राजधानी

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल और टी.एस. सिंहदेव का आरोप रमन सरकार की गलत नीतियों के कारण आंतरिक सुरक्षा को खतरा

रायपुर - सुकमा  जिले में हुये नक्सली हमला में शहीद हुये जवानों को कांग्रेस ने श्रद्धांजलि दी है। शहीद परिवारजनों के दुख में सहभागिता व्यक्त करते हुये कहा है कि कांग्रेस उनके दुख को बखूबी समझती है, उनके दर्द को महसूस करती है क्योंकि माओवादी हमले में कांग्रेस ने भी अपनों को खोया है। माओवाद से निपटने में मुख्यमंत्री रमन सिंह के विफल होने का आरोप लगाते हुये प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल और कांग्रेस विधायक दल के नेता टी.एस. सिंहदेव ने कहा है कि रमन सरकार की गलत नीतियों के कारण आंतरिक सुरक्षा के खतरा लगातार बढ़ रहा है। कांग्रेस ने बढ़ते माओवादी हिंसा के लिये नेतृत्व में इच्छाशक्ति के अभाव, सूचना तंत्र की विफलता और सुरक्षा बलो के पास उचित संसाधनों का अभाव को प्रमुख कारण बताया है। सीआरपीएफ ने 2005 से अब तक 1928 जवान हिंसा में मारे गये हैं जिनमें आधे से अधिक छत्तीसगढ़ में मारे गये है। देश में 60 जिले नक्सल प्रभावित है, जिनमें 14 जिले छत्तीसगढ़ के है लेकिन माओवादी हिंसा सबसे ज्यादा छत्तीसगढ़ में होती है। 2003 में माओवादी दक्षिण बस्तर के सीमावर्ती इलाकों तक सीमित था। 
वह भाजपा के 14 वर्षो के शासनकाल के बाद 14 जिलों तक कैसे बढ़ा? रमन सिंह सरकार के 14 वर्षो में छत्तीसगढ़ में माओवादी हिंसा प्रभावित इलाका 3 ब्लाकों से बढ़कर देश में सबसे ज्यादा माओवादी हिंसा से प्रभावित इलाका कैसे बन गया है? एसपी वी.के. चैबे के मारे जाने की घटना की जांच तक नहीं होती और जो अधिकारी पूरी घटना में कहीं शामिल नहीं होता है, उस अधिकारी को वीरता पुरस्कार दिया जाता है। ताड़मेटला में 76 लोग मारे गये, लेकिन सही जांच नहीं होती। जीरम में शामिल लोगों की शादी तो भाजपा सरकार कराती है लेकिन जीरम के षड़यंत्र की जांच नहीं कराती। दिल्ली और अमेरिका जाकर मुख्यमंत्री रमन सिंह ये दावा जरूर करते है कि माओवादी बीते दिनों की बात है। लेकिन बड़ी घटनाओं की भी जांच नहीं कराते। दरअसल छत्तीसगढ़ में भाजपा सरकार में नक्सलवाद खत्म नहीं हो रहा है, बढ़ रहा है। छत्तीसगढ़ के एक बड़े इलाके में पुलिस जा ही नहीं पाती है। 2018 में अब तक चार हमले हो चुके है, 17 जवान मारे जा चुके है। समय आ गया है कि माओवाद से लड़ने के लिये बनाई गयी ज्वाइंट कमांड के प्रमुख रमन सिंह अपनी नैतिक जिम्मेदारी को स्वीकार करें। 2013 में डाॅ. रमन सिंह विकास यात्रा में निकलते है और नक्सली क्षेत्रों से यात्रा कर सुरक्षित वापस लौट आते है वहीं कांग्रेस के परिवर्तन यात्रा में नक्सली घात लगाकर हमला करते है जिसमें कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं की हत्या होती है। सुकमा जिले में 11 मार्च को मुख्यमंत्री लोकसुराज अभियान कार्यक्रम के दौरान मोटर सायकल में निकलते है, सुरक्षित वापस लौट आते है उनके वापस लौटने के ठीक तीन दिन बाद एंटीलैंडमाइन व्हिकल में निकले सीआरपीएफ जवानों पर नक्सली हमला करते है जिसमें 9 जवान शहीद हो जाते है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल और कांग्रेस विधायक दल के नेता टी.एस. सिंहदेव ने राज्य सरकार पर गंभीर आरोप लगाते हुये कहा कि राज्य सरकार की रूचि माओवाद से निपटने में कम, माओवादियों से लड़ने के नाम पर मिलने वाली भारी भरकम राशि पर ज्यादा है। राज्य का खूफिया तंत्र बार-बार नाकाम होता है। केन्द्रीय सुरक्षा बल एवं राज्य पुलिस के बीच तालमेल की भारी कमी है, जिसका खामियाजा हमारे जवानों को भुगतना पड़ रहा है। 

