छत्तीसगढ़

कोरोना वारियर्स हुए संक्रमित, 5 डॉक्टर सहित 16 स्टाफ की रिपोर्ट आई पॉजिटिव

दुर्ग:-प्रदेश में कोरोना वायरस का कहर लगातार जारी है। शुक्रवार को चंदूलाल चंद्राकर अस्पताल के 5 डॉक्टर सहित 16 स्टाफ की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। इस बात की जानकारी जिला जनसंपर्क अधिकारी सौरव शर्मा ने दी। उन्होंने बताया कि चंदूलाल चंद्राकर मेमोरियल हॉस्पिटल नेहरू नगर के 5 डॉक्टर सहित 16 स्टाफ पॉजिटिव पाए गए हैं। चंदूलाल चंद्राकर कोविड-19 के प्रभारी डॉ.अनिल शुक्ला ने बताया कि प्राप्त रिपोर्ट में 16 मरीज चंदूलाल चंद्राकर मेमोरियल हॉस्पिटल नेहरू नगर से हैं। इसमें 5 डॉक्टर भी शामिल है।

बाढ़ में फंसे बीमारों को एसडीआरएफ की टीम ने रेस्क्यू कर निकाला

बीजापुर:-भोपालपटनम तहसील के कोमटपल्ली गांव में शुक्रवार को बाढ़ में फंसे 5 बीमार लोगों को एसडीआरएफ की टीम ने रेस्क्यू कर निकाला। बीमार लोगों में लकवाग्रस्त 1 बुजुर्ग महिला, 2 बुजुर्ग पुरुष और 2 छोटी बच्चियां शामिल थीं। सभी को बेहतर इलाज के लिए एम्बुलेंस के माध्यम से जिला चिकित्सालय रिफर किया गया। बता दें कि भोपालपटनम एसडीओपी अभिषेक सिंह के नेतृत्व में एसडीआरएफ की टीम गांव पहुंची थी। अभिषेक सिंह ने बताया कि जिले में मूसलाधार बारिश के कारण जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया और गांव टापू बन गए है। उन्होंने कहा कि बोट के सहारे बीमार लोगों को गांव से बाहर निकाला गया। जिला प्रशासन मुस्तैदी से राहत कार्य में लगा है और सूचना मिलने पर बाढ़ में फंसे लोगों को निकाला जा रहा है।

शिवरीनारायण में लंबे समय से स्वास्थ्य सुविधाओं की कमी स्वास्थ्य मंत्री नही दे रहे इस ओर ध्यान...पढ़े ये विशेष रिपोर्ट

आशीष कश्यप शिवरीनारायण (विशेष खबर)

जांजगीर चाम्पा जिले के शिवरीनारायण नगर लंबे समय से स्वास्थ्य सुविधाओं की कमी से जूझ रही हैं। इसके बाद भी आजतक इस ओर किसी का ध्यान नही गया। यहां के जनप्रतिनिधि महज वोट मांगने तक ही जनता से वास्ता रखते हैं वहीं अधिकारी मंदिर दर्शन के अतिरिक्त यहाँ आकर और कोई काम नही करते है ऐसा कहना है शिवरीनारायण के नगरवासियों का हैं |

गौरतलब है कि शिवरीनारायण के आसपास के 50 गांवों का केंद्र बिंदु होने के बाउजूद यहाँ रोजाना बड़ी संख्या में आसपास के लोग अपने व परिजनों के इलाज के लिए पहुँचते हैं। लेकिन यहां स्वास्थ्य सुविधाओं के नाम से सिर्फ एक मात्र सिविल डिस्पेंसरी संचालित है। जिसमे एक सरकारी डॉक्टर अपने कुछ कर्मचारियों के साथ लोगो को स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया लंबे समय से करा रही हैं। अक्सर देखा जाता हैं कि यदि दुर्घटना में घायल कोई मरीज इलाज के लिए हॉस्पिटल पहुँचता हैं तो उसे अन्यत्र रिफर करने के आलावा कोई रास्ता नही होता।समय पर इलाज नही मिलने से बहुतों की जान तक भी चली जाती हैं। क्योंकि शिवरीनारायण में कोई दुर्घटना होती हैं तो घायलों को पामगढ़, जांजगीर या फिर बिलासपुर के हॉस्पिटल में रिफर कर दिया जाता हैं। नगर के हॉस्पिटल से इन जगहों की दूरी 20 से 60 किलोमीटर हैं। गम्भीर रूप से घायल मरीजो को इतनी दूरी तय करने के दौरान जान पर बन आती हैं। समय पर इलाज नही मिलने से दुर्घटना में घायल व्यक्ति काल के गाल में समा जाते है।

