राजनीति

भाटापारा मे भाजपा विधायक शिवरतन शर्मा पाए गए कोरोना पाजिटिव

भाटापारा:अपने ट्वीटर एकाउॅट से ट्वीट कर दी जानकारी. – भाटापारा मे विधायक शिवरतन शर्मा कोरोना पाजिटिव पाए गए है जिसकी जानकारी उनहोने खुद अपने ट्वीटर एकाउॅट से ट्वीट कर दी है , भाटापारा विधायक ने टवीट किया है कि 15 अगस्त की रात में एवं 16 अगस्त को बुखार आने के कारण मैंने अपना कोरोना जाँच करवाया जो की पॉजिटिव आई है। इस कारण मैं रामकृष्ण हॉस्पिटल रायपुर में एडमिट हो गया हूं,, हाल ही में जो भी व्यक्ति मेरे सम्पर्क में आए हैं उनसे विनम्र अनुरोध है कि कृपया अपनी कोरोना जाँच करवा लें एवं रिपोर्ट आने तक स्वयं को क्वारंटाइन करें।

NSUI ने पंडित रविशंकर शुक्ल विश्विद्यालय में छात्रहित की मांगों को ले कर किया प्रदर्शन ...

BBN24_NEWS रायपुर - जिला NSUI ने छात्रों की मांग को ले कर पंडित रविशंकर शुक्ल विश्विद्यालय का घेराव किया , जिलाध्यक्ष अमित शर्मा ने बताया कि विगत कई दिनों से विश्विद्यालय में छात्रों को कई प्रकार की समस्याओं का सामना बड़े स्तर पर करना पड़ रहा है ... जिसकी कोई सुनवाई नही हो पा रही है चूंकि रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय प्रदेश का सबसे बड़ा विश्विद्यालय और यहाँ लाखो छात्र अध्यान्तरत है महासमुंद, धमतरी,बलौदाबाजार से रोज सैकड़ो छात्रों को बहुत ही तकलीफ उठाना पड़ रहा है विश्वविद्यालय गेट से ही उन्हें भगा दिया जा रहा है आज जब NSUI की टीम गेट में पहुँची तो सैकड़ो छात्र बाहर खड़े थे वे सभी हताश थे NSUI की टीम के साथ सभी छात्र छात्रएं वी.वी के अंदर गए जहाँ पहले से तैनात पुलिस कर्मियों से NSUI के टीम से तीखी नोक झोंक व झड़प हुई उसके बाद कुलसचिव प्रो.गिरीश कांत पाण्डे जी बाहर आये और छात्रों की परेशानियों को सुना और तुरंत ही छात्रों के सामने ही हमारी 3 नो मांगो को पूर्ण करने का वादा किया हमारी मुख्य मांग कुछ इस प्रकार थी 

1- विश्विद्यालय में आने वाले छात्र - छात्राओं को विश्विद्यालय परिसर के में गेट में गार्डों द्वारा अनावश्यक रूप से परेशान किया जा रहा था ,उन्हें अंदर नही जाने दिया जा रहा था जिसका हमने विरोध किया और तत्काल इस पर कार्यवाही करते हुए उन गार्डों को वाह से हटा दिया गया और सभी छात्रों को विश्वविद्यालय कैंपस के अंदर आने की अनुमति दी गई..!

2- परीक्षा फॉर्म की अंतिम तिथि 16 अगस्त तक कर दिया था जिसके कोरोना के चलते छात्रों को फार्म भरने में परेशानी हो रही थी और विश्विद्यालय का सर्वर डाउन के चलते भी छात्रों को तकलीफ हो रही है अंतिम तिथी 16 अगस्त से आगे बढ़ाने का मांग को मान लिया गया इसमें जल्द ही आदेश जारी करने का आदेश दिया गया 

3- महाविद्यालय में प्रथम , द्वितीय एवं तृतीय वर्ष के छात्रों को ईमेल और मोबाइल नम्बर जमा करने में हो रही परेशानी का निराकरण करने की मांग की गई और प्रदेश के हर महाविद्यालय में महाविद्यालय प्रशाशन के तरफ से हेल्प डेस्क की सुविधा को तत्काल लगवा कर छात्रों की परेशानी को महाविद्यालय स्तर पर  ही निराकरण व समाधान करने का मांग किया गया , जिसपर विश्विद्यालय प्रसाशन द्वारा इसे तत्काल प्रभाव से लागू करने का सभी विश्वविद्यालयों को आदेश जारी किया गया ! 

जिसके बाद रजिस्टर गिरीश कांत पांडेय ने छात्रों के साथ जाकर DSW का गेट खुलवाया तथा सोशल डिस्टेंस फॉलो करते हुए छात्रों के सभी परेशानियों का समाधान करने का निर्देश दिया गया  आज के विरोध प्रदर्शन में प्रदेश के दूर दूर से आये छात्रों ने भी साथ मिल कर आक्रोश दिखाया और साथ मिल कर विश्विद्यालय प्रसाशन के कार्यों पर कई सवाल भी उठाए और कई कार्यों में नाराजगी प्रकट की साथ ही NSUI के छात्रों के प्रति समर्पण की सराहना भी की ... 

इस कार्यक्रम में NSUI जिलाध्यक्ष अमित शर्मा , महासचिव हरिओम तिवारी, प्रशांत गोस्वामी , मेहताब हुसैन,अमन राय,आलोक सिंह,राघव,नीतीश, सुयश, एवं अन्य छात्र उपस्थित थे

पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल पहुंचे कलेक्टर को ज्ञापन सौंपने.. कांग्रेस पर लगाया सत्ता के दुरुपयोग का आरोप..

