छत्तीसगढ़

केवट निषाद समाज के युवा संगठन का शिवरीनारायण में हुई बैठक

शिवरीनारायण:- युवा केवट निषाद समाज की नगर के श्री केवट मन्दिर में बैठक आयोजित हुई । जहां हर माह के प्रत्येक 25 तारिख को मंथली बैठक होता है। दिनांक 19/12/2018 की बैठक में आने वाली माह फरवरी 2019 की सप्तमी को भव्य रूप से श्री गुह्निषादराज जी जयंती व भगवान श्री राम,लक्ष्मण, सीता, हनुमान, माँ शबरी नाविक जी का भव्य झांकी धार्मिक नगरी शिवरीनारायण में प्रतिवर्ष की भांति इस वर्ष भी निकाली जाएगी।यह कार्यक्रम केंद्रीय समिति के सहयोग से सम्पन्न होगा। इसी दिसम्बर माह में शिवरीनारायण महिला समिति का गठन किया जाएगा साथ ही छ ग राज्य के विधानसभा चुनाव में समाज के प्रथम व एकमात्र निर्वाचित विधायक श्री कुंवरसिंह निषाद जी हार्दिक बधाई व शुभकामनाएं समिति द्वारा दी गयी तथा सामाजिक चर्चाये हुई। बैठक में प्रमुख रूप से उग्रेश्वर(गोपाल)कैवर्त्य, विकाश कैवर्त्य, तिजराम कैवर्त्य,अजय कैवर्त्य, अमन कैवर्त्य, चंद्रशेखर कैवर्त्य, तिहारु कैवर्त्य व समाज के प्रबुद्ध जन मौजूद रहे।

महाप्रबंधक, दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे की उपस्थिति में विषेष संरक्षा संगोष्ठी का आयोजन

रायपुर-17 दिसम्बर 2018 रायपुर रेल मंडल हमेषा से ही यात्री सुरक्षा को सर्वोपरी मानती रही है। इसके मद्देनजर प्रति माह मंडल के विभिन्न (खंडो पर स्थित स्टेषनों) वर्कषॉपों पर संरक्षा सेमिनार आयोजित कर रेल परिचालन से सीधे जुड़े विभागो के कर्मचारियों के मध्य संवादहीनता दूर करने के लिए व उनके समक्ष आने वाले कठिनाईयों के विषय में चर्चा कर संगोष्ठी /तत्संबंधित काउन्सीलिंग करती आई है। इसी कड़ी में दिनांक 17 दिसम्बर 2018 को डबल्यु आर एस कालोनी के षिवनाथ रेल विहार के उल्लास क्लब में विषेष संरक्षा संगोष्ठी का आयोजन किया गया । इस विषेष संरक्षा संगोष्ठी के मुख्य अतिथि सुनील सिंह सोइन महाप्रबंधक दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे की गरिमामय उपस्थिति में दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। मंडल रेल प्रबंधक श्री कौशल किशोर ने स्वागत संबोधन में कहा कि संरक्षा सर्वप्रथम है कर्मचारियों को इसके लिए प्रशिक्षण के साथ-साथ नियमित तौर पर परामर्श भी दिए जाते हैं। संरक्षा हेतु उत्कृष्ट कार्य के लिए कर्मचारियों को पुरस्कार भी प्रदान किये जाते है। महाप्रबंधक सुनील सिंह सोइन ने अपने संबोधन में कहा कि संरक्षा के मदो एवं नियमों का दोहराव, संरक्षा पालन में अति आवश्यक है। कर्मचारियों, यात्रियों एवं रेलवे संपत्ति की संरक्षा बहुत जरूरी है। पेट्रोलिंग मैन की समस्याओं से अवगत होने एवं कार्य परिस्थितियों में सुधार करने के लिए विशेष अभियान चलाया जाए एंव ऐसे कर्मचारियों के पास सभी उपकरणों की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए।शंटिंग के समय स्किड्स लगा कर गाड़ी स्लाइड होने से दुर्घटनाओं को रोक सकते हैं। स्पैड के नियमों का पालन करें। कर्मचारी पर्याप्त विश्राम करें, लो फैट हाई फाइबर युक्त भोजन करें साथ ही साथ रनिंग रूम का खाना भी अधिकारियोंं द्वारा चेक किया जाए। निर्माण कार्य चल रहे हो वहां बैरिकेट्स जरूरी है एवं निर्माण स्थल पर सुपरवाइजर की उपस्थिति आवश्यक है। अगर ऐसी जगह असुरक्षित प्रतीत होती है तो संबधित अधिकारियों को तुरंत सूचना दें। महाप्रबंधक नें कर्मचारियों से रूबरू बात की एवं उनकी समस्याओं को जाना। मुख्य संरक्षा अधिकारी पी.वी. बारापात्रे ने दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के संरक्षा प्रगति एवं संरक्षा सेमीनार की सार्थकता पर चर्चा की। नुक्कड़ नाटक एवं स्लाईड़ प्रजेंटेशन के माध्यम से संरक्षा के प्रति जागरूक किया गया।

