बड़ी खबर

बिलासपुर : देर रात तेज़ रफ़्तार कार चलाने का मामला , बिलासपुर पुलिस ने तीन युवकों को किया गिरफ्तार।

अजीत मिश्रा : बिलासपुर/ छत्तीसगढ़

जप्त कार रायपुर पासिंग 
पकड़े गये सभी आरोपी युवक रसूखदार घरों के।
बीएमडब्ल्यू कार का नंबर 
CG04 KJ 0004 

आपको बता दे  पुलिस ने इनके खिलाफ धारा 188  सहित अन्य कई धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है। ये देर रात तेज़ रफ़्तार गाड़ियां चला रहे थे।  पुलिस के द्वारा इन्हें पहले भी हिदायत दी गई थी।  इसके बावजूद ये अपनी आदत से बाज नहीं आए और Bmw में बेवजह शहर में फर्राटा भर रहे युवकों ने  मंगला चौक से तेजी व लापरवाही पूर्वक वाहन चलाकर तिफरा की ओर भागने की सूचना मिली जिसे बजरंग होटल के पास तैनात जवानों द्वारा रोकने पर नही रुका और तिफरा बस्ती की ओर तेजी से भागने लगे जिनका पेट्रोलिंग बल द्वारा पीछा कर घुरू अमेरी मार्ग पर दबोचा गया जिसमें 03 युवक सिद्धान्त चोपड़ा पिता नवीन चोपड़ा उम्र 21 वर्ष मसानगंज, आकेश लदेर पिता शैलेन्द्र लदेर उम्र 23 वर्ष तिफरा ,दीपक तल्यानी पिता मनहर लाल तल्यानी उम्र 21 वर्ष जरहाभाठा को तेजी व लापरवाही पूर्वक वाहन चलाते हुए बिना मास्क पहने बेवजह घूमते पाए जाने पर अपराध क्रमांक 169/20 धारा 188,279 ipc 183,184 mv एक्ट कायम कर पुलिस ने कार्रवाई करते हुए इन्हें गिरफ्तार कर लिया है।

बिलासपुर : पुलिस कप्तान ने संभाली कमान .. सड़कों पर उतर चलाया चेकिंग अभियान।

अजीत मिश्रा : बिलासपुर/ छत्तीसगढ़

बिलासपुर रहेगा ग्रीन जोन-एसपी ।

एसपी प्रशांत अग्रवाल ने कसी कमर।

पुलिस  के जवान कर रहे मनमानी.!?

बिलासपुर शहर कोरोना संक्रमण के लिहाज़ से ग्रीन जोन में रहे... इसके लिए शहर के एसपी प्रशांत अग्रवाल ने कमर कस ली है। वही ड्यूटी पर तैनात जवानों की शिकायतें भी लगातार बढ़ रही है। ड्यूटी के दौरान आम शहरी से पुलिस के जवान लगातार बदतमीजी और बदसलूकी करते हैं। इसकी शिकायत अब लोग एसपी से भी करने लगे हैं। 

जहाँ एसपी प्रशांत अग्रवाल ने खुद सड़कों पर उतर कर चेकिंग अभियान चलाया  और लोगों से पूछताछ की है।  वही संतोषजनक जवाब नहीं दे पाने पर लोगों पर कार्रवाई भी की गई । जहां शहर के लोगों ने एसपी के इस अभियान और गंभीरता को लेकर उनकी खूब सराहना की है। वहीं जनमानस में इस बात को लेकर भी आक्रोश है कि, पुलिस के जवान ड्यूटी के दौरान लोगों से बदतमीजी और अनावश्यक रूप से परेशान करने से बाज नहीं आ रहे हैं।  कुछ दिन पहले एसपी लॉक डाउन को लेकर फेसबुक और इंस्टाग्राम पर लाइव हुए थे।  जहां लोगों ने अपने सवाल पूछे।  वही ज्यादातर लोगों ने पुलिस के जवानों के रवैये और दुर्व्यवहार से जुड़ी शिकायतें भी की थी।  गौरतलब है कि बिलासपुर रेंज के आईजी दीपांशु काबरा ने पहले ही ऐसे चार जवानों  पर कड़ी कार्रवाई की है।। वहीं अब ड्यूटी के दौरान अनावश्यक सख्ती बरतने वाले इन जवानों की शिकायत भी आम हो चली है।  हालांकि इन सबके बावजूद एसपी प्रशांत अग्रवाल ने यह दावा किया है कि, वे बिलासपुर शहर को ग्रीन जोन बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। 

जांजगीर-चांपा : मनरेगा में श्रमिको की संख्या बढ़ाने के निर्देश...

