बड़ी खबर

शिकायत : ऐसे जनदर्शन का क्या फायदा जहाँ शिकायत करते करते घिस जाएं चप्पल ...जाने पूरा मामला

शिकायत जनदर्शन का क्या फायदा जहाँ शिकायत करते करते चप्पल घिस जाएं ।लेकिन अब तक कार्यवाही ना होने पर दर्जनभर शिकायतों को लेकर ग्रामीण भ्रस्टाचार सरपंच के खिलाफ कार्यवाही नही होने  पर दी आंदोलन की चेतावनी..केकती ग्राम के दर्जनभर लोग भ्रष्टाचार की शिकायतों को लेकर सोमवार को जनदर्शन में पहुंचे  गांव के ग्रामीण.. शौचालय से सड़क और मनरेगा जैसी तमाम ग्राम सुविधाओं के काम में भारी भ्रस्टाचार करने वाले तखतपुर ब्लॉक् के केकती ग्राम के सरपंच शैलेंद्र सिंह क्षत्रिय की शिकायत लेकर ग्रामीणवासी बिलासपुर कलेक्ट्रेट में जनदर्शन कलेक्टर को ज्ञापन देने पहुंचे.. शिकायत करने पहुंचे ग्रामवासियों ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि.. ग्राम पंचायत में बने शौचालयों के पैसों को सरपंच सचिव डकार दिया है.. साथ ही मनरेगा में होने वाले काम को मशीनों द्वारा कराकर ग्रामीणों के नाम से आने वाले पैसों को दबा दिया जाता है.. इसके अलावा ग्राम में बनने वाली सीमेंट की सड़कों के निर्माण में भारी भ्रष्टाचार किया गया है.. ग्रामीणों का कहना है कि इससे पहले भी जनपद से लेकर जनदर्शन तक पहले भी शिकायत की जा चुकी है.. लेकिन सरपंच सचिव अपने राजनीतिक पहुंच का फायदा उठाकर सरपंच शैलेंद्र सिंह क्षत्रिय और ग्राम पंचायत के सचिव द्वारा सीना चौड़ा करके भ्रष्टाचार किया जा रहा है.. शिकायत करने पहुंचे ग्रामवासियों ने कहा कि अगर आगे भ्रष्टाचारियों पर कर्रवाई पर नहीं किया जाएगा तो आंदोलन का सहारा लिया जाएगा..

बड़ी खबर : नान मामले में शिवशंकर भटट ने लगाए गंभीर आरोप कहा रमन, भोजवानी, मोहले नान घोटाले के मास्टरमाइंड, घोटाले का सच सामने आने के बाद मेरी जान को खतरा-भट्ट

रायपुर 15 सितंबर 2019। नान मामले में मुख्य आरोपी शिवशंकर भटट ने पूर्व की बीजेपी सरकार पर कई गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने बेबाकी से कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह, पूर्व खाद्य मंत्री पुन्नूलाल मोहले और नान के चेयरमैन लीलाराम भोजवानी घोटाले के मास्टरमाइंड है। भट्ट ने कहा, मैंने राशन घोटाले को उजागर किया इसलिए नान घोटाले का ठीकरा मुझ पर फोड़ा गया। साढ़े चार साल तक जेल में रहा….इस वजह से सच्चाई सामने नहीं आ सकी। सच्चाई सामने आने के बाद भट्ट ने अपने जान को खतरा बताया है।


रायपुर के प्रेस क्लब में आज पत्रकारों से बात करते हुए भट्ट ने कहा कि मैंने नान में राशन कार्ड में हो रही गड़बड़ियों को उजागर किया था इसलिए उसे ढापने के लिए नान में छापा मारा गया। भट्ट ने दावा किया कि चुनावी खर्चे के लिए तत्कालीन मुख्यमंत्री डा0 रमन सिंह की प्लानिंग के अनुसार हजारों की संख्या में फर्जी राशन कार्ड बनवाए गए। उन्होंने कहा कि नान पर दस लाख मीट्रिक टन अतिरिक्त उपार्जन का प्रेशर बनाया गया। राशन कार्ड की संख्या 51 लाख से बढ़ाकर 72 लाख कर दी गई। हम पर दबाव बनाया गया कि तुरंत चावल सप्लाई किया जाए। मुझे धमकी दी गई कि ऐसा नहीं करोगे तो नौकरी से निकाल दिए जाओगे। इस सवाल पर रमन सिंह ने उन्हें आदतन अपराधी कहा है, भट्ट ने कहा कि वे अपराधी नहीं हैं। बल्कि, जानबूझकर उन्हें नान के केस में फसाया गया। साढ़े चार साल तक जेल में रहे, इसलिए सच्चाई बाहर नहीं आ सकी। उन्होंने यह भी कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह का चार महीने तक ओएसडी रहा हूं। आदतन अपराधी कहने पर वे रमन सिंह के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दायर करेंगे। भट्ट ने इस सवाल को खारिज किया कि किसी दवाब में उन्होंने शपथ पत्र दिया है। उन्होंने कहा कि मेरे उपर कोई दबाव नहीं है। मैं पूरी तरह सोच-समझकर शपथ पत्र दिया हूं। भट्ट ने घोटाले का उजागर होने के बाद अपनी जान को खतरा भी बताया।