कांग्रेस पर सत्ता का दुरुपयोग करने का आरोप लगाते हुए पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल और भारतीय जनता पार्टी के पार्षदों ने कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा है..जिसमें बताया गया कि नजूल भूमि शीट नंबर 07, प्लॉट नंबर 30/2 क्षेत्रफल 24480 वर्ग फीट जमीन जिस पर साल 2014 में ही सामुदायिक भवन का निर्माण लाखों रुपए खर्च कर बनाया गया था, उसे इंडियन नेशनल कांग्रेस बिलासपुर को आवंटन कर दिया गया है। पूर्व में ही सारी प्रक्रियाओं का पालन कर जिस भूमि को जन उपयोग के लिए आवंटित किया गया था उसे रद्द करते हुए एक पार्टी को उसका आबंटन किया जाना साफ दर्शाता है कि किस तरह कांग्रेस सत्ता का दुरुपयोग कर कार्यपालिका को मजबूर कर रही है.. अमर अग्रवाल ने बताया कि भारतीय जनता पार्टी ने इस निर्णय पर आपत्ति करते हुए 30 जुलाई को ही आयुक्त को पत्र लिखा था लेकिन अब तक उस पर किसी तरह की कोई कार्यवाही नहीं की गई है। यह जन भावना का सरासर निरादर है, इसलिए तहसीलदार द्वारा की गई इस कार्यवाही को स्थगित करने की मांग पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल के साथ भाजपा पार्षद अशोक विधानी, दुर्गा सोनी, राजेश सिंह और विजय ताम्रकार ने की है.. पूर्व मंत्री अग्रवाल ने कहा कि.. लोकतंत्र में हासिल सभी शक्तियों का उपयोग इस हेतु किया जाएगा और न्याय के लिए अदालतों के दरवाजे भी खटखटाये जाएंगे.. इस दौरान पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए श्री अग्रवाल ने कहा कि मरवाही चुनाव में भी भारतीय जनता पार्टी बेहतर प्रदर्शन करेगी। उन्होंने इस संदर्भ में कछुआ और खरगोश की दौड़ का जिक्र करते हुए कहा कि अंततः जीत धीमी गति से चलने वाले की ही होती है इसलिए भाजपा की कार्यशैली पर सवाल उठाना सही नहीं होगा..

अकलतरा : नगर कांग्रेस कमेटी ने मनाया क्रांति दिवस , स्वतंत्रता संग्राम सेनानी परिवारो के सदस्यों को किया गया सम्मानित

BBN_24_NEWS

BBN24NEWS: अकलतरा : नगर कांग्रेस कमेटी अकलतरा द्वारा क्रांति दिवस के रूप में मनाई गई,एंव नगर के महापुरषो के नाम से चौंक  में उनके मुर्ती में मल्यारपर्ण किये तथा  जिसमें स्वतंत्रता संग्राम सेनानी परिवारो के सदस्यों को श्रीफल और गमछा देकर सम्मान किया गया सर्वप्रथम रवि सिसोदिया  आशा लता सिंह  मदन सिंह पुरुषोत्तम केडिया आदि का सम्मान किया गया जिसमें मूल रूप से श्रीमती मंजू सिंह  नगर कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष रविंद्र साहू गोलू दिवाकर सिंह ,  प्रशांत शर्मा  राणा , अंकित सिंह सिसोदिया , अमित यादव , शिवम साहू , श्याम खरे महेश्वर टंडन अविनाश साहू मून खान आदि कार्यकर्ता मौजूद थे


 

छत्तीसगढ़ गौ सेवा आयोग के अध्यक्ष राजेश्री डॉ महंत रामसुन्दर दास का गिधौरी में भव्य स्वागत।

गिधौरी/शिवरीनारायण मठाधीश डॉ राजेश्री महंत रामसुन्दर दास महराज जी को छत्तीसगढ़ गौ सेवा आयोग के अध्यक्ष बनने के पश्चात शनिवार को प्रथम गिधौरी-शिवरीनारायण आगमन पर गिधौरी में भव्य स्वागत करते हुए आतिशबाजी एवं बैंड बाजे के साथ एवं फलो से तौल कर स्वागत किया गया इस दौरान पूर्व जिला पंचायत सभापति पल्लवी दुबे , हेमन्त दुबे विधायक प्रतिनिधि जनपद पंचायत कसडोल ,गीताराम पटेल अध्यक्ष नगर पंचायत टुण्डरा, शतीश साहू, सुरेन्द्र साहू , छत्रसाल साहू, रामगोपाल साहू जनपद सदस्य, बसंत शर्मा, पत्रकार योगेश साहू , जय कुमार भारती, नंदू बंजारे, विनोद केशरवानी, ब्रेजेश पटेल, सत्यनारायण पटेल , प्रकाश साहू, पार्षदगण – युगल साहू , वीरेंद्र साहू, मोती साहू, जगन्नाथ केशरवानी, खगेश वैष्णव, गंगा प्रधान , सहित सैकड़ो महंत समर्थक उपस्थित होकर स्वागत किया गया गया।

नई शिक्षा नीति के खिलाफ एनएसयूआई (NSUI) का छात्र सत्याग्रह

रायपुर संचार विभाग प्रमुख तुषार गुहा ने प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से बताया की एनएसयूआई(NSUI) के राष्ट्रीय नेतृत्व एवं प्रदेश अध्यक्ष आकाश शर्मा के आदेशानुसार नई शिक्षा नीति के विरोध में आज प्रदेश के प्रत्येक जिले में एनएसयूआई(NSUI) द्वारा "छात्र सत्याग्रह" आंदोलन का आयोजन किया गया है इसी कड़ी में राजधानी रायपुर में जिला अध्यक्ष अमित शर्मा के नेतृत्व में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी की मूर्ति के नीचे खड़े होकर छात्रों ने अपना विरोध नई शिक्षा नीति के खिलाफ दर्ज की।