जांजगीर-चांपा: कलेक्टर जनक प्रसाद पाठक ने आज जिला कार्यालय में कोविड 19 की रोकथाम व नियंत्रण के गठित जिला स्तरीय कोर कमेटी की बैठक में कहा कि ग्रामीणों को गांव में ही रोजगार उपलब्ध करवाने के लिए मनरेगा में श्रमिको की संख्या बढ़ायी जाय। मनरेगा के कार्य दौरान सोशल डिस्टेंस, बार-बार हाथ धोने और मास्क लगाने के निर्देश का कड़ायी से पालन करवाया जाय। ग्रामीणों की  मांग के अनुसार काम उपलब्ध करवाया जाय।

वही  कलेक्टर ने कहा कि स्वास्थ्यगत कारणों से जिले से बाहर जाने की अनुमति दी जा रही है। साथ ऐसे कर्मचारी जो अपने डियूटी ज्वाईन करने अन्य जिला जाना चाहते है, उन्हें कार्य स्थल तक जाने के लिए एक बार अनुमति दी जाएगी। बार-बार आने जाने की अनुमति नहीं होगी। बैठक में पुलिस अधीक्षक श्रीमती पारूल माथुर ने कानून व्यवस्था के संबंध मंे अवगत कराया। जिला पंचायत सीईओ श्री तीर्थराज अग्रवाल और अपर कलेक्टर श्रीमती लीना कोसम ने लाक डाउन से प्रभावित लोगों के लिए किए जा रहे राहत कार्य के संबंध में जानकारी दी। सयुंक्त कलेक्टर श्री सचिन भूतड़ा ने अंतर जिला जारी किए जा रहे अनुमति एवं नियंत्रण केन्द्र में प्राप्त सूचनाओं से अवगत कराया। बैठक में कोर कमेटी के सदस्य उपस्थित थे।

कोरिया जिले में रेल्वे ट्रेक पर मिला दो श्रमिकों का शव

कोरिया से बड़ी खबर- कोरिया जिले में रेलवे स्टेशन के उधर कछार कुछ दूरी पर रेल्वे ट्रेक पर दो श्रमिकों का शव मिला है, जबकि दो अन्य बाल बाल बच गए हैं। प्रारंभिक पूछताछ से पता चला है कि, ये श्रमिक मरवाही पेंड्रा गौरेला ज़िला में काम करते थे और सूरजपुर ज़िले के गेवरा उजगी पहुँचने के लिए पूरी रात पटरियों पर चलते रहे, लेकिन सुबह मालगाड़ी की चपेट में आ गए।


आप को बता दें कि उदलकछार से दर्रीटोला के बीच सुबह  मालगाड़ी की चपेट में आने से ट्रेक पर चल रहे दो श्रमिक कमलेश्वर राजवाड़े और गुलाब राजवाड़े की मौत हो गई, जबकि साथ ही चल रहे दो अन्य श्रमिक बाल बाल बच गए।यह चारों श्रमिक पेंड्रा मरवाही गौरेला ज़िला के गोरखपुर स्थित खाद बीज बनाने वाली कंपनी में काम करते थे.. और बीति शाम खाना खाकर रेल्वे ट्रेक पर रात भर चलते हुए घर की ओर जा रहे थे।


इस घटना ने दिलदहला कर रख दिया है,श्रमिकों के साथ हालात ही अलग हैं, इस लॉकडॉउन की जद में सबसे ज़्यादा नुक़सान कोई झेल रहा है तो वह श्रमिक ही है, और उनके मुआवज़े के लिए किसी भी सरकार के पास योजना तक नहीं है, अफ़सोस कि सोच तक नहीं है। अनाज यदि मिल रहा है तो वह बेहतर है, लेकिन जो इन श्रमिकों का अर्थ चक्र टूटा है, उसके लिए कोई मुआवज़ा नहीं है..

