राजनीति

पत्रकार खबरीलाल रिपोर्ट (कवर्धा, 31-10-2018) :: शुभ मुहूर्त में मोतीराम चंद्रवंशी ने भरा नामांकन।। साथ मे और कौन ने नामांकन भरा जानने के लिए पढ़ें पूरी खबर।

छत्तीसगढ़ के कवर्धा जिले के पंडरिया विधानसभा क्षेत्र से भाजपा के अधिकृत प्रत्याशी मोतीराम चंद्रवंशी ने आज दोपहर को शुभ मुहूर्त पर कवर्धा कलेक्टोरेट में अपना नामांकन दाखिल किया और उस समय प्रत्याशी मोतीराम चंद्रवंशी के साथ कवर्धा भाजपा जिलाध्यक्ष राम कुमार भट्ट, पूर्व जिला महामंत्री व नान के स्वतंत्र संचालक विनोद बैस, डॉ सियाराम साहू, भगवती चंद्रवंशी, रघु राज साहू, दीपक चौरसिया उपस्थित थे।  आज सुबह मोतीराम चंद्रवंशी अपने निवास में पूजार्चना कर अपने माता-पिता से आशीर्वाद लेकर सीधे भाजपा के जिला कार्यालय पहुंचे जहां से उनका काफिला कवर्धा कलेक्टोरेट हेतु प्रस्थान किया और साथ मे बहु संख्या में उनके समर्थक एवं कार्यकर्ता भी उनके साथ कलेक्टोरेट पहुंचे। रिटर्निंग अफसर जिला पंचायत के सीईओ आईएएस कुंदन कुमार के समक्ष अपना नामांकन दाखिल किया। नामांकन दाखिल पश्चात मीडिया को संबोधित करते हुए उन्होंने सीएम डॉ रमन सिंह, सांसद अभिषेक सिंह, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष धरमलाल कौशिक आदि का आभार माना कि पार्टी ने लगातार दूसरी बार उन पर भरोसा जताते हुए पंडरिया विधानसभा से टिकट दिया।

यहां मेहनत करने वालो को नही बल्कि पैसे वालो की मिलती है टिकट मुरारी मिश्रा

बलौदाबाजार: भाजपा से टिकट नहीं मिलने पर मुरारी मिश्रा ने निर्दलीय चुनाव लड़ने के लिए नामांकन भरा है. नाराज मिश्रा ने भाजपा पर आरोप लगाते हुए कहा कि पार्टी हमेशा हारे हुए व्यक्ति को टिकट देती है. खून-पसीना बहाने वाले कार्यकर्ताओं पर ध्यान नहीं देती.

मुरारी ने पार्टी के ऊपर गुस्सा उतारते हुए कहा कि मैंने पार्टी के लिए लंबे समय से खून पसीना बहाया, लेकिन पार्टी ने उनके ऊपर ध्यान नहीं दिया. उन्होंने पार्टी के पर बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि पार्टी हमेशा पैसे वाले लोगों को ही टिकट देती है.

नामांकन फार्म डालते हुए मिश्रा ने बताया कि पार्टी ने इस बार कई मंत्री और विधायकों के टिकट काटी है. वहीं उन्होंने बताया कि भाटापारा में मनमाना राज चला रहे है. इसके बावजूद पार्टी काम करने वाले कार्यकर्ताओं को टिकट नहीं देती है, जिससे सभी कार्यकर्ता, गरीब और गांव की जनता नाराज है.

क्षेत्र में एक ही परिवार का चल रहा राज उन्होंने बताया कि लंबे समय से क्षेत्र में एक ही परिवार का राज चल रहा है. इस बार पार्टी ने जिन प्रत्याशी को टिकट दिया है. उसके बाद तो भाटापारा से भाजपा की हार निश्चित है. मिश्रा ने कहा कि मैंने नामांकन फार्म डाला है. स्वतंत्र प्रत्याशी के रूप में लोगों ने मुझे चुना है, जनता का दबाव और जनता का समर्थन मेरे साथ है.

बता दें कि भाटापारा से भाजपा ने शिवरतन शर्मा को प्रत्याशी बनाया है. शिवरतन शर्मा 2013 में विधानसभा चुनाव जीत चुके हैं. इससे पहले वे दो विधानसभा चुनाव हार चुके हैं. पार्टी ने चौथी बार उन्हें फिर से भाटापारा से टिकट दी है, जिससे पार्टी के लिए लगातार कार्य करने वाले कार्यकता पार्टी से नाराज हैं.