अजीत जोगी को नहीं मिला एनएमडीसी गेस्ट हाउस में कमरा कलेक्टर निवास पर दिया धरना

छत्तीसगढ़ (दंतेवाड़ा) ।शैलेश गुप्ता। छत्तीसगढ़ के प्रथम मुख्यमंत्री व जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ प्रमुख अजीत जोगी ने दंतेवाड़ा ज़िला कलेक्टर बंगले के सामने धरना दिया। अजीत जोगी के अनुसार कलेक्टर टोपेश्वर वर्मा के कहने पर एनएमडीसी के रेस्ट हाउस में ठहरने के लिए उन्हें कमरा नही दिया गया। जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के प्रत्याशी के पक्ष में प्रचार हेतु अजीत जोगी अपने काफ़िले के साथ दंतेवाड़ा पहुंचे हैं अगले कुछ दिनों तक दंतेवाड़ा में ही रहकर अजीत जोगी अपने पार्टी के पक्ष में प्रचार अभियान की कमान संभालेंगे। अजीत जोगी ने आरोप लगाया कि दंतेवाड़ा ज़िला कलेक्टर के दबाव में एनएनडीसी प्रबंधन ने उनके लिए गेस्ट ​हाउस में कमरा नही दिया है। जबकि उन्होंने स्वयं एनएमडीसी के चेयरमेन बैजेन्द्र कुमार से कमरे के लिए बात कर ली थी। भड़के अजीत जोगी ने कहा हैकि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल उनसे डरते हैं, और इसीलिए उनके दंतेवाड़ा में न् रुक पाने मि साज़िश बनाई गई ताकि वे अपने पार्टी व प्रत्याशी के पक्ष में प्रचार न कर पाएं। एनएमडीसी प्रबंधन द्वारा कमरा नही मिलने पर अजीत जोगी कलेक्टर बंगले के सामने ही रात गुजारने की बात करते धरने पर बैठ गए थे, बाद में काफ़ी मसक्कत व के बाद अजीत जोगी को ट्रांजिट हॉस्टल में अजीत जोगी को कमरा दिया गया। वही कलेक्टर ने स्वयं पर लगे आरोप का खंडन किया है।

विवादों में घिरा रहा अटल बिहारी विश्वविद्यालय दीक्षांत समारोह ,नाराज विधायक नहीं हुए शामिल।

A REPORT BY : अजीत मिश्रा

0 उच्च शिक्षा मंत्री ने दी प्रतिक्रिया।

0 कहां-पार्टी के घरेलू मामले हैं ।

0 नाराज विधायक को मना लिया जाएगा-मंत्री।

. अटल बिहारी बाजपेयी विश्व विद्यालय का दूसरा दीक्षांत समारोह विवादों में रहा, क्योंकि यूनिवर्सिटी ने इसके आयोजन को लेकर कई बड़ी गलतियां की हैं। उदाहरण के लिये दीक्षांत के लिये छापे गये आमंत्रण पत्र में प्रोटोकॉल का ध्यान नही रखा गया। इतना ही नही यूनिवर्सिटी को ये आमंत्रण पत्र दो बार छाप कर बांटने पड़े क्योंकि इसमें शहर के विधायक शैलेश पांडेय और नेता प्रतिपक्ष धरम लाल कौशिक का नाम नही था और न ही उनको बुलाया ही नही गया था। इस बात से नाराज़ विधायक के समर्थकों ने लगातार दो दिनों तक विश्व विद्यालय में जमकर हंगामा किया था।


