छत्तीसगढ़

सिर्फ जीतने वाले चेहरे पर ही दाव लगाएगी कांग्रेस: पी एल पुनिया

रायगढ़ - आज छत्तीसगढ़ कांग्रेस प्रभारी पीएल पुनिया रायगढ़ घरघोड़ा से तीन दिवसीय होने वाली कांग्रेस की जन अधिकार यात्रा में शामिल होने आए उन्होंने आज रायगढ़ के ग्रैंड ट्रिनिटी होटल में प्रेस वार्ता की। इस प्रेस वार्ता में पूनिया जी ने बताया कि यह जन अधिकार यात्रा पहली नहीं वरन पूरे प्रदेश में निकाली जा रही है। इस जल यात्रा का मूल उद्देश्य जन-जन तक सरकार की विफलताओं को पहुंचाना है। सरकार की नाकामियों को जनता के सामने उजागर करना है और जो स्थानीय मुद्दे हैं जो राज्य के मुद्दे हैं प्रदेश के मुद्दे हैं उन मुद्दों को जनता के सामने उठाना। सरकार के भ्रष्टाचार, मुख्यमंत्री पर लगे भ्रष्टाचार के आरोप, उनके मंत्रियों पर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों को जनता के सामने लाना है और यह सरकार जो दलित विरोधी सरकार है, उसे भी जनता को बताना है। पहले ही बीजेपी ने हमसे 25 सीटें पर हार मान ली है पर हमारा लक्ष्य 90 की 90 सीटों पर है हमारे लिए हर सीट महत्वपूर्ण है क्योंकि अभी हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष युवा राहुल गांधी बने हैं। निश्चित तौर पर हम युवाओं को और महिलाओं को बराबर की भागीदारी देंगे। जीतने वाले चेहरे पर ही कांग्रेस अपना दाव लगाएगी। हमने कोई मुख्यमंत्री का चेहरा छत्तीसगढ़ में चुनाव पहले नियुक्त नहीं किया है चुनाव पश्चात चुने गए विधायक मुख्यमंत्री का निर्णय करेंगे।

सामूहिक रुप से नंदी को मार डाला

BBN24@सूरज लहरे

राजनांदगांव- उदयपुर से 4 किलोमीटर पर स्थित ग्राम बोरई में गांव के लोगो ने एक नंदी को मार डाला जहां धार्मिक ग्रंथों के अनुसार गाय बैल को पूजनीय माना जाता है वही दूसरी ओर ग्राम के एक नंदी को सामूहिक रुप से कुछ किसान एवं ग्रामीणों के द्वारा सरेआम बांध कर मार डाला गया किसानो एवं लोगों ने बताया कि नंदी हमारे गांव का नहीं था इस कारण गांव के लोग उस नंदी से परेशान हो चुके थे और उस नंदी को पकड़ने के फिराक में कई बार कोशिश किया परंतु हर बार नंदी किसी के हाथ नहीं आया तो गांव के लोगों ने सामूहिक मिलकर नंदी को रस्सी से बांध दिया और उनको वहीं छोड़ दिया कुछ देर के बाद नंदी मर गया ग्राम के मुखिया के अनुसार बताया गया कि वह नंदी बहुत ही उद्दंड एवं फसल को नुकसान पहुंचाता था परंतु समाज के उन ठेकेदारों को यह जानना भी जरूरी है कि नंदी धार्मिक ग्रंथों के अनुसार हिंदू धर्म के पूजनीय होते हैं नंदी की मौत पर लोग खामोश रहे या ना रहे मगर जब तक नंदी को बांधने वाले लोगों को कानूनी कार्यवाही होना चाहिए ।

वनमंडल में फर्जी बिलिंग कर लाखों रुपए की हेराफेरी करने के मामले में डीएफओ एसडी बड़गैया समेत वन विभाग के 5 अधिकारियों-कर्मचारियों के खिलाफ हुआ FIR दर्ज

रायपुर:- बलौदाबाजार वनमंडल में फर्जी बिलिंग कर लाखों रुपए की हेराफेरी करने के मामले में डीएफओ एसडी बड़गैया समेत वन विभाग के 5 अधिकारियों-कर्मचारियों के खिलाफ FIR दर्ज  हुआ है    शिकायतकर्ता का नाम नारायण सिंह चौहान है, जो भाटापारा का रहने वाला है. बलौदाबाजार वनमंडल में फर्जी बिलिंग कर लाखों रुपए की हेराफेरी करने के मामले में पलारी पुलिस ने वन विभाग के पांच अधिकारियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है. इसके तहत तत्कालीन डीएफओ एस एस डी बड़गैया, सहायक वनमंडलाधिकारी एस डी द्विवेदी, वनपरिक्षेञ अधिकारी बलौदाबाजार के डी घृतेश, वर्त्तमान डिप्टी रेंजर रतन डढ़सेना और वनक्षेत्रपाल सतीश के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. इन सभी के खिलाफ आईपीसी की धारा 409, 420, 467, 468, 474 और 34/2 के तहत मामला पंजीबद्ध किया गया है
 भाटापारा विकासखंड के बोरतरा गांव निवासी नारायण चौहान ने आरटीआई के तहत जानकारी हासिल की थी कि लकड़ी ढ़ुलाई के एक मामले में फर्जी बिल लगाकर 30 लाख रुपये से अधिक की राशि आहरित कर ली गई थी. इस मामले में सभी आला अधिकारियों की मिलीभगत साफ तौर पर नजर आ रही थी, लेकिन इस बारे में शिकायत करने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं हो पा रही थी. ऐसी स्थिति में नारायण चौहान ने सीजेएम की अदालत में परिवाद दायर कर न्याय की गुहार लगाई. अदालत ने प्रथमदृष्टया 30 लाख रुपये के गबन की बात को दस्तावेजों के आधार पर सही पाया और इसके बाद पलारी पुलिस को संबंधित अधिकारियों के खिलाफ अपराध पंजीबद्ध करने के निर्देश दिए. सीजेएम कोर्ट के आदेश के बाद पलारी पुलिस ने पांच अधिकारियों के खिलाफ अपराध दर्ज कर लियाहै 