क्या हुआ तेरा वादा ...पैराशूट लैंडिंग ...ये क्या साहब आपने ने तो अपनो को ठगा

रायपुर:- इन दिनों चंद्रपुर विधानसभा के टिकट के दावेदार कांग्रेसी नेताओं के लिए यह वाक्य फिट बैठता है वह वाक्य क्या है एक बार आप भी जरूर पढ़ें हमें तो अपनों ने लूटा गैरों में कहां दम था हमें अपनो ने लूटा गैरों में कहां दम था जहां हमारी किश्ती डूबी थी वहां पानी कम था क्योंकि राष्ट्रीय पार्टी कहे जाने वाले कांग्रेस जिसके राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी खुद ही कहते हैं कि कहीं पर भी पैराशूट लैंडिंग नहीं चलेगी लेकिन चंद्रपुर विधानसभा में रामकुमार यादव को पैराशूट लैंडिंग प्रत्याशी होने के बाद पुराने कार्यकर्ता अब बगावत के मूड में आने लगे हैं ।-यह राजनीति भी क्या चीज है यहां वादे तो लाख किए जाते हैं लेकिन उन वादों पर कोई नहीं खरा उतर पाते दुख तो तब और लगता है जब अपने ही बेगाने हो जाते हैं एक और जहां राष्ट्रीय पार्टी कहे जाने वाले कांग्रेस जिस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी खुद ही कहते हैं कि कहीं पर भी पैराशूट लैंडिंग नहीं चलेगी जब यह बात राहुल गांधी खुद मंच से कहते हैं तो कार्यकर्ताओं में जोश आ कर अपने क्षेत्र में वो काम करना शुरू कर दिए उन्हें यह आशा था कि पार्टी से उन्हें टिकट दिया जाएगा और वह विधानसभा के लिए चुनाव लड़ेंगे इसी आशा विश्वास के साथ जांजगीर-चांपा जिले के चंद्रपुर विधानसभा के कई कांग्रेसी दिग्गज नेता इसी आशा में चुनाव की तैयारी में जुट गए कि उन्हें इस बार टिकट मिलेगी और वह चुनावी मैदान में उतरेंगे इसी कड़ी में पूर्व मंत्री रहे और भवानी लाल वर्मा के सुपुत्र नोवेल कुमार वर्मा उनकी धर्मपत्नी सुमन वर्मा और युवा नेता नितेश वर्मा वहीं लंबे समय से कांग्रेस में जुड़े यशवंत चंद्रा दुर्गेश जायसवाल और सारंगढ़ राज परिवार से कुलिसा मिश्रा चंद्रपुर विधानसभा में इसी उम्मीद से तैयारी में जुट गए कि उनमें से किसी एक को टिकट मिलेगी क्योंकि पिछले 10 वर्षों से कांग्रेसी यहां अपनी जमीन तलाश रही है लेकिन चुनाव से महज एक माह पहले पूर्व में रहे बसपा प्रत्याशी रामकुमार यादव का अचानक कांग्रेस प्रवेश जिसके बाद चंद्रपुर विधानसभा से कांग्रेस प्रत्याशी पार्टी हाईकमान से कर दिया जाना जिससे सभी वरिष्ठ नेताओं के मंसूबे पर पानी फिर गया एक और जहां कांग्रेस पार्टी पैराशूट लैंडिंग नहीं होने की बात कह रही है और वही टिकट के लिए सिस्टम बनाया गया था जिसमें सभी दावेदारों से आवेदन मंगा कर उस में से किसी एक को चुनना था लेकिन यहां यह सब नियम कानून कहां लागू होगा क्योंकि राहुल बाबा ने तो राम कुमार यादव को पैराशूट लैंडिंग करा ही दिया अब बाकी नेता करे तो करे क्या फिर भी कोशिश करके रायपुर मुख्यालय पहुंचे जहां कांग्रेस भवन के सामने धरना प्रदर्शन किए और मांग की है कि चंद्रपुर विधानसभा में पैराशूट लैंडिंग ना कराकर पार्टी के पुराने नेताओं को टिकट दिया जाए लेकिन दिग्गज नेताओं की एक भी ना चली सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार चंद्रपुर विधानसभा के कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कार्यकर्ता रायपुर कांग्रेस भवन के बाहर खड़े रहे अपना विरोध प्रदर्शन करते रहे लेकिन कांग्रेस कार्यालय से कोई एक बाहर निकल कर उनकी पूछ परख करने के लिए नहीं आया वहीं टिकट के आस लगाए कांग्रेसी नेता मायूस होकर वहां से लौट आए इससे आप अंदाजा लगा सकते हैं कि चंद्रपुर विधानसभा में कांग्रेस की क्या स्थिति होगी क्योकि जहां सभी पदाधिकारियों और उम्मीद लगाए बैठे नेताओं को दरकिनार कर कांग्रेसमें पैराशूट लैंड हुए नए मेहमान को अगर टिकट दे दिया जाए तो जो पिछले 5 साल से चुनाव की तैयारी कर रहे हैं सीएम कार्यक्रम में काले झंडे दिखाए या फिर सरकार को विरोध प्रदर्शन के दौरान खाए हुए डंडे और पार्टी के लिए तन मन धन से समर्पित नेता आखिर करे तो करे क्या स्वभाविक सी बात है इस दौरान अंदर ही अंदर उनका विरोध जरूर होगा और यही कारण है कि चंद्रपुर विधानसभा में कांग्रेस पिछले 10 सालों से अपनी जमीन तलाश रही है । वह सुनने में यह भी आ रहा है कि पार्टी आलाकमान का कहना है कि चंद्रपुर विधानसभा में कोई ऐसे दमदार नेता नहीं है जो चंद्रपुर विधानसभा में चुनाव जीत सके इसीलिए पार्टी में राम कुमार यादव को लाया गया है और वर्तमान में विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस के प्रत्याशी के रूप में पार्टी नेताओं भी खेला लेकिन समस्त यह पर है कि एक तरफ कांग्रेस के पुराने दिग्गज नेता व टिकट के दावेदार तो दूसरी तरफ 15 दिन पहले कांग्रेस में प्रवेश और वर्तमान कांग्रेस प्रत्याशी रामकुमार यादव ऐसे में कांग्रेस की क्या स्थिति होगी आप खुद ही समझ सकते हैं।

