व्यापार

शेयर बाजार में गिरावट, सेंसेक्स 34,000 से नीचे

मुंबई -  देश के शेयर बाजार के शुरुआती कारोबार में गुरुवार को गिरावट का रुख है। सेंसेक्स 34,000 के मनोवैज्ञानिक स्तर से लुढ़क कर 33723.53 पर आ गया। प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स सुबह 10.30 बजे 846.20 अंकों की गिरावट के साथ 33,938.88 पर और निफ्टी भी लगभग इसी समय 258.55 अंकों की गिरावट के साथ 10,201.55 पर कारोबार करते देखे गए।
बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स सुबह 697.07 अंकों की गिरावट के साथ 34,063.82 पर जबकि नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी 290.3 अंकों की कमजोरी के साथ 10,169.80 पर खुला।

2 से 3 तिमाही में एयरटेल राजस्व में नंबर 1 रैंक फिर से हासिल कर सकता है

विशेषज्ञों के मुताबिक मर्जर के नियमो की वजह से वोडा आईडिया खोयेगा अपना रेवेन्यू मार्केट शेयर अग्रिम २-3 तिमाही में जहाँ एक तरफ वोडा आईडिया मर्जर के नियमो का पालन करते हुए अपनी राजस्व हिस्सेदारी खोयेगा,वही सुनील मित्तल की कंपनी, टाटा टेलीसर्विसेस की अधिग्रहण की प्रकिया होते-होते राजस्वके पैमाने में देश की नंबर 1 कंपनी फिर से बन जाएगीl एनालिसिस मेसन के भारत एवं मिडिल ईस्ट के पार्टनर और हेड रोहन धामिजा ने कहा कि ऐतिहासिक तौर पर टेलीकॉम सेक्टर में वैश्विक स्तर परयहसिद्ध हो चूका है कि विलय के बाद गठित कंपनी परनेटवर्क एकीकरण के दौरान उसकी संयुक्त राजस्व में 200 बेसिस पॉइंट्स कीकमीआती है"। लेकिन वीआईएल के मामले में, उन्होंने कहा, कि राजस्व का नुकसानऔर भी "बड़ा” हो सकता है क्योंकि भारत का दूरसंचार बाजार बहुत प्रतिस्पर्धी बना हुआ हैlजहाँ एयरटेल और जियो ने 4 जी में अपना निवेश बढ़ाया है, और अगले छह महीनों में स्मार्ट फोन उपयोगकर्ता को और बढ़ाने पर ध्यान केंद्रित करने की संभावना जताई है, वही वीआईएल अपने नेटवर्क एकीकरण के साथ व्यस्त होगा। ग्लोबल रेटिंग एजेंसी फिच के डायरेक्टर नितिन सोनी ने कहा "टाटा टेली के अधिग्रहण समाप्त होने तक एयरटेल आसानी से वोडाफोन आइडिया के राजस्व में नेतृत्व को वापस पा सकता है।" एयरटेल ने वीआईएल को आरएमएस पर अपना नंबर 1स्पॉट खो दिया है, लेकिन ब्रोकरेज फर्म क्रेडिट सुइस ने कहा, कि वीआईएल की आरएमएसबढ़त बहुत मामूली है l विशेषज्ञों ने कहा कि रेग्यूलेटर्स के आंकड़ों के मुताबिक, वीआईएलका राजस्व मार्च 2017 (विलय घोषणा के समय) में 20.7% से गिरकर लगभग 33% हो गया हैl एयरटेल (निकटतम प्रतिद्वंद्वी) लगभग 31% पर, और रिलायंस जियो 22% के अधिक के साथ तीसरी रैंक पर तेजी से मार्किट में पकड़ बना रहा है l एयरटेल, टाटा टेली डील के लिए नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (एनसीएलटी) की स्वीकृति का इंतज़ार कर रही है, जिसके बाद वह डीओटी मंजूरी मांगेगी l कंपनी के सीईओ गोपाल विट्टल ने कर्मचारियों से आग्रह किया है कि वे आरएमएस लाभ के लिए कोई कसर नहीं छोड़ें।जेएम फाइनेंशियल ने कहा कि वीआईएल को "कठिन” परिस्थिति का सामना करना पड़ रहा है क्योंकि यह रेवन्यू खो रहा है, जबकि भारती “स्थिरता” देख रही है, वही जियो आगे बढ़ने के लिए तैयार है। एसबीआई कैप सिक्योरिटीज ने कहा कि वीआईएलकिनई निर्मित इकाई को जियो से अत्यधिक मूल्य निर्धारण दबाव का सामना करना पड़ रहा है, खासकरयेध्यान में रखते हुएकि मुकेश अंबानीने 2021 तकजिओ के लिए 50% आरएमएसका लक्ष्यरखा हैl धामिजा ने कहा कि वीआईएल विलय प्रक्रिया के तहत उपभोक्ता और रेवन्यू मार्केट कैप नियमों के अनुरूप होने के लिए अधिक राजस्व और ग्राहक जाते हुए देख सकता है। दूरसंचार नियमों के अनुसार विलय वाली इकाई के संयुक्त आरएमएस और कस्टमर मार्केट शेयर (सीएमएस) किसी भी सर्कल में 50% से अधिक नहीं हो सकताl वीआईएल को अपने विलय सौदे के बंद होने के बाद एक वर्ष में रेवन्यू शेयर कैप नियमों का पालन करना होगा। वर्तमान में, वीआईएल चार सर्किलों में - गुजरात, हरियाणा, केरल और महाराष्ट्र -डीओटी की निर्धारित 50% आरएमएस कैप का उल्लंघन करता है।

