छत्तीसगढ़

शिवरीनारायण महोत्सव : पूर्ववर्ती सरकार के नियत में खोट थे इसलिए यह आयोजन बंद हुआ था- सत्त्यनारायण शर्मा

आशीष कश्यप@BBN24 शिवरीनारायण मेला महोत्सव का प्रारंभ हम लोगों ने किया था लेकिन बीच के वर्षों में कुछ गड़बड़ी आई और यह महोत्सव बंद हो गया आयोजन समिति की कोई गलती नहीं थी पूर्ववर्ती सरकार के नियत में खोट थी यह बातें रायपुर ग्रामीण क्षेत्र के विधायक एवं पूर्व शिक्षा मंत्री श्री सत्यनारायण शर्मा ने शिवरीनारायण महोत्सव मे जनता जनार्दन को संबोधित करते हुए अभिव्यक्त किया विदित हो कि श्री शर्मा शिवरीनारायण मेला महोत्सव में भाग लेने के लिए 21 फरवरी को रात्रि 10:00 बजे महोत्सव स्थल पर उपस्थित हुए उन्होंने माता सरस्वती की प्रतिमा पर धूप एवं माल्यार्पण अर्पित कर कार्यक्रम को गति प्रदान की इस अवसर पर श्री सत्यनारायण शर्मा जी ने कहा कि यह आध्यात्मिक नगरी है यहां की गरिमा के अनुरूप इस महोत्सव को पुनः मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ताम्रध्वज साहू ने प्रारंभ किया है जिसके लिए वे बधाई के पात्र हैं पूर्ववर्ती सरकार ने इस आयोजन को बंद किया जिसका प्रायश्चित उन्हें करना पड़ रहा है उन्होंने कहा कि शिक्षा ,जनस्वास्थ्य ,मंदिरों की उपासना, आराधना, पूजा अर्चना के क्षेत्र में राजेश्री महंत जी का आशीर्वाद हम सभी को मिलता रहा है उनकी छत्रछाया में छत्तीसगढ़ राज्य की जनता का उत्तरोत्तर आध्यात्मिक विकास हुआ है यह हम सबके लिए खुशी की बात है। इसके पूर्व आयोजन समिति के अध्यक्ष राजेश्री डॉक्टर महंत रामसुंदर दास जी महाराज ने उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ विधानसभा का विधान सभा सत्र चल रहा है वरिष्ठ सदस्य होने के नाते बहुत बड़ी जिम्मेदारी का निर्वाह श्री शर्मा जी सदन में करते हैं उसके पश्चात भी उन्होंने अपना अमूल्य समय निकाल कर हम सब के बीच इस महोत्सव की गरिमा को बढ़ाया जिसके लिए वे साधुवाद के पात्र हैं हम आशा करते हैं उनका स्नेह हम सबको इसी तरह से निरंतर प्राप्त होता रहेगा उन्होंने कहा कि राज्य के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने शिवरीनारायण क्षेत्र के लोगों की भावना को समझा और इस महोत्सव को पुनः प्रारंभ करने का निर्देश दिया जिसके लिए हम सभी उन्हें धन्यवाद ज्ञापित करते हैं लोगों को हालीवुड के कलाकार श्री अवस्थी जी ने भी संबोधित किया इस अवसर पर मुख्य अभ्यागत श्री शर्मा जी ने मंच के कलाकारों को सम्मानित भी किया कार्यक्रम में विशेष रूप से राधेश्याम शर्मा मनोज तिवारी गुलजीत गांधी सुखराम दास जी राजेंद्र यादव निर्मल दास वैष्णव सुबोध शुक्ला लाडली मोहन शर्मा सहित अनेक गणमान्य जन उपस्थित थे