बिलासपुर : चरित्र शंका को लेकर महिला की हत्त्या

अजीत मिश्रा : बिलासपुर/ छत्तीसगढ़

 

पाडोसी ने मिलकर दिया घटना को अंजाम।।

एक परिवार के 6 लोगो ने दिया घटना को अंजाम।।

जिसमे दो नाबालिक भी शामिल।।

सभी आरोपियों को पुलिस ने लिया हिरासत में।।

बिलासपुर जिला के ब्लॉक मस्तूरी थाना पचपेड़ी क्षेत्र के ग्राम लोहर्सी में अवैध संबंध के शंका पर पड़ोसियों ने डंडे से पीट-पीटकर एक महिला की हत्या कर दी है। घटना की जानकारी पुलिस को मिलते ही  मौके पर पहुँच कर शव का पंचनामा कर उसे पोस्टमार्टम के भेज दिया।।

लोहर्सी निवासी लीलाबाई साहू पति ठाकुर राम साहू उम्र 45 वर्ष की उनके पड़ोसियों ने मिलकर डंडे से  पिटाई कर दीजिससे इस महिला को  गंभीर चोट आई मौके पर मौत हो गई। घटना के पीछे अवैध संबंध का शंका बताई जा रही है। जिसमें आरोपी रामशरण साहू, जमुना बाई साहू, द्रोपति साहू, प्रीति साहू, और दो नाबालिक ने घटना को अंजाम दिया है। घटना की सूचना पर पुलिस ने सभी 6 आरोपी को हिरासत में ले लिया है।।और आगे की कार्यवाही की जा रही है।।
 

क्वारेंटिंन किये गए व्यक्तियों की मोबइल app से राखी जा रही निगरानी

अजीत मिश्रा : बिलासपुर : छतीसगढ़ 

Kovid-19, को विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा महामारी घोषित किया गया है, संपूर्ण विश्व के साथ-साथ भारत भी इस महामारी से प्रभावित है।
Kovid-19 संक्रमण से बचाव हेतु शाशन द्वारा प्रयास किये जा रहे है, उक्त वायरस से बचाव एवं निगरानी हेतु पुलिस अधीक्षक  प्रशांत अग्रवाल के निर्देशन में बिलासपुर पुलिस द्वारा आधुनिक तकनीक मोबाइल APP  का प्रयोग किया जा रहा है। 


● संबंधित क्वारेंटिंन व्यतक्तियो से सम्पर्क कर उनके मोबाइल पर Raksha Serv APP डाऊनलोड कराया गया है।
● साइबर सेल यूनिट के माध्यम से इस मोबाइल APP से सभी कवारेंटिंन व्यक्तियो पर प्रभावी निगरानी रखा जा रहा है।
● कोई भी निगरानी शुदा कवारेंटिंन व्यक्ति यदि निश्चित स्थान से बाहर जाता है तो तुरंत मोबाइल APP  से नोटिफिकेशन संबंधित थाने के थाना प्रभारी, एवं नियंत्रण कक्ष साइबर सेल यूनिट को प्राप्त हो जाती है।
● निगरानी शुदा कवारेंटिंन व्यक्तियों का सम्पूर्ण डाटा मोबाइल APP पर संधारित कर लिया गया है।
● मोबाइल APP को निम्न एड्रेस पर https://account.livecorona.in  admin page पर देखा जा सकता है।

सरगुजा रेंज पुलिस महानिरीक्षक रतन लाल डांगी ने कहा... शराब और जुआ में संलिप्त पुलिसकर्मी सीधे होंगे बर्खास्त

कोरिया। कोरिया जिले के दौरा सरगुजा रेंज पुलिस महानिरीक्षक रतन लाल डांगी पहुंचे और पुलिस अधीक्षक चंद्रमोहन सिंह के साथ लॉक डाउन जिले का जायजा लिया साथ ही मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ के बॉडर घुटरीटोला अचानक पहुँचकर बॉडर पर तैनात जवानों का हाल चाल जाना वही सरगुजा रेंज पुलिस महानिरीक्षक ने मध्यप्रदेश छत्तीसगढ़ के बॉडर पर तैनात जवानों से बातचीत किया कोरोना जैसे गम्भीर महामारी में भी लगातार 24 घण्टे डियूटी कर रहे कई पुलिस के जवानों को ईनाम देकर प्रोत्साहित भी किया अपने पुलिस महानिरीक्षक से इनाम मिलने के बाद पुलिस के जवानों में उत्साह भी नजर आया । सरगुजा रेंज पुलिस महानिरीक्षक रतन लाल डांगी ने कहा की रेंज में शराब जुआ जैसे अपराधों पर पुलिसकर्मियों की सीधी सम्मिलित पाई जाने पर बगैर जांच किए उनकी बर्खास्तगी कर दी जाएगी । उन्होंने बताया कि कुछ जिलों में पुलिसकर्मियों के खिलाफ शराब तस्करों एवं जुआरियों के साथ समझौता की लगातार शिकायत आ रही है जिससे पुलिस विभाग के कर्तव्यनिष्ठा अधिकारी , कर्मचारियों की छवि को नुकसान पहुंचाता है उन्होंने कहा कि जिले के सभी पुलिस अधीक्षकों को यह निर्देश दिया गया है की वे अपने जिले के स्टाफ को सचेत करें और अपराधिक गतिविधियों में शामिल पाए जाने पर संविधान के अनुच्छेद 311 के तहत सीधा बर्खास्त करने की कार्रवाई करायें ।