जिला अध्यक्ष अमित शर्मा ने कहा कि आज हम सब नई शिक्षा नीति के विरोध प्रदर्शन के लिए महात्मा गांधी जी के मूर्ति के नीचे खड़े होकर "छात्र सत्याग्रह" कर रहे हैं नई शिक्षा नीति जो केंद्र सरकार ने लागू की है यह नीति निजीकरण को बढ़ावा देने वाली एवं एसटी(ST) एससी(SC) छात्र-छात्राओं से शिक्षा वंचित करने वाली नीति है यह नीति मे जो नए बदलाव किए हैं वह सिर्फ कागजों पर ही सिमटी हुई है इसका क्रियान्वयन कैसे किया जाएगा इसके लिए केंद्र सरकार के पास ना तो कोई फंड की व्यवस्था है ना ही कोई कार्य योजना इसका एनएसयूआई पुरजोर विरोध करती है और केंद्र सरकार से मांग करती है की इस शिक्षा नीति को पहले लोकसभा एवं राज्यसभा में पारित करके इसमें सुधार की जाए और उसके बाद देश में लागू कराया जाए।।

इस "छात्र सत्याग्रह" आंदोलन में प्रमुख रूप से जिला अध्यक्ष अमित शर्मा प्रदेश सचिव हनी बग्गा, हेमंत पाल जिला कार्यकारी अध्यक्ष विनोद कश्यप, कृष्णा सोनकर, सरबजीत सिंह ठाकुर, अतुल दुबे जिला महासचिव संकल्प मिश्रा, प्रशांत गोस्वामी जिला सचिव विशाल दुबे, पुष्पेंद्र ध्रुव, मेहताब हुसैन विधानसभा अध्यक्ष केशव सिन्हा

प्रदेश सरकार के कोरोना प्लेयर्स और कांग्रेस सेवा दल के लोग कहाँ मुँह छिपाए बैठ गए - शिवरतन शर्मा

भाटापारा- भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता व विधायक भाटापारा शिवरतन शर्मा ने प्रदेश के कोविड-19 सेंटर्स में आत्महत्या करने और इलाज के लिए भर्ती किशोरी व मासूम बच्ची के यौन उत्पीड़न के मामले को प्रदेश सरकार के कार्यकाल का कलंकित अध्याय बताते हुए प्रदेस सरकार पर जमकर निशाना साधा है। श्री शर्मा ने कहा कि प्रदेश सरकार के नाकारापन की यह इंतिहा है और अब इस सरकार को एकक्षण भी सत्ता में बने रहने का कोई नैतिक अधिकार नहीं रह गया है। कोरोना की रोकथाम के हर मोर्चे पर विफलताओं के बोझ से दबी हुई यह लाचार सरकार अब प्रदेश का कोई भला कर सकने की स्थिति में नहीं रह गई है। श्री शर्मा ने पूछा कि प्रदेश सरकार के तमाम ‘कोरोना प्लेयर्स’ इस शर्मनाक स्थिति में कहाँ ग़ुमशुदा हैं? कांग्रेस का सेवा दल पूरे कोरोना काल में कहाँ मुँह छिपाए बैठा रहा?

भाजपा प्रदेश प्रवक्ता व विधायक श्री शर्मा ने कहा कि प्रदेश में कोरोना की विस्फोटक होती जा रही स्थिति और उसके बावज़ूद राज्य सरकार की लापरवाही को लेकर चिंता होना स्वाभाविक है। जिस कोरोना से प्रदेश के सत्तापक्ष और प्रतिपक्ष को मिलकर मुक़ाबला करके उसे परास्त करने का ज़ज्बा दिखाया जाना था, उस कोरोना को लेकर जब प्रदेश सरकार ही गहरे मतभेद, ऊहापोह और नेतृत्वहीनता से नहीं उबर पा रही है तो प्रतिपक्ष को साथ लेकर चलने की उदारता की अपेक्षा प्रदेश सरकार से करना बेमानी ही है। श्री शर्मा ने कहा कि प्रदेश में जारी लॉकडाउन को लेकर प्रदेश सरकार के दो मंत्रियों के बयान में निहित विरोधाभास से साफ है कि राज्य सरकार में अंतर्कलह और सत्ता संघर्ष अपने चरम पर है। कोरोना को रोकने के लिए प्रदेश के एक मंत्री टीएस सिंहदेव पहले ही यह कह चुके हैं कि लॉकडाउन से कोरोना नहीं रुकेगा लेकिन चूँकि जनता चाहती थी इसलिए प्रदेश सरकार ने लॉकडाउन का फैसला लिया है। अब प्रदेश के ही एक और मंत्री रवींद्र चौबे ने लॉकडाउन को ज़रूरी माना है। श्री शर्मा ने सवाल किया कि जब केंद्र सरकार ने लॉकडाउन का फैसला किया था तो प्रदेश सरकार और कांग्रेस के लोग किस आधार पर उसकी मुख़ालफ़त कर रहे थे?