शिकायत दर्ज होने के बाद वन मंडल अधिकारी बड़गैय्या ने एक शपथपत्र  जारी करते हुए बतया की 
शिकायतकर्ता ने खुद शपथपत्र दाखिल कर स्वयं के द्वारा गलत जानकारी देने की बात कही है, तो ऐसे में कोई मामला ही बनता नज़र नहीं आ रहा. ईधर शिकायतकर्ता के पुत्र विक्रम सिंह चौहान का कहना है कि उनके पिता नारायण सिंह चौहान ने ऐसा कोई भी शपथपत्र नहीं दिया है और न ही शपथपत्र में किया गया हस्ताक्षर उनका है.ऐसे में साफ है कि वन विभाग के अधिकारी अपने आपको बचाने के लिये इस तरह का षडयंत्र कर रहें हैं.

2 साल पहले पहले बने CC रोड जर्जर ...CC रोड निर्माण में हुआ भ्रष्टाचार

BBN24@भूपेंद्र गबेल

जांजगीर/मालखरौदा :- अड़भार से बोकरेल नहरपार मार्ग जो कि प्रधानमंत्री ग्राम योजना के अंतर्गत 2014-15 में सीसीरोड निर्माण कराया गया है जो कि अभी जगह जगह दरारें पड़ गई है और जर्जर हो गया है । दरसल प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना में अड़भार से बोकरेल 3.3 किमी तक सीसी रोड बनाया गया है जो कि पूरी तरह से गुणवत्ताहीन युक्त निर्माण कराया गया है । सड़क का निर्माणकार्य 25 सितम्बर 2014 को प्रारम्भ हुआ था जो कि 25 सितम्बर 2015 एक वर्ष में पूर्ण हुआ । सड़क का निर्माण किशन एंड कम्पनी टीपी नगर कोरबा द्वारा कराया गया है । अड़भार से बोकरेल तक बनी प्रधानमंत्री सड़क की हालत पूरी तरह से जर्जर हो चुकी है । कई जगहों में दरारें पड़ गई है जिससे राहगीर कई बार दुर्घटना ग्रस्त हो चुके है । वहीं कार्य एजेंसी निर्माण बोर्ड में राशि का भी उल्लेख नहीं किया गया है । जिससे साफ पता चलता है कि अड़भार से बोकरेल पहुँच मार्ग भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ी है । वही गुडवत्ता का भी पता चल रहा है । उखड़े हुए जर्जर सड़क पर डामर पानी डाल कर दरार को भरने का काम भी किया जा चुका है । शासन द्वारा सड़क निर्माण के लिए करोड़ो रूपये की स्वकृति की जाती है लेकिन जमीनी ठेकेदारों और राजनेताओं द्वारा अपनी कमाई के लिए गुडवत्ताहीन सड़कों का निर्माण मनमाने तरीके से कर दिया जाता है ।

2 साल पहले पहले बने CC रोड जर्जर ...CC रोड निर्माण में हुआ भ्रष्टाचार

BBN24@भूपेंद्र गबेल

जांजगीर/मालखरौदा :- अड़भार से बोकरेल नहरपार मार्ग जो कि प्रधानमंत्री ग्राम योजना के अंतर्गत 2014-15 में सीसीरोड निर्माण कराया गया है जो कि अभी जगह जगह दरारें पड़ गई है और जर्जर हो गया है । दरसल प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना में अड़भार से बोकरेल 3.3 किमी तक सीसी रोड बनाया गया है जो कि पूरी तरह से गुणवत्ताहीन युक्त निर्माण कराया गया है । सड़क का निर्माणकार्य 25 सितम्बर 2014 को प्रारम्भ हुआ था जो कि 25 सितम्बर 2015 एक वर्ष में पूर्ण हुआ । सड़क का निर्माण किशन एंड कम्पनी टीपी नगर कोरबा द्वारा कराया गया है । अड़भार से बोकरेल तक बनी प्रधानमंत्री सड़क की हालत पूरी तरह से जर्जर हो चुकी है । कई जगहों में दरारें पड़ गई है जिससे राहगीर कई बार दुर्घटना ग्रस्त हो चुके है । वहीं कार्य एजेंसी निर्माण बोर्ड में राशि का भी उल्लेख नहीं किया गया है । जिससे साफ पता चलता है कि अड़भार से बोकरेल पहुँच मार्ग भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ी है । वही गुडवत्ता का भी पता चल रहा है । उखड़े हुए जर्जर सड़क पर डामर पानी डाल कर दरार को भरने का काम भी किया जा चुका है । शासन द्वारा सड़क निर्माण के लिए करोड़ो रूपये की स्वकृति की जाती है लेकिन जमीनी ठेकेदारों और राजनेताओं द्वारा अपनी कमाई के लिए गुडवत्ताहीन सड़कों का निर्माण मनमाने तरीके से कर दिया जाता है ।

भाजपा मिशन 65 का बात कर रहे है, 25 सीटे कौन सी हार रहे है वो लिस्ट दे-दे और बतायें उनके विदेश यात्रा से आम आदमी, गरीबो, आदिवासियों को क्या लाभ होगा? - पी.एल. पुनिया