कोरिया। पहले 21 दिन का लॉकडाउन और अब 19 दिन का लॉकडाउन ....पीएम मोदी ने कोरोना से लड़ाई के लिए कुल 40 दिन का पूरे देश में लॉकडाउन किया है.... किसी दूसरे राज्य से आए मजदूरों अब अपने प्रदेश लौटने के लिए मजबूर हो गए..... लेकिन कोरिया पुलिस ने इस मजदूर को रोका..... क्या मजदूर अपने घर पहुंच पाएंगे ।

देश मे चल रहे लॉक डाउन के चलते बड़ी संख्या में लोग यहा वहां फंसे हुए है। इन लोगो को उम्मीद थी कि पहले चरण में इक्कीस दिन का लॉक डाउन खत्म होने के बाद आवागमन को लेकर कोई निर्णय लिया जाएगा। पर लॉक डॉउन को तीन मई तक बढ़ा दिए जाने के चलते यहा वहां फंसे हुए मजदूरों के सामने घर जाने की चिंता बढ़ गई । ऐसे में मजदूर पैदल ही रेल लाइन के किनारे किनारे घर जाने के लिए निकल पड़े। ऐसे ही मजदूरों के दो अलग अलग समूह को शनिवार को कोरिया जिले के चरचा पुलिस ने बैकुंठपुर रोड रेलवे स्टेशन के पास पकड़ा । पुलिस ने जब इनसे पूछताछ की तो पता चला कि सोलह मजदूर मध्यप्रदेश के जैतहरी स्तिथ पावर प्लांट से झारखंड के पलामू जाने के लिए पन्द्रह अप्रैल से पैदल निकले है । वही बारह अप्रैल को चौदह मजदूर जशपुर से एमपी के दमोह जाने के लिए निकले है जो बीएसएनएल में अलग अलग तरह का काम करते है । इन सभी तीस मजदूरों के अम्बिकापुर से अनूपपुर जाने वाले रेल खण्ड पर बैकुंठपुर रोड रेलवे स्टेशन से कुछ दूरी पर होने की जानकारी चरचा पुलिस को मिली तो पुलिस टीम मौके पर पहुची और इनसे पूछताछ की। भूखे प्यासे मजदूर कुछ सामान रखे हुए थे और किसी तरह अपनी भूख शांत करते थे। सभी लॉक डाउन में पैदल ही भूखे रहकर अपने घर पहुचना चाहते है । पुलिस प्रशासनिक अधिकारियो से बात करने के बाद आंगे की कार्यवाही करने की बात कह रही है ।

गुड़ाखू, गुटखा, शराब की बिक्री में प्रतिबंध , लेकिन मोटी कमाई को देखते हुए लोग बिक्री से नहीं आ रहे बाज , आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार

बिलासपुर:- लॉक डाउन के चलते सरकार ने गुड़ाखू, गुटखा, शराब की बिक्री में प्रतिबंध लगा दिया है, लेकिन मोटी कमाई को देखते हुए लोग बिक्री से बाज नहीं आ रहे है। इसी को ध्यान में रखते हुए पुलिस इनके अवैध बिक्री पर लगाम लगाई जा सके। पुलिस अधीक्षक के आदेशानुसार तोरवा थाने के अंतर्गत 3 अलग अलग टीम बनाकर क्षेत्र की लगातार गस्ती की जा रही है। गश्ती के दौरान एक टीम को तोरवा धान मंडी के पास पान गुटखा की बिक्री की जानकारी मिली। मौके पर पहुची पुलिस ने हरिश विधानी को बड़ी मात्रा में पान गुटखा बीड़ी पत्ति के साथ उसकी बिक्री के लिए ग्राहक के इंतजार में खड़ा देखा पुलिस के द्वारा समान की बिक्री हेतु वैध दस्तावेज मांगे जाने पर आरोपी ने दस्तावेज दिखाने में असमर्थता जताई जिसके बाद आरोपी को धारा 144 के तहत माल सहित गिरफ्तार कर लिया गया।।

बिलासपुर : मास्क नहीं पहने वाले पर जुर्माना..पहले दिन 150 से ज्यादा लोगों पर जुर्माना....पढ़े पूरी खबर

अजीत मिश्रा @ बिलासपुर छत्तीसगढ़

0 बिलासपुर में थाना स्तर में कार्यवाही शुरू।

0 नगर निगम और पुलिस की संयुक्त कार्रवाई ।

0 पहले दिन सिविल लाइन थाना क्षेत्र में हुई कार्रवाई।

0 दूसरे दिन तारबाहर थाने क्षेत्र में  किया गया जुर्माना ।

0 लॉक डाउन के बीच लोगों को आर्थिक दंड उचित..!