भाजपा प्रदेश प्रवक्ता व विधायक श्री शर्मा ने कहा कि प्रदेश सरकार दरअसल पूरी तरह नेतृत्वहीन और भ्रमित है और उसे यह सूझ ही नहीं रहा है कि आख़िर कोरोना की रोकथाम के लिए क्या किया जाए? लॉकडाउन घोषित करने के बाद जिस सरकार और उसके प्रशासन को मंदिरों में बेहद सीमित संख्या में लोगों के जुटने पर कोरोना का ख़तरा नज़र आता है, उसे प्रदेशभर के हरएक शराब अड्डों पर रोज हज़ारों लोगों की भीड़ जुटते देखकर भी कोरोना का ख़तरा नज़र क्यों नहीं आ रहा है? आम लोगों पर क़ानून के नाम पर बरती जा रही सख़्ती तब कहाँ फुर्र हो जाती है, जब सत्ता पक्ष के लोग जश्न मनाते हैं, बिना मास्क पहने सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियाँ उड़ाते नज़र आते हैं। श्री शर्मा ने कहा कि अब प्रदेश सरकार ने राजधानी रायपुर को कल सात अगस्त से अनलॉक करने का फैसला तो लिया है पर इस फैसले से उसका ग़रीबों के प्रति दुराग्रह साफ झलक रहा है। किराना, प्रोवीज़न, फल-दूध की दुकानों, होटल-रेस्टोरेंट समेत अनेक दुकानों को खोलने की अनुमति दी गई है जबकि ठेले-खोमचे वालों को सीमित समय में सामान बेचने की इजाजत देना यह संकेत करने के लिए पर्याप्त है कि सरकार बड़े पैसे वालों की चिंता कर रही है।
भाजपा प्रदेश प्रवक्ता व विधायक श्री शर्मा ने कहा कि कोरोना की जाँच की रफ़्तार टेस्टिंग लैब की कमी के चलते अब भी काफी धीमी है वहीं क्वारेंटाइन सेंटर्स अब भी बदइंतज़ामी और बदहाली से नहीं उबर सके हैं। अब तो कोरोना अस्पतालों में असुरक्षा, बदइंतज़ामी और बदहाली का आलम है। कोविड सेंटर में भी मरीज़ आत्महत्या करने लगे हैं और इससे भी ज़्यादा घिनौनी हक़ीक़त तो यह है कि राजधानी के रावाँभाटा स्थित कोरोना उपचार केंद्र बनाए गए निजी गायत्री अस्पताल में वहाँ कार्यरत एक सफाईकर्मी द्वारा भर्ती किशोरी और मासूम बालिका के यौन उत्पीड़न का मामला सामने आया है। यह घटना प्रदेश सरकार के चेहरे को कलंकित करने के लिए पर्याप्त है। इस मामले से जुड़े वायरल वीडियो का हवाला देते हुए श्री शर्मा ने कहा कि इस मामले में आरोपी सफाई कर्मी के साथ ही अस्पताल प्रबंधन के ख़िलाफ़ भी पाक्सो एक्ट के तहत कार्रवाई की जाए। यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है कि यह प्रदेश सरकार कोरोना संक्रमण के साथ-साथ कोरोना मरीज़ों की अस्मिता की सुरक्षा तक कर पाने में निकम्मी साबित हो रही है।
भाजपा प्रदेश प्रवक्ता व विधायक श्री शर्मा ने कहा कि क्वारेंटाइन सेंटर्स को नारकीय यंत्रणा का केंद्र बनाकर रखने वाली सरकार को अपनी इस नाकामी पर ज़रा भी अफ़सोस नहीं हो रहा है कि ये क्वारेंटाइन सेंटर्स अपनी बदइंतज़ामी और बदहाली के चलते लोगों को आत्महत्या करने और विषैले सर्पों व अन्य जीव-जंतुओं के दंश से मरने के लिए मज़बूर कर रहे हैं और अब जिस कोविड-19 सेंटर्स के नाम पर प्रदेश सरकार वृथा गाल बजा रही है, उन कोविड सेंटर्स से भी मरीज़ों के आत्महत्या करने की ख़बरें सामने आना प्रदेश सरकार के लिए शर्म का विषय है। श्री शर्मा ने बताया कि जांजगीर-चाँपा ज़िले के मालखरौदा क्षेत्र के जमगहन ग्राम के युवक ने इलाज के दौरान आत्महत्या कर ली। कोरोना पॉजीटिव होने के कारण उसे चार अगस्त को अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया था। अब जो सरकार अस्पताल तक में इलाज कराने वाली किशोरियों-बच्चियों की अस्मिता न बचा पाए, बड़ी-बड़ी डींगें हाँककर भी जो कोविड अस्पताल में भी आत्महत्या होती देखकर हाथ-पर-हाथ धरे बैठी रहे, उसे तो अब शर्मिंदगी महसूस कर सत्ता से हट ही जाना चाहिए।

भाजपा कोरोना योद्धाओं का अपमान बंद करें जिनकी करनी के कारण देश में कोरोना फैला वो हमें उपदेश न दें -कांग्रेस

संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा कि देश में कोरोना महामारी फैलने के लिए भाजपा की केंद्र सरकार का कुप्रबंधन ही जिम्मेदार है जिनके कारण देश भर में कोरोना फैला। भाजपा के नेता कोरोना को लेकर उपदेश देना बंद करें। छत्तीसगढ़ में कोरोना से रिकवरी दर भाजपाशासित राज्यों से बहुत बेहतर है। जहां देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या प्रति दस लाख आबादी 1500 से भी अधिक है वहीं छत्तीसगढ़ पर 342 है। मृत्यु दर देश में प्रति 10 लाख आबादी 30.80 है वहीं छत्तीसगढ़ मे मात्र 2.39 है। छत्तीसगढ़ की अपेक्षा भाजपा शासित राज्यों में कोरोना की वजह से मृत्यु होने वालों की संख्या 12 गुणा से अधिक है।