आदर्श आचार संहिता उलंघन के मामले में BJP प्रत्याशी संयोगिता सिंह जूदेव को नोटिस जारी

जांजगीर चांपा: छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव को लेकर निर्वाचन आयोग काफी सजग और सक्रिय है. इसी कड़ी में सोशल मीडिया में पोस्ट के संबंध में प्राप्त शिकायत के आधार पर जिला निर्वाचन अधिकारी नीरज कुमार बनसोड़ ने बीजेपी की संयोगिता सिंह जूदेव को नोटिस जारी किया है.आचार संहिता लगने के बाद सोशल मीडिया में इसका उल्लंघन का यह पांचवा मामला सामने आया है. बता दें कि संयोगिता सिंह जूदेव चंद्रपुर विधानसभा से बीजेपी प्रत्याशी हैं. संयोगिता को निर्वाचन के नियमों का उल्लंघन करने और सोशल मीडिया में पोस्ट को लेकर नोटिस जारी किया गया है.27 अक्टूबर तक का मिला समय निर्वाचन आयोग ने संयोगिता को 27 अक्टूबर तक अपना पक्ष रखने का वक्त दिया है. इससे पहले भी कांकेर में मीडिया प्रमाणन और निगरानी समिति से बिना इजाजत के प्री- सर्टिफिकेशन और सोशल मीडिया में प्रचार-प्रसार करने के कारण कलेक्टर और जिला निर्वाचन अधिकारी रानू साहू ने दो प्रत्याशियों को कारण बताओ नोटिस जारी किया है.

पत्रकार खबरीलाल रिपोर्ट ::- वीरेंद्रनगर के कार्यकर्ताओं ने मोतीराम को दी शुभकामनाएं ।।

छत्तीसगढ़ भाजपा द्वारा कवर्धा के पंडरिया विधानसभा क्षेत्र से मोतीराम चंद्रवंशी को छग विधानसभा चुनाव 2018 हेतु टिकट प्रदाय किये जाने पर आज उनके निवास पर पंडरिया क्षेत्र के गांव वीरेंद्रनगर से रोहित पटेल, चंद्रशेखर साहू, लाला साहू, नानुक लाल पटेल, दासी राम पटेल, लखन पटेल, समलु पटेल, रामसत ठाकुर, तिलक ठाकुर, संजय कौंशल, आजु साहू व आदि कार्यकर्तागण एवं सैंकड़ों की संख्या में समर्थकों ने मोतीराम से भेंट कर उन्हें मालाओं से लाद दिया और आगामी चुनाव हेतु प्रत्येके ने उनसे गले मिलकर बधाई के साथ साथ शुभकामनाएं भी दिए। आज अल सुबह से पंडरिया विधानसभा के विभिन्न क्षेत्रों से लोगों का मोतीराम से मिलने हेतु तांता लगा हुआ था तथा मोतीराम ने सभी से मिले और उनके द्वारा प्रेषित शुभकामनाओं हेतु उनका आभार माना और धन्यवाद ज्ञापित किये।

पत्रकार खबरीलाल रिपोर्ट ::- कुंडा के कार्यकर्ताओं ने मोतीराम को दी बधाई ।।

छत्तीसगढ़ भाजपा द्वारा कवर्धा के पंडरिया विधानसभा से मोतीराम चंद्रवंशी को छग विधानसभा चुनाव 2018 हेतु टिकट दिए जाने पर आज उनके निवास पर गांव कुंडा से राजेन्द्र खनूजा, ध्वजाराम चंद्राकर, उमेश चंद्राकर, ललित चंद्राकर, भागवत चंद्राकर, अनुज चंद्राकर, अमरनाथ चंद्राकर, बाबूलाल रजक व आदि कार्यकर्तागण व समर्थकों ने मोतीराम से मिले और उन्हें माला पहनाकर , गले मिलकर शुभकामनाएं दिए और उनका मुँह मीठा कराया।

छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार बनते ही 10 दिनों में होगा किसानों का कर्जा माफ : राहुल

रायपुर (वीएनएस)। किसान की सभा को संबोधित करने रायपुर पहुंचे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि मैं झूठे वायदे नहीं करता, चाहे कुछ भी हो जाए छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार बनने के 10 दिनों में किसानों का कर्जा माफ होगा। ये तोहफा नहीं हक है किसानों का। यूपीए ने किसानों का 70 हजार करोड़ रुपए माफ किया। जो वायदा पंजाब और कर्नाटक चुनाव में किया था उसे पूरा किया। सुबह 4 बजे जाओ हिन्दुस्तान का किसान खेत में नजर आता है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने प्रधानमंत्री बनने के पहले कहा था कि हिन्दुस्तान सो रहा है। ये किसका अपमान कर रहे युवाओं का, जनता का या फिर किसानों का।

