बड़ी खबर

लाॅकडाउन के वजह से तीन युवक रायपुर से बनारस के लिए निकले पैदल, तीन दिन का सफर तय कर पहुंचे बैकुण्ठपुर

सैफी सिद्दीकीBBN24 कोरिया:- रायपुर में रहने वाले तीन युवक जो कि बनारस के रहने वाले है तीन दिन का सफर तय कर कोरिया जिले के मुख्यालय बैकुंठपुर पहुँचे । तीनो युवक जो अपना नाम विवेक प्रवीण और मुरकीम बता रहे है रायपुर में अलग अलग जगहों पर काम करते है। इनमे से मुरकीम नामक युवक की माँ का निधन हो जाने के कारण तीनो मित्र एक साथ बनारस के लिए निकले। लॉक डाउन लगे होने के कारण इनको बनारस जाने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। रायपुर से पैदल निकले युवक अलग अलग माध्यमो से सफर कर तीन दिन में बैकुंठपुर तक पहुच पाए। यहा घड़ी चौक में खुली कुमार मेडिकल स्टोर के संचालक ने इनको देखा तो जानकारी ली। जिसके बाद मीडिया के लोगो को सूचना दी और उसके बाद पुलिस और प्रशासन के लोग भी मौके पर पहुँचे। कलेक्टर डोमन सिंह ने खुद जाकर जानकारी ली । भूखे प्यासे युवकों को भोजन कराएं जाने और रुकवाए जाने के निर्देश दिए । एसडीएम ए एस पैकरा ने इन युवकों के रुकने और भोजन की व्यवस्था करने की बात कही है।

स्वास्थ्य सुविधाएँ बढ़ाने सांसद ने दिए 56 लाख सिम्स को मिलेगी ट्रामा एम्बुलेंस जिला अस्पताल मुंगेली को डिजिटल सोनोग्राफी मशीन व किचन शेड कलेक्टर एवं जिला योजना, सांख्यिकी विभाग को दिए निर्देश

बिलासपुर। सांसद अरुण साव ने वैश्विक महामारी "कोरोना" कोविड-19 के मद्देनजर अपने लोकसभा क्षेत्र में स्वास्थ्य सुविधाएँ बढ़ाने सांसद निधि से 56 लाख 71 हजार रुपए की मंजूरी दी है। इसमें से 28 लाख 6 हजार रुपए सिम्स हाॅस्पिटल को एवं 28 लाख 65 हजार रुपए जिला अस्पताल मुंगेली को जारी किए गए हैं। ज्ञातव्य हो कि सिम्स प्रबंधन ने विगत दिनों सांसद श्री साव को अस्पताल में उपलब्ध स्वास्थ्य सुविधाओं एवं संसाधनों की जानकारी देते हुए एक वातानुकूलित ट्रामा एम्बुलेंस सांसद निधि से प्रदान करने की माँग की थी, जिसकी लागत लगभग 28 लाख 6 हजार रुपए है। सिम्स प्रबंधन की माँग को पूर्ण करते हुए श्री साव ने सांसद निधि से मांग अनुसार राशि जारी के निर्देश कलेक्टर एवं जिला योजना, सांख्यिकी विभाग को दिए हैं। इसी तरह जिला अस्पताल प्रबंधन मुंगेली ने डिजिटल सोनोग्राफी मशीन की कमी से अवगत कराते हुए मरीजों के लिए भोजन तैयार करने अस्पताल परिसर में किचन शेड का निर्माण सांसद निधि से कराने की माँग की थी। इन मांगों को मंजूर करते हुए श्री साव ने डिजिटल सोनोग्राफी मशीन खरीदने 18 लाख 65 हजार रुपए एवं किचन शेड का निर्माण कराने 10 लाख रुपए जारी करने के निर्देश कलेक्टर मुंगेली को दिए हैं। सांसद श्री साव ने जनता से अपील की है कि क्षेत्रवासी शासन के दिशा-निर्देशों का अक्षरशः पालन करते हुए अपने देश-प्रदेश ही नहीं संपूर्ण सृष्टि को इस विपत्ति से निपटने में सहयोग करें। सभी अपने घरों में रहें, बच्चों एवं बुजुर्गों का विशेष ध्यान रखें। हम जितनी ज्यादा सावधानी बरतेंगे, उतनी ही जल्दी इस संकट से मुक्त हो पाएंगे।