एयरटेल और नेटफ्लिक्स ने भारत में अपनी साझेदारी के विस्तार की घोषणा

नई दिल्ली, 27 अगस्त, 2018: आज एयरटेल और नेटफ्लिक्स ने भारत में अपनी साझेदारी के विस्तार की घोषणा की, जिसके द्वारा एयरटेल पोस्टपेड एवं वी-फाईबर होम ब्राॅडबैंड प्लांस के चुनिंदा ग्राहकों को नेटफ्लिक्स का तीन माह का सब्सक्रिप्षन उपहार में मिलेगा। तीन महीनों के बाद ये उपभोक्ता अपने पोस्टपेड या होम ब्राॅडबैंड बिल का उपयोग कर अपने नेटफ्लिक्स सब्सक्रिप्षन के लिए सुगमता से भुगतान कर सकेंगे। नेटफ्लिक्स के वर्तमान उपभोक्ताओं को भी यह उपहार मिलेगा। जिन उपभोक्ताओं को यह उपहार नहीं मिल रहा है, वो एयरटेल ऐप के माध्यम से नेटफ्लिक्स के लिए साईन-अप करके एयरटेल के बिल द्वारा अपने सब्सक्रिप्षन के लिए भुगतान कर सकेंगे।

एयरटेल प्लांस वाले ग्राहक नेटफ्लिक्स पर साईन अप करके सुगमता से एयरटेल टीवी ऐप और माई एयरटेल ऐप के द्वारा नेटफ्लिक्स का तीन महीनों का उपहार प्राप्त कर सकते हैं। जिन ग्राहकों के प्लांस पर ये गिफ्ट उपलब्ध नहीं हैं, वो एयरटेल के दूसरे प्लान में अपग्रेड कराके यह उपहार प्राप्त कर सकते हैं और अपने एयरटेल बिल का उपयोग कर नेटफ्लिक्स के लिए भुगतान कर सकते हैं। आने वाले हफ्तों में एयरटेल इस आॅफर वाले पोस्टपेड मोबाईल और होम ब्राॅडबैंड प्लांस की घोषणा करेगा। नेटफ्लिक्स और एयरटेल ने नेटफ्लिक्स कंटेंट को प्रमोट करने और एयरटेल टीवी यूज़र्स को नेटफ्लिक्स का कंटेंट दिखाने के लिए यह साझेदारी की है। यह कंटेंट एयरटेल टीवी ऐप द्वारा दिखाया जाएगा।

भारती एयरटेल के एमडी एवं सीईओ (भारत और दक्षिण एषिया), गोपाल विट्टल ने कहा, ‘‘पार्टनरषिप एयरटेल के डीएनए में हैं और हमें नेटफ्लिक्स के साथ अपनी सामरिक साझेदारी का विस्तार करने की खुषी है। किफायती हाईस्पीड डेटा सेवाओं और बढ़ती हुई स्मार्ट डिवाईसेस ने हमें स्थानीय और वैष्विक स्तर पर कंटेंट के प्रसार का विषाल अवसर दिया है, जो दुनिया में सबसे बड़े अवसरों में से एक है। हम इस विषाल अवसर का लाभ उठाने के लिए नेटफ्लिक्स के साथ काम करने के लिए उत्साहित हैं और शानदार आॅफरों द्वारा ग्राहकों को खुषी प्रदान करते रहेंगे।’’

इस साझेदारी से एयरटेल टीवी पर एयरटेल का विषाल डिजिटल कंटेंट पोर्टफोलियो मजबूत होगा। यह 10,000 से अधिक मूवी और शो एवं 375 से अधिक लाईव टीवी चैनल पेष करता है। एयरटेल टीवी स्मार्टफोन पर कंटेंट की बढ़ती मांग के साथ तेजी से विकसित हो रहा है। एयरटेल ने इस बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए डिजिटल कंटेंट पार्टनरों का विषाल ईकोसिस्टम निर्मित कर लिया है। नेटफ्लिक्स के साथ पार्टनरषिप ग्राहकों के लिए वीडियो कंटेंट की सार्थक और विषिष्ट पार्टनरषिप विकसित करने की इसकी प्रतिबद्धता की पुष्टि करती है।

नेटफ्लिक्स के लिए ग्लोबल हेड आॅफ बिज़नेस डेवलपमेंट, बिल होम्स ने कहा, ‘‘हमें एयरटेल के साथ अपनी पार्टनरषिप का विस्तार करने की खुषी है। हम लेटेस्ट टेक्नाॅलाॅजी और सर्वश्रेष्ठ मनोरंजन का समावेष कर रहे हैं। सैक्रेड गेम्स, घोल या स्ट्रांजर थिंग्स जैसे प्रोग्राम ज्यादा से ज्यादा ग्राहक मोबाईल पर देख रहे हैं, इसलिए हम नेटफ्लिक्स के अवार्ड-विनिंग टीवी शो एवं मूवी एयरटेल के मोबाईल और ब्राॅडबैंड नेटवर्क पर ला रहे हैं। एयरटेल के ग्राहक अपने नेटफ्लिक्स सब्सक्रिप्षन और एयरटेल पोस्टपेड/होम ब्राॅडबैंड बिल के लिए एक ही मासिक बिल की सुविधा प्राप्त कर सकेंगे।’’