विजयवाड़ा रेल मंडल में ‘फैथई’ तुफान के प्रभाव के चलते कुछ ट्रेनों को मार्ग परिवर्तित कर दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के मार्ग से रवाना किया जा रहा है

पूर्व तटीय जिले के अंतर्गत विजयवाड़ा रेल मंडल में ‘फैथई’ तुफान के प्रभाव के फलस्वरुप कुछ ट्रेनों को मार्ग परिवर्तित कर दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के मार्ग से रवाना किया जा रहा है, जिसकी जानकारी इस प्रकार हैः- 1. संबलपुर रोड से नांदेड़ के लिए आज दिनांक 17 दिसंबर, 2018 को छुटने वाली गाड़ी संख्या 20809 नागवली एक्सप्रेस को परिवर्तित मार्ग व्हाया टिटलागढ़ - रायपुर - बल्लारसाह के रास्ते गंतव्य को रवाना की जाएगी । 2. हावड़ा से यशवंतपुऱ के लिए आज दिनांक 17 दिसंबर, 2018 को छुटने वाली गाड़ी संख्या 22863 हावड़ा-यशवंतपुर एक्सप्रेस को परिवर्तित मार्ग व्हाया खड़गपुर - टाटानगर - झारसुगुड़ा - बिलासपुर - बल्लारसाह के रास्ते गंतव्य को रवाना की जाएगी । 3. हावड़ा से हैदराबाद के लिए आज दिनांक 17 दिसंबर, 2018 को छुटने वाली गाड़ी संख्या 18645 ईस्ट कोस्ट एक्सप्रेस को परिवर्तित मार्ग व्हाया खड़गपुर - टाटानगर - झारसुगुड़ा - बिलासपुर - बल्लारसाह के रास्ते गंतव्य को रवाना की जाएगी । 4. डिब्रुगढ़ से कन्याकुमारी़ के लिए आज दिनांक 17 दिसंबर, 2018 को छुटने वाली गाड़ी संख्या 15906 विवेक एक्सप्रेस को परिवर्तित मार्ग व्हाया खड़गपुर - टाटानगर - झारसुगुड़ा - बिलासपुर - बल्लारसाह के रास्ते गंतव्य को रवाना की जाएगी । 5. पुरुलिया से विल्लुपुरम़ के लिए आज दिनांक 17 दिसंबर, 2018 को छुटने वाली गाड़ी संख्या 22605 पुरुलिया - विल्लुपुरम एक्सप्रेस को परिवर्तित मार्ग व्हाया हिजिल्ली - टाटानगर - झारसुगुड़ा - बिलासपुर - बल्लारसाह के रास्ते गंतव्य को रवाना की जाएगी ।

गुरू बाबा घासीदास ने देश और दुनिया को दी मानवता के मार्ग पर चलने की प्रेरणा : भूपेश बघेल

रायपुर। छत्तीसगढ़ के नवनिर्वाचित मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कल 18 दिसम्बर को गुरू बाबा घासीदास जी की जयंती के अवसर पर हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं दी है। उन्होने गुरू घासीदास जयंती की पूर्व संध्या पर आज यहां जारी शुभकामना संदेश में कहा है – गुरू बाबा घासीदास जी भारत माता और छत्तीसगढ़ महतारी के अनमोल रत्नों में से थे, जिन्होंने सत्य, अहिंसा, दया, करूणा और परोपकार जैसे सर्वश्रेष्ठ मानवीय मूल्यों पर आधारित अपने महान जीवन दर्शन के जरिये देश और दुनिया को मानवता के मार्ग पर चलने की प्रेरणा दी। उनके विचार आज भी प्रासंगिक और प्रेरणादायक हैं। हमारी सरकार गुरू बाबा घासीदास के बताए मार्ग पर चलकर नये छत्तीसगढ़ के निर्माण और विकास के लिए वचनबद्ध है। मुख्यमंत्री ने कहा-गुरू बाबा की जन्म स्थली और तपोभूमि गिरौदपुरी धाम छत्तीसगढ़ के साथ-साथ सम्पूर्ण राष्ट्र के पावन तीर्थो में से एक है। श्री बघेल ने कहा – महान विभूतियों का जीवन दर्शन सभी मनुष्यों के लिए प्रेरणादायक होता है। गुरू बाबा घासीदास भी एक ऐसे महान तपस्वी और मनीषी थे, जिनके विचार और उपदेश प्रत्येक मनुष्य के लिए कल्याणकारी है। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर गुरू बाबा घासीदास से सभी लोगों के जीवन में सुख-समृद्धि और शांति तथा खुशहाली के लिए आशीर्वाद प्रदान करने की प्रार्थना की है।

दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के दुर्ग स्टेशन से प्रारंभ होने वाली ट्रेनों की सफाई के लिए आधुनिक, ’स्वचालित कोच वाशिंग प्लांट’की स्थापना जल्द

रायपुर-13, दिसम्बर 2018 दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे ,रायपुर मंडल के दुर्ग स्टेशन से प्रारंभ होने वाली ट्रेनों की सफाई की स्तर में सुधार के लिए आधुनिक,  ’स्वचालित कोच वाशिंग प्लांट’ को दुर्ग में कोच रखरखाव डिपो में स्थापित किया जा रहा है।  वर्तमान में, कोच की बाहरी सतह मैन्युअल रूप से साफ की जा रही है। यह प्रक्रिया न केवल समय लेने वाली है, और कोच बाहरी के सभी स्थानों तक पहुंचने के लिए बहुत सारे प्रयासों की आवश्यकता है। इन कठिनाइयों को ध्यान में रखते हुए, दुर्ग डिपो के लिए 2.2 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत पर एक नया ’स्वचालित कोच वॉशिंग प्लांट’ खरीदा जा रहा है। यह संयंत्र ट्रेन कोच के बाहरी हिस्से को अच्छी तरह से धो देगा। इसमे लगभग 7-8 किमी प्रति घंटे की धीमी रफ्तार से ट्रेन आगे बढ़ती है। 24 कोच की एक ट्रेन को कम से कम समय 8 मिनट  में कोच वॉशिंग किया जा सकता है। उच्च दबाव वाले पानी जेट और क्षैतिज और ऊर्ध्वाधर नायलॉन और कपास ब्रश का उपयोग करते हुए, प्रणाली में एक बहु स्तरीय सफाई तंत्र है। यह संयंत्र जल मृदुलीकरण और प्रदूषण उपचार संयंत्र के साथ आता है।
            इस आधुनिक प्रणाली के मुख्य फायदों में से एक यह है कि यह बहुत कम पानी की आवश्यकता के साथ कोच सफाई की अत्यधिक श्रम गहन गतिविधि को स्वचालित करता है, क्योंकि यह केवल 20 प्रतिशत़ ताजा पानी का उपयोग करता है और शेष मात्रा में पानी का पुनर्नवीनीकरण किया जाता है। इसके अलावा, सिस्टम स्वचालित रूप से डिटर्जेंट और सफाई एजेंटों के उपयोग को अनुकूलित करता है, जिसके परिणामस्वरूप अधिक प्रभावी सफाई होती है। पारंपरिक मैनुअल सिस्टम की तुलना में ट्रेन कोच के बाहरी हिस्से की सफाई की गुणवत्ता कहीं बेहतर है। इस संयंत्र द्वारा दैनिक 6 से 7 ट्रेनों को साफ करने की उम्मीद है।

 यह संयंत्र रेलवे की केंद्रीकृत मशीन खरीद एजेंसी, यानी कॉफ़मो  (केंद्रीय कार्यशालाएं आधुनिकीकरण संगठन) के माध्यम से खरीदा जा रहा है जिसका मुख्यालय नई दिल्ली में है। संयंत्र की खरीद के लिए निविदा 17.10.2018 को पहले से ही खोली जा चुकी है। प्रस्तावित संयंत्र 2019 के मध्य तक चालू होने की उम्मीद है।

कलेक्टर ने धान उठाव के कार्य में तेजी लाने के दिए निर्देश डीमओ को कहा ज्यादा से ज्यादा कटे आर ओ अब तक 1.98 लाख मीटरिक टन धान की हुई खरीदी

बलौदाबाजार, 13 दिसम्बर/ कलेक्टर जे.पी.पाठक ने आज यहां अधिकारियों की बैठक लेकर जिले में धान खरीदी कार्य में प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने उपार्जन केन्द्रों में धान के जाम होने की संभावना को देखते हुए उठाव कार्य में और तेजी लाने के निर्देश दिए। उन्होंने बफर स्टाॅक लीमिट पार करने वाले उपार्जन केन्द्रों से धान का उठाव प्राथमिकता के साथ अगले एक-दो दिनों में सुनिश्चित कराने कहा है। अधिकारियों ने बैठक में बताया कि अब तक जिले में 1 लाख 98 हजार मीटरिक टन धान की खरीदी की जा चुकी है। मौसम मंे अचानक आए बदलाव को ध्यान में रखते हुए धान फड़ को बारिश से बचाने के उपाय करने के निर्देश भी कलेक्टर ने समिति प्रबंधकों को दिए हैं। कलेक्टर ने जिले के सभी एसडीएम को उपार्जन केन्द्रों का दौरा कर उठाव और खरीदी कार्य की निरंतर समीक्षा करने को कहा है।
 उल्लेखनीय है कि जिले में 86 समितियों के अंतर्गत 149 उपार्जन केन्द्रों के जरिए धान की खरीदी विगत एक नवम्बर से जारी है। राज्य सरकार के निर्देशानुसार खरीदी का कार्य 31 जनवरी 2019 तक चलेगा। समीक्षा में बताया गया कि उठाव कार्य धीमी गति से होने के कारण अनेक समितियों में धान जाम होने की स्थिति है। कलेक्टर  पाठक ने परिवहन ठेकेदार को सख्त हिदायत देते हुए कहा कि अतिरिक्त वाहन लगाकर फड़ खाली किए जाएं। अधिकारियों ने बताया कि खरीदे गए धान में से 83 हजार मीटरिक टन धान का उठाव राईस मिलर्स द्वारा किया गया है। दो हजार 128 मीटरिक टन धान का संग्रहण मार्कफेड के कसडोल, रेंगनी अैर भाटापारा संग्रहण केन्द्र में भण्डारित किया गया है। उन्होंने मार्कफेड के डीमओ को निर्देशित कर ज्यादा से ज्यादा 
डी ओ जारी करने कहा ताकि राईस मिलर्स जल्दी से जल्दी धान का उठाव कर सकें। बैठक में अपर कलेक्टर जोगेन्द्र नायक, जिला विपणन अधिकारी  आर.पी. मिश्रा, जिला सहकारी बैंक के नोडल अफसर  प्रजापति, नान के डीएम   प्रकाश पटेल, सहकारिता विभाग के सहायक पंजीयक  गुप्ता   उपस्थित थे।