इन सब के बीच इस पूरे दीक्षांत समारोह को एक निजी होटल में आयोजित किया गया। जिसमें तक़रीबन 15  लाख रुपए खर्च किये गये। जिसका छात्रों ने विरोध भी किया। दबी जुबान में जब छात्रों ने इसका विरोध किया तो उन्हें विश्व विद्यालय प्रबंधन ने धमकी देकर उन्हें भी चुप करा दिया गया। विधायक की नाराज़गी इतनी ज्यादा थी कि वे राज्यपाल के स्वागत के लिये तो पहुँचे लेकिन दीक्षांत कार्यक्रम से दूरी बनाये रखी। इस बीच दीक्षांत समारोह में बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए राज्यपाल सुश्री अनुसुइया उइके ने छात्रों का मनोबल बढ़ाया वहीं दीक्षांत को लेकर उठ रहे सवाल और विवादों पर वह कुछ भी बोलने से इनकार करती रही।

। इससे उल्टे उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल ने विधायक की नाराजगी को कांग्रेस पार्टी के घरेलू मामले के तौर पर देखा है साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि नाराज विधायक शैलेश पांडये को मना लिया जाएगा। उच्च शिक्षा मंत्री ज्यादातर सवालों के गोलमोल जवाब देते रहे मसलन छात्रसंघ चुनाव क्यों नहीं होंगे और विश्वविद्यालय में मैन पावर की कमी कब तक दूर होगी टीचिंग और नॉन टीचिंग पोस्ट पर भर्ती कब तक संभव हो पाएगी...?

इन सबके दिगर विश्वविद्यालय के कुलपति जीडी शर्मा ने दीक्षांत समारोह को लेकर अपना पक्ष खोल कर रखा है। उन्हें नहीं लगता कि कहीं पैसे की कोई बर्बादी हुई है । और दीक्षांत समारोह को लेकर हो रही गड़बड़ियों पर उनका अपना तर्क था। दीक्षांत के लिए 15 लाख खर्च करना और सरकारी भवन और बिल्डिंग से दिगर इस एक होटल में आयोजित करना कुलपति के लिए ज्यादा आसान और सहज है क्योंकि बारिश का मौसम है और बारिश के दिनों में कहीं बाहर आयोजन करना संभव नहीं हो पाता। इनकी मानें तो शहर में कोई सरकारी भवन नहीं है जहां 15 सौ से ज्यादा लोग एक साथ बैठ सकते हो। 

। वही नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने भी दीक्षांत समारोह और उससे जुड़े विवादों पर ज्यादा कुछ न कहते हुये यह साफ कर दिया कि किस तरह से मौजूदा सरकार और शिक्षा व्यवस्था लचर होती जा रही है। आमंत्रण कार्ड प्रोटोकॉल का ध्यान नहीं रखा गया और ना ही उनके पार्टी के विधायक को बुलाया गया बाद में उन्हें और नाराज विधायक शैलेश पांडये को जरूर आमंत्रण पत्र भेजे गए लेकिन इनसे उन गड़बड़ियों की भरपाई नहीं होती ।

कुल मिलाकर देखा जाए तो इस दीक्षांत समारोह में जरूर 126 होनहार छात्र छात्राओं को गोल्ड सिल्वर और कांस्य पदक देकर सम्मानित किया गया लेकिन यह पूरा आयोजन विवादों में घिरा रहा और इस कार्यक्रम में शामिल होने होने वाले लोगों ने ही इसकी खुली शब्दों में आलोचना की है।

दिल्ली से लौटकर सीएम भूपेश बोले- रमन सिंह ‘चाउर वाले बाबा’ नहीं, कुछ और थे

रायपुर– मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आज दिल्ली दौरे से वापस लौट आए हैं। सीएम ने बताया, कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी के साथ बैठक हुई जो कि काफ़ी उपयोगी रही। बैठक में सदस्यता अभियान, गांधी जयंती की तैयारी और केंद्र सरकार के ख़िलाफ़ आंदोलन पर चर्चा हुई है। भूपेश बघेल ने चर्चा के दौरान पूर्व सीएम डॉ रमन सिंह पर भी जमकर हमला बोला। सीएम ने कहा, कि नान आरोपी शिवशंकर भट्ट रमन सिंह के स्टाफ़ में थे। जब रमन सिंह केंद्रीय मंत्री थे। उनकी नान में दो-दो बार नियुक्ति रमन सिंह ने की। सीएम ने कहा, हम कोई बदले की कार्रवाई नहीं कर रहे हैं। भट्ट के बयान से हमारे आरोप सही साबित हुए हैं। उन्होने कहा, कि रमन सिंह कहते हैं, कि अपराधी के बयान पर अपराध पंजीबंध हुआ है। पी. चिदम्बरम के ख़िलाफ़ भी तो अपराधी के कहने पर अपराध पंजीबद्ध हुआ, फिर जेल हुई है। उन्होंने कहा, कि इस मामले पर जो भी कार्रवाई होगी, वह विधि सम्मत होगी। रमन सिंह चाउर वाले बाबा नहीं थे, बल्कि कुछ और थे। बदलापुर कार्रवाई की बात कहने वालों को मैं चुनौती देता हूं, वे बताएं कि हमने कहां कोई कार्रवाई बदले की भावना से की है। सभी मुद्दे भाजपा शासन के हैं।