नगर में मुख्यमंत्री से लेकर विभिन्न विभागों के मंत्रियों का आनाजाना लगा रहता हैं। हर बार नगर के जनप्रतिनिधि,समाजसेवी, युवा वर्ग,जिम्मेदार नागरिकों द्वारा नगर में आये मुख्यमंत्री, मंत्रीगण तक नगर में व्याप्त स्वास्थ्य सुविधाओं की कमी से अवगत कराया जाता हैं। लेकिन नगर की स्वास्थ्य सुविधाओं को बढ़ाने का आश्वासन देकर जिम्मेदार मंत्री अधिकारी चलते बनते है। इन जिम्मेदार लोगों के जाने के बाद नगर की स्वास्थ्य सुविधाएं बढ़ाने के लिए दिया गया आवेदन रद्दी की टोकरी में चला जाता हैं। हर बार नगर के लोग इसी आस में सरकार के नुमाइंदों को अपना मांग पत्र सौपते हैं, की नगर में स्वास्थ्य सुविधाओं में बढ़ोतरी हो जाये लेकिन हर बार लोगो को निराशा ही हाथ लगती हैं। बदहाल स्वास्थ्य सुविधाओं के कारण लोगो को अन्यत्र इलाज कराने मजबूर होना पड़ता हैं। सरकारी हॉस्पिटल में न तो ठीक से इलाज मिल पाता हैं और न ही दवाई की व्यवस्था रहती हैं। सरकारी हॉस्पिटल में असुविधा को देखते हुए लोग निजी डॉक्टरों से इलाज कराने विवश हैं। निजी डॉक्टर भी इलाज कराने आये लोगो की मजबूरियों का जम कर फायदा उठाते हैं। सरकारी हॉस्पिटल में सुविधाएं नही होने के कारण गरीब तबके के लोग निजी डॉक्टरों के क्लीनिक में लूटने को मजबूर है। नगर में ब्याप्त स्वास्थ्य सुविधाओं की कमी का सबसे बड़ा कारण जिम्मेदार विभाग का ध्यान नही देना है। हर बार आश्वासन देकर नेता मंत्री चलते बनते है। नगर के सिविल डिस्पेंसरी में आजतक स्वास्थ्य सुविधाओं को बढ़ोतरी के लिए कुछ भी नही किया गया है। नगर व आसपास के लोग शासन प्रशासन की उदासीनता के कारण स्वास्थ्य सुविधाओं की कमी से रोजाना अपने किसी न किसी को खोने को मजबूर है। लोग इलाज के अभाव में अपने परिजनों को खो रहे है और प्रशासनिक अमला मुख दर्शक बने हुए है।

सिविल डिस्पेंसरी हॉस्पिटल में नही है पर्याप्त स्टॉप

नगर में स्वास्थ्य सुविधाओं की पूर्ति के लिए जिस सिविल डिस्पेंसरी हॉस्पिटल संचालन नगर में हो रहा है उस हॉस्पिटल में स्टॉप की कमी है। एक डॉक्टर और कुछ नर्स नगर के लोगो को जैसे तैसे स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध करा रहे है। नगर के हॉस्पिटल में न तो एम्बुलेंस है और न ही स्टॉप, लेबर रूम, बॉउंड्रीवाल का निर्माण नही होने से हॉस्पिटल की भूमि पर लोगो ने अतिक्रमण भी कर लिया है। हर बार शासन प्रशासन से इस ओर ध्यान देने की बात की जाती है लेकिन समस्या जस की तस बनी हुई है।

यदि शिवरीनारायण थाना अंतर्गत आने वाले शहर हो या गांव में किसी की दुर्घटना,फाँसी,जहर खुरानी,करंट से मौत, या अन्य कारणों से मौत हो जाने पर शव का पोस्टमार्टम करने का नियम होता है। नगर में पोस्टमार्टम के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा पोस्टमार्टम के लिए नियुक्ति तो कराया गया है लेकिन उसके द्वारा शव का विच्छेदन करने के एवज में 2 से 3 हजार की राशि की मांग मृतक के परिजनों से की जाती है। मृतक के परिजन किसी न किसी तरह पोस्टमार्टम करने वाले के द्वारा मांगी गई राशि की व्यवस्था करते है। क्योंकि वह जानते है कि राशि की व्यवस्था नही कर पाए तो पोस्टमार्टम नही हो पाएगा और शव पड़ा रहेगा।पोस्टमार्टम कराने के लिए इतनी बड़ी राशि खर्च करने को लोग मजबूर होते रहते है। यदि मृतक के परिवार वाले राशि की व्यवस्था नही कर पाते तो उन्हें पोस्टमार्टम करने वाले द्वारा पैसे के लिए दबाव बनाया जाता है। यह घटना रोजना देखने को मिल ही जाती है। शव पोस्टमार्टम के लिए गरीब परिवार आखिर कब तक लूटते रहेंगे अधिकारी भी नही बता पा रहे है।

