मकर

कुंआरों को वैवाहिक प्रस्ताव मिल सकता है। घर-परिवार में खुशी का माहौल रहेगा। भागदौड़ रहेगी। बकाया वसूली के प्रयास सफल रहेंगे। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। भाग्य का साथ मिलेगा। कारोबार में वृद्धि होगी। निवेश शुभ रहेगा। प्रमाद न करें।

????कुंभ

किसी लंबी यात्रा का कार्यक्रम बन सकता है। नेत्र पीड़ा की आशंका है। नई योजना बनेगी। तत्काल लाभ नहीं मिलेगा। व्यापार-व्यवसाय इत्यादि मनोनुकूल रहेंगे। शेयर मार्केट तथा म्युचुअल फंड लाभदायक रहेंगे। जोखिम न लें।

????मीन

घर-बाहर पूछ-परख रहेगी। धर्म-कर्म में रुचि रहेगी। पूजा-पाठ पर व्यय होगा। चिंता तथा तनाव रहेंगे। कोर्ट व कचहरी के कार्य मनोनुकूल रहेंगे। लाभ के अवसर हाथ आएंगे। प्रमाद न करें। वाणी पर नियंत्रण रखें। शारीरिक कष्ट संभव है। लेन-देन में जल्दबाजी न करें।

प.पवन शर्मा ज्योतिष अध्ययन रत काशी हिंदू विश्वविधालय उतर प्रदेश

शनि प्रदोष का सावन में विशेष संयोग 1 अगस्त को शनि की कोप से मिलेगी मुक्ति

शनि प्रदोष का संयोग एक अगस्त को मिलेगी शनि के कोप से मुक्ति सावन में 10 साल बाद दूसरी बार शनि प्रदोष का संयोग बन रहा है सावन के दोनों पक्षो में शनि प्रदोष का योग 7 और 21 अगस्त को 2010 में बना था अब सात साल बाद 31 जुलाई और 14 अगस्त 2027 के सावन में भी यह संयोग दिखेगा । शनि प्रदोष 1 अगस्त को पड़ रहा है और इससे पहले 18 जुलाई को शनि प्रदोष था ज्योतिष प.पवन शर्मा के अनुसार शनि प्रदोष मनुष्यों के लिए अति दुर्लभ होता है। उसमें भी कृष्ण पक्ष का शनि प्रदोष अत्यंत दुर्लभ होता है।

*इस वर्ष श्रावण मास में दो शनि प्रदोष का दुर्लभ संयोग*

*स्कन्दपुराण के अनुसार इस व्रत का विशेष फल होता है*

यह व्रत शिवजी की प्रसन्नता और प्रभुत्व की प्राप्ति के प्रयोजन से किया जाता है। शिवपूजन और रात्रि के अनुरोध से इसे प्रदोष कहते हैं। प्रदोष का समय सूर्यास्त से दो घड़ी बीतने तक है। कृष्ण पक्ष का प्रदोष शनिवार 18 जुलाई को मनाया गया था | धर्मग्रंथों में शनिप्रदोष का अत्यंत ही विशेष फल बताया गया है | कहा गया है- *शनिवासरे प्रदोषोSयं दुर्लभ: सर्वदेहिनाम् |*

*तत्रापि दुर्लभस्तस्मिन् कृष्णपक्षे समागते ||*

अर्थात् शनि प्रदोष मनुष्यों के लिए दुर्लभ होता है। उसमें भी कृष्ण पक्ष का शनि प्रदोष अत्यन्त ही दुर्लभ कहा गया है |

स्कन्दपुराण में कहा गया है-

ये वै प्रदोषसमये परमेश्वरस्य कुर्वन्त्यनन्यमनसोSडघ्रिसरोजसेवाम्| नित्यं प्रवृद्धधनधान्यकलत्रपुत्रसौभाग्यसम्पदधिकास्त इहैव लोका: ||