राहुल गांधी ने कहा हर जगह, हर समय बीज हो, खाद हो, बिजली हो चाहे फसल बेचने की बात हो किसानों को लगेगा ये कांग्रेस की सरकार हमारे साथ खड़ी है। हर जिले में फूड़ प्रोसेसिंग प्लांट कांग्रेस की सरकार लगाएगी। किसानों के बच्चो, गांव के युवाओं को यहां रोजगार मिलेगा। किसान अपनी फसल को सस्ते दाम में नहीं बेचेंगे बल्कि वे फूड प्रोसेसिंग प्लांट में हिन्दुस्तान के किसान बनकर सही दाम लेंगे। आज बीस रुपए पैकेट में बिकने वाले चिप्स में भी मैं चाहता हूं इसमें भी किसानों को थोड़ा पैसा मिले।किसानों के साथ हर कदम में कांग्रेस की सरकार खड़ी रहेगी।
राहुल ने कहा छत्तीसगढ़ में स्वास्थ्य और शिक्षा के क्षेत्र कांग्रेस की सरकार छत्तीसगढ़ का पैसा डालेगी। कम पैसों में किसानों के बच्चे भी उच्च शिक्षा हासिल कर सकेंगे तो वही किसानों को मंहगे उपचार के लिए सोचना नहीं पड़ेगा। यहां किसानों और आदिवासियों की जमीन नहीं छिनी जाएगी। यदि लेना भी हो तो पूछ कर सही दाम में लिया जाएगा।
राहुल ने कहा कि छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस किसी पैराशूट लैंडिंग को उम्मीदवार नहीं बनाएगी। यहां टिकिट ऐसे को ही मिलेगी जिसने कार्यकर्ता की रक्षा की हो, जिसे कार्यकर्ता चाहते हों और जो सबको साथ लेकर चलता हो। जो कार्यकर्ता बूथ से लेकर ऊपर तक काम करते हुए आया है उसे ही उम्मीदवार बनाया जाएगा। साथ ही जिन्होंने पार्टी के लिए लाठी खाई हो उसे मिलेगा टिकिट।
राहुल ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र पर भी जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी टीवी पर एक महिला से आमदनी दोगुनी होने की बात पूछते हैं। महिला हां कहती है। बाद में पता चलता है कि उस महिला की आमदनी दोगुनी हुई ही नहीं है। इसका खुलासा एक पत्रकार ने किया लेकिन उसे नौकरी से हाथ धोना पड़ा। राहुल ने कहा कि पत्रकार सेना से कम नहीं है। सेना बार्डर पर देश की रक्षा कर रही है और पत्रकार का काम सच्चाई के साथ खड़े होने और देश के भीतर रक्षा करना है।
 राहुल ने कहा कि छत्तीसगढ़ गरीब प्रदेश नहीं। आपके पास पैसे की कोई कमी नहीं, मगर आपसे पैसा छीना जाता है। बड़े-बड़े उद्योगपति आपका धन आपसे छिनने में लगे हैं। ठीक ऐसे ही मेहुल चौकसी ने जो किया लेकिन कुछ नहीं हुआ।
 
राहुल ने कहा कि यूपीए सरकार के समय फ्रांस से राफेल खरीदने का सौदा हुआ था। जिसमें विमान देश के भीतर एचएएल में बनने थे लेकिन नरेन्द्र मोदी प्रधानमंत्री बनते ही अनिल अंबानी के साथ फ्रांस जाते हैं। 532 करोड़ का हवाई जहाज हिन्दुस्तान का चौकीदार 1600 करोड़ में खरीदता है। राहुल ने कहा कि अनिल अंबानी ने जीवन में कभी जहाज नहीं बनाया। अंबानी ने 45 हजार करोड़ का कर्जा बैंक से लिया है। हमें फ्रांस की विमान बनाने वाली कंपनी ने बताया कि प्रधानमंत्री ने कहा कि अगर राफेल का कान्ट्रेक्ट चाहिए तो अनिल अंबानी को देना पड़ेगा। मैंने संसद में प्रधानमंत्री से पूछा भी था कि राफेल को हिन्दुस्तान से छीनकर अनिल अंबानी को कान्ट्रेक्ट क्यों दिया गया? हिन्दुस्तान से रोजगार क्यों छीना ? लेकिन प्रधानमंत्री कभी इधर देखे, कभी उधर आंख से आंख तक नहीं मिलाए। राहुल ने ललित मोदी, विजय माल्या को लेकर भी भाजपा सरकार को घेरा। राहुल ने पनामा मामले का भी जिक्र किया। राहुल ने कहा कि इस मामले में अभिषेक सिंह का नाम आने पर भी छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने जांच क्यो नहीं करवाई।

संयोगिता को चन्द्रपुर से टिकट मिलने पर भाजपाइयों में उत्साह , जीत का परचम लहराने भाजपा तैयार ...