बीजापुर जिले में राहत शिविरों में 761 बाढ़ प्रभावितों को दी जा रही हैं सुविधाएं

बीजापुर:-जिले में अनवरत बारिश के कारण बाढ़ आपदा से बचाव एवं राहत के लिए जिला प्रशासन द्वारा समय पूर्व व्यवस्था करने के साथ ही पूरी सतर्कता बरतने के फलस्वरुप बाढ़ आपदा के बचाव सहित राहत कार्य के लिए समुचित पहल की गयी। इसके साथ ही मैदानी अधिकारी-कर्मचारियों को बाढ़ की स्थिति पर सतत् निगरानी रखे जाने सहित सूचना मिलने पर त्वरित सहायता उपलब्ध कराये जाने के निर्देश दिये गये थे। इससे जिले के बाढ़ प्रभावित इलाकों के लोगों को रेस्क्यू करने और उन्हे राहत शिविरों में ठहरने तथा अन्य सुविधाएं मुहैया करायी गई। इस दौरान क्षेत्रीय विधायक एवं उपाध्यक्ष बस्तर विकास प्राधिकरण विक्रम मण्डावी और कमिश्नर बस्तर संभाग अमृत कुमार खलखो ने जिले के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का जायजा लेकर प्रभावितों से रूबरू होकर उन्हे उपलब्ध कराई जा रही सहायता एवं सुविधाओं की जानकारी ली। वहीं अधिकारियों को बचाव एवं राहत सम्बन्धी आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। जिले के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में चिन्हित स्थानों पर स्कूल, आश्रम-छात्रावासों सहित आवासीय विद्यालयों में राहत शिविर स्थापित किये गये थे।

इन राहत शिविरों में ठहरने वाले बाढ़ प्रभावित लोगों के लिए खाद्य सामग्री, लकड़ी, ईमरजेंसी लाइट, जनरेटर, केरोसीन, कम्बल और अन्य व्यवस्था सुनिश्चित की गई थी। इस दिशा में अब तक जिले के 10 राहत शिविरों में 761 बाढ़ प्रभावित लोगों को ठहराने के साथ ही उन्हें आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध करायी जा रही है। इस दौरान कलेक्टर रितेश कुमार अग्रवाल और पुलिस अधीक्षक कमलोचन कश्यप द्वारा बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का लगातार सघन भ्रमण कर बाढ़ की स्थिति का जायजा लेकर बचाव एवं राहत कार्यों के लिए मैदानी अधिकारियों-कर्मचारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। वहीं बाढ़ आपदा से क्षतिग्रस्त सड़क, पुल-पुलिया और विद्युत लाइन का मरम्मत कर आवागमन एवं विद्युत आपूर्ति बहाल किये जाने कहा। इसके साथ ही जिले में बाढ़ आपदा से जनहानि, पशुधन हानि, फसल, मकान क्षति आदि का आंकलन कर प्रभावितों को आर्थिक सहायता उपलब्ध कराये जाने के निर्देश के परिपालन में प्रकरण तैयार कर सम्बन्धित लोगों को सहायता प्रदान करने आवश्यक पहल की जा रही है।

बीजापुर जिले में बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में कोई न रहे भूखा, राशन पहुंचाने जिला पंचायत ने दुकान संचालकों से कहा

बीजापुर:-जिले में हो रही बारिश के चलते जनजीवन अस्तव्यस्त चुका है। इसी बीच ग्राम पंचायत कडेनार के आश्रित ग्राम चेरकँटी में बाढ़ में फंसे लोगों का हाल जानने के लिए बीजापुर जिला पंचायत अध्यक्ष शंकर कुडियम प्रशासनिक अमले के साथ नदी के तट पर पहुंचे। बाढ़ में फंस चुके ग्रामीणों को रेस्क्यू दल ने बाहर निकाला और खाद्य सामग्री उपलब्ध करवाई। साथ ही पामलवाया में स्थित पेद्दाकोरमा,कडेनार क्षेत्र की सोसाइटी का जायजा लिया। जल्द से जल्द ग्रामीणों को राशन उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए।

प्रभारी मंत्री टी एस सिंह देव ने शा.आयुर्वेद औषधालय पवनी के कर्मचारी अनूप गुप्ता को किया सम्मान