छत्तीसगढ़ में अब तक कुल 11020 प्रभावित मिले जिसमें से 8088 मरीज स्वस्थ होकर सकुशल घर पहुँच गये है। छत्तीसगढ़ में 25 हजार बिस्तरों का इंतजाम किया जा रहा है। 157 कोविड केयर सेंटर्स में 18598 बिस्तरों की व्यवस्था है। 20 हजार क्वारेंटाइन सेंटरों में 7 लाख से अधिक प्रवासी श्रमिक क्वारेंटाइन अवधि पूरा कर सकुशल घर लौट चुके हैं।
संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा कि छत्तीसगढ़ में कोरोना महामारी को नियंत्रित होते देख भाजपा के नेता बेचैन है। आपदा में अवसर तलाशने वाले भाजपा नेता मनगढं़त तथ्यहीन राजनीतिक बयानबाजी कर रहे हैं। कोरोना नियंत्रित करने में महती भूमिका निभाने वाले कोरोना वारियर्स का अपमान कर रहे है। छत्तीसगढ़ में सरकारी कर्मचारियों अधिकारियों, पुलिस, स्वास्थ्य कर्मचारियों, डॉक्टरों, सफाई कर्मियों, नगरीय निकायों के कर्मचारियों समाज सेवी संगठन गुरुद्वारा कमेटी एवं विभिन्न धार्मिक संगठनों ने राज्य सरकार के साथ कदम से कदम मिलाकर कोरोना के खिलाफ सफलतापूर्वक लड़ाई लड़ी है। इनमें से कुछ लोग संक्रमित भी हुए हैं। प्रदेश भर में पंचायतों ने अपने-अपने गांव के स्कूल भवन में क्वेरेन्टीन सेंटरों की जवाबदारी संभाली है। पंचायतों ने अपने अपने गांव के स्कूल भवन में क्वेरेन्टीन सेंटरों की जवाबदारी बखूबी निभाई भी है। ऐसे में भाजपा के द्वारा कोरोना के खिलाफ़ लड़ाई को लेकर उठाये जा रहे सवाल छत्तीसगढ़ के कोरोनो योद्धाओं का अपमान है। भाजपा शासित राज्यों में मध्य प्रदेश गुजरात में महामारी नियंत्रण में बरती जा रही घोर लापरवाही और बढ़ते संक्रमण की स्थिति चिंताजनक है।
भाजपा ये तो बताए जब 17 जुलाई को श्री राहुल गांधी जी ने कहा था कि ’10,00,000 का आँकड़ा पार हो गया।’
’इसी तेज़ी से ब्व्टप्क्19 फैला तो 10 अगस्त तक देश में 20,00,000 से ज़्यादा संक्रमित होंगे।’
’सरकार को महामारी रोकने के लिए ठोस, नियोजित कदम उठाने चाहिए।’
लेकिन आज ही देश में कोरोना का आंकड़ा 20 लाख से अधिक हो गया है। प्रदेश के भाजपा नेता कोरोना की आपदा में भी अवसर खोज रहे है। कोरोना से लड़ने के बजाय भाजपा नेताओं ने स्तरहीन राजनीति कर करोना के खिलाफ लड़ाई में महत्वपूर्ण भमिका निभाने वालों से लड़ने का निर्णय लिया है। भाजपा से कांग्रेस आज फिर से कह रही है कि करोना योद्धाओं का अपमान करना बंद करें और करोना के खिलाफ लड़ाई में  उनका साथ दे। ऐसे अपमानजनक बयान दे रही बौखलाई भाजपा को देख ऐसा महसूस होता है कि ’भाजपा नेता बीमारी से लड़ने के बजाय स्तरहीन बयानबाजी की राजनीति कर रहे है।’

बिलासपुर में बनेगा आदर्श आंगनवाड़ी केंद्र

आज बिलासपुर में महिला बाल विकास विभाग द्वारा संचालित दो  आंगनवाड़ी केंद्र का निरीक्षण किया। जिसमे जानकारी लिया कि किस तरह शासन द्वारा कुपोषण योजना और अन्य योजना के अंतर्गत बच्चों बच्चियों आउट महिलाओं को कब कब समूहों द्वारा केंद्र के माध्यम से क्या क्या दिया जाता है। कुछ आसपास के लोगो से भी पूछताछ कर जानकारी भी लिया। जरहाभाठा केंद्रों के नए भवन के प्रस्ताव भी लिया,आने वाले समय मे बिलासपुर में आदर्श आंगनवाड़ी केंद्र बनाएंगे जिसमे सब सुविधाएं हो सके।इस अवसर में विभाग के शासन के संयुक्त संचालक महोदय ज़िला अधिकारी पर्यवेक्षक और आंगनवाड़ी कार्यकर्ता और सहायिका उपस्तिथ थी। हमारे बिलासपुर के सम्मानीय पार्षद भी साथ थे।

के एस के महानदी के भूविस्थापितो की जल्द बहाली नही होने पर 17 अगस्त को होगा कलेक्ट्रेट का घेराव - नन्द कुमार बघेल

अकलतरा । राष्ट्रिय मतदाता जागरूक मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं सूबे के मुखिया भूपेश बघेल के पिताजी 7 अगस्त को नरियरा के सामुदायिक भवन में के एस के महानदी पावर कम्पनी के भूविस्थापितो के बीच पहुँचे जहाँ उनका भुविस्थापितो एवं छ ग पावर मजदूर संघ (एच एम एस) यूनियन ने साल एवं श्रीफल भेंट कर उनका स्वागत किया तत्पश्चात उनको भूविस्थापितो के द्वारा बताया गया कंपनी प्रबन्धन छल पूर्वक मजदूरो को नौकरी से निकाल कर मनमानी कर रहा है शासन प्रशासन से भी लगातार पत्राचार किया जा रहा है फिर भी मजदूरो की बहाली नही हो पा रही है लगभग 12 महीने से भूविस्थापितो की रोजी रोटी बन्द है उनके जीवन यापन करने वाली जमीन को पहले ही औने पौने दामो पर हड़प लेने के बाद उनकी नौकरियों को भी निगल रहा है जो भी मजदूर हित की बात करता है उसे झूठे केसों में फंसा कर नौकरी से बाहर किया जाता है, जिस पर नंद कुमार बघेल ने मजदूरो और उनके परिवारों को संबोधित करते हुए कहा कि भूविस्थापित मजदूरो के साथ इस तरह का व्यवहार अनुचित और दुर्भाग्यपूर्ण है, इस तरह की मनमानी को बर्दाश्त नही किया जायेगा, अगर मजदूरो की जल्द बहाली नही होती है तो 17 अगस्त को सारे प्रभावित गाँव के साथ मिलकर  कलेक्ट्रेट का घेराव किया जायेगा जो स्वयं उन्ही के नेतृत्व में होगा, उक्त कार्यक्रम में अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सदस्य मंजू सिंह, इंटक प्रदेशाध्यक्ष दीपक दुबे महामंत्री रजनीश सेठ, जिलाध्यक्ष मारुती उपाध्याय, उपाध्यक्ष पिंटू सिंह, ब्लाक अध्यक्ष ललित चौबे, एवं छत्तीसगढ़ पावर मजदूर संघ (एच एम एस) के अध्यक्ष विश्वनाथ प्रसाद साहू, महामंत्री शेरसिंह राय उपमहामंत्री बलराम गोस्वामी रामलाल केवट, सतीश बर्मन रघुराज निर्मलकर, रामनाथ केवट, लोभन साहू सहित भारी संख्या में भुविस्थापित मौजूद रहे।