लॉक डाउन के दौरान घरों से बिना मास्क के बाहर निकले लोगों पर जुर्माने की कार्यवाही तेज़ हो गई है..! ऐसे लोगों को जुर्माने के रूप में मोटी रकम चुकानी पड़ रही है।  बिलासपुर में बकायदा जुर्माने की इस कार्यवाही को थाना स्तर पर किया जा रहा है।  अलग-अलग थाने स्तर पर अभियान चलाकर लोगों से जुर्माना वसूला जा रहा है।  साथ ही हिदायत दी जा रही है कि अगली बार पकड़े गए तो और ज्यादा जुर्माना देना होगा। वहीं कुछ लोगों ने इसका विरोध करना शुरू कर दिया है 

इस जुर्माना के कार्यवाई पर लोगों का कहना है कि, एक तरफ देश और प्रदेश में लॉक डाउन के वजह से लोगों की आर्थिक परेशानी से जूझना पड़ रहा हैं। जहां रोजमर्रा की जरूरतों को पूरा करने के लिए लोगों के पास पैसे नहीं है।  वहीं इस तरह की जुर्माने की कार्यवाही या अर्थदंड से आम लोगों की समस्या बढ़ रही है। अगर आंकड़ों पर नजर डालें तो पुलिस ने पहले दिन के अभियान में ही तकरीबन 150 लोगों पर जुर्माने की कार्रवाई की है।  इसमें मास्क नहीं पहनने वालों से लेकर मोटर व्हीकल एक्ट तक के सभी लोग शामिल हैं।    थाना प्रभारी प्रदीप आर्य से मिली जानकारी के अनुसार यह कार्रवाई बिलासपुर के पुलिस कप्तान प्रशांत अग्रवाल के निर्देश पर की जा रही है। वहीं चालान काटने की जिम्मेदारी नगर निगम को सौंपी गई है।

जहां बिलासपुर में पहले दिन के सिविल लाइन थाना क्षेत्र स्तर पर जुर्माना किया गया।  वहीं जुर्माना वसूलने के दूसरे दिन इसे तारबाहर थाना क्षेत्र में  बकायदा अभियान के रूप में चलाया गया।  नगर निगम और पुलिस की संयुक्त टीम ने बिना मास्क घरों से बाहर निकले लोगों को रोककर उनसे जुर्माना वसूला है। दबी जुबान  पर ही सही लेकिन शहर के लोगों ने इस चलानी कार्यवाही का विरोध करना भी शुरू कर दिया है।

लॉक डाउन का पालन कराने पहुची पुलिस पर अचानक हुआ पुष्प वर्षा,,

पुलिस वालो का बच्चो ने आरती उतार कर किया स्वागत ,,

बड़े बूढ़े बच्चो ने सोशल डिस्टेंसिग का मॉस लगा कर रखा ध्यान ,,

पुलिस वालों ने इस कठिन समय पर सब का रखा ध्यान ,,

बिलासपुर - अजीत मिश्रा

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का असर अब शहर से लेकर गलियों में देखने को मिल रहा है बिलासपुर से लगा हुआ सिरगिट्टी थाना के सीता बिहार कालोनी में पुलिस की टीम जब दल बल के साथ लॉक डाउन का पालन कराने कालोनी में पहुंचे तो कालोनी के सभी लोगो ने पुष्प वर्षा कर पुलिस वालों का सम्मान किया ,, बच्चो ने आरती उतार कर तिलक लगा कर अभिवादन किया ,, लोगो ने सोशल डिस्टेंसिग का ध्यान रखते हुए मुँह पर मॉस लगा कर देश के सभी लोगो को संदेश दिया की घर मे रहो सुखी रहो कोरोना को भगाओ ,, ऐसा स्वागत देख कर पुलिस वाले भाव विभोर हो गए ,, पुलिस वालों ने लोगो को घर मे रह कर शासन की सहयोग करने और कोरोना को भगाने की बात कही,,