मदन खांडेकर

बिलाईगढ़:-बीते दिनों शासकीय आयुर्वेद चिकित्सा अधिकारी डॉ बंजारे का किया सम्मान, साथ ही बलौदाबाजार जिले के प्रभारी मंत्री टी.एस. सिंहदेव ने स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर शासकीय आयुर्वेद औषधालय पवनी कर्मचारी अनूप गुप्ता का सम्मान किया। प्रभारी मन्त्री ने समारोह के मुख्य मंच से जिला प्रशासन की ओर से प्रशस्ति पत्र से सम्मानित करते हुये कर्मचारी गुप्ता को बधाई एवं शुभकामनाएं दी। उल्लेखनीय है कि डॉ गुप्ता ने जिला प्रशासन के नेतृत्व में लड़ी जा रही कोरोना की जंग में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की है। उन्होंने विशेषकर आयुर्वेद काढ़ा के जरिये बिलाईगढ़ क्षेत्र के लोगों की रोग प्रतिरोधक बढ़ाने और इस संबंध में जनजागरूकता लाने अभियान छेड़ा हुआ है।

कर्मचारी अनुप गुप्ता द्वारा क्वारंटाइन सेंटर में मजदूरों को पिलाया गया काढ़ा

बीते दिनों बलौदाबाजार जिला आयुर्वेद अधिकारी के निर्देशन में शासकीय आयुर्वेद औषधालय पवनी के कर्मचारी अनुप गुप्ता द्वारा क्वारंटाइन सेंटर में मजदूरों को पिलाया गया था काढ़ा ,जिसमे रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने पवनी और लुकापारा में रुके श्रमिको को त्रिकुड़ काढ़ा और आयुष 64 टैबलेट वितरण किया गया।

इस कार्यक्रम में कोरोना संकट को लेकर चर्चा करते हुए उन्होंने कोरंटाइन सेंटर में रहने वाले सभी लोगों को आर्सेनिक अल्वा, जिंक और विटामिन सी की टैबलेट देने के साथ-साथ काढ़ा देने का निर्देश दिया है। भारत सरकार के आयुष मंत्रालय ने भी तुलसी, दालचीनी, सूखा अदरख व काली मिर्च के मिक्चर को पानी में उबालकर पीने की सलाह दी है।

वही शासकीय आयुर्वेद औषधालय जिला के कई वरिष्ठ डॉक्टरों ने सम्मान नही मिलने पर खेद व्यक्त करते हुए आरोप लगा दिया है।

आत्मसम्मान को ठेस पहुचे पर ऐसा सम्मान नही चाहिए कर्मचारी गुप्ता

वही शासकीय आयुर्वेद औषधालय पवनी के कर्मचारी अनुप गुप्ता ने उसके ऊपर शिकायत करने वालो को कहा है कि मुझे जातिगत दुर्भावना से ये शिकायकत किया गया है में अपना सम्मान वापस करना चाहता हु मेरे आत्मसम्मान को ठेस पहुचे है ऐसा सम्मान मुझे नही चाहिए। लेकिन शासकीय आयुर्वेद औषधालय पवनी के कर्मचारी अनुप गुप्ता द्वारा बिलाईगढ़ क्षेत्र में अपना विशेष योगदान दिया जाता रहा है चाहे योग शिविर के क्षेत्र में या लोगो काढा पिलाने में कर क्षेत्र में गुप्ता जी योगदान सहरानीय हैं।

बलौदाबाजार जिले में कोरोना के फिर 9 नये मरीज़ों की पहचान

मदन खांडेकर

गिधौरी/बलौदाबाजार-भाटापारा:-जिले में आज फिर कोरोना के 9 नये मरीज़ों की पहचान की गई है। वहीं इलाज़ के बाद ठीक होने पर 12 मरीज़ों को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है।स्वास्थ्य विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार आज मिले प्रकरणों में बलौदाबाजार के गाड़ाडीह सतनामी पारा में 1 प्रकरण, खपराडीह बलौदा बाजार में 1 प्रकरण, बलौदाबाजार शहर के वार्ड पांच में 2 प्रकरण और रवान के वार्ड नम्बर 14 में 1 प्रकरण तथा भाटापारा के बजरंग वार्ड में 1 प्रकरण की पहचान की गई है। कसडोल में मिले 3 प्रकरणों में एक तातिपाली गेट के पास कसडोल, दूसरा संतोषी मन्दिर के पास कसडोल और तीसरा ब्लॉक कॉलोनी के पास कसडोल शामिल हैं। इन्हें मिलाकर जिले में कोरोना से संक्रमित मरीज़ों की संख्या 591 तक पहुंच गई है। इनमें से 484 मरीज़ों का इलाज हो चुका है। शेष 107 मरीज़ों का इलाज चल रहा है।संक्रमित लोगों में से दो की मौत हुई है।

विस अध्यक्ष डॉ चरणदास महंत ने प्रदेशवासियों को दी श्रीगणेश चतुर्थी की बधाई, कोरोना से सावधानी रखने की अपील की