विदेश दौरा छिपाने के मामले में 01 आरोपी के विरूद्ध भाटापारा शहर थाने में मामला दर्ज, सख्त निर्देश देकर किया होम क्वारेन्टाइन

भाटापारा शहर थाना क्षेत्र में आने जाने वाले की निगरानी एवं कानून व्यवस्था हेतु चौक चौराह पर बल तैनात कर सतत निगाह रखी गई जा रही है। लगातर पुलिस टीम क्षेत्र में भ्रमण कर नोवेल कोरोना वायरस कोविड 19 को फैलने से रोकने हेतु जनता को जागरूक करने , सोशल डिस्टेंस, भीड इक्ठ्ठा नही होने, सफाई से रहने सहित धारा 144 का पालन करने की समझाईश लगातर देते हुए रोकथाम के उपाय किए जा रहे है । इसी कड़ी में 01 व्यक्ति को विदेश से घुमकर दिनांक 18/03/2020 को नेपाल से आने की सूचना मिली थी वह बेखौफ होकर चोक चौराह इधर उधर घूम रहा था , घर में न रहकर शासन प्रशासन के आदेश का उलंघन कर रहा था और विदेश से आने की सूचना शासन प्रशासन , पुलिस विभाग , CHC भाटापारा को नही दिया था और व्यक्ति के घर जाने पर नही मिलता था उसे किसी तरह से पकडा गया पूछताछ पर उक्त घटना कारित करना स्वीकार किया है जो शासन प्रशासन से अपने विदेश दौरा का यात्रा वृतांत को छिपाया हुआ था नोवेल कोरोना वायरस कोविड 19 को इधर उधर घुमकर फैलाने का प्रयास किया है जिस पर आरोपी के विरूद्ध धारा 188, 269,270,271 भादवि और महामारी अधनियम 1897 की धारा 03 के तहत कार्यावाही किया गया उसे सख्त से सख्त निर्देश देकर होम क्वारेन्टाइन पर रखा गया है ।

केंद्र सरकार ने दिया 1 लाख 70 हजार करोड़ का राहत पैकेज, अन्न-रसोई गैस और खातों में मुफ्त धन का ऐलान

नई दिल्ली। देशव्यापी लॉकडाउन के बाद केंद्र सरकार ने एक लाख 70 हजार करोड़ के राहत पैकेज का ऐलान किया है। इस राहत पैकेज में प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अनुसार 80 करोड़ लाभार्थियों को मुफ्त में 5 किलो गेहूं या चांवल दिया जाएगा। अगले तीन महीने तक यह लाभ केंद्र सरकार द्वारा दिया जाएगा। इसके अलावा पीडीएस राशन का अलग से दिया जाएगा। वहीं 1 किलो दाल भी जिस प्रकार का दाल चाहे वह मिलेगा। अप्रैल के पहले हफ्ते में 8 करोड़ 70 लाख किसानों को 2हजार रूपए की किस्त ट्रांसफर कर दिया जाएगा। ग्रामीण क्षेत्रों में मनरेगा के माध्यम से 182 से 202 रूपए कर दिया गया है। सीनियर सिटीजन, दिव्यांग और वृद्धाओं को एक हजार रुपए अतिरिक्त तीन महीनों तक दिया जाएगा। डीबीटी के माध्यम से उनके खातों में पैसा दिया जाएगा। साढ़े 20 करोड़ महिलाओं को जन-धन खाता में 500 रूपए प्रतिमाह तीन महीने तक दिया जाएगा। 8.3 करोड़ बीपीएल परिवार को उज्जवला स्कीम के तहत 3 महीने तक मुफ्त गैस सिलेंडर दिया जाएगा। स्व सहायता समूह जिससे देश 7 करोड़ परिवारों के लिए एनआरएलएम के माध्यम से 10 लाख रुपए की जगह 20 लाख रुपए दिया जाएगा। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत भारत सरकार इपीएफ 100 से कम 15 हजार से कम वेतन वाले संस्थान को मदद करने के लिए आगे आई है। नौकरी करने वाले का 12 प्रतिशत हिस्सा और नौकरी देने वाले का 12 प्रतिशत हिस्सा डालेगी। कुल मिलाकर 24 प्रतिशत देगी। 80 लाख मजदूरों को और 4 लाख संस्थानों को सरकार देगी। इपीएफ के अंतर्गत रजिस्टर्ड 4 करोड़ 80 लाख मजदूरों को इसका लाभ मिलेगा। राष्ट्र निर्माण, भवन ​निर्माण में लगे मजदूरों के लिए वर्कर्स वेलफेयर फंड साढ़े 3 करोड़ मजदूरों के लिए 31 हजार करोड़ का फंड उपलब्ध है। राज्य सरकार को निर्देश दिए गए है गरीब मजदूरों को इसका लाभ दिलाएं। डिस्ट्रिक्ट मिनिरल फंड का उपयोग जाचं, उपचार और दवाईयों के लिए उपयोग करें। अन्नदाता, मजदूर, गरीब, दिव्यांग सभी को ध्यान में रखकर ये ऐलान किया गया है। केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और केंद्रीय मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने दी।