चार साल पहले जो करिश्मा दिल्ली में हुआ वहीं इस बार छत्तीसगढ़ में होगाः केजरीवाल

रायपुर। चुनावी बिगुल फूंकने छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर पहुंचे आम आदमी पार्टी के प्रमुख और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि, 'चार साल पहले दिल्ली में करिश्मा हुआ था और अब वहीं करिश्मा छत्तीसगढ़ में होगा'।

 रायपुर के सांइस कॉलेज मैदान में आप की बदलबो छत्तीसगढ़ संकल्प सभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, दिल्ली की तरह छत्तीसगढ़ में ईमानदार सरकार चाहिए तो चाबी जनता के पास ही है। दो राष्ट्रीय दल भाजपा और कांग्रेस से परेशान दिल्ली की जनता को विकल्प मिला और उसने करिश्मा कर दिखाया। अब छत्तीसगढ़ की जनता की बारी है।

उन्होंने यह भी साफ कर दिया कि यहां उनकी कोई औकात नहीं है, न ही उनकी पार्टी के पास पैसा है, इसलिए आम आदमी पार्टी का चुनाव गरीब जनता को मिलकर लड़ना है।

बदलबो छत्तीसगढ़ संकल्प यात्रा के समापन में आए केजरीवाल ने कहा कि प्रदेशभर से हजारों लोग उन्हें सुनने नहीं आए हैं। वे बहुत छोटे आदमी हैं। लोग छत्तीसगढ़ की मौजूदा सरकार को उखाड़ फेंकने आए हैं।

उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ ऐसा राज्य है, जिसे भगवान ने लोहा, कोयला, हीरा सब कुछ दिया है, उसके बाद भी यहां के किसान आत्महत्या कर रहे हैं। लाखों युवा बेरोजगार भटक रहे हैं। सरकारी स्कूल और अस्पताल बदहाल हैं। इससे ज्यादा शर्म की बात नहीं हो सकती। केजरीवाल ने कहा कि परेशान जनता ने सरकार बदलने का मन बना लिया है। पिछले चुनाव में यहां की जनता के पास विकल्प नहीं था। इस बार जनता के सामने एक ईमानदार पार्टी विकल्प के तौर पर है। 

 

भाजपा सरकार की गोद में बैठी है कांग्रेस

केजरीवाल ने अपील की, गरीब जनता अपना वोट न बंटने दें, क्योंकि सबको पता है कि कांग्रेस तो भाजपा सरकार की गोद में बैठी है। केजरीवाल ने अजीत जोगी को भी निशाने पर लिया। उन्होंने कहा कि जब सरकार 14 साल में जोगी की जाति तय नहीं कर पाई तो उनके संबंध किसी से छिपे नहीं हैं।

छत्तीसगढ़ में पार्टी को मजबूती देने के मकसद से आम आदमी पार्टी (आप) के संयोजक अरविंद केजरीवाल आज राजधानी में

रायपुर छत्तीसगढ़ में चुनावी बिगुल फूंकने को आम आदमी पार्टी के मुखिया और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल यहां बदलबो छत्तीसगढ़ संकल्प सभा का नेतृत्व करेंगे। साथ ही छत्तीसगढ़ में अपने सियासी संकल्प को मजबूती से पेश करने की दिशा में आम आदमी पार्टी आगे बढ़ती नजर आ रही है। भाजपा, कांग्रेस और जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के बाद आम आदमी पार्टी राज्य में चौथी पार्टी बन कर उभर रही है। हालांकि राज्य में उनका सियासी सफर अभी शुरू होना बाकी है।
छत्तीसगढ़ प्रदेश के केंद्रीय पर्यवेक्षक विजय चौहान ने कहा कि, छत्तीसगढ़ में भाजपा और कांग्रेस के अलावा तैयार हो रहे थर्ड फ्रंट में आम आदमी पार्टी शामिल नहीं होगी और पूरे प्रदेश में अपने दम पर ही चुनाव लड़ेगी।इस वर्ष होने जा रहे राज्य विधानसभा चुनाव में आप चौथी पार्टी के तौर पर उभर रही है। 