रायपुर:-भाद्रपद मास की शुक्ल पक्ष की चतुर्थी को गणेश चतुर्थी के पर्व पर छत्तीसगढ़ विधानसभा अध्यक्ष डॉ चरणदास महंत ने प्रदेशवासियों को सुख-शांति और समृद्धि के लिये बधाई शुभकामनाएं दी है। डॉ चरणदास महंत ने कहा कि, गणेश चतुर्थी का पर्व भगवान गणेश जी के जन्मोत्सव के रूप में मनाया जाता है। भगवान गणेश जी को बुद्धि, विवेक, धन-धान्य, रिद्धि-सिद्धि का कारक माना जाता है।

उन्होने कहा कि सच्चे मन और विधि पूर्वक भगवान गणेश जी की पूजा करने से जीवन में सुख शांति और समृद्धि आती है। कोई भी शुभ कार्य बिना गणेश जी के पूरा नहीं हो सकता है। इसीलिए सर्वप्रथम भगवान गणेश जी की पूजा और स्तुति की जाती है। गणेश जी को प्रथम देव माना गया है।

डॉ महंत ने कहा कि, गणेश चतुर्थी राष्ट्रीय एकता और सांस्कृतिक संकल्प को स्मरण करने का पुण्य दिवस है। गणेशोत्सव के दौरान कोरोना के संक्रमण को ध्यान में रखते हुए इससे बचाव एवं सावधानी रखने एवं शासन की गाइड लाइन का पूरी तरह से पालन करने की प्रदेश वासियों से अपील की है।

छत्तीसगढ़ सरकार ने सरकारी विज्ञापन में उप्र के किसान को छत्तीसगढ़ का बताकर लगा दी फोटो : सरोज पाण्डेय

रायपुर:-भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रीय महामंत्री व संसद सदस्य (राज्यसभा) डॉ. सरोज पांडेय ने प्रदेश सरकार पर किसान विरोधी होने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि अंबिकापुर में हजारों किसानों के प्रदर्शन के बाद भी वहाँ के किसानों को यूरिया खाद की आपूर्ति की कोई व्यवस्था नहीं बन पाई है और किसान अब भी खाद के लिए परेशान हो रहे हैं। यूरिया खाद की किल्लत के चलते प्रदेश के अमूमन सभी जिलों में यही स्थिति बनी हुई है। प्रदेश सरकार ने राजीव गांधी किसान न्याय योजना और गौ-धन न्याय योजना के अपने सरकारी विज्ञापन में उत्तरप्रदेश के किसान को छत्तीसगढ़ का किसान बताकर उसकी फोटो लगा दी। जाहिर है, यह काम प्रदेश की भूपेश सरकार ही कर सकती है। छत्तीसगढ़ के एक भी किसान को इस प्रदेश सरकार ने इस लायक छोड़ा ही नहीं है कि उसका प्रफुल्लित चेहरा फोटो में आ सके।

उक्त विज्ञापन में दिख रही किसान की फोटो भाजपा शासित राज्य उत्तरप्रदेश में लखनऊ के चिनहट निवासी किसान हरनाम सिंह की है जो इंडिया टुडे के पत्रकार आशीष मिश्रा के साथ मनीष अग्निहोत्री ने खींची थी। अब इससे ज्यादा शर्मनाक उदाहरण इस प्रदेश सरकार के झूठ-फरेब की राजनीति का क्या हो सकता है? पांडेय ने कहा कि सरगुजा के किसान अब भी खाद की अनुपलब्धता के चलते परेशान हो रहे हैं और खाद की दुकानों में किसानों की लंबी कतारें इस बात की तस्दीक कर रही हैं कि प्रदेश सरकार अब भी किसानों की तकलीफ महसूस नहीं कर रही है और हाथ-पर-हाथ धरे बैठी है। परेशान किसानों ने क्षेत्र के दौरे पर जा रहे मंत्री अमरजीत भगत को घेरकर अपनी समस्या के निराकरण की मांग की। किसानों के आक्रोश के आगे विवश मंत्री भगत ने जिलाधीश को दूरभाष पर खाद की आपूर्ति को दुरुस्त करने का निर्देश दिया। लेकिन जमीनी सच अब भी यही है कि किसान खाद के लिए दर-दर भटकने को विवश हो रहे हैं। जिस छत्तीसगढ़ में भाजपा शासन के 15 वर्षों में किसानों को अपनी जरूरतों के लिए सड़क पर नहीं उतरना पड़ा, उस छत्तीसगढ़ के किसान कोरोना काल में भी अगर अपनी खेती-किसानी को बचाने के लिए अपनी जिंदगी दाँव पर लगाकर सड़क पर उतरने के लिए विवश हो गए हैं तो यह प्रदेश की कांग्रेस सरकार के निकम्मेपन का सबसे बड़ा शर्मनाक उदाहरण है।