प्रदेस में कांग्रेस का एक रतफा जीत सभी दग्गजो की हुई शानदार वापसी

 रायपुर 1998 के बाद यह पहला मौका होगा, जब छत्तीसगढ़ से कांग्रेस के सारे दिग्गज नेता जीत कर विधानसभा पहुंचेंगे। 98 में सत्यनारायण शर्मा, रविंद्र चौबे, भूपेश बघेल, धनेंद्र साहू, मोहम्मद अकबर, अमितेष शुक्ल, ताम्रध्वज साहू, मनोज मंडावी और अरुण वोरा न केवल चुनाव जीते थे बल्कि पहले दिग्विजय सिंह सरकार और बाद में अजीत जोगी सरकार में मंत्री या मंत्री के समकक्ष रहे। अरुण वोरा को जोगी सरकार ने युवा आयोग का चेयरमैन बनाकर राज्य मंत्री का दर्जा दिया था। उनके अलावा बाकी सभी मंत्री रहे। लेकिन, इस बार इनके अलावे कई और नेता चुनाव जीत गए हैं, जिससे कांग्रेस के नए मुख्यमंत्री को मंत्री बनाने में काफी मशक्कत करनी पड़ेगी।
वरिष्ठ नेता चरणदास महंत 20 साल बाद सक्ती से चुनाव जीतकर पहली बार छत्तीसगढ़ विधानसभा में पहुंचेंगे। हालांकि, वे सीएम पद के दावेदार हैं। लेकिन, जातिगत समीकरण में वे इस कुर्सी तक नहीं पहुंच पाए तो जाहिर है, उन्हें किसी बड़े विभाग का मंत्री बनाया जाएगा। दिग्विजय सिंह सरकार में महंत की सीएम के बाद नम्बर दो की हैसियत हो गई थी। कहते हैं, महंत की बढ़ते प्रभाव को देखते ही उस समय के सीएम दिग्विजय सिंह ने महंत को जांजगीर लोकसभा से चुनाव लड़ाकर रास्ते से हटा दिया था। महंत उस समय मध्यप्रदेश के गृह, परिवहन एवं जेल के साथ ही जनसंपर्क विभाग संभाल रहे थे।
महंत के मंत्रिमंडल से हटने के बाद दिग्गी सरकार में सत्यनारायण शर्मा की हैसियत बढ़ाई गई थी। खनिज और वाणिज्यिक कर जैसे कई विभागों को संभालने वाले शर्मा तब छत्तीसगढ़ से सबसे प्रभावशाली मंत्री बन गए थे।
दरअसल, तब मंत्रिमंडल की 15 फीसदी का बाध्यता नहीं थी। इसीलिए, अजीत जोगी ने भी दो दर्जन से अधिक मंत्री बना डाले थे। कई विभागों में कैबिनेट और राज्य मंत्री होते थे। गृह में नंदकुमार पटेल कैबिनेट मंत्री थे और उनके साथ मनोज मंडावी और तुलेश्वर सिंह राज्य मंत्री। लेकिन, अब सीएम के अलावा सिर्फ 12 मंत्री बनाने की बाध्यता है। और, कांग्रेस के बड़े चेहरे इससे कहीं अधिक जीत कर आ गए हैं। मुख्यमंत्री के लिए ही चार चेहरे खुलकर सामने हैं। भूपेश बघेल, टीएस सिंहदेव, चरणदास महंत और ताम्रध्वज साहू। इनके अलावा रविंद्र चौबे और सत्यनारायण शर्मा भी कमजोर दावेदार नहीं होंगे।
चौथी विधानसभा में मंत्री बनने के लायक जो चेहरे जीते हैं, उनमें भूपेश बघेल, टीएस सिंहदेव, चरणदास महंत, रविंद्र चौबे, सत्यनारायण शर्मा, ताम्रध्वज साहू, धनेंद्र साहू, मोहम्मद अकबर, अमितेष शुक्ल, उमेश पटेल, अमरजीत भगत, मनोज मंडावी, एसएस सोरी, कवासी लखमा, शिव डहरिया, अरुण वोरा, शकुंतला साहू शामिल हैं। शकुंतला स्पीकर गौरीशंकर अग्रवाल को पटखनी देकर विधायक बनी हैं। हालांकि, उनका यह पहला चुनाव है, लेकिन, भाजपा का बड़ा विकेट उखाड़ने के एवज में उन्हें इनाम तो मिलेगा ही। फिर, शकुंतला को मंत्री बनाने के कांग्रेस पार्टी के दो फायदे हैं। एक तो महिला और दूसरा साहू। एक साथ वह दो वर्गों को साध सकती है।
हालांकि, ये सभी नाम मिलाकर 17 होते हैं। इनमें एक सीएम, एक स्पीकर और डिप्टी स्पीकर बनेंगे। याने बचें 14। और मंत्री पद हैं सिर्फ 12। इनके अलावे आठ बड़े मंत्रियों को हराने वाले विकास उपाध्याय, देवेंद्र यादव और शैलेष पाण्डेय भी मंत्री पद की स्वाभाविक दावेदारी करेंगे।
उमेश पटेल जीरम नक्सली हमले में मारे गए पूर्व पीसीसी चीफ नंदकुमार पटेल के बेटे हैं। रायपुर के पूर्व कलेक्टर ओपी चौधरी को हराकर विधानसभा में वे दूसरी बार पहुंच रहे हैं। उन्हें मंत्रिमंडल में शामिल होना निश्चित है। अजा वर्ग से शिव डहरिया का मंत्री बनना भी तय है। तो आदिवासी वर्ग से अमरजीत भगत, मनोज मंडावी और एसएस सोरी मंत्री पद के तगड़े दावेदार होंगे। इसी तरह ओबीसी से भूपेश बघेल, चरणदास महंत, ताम्रध्वज साहू, धनेंद्र साहू, उमेश पटेल और शकुंतला साहू हैं तो सामान्य से टीएस सिंहदेव, रविंद्र चौबे, सत्यनारायण शर्मा, अमितेष शुक्ल और अरुण वोरा का नाम प्रमुख हैं। ये सभी नाम 12 से अधिक होते हैं।
अब रहा बोर्ड-आयोग, तो उसके लिए तो संगठन में 15 साल से काम करने वालों की दावेदारी होगी। शैलेष नीतिन त्रिवेदी, रमेश वर्ल्यानी और राजेंद्र तिवारी जैसे कई नाम हैं, जिन्हें कांग्रेस सरकार बोर्ड-आयोगों में एडजस्ट करना चाहेगी। कुल मिलाकर कांग्रेस के नए मुख्यमंत्री और कांग्रेस आलाकमान के लिए मंत्रिमंडल बनाना काफी पेचीदा काम होगा।