 

अपनी 23 वीं सालगिरह के मौके पर एयरटेल अपने ग्राहकों को दे रहा है गिफ्ट कार्ड एयरटेल ने अमेजॉन पे के साथ की साझेदारी

नई दिल्ली  अपनी 23 वीं सालगिरह के जष्न के तहत, एयरटेल अपने स्मार्टफोन ग्राहकों को अमेज़न पे के साथ साझेदारी में आकर्षक गिफ्ट प्रदान कर रहा है। 
स्मार्टफोन के एयरटेल प्रिपेड एवं पोस्टपेड ग्राहकों को 51 रु. मूल्य के विषेष अमेज़न पे डिजिटल गिफ्ट कार्ड प्राप्त होंगे। ये गिफ्ट कार्ड अमेज़न पे बैलेंस के रूप में लोड हो सकेंगे और इन्हें मोबाईल रिचार्ज, बिल के भुगतान या अमेज़न इंडिया के विस्तृत कैटालोग में शाॅपिंग के लिए इस्तेमाल किया जा सकेगा। इसे अमेज़न पे के पार्टनर मर्चेंट्स के लिए भी उपयोग में लाया जा सकेगा।

100 रु. या उससे अधिक मूल्य के बंडल्ड पैक पर प्रिपेड ग्राहकों को तथा किसी भी इन्फिनिटी प्लान के पोस्टपेड ग्राहकों को विषेष अमेज़न पे गिफ्ट कार्ड मिल सकेगा। 

डिजिटल गिफ्ट कार्ड माई एयरटेल ऐप द्वारा प्राप्त किया जा सकता है। ग्राहकों को इसके लिए प्ले स्टोर (एन्ड्राॅयड) या ऐप स्टोर (आईओएस) से माई एयरटेल ऐप डाउनलोड करना होगा। ग्राहकों को गिफ्ट कार्ड एक्टिवेट करने के लिए माई एयरटेल ऐप के अंदर ‘‘एयरटेल थैंक्स’’ बैनर पर क्लिक करना होगा। 

यह डिजिटल गिफ्ट कार्ड उन ग्राहकों को भी उपलब्ध होगा, जो अगले 30 दिनों में 100 रु. या इससे अधिक का एयरटेल प्रिपेड बंडल्ड पैक चुनेंगे या किसी भी इन्फिनिटी पोस्टपेड प्लान में अपग्रेड कराएंगे।

ग्राहक माई एयरटेल ऐप, आॅनलाईन पोर्टल, जैसे अमेज़नडाॅटइन द्वारा रिचार्ज करा सकते हैं या फिर नज़दीकी रिटेलर या एयरटेल स्टोर पर विज़ट कर सकते हैं। यह आॅफर सीमित अवधि के लिए लागू है। 

अपने बंडल्ड रिचार्ज के साथ एयरटेल बेहतरीन फायदे प्रदान करता है। इनमें हाई स्पीड डेटा एवं अनलिमिटेड काॅलिंग तथा मुफ्त नेषनल रोमिंग शामिल हैं। एयरटेल इन्फिनिटी पोस्टपेड प्लान रोलओवर की सुविधा के साथ डेटा का विषाल मासिक कोटा, मुफ्त नेषनल रोमिंग के साथ अनलिमिटेड काॅलिंग, एक साल की अमेज़न प्राईम मेंबरषिप तथा एयरटेल टीवी एवं विंक म्यूज़िक का मुफ्त सब्सक्रिप्षन प्रदान करते हैं। एयरटेल को विभिन्न एजेंसियों ने लगातार भारत के सबसे तेज मोबाईल नेटवर्क की रेटिंग दी है।

इस पार्टनरषिप के बारे में वाणी वेंकटेश, चीफ मार्केटिंग आॅफिसर - भारती एयरटेल ने कहा, ‘‘हमें भारत का अग्रणी स्मार्टफोन बनाने की इस 23 की यात्रा में हमारे साथ साझेदारी करने के लिए हमारे ग्राहकों का धन्यवाद। हमें ग्राहकों के साथ अपनी इस खुषी को बांटने के लिए अमेज़न पे के साथ पार्टनरषिप करने की खुषी है। आॅनलाईन शाॅपिंग स्मार्टफोन वाले ग्राहकों के बीच काफी लोकप्रिय है। भारत के सबसे तेज नेटवर्क पर डेटा के बेहतरीन अनुभव के साथ हमारे ग्राहक अब रिचार्ज और बिल भुगतान के अतिरिक्त फायदे का लाभ ले सकते हैं तथा अमेज़न पर विस्तृत श्रृंखला की शाॅपिंग भी कर सकते हैं।’’

अमेज़न पे इंडिया प्राईवेट लिमिटेड के डायरेक्टर, शारिक प्लास्टिकवाला ने कहा, ‘‘हमें इस जश्न में एयरटेल के साथ साझेदारी करने की खुषी है। हम अपने ग्राहकों की जरूरतों को समझते हैं और उनके द्वारा उपयोग किए जाने वाले प्लेटफाॅम्र्स पर उनका भुगतान का अनुभव बेहतर बनाना चाहते हैं। इस गिफ्ट कार्ड के साथ एयरटेल ग्राहक अब अपना प्रिपेड मोबाईल रिचार्ज कर सकते हैं, बिल का भुगतान कर सकते हैं या अमेज़नडाॅटइन पर शाॅपिंग कर सकते हैं।