सतनामी समाज की धरोहर सतनाम धर्मशाला गिरौदपुरी में पूर्णता की ओर

(शनि सूर्यवंशी) *गिरौदपुरी*- प्रगतिशील छत्तीसगढ़ सतनामी समाज के सम्मानीय सदस्यों की सदस्यता राशि से गिरौदपुरी धाम मड़वा सरहद पर क्रय की गई जमीन पर समाज के सहयोग से आज से लगभग डेढ़ वर्ष पहले  तीन मंजिला धर्मशाला जिसकी लागत लगभग 2 करोड़ रु है का निर्माण कार्य शुरू किया गया ,।आपको सूचित करते हुये  हर्ष हो रहा है कि परमपुज्य बाबा गुरुघासीदास की कृपा से एवम समाज के संतजनों के सहयोग से तीनों मंजिलें की छत ढल चुकी है।भूतल का कार्य पूर्णता की ओर है ।प्रथम एवम दूसरी तल का कार्य तथा बाहर का प्लास्टर प्रगति पर है ।धर्मशाला के आस पास तीन किसानों की जमीन का सौदा हो चुका है तथा उसका पंजीयन शीघ्र कराना है ।उपरोक्त कार्यो के लिए अभी भी लगभग 90 लाख रु की आवश्यकता है जो बाबाजी जी की कृपा एवम समाज के सहयोग से पूरा होने की आशा है ।समाज के संतजनों से विनम्र निवेदन है कि वे उपरोक्त पुनीत कार्य     के लिए तन मन धन से सहयोग प्रदान करें ।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आज जांजगीर-चांपा, बेमेतरा और दुर्ग जिले के प्रवास पर रहेंगे

BBN24 ■रायपुर:- मख्यमंत्री भूपेश बघेल 23 फरवरी को जांजगीर-चांपा, बेमेतरा और दुर्ग जिले के प्रवास पर रहेंगे। निर्धारित दौरा कार्यक्रम के अनुसार मुख्यमंत्री रायपुर से पूर्वान्ह 11 बजे पुलिस ग्राउंड रायपुर से रवाना होकर 11.40 बजे जांजगीर-चांपा जिले के ग्राम सतगढ़ (विकासखंड मालखरौदा) पहुंचेंगे और वहां चंद्रनाहू समाज के 75वें वार्षिक महाअधिवेशन में शामिल होंगे। इसी जिले की नगर पंचायत डभरा में वे दोपहर 1 बजे से छत्तीसगढ़ झेरिया धोबी समाज के कार्यक्रम में शामिल होंगे। वे दोपहर 2.30 बजे बेमेतरा पहुंचेंगे और मंडी प्रांगण में आयोजित राज्यस्तरीय कृषि विकास एवं किसान कल्याण मेला 2019 के उद्घाटन समारोह में शामिल होंगे। वे यहां से रवाना होकर दोपहर 3.50 बजे दुर्ग जिले के कुम्हारी के समीप ग्राम खपरी आएंगे और वहां कृषि संगोष्ठी और किसान मेले में शामिल होंगे। वे दुर्ग जिले के तहसील मुख्यालय पाटन के मंडी प्रांगण में शाम 4.40 बजे से आयोजित कोटवार सम्मेलन और कन्या हाईस्कूल मैदान पर 5.40 बजे शिक्षाकर्मी सम्मेलन को संबोधित करेंगे। वे रात 7.20 बजे रायपुर लौट आएंगे।

गिरौदपुरी में 11 से 13 मार्च तक लगेगा मेला : विजय गुरू की अध्यक्षता में मेला विकास समिति की बैठक सम्पन्न