डाक विभाग ने देशवासियों के दिलों को जोड़े रखने का काम किया है: बृजमोहन अग्रवाल

रायपुर - छत्तीसगढ़ कृषि मंत्री  बृजमोहन अग्रवाल ने पंडित रविशंकर विश्वविद्यालय परिसर स्थित ऑडिटोरियम में आज संभाग स्तरीय 3 दिवसीय डाक टिकट प्रदर्शनी रायपेक्स- 2018 का शुभारंभ किया। इस अवसर पर अपने उद्बोधन में कृषि मंत्री श्री अग्रवाल ने कहा कि डाक विभाग ने महान विभूतियों, पुरातात्विक स्थलों, ऐतिहासिक अवसरों के साथ-साथ कला-संस्कृति पर डाक टिकट जारी कर वर्तमान और आने वाली पीढ़ी को एक बेहतरीन सौगात देने का काम किया है। कार्यक्रम में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के अहमदाबाद आंदोलन के शताब्दी वर्ष पूर्ण होने पर जारी टिकट का विमोचन भी किया गया।
    बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि डाक विभाग ने चिट्ठी-पत्रियों को संबंधित स्थानों पर पहुंचाकर देशवासियों के दिलों को जोड़े रखने का काम किया है। इस विभाग ने मीलों की दूरियां दिलों में कम नहीं होने दी और अपनों को याद करने में भी एक अहम् भूमिका निभाई है। उन्होंने कहा कि संचार के आधुनिक सुविधाओं के मामले में आज की दुनिया बहुत आगे बढ़ गई है। ईमेल, फेसबुक,व्हाट्स एप वर्तमान दौर के लोकप्रिय और प्रचलित संचार के साधन है। इसके बाद भी हाथ से लिखे हुए पत्रों का का विशेष महत्व है। आज भी लोग अपने मित्रों और परिवारजनों द्वारा वर्षों पहले लिखे पत्रों को सहेज कर रखते हैं। पुरानी चिट्ठियां पुरानी यादों को ताजा करने का माध्यम होती हैं। श्री अग्रवाल ने कहा कि भारतीय डाक विभाग ने समय के साथ-साथ इतिहास की स्मृतियों को संजोने का भी काम किया है। देश की आजादी की लड़ाई का साक्षी रहा है हमारा डाक विभाग। इस कार्यक्रम में विशेष अतिथि के रूप में पर्यटन एवं संस्कृति विभाग की सचिव   निहारिका बारिक सिंह, चीफ पोस्ट मास्टर जनरल डॉ. सरिता सिंह, डायरेक्टर पोस्टल सर्विसेस श्री एमडी गजभिये मौजूद थे।   अग्रवाल ने डाक टिकिट प्रदर्शनी का अवलोकन किया तथा डाक टिकट संग्रह करने वालों की सराहना की। इस अवसर पर फिलाटेली काउंसिल रायपुर द्वारा कृषि मंत्री को सम्मानित किया गया।

आरआईटी व रिटकॉम के विद्यार्थियों ने मनाया विश्व महिला दिवस

रायपुर आरआईटी ग्रुप ऑफ इंस्टिट्यूट्स के इंजीनियरिंग, नर्सिंग, एमबीए, बीबीए, होटल मैनेजमेंट के विद्यार्थियों ने विश्व महिला दिवस के उपलक्ष्य पर आरआईटी कैंपस में संगोष्ठी का आयोजन किया जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में संगीता जैन उपस्थित हुए और विशिष्ट अतिथि के रूप में शुभीका जैन एवं डॉ तनुश्री उपस्थित थे। इस मौके पर संगीता जैन ने कहा कि आज महिलाएं किसी भी क्षेत्र में पुरुषों से कम नहीं हैं। उन्होंने विद्यार्थियों को साइना नेहवाल, पीवी सिंधू, उड़न परी पीटी उषा, चंदा कोचर, बायोकॉन की किरण मजूमदार शा आदि का उदाहरण देते हुए विद्यार्थियों को समाज मे अपनी अलग छवि बनाने हेतु प्रोत्साहित किये। साथ ही यह भी कहा कि महिलाओं में एक विशेष शक्ति होती है जिसके चलते वे घर और आफिस के कार्य करते हुए भी अपने बच्चों में शिक्षा व संस्कार का संचार करती हैं और गृहस्ती संभालती है । आरआईटी के प्राचार्य डॉ आरपीएस चौहान ने मुख्य अतिथि एवं विशिष्ट अतिथियों को पुष्प गुच्छ भेंट कर उनका स्वागत किया तथा अपने संबोधन में उन्होंने महिला विद्यार्थियों से कहा कि आप दुर्गा का रूप हो जो अपने दसों भुजाओं से अपने कार्यों का निष्पादन करते हो। आप किसी से खुद की तुलना कभी मत करो और आपके मन मे जो करने की इच्छा हो उसे सच्चे मन और भाव से समाज और देश हित में करें जिससे समाज व देश की प्रगति में आपका विशिष्ठ योगदान रहे। इस विशेष मौके पर आरआईटी के डॉ ज़ुनूबिया अली, डॉ संजीवनी, डॉ प्राची, यामिनी सिंह, प्रो वैशाली पेंडसे, प्रो शिखा तिवारी तथा अन्य प्रोफेसर व विद्यार्थीगण उपस्थित थे।