अमेज़न पे के बारे मेंः
अमेज़न पे अमेज़न पर या किसी अन्य जगह डिजिटल रूप से भुगतान करने का सुविधाजनक एवं भरोसेमंद माध्यम है। हम कैशमुक्त भारत बनाने के विज़न के लिए समर्पित हैं औरर ग्राहकों के साथ मिलकर ऐसे तरीके खोजने के लिए काम कर रहे हैं, जो ग्राहकों की परेषानियों को कम करें, किफायत बढ़ाएं और दैनिक आदतें विकसित करें, जिससे डिजिटल भुगतान के लिए रुचि बढ़े। 

भारती एयरटेल लिमिटेड के बारे में
भारती एयरटेल लिमिटेड अग्रणी ग्लोबल टेलीकम्युनिकेषंस कंपनी है, जो एषिया और अफ्रीका के 16 देषों में काम करती है। इसका मुख्यालय नई दिल्ली, भारत में है। कंपनी सब्सक्राईबर्स की दृष्टि से विष्व के सर्वोच्च 3 सर्विस प्रोवाईडर्स में से एक है। भारत में कंपनी 2जी, 3जी और 4 जी वायरलेस सेवाएं, मोबाईल काॅमर्स, फिक्स्ड लाईन सेवाएं, हाईस्पीड होम ब्राॅडबैंड, डीटीएच, इंटरप्राईज़ सेवाएं जैसे कैरियर्स को नेषनल एवं इंटरनेषनल, लाँग डिस्टैंस सेवाएं आदि प्रदान करती है। अन्य जगहों पर यह 2जी, 3जी, 4जी वायरलेस सेवाएं एवं मोबाईल काॅमर्स प्रदान करती है। जून, 2018 के अंत तक भारती एयरटेल के पास 456 मिलियन से अधिक ग्राहक थे। 

सेंसेक्स ने रचा इतिहास, पहली बार छुआ 37 हजार का आंकड़ा

शेयर बाजार से अच्छी खबर है। सेंसेक्स और निफ्टी अब तक के सबसे ऊंचे स्तर को पार कर गया। सेंसेक्स 140 अंकों की तेजी के साथ 37,000 के स्तर पर पहुंच गया. जोकि अबतक का सबसे उंचा स्तर है। वहीं, निफ्टी भी 35 अंकों की तेजी के साथ 11,162.15 के स्तर पर कारोबार कर रहा है।  जबकि निफ्टी ने नया रिकॉर्ड उच्चतम स्तर बनाया है। निफ्टी 11,171.5 के पार निकल गया है।
 
बुधवार: बाजार का हाल
इन शेयरों में दिखा उछाल-
पीएसयू बैंक, एफएमसीजी, ऑटो, फार्मा और कैपिटल गुड्स शेयरों में काफी खरीदारी हो रही है। अंबूजा सीमेंट, आईटीसी, एसबीआई, अल्ट्राटेक सीमेंट,आयशर मोटर्स, टाटा मोटर्स, भारती एयरटेल और इंडसइंड बैंक 2.2-0.7 फीसदी तक चढ़े हैं सिर्फ मेटल और आईटी शेयरों में दबाव दिख रहा है।
इन शेयरों में गिरावट-
सन फार्मा ,एचपीसीएल, अदानी पावर,भारती इंफ्राटेल,  बीपीसीएल,  एचयूएल, हीरो मोटो, और टाटा स्टील 1.8-0.3 फीसदी तक गिरे हैं।

बुधवार को अंतराष्ट्रीय बाजार में अमेरिकी बाजार नैस्डैक में रिकॉर्ड तेजी देखी गई। नैस्डैक कंपोजिट रिकॉर्ड स्तर पर जाकर बंद हुआ और जानकारों का मानना है कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को यूरोपीयन यूनियन से व्यापारिक रियायतें मिलने और तकनीकी शेयरों में मजबूती की वजह से बाजार पर सकारात्मक असर पड़ा है। डॉव जोंस इंडस्ट्रियल एवरेज (Dow Jones Industrial Average) 172.16 अंक या 0.68% की मजबूती के साथ 25,414.10 पर बंद हुआ। वहीं नैस्डैक कंपोजिट (Nasdaq Composite) 91.47 अंक या 1.17% की तेजी के साथ 7,932.24 पर बंद हुआ.

वही आज भी बाजार में तेजी देखने को मिल रही है। रूपये की बात करें तो वो भी अप तक के उच्चतम स्तर पर 68.71 प्रति डॉलर पर खुला है जबकि कल 68.79 पर बंद हुआ था।
निवेशकों के लिए ये समय काफी अच्छा है और आने वाले दिनों में भी बाजार के अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद है।

छत्तीसगढ़ के एम एस एम ई उद्यमियों के लिए ए&ए बिज़नेस कंसल्टिंग ने की खास सेवाओं की शुरुआत