अर्थात् जो मनुष्य प्रदोष के समय में शिव जी के चरण कमल का अनन्य मन से आश्रय लेता है उसके धन-धान्य, स्त्री -पुत्र, बन्धु-बान्धव और सुख-सम्पत्ति सदैव बढ़ते रहते हैं।

1 अगस्त को सावन महीने के शुक्ल पक्ष की त्रयोदशी और शनिवार अर्थात् शनि प्रदोष का संयोग बन था । प्रदोष पर्व पर पूरे दिन व्रत रखा जाता है और शाम को भगवान शिव की पूजा की जाती है। स्कंद पुराण के अनुसार सावन में शनिवार को शिव पर्व होने से ये दिन और भी महत्वपूर्ण हो गया है। इस शुभ योग में भगवान शिव और शनि की पूजा एवं व्रत करने से हर इच्छा पूरी होती है। हर तरह के पाप भी खत्म हो जाते हैं। ये साल का तीसरा शनि प्रदोष है। इसके बाद श्रावण मास का शनि प्रदोष 1 अगस्त को है । फिर साल का आखिरी शनि प्रदोष 12 दिसंबर को बनेगा। प्रदोष व्रत और पूजा की विधि

व्रत करने वाले को ब्रह्म मुहूर्त में उठकर नहाना चाहिए। इसके बाद भगवान शिव की पूजा और ध्यान करते हुए व्रत का *" मम शिवप्रसादप्राप्तिकामनया प्रदोषव्रतांगीभूतं शिवपूजनं करिष्ये |* कहकर संकल्प करना चाहिए। प्रदोष व्रत में शिवजी और माता पार्वती की पूजा की जाती है। कुछ लोग इस व्रत के दौरान पूरे दिन पानी भी नहीं पीते हैं। इस दिन सुबह और शाम दोनों समय शिव पूजा की जाती है। सूर्यास्त के समय पुन: स्नान करके शिवमूर्ति के समीप पूर्व या उत्तर मुख बैठकर भगवान शिव को बेलपत्र, गंगाजल, चंदन, अक्षत, धूप और दीप के साथ पूजा करें। शाम को शिव पूजा के बाद पानी पी सकते हैं।

प.पवन देव शर्मा ज्योतिष (अध्ययनरत् काशी हिंदू विश्वविधालय वाराणसी उत्तर प्रदेश )

Aaj Ka Panchang 30 July 2020: देखें पंचांग, शुभ-अशुभ समय, राहुकाल

आज का शुभ मुहूर्तः

अभिजीत मुहूर्त दोपहर 12 बजे से 12 बजकर 54 मिनट तक। विजय मुहूर्त दोपहर 02 बजकर 43 मिनट से 03 बजकर 37 मिनट तक रहेगा। निशीथ काल मध्‍यरात्रि 12 बजकर 07 मिनट से 12 बजकर 49 मिनट तक। गोधूलि मुहूर्त शाम 07 बजे से 07 बजकर 24 मिनट तक। अमृत काल रात 10 बजकर 30 मिनट से मध्यरात्रि 12 बजकर 04 मिनट तक रहेगा। रवि योग और सर्वार्थ सिद्धि योग सुबह 05 बजकर 42 मिनट से 07 बजकर 41 मिनट तक रहेगा।

आज का अशुभ मुहूर्तः

राहुकाल दोपहर 01 बजकर 30 मिनट से 03 बजे तक। सुबह 06 बजे से 07 बजकर 30 मिनट तक यमगंड रहेगा। सुबह 09 बजे से 10 बजकर 30 मिनट तक गुलिक काल रहेगा। दुर्मुहूर्त काल सुबह 10 बजकर 12 मिनट से 11 बजकर 06 मिनट तक फिर दोपहर 03 बजकर 37 मिनट से 04 बजकर 31 मिनट तक। वर्ज्य काल दोपहर 01 बजकर 08 मिनट से 02 बजकर 42 मिनट तक। भद्रा दोपहर 12 बजकर 30 मिनट से मध्यरात्रि 11 बजकर 49 मिनट तक।