दंतेवाड़ा विधानसभा उपचुनाव के लिए कांग्रेस ने स्टार प्रचारकों की सूची जारी की

सोनिया गांधी कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी लोकसभा सदस्य डॉ मनमोहन सिंह पूर्व प्रधानमंत्री श्रीमती प्रियंका गांधी एआईसीसी महासचिव भूपेश बघेल मुख्यमंत्री कमलनाथ मुख्यमंत्री मध्य प्रदेश पी एल पुनिया एआईसीसी प्रभारी छत्तीसगढ़ मोहन मरकाम प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष छत्तीसगढ़ डॉक्टर चंदन यादव सचिव एआईसीसी डॉक्टर अरुण और सचिव एआईसीसी सुष्मिता देव राष्ट्रीय अध्यक्ष महिला कांग्रेस राज बब्बर सांसद नवजोत सिंह सिद्धू पूर्व मंत्री रणदीप सिंह सुरजेवाला अध्यक्ष एआईसीसी संचार विभाग ज्योतिरादित्य सिंधिया भक्त चरण दास नगमा मोरारजी टी एस सिंह देव मंत्री छत्तीसगढ़ ताम्रध्वज साहू मंत्री छत्तीसगढ़ कवासी लखमा मंत्री छत्तीसगढ़ डॉक्टर शिव कुमार डहरिया मंत्री छत्तीसगढ़ रविंद्र चौबे मंत्री छत्तीसगढ़ मोहम्मद अकबर मंत्री छत्तीसगढ़ उमेश पटेल मंत्री छत्तीसगढ़ जयसिंह अग्रवाल मंत्री छत्तीसगढ़ अनिला भेड़िया मंत्री छत्तीसगढ़ गुरु रूद्र कुमार मंत्री छत्तीसगढ़ प्रेम सिंह मंत्री छत्तीसगढ़ अमरजीत भगत मंत्री छत्तीसगढ़ छाया वर्मा राज्यसभा सदस्य दीपक लोकसभा सदस्य फूलो देवी नेताम प्रदेश अध्यक्ष महिला कांग्रेस लखेश्वर बघेल विधायक रेख चंद विधायक विक्रम मंडावी विधायक संतराम नेताम विधायक चंदन कश्यप विधायक शिशुपाल शोरी विधायक मनोज मंडावी विधायक अनूप नाग विधायक

BBN24 : अमित जोगी मेदांता अस्पताल रिफर। डॉक्टर की टीम ने अपनी रिपोर्ट दी। पढ़े चिकित्सकों के रिपोर्ट के महत्वपूर्ण तथ्य

अजीत मिश्रा : BBN24


0 हेपेटाइटिस बी,  मिर्गी के इलाज और यूरिन इन्फेक्शन जैसी समस्या।
0 अमित को मेदांता अस्पताल गुरुग्राम रिफर किया गया।  
0  तबीयत तनाव और दबाव की वजह से बिगड़ रही-चिकित्सक। 


छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस जे" के प्रमुख अमित जोगी की तबीयत लगातार बिगड़ रही है और आखिरकार बिलासपुर अपोलो अस्पताल प्रबंधन ने उन्हें मेदांता अस्पताल गुरुग्राम रेफर कर दिया है।  पांच सदस्यों वाली डॉक्टरों की जांच टीम ने अपने जांच प्रतिवेदन में कई महत्वपूर्ण तथ्यों का खुलासा किया । जिसमें हेपेटाइटिस बी, मिर्गी के इलाज और लगातार बढ़ते मानसिक तनाव का उल्लेख करते हुए स्थिति को गंभीर बताया है।  इन सबके बीच खुद अमित जोगी ने कई वीडियो वायरल किये थे।  जिसमें उन्होंने वर्तमान कांग्रेस सरकार और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल पर निशाना साधा था।  उनका आरोप था कि उनके इलाज में जानबूझकर लापरवाही बरती जा रही है और अस्पताल प्रबंधन दबाव में है। लगातार मीडिया में इस तरह की खबरें आती रही और अब आखिरकार बिलासपुर अपोलो अस्पताल प्रबंधन ने अमित जोगी को मेदांता हॉस्पिटल रेफर कर दिया है।