ठिठुरती ठंड मे मासूम जरूरत मंद छात्रों के नंगे पैरों को मिले जूते, समाज सेवी संस्था विप्लव की अनुकरणीय पहल खुद के जेब खर्च और सैलरी से पैसे बचाकर करते हैं मदद

जांजगीर-चांपा:- जिले मे छात्रों के द्वारा बनाई गई समाज सेवी संस्था विप्लव के सदस्यों ने गरीब तबके के स्कूली बच्चों को जूते देकर ठंड भरी सुबह मे खाली पैर स्कूल आने की उनकी एक बड़ी समस्या का निदान किया। विप्लव संस्था के सदस्यों ने जनपद प्राथमिक शाला पेण्ड्री के 300 बच्चों को जूते उपलब्ध कराए जिसे पाकर बच्चों के चेहरे खिल उठे। दरअसल सुबह की सैर पर निकले संस्था के सदस्यों को जनपद प्राथमिक शाला के बच्चे ठिठुरती ठंड मे खाली पैर स्कूल जाते नजर आए और उन्होंने इन बच्चों की समस्या के निजात का निर्णय लिया स्कूल के शिक्षकों से संपर्क कर विप्लव संस्था के सदस्यों ने अपने ग्रुप के एक सदस्य के जन्म दिन के अवसर को विशेष बनाने इस पुनित काम को चुना। गौरतलब है कि समाज सेवी संस्था विप्लव के सदस्य या तो छात्र है या उन्हे अभी अभी नौकरी मिली है और ये अपनी पाकेट मनी और तनख्वाह मे से पैसे बचाकर ऐसे पुनित कार्य पिछले 15 वर्षों से लगातार करते आ रहे हैं। जिसकी सभी ओर प्रशंसा भी की जाती है। आपको बता दें की इनके द्वारा नेकी की दीवार की भी शुरूवात भी जिले मे की गई है जिसका लाभ बडत्री संख्या मे जरूरत मंद ले रहे हैं।