छत्तीसगढ़ के सभी शासकीय अधिकारी-कर्मचारी अपना एक दिन का वेतन देंगे मुख्यमंत्री सहायता कोष में,मुख्यमंत्री ने ट्विट कर जताया आभार

जांजगीर-चांपा :- छत्तीसगढ़ शासन के सभी शासकीय अधिकारी-कर्मचारी कोरोना वायरस के बचाव और जरूरतमंदों की मदद के लिए अपना एक दिन का वेतन मुख्यमंत्री सहायता कोष में देंगे। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा इस संबंध में की गई अपील पर सभी शासकीय अधिकारी कर्मचारियों ने अपना एक दिन का वेतन देने की सहमति दी है। छत्तीसगढ़ अधिकारी कर्मचारी फेडरेशन के प्रांतीय संयोजक अनिल शुक्ला ने अधिकारी कर्मचारियों के निर्णय से मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर अवगत कराया है। उन्होंने अपने पत्र में कहा है कि कोरोना वायरस जैसी गंभीर संक्रामक बीमारी से छत्तीसगढ़ भी संघर्ष कर रहा है। इक्कीस दिन के राष्ट्रव्यापी लाकडाउन से प्रदेश के गरीब, मजदूर एवं श्रमिक वर्ग के सामने गंभीर आर्थिक संकट हो गया है। इस संकट की घड़ी में राज्य शासन के साथ हैं तथा सभी मोर्चे पर सहयोग के लिए अधिकारी -कर्मचारी तत्पर हैं। शासकीय अधिकारी कर्मचारी फेडरेशन से संबद्ध राज्य के सभी मान्यता प्राप्त एवं गैर मान्यता प्राप्त पंजीकृत अधिकारी कर्मचारी संगठनों के प्रांताध्यक्षों ने माह अप्रैल 2020 का एक दिन का वेतन मुख्यमंत्री सहायता कोष में जमा करने का निर्णय लिया है। उन्होंने मुख्यमंत्री से अनुरोध किया है कि इस संबंध में आवश्यक कार्रवाई के लिए मुख्य सचिव को निर्देशित करने का कष्ट करेंगे। वहीं मुख्यमंत्री भुपेश बघेल ने ट्विट कर उनके द्वारा लिये गये निर्णय के लिए सभी का आभार व्यक्त किया है।।

देर रात दर्जनभर जिलों के एसपी बदले, प्रशांत ठाकुर बलौदाबाजार एसपी बनाए गए नीथू कमल होंगी सीबीआई में एसपी, सरकार ने किया रिलीव