रायपुर 13 जनवरी  छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस के प्रभारी एवं राज्यसभा सांसद पी. एल. पुनिया ने पत्रकारों से चर्चा के दौरान कहा कि कांग्रेस पार्टी का संगठन छत्तीसगढ़ में मजबूत है। भूपेश बघेल हो, टी.एस सिंहदेव हो, डाॅ. चंरणदास मंहत हो, जितने भी सीनियर लीडर है उन पर हाईकमान ने भरोसा जताया है और अलग-अलग कमेटीयों में उनको जिम्मेदारी देते। प्रदेश अध्यक्ष को फिर से अध्यक्ष बनाया लेकिन जो असली चुनावी लड़ाई है, बूथ में लड़ी जाती है और उन योद्वाओं को तैयार करने के लिये हमने विशेष अभियान चलाया है और उसकी शुरूआत अंबिकापुर से हुई। कल से पूरे प्रदेश भर में हर जिले से पूरे कार्यक्रम शुरू हुआ। मैंने देखा पदयात्रा के माध्यम से, जन अधिकार रैली के माध्यम से जन अधिकार सम्मेलनों के माध्यम से जो जनता में लोगो में जूनून नजर आया है, जो एक उत्साह नजर आया उससे बहुत स्पष्ट है कि कांग्रेस पार्टी की सरकार प्रदेश बनने जा रही है। भारतीय जनता पार्टी के दिन पूरे हो चुके है। जगह-जगह पर गये जो प्रदेश के शीर्ष नेतृत्व है सब वहां मौजूद थे, हर नेता वहां मौजूद थे, सब अलग-अलग टीम बनायी अलग-अलग बूथो में गये उन्होंने देखा कि क्या कमी है क्या नहीं सब सुधारा जा सकता है। क्योकि पहले दिन शुरूआत कि थी बहुत जगह सूचना भी नहीं पहुंची थी। लेकिन जो उत्साह लोगो में नजर आया वो वास्तव में अदभूत है। मैं आशावान हूं उन कार्यकर्ताओं के मेहनत उन कार्यकर्ताओ के जोश-खरोश उसकी के भरोसे से मैं स्टेटमेंट कर रहा हूं। सभी लोग है सभी लोग अपने-अपने रोल है और चरणदास मंहत चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष है जो अपनी बात को जन-जन तक पहुंचाने का काम करेंगे और पूरी टीम बनायेंगे, टीम को ले जायेंगे किसी को कहा भेजना है ये सब पूरा कोई ऐसा नहीं है। हर का अपना-अपना काम है वो करता रहेगा। चुनाव स्थानीय नेताओं के नेतृत्व में लड़ना है, जीत के सरकार इन्हीं को बनानी है, हम तो पीछे से जो मद्दे है हम करने को तैयार है और प्रदेश कमेटी की में लिस्ट जल्द से जल्द आ जायेगा। उसके पीआरओ यहां आये थे उन्होंने अपनी तरह से भेजी है और मुझे पूरी उमीद है हफ्ते 10 दिन में अंदर वो लिस्ट आ जानी चाहिये ताकि सब लोग अपने-अपने स्तर में काम करना शुरू कर दे

,.

दो दिवसीय राज्य स्तरीय गुरु घासी दास लोक कला महोत्सव के समापन समारोह में पहुचे डॉ रमन सिंह

जांजगीर चाम्पा:- मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह आज पामगढ़ के कुटराबोड़ में आदिम जाति एवं अनुसूचित जाति विकास विभाग द्वारा आयोजित दो दिवसीय राज्य स्तरीय गुरु घासी दास लोक कला महोत्सव के समापन समारोह में शामिल हुए। इस अवसर पर उन्होंने मत्स्य पालन विभाग के अंतर्गत 179.34 लाख रुपए के नवीन हेचरी निर्माण का शिलान्यास किया और शासन की विभिन्न योजनाओं के तहत 5 करोड़ 19 लाख 30 हजार रुपए से अधिक राशि के सामाग्री व चेक व सामग्री वितरण भी किया । इस दौरान मुख्य मंत्री के साथ अति विशिष्ट अतिथि के रूप में सतनाम समाज के चार गुरू विशेष रूप से हैं रहे । वहीं छत्तीसगढ़ शासन के खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति निगम मंत्री पन्नुलाल मोहिले, आदिम जातिकल्याण मंत्री केदार कश्यप, संसदीय सचिव अंबेश जाँगड़े एवं ज़िले के विधायक मौजूद रहे। यह आयोजन ज़िले में अपनी तरह का पहला आयोजन है इस कला महोत्सव में पंथी नृत्य प्रतियोगिता मुख्य आकर्षण था जिसमें 18 जिले के 36 पंथी नृत्य दलों के करीब 1500 नर्तक शामिल हुए लोक महोत्सव में प्रस्तुति देने वाले पंथी नृत्य दलों के मध्य स्पर्धा रखी गई थी जिसमें विजेताओं को प्रथम पुरस्कार 1 लाख रुपए, द्वितीय पुरस्कार 75 हजार व तृतीय पुरस्कार 50 हजार प्रदान किया गया। मुख्य मंत्री ने कूटराबोड़ के स्कूल मैदान परिसर में विशाल जनसमूह को सम्बोधित करते हुए बाबा गुरुघासी के पुनीत कार्यों को याद किया और उनके बताए मार्ग पर चलने की अपील की। इस दौरान पत्रकारों से चर्चा करते हुए सीएम ने कहा की नए भू राजस्व संहिता विधेयक के बारे में कहा कि समाज के लोगों को आमंत्रित किया गया है बैठ कर चर्चा करेंगे और उसका समाधान निकलेगा। वहीं उन्होंने शिक्षाकर्मियों के बारे में कहा की शिक्षाकर्मियों में लिए अच्छी पहल होगी समिति गठित की गई है वह जल्द ही रिपोर्ट सौंपेगी