पूनम पांडे को महिला प्रदेश महासचिव (इंटक) छत्तीसगढ़ पद पर हुई नियुक्ति

राष्ट्रीय मजदूर कांग्रेस (इंटक) के राष्ट्रीय अध्यक्ष स्वामीनाथ जयसवाल  के आदेश अनुसार छत्तीसगढ़ कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष  मोहन मरकाम एवं राष्ट्रीय मजदूर कांग्रेस (इंटक) के छत्तीसगढ़ रायपुर के महिला प्रदेश महासचिव (इंटक) छत्तीसगढ़ पद पर नियुक्त किया गया है,

 केंद्र एवं राज्य शासन के शासकीय अशासकीय अर्थशास्त्र के उद्योग आदि क्षेत्र के संगठित व असंगठित कर्मी व श्रमिकों के हित में न्याय संगत कार्रवाई करेंग
इस नियुक्ति से पूनम पांडेय के घर परिवार एवम दोस्तो में खुसी की लहर है । वही प्रमोद दुबे  पूर्व महापौर नगर निगम बाकी सतनाम सिग पनाग (पार्षद भाटा गांव)
गोवर्धन शर्मा (पूर्व वरिष्ठ पार्षद)शेख इमरान(कांग्रेस) डिंपल खान , महुआ मजुमदार, पायल नाग़रानी, विजय कोसले, राज साहू उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए बधाई दी है।  पूनम पांडेय ने सभी को धन्यवाद देते कहा कि श्रमिकों के हित में न्याय संगत कार्रवाई करेंगे तथा सरकार की हर योजना का लाभ मजदूरों तक पहुचाएंगे।

भगवान राम सब में हैं और सबके हैं राष्ट्रीय एकता, बंधुत्व और सांस्कृतिक समागम का अवसर बने भूमि पूजनः प्रियंका गांधी

नई दिल्लीः 5 अगस्त को अयोध्या में राम मंदिर भूमि पूजन का कार्यक्रम है। ठीक उससे एक दिन पहले कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने ट्वीट कर अपना बयान जारी किया, उन्होंने कहा कि उन्होंने कहा कि भगवान राम सब में हैं और सबके हैं। भगवान राम सबका कल्याण चाहते हैं। इसलिए वो मर्यादा पुरूषोत्तम हैं।

प्रियंका गांधी वाड्रा ने ट्वीट कर लिखा, ’’सरलता, साहस, संयम, त्याग, वचनवद्धता, दीनबंधु राम नाम का सार है। राम सबमें हैं, राम सबके साथ हैं। भगवान राम और माता सीता के संदेश और उनकी कृपा के साथ रामलला के मंदिर के भूमिपूजन का कार्यक्रम राष्ट्रीय एकता, बंधुत्व और सांस्कृतिक समागम का अवसर बने।’’

गौरतलब है कि अयोध्या में बुधवार को राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन कार्यक्रम आयोजित होगा, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंदिर का भूमि पूजन करेंगे। कांग्रेस की उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी ने एक बयान में कहा कि दुनिया और भारतीय उपमहाद्वीप की संस्कृति में रामायण की गहरी और अमिट छाप है। भगवान राम, माता सीता और रामायण की गाथा हजारों वर्षों से हमारी सांस्कृतिक और धार्मिक स्मृतियों में प्रकाशपुंज की तरह आलोकित है।

उनके मुताबिक, भारतीय मनीषा रामायण के प्रसंगों से धर्म, नीति, कर्तव्यपरायणता, त्याग, उदात्तता, प्रेम, पराक्रम और सेवा की प्रेरणा पाती रही है। उत्तर से दक्षिण, पूरब से पश्चिम तक रामकथा अनेक रूपों में स्वयं को अभिव्यक्त करती चली आ रही है। श्रीहरि के अनगिनत रूपों की तरह ही रामकथा हरिकथा अनंत है।

उन्होंने कहा कि युग-युगांतर से भगवान राम का चरित्र भारतीय भूभाग में मानवता को जोड़ने का सूत्र रहा है। भगवान राम आश्रय हैं और त्याग भी। राम सबरी के हैं, सुग्रीव के भी। राम वाल्मीकि के हैं और भास के भी। राम कंबन के हैं और एषुत्तच्छन के भी। राम कबीर के हैं, तुलसीदास के हैं, रैदास के हैं। सबके दाता राम हैं। गांधी के रघुपति राघव राजा राम सबको सम्मति देने वाले हैं। वारिस अली शाह कहते हैं जो रब है वही राम है।