जांजगीर : अकलतरा : ऐसे में कोरोना से जंग जितना मुश्किल पढ़िए खास रिपोर्ट

सुबोध थवाईत-BBN24NEWS

अकलतरा ।पुलिस थाना के नजदीक ही सब्जी मंडी है यहां पर क्षेत्र भर के किसान अपने सब्जी को बेचने के लिए आते है। सोसल डिस्टेंसिंग को लेकर सरकार ,स्वयंसेवी संगठन द्वारा लगातार जागरूक किया जा रहा है सोसल डिस्टेंसिंग का पालन करने से ही हम कोरोना वायरस से बच सकते है सब्जी मंडी जाने वाले लोग कैसे भूल जाते है कि हमे शाररिक दुरी बनाए रखना है कुछ लोग ही होते है जो बात से नही डंडे से ही समझते है ऐसे भीड़ भाड़ करने से हम सभी लोगो को परेशानी में डालने जैसा है ।पुलिस आते ही याद आ जाता है सोशल डिस्टेंसिंग, जाने के बाद फिर भीड़ भीड़ ऐसे में हम कैसे कोरोना वायरस से जीत पायंगे। इस समस्या से बचाने के लिए पुलिसकर्मी, सफाई कर्मचारी, मेडिकल स्टाफ,मिडिया और आवश्यक सेवा से जुड़े कर्मचारी रात दिन लगे हुए है परन्तु ऐसे भीड़ से इन सबका मेहनत का सम्मान नही होगा।

छत्तीसगढ़ के कोरिया जिले में मध्यप्रदेश के सतना जिले से 304 किलोमीटर ट्रकों के माध्यम व पैदल चलकर जंगल के रास्ते से होकर 9 मजदूर मनेन्द्रगढ़ पहुंचे, मजदूरों के खिलाफ धारा 188 के तहत की गई कार्यवाही

कोरिया-छत्तीसगढ़ के कोरिया जिले में मध्यप्रदेश के सतना जिले से 304 किलोमीटर ट्रकों के माध्यम व पैदल चलकर जंगल के रास्ते से होकर 9 मजदूर मनेन्द्रगढ़ पहुंचे।लॉक डाउन 3 मई तक बढ़ने के बाद मजदूर करने लगे पलायन ।सभी मजदूर भूखे प्यासे थे।मनेन्द्रगढ़ के ग्रामीणों ने मजदूरों को भोजन कराया।सभी मजदूर सूरजपुर जिले के रहने वाले है । जिसकी सूचना मनेंद्रगढ़ थाना को मिली पुलिस को सूचना मिलने मौके पर पहुंच गई और मजदूरों पर मामला दर्ज कर पूछताछ कर रही है । मनेंद्रगढ़ थाना प्रभारी तेज नाथ सिंह ने बताया कि लॉक डाउन और धारा 144 के उल्लंघन पर पुलिस ने सभी मजदूरों के खिलाफ धारा 188 पर कार्यवाही किया है।बिना अनुमति के जिले में प्रवेश करने पर में सभी 9 मजदूरों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया ।सभी मजदूर का मेडिकल चेकअप कराया गया और सभी को मंगल भवन में रखा गया है कभी मजदूर सूरजपुर जिले के रहने वाले है।

सावधान बिलासपुर : अनावश्यक आने जाने वाले ,बिना हेलमेट के,बिना सीट बेल्ट व 2 सवारी गाड़ी चलाने वाले 40 लोगों पर mv एक्ट के विभिन्न धाराओं पर हुई कार्यवाही

थाना सरकण्डा पुलिस के द्वारा ट्रेफिक के माध्यम से बसन्त विहार चौक अनावश्यक आने जाने वाले ,बिना हेलमेट के,बिना सीट बेल्ट व 2 सवारी गाड़ी चलाने वाले 40 लोगों पर mv एक्ट के विभिन्न धाराओं पर चलानी कार्यवाही की गई।lockdwon तक अनावश्यक घूमने वाले लोगों पर ऐसी कार्यवाही जारी रहेगा। लोगो से अपील कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए घर पर रहे ,अनावश्यक न घूमे ,अपने साथ अपने परिवार को सुरक्षित रखे पुलिस एवं प्रशासन का सहयोग करे

कोरोना संक्रमण से बचाव आवश्यक क्यों, कितना खतरनाक है, उपाय क्या-क्या हैं और लॉक डाउन में क्या करें : HP Joshi ....पढ़े ये खास खबर