रायपुर, 9 जुलाई, 2018 : एमएसएमई के लिए बिजनेस कंसल्टिंग के क्षेत्र में अग्रणी नाम ए एन्ड ए  बिजनेस कंसल्टिंग प्राइवेट लिमिटेड ने हाल ही में रायपुर में काम का शुभारम्भ किया। यह कम्पनी क्लाइंट के व्यवसाय का विश्लेषण करने, समस्या से संबंधित क्षेत्रों की पहचान करने और कस्टम-डिजाइन समाधानों को लागू करने में विशेषग्यता रखती है, ताकि क्लाइंट्स की उल्लेखनीय वृद्धि तथा फायदे में बढ़ोत्तरी के लिए प्रभाव डाले जा सकें। देशभर में अब तक 10,000 से भी अधिक एमएसएमई क्लाइंट्स को सेवाएं दे चुकी यह कम्पनी इस बात पर विश्वास करती है कि भारत में रायपुर एक बहुत ही महत्वपूर्ण एमएसएमई हब है जिसके लिए उन्हें सेवाएं देनी चाहिए। 

इसी कड़ी में एक प्रेस मीट के दौरान यह घोषणा करते हुए, प्रवीण दरयानी, चेयरमैन तथा मैनेजिंग डायरेक्टर, ए एन्ड ए बिजनेस कंसल्टिंग ने कहा-'एमएसएमई हमारे देश की जीडीपी में करीब 40 प्रतिशत का योगदान देती हैं और करीब 80 मिलियन लोगों को रोजगार देती हैं. राष्ट्र की आर्थिक वृद्धि के लिए वे सर्वोत्कृष्ट हैं तथा खास देख रेख की पात्र हैं'।

राष्ट्र की आर्थिक वृद्धि में सहयोग करने के बड़े लक्ष्य के साथ काम कर रही ए एन्ड ए बिजनेस कंसल्टिंग एमएसएमई व्यवसायियों को अधिक व्यवस्थित होने में  मदद करने के साथ ही यह भी सुनिश्चित करती है कि सही प्रक्रिया, तकनीक, लोग तथा पहुँच को सही तरीके से रखकर सर्वोत्तम प्रदर्शन तथा मुनाफे में बढ़त को तय किया जा सके।

कम्पनी की प्रैक्टिस की श्रृंखला व्यवसाय, फाइनेंस, ब्रांडिंग, ह्यूमन रिसोर्सेस, इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी तथा ऑपरेशंस आदि से लेकर इसके फ्लैगशिप प्रोग्राम जैसे कि स्पीड फॉर बिजनेस (एसएफबी) तथा स्ट्रैटजिक अलाइंस इन बिजनेस (एसएबी) तक संचालित होती है. इन सबके जरिये कम्पनी एमएसएमई ऑन्त्रप्रेन्योर्स का विकास करने में सहायता कर रही है एवं उन्हें उनके व्यवसाय को बढ़ाने में भी मदद कर रही है.   दरियानी आगे बताते हैं-'एमएसएमई व्यवसायों में मानव संसाधनों को मजबूत बनाना, उत्पादों पर काम करना, ब्रांड के प्रति समझ तथा सिस्टम में सुधार लाना वे महत्वपूर्ण क्षेत्र हैं जिनपर ए एन्ड ए कम्पनी ध्यान केंद्रित करती है. इसके बाद वृद्धि और टर्नओवर अपने आप आ जाते हैं'।

ए ए बी सी के बारे में:
ए एन्ड ए बिजनेस कंसल्टिंग (ए ए बी सी) स्मॉल एन्ड मीडियम एंटरप्राइज (लघु व मध्यम उद्यमों) के लिए भारत की अग्रणी कंसल्टिंग कम्पनी है. 2009 में स्थापित एएबीसी ने विभिन्न व्यवसायों में सहयोग कर व्यवस्थित वृद्धि हासिल करते हुए 1500 पूर्ण विकसित कंसल्टिंग प्रोजेक्ट्स पूरे किये हैं। वर्तमान में देशभर के 7 राज्यों में 18000 से अधिक एमएसएमई के साथ हम उपस्थिति दर्शा रहे हैं।

मारे 300 से अधिक प्रोफेशनल्स की टीम विभिन्न उद्योगों से जुड़े क्लाइंट्स को सेवाएं दे रही है जिनमें टैक्सटाइल से लेकर मशीन टूल्स, अपैरल, एग्रीकल्चर, इंजीनियरिंग, कैमिकल्स, फूड प्रोसेसिंग, हेल्थकेयर तथा फार्मास्यूटिकल्स, टेलीकॉम, एजुकेशन, बीएफएसआई, ऑटोमोबाइल, कंस्ट्रक्शन तथा इंफ्रास्ट्रक्चर एवं एफएमसीजी आदि शामिल हैं।

हमारे पास छह अलग-अलग कंसल्टिंग प्रैक्टिस हैं जिनके साथ हम काम करते हैं. ये हैं सेल्स (बिजनेस), फाइनेंस, ब्रांडिंग, ह्यूमन रिसोर्सेस, इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी तथा ऑपरेशंस (बिजनेस प्रोसेस). विभिन्न उद्योगों में विशेषग्यता रखने वाली 100 से अधिक हमारे कंसल्टेंट्स की टीम सब्जेक्ट मैटर एक्सपर्ट्स (एस. एम. ए.) टीम द्वारा समर्थन प्राप्त है. ये दोनों एक साथ मिलकर क्लाइंट्स के बिजनेस में उल्लेखनीय बदलाव लाने की जिम्मेदारी निभाते हैं।