बलौदाबाजार,23 फरवरी सतनाम पंथ के प्रवर्तक, महान संत एवं समाज सुधारक बाबा गुरू घासीदास की तपोभूमि गिरौदपुरी धाम में इस साल 11 मार्च से 13 मार्च तक मेला लगेगा। तीन दिवसीय इस मेले में लाखों की संख्या में देश-विदेश से सतनाम पंथ के अनुयायी और श्रद्धालु जुटते हैं। मेले के सफल आयोजन के लिए गुरू गद्दीनशीन   विजय गुरू की अध्यक्षता में मेला विकास समिति की बैठक आज यहां जिला कार्यालय के सभाकक्ष में संपन्न हुई। बैठक में राज्य सरकार के पीएचई मंत्री   गुरू रूद्र कुमार विशेष रूप से उपस्थित थे। मेले के दौरान जुटने वाली अत्यधिक भीड़ को देखते हुए शांति व्यवस्था सहित तमाम प्रकार की जन सुविधाओं के लिए अधिकारियों को जिम्मेदारी सौंपी गई। जिला कलेक्टर कार्तिकेया गोयल ने भरोसा दिलाया कि गिरौदपुरी धाम की महिमा के अनुकूल और समिति के निर्णय के अनुरूप सभी प्रशासनिक व्यवस्थाएं समय पूर्व सुनिश्चित की जाएगीं। राज राजेश्वरी कौशल माता सहित मेला विकास समिति के सदस्य राजमहंत और जिला स्तरीय वरिष्ठ अधिकारी इस बैठक में उपस्थित थे।
       मेला के दौरान संपूर्ण व्यवस्था के समन्वय के लिए कसडोल के एसडीएम श्री प्रकाश राजपूत को मेला अधिकारी नियुक्त किया गया है। मेले में सभी तरह की जरूरी व्यवस्थाओं के लिए राज्य सरकार को 50 लाख रूपए आवंटन की मांग की गई है। मेला स्थल पर पेयजल की पर्याप्त व्यवस्था रहेगी। यहां निर्मित सभी पानी टंकियों की साफ-सफाई के बाद पानी से भरा जाएगा। मंदिर परिसर, महराजी, छातापहाड़ और पंचकुण्डीय में अलग से पानी की व्यवस्था रहेगी। संपूर्ण मेला क्षेत्र में 28 नग तीन हजार लीटर की पानी टंकियां, 195 स्टेण्ड पोस्ट, 65 हैण्डपम्प 16 टेंकर की व्यवस्था होगी। मंदिर परिसर से पर्याप्त दूरी पर बॉयो टॉयलेट का इंतजाम भी होगा। निस्तार के लिए तालाबों को भरने के साथ ही अन्य समुचित व्यवस्था की जाएगी। गिरौदपुरी धाम में बिजली व्यवस्था के लिए लोड की एक बार फिर चेकिंग कर ली जाए। लिफ्ट की चंेकिंग कर लिया जाए। संपूर्ण मेला स्थल पर पर्याप्त रोशनी की व्यवस्था के लिए बिजली विभाग को निर्देशित किया गया। बिजली संबंधी समस्याओं के निराकरण के लिए अलग से नियंत्रण कक्ष इस बार बनाया जाएगा।

चार लाख के सट्टा पट्टी के साथ सटोरिया नरेन्द्र सिंह गिरफ्तार

भाटापारा सट्टा पट्टी के साथ सटोरिया नरेन्द्र सिंह गिरफ्तार भाटापारा के बजरंग वार्ड मतादेवलय भाटापारा को रंगे हाथ सट्टा पट्टी लिखते हुए पकडे है जिस से तीन लाख की सट्टा पट्टी के साथ नगदी रकम 30240/-रुपये जप्त कर आरोपी के खिलाप अपराध क्र.95/19 कायम कर धारा 4 (क)जुआ एक्ट की कार्यवाही की गई।* नवपदस्थ पुलिस अधीक्षक महोदया नीथू कमल केे दिशा निर्देश पर श्तिरिक्त पुलिस अधीक्षक महोदय संजय ध्रुव, अनुविभागीय अधिकारी के.बी. द्विवेदी के कुशल मार्ग दर्शन मे थाना प्रभारी के.एल.यादव के नेतृत्व में लगातार कार्यवाही के क्रम में मुखबिर सूचना पर हमराह स्टाफ SI ओ पी त्रिपाठी, आर विजेन्द्र निराला एवम आर. लोरिक सांडिल्य के साथ घेरा बंदी कर सटोरिया नरेन्द्र सिंह पिता उत्तम सिंह खलसा 52 वर्ष साकिन बजरंग वार्ड मतादेवलय भाटापारा को रंगे हाथ सट्टा पट्टी लिखते हुए पकडे जिसके कब्जे से तीन लाख की सट्टा पट्टी के साथ नगदी रकम 30240/-रुपये जप्त कर आरोपी के खिलाप अपराध क्र.95/19 कायम कर धारा 4 (क)जुआ एक्ट की कार्यवाही की गई।*

न न्यायालय का खौप न जिला प्रशासन का यह चलेगी मेरी मर्जी...पढ़े पूरी खबर जंगल राज का

जांजगीर चाम्पा:- न्यायालयीन आदेश की अवमानना लगने का मुख्य नगर पंचायत अड़भार सीएमओ को नहीं है खौफ, ठेकेदार को लाभ पहुचाने के लिए, तीन-तीन न्यायालय के आदेश को सीएमओ कर रहे हैं दरकिनार, न्यायालयीन आदेश का पालन कराने में रुचि नहीं दिखा रहे हैं जिला प्रशासन के जिम्मेदार अधिकारी ,