आज महामारी कोरोना के संक्रमण से लगभग पूरी दुनिया प्रभावित है, संसार के सारे देश कोरोना से लड़ाई लड़ने की अथक प्रयास कर रहे हैं। सारे विश्व के वैज्ञानिक, चिकित्सक, फार्मासिस्ट, पैथोलोजिस्ट, सरकार, सेना, सशस्त्रबल और पुलिस पूरी ईमानदारी, निष्ठा और समर्पित भाव से अपनी पूरी ताकत कोरोना से लड़ाई में झोंक रहे हैं। इसमें समाजसेवी संगठन और दानदाताओं का भी अच्छा योगदान है जो जरूरतमंद लोगों के आवश्यता को पूरा करने में बिना व्यक्तिगत स्वार्थ के लगे हुए हैं।

सरकारें आम नागरिकों से उनके और उनके परिवार की सुरक्षा के लिए केवल एक ही सहयोग चाह रहे हैं कि वे अपने घरों में ही रहें, अत्यंत आवश्यक हो तभी आवश्यक सुरक्षा नियमों का पालन करते हुए घर से निकलें। अर्थात जब घर से निकलें तो मास्क, रुमाल अथवा गमछे से मुह और नाक को ढकें, हाथों में सेनेटाइजर लगाएं, किसी भी शर्त में दूसरे व्यक्ति से प्रत्यक्ष अप्रत्यक्ष फिजिकल संपर्क से बचें। यदि आप अधिक समय के लिए घर से निकल रहे हों तो सेनेटाइजर अपने जेब में ही रख लें और बार बार सेनेटाइजर से हाथ धोएं; व्यर्थ ही किसी भी वस्तु को स्पर्श करने से बचें। क्योंकि यही उपाय आपको और आपके परिवार को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचा सकते हैं। हालांकि ऐसा कोई शोध सामने नही आया है जिसमें यह बोला गया हो कि पशु पक्षियों से भी कोरोना संकमण का फैलाव हो सकता है, इसके बावजूद आपको एहतियात के रूप में इनसे भी फिजिकल डिस्टेंस बनाने की जरूरत है; क्या पता आप जिस पशु पक्षियों को छू रहे हैं वह किसी कोरोना संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आया हो।

अभी तक ज्ञात रिसर्च के अनुसार "कोरोना संक्रमण का फैलाव हवा से नहीं होता।" यह मानवता की जीत के लिए अत्यंत सकारात्मक है इसलिए इसके संक्रमण पर आसानी से रोक लगाया जा सकता है। केवल जरूरत है तो सरकारों के दिशा निर्देश का पालन करते हुए फिजिकल डिस्टेंस के सिद्धान्तों का पालन करने की।

एक वेबसाइट में संकलित जानकारी के अनुसार आज 16/4 के 7 बजे तक दुनियाभर के लगभग 20 लाख लोग कोरोना के चपेट में आ चुके हैं, जिसमें से 1.34 लाख लोगों की मृत्यु हो चुकी है; वहीं लगभग 5.10 लाख लोग उपचार के बाद स्वस्थ्य हो चुके हैं। ये आंकड़े हमें गहराई से सोचने और सुरक्षित रहने को मजबूर करती है। इसलिए आपसे अनुरोध है सरकार के दिशा निर्देश का पालन करें और घर मे ही सुरक्षित रहें। यदि सरकार के दिशा निर्देश का पालन नही किया जाता है, यदि फिजिकल डिस्टेंस के सिद्धांत और सरकार द्वारा सुरक्षा मापदंड का उल्लंघन किया जाता है तो वह दिन दूर नही जब सन 1346-1353 की "प्लेग" से भी खतरनाक परिणाम भुगतने के लिए हम मजबूर होंगे; प्राप्त जानकारी के अनुसार महामारी प्लेग, मानवता को 7साल तक समाप्त करने का प्रयास करते हुए दुनियाभर से लगभग 7 से 20 करोड़ लोगों को मौत के मुह में ढकेल दी थी। दूसरी सबसे बड़ी महामारी थी "स्पेनिश फ्लू" जो लगभग 1918-1920 में आई थी, जो 3साल में अपने साथ 5करोड़ लोगों को मार डाली थी।

विशेषज्ञों का मानना है कि यदि बहुत जल्द ही कोरोना का टीका खोज लिया जाएगा, तो भी टेस्टिंग, निर्माण और टीकाकरण करने में साल भर से कम नहीं लगेगा।

आज जरूरत है तो केवल:-

1- शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाए रखने की।

2- लक्षण दिखाई देने पर तत्काल एहतियात बरतने और उपचार के लिए कोरोना अस्पतालों जाने की।