मालखरौदा। भारतीय जनता पार्टी द्वारा टिकट ऐलान के बाद चंद्रपुर विधानसभा में श्रीमती संयोगिता युद्धवीर सिंह जूदेव को भारतीय जनता पार्टी द्वारा प्रत्याशी बनाए जाने पर जश्न का माहौल है । चंद्रपुर विधानसभा के भाजपा कार्यकर्ताओं में पुनः 2009 व 2013 विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी चंद्रपुर विधानसभा से विजई हुई है । इसी जोश के साथ पुनः इस बार बीजेपी जीत का परचम लहराने मैदान में उतरी है चंद्रपुर विधानसभा के वर्तमान विधायक युद्धवीर सिंह जूदेव की धर्मपत्नी श्रीमती संयोगिता युद्धवीर सिंह जूदेव को इस बार पार्टी ने मैदान में उतारा है लिहाजा देखा जाए तो चंद्रपुर विधानसभा छत्तीसगढ़ में राजनीतिक गतिविधियों में हमेशा अग्रणी रहा है इसी बीच भारतीय जनता पार्टी द्वारा जूदेव परिवार को मैदान में उतारने पर भाजपा के कार्यकर्ताओं में जश्न का माहौल है इस संबंध में भाजपा प्रत्याशी श्रीमती जूदेव ने जनता पार्टी को धन्यवाद ज्ञापित किया क्योंकि उन्हें चंद्रपुर विधानसभा सीट में बीजेपी के प्रत्याशी के रूप में चुना है , साथ ही वे इन 10 वर्षों में हुए युद्धवीर सिंह जूदेव विधायक के कार्यकाल और छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा किए गए विकास कार्यों की न्यू पर चंद्रपुर में पुनः भारतीय जनता पार्टी की सरकार भारी बहुमत से जीत हासिल करेगी सीट फाइनल होने के बाद बीजेपी कार्यकर्ताओं में नया उमंग व जोश देखने को मिला वहीं जय जूदेव का नारा लगाने लगे । 2008 के विधानसभा चुनाव में युद्धवीर सिंह जूदेव को 48843 वोट मिले थे वहीं कांग्रेस दूसरे स्थान पर और बसपा तीसरे स्थान पर रही तथा 2013 के चुनाव में युद्धवीर सिंह को 51995 वोट मिले थे वहीं बसपा दूसरे स्थान पर और कांग्रेस तीसरे स्थान पर रही इसी तर्ज पर भारतीय जनता पार्टी के चंद्रपुर विधानसभा के प्रत्याशी श्रीमती संयोगिता युद्धवीर सिंह जूदेव और उनके समर्थकों ने भारी बहुमतों से जीत हासिल करने की बात कही है इस संबंध में वर्तमान विधायक युद्धवीर सिंह जूदेव ने कहां है कि हमारे ही समर्थन से बने कुछ चंद्रपुर विधानसभा के नेता उनके विरोध में अडिग हैं साथ ही अन्य पार्टी के नेता भी इस बार चंद्रपुर विधानसभा में विरोध करेंगे जिसका फायदा संयोगिता जूदेव को होगा हमें सामाजिक स्तर पर विभिन्न समाजों से भी पूर्ण बहुमत मिलने के आसार नजर आ रहे हैं अंतरा इस बार चंद्रपुर विधानसभा में बीजेपी का परचम लहराएगा

छत्तीसगढ़ जीतने जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के स्टार प्रचारक तैयारः विधान

रायपुर(वीएनएस)। जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के स्टार प्रचारक छत्तीसगढ़ को जीतने के लिए तैयार है, 12 नवंबर व 20 नवंबर को होने वाले विधानसभा चुनाव में महागठबंधन के प्रत्याशियों के पक्ष में जबरदस्त माहौल बनाने और उन्हें जिताकर छत्तीसगढ़ विधानसभा भेजने के लिए चरणबद्ध तरीके से स्टार प्रचारकों को जिम्मेदारी दी गई है। जोगी कांग्रेस प्रदेश चुनाव प्रचार अभियान समिति के अध्यक्ष व पूर्व मंत्री विधान मिश्रा की अध्यक्षता में आज स्टार प्रचारकों की आवश्यक बैठक कटोरा तालाब स्थित पार्टी कार्यालय में सम्पन्न हुई जहां पर विधान मिश्रा ने प्रदेश भर से आए स्टार प्रचारकों को चरण बद्ध तरीके से जिम्मेदारी दी और समय-समय पर पार्टी कार्यालय रिर्पोट सौंपने का निर्देश दिया हैं। इस दौरान विधान मिश्रा ने कहा वैसे तो छत्तीसगढ़ राज्य के सर्वाधिक जनाधारी और जनप्रिय नेता अजीत जोगी ही हमारे पार्टी के मुख्य स्टार प्रचारक हैं जो कि राज्य के 90 विधानसभाओ में दस्तक देकर महागठबंधन के प्रत्याशियों के लिए माहौल बनाएंगें और छत्तीसगढ़ को जीतकर जनता राज लाएंगे। वहीं मारवाही विधायक प्रखर वक्ता अमित जोगी, गुंडरदेही विधायक तेज तर्रार नेता आर. के. राॅय जो छत्तीसगढ़ विधानसभा में शानदार प्रर्दशन करते रहे हैं, चुनाव के मैदान में दहाड़ेंगे, महिला सशक्तिकरण की पहचान बन चुकी ऋचा जोगी भी चुनावी सभाओं का संबोधित करेंगी इसके अतिरिक्त पार्टी के नवनियुक्त स्टार प्रचारक भी प्रत्याशियों को जीताने के लिए बड़ी भूमिका निभाएंगे। स्टार प्रचारकों की प्रथम बैठक में पार्टी सुप्रीमो अजीत जोगी की अनुशंसा पर प्रदेश चुनाव प्रचार अभियान समिति के अध्यक्ष विधान मिश्रा ने जनता कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता भगवानू नायक व दुर्ग जिले के वरिष्ठ नेता भगत सोनी को भी स्टार प्रचारक नियुक्ति किया।