  रायपुर . प्रदेश सरकार ने मंगलवार को देर रात दर्जनभर जिलों के एसपी बदल दिए हैं। रायपुर के एडिशनल एसपी सिटी प्रफुल्ल ठाकुर को महासमुंद का एसपी बनाया गया है। बलौदाबाजार की एसपी नीथू कमल को सीबीआई में डेपुटेशन पर जाने के लिए रिलीव कर दिया गया है। उनके स्थान पर बेमेतरा के एसपी प्रशांत ठाकुर को बलौदाबाजार की जिम्मेदारी दी गई है। बजट सत्र के पहले से ही कई एसपी बदलने की चर्चा थी। इसी बीच कोरोना संक्रमण के कारण लॉ एंड ऑर्डर की स्थिति संभालने के लिए तबादले रोक दिए गए थे, लेकिन मंगलवार रात दर्जनभर एसपी समेत 20 अफसरों के तबादले की सूची जारी की गई है। कई एसपी को बटालियन में कमांडेंट बना दिया गया है, जबकि राजधानी में एडिशनल एसपी सिटी की जिम्मेदारी संभाल रहे राज्य सेवा के अधिकारी प्रफुल्ल ठाकुर को महासमुंद जिले का एसपी बनाया गया है। पुलिस मुख्यालय में पदस्थ एआईजी डी. रविशंकर को दसवीं वाहिनी सूरजपुर में कमांडेंट बनाया गया है। बालोद एसपी एमएल कोटवानी को पुलिस मुख्यालय में एआईजी सुरक्षा की जिम्मेदारी दी गई है। कबीरधाम एसपी डॉ. लाल उमेद सिंह को 14वीं वाहिनी बालोद का कमांडेंट बनाया गया है। इसी तरह कोंडागांव एसपी सुजीत कुमार को 15वीं वाहिनी बीजापुर और मुंगेली एसपी चैनदास टंडन को 17वीं वाहिनी कवर्धा के कमांडेंट की जिम्मेदारी दी गई है।  

बिलासपुर पुलिस की अभिनव पहल- #selfie wid Quarantine आप भी भेजिए इस नम्बर पर अपनी सेल्फ़ी

कोरोना वायरस के कम्युनिटी संक्रमण को रोकने हेतु शासन प्रशासन और पुलिस के द्वारा हर संभव प्रयास किया जा रहा है। जिला पुलिस बिलासपुर के द्वारा आम जनता को अधिक से अधिक समय अपने परिवार के साथ व्यतीत करने हेतु प्रोत्साहित किया जा रहा है । बिलासपुर पुलिस की आम जनता से अपील है कि आगामी सप्ताह आप self quarantine अपनाकर अपने घर मे अपने परिवार के साथ समय बिताएं । इसी तारतम्य में बिलासपुर पुलिस द्वारा एक अभियान #सेल्फी विथ क्वारंटाइन की शुरुवात की गई है। इसका उद्देश्य बिलासपुर की जनता के सहयोग को पहचान दिलाना है। इसके तहत कोई भी व्यक्ति अपने परिवार के साथ बिताए गए समय की फ़ोटो सेल्फी लेकर विलासपुर पुलिस के ऑफिसियल फेसबुक, इंस्टाग्राम और ट्विटर में टैग कर #Selfie_wid_Quarantine लिखकर अपलोड कर सकते हैं या बिलासपुर पुलिस के ऑफिसियल watsapp नंबर 9479264100 पर भेज सकते हैं। दिन की बेस्ट सेल्फी को हमारे ऑफिसियल सोशल मीडिया एकाउंट पर चयन किया जाएगा तथा उचित समय पर पुरस्कृत किया जाएगा । आम जनता अपने परिवार के साथ किये गए सकारात्मक गतिविधियों को भी स्टोरी के रूप में हमसे साझा कर सकते हैं ।इस अभियान के तारतम्य में कोरोना से संबंधित क्विज़ प्रतियोगिता भी सोशल मीडिया एकाउंट में आयोजित की जाएगी।इस अभियान का उद्देश्य अधिक से अधिक लोगों को अपने परिवार के साथ स्वेच्छा से self quarantine करने हेतु प्रोत्साहित करना है ताकि कोरोना वायरस के कम्युनिटी संक्रमण को रोका जा सके। इस अभियान में धिति वेलफेयर फाउंडेशन द्वारा बिलासपुर पुलिस को सहयोग प्रदान किया जा रहा है।इस अभियान के तहत हमारा प्रयास है कि कोरोना के खिलाफ हमारी जंग को सार्थक और सफल बना सकें तथा लोग भी अपने परिवार के साथ गुणवत्तापूर्ण समय व्यतीत करें तथा selfie के माध्यम के औरों को भी मोटीवेट करें। इस प्रकार इस अभियान के माध्यम से बिलासपुर पुलिस की आम जनता से अपील है कि ज्यादा से ज्यादा वक्त अपने घर मे अपने परिवार के साथ व्यतीत करें तथा पुलिस परिवार का मनोबल बढ़ाएं।