प्रसव पूर्व लिंग परीक्षण के लिए गठित सलाहकार समिति की बैठक सम्पन्न जिले के सभी 18 सोनोग्राफी केन्द्रों की आॅनलाईन मैंपिंग

बलौदाबाजार 3 नवंबर 2018/प्रसव पूर्व लिंग चयन प्रतिषेध अधिनियम के तहत अब राज्य में सभी सोनोग्राफी केन्द्रों की आॅनलाईन मैपिंग अनिवार्य की गई है। जिसके तहत जिले के 18 सोनोग्राफी केन्द्रों की आॅनलाईन मैपिंग की जा चुकी है। यह जानकारी पीएनडीटी एक्ट के तहत गठित जिला सलाहकार समिति की बैठक में दी गई। बैठक में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ वाय के शर्मा ने बताया कि इस एक्ट के बारे में अधिक से अधिक प्रचार प्रसार करने के लिए फ्लैक्स, बैनर, पोस्टर और पाम्पलेट प्रिन्ट कराकर विकासखंडों में प्रदाय किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि प्रसव पूर्व जाॅच एवं निदान तकनीक एक्ट के तहत जन्म से पूर्व शिशु के लिंग की जाॅच दण्डनीय अपराध है। यदि अल्ट्रा साऊंड या अल्ट्रा सोनोग्राफी कराने वाले दम्पत्ति या करने वाले डाॅक्टर, लैब कर्मी के द्वारा ऐसा किया जाता है, तो तीन से पाॅच साल की सजा तथा दस से पचास हजार रूपए जुर्माने का प्रावधान है। बैठक में बताया गया कि जिले में चार सोनाग्राफी केन्द्रों के नवीनीकरण और नए पंजीयन हेतु एक आवेदन प्राप्त हुआ है। बैठक में समिति के सदस्य डाॅ. एस आर बंजारे, डाॅ. के.के टैम्बुरने, विधि सलाहकार संजय तिवारी, सामाजिक कार्यकर्ता अरविंद शुक्ला और हेमचंद केशरवानी, सहायक संचालक जनसम्पके एम. डी पटेल, सहायक जनसम्पर्क अधिकारी आमना सहित उपस्थित थे। 

जवाहर नवोदय विद्यालय की चयन परीक्षा के लिए आवेदन करने की तिथि बढ़ाई

बलौदाबाजार, 03 दिसम्बर 2018/लवन स्थित जवाहर नवोदय विद्यालय में प्रवेश हेतु चयन परीक्षा के लिए इच्छुक विद्यार्थी अब 15 दिसंबर तक आॅनलाईन आवेदन कर सकते हैं। कलेक्टर जे.पी पाठक ने बताया कि नवोदय विद्यालय में प्रवेश हेतु चयन परीक्षा के लिए आवेदन करने की अंतिम तिथि बढ़ा दी गई है। पूर्व में 30 नवंबर तक आवेदन आमंत्रित किए गए थे। तिथि बढ़ने से जिले के अधिक से अधिक बच्चों को फायदा मिलेगा। उल्लेखनीय है कि नवोदय विद्यालय में चयन परीक्षा हेतु आॅनलाईन आवेदन आमंत्रित किए गए हैं। परीक्षा की तिथि 6 अपै्रल 2019 है। कक्षा पाॅचवीं में अध्ययनरत इच्छुक विद्यार्थी डब्ल्यू डब्ल्यू डब्ल्यू डॉट नवोदय डॉट जी ओ वी डॉट इन (ूूूण्दंअवकंलंण्हवअण्पद) में जाकर इसके लिए आवेदन कर सकते हैं।   

कलेक्टर-एसपी ने मतगणना स्थल का दौरा कर तैयारियों का लिया जायजा मोबाईल ले जाने पर सख्त प्रतिबंध रिटर्निंग अफसर भी नहीं ले जा पाएंगे मोबाईल