नया साल का तोहफा जांजगीर चाम्पा SP अजय यादव बने DIG

BBN24@राजधानी। जांजगीर-चाम्पा के SP अजय यादव सहित छत्तीसगढ़ के 11 IPS अफसरों को नया साल का बड़ा तोहफा मिल गया है। 5 जिलों के एसपी समेत छत्तीसगढ़ के 11 आईपीएस अफसर DIG बन गये हैं। जिन पांच जिलों के एसपी को डीआईजी के लिए प्रमोशन मिला है,उनमें रायगढ़ जिले के एसपी- बद्रीनारायण मीणा जांजगीर जिले के एसपी – अजय यादव महासमुंद जिले की एसपी- नेहा चंपावत सरगुजा जिले के एसपी – आरएस नायक सूरजपुर जिले के एसपी – आरपी साय इन पांच आईपीएस अफसरों के अलावे कुल 11 अफसरों को डीआईजी के लिए एमएचए के स्वीकृति मिल गयी है। जल्द ही राज्य सरकार की तरफ से इन सभी 11 आईपीएस अफसरों के प्रमोशन का अधिकृत आर्डर जारी कर दिया जायेगा।

डिप्टी कलेक्टर बजरंग दुबे को पुनः डभरा SDM बनाने के लिए युवा एवं छात्र संगठन ने सौंपा ज्ञापन

BBN24 @ब्यूरो रिपोर्ट

जांजगीर/डभरा:- इन दिनों जिले में डभरा एसडीएम कि अचानक तबादला होना एक चर्चा का विषय बना हुआ है दरअसल में जांजगीर-चांपा जिले के डभरा में पदस्थ SDM बजरंग दुबे भ्रष्ट तंत्र पर एक के बाद एक लगातार कार्यवाही किए जिसके बाद उनका तबादला जिला मुख्यालय हो गया जिसके कारण क्षेत्रवासियों में प्रशासन के इस निर्णय पर काफी नाराजगी है वही आज क्षेत्र के युवाओं एवं छात्र संगठन के सैकड़ो की संख्या में कलेक्टर, मुख्यमंत्री ,मुख्य सचिव के नाम पर तहसीलदार द्वारा ज्ञापन सौंपा गया उनका मांग है कि पूर्व में पदस्थ रहे एसडीएम बजरंग दुबे को पुनः डभरा मुख्यालय में पदस्थ करने की मांग की वही ज्ञापन सौंपने के दौरान सैकड़ों की संख्या में युवा वर्ग मौजूद रहे|

=>हमारे आइकॉन है SDM साहब

बजरंग दुबे सर हर मामले को गंभीरता से लेते हैं और उस पर तत्काल निराकरण भी करते हैं अब तक कि हमारे डभरा में सबसे तेज तर्रार अधिकारी में दुबे साहब ही हैं और उनका कम समय यहां कार्यकाल में रहना और उनका तत्काल ट्रांसफर भी हो जाना यह हमारे समझ से परे है और हम सब युवा वर्ग चाहते हैं कि उनका पदस्थापना पुणे डभरा में ही हो इसी को लेकर हमने आज मैं और मेरे सभी युवा साथी तहसीलदार महोदय के माध्यम से कलेक्टर महोदय मुख्यमंत्री महोदय मुख्य सचिव महोदय से गुहार लगाए हैं कि उनका पुनः डभरा में पदस्थ किया जाए।

खुशवंत चन्द्रा युवा नेता एवं छात्र नेता

=>हर काम को गंभीरता से और जल्द ही निराकरण करते थे

SDM साहब के आने से क्षेत्र में विकास लगातार बढ़ रहा था मगर कुछ लोगों के निजी स्वार्थ की वजह से उनका स्थानांतरण मुख्यालय करा दिए हैं यह दुर्भाग्यजनक निर्णय और हम सभी छात्र इस चीज का विरोध करते हैं वही हमने कलेक्टर महोदय और माननीय मुख्यमंत्री महोदय सचिव महोदय को उनको पुनः पदस्थापना करने के लिए तहसीलदार महोदय के माध्यम से ज्ञापन दिए हैं और हमें आशा है कि वह हमारी मांगों को पूरा करेंगे पर उनहे पुनः डभरा में पदस्थ करेंगे।

हेमंत चौहान छात्र नेता

=>आम जनता के हितोँ पर प्रशासन का करारा प्रहार

ऐसा कर्मठ अधिकारी का महज 4 माह में ट्रांसफर करना बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है, जब क्षेत्र की जनता साथ मे जनप्रतिनिधियों इनके कार्यो से सन्तुष्ट थे,तो इनके स्थानांतरण की क्या आवश्यकता पड़ी समझ से परे है,प्रशासन का यह कदम आम जनता के हितोँ पर करारा प्रहार है। प्रशासन का यह अद्भुत कारनामा क्षेत्र की जानता हमेशा याद रखेगी।

मनीष चौधरी विधायक प्रतिनिधि चंद्रपुर विधानसभा

=>युवाओ और छात्रों की मांगों को मैं कलेक्टर साहब तक प्रेषित करूँगा

जीवन और कॉलेज के छात्रों द्वारा कलेक्टर महोदय मुख्यमंत्री महोदय एवं मुख्य सचिव महोदय के नाम का ज्ञापन मेरे द्वारा सौंपा गया है जिसमें उनकी मांगे हैं कि पूर्व में पदस्थ रहे SDM श्री बजरंग दुबे को पुनः डभरा में SDM पद में पदस्थापना करने की मांग की गई है ।