थाना गिधौरी द्वारा नाबालिग लड़की को शादी की प्रलोभन देकर अनाचार करने वाले आरोपी को गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर भेजा गया

मदन खांडेकर

गिधौरी /टुण्डरा:-थाना गिधौरी अपराध क्रमांक 22 अप्रैल 20 धारा 363 भा. द. वि. के अज्ञात आरोपी के विरोध 27/01/20 को प्रार्थी ग्राम सेमरा निवासी द्वारा रिपोर्ट दर्ज कराया था कि दिनांक 26/01/ 2020 को अज्ञात आरोपी द्वारा इसकी नाबालिक लड़की को बहला-फुसलाकर भगा कर ले गए हैं की रिपोर्ट पर अपराध पंजीबद्ध कर श्रीमान पुलिस अधीक्षक महोदय बलौदा बाजार श्रीमान इंदिरा कल्याण एलेसेला के निर्देशानुसार श्रीमान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक महोदया बलौदा बाजार श्रीमती निवेदिता पाल , श्रीमान एसडीओपी बिलाईगढ़ श्री संजय तिवारी महोदय के कुशल मार्गनिर्देर्शन में थाना प्रभारी ओपी त्रिपाठी द्वारा थाना स्तर पर टीम गठित कर अज्ञात आरोपी एवं नाबालिक लड़की की लगातार सायबर सेल बलौदाबाजार सहयोग से पता तलाश किया जा रहा था मुखबिर से सूचना मिला की ग्राम लोहारसी बोटारी उर्फ सुरेश चौहान द्वारा भगाकर अपने गांव लोहारसी से लखनऊ उत्तर प्रदेश ले गया था जो लॉक डाउन होने से अपने घर ग्राम लोहारसी में आकर छिपे हुए हैं की सूचना पर वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत करा कर वरिष्ठ दिशा निर्देशानुसार आरोपी के सकुनत पर दबिश देकर आरोपी के कब्जे से नाबालिक लड़की को बरामद किया गया है आरोपी का कृत्य धारा 366 376 भा द वि 4, 6 पास्को एक्ट का अपराध घटित कर ना पाए जाने से आरोपी बोटारी उर्फ सुरेश चौहान पिता दशाराम चौहान उम्र 19 साल ग्राम लोहरसी थाना शिवरीनारायण जिला जांजगीर चांपा को दिनांक 20/08/20 को गिरफ्तार कर ज्यूडिशियल रिमांड पर भेजा गया है। सम्पूर्ण कार्यवाही थाना प्रभारी ओ.पी. त्रिपाठी, प्रआर 175 दिलीप टोप्पो आर. 654 कार्तिकेश्वर कश्यप ,आर 351 चन्द्रेश कश्यप, आर 781 प्रफुल्ल काँत रात्रे, मआर 447 रीना बघेल का विशेष योगदान रहा।

नही रहे वर्तमान नगर किसान समिति एवं नगर कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष वरिष्ठ कांग्रेसी नेता सुरेंद्र साहू

मदन खांडेकर

गिधौरी/टुण्डरा:- बड़े दुख की बात है जब प्रदेश के महिलाओं ने आज छत्तीसगढ़ के प्रमुख त्योहार तीजा पर्व पर महिलाओं ने अपने पति के लंबी उम्र के लिए तीजा उपवास रख कर अपने पति की लंबी उम्र के लिए भगवान से मनोकामना कर रहे है । तो इस मौके पर एक परिवार पर दुःखो का पहाड़ टूट पड़ा है। पर कौन जानता है ये सब ऊपर वाले के खेल है, किसकी किस्मत में क्या लिखा है ये कौन जानता है। पर आज टुण्ड्रा के साहू परिवार में जो कुछ भी हुआ बहुत दुखद है इस परिवार में बहुत बड़ी पहाड़ टूट जाने वाले घटना घट गई। क्योंकि वर्तमान नगर किसान समिति के अध्यक्ष एवं वरिष्ठ कांग्रेसी नेता सुरेंद्र साहू हमारे बीच नही रहे। आज बहुत दुख की बात है कि वर्तमान किसान समिति टुण्डरा एवं नगर अध्यक्ष कांग्रेस कमेटी टुण्डरा के अध्यक्ष हमारे बीच नही रहे। सुरेंद्र साहू पूर्व तहसील साहू संघ अध्यक्ष एवं पूर्व विधायक प्रतिनिधि भी रह चुके थे। प्राप्त जानकारी के अनुसार उनके तबीयत पिछले कुछ दिन से खराब था। जिसे बिलासपुर के एक निजी हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया था। जहाँ उनका इलाज चल रहा था । आज अचानक खबर आई कि बिलासपुर के निजी हॉस्पिटल में उनका देहांत हो गया । इस बात की जानकारी जैसे ही नगर के लोगो को हुए इसके बाद एक ऊर्जावान नेता को खोने का जानकारी नगर के लोगो को हुई इसके बाद नगर पंचायत टुण्डरा में पूरा शोक का माहौल दौड़ पड़ी इस बात की जानकारी जैसे ही बिलाईगढ़ विधायक चंद्रदेव को हुई । इस समय जब ओ रायपुर प्रवास पर थे। इसके बाद क्षेत्रीय विधायक ने रायपुर से शाम तक नगर टुण्डरा पहुचकर शोकाकुल परिवार को मिलकर अपना संवेदना प्रकट करते हुए भगवान से मृत आत्मा को शांति प्रदान करने की कामना करते हुए दिवंगत परिवार के लोगो सांत्वना प्रदान की। इस मौके पर नगर पंचायत अध्यक्ष गीताराम पटेल, उपाध्यक्ष प्रतिनिधि वीरेंद्र साहू, हेमंत दुबे पूर्व जिला पंचायत सदस्य । सतीश साहू विधायक प्रतिनिधि, नगर के सभी पार्षद सहित एवं पूरे क्षेत्र के कांग्रेसी नेता व पूरे नगर के लोग इस मौके पर पहुचकर शोकाकुल परिवार को सांत्वना प्रदान करते हुए। मृत आत्मा की शांति के लिए भगवान से प्रार्थना की।