रंग पंचमी में मूणत ने आम व खास लोगो के साथ मिलकर जम कर उड़ाया गुलाल

छत्तीसगढ़ के कद्दावर कैबिनेट मंत्री तथा सीएम के खास राजेश मूणत के होली मिलन समारोह में उमड़ा जन सैलाब। रायपुर 6 मार्च 2018 को रंगपंचमी के दिन मूणत ने अपने सरकारी निवास सिविल लाइन्स में होली मिलन का कार्यक्रम आयोजित किया जिसमें उनके विधानसभा के लोग परिवार सहित होली मिलन उत्सव में पहुंचे और भजन संध्या के साथ साथ लजीज व्यंजनों का लुफ्त भी उठाया। उनके विधानसभा के अलावा रायपुर शहर के उनके चाहने वाले भी बड़ी तादाद में शामिल हुए और मूणत को दिए शुभकामनाएं। मूणत खुद प्रत्येक का स्वागत किये होलो मिलन उत्सव में पहुंचे सभी आम और खास लोगों का राजेश मूणत खुद मुख्य द्वार पर खड़े होकर लोगों को गुलाल लगाकर हाथ मिलाते हुए, बुजुर्गों के पैर छुंते हुए स्वागत किया और सभी ने सीडी कांड को भुलाकर मूणत को आशीर्वाद के साथ साथ शुभकामनाएं दिए। सेल्फी लेने युवा रहे आगे युवाओं की खास भीड़ मूणत के साथ सेल्फी लेने के लिए बेताब दिखे। किसी को भी मूणत ने निराश नहीं किया साथ ही मुख्य द्वार से अंदर आते समय कार्यकर्ता प्रत्येक को चंदन का टिका लगाए और मूणत ने सभी से गले मिलकर होली की बधाई दिए और प्रत्येक से आग्रह किये की वे भोजन पश्चात ही जाएँ। खास लोग जो पहुचे छत्तीसगढ़ विधानसभा के अध्यक्ष गौरी शंकर अग्रवाल, गृह मंत्री रामसेवक पैंकरा, लीलाराम भोजवानी, औधोगिक विकास निगम के अध्यक्ष छगनलाल मूंधड़ा, रायपुर भाजपा जिलाध्यक्ष राजीव कुमार अग्रवाल, लोकेश कावड़िया, मिर्ज़ा एजाज़ बेग, प्रफुल्ल विश्वकर्मा, रसिक परमार, पीडब्लूडी के सचिव अनिल राय, आईएफएस एसएस बजाज, हीरा ग्रुप के डायरेक्टर विनोद पिल्लई व आदि गणमान्य व्यक्ति शामिल हुए। छगनलाल मूंधड़ा व्यवस्था संभाले हुए दिखाई दिए छत्तीसगढ़ औधोगिक विकास निगम के अध्यक्ष तथा भाजपा के समर्पित कार्यकर्ता छगनलाल मूंधड़ा शुरू से ही मंत्री मूणत के साथ साये की तरह दिखे, आगंतुकों का अभिवादन किये, होली का गुलाल लगाए और व्यवस्था को दुरुस्त बनाये रखे साथ ही उन्होंने भी कार्यकर्ता , जनता के साथ फोटो भी खिंचवाए जो उनकी सादगी को दर्शाता है। रायपुर पुलिस का रहा भरपूर सहयोग वीवीआईपी, वीआईपी, कार्यकर्ता, आम जनता को कोई असुविधा न हो और ट्रैफिक दुरुस्त रहे इस हेतु रायपुर पुलिस का भरपूर सहयोग रहा नहीं तो इतना भीड़ संभालना मुश्किल हो जाता। बंगले के चारों तरफ पुलिस ने जबरदस्त व्यवस्था किये हुए थे जिससे किसी को भी किसी भी तरह के मुश्किलों का सामना नहीं करना पड़ा। उपरोक्त सुदीप्तो चटर्जी ने दिया