नीलम टोप्पो तहसीलदार डभरा।

नही थम रहा वनांचल में अवैध रेत का खनन

BBN24@सूरज लहरे

राजनांदगांव :-- वनांचल में अवैध रेत का खनन नहीं थम रहा है अभी कुछ दिन पहले धानापैली से लगे शिवनाथ नदी से रेत निकालने की शिकायत लगातार आ रही थी जिसके बाद राजस्व विभाग के तहसीलदार के द्वरा चार गाडियो को जप्त कर कारवाही की गई था जिसके बाद भी रेत माफिय के हौसले बुलंद बने हुए है और फिर से उसी जगह से अवैध रेत निकालना शुरू हो गया जिसकी सुचना आज फिर से तहसीलदार को मिली और दो माजदा गाड़ी क्रमांक CG 08 -L 1379 ,CG 08 W 5028 गदै मालिक मुकेश कुमार ब्राम्हणभेड़ी और तिजाउ राम को रेत निकालते धानापैली से पकड़ा गया जिस पर गौण खनिज अधिनियम के तहत कारवाही कर अम्बागढ़ चौकी थाने लाया गया ।

अवैध वसूली पर कोई कारवाही - लगातार अवैध रेत की शिकायत पर ट्रासपोर्टो पर राजस्व और खनिज विभाग कारवाही तो कर रहा है लेकिन बिना किसी रायल्टी पर्ची के जिस जगह से रेत निकली जा रही है उसके एवज में जो 400 रूपये की अवैध वसूली जिसके द्वरा की जा रही उस पर अभी तक कोई कारवाही नहीं हो पाया है जिसके कारण गाडियो पर कारवाही होने के बाउजूद फिर से अवैध रेत निकालने का सिलसला शुरू हो जाता है और यहाँ तक की ट्रांस्पोट मालिको यह भी कहना है की हम चोरी थोड़ी कर रहे है रेत के बदले 400 रूपये भी दे रहे है तो आखिर अवैध रूप से रेत निकालने के एवज में रायल्टी की वसूली कौन कर रहा है पंचयात या फिर कोई असामाजिक तत्व ये जाँच का विषय है ।

*अवैध रेत वाली जगहे* - इन जगहों पर बड़े लंबे समय से अवैध रेत का खनन जोरो पर जहा पर से खनिज विभाग की हर साल लाखो की राजस्व का नुक्सान पंहुचा रहे है अम्बागढ़ चौकी कान्हे,धानापैली, भड़सेना, सिर्राभाटा, (मोहला )चीलाडबरी, खैरी पांगरी,सांगली इन जगहों से अवैध रेत निकाली जा रही है ।

अवैध रेत निकालने के एवज में जिन लोगो के द्वरा अवैध वसूली की जा रही है उसकी जानकारी पाये जाने पर उचित कारवाही की जायेगी ।डी.आर . धुव तहसीलदार अम्बागढ़ चौकी

डभरा SDM के स्थानांतरण से क्षेत्रवासी नाराज ....ईमानदारी की ये सजा. ऐसा क्यों....

BBN24@ब्यूरो रिपोर्ट जांजगीर /डभरा :- आपने तो फिल्मों में देखा ही होगा कि जो अधिकारी भ्रष्ट तंत्र तंत्र पर ताबड़तोड़ कार्यवाही करते हैं तो उसे ट्रांसफर कर दिया जाता है ऐसा ही नजारा जांजगीर-चांपा जिले की डभरा में पदस्थ एसडीएम बजरंग दुबे के साथ हुआ बजरंग दुबे की पोस्टिंग डभरा एसडीएम के रूप में महज 4 माह 20 दिन ही हुए थे ऐसा क्या हुआ कि उनको मुख्यालय बुला लिया गया दरसल में SDM बजरंग दुबे भ्रष्ट तंत्र पर एक के बाद एक कार्यवाही किए जा रहे थे जिस को लेकर क्षेत्र में भ्रष्ट लोगों में खौफ और दहशत का माहौल था शायद इसी कारण SDM डभरा उनकी आंखों पर यह किरकिरी बनी हुई थी जिसके बाद उन्होंने अपनी गंदी राजनीति खेल उन्हें डभरा से मुख्यालय ट्रांसफर करा दिए ।

=> डभरा SDM ने 4 माह 20 दिन में कितने काम किए डभरा इतिहास में जो नहीं हुआ

डभरा SDM बजरंग दुबे ने पदभार ग्रहण करते ही ऐसे कई मामले थे जो काफी दिनों से नहीं सूलझ रहे थे जिसको चुटकी में सुलझाते हुए दिखे वह चाहे चक्का जाम की बात हो या फिर मुआवजा वितरण की पेंशनधारियों में 6 माह से जहां पेंशन ना बटा हो उसे बनवाने में जाति निवास ऐसे कई काम है जो हमेशा सरकारी कामों की तरह लेटलतीफी होते रहता था इसे गंभीरता से लेते हुए जल्द ही निराकरण किए।

=> मीडिया के बातों को गंभीरता से लेते थे।

वही SDM साहब मीडिया में जो भी खबरें आती थी उसको संज्ञान में लेकर तत्काल उस पर कार्यवाही करते थे वही एक बार डभरा थाना चौक के जो रोड सालों से खराब पड़ी हुई थी जिसे मीडिया कर्मियों द्वारा WhatsApp के माध्यम से सूचना देने पर तत्काल उस पर कार्यवाही कर महज 2 से 3 दिनों के अंदर रोड तो सुधरावा दिए। बजरंग दुबे जैसे आला अधिकारी डभरा क्षेत्र से जाने के बाद वही क्षेत्रवासियों में गम का माहौल है।

=>युवाओं के लिए आइकॉन थे SDM बजरंग दुबे

वह 4 माह 20 दिन जैसे कम समय में क्षेत्र के युवाओं के सबसे पसंदीदा अधिकारियों में से एक थे बजरंग दुबे जिसको लेकर युवा वर्ग में प्रशासन के इस स्थानांतरण पर नाराजगी देखने को मिल रहा है वहीं सोशल मीडिया में युवा अपनी नाराजगी जाहिर कर रहे हैं उनका कहना है कि ऐसा क्या हुआ कि ऐसे अच्छे अधिकारियों को ट्रांसफर करा दिया जाता है क्या भ्रष्टतंत्र की जरूरत है इस क्षेत्र में जिसके लिए ऐसे अधिकारियों का ट्रांसफर करा दिया जा रहा है वहीं सोशल मीडिया में शासन प्रशासन की इस कार्यवाही पर लोग सवालिया निशान खड़ा कर रहे हैं।