बैठक में प्रमुख रूप से विधान मिश्रा, विधायक आर.के.राय, इकबाल अहमद रिजवी, डाॅ.हरिदास भारद्वाज, गजराज पगारिया, प्रकाश देशलहरा, अशोक शर्मा, नितिन भंसाली, सूरज निर्मलकर, दानिश रफीक, इरफान सिद्धीकी, शहजादी कुरैशी, भगवानू नायक, भगत सोनी टिकेश प्रताप सिंह, प्रदीप साहू, भोजराम डड़सेना, मनोज मिश्रा, मेघनाथ यादव, नोमान अकरम, मनोज मिश्रा, आदि स्टार प्रचारक उपस्थित थे।

अजित जोगी का बड़ा फैसला मरवाही से लड़ेंगे चुनाव

रायपुर- अजीत के चुनाव लड़ने नही लड़ने की कयास पर लगा विराम और आज अजित जोगी का बड़ा फैसला मरवाही से लड़ेंगे चुनाव... पार्टी प्रवक्ता ने की पुष्टि... बस्तर में हैं इस वक़्त अजित जोगी...

बस्तर विधानसभा से भाजपा प्रत्याशी शुभाऊ कश्यप होंगे

दिल्ली /रायपुर:-बस्तर विधानसभा से भाजपा प्रत्याशी शुभाऊ कश्यप होंगे इन्हें मिलाकर पहले चरण की 18 सीट पर भाजपा प्रत्याशी तय ।

क्या है अकलतरा विधानसभा के हाल देखे विधानसभा परिक्रमा में

जांजगीर चाम्पा(अकलतरा):- अकलतरा विधानसभा जांजगीर चांपा जिले में आती है यह विधानसभा भी कृषि प्रधान है यहां के लोग भी कृषि पर निर्भर है।यहां 1 नगर पालिका और 1 नगर पंचायत 2 ब्लाक और 124 गाँव इस विधानसभा में शामिल हैं वर्तमान में यहां कांग्रेस विधायक चुन्नीलाल साहू है । लेकिन इस विधानसभा चुनाव में कांग्रेश के लिए या विधानसभा जीतना आसान नहीं है क्योंकि यहां भाजपा और बसपा जोगी कांग्रेस गठबंधन के कारण यहां की सियासी समीकरण अब बदल सी गई है यहां बसपा से पूर्व मुख्यमंत्री अजीत सिंह जोगी की बहू रिचा जोगी यहां से बसपा से चुनाव लड़ेंगे तो स्वाभाविक सी बात है कि इस विधानसभा में चुनाव रोमांचक होगा वहीं। यहां की समस्याओं के बारे में बात की जाए तो ओडीएफ होने के बाद भी यहां के कई ग्राम पंचायत ऐसे हैं जिनको अब तक शौचालय की प्रोत्साहन राशि नहीं मिली बिजली, पानी, शिक्षा ,चिकित्सा और जर्जर सड़क इन सभी की समस्या बनी है वहीं अकलतरा के ओवर ब्रिज के हालात बद से बदतर है।

वोटरों के आंकड़े

पोलिंग बूथ 233

कुल मतदाता 1 लाख 98 हजार 426

पुरुष मतदाता 1 लाख 2 हजार 447

महिला मतदाता 95 हजार 979

क्या है यहां के इतिहास

यहां 1993 और 1998 में छत राम देवांगन बीजेपी के विधायक चुने गए तो वहीं 2003 में कांग्रेस के रामाधार कश्यप ने बीजेपी के छतराम देवांगन को शिकस्त दी थी लेकिन रामाधार कश्यप के राज्यसभा में जाने से 2004 में फिर से उपचुनाव हुए जिसमें बीजेपी ने दर्ज जीत की 2008 में बीएसपी के सौरभ सिंह विधायक चुने गए फिर 2013 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के चुन्नीलाल साहू ने बीजेपी के दिनेश सिंह को हराकर यह विधानसभा सीट कांग्रेस की झोली में डाल दी।

पिछले चुनाव के आंकड़े

2003 के परिमाण

रामाधार कश्यप कांग्रेस को 37368 वोट मिले

छतराम देवांगन बीजेपी को 35938 वोट मिले

2004 by poll उपचुनाव में

छतराम देवांगन बीजेपी को 39859 वोट मिले

डॉ राकेश कुमार सिंह कांग्रेस 29187 वोट

2008 के चुनाव परिणाम

सौरभ सिंह BSP को 37393 वोट

चुन्नी लाल साहू कांग्रेस को 34505

2013 के चुनावी परिणाम

चुन्नी लाल साहू कांग्रेस 69355

दिनेश सिंह BJP को 47662 मिले

अब आने वाला वक्त ही बताएगा की पार्टी किसे टिकट देगी और जनता किसे विधायक के रूप में चुनेगी।

अकलतरा से ऋचा जोगी तो चंद्रपुर से गीतांजली पटेल होगी BSP की प्रत्याशी BSP ने की दूसरी लिस्ट जारी देखे पूरी लिस्ट

रायपुर : बहुजन समाज पार्टी ने शुक्रवार देर रात विधानसभा चुनाव के प्रत्याशियों की दूसरी सूची जारी कर दी है. इस लिस्ट में जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) से बसपा में शामिल हुईं अजीत जोगी की बहू ऋचा जोगी को अकलतरा से टिकट दिया गया है. जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ जोगी से बसपा में शामिल हुईं गीतांजली पटेल को चंद्रपुर से बसपा प्रत्याशी बनाया गया है. साथ ही बसपा ने जैजैपुर से अपने एक मात्र विधायक केशव प्रसाद चंद्रा पर दोबारा विश्वास जताते हुए टिकट दिया है.