सभी प्रैक्टिस से जुड़े समस्त कंसल्टिंग प्रोडक्ट्स एएबीसी की प्रोडक्ट रिसर्च एन्ड डेवलपमेंट टीम (पीआरडी) द्वारा अनुसन्धान और विकसित किये गए हैं. यह टीम एसएमई व्यवसाय की चुनौतियों को समझने के लिए प्रायमरी रिसर्च करता है और उसके बाद रिसर्च से प्राप्त नतीजों तथा क्लाइंट से मिले फ़ीडबैक के आधार पर उत्पादों को विकसित करता है. इन उत्पादों के जरिये उपलब्ध करवाए गए समाधान एसएमई के लिहाज से खरे उतरते हैं, चाहे फिर वे एसएमई किसी भी आकार की हों और उनके द्वारा कितनी भी बड़ी चुनौती का सामना क्यों न किया जा रहा हो।

कम्पनी द्वारा अपनाई जा रही कंसल्टिंग मेथडोलॉजी एकदम अनूठी है. हम विशिष्ट क्लाइंट के लिए खास कंसल्टेंट को निर्धारित करते हैं, काम की गुंजाईश (स्कोप ऑफ वर्क-एसओडब्ल्यू) को फ़ाइनल करते हैं, क्लाइंट के व्यवसाय पर उस एसओडब्ल्यू को लागू करने को प्रतिबद्ध रहते हैं. हम क्लाइंट्स के कर्मचारियों को और अधिक प्रोडक्टिव बनाने एवं उन्हें बेहतर प्रोफेशनल्स बनाने के लिए प्रशिक्षण भी देते हैं. इससे भी आगे हम अपने क्लाइंट्स के ग्रुप्स के लिए नेटवर्किंग के अवसर भी बनाते हैं जहाँ वे एक-दूसरे के साथ संसाधनों को उपजाने और एक्सचेंज करने का काम कर सकते हैं. अंत में, हम अपने क्लाइंट्स (एसएमई मालिकों) को बिजनेस के विभिन्न पहलुओं पर प्रशिक्षित करते हैं और इस तरह से उनके ज्ञान में इजाफा करके, उनके व्यावसायिक परिदृश्य को और विस्तृत करते हैं. इस तरह यह एक प्रोजेक्ट की शुरुआत में समर्पित एसओडब्ल्यू के प्रभावशाली कार्यान्वयन के रूप में परिणाम पहुँचते हैं।

एएबीसी में हमारा विजन लोगों और संस्थानों को वृद्धि करने में सहायता करना है. अपने इस दृष्टिकोण से गहराई से जुड़े रहते हुए हमने मार्च 2018 में 1239 व्यवसायों वित्तीय स्तर पर आगे बढ़ने में सहायता की है. हम अब 31 मार्च 2020 तक 2020 व्यवसायों को आर्थिक स्तर पर वृद्धि करने में सहायता करने का लक्ष्य लेकर चल रहे हैं. हम भारत में एसएमई सेक्टर में वांछित परिवर्तन का अंदाज लगा सकते हैं ।हम एक व्यवस्थित तरीके से आगे बढ़ने में सहायता करके लाखों एसएमई के आर्थिक भाग्य को संवारना चाहते हैं। 

शक्ति पम्पस (इंडिया) लिमिटेड की नई पहल सौर आधारित वीएफडी (VFD), इनवर्टर और अन्य उत्पाद जल्द बाज़ार में

रायपुर/ पिथमपुर 07 जुलाई 2018: भारत के अग्रणी एनर्जी एफ़ीशिएंट स्टेनलेस स्टील और सोलर इंटीग्रेटेड पंप बनाने वाली शक्ति पम्पस (इंडिया) लिमिटेड जो 110 देशो में अपने उत्पादों को निर्यात करती है, ने शनिवार को पिथमपुर, सेक्टर-3, में अपने पॉवर इलेक्ट्रॉनिक उत्पादों के निर्माण संयंत्र का उद्घाटन किया। भारत के सभी बड़े सोलर इंटीग्रेटर्स और पॉवर इलेक्ट्रॉनिक्स में अनुसंधान करने वाले पांच आईआईटी के प्रोफ़ेसर इस उद्घाटन में सम्मिलित हुए l शक्ति पंप इंडिया लिमिटेड कृषि, औद्योगिक, घरेलू और बागवानी जैसे विभिन्न क्षेत्रों के पंपिंग समाधान के लिए जाना जाता है। इस नए संयंत्र के माध्यम से कंपनी भारत में निर्मित नए उत्पाद बाज़ार में लाएगी ।

नई इकाई सौर चलित ड्राइव (variable frequency drives), हाइब्रिड इनवर्टर, मोटर स्टार्टर्स और अन्य पॉवर  इलेक्ट्रॉनिक उत्पादों का निर्माण करेगी।  संयंत्र में सालाना 1 लाख वीएफडी और इनवर्टर के निर्माण की क्षमता है। कंपनी इस वित्त वर्ष में 10,000 वीएफडी उत्पादन करके पहले वर्ष में लगभग 10% क्षमता का उपयोग करने की योजना बना रही है।

शक्ति पंप का ‘अनुसंधान और विकास’ भारत सरकार, विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय, और वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान विभाग द्वारा मान्यता प्राप्त है। वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान विभाग एवं विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय (भारत सरकार) ने शक्ति पंप को इन हाउस रिसर्च एंड डेवलपमेंट यूनिट के लिए सम्मानित किया  गया 