प्रियंका ने कहा, राष्ट्र कवि मैथिलीशरण गुप्त राम को ‘निर्बल का बल’ कहते हैं। तो महाप्राण निराला ‘वह एक और मन रहा राम का जो न हो सका’ की कालजयी पंक्तियों से भगवान राम को ‘शक्ति की मौलिक कल्पना’ कहते हैं। राम साहस हैं, राम संगम हैं, राम संयम हैं, राम सहयोगी हैं। राम सबके हैं। भगवान राम सबका कल्याण चाहते हैं। इसलिए वो मर्यादा पुरूषोत्तम हैं।

पत्र के अंत में उन्होंने लिखा है कि 5 अगस्त को रामलला के भूमि पूजन का कार्यक्रम रखा है। भगवान राम की कृपा से यह कार्यक्रम उनके संदेश को प्रसारित करने वाला राष्ट्रीय एकता, बंधुत्व और सांस्कृतिक समागम का कार्यक्रम बनें।

पूर्व मुख्यमंत्री पं. रविशंकर शुक्ल ,एवं केन्द्रीय मंत्री विद्याचरण शुक्ल की जयंती ब्लाक कांग्रेस कमेटी पामगढ ने दी श्रद्धांजली

पामगढ़ : प्रदेश कांग्रेस कमेटी के निर्देश व जिला कांग्रेस कमेटी के मार्गदर्शन और ब्लॉक कांग्रेस कमेटी पामगढ़ के नेतृत्व में आज 02 अगस्त को विश्राम गृह पामगढ़ में स्व रविशंकर शुक्ल प्रथम मुख्यमंत्री मध्यप्रदेश व स्व विद्याचरण शुक्ल पूर्व केंद्रीय मंत्री के जन्म जयंती के अवसर पर उनके कृतित्व व व्यक्तित्व पर राघवेंद्र प्रताप सिंह उपाध्यक्ष जिला पंचायत जिला जांजगीर चाम्पा,हरप्रसाद साहू अध्यक्ष ब्लॉक कांग्रेस कमेटी पामगढ़ और मनोज खरे उपाध्यक्ष जिला कांग्रेस ने प्रकाश डाला इस अवसर पर द्वारिका प्रसाद यादव, राम कुमार पटेल ,लव तिवारी,राज कुमार कौशिक, कल्याण सिंह बर्मन,नरेंद्र तिवारी,प्रदीप बनर्जी,रमेश खरे,प्रेम शंकर लहरे,नीरज खूंटे,अनिल खूंटे,नहर लाल साहू,किशोर सिंह,मनहरण श्रीवास,चंदा राम बंजारे,उदल कश्यप, अजय वर्मा,नोखराम पाटले,चंदराम बंजारे,राजेश साहू,हृदय अनन्त,सरयू प्रसाद पूरे,गोरम सारथी,भानु प्रकाश खरे,विक्रम प्रधान, हरीश यादव,विजय यादव,राजकुमार निर्मलकर, सत्यनारायण, आकाश यादव,निखिल दिव्य,लिंकन रात्रे,शत्रुहन रत्नाकर,दीपेंद्र लहरे,रूपेश कश्यप, रामकुमार कश्यप, लोमस पटेल,मनोहर पटेल,राजेन्द्र कुमार फेर,लक्ष्मी कांत कौशिक,देवप्रसाद कौशिक,सहित कार्यकर्तागण उपस्थित थे

झीरम की एसआईटी जांच से भाजपा भयभीत क्यों: कांग्रेस

जगदलपुर। भाजपा प्रवक्ता श्रीचंद सुंदरानी के बयान पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता आलोक दुबे ने कहा कि झीरम घाटी राजनीतिक षड्यंत्र हत्याकांड की एसआईटी जांच से भाजपा को पसीना क्यों आ रहा है?तत्कालीन मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने दो वर्षों तक सीबीआई जांच नहीं होने की सूचना क्यो छिपाई?क्या भाजपा को डर है एनआईए झीरम घाटी कांड के लिए गठित एसआईटी को झीरम की फाइल दे देगी तो झीरम की सुपारी किलिंग की कलई खुल जाएगी? प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता आलोक दुबे ने कहा है कि झीरम घाटी कांड की जांच के लिए एसआईटी गठित होने एवं शहीद उदय मुदलियार के बेटे जितेंद्र मुदलियार के द्वारा झीरम घाटी कांड के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराये जाने के बाद भाजपा फिर एनआईए जांच करने की बात क्यो कह रही है?जबकि एनआईए ने अक्टूबर 2015 में न्यायालय में क्लोजर रिपोर्ट पेश कर कहा कि उनकी जांच पूरी हो चुकी है अब न्यायालय सुनवाई करें? झीरम घाटी कांड के जांच के लिए एसआईटी गठन होने के बाद भाजपा में खलबली मची है।झीरम घाटी हत्या कांड के बाद छत्तीसगढ़ में पुनः भाजपा की सरकार बनती है, डॉ रमन सिंह मुख्यमंत्री बनते हैं और झीरम घाटी जांच ठंडे बस्ते में चली जाती है,जांच की दिशा बदल जाती है,दायरे सीमित हो जाते हैं।एनआईए परिवर्तन यात्रा में शामिल कांग्रेस नेता जो घायल हुए थे उनसे पूछताछ नहीं करती है। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता आलोक दुबे ने कहा कि छत्तीसगढ़ राज्य निर्माण के समय दक्षिण बस्तर के तीन विकास खंडों तक सीमित नक्सलवाद डॉ रमन सिंह के शासनकाल में 14 जिलों तक कैसे पहुँचा? भाजपा नेताओं के नक्सलवादियों के साथ सम्बंध उजागर हो रहे हैं।दंतेवाड़ा के भाजपा जिला उपाध्यक्ष जगत पुजारी को बीते 10 साल से नक्सलियों को सामानों सप्लाई करने के आरोप में गिरफ्तार किया जाता हैं।2013 में भाजपा नेता शिवदयाल तोमर की हत्या के बाद गिरफ्तार नक्सली पोडियाम लिंगा पूछताछ में स्वीकार करते हैं कि नक्सलियों के साथ भाजपा के बड़े नेताओं की सांठगांठ है।नक्सलियों के सहयोगी के रूप में पकड़ाए ठेकेदार धर्मेंद्र चोपड़ा की जिस वक़्त गिरफ्तारी होती है उस वक्त भाजपा सांसद के कार में सवार थे। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता आलोक दुबे ने कहा कि भाजपा नहीं चाहती कि झीरम घाटी षड्यंत्रकारियो के चेहरे से नकाब उतरे, सच्चाई जनता के बीच आए और राजनीतिक षड्यंत्र हत्याकांड में शामिल लोगों को सजा मिले, शहीद परिवारों को न्याय मिले। छत्तीसगढ़ में भाजपा सरकार में रहते झीरम घाटी कांड की जांच को प्रभावित की अब एसआईटी जांच को प्रभावित करने का प्रयास कर रही है। इससे स्पष्ट है दाल में कुछ काला नहीं बल्कि पूरी दाल ही काली है।