3- न्यूनतम आवश्यक वस्तुओं का उपयोग करते हुए घर में ही रहने की।

4- प्रत्यक्ष/अप्रत्यक्ष फिजिकल डिस्टेंस बनाने की।

4- यदि किसी अत्यावश्यक काम से बाहर निकलना पड़े तो मास्क, रुमाल या गमछे से नाक और मुह को ढकें, हाथ में सेनेटाइजर लगाएं। अधिक समय तक यदि आपको घर से बाहर रहने की जरूरत है तो सेनेटाइजर अपने जेब में रखें और समय समय में लगाते रहें।

5- पारिवारिक, सामाजिक, सांस्कृतिक और धार्मिक आयोजन पर रोक लगाएं।

6- केवल सरकार के दिशा निर्देश पर ध्यान दें। अन्य स्त्रोत से प्राप्त जानकारी अफ़वाह हो सकती है, इसलिए इससे बचें; क्योंकि अफ़वाह हमेशा घातक होता है।

7- कोरोना के संबंध में सोशल मीडिया अथवा किसी अन्य माध्यम से प्राप्त जानकारी को शेयर करने से बचें; यदि आपके पास पर्याप्त कारण हो कि यह जानकारी सरकार द्वारा दी गई है तभी अन्य व्यक्ति को शेयर करें।

8- आपसे निवेदन है कि यदि आप सक्षम हों तो सरकार के रिलीफ फण्ड में दान करें अथवा अपने आसपास के जरूरत मंदों की सहायता करें; यदि आप मकान मालिक हैं तो किराएदार को किराए के लिए परेशान न करें, यदि आप सक्षम दुकानदार हैं तो आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को पुराने उधारी चुकाने के लिए मजबूर न करें बल्कि जरूरत के आधार पर कम से कम अतिआवश्यक सामग्री उन्हें उधारी भी दें।

9- लॉक डाउन के दौरान समय का सदुपयोग करें, पूरे परिवार मिलकर चर्चा करें, अपने अनुभव शेयर करें, Books पढ़ें, Online माध्यम से कुछ सीखें, शिक्षा ग्रहण करें।

10- शिक्षकों और विशेषज्ञों से अनुरोध है कि वे यूट्यूब चैनल, फेसबुक लाइव इत्यादि के माध्यम से अपने स्टूडेंट्स के लिए काम करते रहें। छत्तीसगढ़ के शिक्षक सरकारी वेबसाइट CGSchool.in में अपना योगदान दें।

11- क्लास 1 से 12 के स्टूडेंट्स यूट्यूब में Bodhaguru चैनल के माध्यम से अपना पढ़ाई जारी रखें, छत्तीसगढ़ के स्टूडेंट्स cgschool में जाकर भी अपना पढ़ाई जारी रख सकते हैं।

12- प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने वाले युवाओं के लिए भी अनेकों यूट्यूब चैनल हैं जिसके माध्यम से आप अपना तैयारी जारी रख सकते हैं।

13- संविधान और केंद्रीय व राज्य सरकार द्वारा लागू अधिनियम और नियमों का अध्ययन करें; आप चाहें तो साहित्य भी पढ़ सकते हैं।

14- स्वस्थ और निरोगी रहने के लिए पूरे परिवार मिकलर घर अथवा आंगन में ही योग और व्यायाम करें; ऐसा न भी करें तो आंगन, छत अथवा बालकनी में जाकर शरीर को धूप जरूर दें।

15- आज इतने बड़े संकट के बावजूद जो आपके सुरक्षा में लगे हैं, अर्थात चिकित्साकर्मी, सेना, अर्धसैनिक बल, पुलिसकर्मी, किसान और वैज्ञानिक यही सही मायने में ईश्वर हैं इनका आजीवन सम्मान करने का संकल्प लें।

16- सरकार सदैव कल्याणकारी होती है इसे स्वीकार करें और हैसियत के अनुसार सरकार का सहयोग करें।

17- मूलभूत आवश्यकताओं के अलावा अतिरिक्त्त चीजों के उपयोग में कमी लाने का संकल्प लें।

18- स्वच्छ वायु, स्वच्छ जल, भोजन, साफ सुथरे कपड़े और आवास, दाल चावल सब्जी रोटी जैसे भोज्य पदार्थ, चिकित्सालय और चिकित्साकर्मी, स्कूल कॉलेज और शिक्षक, वैज्ञानिक, विद्युत और जल आपूर्ति में लगे लोग, वैज्ञानिक, सेना, अर्धसैनिक बल, पुलिस, सरकार और समाजसेवी संगठन, इत्यादि आवश्यक हैं।

19- मानवता सर्वोपरि है। यदि जाति, वर्ण, धर्म, सीमा और धार्मिक स्थल यदि मानवता के खिलाफ हो जाएं तो इसका त्याग करें।

20- घर में रहें, जिंदा रहें।