इन प्रत्याशियों को बसपा ने दिया टिकट

नवागढ़ - ओमप्रकाश बाचपेयी

जैजैपुर - केशव प्रसाद चंद्रा

बिलाईगढ़ - श्याम टंडन

कसडोल - रामेश्वर कैवर्त्य (निषाद)

सारंगढ़ - अरविंद खटकर

अकलतरा - ऋचा जोगी

चंद्रपुर - गीतांजली पटेल

कुरुद - कन्हैया लाल साहू

रायपुर पश्चिम - भोजराम

गौरखेडेसब पंडरिया - चैतराम राज

सरायपाली - छबिलाल रात्रे

भिलाई नगर - दीनानाथ प्रसाद

खंडित आरक्षण होगा समाप्त ; जोगी

रायपुर  जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के सुप्रीमो एवं पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने कहा है कि हमारी सरकार छत्तीसगढ़ में बनाने के लिए जनता कमर कस रही है और हमें जनता पर भरोसा है कि हमारी सरकार अवश्य बनेगी और मायावती केन्द्र में प्रधानमंत्री बनकर सत्ता में बैठेगी। जनता ने निर्णय ले लिया है कि छत्तीसगढ़ की जनता अब समझने लग गयी है कि सामाजिक सोच रखने वाले कौन नेता है। जोगी ने कहा है कि छत्तीसगढ़ में आरक्षण के हकदार समाज आरक्षण से वंचित नही रहेगा और हम खंडित आरक्षण को समाप्त करेगें। भाजपा और कांग्रेस घोर आरक्षण विरोधी है और जनता के साथ मजाक किया है। कई समाज ऐसे है जिनका खंडित आरक्षण के कारण यथा उचित विकास नही हो पाया है। जिसमे धोबी समाज जो कई राज्यों में अनुसूचित जाति में आते है और उत्तरप्रदेश में 12 विधायक है जबकि यही समाज छत्तीसगढ़ में अन्य पिछड़ा वर्ग है जिनका एक भी विधायक नही है। इसी प्रकार से ढीमर, केवट, मांझी, पनिका, गढ़रिया, पाल, धनगर, मानिकपुरी, यादव, देवांगन, बुनकर, नमोशुद्र आदि ऐसे अनेक जातियां है जो खंडित आरक्षण को समाप्त करने के लिए केन्द्र व राज्य सरकार की दरवाजा खटखटा चुके है और संघर्ष कर रहे है। 
जोगी ने जोर देकर कहा हमने अपने अल्प कार्यकाल में केन्द्र सरकार को प्रस्ताव भेजा था परन्तु केन्द्र में भाजपा की सरकार बैठी थी। जो 18 बिन्दु की जानकारी मांगकर इस महत्वपूर्ण प्रस्ताव को खटाई में डाल दी, फिर भी हमने 18 बिन्दु की जानकारी भेजने के लिए सभी जिला कलेक्टरो को निर्देशित किया था। परन्तु राज्य में सत्ता परिवर्तन हुआ और जैसे ही भाजपा सत्ता में आयी सर्वे का कार्य रोक दिया गया, और आज भी यह पवनी, पसारी वाली मेहनतकश समाज खंडित आरक्षण से जूझ रहे है। उक्त बाते पिछड़ा वर्ग नेता व पार्टी महासचिव सूरज निर्मलकर की प्रेरणा में आयोजित अति पिछड़ा वर्ग के प्रादेशिक बैठक में पार्टी प्रवेश करने वाले पिछड़ा वर्ग नेताओ को आश्वस्त करते हुए जोगी ने पार्टी कार्यालय में कही। बैठक की अध्यक्षता करते हुए अति पिछड़ा वर्ग विभाग के प्रभारी सूरज निर्मलकर ने पार्टी प्रवेश करने वालो को बधाई देते हुये कहा भाजपा-कांग्रेस घमंडी नेताओ का जमावड़ा हो गया है और छत्तीसगढ़ में काफी लंबे समय से इन दोनो पार्टी की विकल्प की तलाश उपेक्षित समाज के लोगो को थी जो जोगी जी पूरा कर रहे है और हम सब को नागर जोतता किसान बन जाना है। पार्टी प्रवेश करने वालो मे प्रमुख रूप से जनपद सदस्य भानूप्रिय बाघ, रोहित वर्मा, संतोष कन्नौजे, एस.राम देवागन, मोहित कुमार तरार, शकुन्तला हिरवानी, पुनित राम निषाद, शीतल दास मानिकपुरी, कुंजराम पाल, संतोष धनगर, आशिष ओझा, बुलउवा राम निर्मलकर, मेहतरू पाल, सोनउ यादव आदि अनेक सैकड़ो भाजपा-कांग्रेस कार्यकर्ता व किसान नेता शामिल हुये। 

 

यहां के BJP विधायक मीडिया प्रभारी नहीं जानते कि रमन सिंह कौन है और अभिषेक सिंह कौन है