=> 4माह 20 दिन के कार्यकाल मे किये गए कार्यो पर एक नजर

1 भ्रष्ट सरपंच के वित्तीय अधिकार पर रोक लगाना

2 रेत एवं खनन माफियाओं में कार्यवाही

3 लापरवाही करने वाले शिक्षकों के ऊपर कार्यवाही

4 जिले में सबसे ज्यादा सक्रियता के साथ अपने कामो में तेजी लाना।

5 जहां पर पिछले 11 वर्षों तक नहर में पानी नहीं पहुंचा था जिसे देख डभरा एसडीएम द्वारा तत्काल JCB ले जाकर अपने सामने हीं काम कराया गया और जहां जहां पानी नहीं पहुंच पा रहा है वहां पानी पहुंचाने के लिए जी तोड़ मेहनत नहरों से खेतो में पानी पहुचाना।

6 सालो से पड़े जर्जर रोड को मीडिया के माध्यम से जानकारी मिलते ही महज 2 से 3 दिन में काम करा कर ठीक करना।

7 जहां जहाँ 6 माह एक साल से पेंशन का भुगतान नही हुआ था वहां सीईओ के साथ जाकर तत्काल पेंशन बंटवाना।

8 डभरा जनपद को ODF बनाने के लिए देर रात तक गांवों में जाना लोगो को प्रेरणा देना साथ ही ODF बनाने में जो रोड़ा बन रहे थे उनके ऊपर कार्यवाही करना। वही सचिवों से लगातार बैठक करना।

9.शिक्षा के क्षेत्र में शिक्षा गुणवत्ता सुधार लाने के लिए लगातार मोनिटरिंग करना।

10 लगातार धान कोचियों के ऊपर कार्यवाही करना

11 धान खरीदी केंद्रों में लगातार मोनिटरिंग एवं कार्यवाही।

12 डभरा तहसील कार्यालय परिसर से गायत्री मंदिर तक लगतार हो रहे धरना प्रदर्शन को उचित स्थान पर करने के लिए इस क्षेत्र को साइलेन्स जॉन घोषित करना।

13 झोलाछाप डॉक्टरों के ऊपर कार्यवाही।

14 NTPC के कार्यो में अवरोध करने वाले अनावश्यक लोगो के ऊपर 151,107,116 में प्रतिबंधात्मक कार्यवाही।

15 हर विभागों में लगातार मॉनिटरिंग।

16 क्षेत्र के कंपनियो के मनमानी कार्यो पर अंकुश लगाना।

और भी ऐसे कई कार्य किये जो आज तक डभरा के इतिहास में कभी नही हुआ है।

=>हमेशा अच्छे अधिकारी की ही स्थान्तरण क्यो???

यहां हमेशा अच्छे अधिकारियों का स्थानांतरण क्यों होता है यह समझ से परे है डभरा एसडीएम के आने के बाद से हम युवाओं में एक अलग सा जुनून था हमें उम्मीद है कि हमारे क्षेत्र में बदलाव आएंगे और हमने जिस तरीके से बदलाव की कल्पना की थी उस बदलाव को पूरा करने में डभरा SDM एक सक्षम अधिकारी थेजिनके कार्यवाही के बाद क्षेत्र में भ्रष्ट्र तंत्र पर अंकुश लग रहा था मगर उनका अचानक से स्थानांतरण होना और वह भी इतने कम दिनों में यह हमारे समझ से परे है जहां भ्रष्ट अधिकारी 20 - 22 साल से जमे रहते हैं उनका स्थानांतरण क्यों नहीं होता और अच्छे अधिकारियों को इतना जल्दी क्यों????वही SDM साहब के बारे में तारीफ करना मतलब सूरज को दिया दिखाने के बराबर है हमारी मांग है कि उनका पुनः डभरा में ही SDM पद पर पदस्थ किया जाए। जिससे हमारी क्षेत्र की विकास दिनों दिन आगे बढ़ें।

खुशवंत चन्द्रा छात्र नेता

=> गंदी राजनीति के शिकार हुए SDM साहब

यह दुर्भाग्य की बात है कि इतने अच्छे अधिकारियों के तबादला हमारे क्षेत्र से होना जहां विकास की किरण के रूप में पदस्थ हुए थे इस एसडीएम साहब इतने मिलनसार के साथ साथ क्षेत्र की जनता के हित में लेकर कार्य करने वाले दिन का कुछ ही दिनों में स्थानांतरण होना बहुत दुर्भाग्य की बात है । मुझे तो लगता है कि क्षेत्र में कोई बहुत बड़ी गड़बड़ी होने ही वाली है जिसके वजह से इतने अच्छे अधिकारी का स्थानांतरण हो गया क्योंकि साहब रहते तो शायद यह गड़बड़ी नहीं होने देते यह क्षेत्र की जनता के साथ अन्याय है कि अच्छे अधिकारियों का स्थानांतरण हो जा रहा है और हमारी मांग है कि उनको पुनः डभरा में प्रदर्शित करें जिससे हमारा क्षेत्र विकास की ओर अग्रसर रहें।

राइस किंग खूंटे (कांग्रेसी नेता)