कैबिनेट ब्रेकिंग : भूपेश कैबिनेट की बैठक में राज्य सरकार ने लिये कई अहम फैसले

रायपुर :- मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल की अध्यक्षता में आज निवास कार्यालय से वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिए पहली बार मंत्रिपरिषद की बैठक आयोजित हुई। कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के उपायों के तहत छत्तीसगढ़ मंत्रिमण्डल के मंत्रियों के निवास कार्यालय और मुख्यमंत्री निवास कार्यालय को वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से जोड़ा गया। स्वास्थ्य मंत्री श टी.एस. सिंहदेव मुम्बई से वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिए केबिनेट की बैठक में शामिल हुए। बैठक में इन निर्णयों को मिली मंजूरी

छत्तीसगढ़ स्थानीय निधि संपरीक्षा (संशोधन) विधेयक-2020 के प्रारूप का अनुमोदन किया गया।

राज्य में संचालित अशासकीय शालाओं के लिए शुल्क विनियमन की प्रक्रिया के निर्धारण के लिए मंत्रिपरिषद की उपसमिति गठित करने का निर्णय लिया गया।

छत्तीसगढ़ माल और सेवा कर (संशोधन) विधेयक-2020 के प्रारूप का अनुमोदन किया गया।

छत्तीसगढ़ कृषि उपज मण्डी (संशोधन) विधेयक-2020 के प्रारूप का अनुमोदन किया गया।

महात्मा गांधी उद्यानिकी एवं वानिकी विश्वविद्यालय अधिनियम (2019) में संशोधन विधेयक का अनुमोदन किया गया

छत्तीसगढ़ कामधेनु विश्वविद्यालय (संशोधन) विधेयक-2020 के प्रारूप का अनुमोदन किया गया।

अनुसूचित जाति विकास प्राधिकरण के कार्य क्षेत्र में संशोधन का अनुमोदन किया गया। प्राधिकरण क्षेत्र में पूर्व के दस जिलों के अलावा पुर्नगठित मुंगेली, बलौदाबाजार- भाटापारा, गरियाबंद, बेमेतरा और बालोद जिले को प्राधिकरण क्षेत्र में शामिल किया गया।

मुख्यमंत्री स्वेच्छानुदान मद से स्वीकृत राशि का अनुमोदन किया गया।

छत्तीसगढ़ शासन कार्य (आबंटन) नियम में संशोधन, जिसके तहत आयाकट विभाग को विलोपित कर आबंटित विषयों को जल संसाधन विभाग में समाहित करने का अनुमोदन किया गया।

छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग का 18वाॅ वार्षिक प्रतिवेदन (01 अप्रैल 2018 से 31 मार्च 2019) का अनुमोदन किया गया।

छत्तीसगढ़ आबकारी (संशोधन) विधेयक-2020 का अनुमोदन किया गया।

सार्वजनिक वितरण प्रणाली के अंतर्गत उचित मूल्य दुकानों के आवंटन में नई संस्थाओं को अवसर प्रदान करने हेतु सहकारी समितियों और महिला स्वसहायता समूहों के अनुभव संबंधी योग्यता को 3 वर्ष के स्थान पर 3 माह पूर्व पंजीकृत एवं कार्यरत होने की योग्यता निर्धारित करने का निर्णय लिया गया।