बड़ा नेता बनना है तो कलेक्टर , एसपी का कॉलर पकड़ो- लखमा

दन्तेश्वर कुमार ( चिंटू)

दंतेवाड़ा: प्रदेश के आबकारी मंत्री कवासी लखमा की जुबान का करिश्मा ।स्कूली बच्चों के साथ चर्चा में लखमा ने किस्सा सुनाते हुए बताया कि छग के प्रभारी पीएल पुनिया और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के साथ बच्चों के एक फंक्शन में जब एक बच्चे से पूछा गया कि वो क्या बनना चाहता है तो उसने कहा कि वो नेता बनेगा उंस बच्चे ने लखमा से प्रतिप्रश्न किया कि आप इतने बड़े नेता कैसे बने और आपके जैसा बनने के लिए मुझे क्या करना होगा । तब लखमा ने कहा कि बड़ा नेता बनने है तो कलेक्टर , एसपी का कॉलर पकड़ो । हालांकि उन्होंने बताया कि ऐसा उंन्होने मजाक में कहाहै ।

स्कूल बना शराबी शिक्षक का अड्डा यहाँ के विद्यालय मे शराब पीकर आते है ये शिक्षक...पढ़े पूरा मामला

सुबीर चौधुरी : मरवाही

स्कूलों में बच्चों की मानसिक शारीरिक तौर पर गढ़ने की जिम्मेदारी एक शिक्षक की होती है।उसके उलट शिक्षक यदि स्कूल की मर्यादा भंग कर शराब पीकर स्कूल आने लगे तो एक बड़ा प्रश्न खड़ा होता है, कि इस समाज को शिक्षित बनाने का बीड़ा उठाने वाले स्कूल के शिक्षक के द्वारा की जाने वाली ऐसी हरकत से स्कूल के बच्चों पर क्या प्रभाव पड़ेगा। मामला मरवाही विकासखंड के कटरा पंचायत के टूरीझरिया प्राथमिक स्कूल का है।जहां कुछ दिनों से यह बात सामने आ रही थी,कि स्कूल में कार्यरत सहायक शिक्षक सरूप सिंह पाव लंबे अरसे से शराब पीकर स्कूल पहुंच रहे हैं, यह बात भी सामने आई कि यह शिक्षक शराब के नशे में बच्चों से मारपीट भी करते हैं। सोमवार को खबर मिलने पर स्कूल पहुंच मौके का जायजा लेने पर पता चला,कि स्वरूप सिंह तो आज भी नशे में है, जिसके बाद उनसे कैमरे के सामने बात की गई जिसमें साफ दिख रहा है,कि शिक्षक नशे में धुत है,अन्य शिक्षक रसोईया व बच्चों के साथ ग्राम प्रतिनिधियों से बात करने पर पता चला कि यह अक्सर ही नशे की हालत में स्कूल आते हैं।एक बार समझाइश दी गई,ना मानने पर खंड शिक्षा अधिकारी को इसकी जानकारी दी गई,स्थिति सुधरने के बजाय निरंतर ऐसे ही बिगड़ने लगी। हमने स्कूल के प्रधान पाठक से इस बारे में जानकारी लेनी चाही,पर वह मौके से नदारद थे।हाजिरी रजिस्टर देखने पर उनके हाजिरी की जगह समय के बाद भी खाली पाई गई। राम सिंह परस्ते बीईओ ने कहा मुझे इस बात की जानकारी नही थी,सीएससी को भेजकर जानकारी लेता हूँ।सही होने पर नोटिस भेजी जाएगी।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल पहुचे बलौदाबाजार जिले में 102 करोड़ 13 लाख रूपये के 73 विकास कार्यों का दिए सौगात