जांजगीर चाम्पा:- एक ओर भाजपा जहां अपनी प्रत्याशियों के चयन को लेकर माथापच्ची करने में जुटी हुई है के उनके प्रत्याशी चयन में कोई गड़बड़ी ना हो जिसके लिए जिला स्तर मंडल स्तर के पदाधिकारियों से प्रत्याशी चयन के लिए मतदान कराया गया ताकि बेहतर प्रत्याशी उन्हें मिल सके इसी कड़ी में जांजगीर चांपा जिले में भी प्रत्याशी चयन के लिए मतदान 14 अक्टूबर को जिला मुख्यालय के भारतीय जनता पार्टी के कार्यालय में किया गया जिसमें जिले के विधानसभा क्षेत्रों के लिए प्रत्याशी चयन करने हुए मतदान में करीब साढ़े चार सौ अपेक्षित मतदाताओं में से 400 से अधिक ने मतदान मे भाग लिया।रविवार को जिला भाजपा कार्यालय में विधानसभा के प्रत्याशियों के चयन को लेकर तीन सदस्यीय पर्यवेक्षक दल पहुंचाइनमें सांसद अभिषेक सिंह शिवरतन शर्मा और प्रफुल्ल विश्वकर्मा शामिल थे।उन्होंने विधानसभा चुनाव के लिए प्रत्याशी संगठन के पदाधिकारियों से मतदान कराया। इस दौरान जांजगीर चांपा विधानसभा में सर्वाधिक 102 मतदाताओं में से 87 लोगों ने उपस्थित होकर मतदान किया। इसीप्रकार पामगढ़अकलतरा सक्ती, जैजैपुर और चंद्रपुर से 70-75 मतदाताओं में से 95 फीसदी से अधिक ने मतदान किया। पामगढ़ व चंद्रपुर के कार्यकर्ताओं ने प्रत्याशी बदलने की मांग को लेकर पर्यवेकों से मुलाकात भी की। वहीं कार्यालय भीतर ही चंद्रपुर विधानसभा के जूदेव समर्थकों ने जय जूदेव के नारे लगाने चालू कर दिए जिस पर पर्यवेक्षक ने समझाते हुए उनको कार्यालय से बाहर जाने को कहा आपको बता दें कि चंद्रपुर विधानसभा में चंद्रपुर विधायक युद्धवीर सिंह जूदेव को टिकट न दिए जाने की मांग को लेकर भी वरिष्ठ कार्यकर्ताओं ने पर्यवेक्षक से मुलाकात की बात यहां तक खत्म नहीं हुई जिसके बाद बीजेपी के एक पार्टी ग्रुप में मुख्यमंत्री डॉक्टर रमन सिंह के पुत्र अभिषेक सिंह पर्यवेक्षक के रूप में मतदान कराते हुए एक फोटो को ग्रुप में डाला गया जिसमें चंद्रपुर विधायक युद्धवीर सिंह जूदेव के मीडिया प्रभारी भानु बंजारे ने अभिषेक सिंह को यह कौन है कह कर पोस्ट डाला वहीं मीडिया प्रभारी द्वारा अभिषेक सिंह और मुख्यमंत्री डॉक्टर रमन सिंह को भी पहचानने से इंकार कर दिया गया उसका कहना है कि हम किसी रमन सिंह और अभिषेक सिंह को नहीं जानते हम केवल जय जूदेव को जानते हैं। आपको बता दें कि चंद्रपुर विधानसभा में जूदेव समर्थकों की पार्टी के लेकर बयान बाजी और अनुशासनहीनता जिससे पार्टी की हमेशा किरकिरी बनी रहती है । जिसके बाद पार्टी ग्रुप में हुए पोस्ट का स्क्रीनशॉट सोशल मीडिया में जमकर वायरल हो रहा है वहीं कुछ लोग ऐसे फेसबुक में भी पोस्ट कर रहे हैं और लिख रहे हैं।

एक ओर भाजपा छत्तीसगढ़ 65+ के रणनीति पर विचार करती दिखती है तो दूसरी ओरउनके कद्दावर विधायक कहे जाने वाले नेता और दर्जा प्राप्त कैबिनेट मंत्री के लोग पूर्व में मुख्यमंत्री का पुतला जला रहे बात यही तक न है भइयो अब तो खुद भजपा विधायक ही अपनी पसंद का मुख्यमंत्री कांग्रेस के नेता प्रतिपक्ष टी.एस.बाबा. को बतला रहे उनके कार्यकर्ता जो अधिकतर पार्टी से निष्कासित है अब मुख्यमंत्री रमन सिंह को जानने से इनकार कर रहे क्या भाजपा ऐसे को फिर विधायक बनाने पर विचार कर खुद अपने मुह कालिख मलेगी ये बड़ा सवाल है आप देखे कद्दावर विधायक के प्रतिनिधि व उनके मीडिया सलाहकार कैसे मुख्यमंत्री की खिल्ली उड़ा रहे।

इस तरीके से पोस्ट करना यह पहली बार नहीं है इससे पहले भी दिव्यांग वरिष्ठ कार्यकर्ता के साथ पार्टी कार्यक्रम में मारपीट वही युद्धवीर सिंह जूदेव द्वारा बेहतर सीएम टीएस सिंहदेव को बताना युद्धवीर सिंह जूदेव को मंत्रिमंडल में शामिल ना किए जाने पर जूदेव समर्थकों द्वारा मुख्यमंत्री डॉक्टर रमन सिंह का पुतला जलाना वहीं पार्टी विरोधी बयान बाजी यह अब आम बात सी हो गई है और इन सब का फायदा आने वाले वक्त में विपक्ष को मिल सकता है।