राहुल गांधी को धोखे में रखकर कांग्रेस ने विवादित जमीनों पर कराया राजीव भवन का भूमिपूजन : डॉ.रमन सिंह

रायपुर:-पूर्व मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने छत्तीसगढ़ के विभिन्न जिलों में कांग्रेस कार्यालय राजीव भवन के निर्माण में राहुल गांधी को धोखे रखने का आरोप लगाया है। रमन सिंह ने कहा कि कहीं विवादित तो कहीं अन्य को आवंटित जमीन के लिए भूमिपूजन कराया गया। उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि स्व.राजीव गांधीजी की जयंती पर छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस ने राहुल गांधीजी से सभी जिलों में राजीव भवन निर्माण के लिए भूमिपूजन कराया। लेकिन कवर्धा में जिस जमीन का शिलान्यास कराया वह 2012 में होमगार्ड के भवन के लिए आवंटित थी, उस पर कांग्रेस ने भवन निर्माण के लिए कब्जा कर लिया। कवर्धा, बिलासपुर समेत कई जिलों में कांग्रेस भवन निर्माण के लिए आवंटित जमीन पर विवाद है, बावजूद इसके प्रदेश कांग्रेस ने राहुल गांधी को धोखे पर रखकर राजीव गांधीजी के नाम पर कांग्रेस भवन का भूमि पूजन करा दिया। आज यह सब देखकर स्व.राजीव गांधीजी की आत्मा दु:खी हो रही होगी।

भरतपुर विकासखंड में 3 दिनों में 4 करोड़ 13 लाख के विकास कार्यों की मिली सौगात

कोरिया:-भरतपुर सोनहत विधानसभा क्षेत्र के भरतपुर विकासखंड में 3 दिनों में 4 करोड़ से अधिक विकास कार्यों की सौगात मिली है। वही ग्रामीणों को वन अधिकार पत्र वितरित किया गया है। मिली जानकारी के अनुसार भरतपुर सोनहत विधायक गुलाब कमरों अपने तीन दिवसीय विकास यात्रा पर भरतपुर विकासखंड के प्रवास पर हैं,जहां पर उन्होंने विकास कार्यों के सौगात की झड़ी लगा दी है। विधायक ने तीन दिवसीय विकास यात्रा के दौरान पहले दिन बुधवार को 1 करोड़ 53 लाख के विकास कार्यों का भूमि पूजन और लोकार्पण किया। दूसरे दिन गुरुवार को एक करोड़ 33 लाख के विकास कार्यो का भूमिपूजन और लोकार्पण किया वहीं तीसरे दिन शुक्रवार को डेढ़ करोड़ के अधिक के विकास कार्यों का भूमि पूजन व लोकार्पण कर भरतपुर विकासखंड वासियों को 4 करोड़ से अधिक के विकास कार्यों की सौगात दी है।