मुख्यमंत्री भूपेष बघेल ने कहा है कि अन्य पिछड़ा वर्ग और अनुसूचित जाति का आरक्षण बढ़ाकर हमने उनके प्रति कोई एहसान नहीं किया है बल्कि उन्हें उनका संविधान प्रदत्त अधिकार देने का काम किया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी समूहों को मिलाकर छत्तीसगढ़ में आरक्षण अब 82 प्रतिषत हो गया है। देष में सबसे ज्यादा आरक्षण प्रदान करने वाला पहला राज्य हो गया है। इससे वंचित समाज मजबूत होगा। उन्होंने कहा कि आरक्षण बढ़ाकर हमारी सरकार ने बाबा साहब अम्बेडकर और बी.पी.मण्डल के सपनों को साकार किया है। बघेल आज जिला मुख्यालय बलौदाबाजार के दषहरा मैदान में 102 करोड़ रूपये से अधिक के विकास कार्यों का लोकार्पण-भूमिपजून करने के बाद आयोजित अभिनंदन एवं आभार समारोह को मुख्य अतिथि की आसंदी से सम्बोधित कर रहे थे। आरक्षण की सीमा अन्य पिछड़े वर्गों के लिए 14 प्रतिषत से बढ़ाकर 27 प्रतिषत और अनुसूचित जाति का 12 प्रतिषत से बढ़ाकर 13 प्रतिषत करने पर छत्तीसगढ़िया सर्व समाज महासंघ द्वारा मुख्यमंत्री का सम्मान एवं आभार प्रकट किया गया।


मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्ष 2021 की जनगणना में अनुसूचित जाति की जितनी प्रतिषत जनसंख्या होगी, उतना आरक्षण दिया जाएगा। फिलहाल वर्ष 2011 की जनगणना में 13 प्रतिषत आबादी उनकी है। उन्होंने कहा कि संविधान के अनुरूप काम करते हुए हमने 10 प्रतिषत आरक्षण गरीब सवर्ण को भी दिए हैं।

मुख्यमंत्री भूपेष बघेल ने आमसभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि आज छत्तीसगढ़ की सबसे बड़ी समस्या नक्सली नहीं बल्कि कुपोषण है। आज 37.5 प्रतिषत बच्चे कुपोषित और 41.5 प्रतिषत महिलाओं में खून की कमी से ग्रसित हैं। इसे दूर करने के लिए हमने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती 2 अक्टूबर से सुपोषित छत्तीसगगढ़ अभियान चलाने का फेसला लिया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले 8 महीने में हमारी सरकार ने पुरखों के सपनों को साकार करने का काम किया है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने 2500 रूपये प्रति क्विंटल में धान खरीदने का निर्णय केवल चुनावी दृष्टिकोण से नहीं लिया है। हम इसे किसानों को मजबूत बनाने का जरिया मानते हैं। इस साल और इसके बाद भी हम 2500 रूपये क्विंटल के हिसाब से धान खरीदते रहेंगे। उन्होंने किसानों को समझाया कि यह सरकार आपकी है। इसलिए अपने पट्टे में केवल अपना धान ही बेचंे। कोई कोचिया अथवा अन्य व्यक्ति को न दें। मुख्यमंत्री भूपेष बघेल ने कहा कि नरवा, गरवा, घुरवा और बाड़ी हमारी छत्तीसगढ़ी संस्कृति के अभिन्न अंग हैं। गौपालन हमारे ग्रामीण जीवन मंे रचा-बसा है। इसे किसी से प्रषिक्षण लेने की जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि पूरे गांव के हर खेत को घेरने के बदले हम गौठान का घेराव करें। गौठान में गांव के पूरे गाय-बैल रहेंगे। उनके खाने-पीने की व्यवस्था होगी। गौठान में पक्की संरचना के बदले घास-फूस की अस्थाई व्यवस्था की जानी चाहिए। महिलाएं यहां के गोबर से जैविक खाद बनाएं। इस अवसर पर स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री और जिले के प्रभारी मंत्री श टी.एस.सिंहदेव, नगरीय प्रषासन एवं विकास मंत्री डाॅ. शिव डहरिया, विधायक शकुन्तला साहू, विधायक चन्द्रदेव राय, विधायक प्रमोद शर्मा, सहित बड़ी संख्या में सर्व छत्तीसगढ़िया समाज के अध्यक्ष एवं पदाधिकारी उपस्थित थे।

बिलासपुर के जिला खेल परिसर सरकंडा में आयोजित लोकार्पण और अभिनंदन समारोह में शामिल होने पहुँचे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने करीब 143 करोड़ से अधिक के कार्यों का किया लोकार्पण और भूमि पूजन