राहुकाल अपराह्न 01 बजकर 30 मिनट से 03 बजे तक। एकादशी तिथि रात्रि 11 बजकर 50 मिनट तक उपरांत द्वादशी तिथि का आरंभ, अनुराधा नक्षत्र प्रातः 07 बजकर 41 मिनट तक उपरांत ज्येष्ठा नक्षत्र का आरंभ।

कर्क संक्रांति पर दक्षिणायन होगें ग्रहों के राजा भगवान सूर्य देव , कर्क राशि मे प्रवेश करेंगे सूर्य देव, सूर्य तथा शनि का बन रहा है समसप्तक योग होंगी अप्रत्यक्षित धटनाएं

कर्क संक्रांति पर ग्रहों के राजा भगवान सूर्य देव आज दक्षिणा यन होंगे इसके साथ ही सूर्य भी राशि परिवर्तन करके कर्क राशि मे प्रवेश करेंगे गुरुवार को प्रातः 10/46बजे में सूर्य कर्क राशि मे प्रवेश करेंगे इसके साथ ही दक्षिणायन आरंभ हो जाएगा अगले छ:महीने तक यानि मकर संक्रांति तक रहेगा

ज्योतिष पवन देव शर्मा ने बताया की कर्क संक्रांति वाले दिन सूर्य कर्क राशि मे चंद्रमा वृषभ राशि और शनि देव मकर राशि मे रहेगा ।इस बार सूर्य और शनि का समसप्तक योग बनेगा ।इस योग का प्रभाव विपरीत रहेगा इसके फलस्वरूप पर विश्व में अकल्पित धटनाएं देखने को मिलेंगी कर्क संक्रांति पर आज दक्षिणायन होगें ग्रहों के राजा भगवान सूर्य देव ।।

कर्क राशि मे प्रवेश करेंगे सूर्य देव और सूर्य तथा शनि का बन रहा है।समसप्तक योग होंगी अप्रत्यक्षित धटनाएं कर्क संक्रांति पर ग्रहों के राजा भगवान सूर्य देव आज दक्षिणा यन होंगे इसके साथ ही सूर्य भी राशि परिवर्तन करके कर्क राशि मे प्रवेश करेंगे ज्योतिष पवन देव शर्मा ने बताया की कर्क संक्रांति वाले दिन सूर्य कर्क राशि मे चंद्रमा वृषभ राशि और शनि देव मकर राशि मे रहेगा ।इस बार सूर्य और शनि का समसप्तक योग बनेगा ।इस योग का प्रभाव विपरीत रहेगा देखने को मिलेगी प्राकृतिक आपदाएं हिंसा जनित धटनाएं वायुयान जल परिवहन सडक़ हादसे बाढ़ आदि से आगजनी जन- धन की हानि होने की आंशका है ।।

नए आर्थिक एवं राजनैतिक घोटाले उजागर होंगे। देश मे सत्ता परिवर्तन एवं मंत्रि मंडल में फेरबदल की आंशका रहेंगी। जिन्हें शनि ग्रह की अढैया और साढेसाती चल रही है उन्हें विशेष सावधानी रखनी चाहिए।।

कई अप्रत्यक्षित धटनाओं के साथ किसी विशिष्ट राजनेता या अन्य क्षेत्र के नामी हस्ती की सेवा से वंचित होने की संभवना है सूर्य 16 अगस्त को सिंह राशि मे प्रवेश करेगा।।।

प.पवन देव शर्मा ज्योतिष अध्यनरत काशी हिंदू विश्व विधालय बनारस (उत्तर प्रदेश)

विशेष : 20 जुलाई सावन के तीसरे सोमवार पर बन रहा ग्रह नक्षत्रों दुर्लभ संयोग , 20साल बाद बन रहा हरियाली और सोमवती अमावस्या का संयोग

सावन के तीसरे सोमवार पर ग्रह नक्षत्र का दुर्लभ संयोग बन रहा है 20 जुलाई को हरियाली और सोमवती अमावस्या के साथ पुनर्वसु नक्षत्र हर्षण योग चतुष्पद करण सर्वार्थसिद्धि योग तीसरे सोमवार को बेहद खास बना रहा है 20 साल बाद हरियाली अमावस्या पर सोमवती अमावस्या का संयोग बन रहा है ।