 इस अवसर पर प्रबंध निदेशक, शक्ति पंप (इंडिया) लिमिटेड  दिनेश पाटीदार ने बताया–“यह संयंत्र अद्वितीय हैं क्योंकि हमारे पास अनुसंधान और विकास इकाई और उत्पादन इकाई एक ही स्थान पर है। यह अन्य प्रमुख उत्पादकों से अलग है जिनकी डिजाइन इकाई (अनुसन्धान और विकास) और निर्माण अलग अलग स्थानों पर है।  नया संयंत्र मध्य भारत में इलेक्ट्रॉनिक और पॉवर इलेक्ट्रॉनिक के क्षेत्र में रोजगार के अवसर भी पैदा करेगा और इस क्षेत्र में कुशल श्रमिकों को भी बढ़ावा देगा l’

आगे   पाटीदार ने बताया- “कंपनी इस नई सुविधा से तीन तरह के उत्पादों का निर्माण करेगी: इलेक्ट्रिक मोटर ड्राइव (वीएफडी) (1-10 एचपी)- विभिन्न प्रकार के मोटर्स के लिए एक सार्वभौमिक ड्राइव श्रृंखला है, इलेक्ट्रॉनिक मोटर स्टार्टर्स (1-100एचपी) – सॉफ्ट स्टार्टर और अन्य डिजिटल स्टार्टर्स, और हाइब्रिड इनवर्टर (1-10 केवीए)। शक्ति पंप द्वारा बनाया गया यह ड्राइव सौर पंपिंग उद्योग, प्रोसेस उद्योग, और कपड़ा उद्योग क्षेत्रों में इस्तेमाल किया जा सकेगा, जहां भी गति नियंत्रण की आवश्यकता होती है जैसे कन्वेयर, एक्सट्रूडर, पंप, पंखे, कंप्रेसर इत्यादि वहां यह उपयोगी सिद्ध होगा।“
वैश्विक चर आवृत्ति ड्राइव बाजार 2016 से 2021 तक 5.94% के सीएजीआर में बढ़ने का अनुमान है। 2021 तक, यह बाजार कुल 24.8 अरब डॉलर का होगा

जीएसटी में 200 रूपए से ज्यादा का सामान बेचने पर बिल जारी करना अनिवार्य

ई-वे बिल के बिना 50 हजार से ज्यादा का माल परिवहन करने पर होगी कार्रवाई

रायपुर - वाणिज्यिक कर (राज्य-कर) विभाग से मिली जानकारी के अनुसार माल एवं सेवा कर अधिनियम (जीएसटी) 2017 के तहत 200 रूपए से ज्यादा का सामान बेचने पर दुकानदार अथवा व्यापारी को नियमानुसार बिल अनिवार्य रूप से जारी करना होगा।

  विभागीय अधिकारियों ने आज यहां बताया कि इस प्रावधान का उल्लंघन होने पर ग्राहक इस बारे में आयुक्त राज्य-कर के दफ्तर में अपनी शिकायत दर्ज करवा सकता है। इसके लिए टोल फ्री नम्बर 1800-233-5382 भी जारी कर दिया गया है। ग्राहक इस प्रकार की शिकायत ई-मेल के जरिए भी भेज सकते है। ई-मेल का पता बबजकण्मूंलइपसस/हउंपसण्बवउ  है। शिकायत मिलने पर परीक्षण किया जाएगा और दोषी व्यक्तियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। अधिकारियों ने बताया कि कर-अपवंचन की रोकथाम के उद्देश्य से माल परिवहन के लिए ई-वे बिल प्रणाली लागू की गई है। इस प्रणाली के तहत अगर कोई व्यापारी अथवा परिवहन कर्ता 50 हजार रूपए से ज्यादा के कन्साइंटमेंट के माल का परिवहन राज्य के भीतर या राज्य के बाहर करता है तो परिवहन के समय उसे विक्रय बीजक के अलावा ई-वे बिल जारी करने का प्रमाण पत्र भी साथ में अनिवार्य रूप से रखना होगा।
अधिकारियों ने यह भी बताया कि अगर कोई व्यापारी अथवा परिवहनकर्ता 50 हजार से ज्यादा के कन्संाइन्टमेंट के माल का परिवहन ई-वे बिल के बिना करता है या माल का मूल्य कम दर्शाकर परिवहन करते हुए पाया जाता है तो जीएसटी अधिनियम 2017 के तहत उस पर टैक्स और शास्ति का भी प्रावधान किया गया है। 

अनोपचंद तिलोकचंद ज्वेलर्स की नई शाखा अब पंडरी के न्यू क्लॉथ मार्केट में वीणा सिंह ने किया भव्य शुभारंभ