A REPORT BY : अजीत मिश्रा

शनिवार को बिलासपुर के जिला खेल परिसर सरकंडा में आयोजित लोकार्पण और अभिनंदन समारोह में शामिल होने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल पहुंचे। यहां उन्होंने करीब 143 करोड़ से अधिक के कार्यों का लोकार्पण और भूमि पूजन किया। जिला खेल परिसर में आयोजित समारोह के दौरान मुख्यमंत्री ने हमेशा की तरह छत्तीसगढ़ी में अपनी बातें रखी। उन्होंने कहा कि हेलीकॉप्टर से आने के दौरान लबालब अरपा को देखकर उन्हें बेहद खुशी हुई और उनकी इच्छा है कि अरपा नदी में 12 महीने पानी रहे। छत्तीसगढ़ के प्रसिद्ध गीत अरपा पैरी के धार की तर्ज पर अरपा में धार हमेशा बनी रहे इसलिए उन्होंने यहां अरपा के उद्गम से संगम तक एक और एनीकट और बैराज का ऐलान किया।जिला खेल परिसर में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री द्वारा 143 करोड़ से अधिक के विकास कार्यों का लोकार्पण और भूमि पूजन किया गया। मुख्यमंत्री द्वारा कार्यक्रम में 124 करोड़ रुपए से अधिक की लागत के विकास कार्यों का लोकार्पण और 19 करोड़ 13 लाख 46 हजार रुपए की लागत से 14 कार्यों का भूमि पूजन किया गया। साथ ही उन्होंने विभिन्न योजनाओं के 627 हितग्राहियों को ₹15 करोड़,96 लाख 63 हज़ार की सामग्री हितग्राहियो को प्रदान की।

छत्तीसगढ़ में हो रहे हैं लगातार तबादले , सरकार के इस निर्णय पर उठ रहे हैं सवाल ,कांग्रेस ने चलाया है तबादला उद्योग...पढ़े इसे लेकर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का जवाब

A REPORT BY : अजीत मिश्रा

इन दिनों छत्तीसगढ़ में लगातार तबादले हो रहे हैं। एक के बाद एक सभी सरकारी विभाग के अफसरों को इधर से उधर किया जा रहा है। सालों से जमे और भ्रष्ट अधिकारियों में इस तरह के ताबड़तोड़ हो रहे तबादले से भय का माहौल है। लिहाजा इन दिनों यह बात चल पड़ी है कि छत्तीसगढ़ में तबादला उद्योग चल रहा है। अपने ट्रांसफर रुकवाने और मनपसंद जगह पर तबादले के लिए अधिकारी कर्मचारी मोटी रकम देने को तैयार रहते हैं । इन सबके बीच छत्तीसगढ़ में तबादला उद्योग जैसी किसी स्थिति से साफ इंकार करते हुए। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल यह साफ कर दिया कि प्रदेश में कहीं भी कोई तबादला उद्योग जैसी स्थिति नहीं है। सामान्य तौर पर तबादले और ट्रांसफर होते रहते हैं यह एक सामान्य प्रक्रिया है, इसलिए इस तरह से सवाल का पूछा जाना औचित्यहीन है। मुख्यमंत्री और उनके मंत्री चाहे कितना भी इनकार करें लेकिन सच्चाई यह है कि तबादले रोकने के लिए और और पसंद की जगह पर ट्रांसफर पाने के लिए अधिकारी कर्मचारी हजारों लाखों रुपए खर्च करने को आतुर हैं मंत्रियों के बंगले के बाहर अधिकारियों की भीड़ यह साफ करती है कि किस तरह से छत्तीसगढ़ में तबादला उद्योग फल फूल रहा है।  बाइट.... भूपेश बघेल, मुख्यमंत्री छत्तीसगढ़।

मेरी मौत के लिए भूपेश बघेल जिम्मेदार -अमित जोगी।, मुख्यमंत्री ने आरोपों को किया खारिज।...पढ़े ये खास रिपोर्ट