20 साल पहले शुक्रवार 31 जुलाई 2000 में सोमवती अमावस्या थी इसके बाद 2004 में सावन महीने को पुरुषोत्तम मास के रूप में मनाया गया था। उस साल दो बार सावन महीना पड़ा था दूसरे सावन में सोमवती अमावस्या का संयोग बना था। ज्योतिष पवन शर्मा का कहना है कि हरियाली अमावस्या के दिन पुनर्वसु नक्षत्र के बाद रात्रि 9:20 बजे से पुष्य नक्षत्र रहेगा। सोमवती अमावस्या पर तीर्थ स्थानो नदियो जलाशयों में स्नान करना। दान दर्शन का विशेष महत्व हैं कोरोना संक्रमण के चलते इस बार ऐसा संभव नहीं है इसलिये लोग पवित्र जल मिश्रण करके घर पर स्नान दान करे । इससे भी गंगा में स्नान के समान पुण्य की प्राप्ति होंगी।.

हरियाली अमावस्या पर होती है अच्छी खेती की कामना

श्रावण अमावस्या को हरियाली अमावस्या भी कहते हैं भगवान शिव-पार्वती के साथ पितरों की भी पूजा होती है.

प. पवन देव शर्मा ज्योतिष अध्ययनरत काशी (हिंदू विश्व विधालय वाराणसी उत्तर प्रदेश)

25 जून से शुक्र ग्रह मार्गी हो जाएंगे क्या कहेंगे आपके ग्रहऔर नक्षत्र और क्या होगा आपके लिए फलादेश????:: पंडित चंद्र कांत मिश्र,,

 मेष--  शुक्र की शुभता के प्रभाव स्वरूप आपकी आर्थिक तंगी कम होगी परिवार में आपसी एकता बढ़ेगी किसी मित्र अथवा संबंधी को दिया गया पैसा वापस मिलने के संकेत हैं मान सम्मान में वृद्धि के साथ प्रतिष्ठा बढ़ेगी

 वृषभ--  आपकी राशि स्वामी शुक्र का मार्गी होना आपके लिए किसी वरदान से कम नहीं है इसलिए नए कार्य आरंभ करना अथवा नए अनुबंध पर हस्ताक्षर करना वह तो समय अति अनुकूल है शासन सत्ता का उपयोग करते हुए उच्चाधिकारियों से मधुर संबंध बनाइए प्रतियोगियों और विद्यार्थियों हेतु समय शुभ है

 मिथुन राशि से बारहवें भाव में शुक्र  --का आगे होना विदेश यात्रा अथवा विदेशी कंपनियों में सेवा के नए द्वार खोल देगा विदेशी नागरिकता प्राप्त करना सफल होगा विलासिता एवं यात्रा पर व्यय होगा, किसके कारण आर्थिक तंगी पड़ सकती है वाहन सावधानी पूर्वक चलाइए