बलौदाबाजार, 03दिसम्बर 2018/विधानसभा चुनाव के लिए निर्धारित मतगणना स्थल -नयी मण्डी परिसर में प्रशासनिक तैयारियां जोरों से चल रही हैं। जिले की चारों विधानसभा क्षेत्र के लिए मतगणना 11 दिसम्बर को सवेरे 8 बजे से यहां एक साथ शुरू होंगी। कलेक्टर जे.पी.पाठक और एसपी श्री प्रशांत अग्रवाल ने आज संयुक्त रूप से मतगणना स्थल का दौरा किया। उन्होंने शांतिपूर्ण और निष्पक्ष मतगणना कार्य संपन्न कराने के लिए चुनाव आयोग के निर्देशानुसार तमाम तैयारियां समय-सीमा में सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। रिटर्निंग अफसर एवं जिला पंचायत के सीईओ एस.जयवर्धन, अपर कलेक्टर एवं रिटर्निंग अफसर जोगेन्द्र नायक, रिटर्निंग अफसर एवं सयुक्त कलेक्टर तीर्थराज अग्रवाल, उप जिला निर्वाचन अधिकारी सचिन भूतड़ा सहित तैयारी से जुड़े सभी विभागों के वरिष्ठ अधिकारी इस अवसर पर उपस्थित थे। कलेक्टर पाठक ने एक बार फिर कहा है कि मतगणना कक्ष में मोबाईल फोन ले जाने पर संपूर्ण प्रतिबंध है। यहां तक कि रिटर्निंग अफसर भी मोबाईल फोन नहीं ले जा पाएंगे। उन्होंने अभिकर्ताओं और गणना कर्मियों को मोबाईल लेकर नहीं आने के निर्देश दिए हैं। यदि कोई मोबाईल लेकर पहुंचेगा तो इसे प्रवेश द्वार पर ही सुरक्षा जांच के दौरान बाहर निकाल लिया जाएगा। ऐसी स्थिति मेंइसकी सुरक्षा की जिम्मेदारी स्वयं की होगी। कलेक्टर ने मतगणना हाॅल के भीतर और बाहर की व्यवस्थाओं पर अधिकारियों को निर्देश दिए। प्रमुख रूप से जनसुविधाएं जैसे- शौचालय, मूत्रालय, पेयजल, संचार व्यवस्था अगले तीन दिनों में निर्मित करके रिपोर्ट करने को कहा है। मतगणना परिसर में मीडिया सेन्टर भी स्थापित किया जाएगा। यहां टी.व्ही. इन्टरनेट कनेक्शन सहित कम्म्यूटर, टेलीफोन, फोटोकाॅपी मशीन आदि व्यवस्थाएं बनाई जाएंगी। चुनाव आयोग द्वारा जारी किए गए पासधारी मीडिया प्रतिनिधि ही मीडिया सेन्टर में प्रवेश कर पाएंगे। एस.पी. प्रशांत अग्रवाल ने कहा कि केवल पास धारी व्यक्ति ही मतगणना स्थल पर प्रवेश कर पाएंगे। मतगणना अभिकर्ता और सरकारी गणना कर्मियों को अलग-अलग रंग के पास जारी किए जा रहे हैं। उनके स्थल में प्रवेश के लिए अलग-अलग गेट भी निर्धारित किए गए हैं। गणना कर्मी एवं अधिकारी मण्डी कार्यालय के गेट से जबकि अभिकर्ता इसके आगे वाले गेट से प्रवेश करेंगे। गणना कार्य में लगे सरकारी अधिकारी-कर्मचारियों को सवेरे साढ़े 6 बजे मण्डी में उपस्थित होने कहा गया है। अभ्यर्थियों और उनके अभिकर्ताओ और प्रेक्षकों की मौजूदगी में सवेरे 7 बजे स्ट्रांग रूम खोले जाएंगे। वास्तविक मतगणना सवेरे 8 बजे से शुरू होगी। सबसे पहले डाक मतपत्रों की गिनती की जाएगी। इसके बाद साढ़े 8 बजे से ईव्हीएम मशीन से गिनती शुरू कर दी जाएगी।

ग्रेपलिंग एसोसिएशन ऑफ छत्तीसगढ़ के सदस्यों की बैठक सम्पन्न

भाटापारा-ग्रेपलिंग एसोसिएशन ऑफ छत्तीसगढ़ के सदस्यों की बैठक भाटापारा नगर के होटल रॉयल इन में आयोजित हुई जिसमें आगामी फरवरी माह में एक बड़ी राज्यस्तरीय प्रतियोगिता का आयोजन भाटापारा नगर में कराने का निर्णय हुआ तथा राष्ट्रीय स्तर के ग्रेपलिंग खिलाड़ियों को अच्छी सुविधा के साथ छत्तीसगढ़ शासन दुवारा खिलाड़ियों को सम्मान एवं उचित सुविधा दिलाने का निर्णय भी लिया गया । एसोसिएशन के प्रदेशअध्यक्ष लक्ष्मी नारायण सोनी , प्रदेश उपाध्यक्ष अमरजीत सलूजा जी , प्रदेशकोषाध्यक्ष सुभाष भट्टर जी , प्रदेशसचिव भीषम वर्मा , प्रदेशसहसचिव शुभम तिवारी , भरत कंचवानी जी एवं प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य मनोहर आर्य , मदन जांगड़े , दुर्गेश यदु , मनीष जोगी , गनेशु पाल, ट्विंकल देवांगन , श्रेणिक गोलछा ,संजय वर्मा आदि सदस्यगण इस बैठक में सम्मिलित हुए