नरवा, गरूवा, घुरूवा, बारी भूपेश की तब का नारा है जब छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार नहीं थी- राजेश्री महन्त

रायपुर - छत्तीसगढ़ शासन राज्य गौसेवा आयोग के अध्यक्ष राजेश्री महन्त रामसुन्दर दास जी महाराज पीठाधीश्वर श्री दूधाधारी मठ रायपुर ने आज दिनांक 29 जुलाई को राजिम क्षेत्र में नवीन गौशाला एवं कृषि अनुसंधान केंद्र झांकी, श्री गोपाल गौशाला नवापारा राजिम, श्री दूधाधारी मठ द्वारा संचालित ग्राम पिपरौद के गौशाला का निरीक्षण किया प्रत्येक स्थानों पर संचालकों ने समिति के सदस्यों तथा स्थानीय जनप्रतिनिधियों के साथ उनका आत्मीय अभिनंदन किया अपने संदेश में राजेश्री महन्त जी महाराज ने कहा कि नरवा, गरूवा, घुरूवा बारी भूपेश जी का तब का नारा है जब छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार नहीं थी उन्होंने केवल नारा ही नहीं लगाया बल्कि सरकार में आते ही अपनी भावनाओं को मूर्त रूप देना प्रारंभ कर दिया उन्होंने कहा कि विगत अनेक वर्षों से गौ माताओं की स्थिति छत्तीसगढ़ राज्य में ही नहीं बल्कि पूरे देश में बद से बदतर होते चली जा रही थी किंतु यह हम सब के लिए खुशी की बात है कि विशेषकर छत्तीसगढ़ में वस्तु स्थिति में परिवर्तन परिलक्षित होने लगा है गौमाता भारतीय सनातन धर्म के ऋषि एवं कृषि संस्कृति का अभिन्न अंग है कारण कि ऋषि संस्कृति में होम, हवन, यज्ञ, जप, तप का अत्यधिक महत्व है इसके लिए हमें पंचगव्य की आवश्यकता होती है जो गौ माता से ही प्राप्त होता है इसके बिना कोई भी पूजा सफल नहीं हो सकता। कृषि संस्कृति की बात करें तो कृषि का यांत्रिकीकरण तो वर्तमान युग में हुआ है, हमारे पूर्वजों ने हजारों वर्षों से परंपरागत कृषि को अपनाया है इसके लिए बैल की आवश्यकता होती थी। बेलन, नागर, कोपर, दौरी, गाड़ा- गाड़ी आदि सभी को संचालित करने में बैल का अत्यधिक महत्व था। यह हमें गौमाता के बिना कभी प्राप्त नहीं हो सकती थी। हम सब पर गौ माता का अनन्य उपकार है हमें अपने सनातन संस्कृति को बचाए रखने के लिए गौ माताओं का संरक्षण और संवर्धन करना ही होगा राजेश्री महन्त जी महाराज जहां-जहां, जिन -जिन गौशालाओं पर गए वहां के संचालकों को उन्होंने गौ माता के उचित संरक्षण के लिए दिशा निर्देश प्रदान किया अपने इस प्रवास के दौरान उन्होंने भगवान राजीवलोचन का दर्शन करके अनेक स्थानों पर वृक्षारोपण भी किया उनके इस निरीक्षण दौरे के कार्यक्रम में पूर्व विधायक संतोष उपाध्याय, श्री प्रवीण साहू, जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष भाव सिंग साहू ,अनिल तिवारी, राघोबा महाड़िक,अरुण देवांगन भूषण सिंह ठाकुर, शिव कुमार ठाकुर, राजेंद्र ठाकुर, नरेंद्र ठाकुर, अशोक श्रीवास्तव, विकास तिवारी, राजकुमार गोस्वामी, डीके ठाकुर, पुरुषोत्तम मिश्रा, द्वारिकाधीश दुबे, लोकेश चंद्र पांडे, संतोष शर्मा आदि ने सौजन्य मुलाकात की राज्य गौ सेवा आयोग के अधिकारी, जिला एवं पुलिस प्रशासन के अधिकारी गण तथा मीडिया प्रभारी निर्मल दास वैष्णव रामतीरथ दास साथ में उपस्थित थे। यहां यह उल्लेखनीय है कि ग्राम पीपरौद का गौशाला श्री दूधाधारी मठ के द्वारा संचालित है स्वयं के द्वारा संचालित गौशाला का भी राजेश्री महन्त जी महाराज ने अधिकारियों को अवलोकन कराया।