 कर्क-  आपकी राशि में शुक्र भाव का मार्केट होना आपके लिए आय के नए स्रोत निर्मित करेगा बड़े दिनों से रुके हुए कार्य अब संपन्न होंगे भाइयों एवं घर के बड़ों से प्रेम बढ़ेगा नव दंपतियों हेतु संतान के योग बनेंगे प्रतियोगिता में सफलता मिलेगी प्रेम विवाह के योग बनेंगे
सिंह-- राशि का कर्म भाव से शुक्र का गोचर आपको प्रभावशाली बनाएगा आपके द्वारा लिए गए निर्णय की प्रशंसा की जाएगी राज्य सरकार के संस्थानों में सेवा के अवसर मिलेंगे
कन्या -- शुक्र का मार्गी होना आपको धर्म-कर्म की ओर ले जाएगा किसी बड़े सामाजिक पद की प्राप्ति होगी एवं यात्रा बनेगी आपके साहस देवरी द्वारा आप बड़ी समस्याओं को हल कर लेंगे व्यापारियों हेतु अच्छा समय है
तूला--  राशि स्वामी शुक्र का आठवें भाव में गोचर करते हुए मार्गी होना आपके स्वास्थ्य के लिए अच्छा रहेगा इनके मार्गी होने के फलस्वरूप आपका व्यक्तित्व निखर जाएगा जो लोग आपको नीचा दिखाने का प्रयास कर रहे थे सहयोग हेतु आगे आएंगे आकस्मिक धन प्राप्ति के योग बनेंगे ही मकान अथवा वाहन खरीद सकते हैं
 वृश्चिक-- शुक्र का मार्गी होना आपके लिए शुभ रहेगा शासन सत्ता का पूर्ण लाभ मिलेगा  विवाह से संबंधित वार्ता सफल हो जाएगी व्यापारियों के लिए अच्छा समय रहेगा यात्रा का योग बनेंगे विदेशी नागरिकता हेतु आवेदन कर सकते हैं
धनु--  राशि से छठे भाव में शुक्र का मार्गी होना काफी मिलाजुला प्रभाव आपको देगा   शत्रु निर्मित होंगे किंतु वह नष्ट भी होते जाएंगे कोर्ट कचहरी संबंधी कार्यों को न्यायालय के बाहर निपटा लें  इस अवधि में किसी को धन उधार ना दें वापस मिलने में विलंब होगा
मकर --  शुक्र का मार्गी होना आपको प्रतियोगी परीक्षा में सफलता दिलाएगा धन  के विषयों में सफलता मिलेगी पुराना धन वापस मिलेगा  नए प्रेम प्रसंग स्थापित कर सकते हैं सफलता मिलेगी, संतान प्राप्ति के योग हैं
कुंभ- आपके लिए शुक्र का मार्गी होना परिवार में मांगलिक कार्यों का शुभ अवसर लाएगा मकान वाहन के खरीदने का सपना पूर्ण होगा मित्रों एवं संबंधों में सहयोग मिलेगा नहीं सेवा हेतु आवेदन कर सकते हैं नए अनुबंध पर हस्ताक्षर कर दीजिए सफलता मिलेगी
मीन - राशि से पराक्रम भाव में शुक्र का मार्गी प्रभाव मिलाजुला प्रभाव देगा इस बात का ध्यान रखें कि आपके ऊपर आलस यह भी ना हो अन्यथा सफलता की दृष्टि से आज आया अवसर भी निकल जाएगा अपने हठ एवं आवेश पर नियंत्रण रखें

 *पंडित चंद्र कांत मिश्र- ज्योतिषाचार्य ,ह,वन ,कर्मकांड कुंडली यज्ञ एवं रुद्राभिषेक कर्मकांड विशेषज्. 9009838679

आज का राशिफल ::क्या कहते हैं आपके ग्रह और नक्षत्र

मेष -आज आपको अत्यधिक परिश्रम करना होगा शारीरिक स्वास्थ्य बढ़िया रहेगा विचार सकारात्मक रहेंगे किंतु शरीर में कोई पुराना दर्द उत्पन्न हो सकता है पैसे बचाएं भविष्य में काम आएंगे रोजगार के नए अवसर प्राप्त होंगे 

 वृषभ -किसी से विवाद हो सकता है किंतु आपका जीवन साथी आपको बढ़िया परामर्श देकर बचा लेगा आपको उन पर क्रोध करने के स्थान पर उनकी बातों को समझना चाहिए

 मिथुन --लोगों से नए संबंध स्थापित होंगे और अब यह संबंध दीर्घ गामी होंगे किंतु आपको अज्ञात स्रोत से धन मिलने के साथ  साथ धोखे की भी संभावना है इसलिए लोगों से सतर्क होकर भेंट करें

 कर्क -दिन बढ़िया बीतेगा लोग आपसे सहमत रहेंगे और दूसरों की सहमति से ही आपको सफलता   मिलेगी, 