A REPORT BY : अजीत मिश्रा

0 कहां-कार्यवाही भारतीय जनता पार्टी ने शुरू की है।

0 रिपोर्ट भी भारतीय जनता पार्टी के नेता ने दर्ज कराई है।

0 उनकी सरकार ने रूटीन की कानूनी कार्रवाई की है-सीएम। 

अजीत जोगी और उनके बेटे के खिलाफ पुलिस और कानूनी कार्रवाई सख्त होती जा रही है। जहां अमित जोगी की जेल में तबीयत बिगड़ने की वजह से उन्हें अस्पताल रिफर किया गया है। वहीं अजित जोगी पर भी एफआईआर दर्ज हो चुकी है। वहीं जोगी परिवार के द्वारा मुख्यमंत्री भूपेश बघेल पर शुरू से कई गंभीर आरोप लगाए जा रहे हैं। इसी कड़ी में अमित जोगी ने पुलिस अभिरक्षा में हुए 3 मौतों का हवाला देते हुए कहा है कि जेल में अगली मौत उनकी होगी। और इसके लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जिम्मेदार होंगे। अमित जोगी के इन आरोपों पर  मुख्यमंत्री बचने का प्रयास किया लेकिन बार बार पूछे जाने पर इन आरोपो को  सिरे से खारिज करते हुए, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने यह स्पष्ट किया कि किस तरह से पिछली बीजेपी सरकार में उनके खिलाफ मामले दर्ज हुए, मामला चाहे पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के जाति का हो या फिर उनके बेटे अमित जोगी के नागरिकता से संबंधित शिकायत। या फिर एफ.आई.आर की बात हो सभी कुछ बीजेपी शासन काल में हुआ है। उनकी कांग्रेस सरकार ने तो बस अपनी कानूनी कार्रवाई को पूरा किया है। इसमें किसी भी तरह से बदलापुर की राजनीति नहीं है। और रही बात जोगी परिवार के द्वारा लगाए जा रहे आरोपों की तो, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने साफ कर दिया कि उनका काम आरोप लगाना है और उनके आरोपों से कुछ भी साबित नहीं होता। 

बस्तर में बारिश से हालात बेकाबू , मौसाम विभाग ने जारी किया रेड एलर्ट । अगले 48 घण्टों में भारी बारिश की चेतावनी

Danteshwar kumar (chintu) जगदलपुर:- नदियों और नालों का जलस्तर लगातार बढ़ रहा है जिससे सड़कों पर पानी ही पानी दिखाई दे रहा है जिसकी वजह से छोटी गाड़ियों का आवागमन पूरी तरह बाधित हो चुका है. जगदलपुर से आंध्रप्रदेश को जोड़ने वाली NH 30 सड़क पंडरी पर पानी तीन फीट से ऊपर से बह रहा है. लगातार जलस्तर बढ़ता ही जा रहा है. जिसकी वजह से एक बार फिर क्षेत्र में बाढ़ का खतरा हो सकता है. वहीं मौसम विभाग ने बस्तर डिवीजन के लिए रेड अलर्ट जारी किया है. बस्तर के इलाकों में आज अति भारी बारिश की चेतावनी दी है. आफत की इस बारिश ने अब तक तीन लोगों की जान ले ली है। शहर के महादेव घाट में एक दीवार गिरने से उसकी चपेट में आकर माँ बेटे की मौत हो गई, वहीं आड़ावाल में भी एक महिला की मौत हो गई है। इंद्रावती नदी का जलस्तर बढ़ रहा है जिससे नदी के सहायक नाला गोरियबहार में भी पानी कलचा पूल के ऊपर से बह रहा है। गोरियबहार में बढ़े जलस्तर से एक व्यक्ति के फंसने से एसडीआरएफ की टीम ने रेस्क्यू कर बाहर निकाला। निचली बस्तियों के साथ साथ हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी के घरों में भी भरा पानी ।

आरोप : मीडियाकर्मी व स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों को जवानों ने दी गोली मारने की धमकी

Danteshwar kumar (chintu)

बीजापुर:- स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों और 4 पत्रकारों के साथ जवानों ने किया दुर्व्यवहार। बीजापुर CMHO, भोपालपटनम और भैरमगढ़ BMO, सिविल सर्जन और पत्रकारों के साथ किया गया दुर्व्यव्यवहार। दुर्व्यवहार के साथ ही गोली मारने और जान से मारने की दी गयी धमकी। घटना के बाद आक्रोशित CMHO और पत्रकार पुलिस कैम्प के सामने बैठे धरने पर। CMHO और पत्रकारों के साथ हुए दुर्व्यवहार से स्वास्थ्य महकमे और ज़िले भर के पत्रकारों में भारी आक्रोश। सोशल मीडिया पर स्थानीय लोग कर रहे घटना की निंदा। भोपालपटनम थाना क्षेत्र के रामपुरम स्थित अस्थायी पुलिस बेस कैम्प के जवानों ने किया दुर्व्यवहार।