साथ ही ग्रामीणों को वन अधिकार पत्र वितरित किया है। गुलाब कमरो ने शुक्रवार को जनकपुर में समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में 5 लाख की लागत का ऑटोमेटिक जनरेटर का लोकार्पण किया। जनकपुर के 2 हितग्राहियों को आपदा प्रबंधन के तहत 1 लाख 45 हजार एवं 55 हजार की राशि का चेक वितरित किया। भरतपुर ग्राम पंचायत में 10 लाख 94 हजार की लागत से बनने वाले गौठान का भूमि पूजन किया। इसके साथ ही ग्राम पंचायत हरई, चरखर, डोगरीटोला, उदकी, देवगढ़ में 20 लाख की लागत से बनने वाले ग्राम पंचायत भवन पीडीएस भवन के निर्माण कार्य का भूमि पूजन किया तथा सिंगरौली ग्राम पंचायत में 10 लाख 94 हजार की लागत से बनने वाले गौठान के निर्माण का भूमि पूजन किया।

रायपुर एम्स में 23 अगस्त तक नहीं होगा कोरोना टेस्ट

रायपुर:-छत्तीसगढ़ रोजाना कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ते जा रहे हैं। इस बीच एम्स रायपुर ने 23 अगस्त तक कोरोना टेस्ट नहीं करने का निर्णय लिया है। एम्स की ओर से बताया गया कि विगत 6 महीने में 98556 लोगों की सैम्पलिंग अब तक की जा चुकी है,जिनमें 3776 पॉजिटिव केस 20 अगस्त तक सामने आए हैं। इसलिए प्रोटोकॉल के हिसाब से परिसर को सैनिटाइज किया जाना है। इस दौरान 21 से 23 अगस्त तक लैब बंद रहेगी। इसके बाद 24 अगस्त से टेस्ट फिर से शुरु हो जाएंगे।

बता दें कि प्रदेश में कोरोना अनियंत्रित रूप से बढ़ता जा रहा है। विगत दिनों 700 से अधिक मरीज प्रतिदिन मिल रहे हैं। वहीं प्रदेश में कोरोना से मौत का आंकड़ा भी 160 को पार कर चुका है। कोरोना मरीजों के बेहतर इलाज और सैम्पलिंग में एम्स रायपुर का महत्वपूर्ण योगदान है इसे ध्यान में रखते हुए यह तीन दिन काफी महत्वपूर्ण रहेंगे।

कांग्रेस नेताओं ने अजय चंद्राकर को भेजा ताजा करेला, खेक्सी, हरी मिर्च,मास्क और साबुन

रायपुर:-राजीव भवन में पत्रकारवार्ता लेकर कांग्रेस नेताओं ने पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर को घेरा है। कांग्रेस प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा है कि,पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर 15 साल सत्ता में रहने के बाद अब विपक्ष में बैठे हैं। वे अपना मानसिक संतुलन खो बैठे हैं और धर्म संस्कृति का अपमान कर रहे हैं। उनकी इम्युनिटी बूस्ट करने और सद्बुद्धि प्रदान करने के लिए ताजा करेला, हरी मिर्च, खेक्सी सब्जी सहित मास्क और लिक्विड साबुन भी कोरोना कोविड महामारी से रक्षा करने के लिए भेजा गया है। कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा है कि, हरी सब्जी और हरी मिर्च खाकर अजय चंद्राकर अब छत्तीसगढ़ संस्कृति और त्यौहारों के विरोध में कोई बयान जारी नहीं करेंगे और ना ही तीज त्यौहारों का अपमान करेंगे। छत्तीसगढ़ कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता एवं सचिव विकास तिवारी ने कहा है कि भारतीय जनता पार्टी की प्रदेश इकाई आपसी गुटबाजी के भयावह संक्रमण काल से गुजर रही है।

15 साल सत्ता सुख भोगने के बाद जब विपक्ष की भूमिका निभाने का समय आया तो भाजपा नेता धर्म संस्कृति और छत्तीसगढ़ी तीज त्यौहारों का अपमान करना शुरू कर दिए हैं। पूर्ववर्ती रमन सरकार के पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर ने तीजा त्यौहार के विधि-विधान पर ट्विटर में प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को तंज कसते हुए, करूं भात की शुभकामनाएं दी। जो इस परंपरा का अपमान करने जैसा है। पत्रकार वार्ता में प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रभारी महामंत्री चंद्रशेखर शुक्ला ने कहा कि,भाजपा का आचरण कदाचित छत्तीसगढ़ी परंपराओं का अपमान करने जैसा है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में प्रदेश आर्थिक उन्नति की ओर बढ़ रहा है और खेती की ओर अग्रसर हो रहा है। पावन पर्व को अपमानित कर अजय चंद्राकर ने अपने मानसिक दिवालियापन का उदाहरण प्रस्तुत किया है। पत्रकार वार्ता के दौरान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष प्रेमचंद जायसी, कांग्रेस प्रवक्ता सुरेंद्र वर्मा, असंगठित प्रकोष्ठ के अध्यक्ष आलोक पांडे व प्रदेश सचिव हरदीप बेनिपाल उपस्थित थे।