=> दुर्भाग्य की बात है कि अच्छे अधिकारियों का स्थानांतरण जल्दी हो जाता है

वही JCC J प्रत्याशी गीतांजलि पटेल का कहना है कि SDM साहब के कार्यशैली से क्षेत्र में लगातार विकास हो रहा था और ऐसे अधिकारियों का स्थानांतरण वाला एक प्रशासनिक तंत्र का दुर्भाग्यपूर्ण निर्णय है। और अच्छे अधिकारियों का स्थानांतरण हो ना यह कोई नई बात नहीं है लेकिन इस पर शासन-प्रशासन को ध्यान देना चाहिए कि जहां अधिकारी अच्छे काम कर रहे हैं उनका तत्काल इस तरीके से स्थानांतरण करना गलत बात है वही हमारी मांग है कि SDM साहब को पुणे डभरा में पदस्थ किया जाए ताकि क्षेत्र विकास की ओर अग्रसर रहें।

गीतांजली पटेल JCC J प्रत्यासी चंद्रपुर विधानसभा

=>ऐसे में कैसे लगेगा भ्रष्टाचार पर अंकुश

एक और सरकार भ्रष्टाचार को खत्म करने की बात कर रहे हैं लेकिन हैरानी की बात यह भी है कि जो अधिकारी भ्रष्टाचार को खत्म करने के लिए भ्रष्ट तंत्र पर अंकुश लगाने के लिए जब कार्यवाही करते हैं तो उसका तबादला इसी तरीके से आनन फानन में कर दिया जाता है यही कारण है कि भ्रष्टाचार बढ़ते जा रहा है और भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने वाले को दबा दिया जाता है अब आगे देखना है कि इस मामले को लेकर शासन प्रशासन क्या कार्यवाही करते हैं.|

रायपुर : मुख्यमंत्री शामिल हुए ‘विकास तिहार’ में

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह आज दोपहर जशपुर जिले के विकासखंड फरसाबहार के अंतर्गत ईब नदी के किनारे ग्राम खारीबहार (लवाकेरा) में आयोजित ‘विकास तिहार’ में शामिल हुए। उन्होंने विशाल जनसभा में जनता का अभिवादन किया और सभी लोगों को नये साल 2018 की बधाई दी। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर वहां जशपुर जिले के विकास के लिए एक हजार 076 करोड़ से ज्यादा के निर्माण कार्यों का लोकार्पण-भूमिपूजन किया। उन्होंने शासन की विभिन्न योजनाओं के तहत 10 हजार से ज्यादा हितग्राहियों को लगभग एक करोड़ 94 लाख रूपए की अनुदान सामग्री और राशि का भी वितरण किया। इस अवसर पर गृह मंत्री श्री रामसेवक पैकरा और लोक निर्माण श्री राजेश मूणत सहित जिले के अनेक वरिष्ठ जनप्रतिनिधि और विभिन्न संस्थाओं के पदाधिकारी भी उपस्थित थे। 

प्रदेश सरकार मजदूर विरोधी शासन की योजनाओं का मजदूरों को नही हो रहा लाभ ~ दीपक दुबे प्रदेशाध्यक्ष इंटक कांग्रेस छग

जांजगीर चांपा :- जिले के सैकड़ों मजदूर अन्य राज्यों में बने बंधक पामगढ़ ब्लॉक के मजदूरों ने जिला में पहुंचकर अपने बंधक बनाए जाने की शिकायत राष्ट्रीय मजदूर कांग्रेस इंटक प्रदेश अध्यक्ष दीपक दुबे से किये जिसपर श्री दुबे ने इंटक कार्यकारी जिलाध्यक्ष सुभाष मिश्रा को मजदूरों के साथ कलेक्टर एस.पी जिला श्रम अधिकारी के पास ज्ञापन देकर त्वरित कार्रवाई की मांग की। जिस पर जिला श्रम पदाधिकारी ने इट भट्ठा संचालको लेबर ठेकेदार को फोन पर मजदूरों के सुरक्षा एवं समुचित वेतन दिए जाने उन्हें तत्काल छुड़ाने के लिए जिला स्तर पर लेबर स्पेक्ट के साथ टीम बनाकर भेजने की बात कही है। इंटक नेता एवं बंधक बने मजदूरों के परिजनों ने ईट भट्टा मालिक भोला सिंह नाथ उर्फ आई गेट नागेश्ववर निवासी नउवा थाना पथरा बाजार जिला सिद्धार्थ नगर (उ.प्र) 272189 के द्वारा मजदूरों का मजदूरी दर राशि का भुगतान प्रदान न करने एवं लगभग 37 मजदूरों को बंधक बना कर रखने पर, एवं 37 बंधक के चंगुल से रिहा करा कर ई ट भट्टा मालिक भोला सिंह और उनके 2 एजेंट मनोज कुमार साहू,जयचंद खरे के विरुद्ध जांच कर उचित कार्यवाही किये जाने की मांग किए है राज्य के मजदूरों पर हो रहे लगातार अत्यचार शासन की योजनाओं का मजदूरों को नही मिला रहा लाभ राष्ट्रीय मजदूर कांग्रेस इंटक प्रदेशाध्यक्ष दीपक दुबे ने कहा की छत्तीसगढ़ में मजदूरों को सही वेतन नही मिलने के कारण अन्य राज्यो में पलायन करते है सरकार की योजनाओं का लाभ मजदूरों को नही मिल पा रहा है सरकार की मजदूर विरोधी नीतियो के वजह से प्रदेश में मजदूरों की दयनीय स्थिति है। जिला के मजदूर जो बंधक बनाए गए है उन्हें सुरक्षित वापल लाने की लिए श्रम पदाधिकारी श्री पटेल जी द्वारा त्वरित कार्यवाही करने को आश्वासन दिए।

गुरू घासीदास लोक कला महोत्सव मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह होंगे समापन समारोह के मुख्य अतिथि