रामकथा में स्वामी सदानंद सरस्वती ने कथा का रस पान कराया।

राम कथा सुदंर करतारी ।। संशय बिहगं उडावन हारी।। रायपुर शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती के कृपा प्राप्त शिष्य तथा द्वारका शारदा पीठ के मंत्री दंडी स्वामी सदानंद सरस्वती ने अपने श्रीमुख से राम कथा का रस पान भक्तों को कराया। उन्होंने कहा कि एक बार ऋषियों ने पूछा सूत जी देवर्षि नारद मुनि ने सनत कुमार जी से रामायण संबंधी संपूर्ण धर्मों का किस प्रकार वर्णन किया था उस कथा का वर्णन कीजिए । सूत जी ने कहा- हे ऋषियों , एक बार सनकादि ऋषि ब्रह्मा जी की सभा देखने के लिए मेरु पर्वत के शिखर् पर गए इतने में ही देवर्षि नारद मुनि वहां आ पहुंचे । सनकादि मुनियों ने नारद जी की यथोचित पूजा करके सनकादि मुनियों ने पूछा कि जिनसे  समस्त चराचर जगत की उत्पत्ति हुई है जिन के चरणों से गंगा जी प्रकट हुई है, उन श्री हरि के स्वरूप का ज्ञान कैसे होता है ,कृपा करके इसका विवेचन कीजिए । नारद जी बोले-  जो पर से परतर है तथा जो सगुण और निर्गुण रूप है ज्ञान अज्ञान धर्म-अधर्म तथा विद्या और अविद्या यह सब जिनके अपने ही स्वरुप है जो एक होकर भी 4 स्वरूपों में  उत्तिरीण होते हैं जिन्होंने वानरों को साथ लेकर राक्षस सेना का संहार किया है उन भगवान श्री राम के ऐसे अनेक चरित्र हैं जिनके चरित्र का वर्णन करोड़ों वर्षों में भी नहीं किया जा सकता जो घोर कलयुग में रामायण कथा का आश्रय लेते हैं व्यक्त करते हैं  वे कृत कृत्य है। ब्राह्मण सुदास  गौतम के श्राप  से राक्षस शरीर को प्राप्त हो गए थे परंतु रामायण के प्रभाव से उन्हें श्राप से मुक्ति मिली सनत कुमार ने पूछा मुनेश्वर रामायण कथा का किसने वर्णन  किया  है ?। सौदास  को  गौतम द्वारा कैसे श्राप  प्राप्त हुआ और वह रामायण के प्रभाव से किस प्रकार श्राप से मुक्त हुए कृपया कर वह  हमें बताइए । नाराद जी ने कहा ब्राह्मन, रामायण का प्रादुर्भाव महर्षि बाल्मीकि के मुख से हुआ है -  तुम उसी का श्रवण करो। " आस्ते  कृतयुगे  विप्रो  धर्म-कर्म विशारदः । सोमदत्त इति  ख्यातो  नाम्ना  धर्मपरायणः।। " सतयुग में सोमदत्त नाम के एक ब्राह्मण थे जो सदा धर्म के पालन में ही तत्पर रहते थे वह ब्राह्मण सौदास नाम से भी विख्यात थे  सोदास  ने गौतम से संपूर्ण धर्मों का श्रवण किया था। राम कथा से सोदास का उद्धार हुआ उसी राम कथा की रचना हनुमान जी के आदेश से गुरु नरहरीदास जी की कृपा से तुलसीदास महाराज ने रचना की । राम कथा का उद्देश्य प्रत्येक मनुष्य के मन मे श्रीराम  की स्थापना करना है। । ऐसे अनेक प्रसंग राम चरित मानस बाल्मीकि रामायण ओर आध्यात्मिक रामायण से पूज्य स्वामी सदानंद सरस्वती जी महाराज ने भक्तो को रसपान करायी ।

रिटकॉम के विद्यार्थियों ने सुखी होली खेलने के दिये संदेश

रायपुर- रायपुर के पंडित रविशंकर शुक्ल यूनिवर्सिटी के पीछे स्थित आरआईटी कॉलेज ऑफ मैनेजमेंट (रिटकॉम) के बीबीए, एमबीए, बीकॉम के विद्यार्थियों ने कॉलेज कैंपस में हर्ष और उमंग के साथ प्री होली सेलिब्रेशन किया जिसमें सभी विद्यार्थियों ने फूलों से होली खेली साथ ही हर्बल गुलाल से एक दूसरे को खूब रंगे। विद्यार्थियों ने होली के गानों पर खूब एन्जॉय किये। विद्यार्थियों ने यह संदेश भी दिया की रंगों से होली जरूर खेलें साथ ही व्यर्थ पानी की बर्बादी न करे। होली एक ऐसा त्योहार है जहाँ लोग गीले शिकवे भुलाकर एक दूसरे को रंग गुलाल लगाकर शुभकामनाएं देते हैं और मिठाई भी खिलाते हैं। रिटकॉम के प्री होली उत्सव में विद्यार्थियों के साथ साथ डायरेक्टर जयेश कारिया, प्राचार्य डॉ समीर ठाकुर, डॉ दीप्ति बघेल, डॉ अमित श्रीवास्तव, डॉ जे. एस. व्यास, सहायक प्रोफेसर पारुल ठाकुर, अमित श्रीवास्तव व स्टाफ उपस्थित हुए और रिटकॉम के विद्यार्थियों के साथ जमकर होली खेलकर शुभकामनाएं दिए।

औधोगिक वीक डायरी का हुआ विमोचन

रायपुर छत्तीसगढ़ औधोगिक विकास निगम द्वारा पर्यावरण की सुरक्षा के साथ साथ औधोगिक विकास डायरी का वोमोचन छत्तीसगढ़ औधोगिक विकास निगम के मुख्यालय में अध्यक्ष छगनलाल मूंधड़ा द्वारा किया गया। इस उपलक्ष्य पर छत्तीसगढ़ औधोगिक विकास निगम के प्रबंध संचालक सुनील मिश्रा, डी. सोलोमन, सीजीएम आलोक त्रिवेदी व अन्य अधिकारी उपस्थित थे। अधिकारियों ने बताया कि इस विशेष औधोगिक डायरी में अध्यक्ष छगनलाल मूंधड़ा द्वारा किये गए कार्यों के साथ साथ औधोगिक विकास निगम के प्रगति के बारे में भी विस्तृत जानकारियाँ उपलब्ध करवाई गई है। छगनलाल मूंधड़ा ने अपने अभी तक के कार्यकाल मे कई उत्कृष्ट कार्यों के साथ साथ परियाजनाओं को भी अंजाम दिया है। 27 फरवरी को छगनलाल मूंधड़ा कलकत्ता के उद्योगपतियों से मिलने तथा औधोगिक विकास हेतु चर्चा करने के लिए रवाना हुए। [