सार्वजनिक वितरण प्रणाली के अंतर्गत चना वितरण के संबंध में निर्णय लिया गया कि 01 अप्रैल 2020 से 31 मार्च 2021 तक आवश्यक चने का उपार्जन बाजार से खुली निविदा कर किया जाएगा।

छत्तीसगढ़ गठन के पूर्व एवं पश्चात् मोटरयानों पर बकाया कर के ‘‘एकमुश्त निपटान योजना-2020 का निर्णय लिया गया। जिसके तहत त्रैमासिक एवं मासिक कर देय वाहनों में 31 मार्च 2013 तक वाहन में अधिरोपित लंबित कर की राशि तथा अधिरोपित लंबित शास्ति एवं ब्याज की राशि में पूर्णतः छूट दिया जाएगा। इसी तरह त्रैेमासिक एवं मासिक कर देय वाहनों में एक अप्रैल 2013 से 31 दिसंबर 2018 तक अधिरोपित लंबित शास्ति की राशि में पूर्णतः छूट के साथ ही वाहनों में लंबित कर एवं अधिरोपित ब्याज देय होगा।

प्रदेश में मुख्यमंत्री सुपोषण योजना प्रारंभ प्रारंभ करने के प्रस्ताव का अनुमोदन किया गया।

छत्तीसगढ़ सहकारी सोसाइटी (संशोधन) विधेयक-2020 के प्रारूप का अनुमोदन किया गया।

सहकारी शक्कर कारखाना कवर्धा, पण्डरिया, बालोद और अंबिकापुर में पी.पी.पी. मोड में ईथनाॅल प्लांट स्थापित करने की सैद्धांतिक सहमति प्रदान की गई।

छत्तीसगढ़ में निवेश को बढ़ावा देने नवीन पर्यटन नीति-2020 के प्रारूप का अनुमोदन किया गया है। जिसमें राज्य में पर्यटन को बढ़ावा देने, पर्यटन को उद्योग का स्वरूप देने के साथ ही पर्यटन गतिविधियों में स्थानीय समुदाय की सहभागिता सुनिश्चित की गई है।

प्रस्तावित छत्तीसगढ़ नगर तथा ग्राम निवेश नियम-2019 के प्रारूप का अनुमोदन किया गया।

छत्तीसगढ़ विश्वविद्यालय (संशोधन) विधेयक-2020 के प्रारूप का अनुमोदन किया गया।

इंदिरा कला संगीत विश्वविद्यालय (संशोधन) विधेयक-2020 के प्रारूप का अनुमोदन किया गया।

छत्तीसगढ़ कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता एवं जनसंचार विश्वविद्यालय (संशोधन) विधेयक-2020 के प्रारूप का अनुमोदन किया गया।

पंडित सुंदरलाल शर्मा (मुक्त) विश्वविद्यालय छत्तीसगढ़ (संशोधन) विधेयक-2020 के प्रारूप का अनुमोदन किया गया।

छत्तीसगढ़ निजी विश्वविद्यालय (स्थापना एवं संचालन) (संशोधन) विधेयक-2020 के प्रारूप का अनुमोदन किया गया। जिसके तहत श्री शंकराचार्य प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी के रूप में एक निजी विश्वविद्यालय की स्थापना के विधेयक का अनुमोदन किया गया।

छत्तीसगढ़ जिला योजना समिति (संशोधन) विधेयक-2020 के प्रारूप का अनुमोदन किया गया। जिसमें नवीन जिला गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही के लिए जिला योजना समिति का गठन शामिल है।

प्रदेश में 31 मार्च तक लॉक डाउन, सीएम भूपेश बघेल ने कहा- निर्णय कठोर पर जीवन रक्षा के लिए जरूरी..पढ़िए सीएम का पूरा संदेश  