 सिंह --आपको अपने क्रोध पर नियंत्रण रखना चाहिए भावावेश में लिया गया कोई भी निर्णय आपके लिए दुखदाई हो सकता है इसलिए शांत मन से निर्णय लें

 कन्या -आज आपको ससुराल पक्ष से लाभ हो सकता है कार्य का बोझ अधिक रहेगा एवं प्रमाण से आपको दुख मिलेगा नए कार्य मिल सकते हैं

तुला-  एक अनजाना  भय
 आपके दिमाग में बना रहेगा परिश्रम भी अधिक करना होगा किसी नई योजना के बारे में जल्दी विचार करें

 वृश्चिक -कुछ नए दायित्व मिलेंगे आय के नए स्रोत बनेंगे पुरानी समस्याओं का समाधान अब शुरू होने जा रहा है इसलिए आशावादी बने रहे और लगातार संघर्ष करें
 धनु --ज्यादा निष्क्रियता आलस्य आपके भीतर आने लगा है इसलिए इन सब से बाहर आइये-  है और धर्म में मन लगाकर धर्म सम्मत कार्य करें

  मकर -अज्ञात स्रोत से धन की प्राप्ति होगी दिनभर व्यस्त रहेंगे जिससे सारी थकान बढ़ेगी किंतु फिर भी आप आनंदित बने रहेंगे

 कुंभ -किसी अत्यंत विश्वसनीय व्यक्ति से आपको धोखा मिल सकता है किंतु विजय आप की  ही होगी, इसमें कोई संदेह नहीं है 
मीन-- आपको अपना धन धार्मिक कार्यों में लगाना चाहिए आपके शरीर में किसी अंग आदी से तीव्र पीड़ा मिल सकती है किंतु मन शांत रहेगा 

पंडित चंद्र कांत मिश्र 

9009838679*

रामायण संदेश-

 श्री रामचरितमानस में गोस्वामी तुलसीदास जी ने किष्किंधा कांड में लिखा है कि भगवान ने सुग्रीव को समझाते हुए कहा कि-
सेवक ,सठन्र्प,  कृपण कुनारी कपटी मित्र सूल सम चारी  सखा सोच त्यागहु बल मोरे , सब विधि घटब काज  मैं  तोरे . 
*भावार्थ -- मूर्ख सेवक, कंजूस राजा, कुलटा स्त्री ,और कपटी मित्र, ये  चारों शूल के समान पीड़ा देने वाले हैं.. इसलिए सखा मेरे बल पर अब तुम चिंता छोड़ दो  ..मैं सब प्रकार से तुम्हारे काम आऊंगा अर्थात तुम्हारी सहायता करूंगा 
आज देश भी ऐसे ही कपटी मित्रता के कपट का दुष्परिणाम भुगत रहा है ..भारत के प्रधानमंत्री और चीन के राष्ट्रपति 2014 के बाद 18 बार भेट किये  अर्थात औसतन वर्ष में तीन बार ..भारत के प्रधानमंत्री 5 बार चीन की यात्रा पर गए  70 वर्षों में इतनी यात्राएं किसी प्रधानमंत्री ने नही की..  फिर भी चीन ने धोखा दिया .. लद्दाख में वार्ता करने गई भारत की सेना पर चीन की सेना ने छल पूर्वक आघात कर दिया. यह आघात पत्थर लाठी-डंडों व धारदार हथियारों से किया गया. जिसमें भारत के कमांडिंग ऑफीसर सहित 23 सैन्य कर्मी बलिदान हो गए अर्थात वीरगति को प्राप्त हुए,, हिंसक झड़प में 23 सैनिकों का वीरगति को प्राप्त होना अत्यंत दुखद एवं त्रास देने वाला है.... भारत इस बलिदान को व्यर्थ जाने नहीं देगा

 * पंडित चंद्र कांत मिश्र--
 ज्योतिष एवं हवन कर्मकांड   (9009838679) , कुंडली विशेषज्ञ