स्कूली छात्राओं की समस्याओं को जानने के लिए छत्तीसगढ़ बाल अधिकार संरक्षण आयोग की खास पहल

रायपुर  बाल अधिकार संरक्षणआयोग की अध्यक्ष प्रभा दुबे ने आज शासकीय जगन्नाथ राव दानी उच्चतर माध्यमिक कन्या शाला और तेलीबांधा तालाब (मरीन ड्राइव ) से आज इस अभियान की शुरुआत की। शासकीय जगन्नाथ राव दानी कन्या शाला परिसर में आयोजित कार्यक्रम में बालिकाओं  को संबोधित करते हुए प्रभा दुबे ने कहा कि बच्चे खासकर लड़कियां अब बेझिझक होकर अपनी परेशानियां साझा कर सकते हैं।
उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ बाल अधिकार संरक्षण आयोग द्वारा बालक और बालिकाओं के हितों की रक्षा के लिए यह पहल की गयी है ताकि वे बिना डरे अपनी बात कह सकें। उन्होंने बताया कि बच्चों के रुझान के हिसाब से हर सप्ताह या हर माह यह सुझाव पेटी खोली जाएगी और इस सुझाव पेटी में मिली सभी जानकारी और बच्चों का नाम गोपनीय रखा जाएगा।
प्रभा दुबे ने बताया कि, बच्चों के अधिकारों की रक्षा और बच्चों को न्याय दिलाना आयोग का कर्तव्य है इसके पालन में हम कोई कमी नहीं रखेंगे। हर प्रकार की शिकायत पर आयोग द्वारा आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।

उन्होंने कहा कि, बच्चे अपने सुझाव भी इस पेटी में डाल सकते हैं ताकि आयोग बच्चों की सलाह का आधार पर उनकी अधिक से अधिक मदद कर सकें। दुबे ने कहा कि जल्द ही पूरे प्रदेश में इस तरह की पेटियां लगाई जाएंगी।
रायपुर के 15 स्थानों पर इस तरह की गोपनीय सुझाव/शिकायत पेटियां लगाई जाएंगी। आयोग द्वारा प्रारंभिक तौर पर इस योजना के लिए रायपुर  और बिलासपुर शहर में इस तरह की पेटियां लगायी जा रही हैं।

आरआईटी ग्रुप ऑफ इंस्टिट्यूट्स ने किया वार्षिक पुरस्कार वितरण व ट्रेडिशनल ड्रेस समारोह का आयोजन