रायपुर: अनोपचंद तिलोकचंद ज्वेलर्स की नई शाखा का गुरुवार को राजधानी के न्यू क्लॉथ मार्केट पंडरी में शुभारंभ हुआ। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की धर्मपत्नी वीणा सिंह ने इसकी शुुरुआत की। वीणा सिंह ने बताया कि अनोपचंद तिलोकचंद ज्वेलर्स के होने से छत्तीसगढ़ की जनता को अब आभूषणों की खरीदारी करने दूसरे राज्यों में जाने की जरूरत नहीं पड़ती है।  
बता दें कि एटी के नाम से फेमस इस ज्वेलर का यह सातवां आैर रायपुर में दूसरा शोरूम है। रायपुर के अलावा दुर्ग, कोरबा, बिलासपुर, गोंदिया आैर भोपाल में भी एटी के शोरूम हैं। अनोपचंद तिलोकचंद ज्वेलर्स  के नए प्रतिष्ठान में हर अवसर के लिए हर तरह के आभूषणों की अच्छी रेंज है। अनाेपचंद तिलाेकचंद ज्वेलर्स पिछले 60 साल से सराफा जगत में एक स्थापित नाम है, जिसके संचालक तिलोक बरड़िया, शांतिलाल बरड़िया एवं अशोक बरड़िया हैं। संचालक तिलोक बरड़िया ने बताया कि एटी ज्वेलर्स ने ज्वेलरी में गुणवत्ता आैर शुद्धता के बलबूते पर अपनी पहचान बनाई है। 
 बता दे की नए शोरूम में हर तरह के आभूषण मिलेंगे। गोल्ड, डायमंड आैर सिल्वर में एक्सक्लूसिव ज्वेलरी क्लेक्शन लेकर आ रहे हैं। साथ ही यहां डायमंड ज्वेलरी बुटीक कलेक्शन खास आकर्षण होगा। ज्वेलरी मैन्युफेक्चरिंग खुद की होने के कारण क्वालिटी के साथ-साथ डिजाइन, पैटर्न आैर इनाेवेशन के मामले में बेहतर ज्वेलरी कलेक्शन दें पाते हैं। यहां इंर्पोटेड ज्वेलरी में इटेलियन, कोरियन, आस्ट्रेलियन, दुबई आैर अमेरिकन ज्वेलरी के अलावा एंटीक कुंदन ज्वेलरी, यूनिक डायमंड कलेक्शन, हैवी डिजाइनर ज्वेलरी, जड़ाऊ ज्वेलरी, हैंडमेड ज्वेलरी व बैंगल्स, कुंदन ज्वेलरी आदि मिलेगी। साथ ही साथ स्पेशल कार्पोरेट गिफ्ट व फेस्टिव स्पेशल गोल्ड व सिल्वर क्वाॅइन हैं।

सीएनजी और पाइप वाली रसोई गैस होगी महंगी, सरकार ने बढ़ाए दाम

नई दिल्ली। सरकार ने प्राकृतिक गैस की दर में 6 प्रतिशत की वृद्धि की है और इसके साथ यह दो साल में उच्चतम स्तर पर पहुंच गई है. इससे सीएनजी और रसोई गैस के भाव ऊंचे होंगे. पेट्रोलियम मंत्रालय के पेट्रोलियम योजना एवं विश्लेषण प्रकोष्ठ की तरफ से जारी अधिसूचना के अनुसार घरेलू फील्ड से उत्पादित अधिकांश प्राकृतिक गैस की कीमत एक अप्रैल से 3.06 डॉलर प्रति इकाई (प्रति 10 लाख ब्रिटिश थर्मल यूनिट) होगी. यह वृद्धि एक अप्रैल से छह महीने के लिए की गई है. अभी यह 2.89 डॉलर है.

अमेरिका, रूस और कनाडा जैसे गैस अधशिष वाले देशों में औसत दरों के आधार पर प्राकृतिक गैस की कीमत हर छह महीने बाद निर्धारित की जाती है. भारत अपनी कुल जरूरत का करीब आधा हिस्सा आयात करता है. आयातित गैस की कीमत घरेलू दर के मुकाबले दोगुने से अधिक होती है. यह लगातार दूसरा मौका है जब गैस के दाम बढ़ाए गए हैं. इससे अप्रैल-सितंबर 2016 के बाद गैस की दर उच्चतम स्तर पर पहुंच गई है. उस समय इतनी ही कीमत घरेलू उत्पादकों को दी जाती थी.

गैस कीमत में वृद्धि से आयल एंड नेचुरल गैस कॉरपोरेशन (ओएनजीसी) और रिलायंस इंडस्ट्रीज जैसी उत्पादक कंपनियों की आय में बढ़ोतरी होगी. साथ ही इससे सीएनजी और पाइप के जरिये घरों में पहुंचने वाली रसोई गैस महंगी होगी. इसका कारण इसमें प्राकृतिक गैस का उपयोग कच्चे माल के रूप में किया जाता है. इससे यूरिया और बिजली उत्पादन की लागत भी बढ़ेगी. साथ ही गहरे पानी, उच्च तापमान जैसे कठिन क्षेत्रों में नए फील्डों से उत्पादित गैस की कीमत सीमा अप्रैल- अक्तूबर 2018 के लिए बढ़ाकर 6.78 डॉलर प्रति इकाई कर दिया गया है.


फिलहाल यह 6.30 डॉलर प्रति 10 लाख ब्रिटिश थर्मल यूनिट है. इस वृद्धि से घरेलू गैस आधारित बिजली उत्पादन की लागत करीब 3 प्रतिशत बढ़ेगी. साथ ही इससे सीएनजी तथा पाइप के जरिये घरों में पहुंचने वाली रसोई गैस की कीमत क्रमशः 50-55 पैसे तथा 35-40 पैसे प्रति घन मीटर बढ़ेगी. इससे पहले, अक्तूबर 2017-मार्च 2018 की अवधि के लिए गैस कीमत बढ़ाकर 2.89 डॉलर प्रति 10 लाख ब्रिटिश थर्मल यूनिट कर दिया गया था. इससे पहले यह 2.48 डालर प्रति इकाई थी.