रायपुर– मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज प्रदेश की जनता को संबोधित करते हुए कल और आज स्वैच्छिक कर्फ्यू के शतप्रतिशत पालन के लिए उन्हें धन्यवाद दिया। मुख्यमंत्री ने प्रदेश की जनता को संबोधित करते हुए कहा, प्रिय भाईयों और बहनों, जय जोहर..आप सभी का बहुत बहुत धन्यवाद। छत्तीसगढ़ की जनता ने कल और आज स्वैच्छिक कर्फ्यू का शतप्रतिशत पालन किया है । बड़े शहरों ही नहीं अपितु छोटे-छोटे गांवों में भी लोगों ने अपने आप को अपने घरों तक सीमित रख कर अभूतपूर्व सामाजिक और राष्ट्रीय उत्तरदायित्व का पालन किया है । कोरोना वायरस की महामारी से बचने और लड़ने में यह अत्यंत महत्वपूर्ण योगदान है। आज के आपके सहयोग से मेरा यह विश्वास अब प्रबल हो गया है, कि अगले कुछ हफ्ते यदि हमने इसी तरह अपने दायित्व का पालन किया, और अपने घरों में रहे तो हम छत्तीसगढ़ और देश में कोरोना को हराने में कामयाब हो जायेंगे । मुख्यमंत्री ने कहा, कि मुसीबत के समय छत्तीसगढ़ और देश के लोगों ने हमेशा समर्पण और देशप्रेम का भाव दिखाया है। हमने छत्तीसगढ़ में कोरोना वायरस के फैलाव को रोकने के लिए कई आवश्यक फैसले लिये है। विश्वभर में कोरोना वायरस से बचाव के लिए लॉकडाउन या आइसोलेशन को ही एकमात्र कारगर तरीका माना गया है और वो इसका कड़ाई से पालन भी कर रहे है। केंद्र शासन ने 31 मार्च तक यात्री रेल सेवा को बंद कर दिया। छत्तीसगढ़ में भी वायरस के फैलाव को रोकने के लिये हमने इसे शहरी क्षेत्रों में 31 मार्च तक कर्फ्यू को बढ़ाने का निर्णय लिया है। इस दौरान सभी कार्यालय, संस्थान, परिवहन सेवाएं और अन्य गतिविधियां बंद रहेगी। अति आवश्यक सेवाएं जैसे मेडिकल शॉप, किराना दुकानें, जनरल स्टोर्स, सब्जी, दूध, पेट्रोल पंप खुले रहेंगे। इसके साथ ही बिजली आपूर्ति, जल प्रदाय सेवाएं, घरेलु गैस आपूर्ति सेवा, नगर निगम की साफसफाई और कचरा निपटान सेवाएं तथा आवश्यक वस्तुओं के कमर्शियल परिवहन सेवाएं भी पहले की तरह निर्बाध रूप से कार्य करती रहेगी। नागरिकगण स्वास्थ्य सेवाओं के लिए टोल फ्री नम्बर 104 एवं अन्य किसी भी प्रकार की समस्या के लिए 112 नम्बर डायल कर सम्पर्क करें। मुख्यमंत्री ने कहा, कि यह निर्णय कठोर है लेकिन आपके, आपके परिवार की जीवन रक्षा के लिए ऐसा करना आवश्यक है । इस संकट की घड़ी में आपका मुख्यमंत्री, सरकार और उसका पूरा महकमा आपके साथ है। मुझे पूरा विश्वास है कि आप सभी के सहयोग से हम इस महामारी पर विजय पाने में सफल होंगे। धन्यवाद ।

सुकमा हमले के बाद लापता सभी 17 जवान शहीद… सर्च के लिए गयी पुलिस पार्टी को मिले सभी के शव… IG सुंदरराज ने की पुष्टि

जगदलपुर:-सुकमा में शनिवार शाम हुए नक्सली मुठभेड़ में 17 जवान शहीद हो गये हैं। कल शाम से ही ये 17 जवान लापता थे। आज सुबह 500 से ज्यादा जवानों को इनकी तलाश में भेजा गया था। मुठभेड़ स्थल पर ही इन सभी जवानों के शव मिले हैं। जिस इलाके में शव मिले हैं, वो मिलपा इलाका है। शहीद जवानों की पुष्टि करते हुए बस्तर आईजी सुंदरराज ने बताया कि सभी 17 जवानों के शव मिले हैं, अब उन्हें लाने की कोशिश की जा रही है।