रायपुर- आरआईटी ग्रुप ऑफ इंस्टिट्यूट्स के वार्षिक पुरस्कार वितरण तथा ट्रेडिशनल ड्रेस समारोह में छत्तीसगढ़ राज्य औधोगिक विकास निगम के अध्यक्ष छगनलाल मूंधड़ा तथा पीसीसीएफ मुदित कुमार सिंह विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित हुए। सर्वप्रथम सरस्वती वंदना के साथ विशिष्ट अतिथियों ने दीप प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम का शुरुवात किये। रायपुर इंस्टीटूट ऑफ टेक्नोलॉजी के प्राचार्य डॉ आरपीएस चौहान ने विशिष्ट अतिथियों के साथ साथ महानदी एजुकेशन सोसाइटी के सचिव शैलेन्द्र जैन, सदस्य शुभका जैन तथा सभी प्रोफेसर एवं विद्यार्थियों का स्वागत किया। इसके पश्चात आरआईटी कॉलेज ऑफ नर्सिंग के प्राचार्य प्रो बालाकृष्णा ने विगत एक वर्षों की उपलब्धि अपने संबोधन के माध्यम से सभी के सामने रखते हुए विद्यार्थियों के उज्ज्वल भविष्य की कामना किये। मुदित कुमार सिंह ने अपने संबोधन में विद्यार्थियों से कहा रिसर्च 10 से 5 बजे तक करने का नहीं होता है, इसके लिए पर्याप्त समय देना पड़ता है तभी एक अच्छा रिसर्च पेपर तैयार होता है। उन्होंने आगे कहा कि विद्यार्थियों को रिसर्च के प्रति भी ज्यादा ध्यान देने की आवश्यकता है साथ ही गुरु - शिष्य परंपरा को निभाना भी। आज हम अपने संस्कृति को भूलते जा रहे हैं लेकिन आप ही हैं जो हमारे देश की संस्कृति की रक्षा कर सकते हैं। सीएसआईडीसी के अध्यक्ष छगनलाल मूंधड़ा ने कहा कि यह आपका सौभाग्य है कि आप 23 वर्ष पुराने छत्तीसगढ़ के प्रथम प्राइवेट इंजीनियरिंग कॉलेज के छात्र छात्राएं हैं जो बहुत ही गर्व का विषय है। उन्होंने विद्यार्थियों से आग्रह किया कि पढ़ाई, खेल और अन्य एक्टिविटीज के साथ साथ आप सभी कुकिंग पर भी ध्यान दें। कुकिंग एक आर्ट है जिसे सीखना बहुत ही जरूरी है। कुकिंग प्रत्येक छात्र तथा छात्राओं को आना चाहिए जो अन्य विषयों के साथ साथ एक महत्त्वपूर्ण विषय है और इस विषय को प्रत्येक शिक्षण संस्थानों में शुरू करना चाहिए। सचिव शैलेन्द्र जैन ने कहा कि आरआईटी में भाभा एटॉमिक रिसर्च सेन्टर का डिटीडीडीएफ सेन्टर स्थापित किया गया है जो विद्यार्थियों को अपने इंजीनियरिंग के पढ़ाई के साथ साथ रिसर्च में भी सहायक होगी। आज विभिन्न केटेगरी - रंगोली, डिबेट, आर्म रेस्टलिंग, डार्टटिंग, ग्रुपफी, टेक्निकल मॉडल, एप्टीट्यूड, एक्सटेम्पो, स्लोगन, क्विज, पेंटिंग, फेस पेंटिंग, रेडियो शो, स्केचिंग आदि प्रतियोगिता के विजतेयाओं को पुरस्कार वितरण किया गया - श्रुति पाटकर, गीता शुष्मा, राजनंदिनी, किरण लता, दीपाली सिंह, देवेंद्र वर्मा, सत्यम शर्मा, सिद्धांत बजाज, शुभम साहू, गंगा कोरंगा, ईशा मुखर्जी, प्रतीक जसवानी, राजदीप सिंह, सृष्टि झा, जुगल किशोर व अन्य विद्यार्थीगण विशिष्ट अतिथि गण छगनलाल मूंधड़ा एवं मुदित कुमार सिंह के हाथों पुरस्कृत हुए साथ ही बास्केटबॉल में मैकेनिकल इंजीनियरिंग की टीम, महिला बास्केट बॉल में नर्सिंग की टीम, चैस में विक्रम राजपूत, निशांत सोनी, सुरभि सोनी, शिल्पा भगत, बैडमिंटन में संस्कृति कोचर, हिमांशु जोशी, कबड्डी में सिविल इंजीनियरिंग की टीम, हैंड बॉल में कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग की टीम ने अतिथियों के हाथों विनर्स शील्ड एवं ट्रॉफी प्राप्त किये।

राईटोफेस्ट 2के18 में रोबोवार रहा आकर्षण का केंद्र।

रायपुर आरआईटी के विद्यार्थियों द्वारा आयोजित RITOEST 2K18 के तीसरे दिन इंजीनियरिंग के विद्यार्थियों ने दिखाया अपना प्रतिभा जिसमे रोबो वार एवं रोबो रेस रहा मुख्य आकर्षण का केंद्र। आज के रोबो रेस में इलेक्ट्रॉनिक्स व टेली कम्युनिकेशन्स इंजीनियरिंग के विद्यार्थी सत्यजीत सिंह ठाकुर, तनया कर्मकार, अमन कुमार तथा मैकेनिकल इंजीनियरिंग के दीपेश मिश्रा ने दिलेन्द्र कुमार निषाद, सूरज वर्मा , साश्वत साहू को पराजित कर रोबो रेस स्पर्धा का खिताब अपने नाम किया। इस प्रतियोगिता में रोबोट को विभिन्न माध्यमों से गुजरते हुए रेस फिनिश करना था। रोबो वार प्रतियोगिता में दो रोबोटों के बीच लड़ाई करवाई गई जिसमें ईटी एंड टी के अभिषेक डे तथा संदीप पटेल ने दिलेन्द्र निषाद व सूरज वर्मा को रोबो वॉर में परास्त कर प्रतियोगिता जीते। इस प्रतियोगिता का आयोजन डॉ ज़ुनूबिया अली, सपन ठाकुर द्वारा किया गया साथ ही निर्णायक की भूमिका में प्रो अमित खरे एवं प्रो पाठक थे जिन्होंने अपना निर्णय देकर विजयी प्रतियोगियों को बधाई दिए। इसके पश्चात आज ही क्रिकेट का फाइनल मुकाबला इंजीनियरिंग के सिविल तथा मैकेनिकल के बीच कांटे का टक्कर रहा जिसमे आरआईटी के सिविल इंजीनियरिंग  के टीम ने 8 विकेट से मैकेनिकल के टीम को हराकर ट्रॉफी अपने नाम किया। इस मैच में अंपायर की भूमिका में प्रो राजन मिश्रा तथा मिथिलेश कुमार थे। इसके साथ ही बास्केट बॉल, टग ऑफ वॉर, हैंड बॉल में आरआईटी कॉलेज ऑफ नर्सिंग के टीम ने खिताब अपने नाम किया। सभी प्रतियोगियों के सचिव शैलेन्द्र जैन, प्राचार्य डॉ आरपीएस चौहान, डॉ तनुश्री , नर्सिंग के प्राचार्य प्रो बालकृष्ण व अन्य प्रोफेसरों व विद्यार्थियों ने बधाई प्रेषित किये। इसकी जानकारी आरआईटी के यामिनी सिंह एवं प्रियंक झा  ने विज्ञप्ति जारी करके दिया।