जांजगीर-चांपा, :-मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह पामगढ़ के ग्राम कुटराबोड़ स्थित डीएव्ही मुख्यमंत्री पब्लिक स्कूल प्रांगण में आयोजित दो दिवसीय गुरू घासीदास लोक कला महोत्सव के समापन कार्यक्रम में 10 जनवरी को शामिल हांेगे। मुख्यमंत्री डॉ. सिंह के मुख्य आतिथ्य में दोपहर 12.30 बजे से आयोजित समापन कार्यक्रम की अध्यक्षता खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग मंत्री श्री पुन्नु लाल मोहले करेंगे। अतिविशिष्ट अतिथियों के रूप में जगतगुरू गुरू गद्दीनसीन गिरौधपुरी धाम गुरू विजय कुमार, गुरूगोसाई भन्डारपुरी गुरू बालदास और गुरू उत्तमदास, गुरूगोसाई खपरीपुरी गुरू आसम दास उपस्थित रहेंगे। इस कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री एवं जिले के प्र्रभारी श्री अजय चन्द्राकर, अनुसूचित जाति तथा जनजाति एवं स्कूल शिक्षा मंत्री श्री केदार कश्यप, सहकारिता, संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री श्री दयालदास बघेल, लोक सभा सांसद श्रीमती कमला देवी पाटले, राज्य सभा सांसद श्री भूषण लाल जांगड़े, संसदीय सचिव आदिम जाति एवं अनुसूचित जाति तथा स्कूल शिक्षा विभाग श्री अंबेश जांगड़े, छत्तीसगढ़ अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष श्री राम जी भारती, छत्तीसगढ़ बेवरेज कार्पोरेशन अध्यक्ष श्री युद्धवीर सिंह जुदेव, छत्तीसगढ़ अंत्यावसायी वित्त विकास निगम अध्यक्ष श्री निर्मल सिन्हा, जांजगीर चांपा विधायक श्री मोतीलाल देवांगन, अकलतरा विधायक श्री चुन्नीलाल साहू, सक्ती विधायक डॉ. खिलावन साहू, जैजैपुर विधायक श्री केशव चंद्रा, विधायक डोंगरगढ़ श्रीमती सरोजनी बंजारे, विधायक आरंग श्री नवीन मार्कण्डेय, विधायक मस्तुरी श्री दिलीप लहरिया, विधायक अहिवारा दुर्ग श्री सावला राम डाहरे, विधायक बिलाईगढ़़ डॉ. सनम जांगड़े, विधायक सारंगढ़ श्रीमती केरा बाई, विधायक सराईपाली श्री रामलाल चौहान, जिला पंचायत अध्यक्ष जांजगीर-चांपा श्री नंद किशोर हरवंश, सरपंच ग्राम पंचायत पामगढ़ श्रीमती नेहा देवलहरे और सरपंच ग्राम पंचायत कुटराबोड़ श्रीमती सरोजनी मानिकपुरी इस समारोह के विशिष्ट अतिथि होंगे। सांसद श्रीमती पाटले 9 जनवरी को करेंगी लोककला महोत्सव का शुभारंभ कुटराबोड़ में गुरू घासीदास लोक कला महोत्सव का शुभारंभ 9 जनवरी को लोकसभा सांसद श्रीमती कमला देवी पाटले करेंगी। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता संसदीय सचिव आदिम जाति तथा अनुसूचित जाति विकास एवं स्कूल शिक्षा श्री अंबेश जांगड़े करेंगे। इस अवसर पर छत्तीसगढ़ अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष श्री राम जी भारती और राज्य सभा सांसद डॉ. भूषण जांगड़े अतिविशिष्ट अतिथि के रूप मंे शामिल होंगे। शुभारंभ कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि के रूप में छत्तीसगढ़ बेवरेज कार्पोरेशन अध्यक्ष श्री युद्धवीर सिंह जुदेव, छत्तीसगढ़ अंत्यावसायी वित्त विकास निगम अध्यक्ष श्री निर्मल सिन्हा, जांजगीर चांपा विधायक श्री मोतीलाल देवांगन, अकलतरा विधायक श्री चुन्नीलाल साहू, सक्ती विधायक डॉ. खिलावन साहू, जैजैपुर विधायक श्री केशव चंद्रा, विधायक अहिवारा दुर्ग श्री सावला राम डाहरे, विधायक डोंगरगढ़ श्रीमती सरोजनी बंजारे, विधायक बिलाईगड़ डॉ. सनम जांगड़े, विधायक आरंग श्री नवीन मार्कण्डेय, विधायक सारंगढ़ श्रीमती केरा बाई, विधायक मस्तुरी श्री दिलीप लहरिया, विधायक सराईपाली श्री रामलाल चौहान, जिला पंचायत अध्यक्ष जांजगीर-चांपा श्री नंद किशोर हरवंश, जनपद अध्यक्ष पामगढ़ श्री डमरू प्रसाद मनहर, सदस्य जिला पंचायत जांजगीर-चांपा श्रीमती इन्दु बंजारे, श्रीमती प्रीति दिव्य, श्री प्रेमचंद जायसी, सदस्य जनपद पंचायत पामगढ़ श्री फागुराम खरे, सरपंच ग्राम पंचायत पामगढ़ श्रीमती नेहा देव लहरे और सरपंच ग्राम पंचायत कुटराबोड़ श्रीमती सरोजनी मानिकपुरी शामिल होंग

ई-वे बिल तैयार करने के लिए प्रशिक्षण आज

जांजगीर-चांपा:- सहायक आयुक्त, राज्य कर द्वारा अंतराज्यीय क्रय-विक्रय करने वाले व्यवसाइयों, लेखापालांे, कर सलाहकारों, अधिकारियों एवं कर्मचारियों के लिए ई-वे बिल तैयार करने के संबंध में प्रशिक्षण आयोजित किया गया है। प्रशिक्षण 06 जनवरी को दोपहर 02ः30 बजे से केमिस्ट भवन जांजगीर में होगा। सहायक आयुक्त, राज्य कर ने सभी संबंधितों को प्रशिक्षण में शामिल होने का आग्रह किया है।