यूविर्सिटी ने काटे छात्रा के अंक, छात्रा ने छेड़ा न्याय के लिए मुहीम, अपनी उत्तर पुस्तीका निकलवाकर कई प्रोफेसरों कसे कराया चेक, सभी ने कहा बढ़ेंगे अंक

जांजगीर चाम्पा - बिलासपुर विश्वद्यालय द्वारा पुनर्मूल्यांकन की उत्तरपुस्तिका जांचने में बड़ी लापरवाही बरती गई है. विवि ने जांजगीर-चांपा जिले की एक छात्रा के 51 अंकों को घटाकर 36 अंक कर दिया है, जबकि छात्रा ने अंक बढ़ने के भरोसे के साथ उत्तरपुस्तिका का पुनर्मूल्यांकन कराया था. यह पूरा मामला एमएमआर कॉलेज चाम्पा की छात्रा श्रीया अग्रवाल से संबंधित है जो कि बीए अंतिम वर्ष की छात्रा है, जिन्होंने अर्थशास्त्र में कम नम्बर आने पर, अच्छा पेपर बनने के कारण पुनर्मूल्यांकन कराया, लेकिन विवि ने उत्तरपुस्तिका के पुर्नमूल्यांकन में बड़ी लापरवाही की और छात्रा श्रीया अग्रवाल को पहले से मिले 51 अंकों की जगह 36 नम्बर थमा दिए। बिलासपुर विवि की लापरवाही से परेशान छात्रा ने उत्तरपुस्तिका की कॉपी निकलवाई और अर्थशास्त्र के कई विशेषज्ञ-शासकीय कालेज के प्रोफेसर से उत्तरपुस्तिका की जांच कराई तो सभी प्रोफेसरों ने 58 से 67 के बीच छात्रा को नम्बर दिया है. हालांकि हर साल कई छात्रों के साथ इस तरह की समस्या आती है मगर अन्य छात्र विश्व विद्यालय से पर सवाल उठाने की हिम्मत नही करते हैं। मगर श्रीया अग्रवाल ने हिम्मत दिखाई है और अपनी मुहीम से न्याय मिलने की भी उम्मीद की है वहीं स्थानीय प्रोफसर भी उत्तर पुस्तीका की सही जांच होने पर हर हाल मे श्रीया के अंक बढ़ने की बात कह रहे हैं। गौरतलब है कि छात्रा श्रीया बोर्ड की परीक्षाओं मे प्राविण्य सूचनी मे नाम लाकर जिले का नोम रौशन करती रही है।

नीचे वीडियो में देखे क्या कहती है श्रिया और प्रोफेसर

पुलिस नक्सलियों के बीच हुई मुठभेड़ एक महिला नक्सली ढेर

जगदलपुर :- पुलिस नक्सलियों के बीच हुई मुठभेड़। मुठभेड़ में एक महिला नक्सली मारी गई। डीआरजी की टीम को किया गया था सर्चिंग पर रवाना। घटनास्थल से महिला नक्सली का शव और एक भरमार हथियार भी किया गया बरामद। दरभा थानाक्षेत्र के एलांगनार में हुई मुठभेड़। बस्तर आईजी ने की पुष्टि

धान बेचने मे किसानों के विलंब का नही है कोई पालिटिकल कारण आखिर क्या है कारण जाने

जांजगीर चाम्पा:- छत्तीसगढ़ के किसानों का धान अब तक मंडियों मे नही पहुॅच रहा है और इसे राजनैतिक दृष्टिकोण से देखा जा रहा है वहीं कुछ लोग इसे कांग्रेस के चुनावी घोषणा पत्र का असर बताने से भी नही चूक रहे हैं जो कि सही नही है क्योंकि शासन द्वारा 2017 ते समर्थन मूल्य पर धान खरीदी का की शुरूवात 15 नवंबर से की जाती थी मगर इस बार 1 नवंबर से धान खरीदी शुरू की गई है जो कि 15 दिन पहले है वहीं त्योहार, फिर चुनाव को लेकर इस बार क्षेत्र में किसानी का काम पीछे हो गया है वहीं आमतौर पर खरीफ फसल पकने और सहेजने मे अमूमन दिसंबर का आधा महिना गुजरना भी स्वाभाविक प्रक्रिया है। जिले के किसान समर्थन मूल्य पर धान बेचने की व्यापक तैयोरियो मे जुट चुके हैं। गौरतलब है कि जांजगीर-चांपा जिला राज्य मे हर साल धान खरीदी का रिकार्ड कायम करता आ रहा है। यहॉ 121 सहकारी समितियों के 205 उपार्जन केन्द्रों के माध्यम से धान की खरीदी की जाती है गत वर्ष 1 लाख 44 हजार किसानों से रिकार्ड 6 लाख 70 हजार मिट्रिक टन धान की खरीदी की गई थी वहीं इस बार 7 लाख मिट्रिक टन धान की खरीदी का लक्ष्य है।