नगर निगम के पार्षदों ने देखी छत्तीसगढ़ की विधानसभा

रायपुर  मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल से नगर निगम रायपुर के सभापति श्री प्रफुल्ल विश्वकर्मा के नेतृत्व में पार्षदों के प्रतिनिधि मंडल ने सौजन्य मुलाकात की। प्रतिनिधि मंडल ने विधानसभा की कार्रवाई का अवलोकन भी किया। इस अवसर पर कृषि एवं जलसंसाधन मंत्री बृजमोहन अग्रवाल, लोक निर्माण मंत्री   राजेश मूणत, विधायक   श्रीचंद सुंदरानी और नगर निगम के नेता प्रतिपक्ष श्री सूर्यकांत राठौड भी उपस्थित थे।

संजय पब्लिक स्कूल में फीस नहीं देने पर स्कूल में बच्चों को बनाया बंधक,

रायपुर। राजधानी के सुंदर नगर स्थित संजय पब्लिक स्कूल में फीस नहीं देने पर बच्चों के साथ बुरा व्यवहार किया गया। स्टूडेंट्स के परिजनों का आरोप है कि फीस नहीं देने पर स्कूल ने बच्चों को स्टोर रूम में बंद कर दिया 
परिजनों का कहना है कि फीस नहीं देने पर बच्चों को तीन दिन से स्टोर रूम में बैठाया जाता था। इसके साथ ही दूसरी और चौथी क्लास के बच्चों को परीक्षा में बैठने भी नहीं दिया गया।
एसडीएस की मौजूदगी शिक्षकों और परिजनों के बीच जमकर हंगामा हुआ। SDM की मौजूदगी में ही प्रिंसिपल और परिजनों का लिखित बयान लिया गया है।
 
इधर, छत्तीसगढ राज्य बाल संरक्षण आयोग की अध्यक्ष प्रभा दुबे ने बताया कि मैं खुद स्कूल गई थी। हम मामले को विस्तार से समझेंगे फिर कोई कार्रवाई करेंगे। फिलहाल कोई नोटिस नहीं दिया गया है पर इतना तय है कि बच्चों के अधिकारों का हनन होता पाया गया तो निश्चित ही आयोग कड़े कदम उठाएगा।

इधर, आम आदमी पार्टी के रायपुर लोकसभा अध्यक्ष मुन्ना बिसेन ने कहा कि छोटे-छोटे बच्चों के साथ किस प्रकार स्कूल प्रबंधन क्रूरता पूर्वक व्यवहार करते हैं और अभिभावकों के साथ जो दुर्व्यवहार हुआ है वह निदंनीय है। स्कूलों पर कार्रवाई होनी चाहिए।

बीजेपी के राज्यसभा सांसद आर के सिन्हा ने कहा - अभिव्यक्ति की आजादी का दुरुपयोग कर रहे कांग्रेस के बड़बोले नेता

 रायपुर  बीजेपी के राज्यसभा सांसद आर के सिन्हा ने कांग्रेस द्वारा दीनदयाल उपाध्याय को महापुरुष ना मानने के मुद्दे पर कहा कि, भारत में अभिव्यक्ति की आजादी का जितना दुरुपयोग हो रहा है, दूसरे किसी देश में नहीं है। कांग्रेस नेता कभी भी कुछ भी बोलते हैं।

शनिवार छत्तीसगढ़ पहुंचे आर के सिन्हा ने कहा कि, सभी स्वतंत्रता के लिए लड़ने वाले सभी महापुरुष एक समान है। उन्होंने कहा कि, कांग्रेस महात्मा गांधी के नाम पर राजनीति करती है, लेकिन उन्होंने खुद उनका कहा नहीं माना था। गांधी जी ने आज़ादी के बाद कहा था कि कांग्रेस का उद्देश्य पूरा हो गया है अब इसे भंग कर देना चाहिए, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। 
उन्होंने कहा कि, पंडित दीनदयाल उपाध्याय, महात्मा गांधी और राम मनोहर लोहिया तीनों में कोई फर्क नहीं है। तीनों ही महान हैं। 

भारत पाकिस्तान के बीच तनाव के हालातों पर सिन्हा ने कहा कि, भारत  का पाकिस्तान के खिलाफ अगला कदम क्या होता ये तो रक्षा मंत्री ही तय करेंगी, लेकिन मेरी इच्छा पूछी जाएं, तो मैं कहूंगा कि फिर से सर्जिकल स्ट्राइक होना चाहिए