जी हां यह बात बिल्कुल सच है कि जांजगीर-चांपा जिले के नगर पंचायत अड़भार में पदस्थ मुख्य नगर पालिका अधिकारी व सक्ती अनुभाग के अनुविभागिय अधिकारी न्यायालय आदेश का पालन कराने में रुचि नहीं दिखा रहे हैं, उच्च न्यायालय बिलासपुर व अतिरिक्त कलेक्टर न्यायालय जांजगीर , व कलेक्टर न्यायालय जांजगीर से नगर पंचायत अड़भार के खसरा नंबर 255 व 661 के भूमि के सीमांकन का आदेश तीनों ही न्यायालय द्वारा दिया गया है, लेकिन नगर पंचायत अड़भार के मुख्य नगर पालिका अधिकारी व सक्ती अनुभाग के अनुविभागिय अधिकारी व मालखरौदा तहसील क्षेत्र के राजस्व विभाग के अधिकारी न्यायालीनआदेश को पूरा करने में रुचि नहीं दिखा रहे हैं, 2 साल से भी अधिक हो जाने के बावजूद भी आज तक उक्त भूमि का सीमांकन नहीं किया जा सका है, और हद तो तब हो गई, जब न्यायालय के आदेश को पूरा किया बिना ही उसी जमीन पर मुख्य नगर पालिका अधिकारी ने टेंडर निकालकर ठेकेदार को कार्य करने के लिए वर्क आर्डर जारी कर दिया, और बाकायदा न्यायालय आदेश का पालन किए बिना उस पर धड़ल्ले से सड़क और नाली निर्माण का कार्य कराया जा रहा है ,लेकिन जिला प्रशासन के जिम्मेदार अधिकारी इतने बेबस हैं कि,न्यायालयीन आदेश को पूर्ण कराए बिना हो रहे निर्माण कार्य को रोकवा नहीं पा रहे हैं, इसी से अंदाजा लगाया जा सकता है कि, जिले में किस तरह का प्रशासनिक व्यवस्था चल रहा है , न्यायालयीन आदेश के सम्मान बनाए रखने के प्रति भी जवाबदार अधिकारी रूचि नहीं दिखा रहे हैं, कलेक्टर न्यायालय जांजगीर में वाद दायर करने वाले याचिका कर्ता रोहित शुक्ला ने कलेक्टर को पत्र लिखकर, नगर पंचायत अड़भार के मुख्य नगर पालिका अधिकारी व निर्माण करा रहे ठेकेदार के खिलाफ एफ आई आर दर्ज कर न्यायालय आदेश का अवमानना किए जाने का मामला पंजीबद्ध करने का प्रार्थना पत्र दिया है, व न्यायालीन आदेश को पूर्ण कराए बिना कराया जा रहा निर्माण कार्य पर तत्काल रोक लगाने कि अपील भी कि है !

दिशा दर्शन भ्रमण के लिए कलेक्टर ने किया स्व-सहायता समूह के सदस्यों को रवाना

आशीष कश्यप / BBN24 *कांकेर:-* महिला एवं बाल विकास विभाग के माध्यम से जिले के स्व-सहायता समूहों के सदस्यों को दिशा दर्शन भ्रमण के लिए कलेक्टर डोमन सिंह ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। जिले के सभी परियोजनाओं के माध्यम से 166 स्व-सहायता समूह के सदस्यों को मध्यप्रदेश के जबलपुर में स्व-सहायता समूहों के सदस्यों के द्वारा निर्माण किए जा रहे ‘लिज्जत पापड़’ का अवलोकन करायेंगे। इससे प्रेरित होकर समूह के सदस्यों को स्वरोजगार के लिए उनके सोच में परिवर्तन लाने एवं कार्य करने का अनुभव भी मिल सकेगा। इस अवसर पर अपर कलेक्टर एमआर चेलक, संयुक्त कलेक्टर सीएल मार्कण्डेय और कार्यक्रम अधिकारी एचआर राणा सहित महिला एवं बाल विकास विभाग के कर्मचारी उपस्थित थे।

नरवा, गरवा, घुरूवा और बाड़ी के सरंक्षण और संवर्धन से ग्रामीण अर्थव्यवस्था होगी मजबूत सीईओ जिला पंचायत

BBN24 के लिए भोज सिंह की रिपोर्ट● जशपुर:जिला पंचायत सीईओ श्री कुलदीप शर्मा नरवा, गरवा, घुरवा, बाड़ी योजना के विस्तार के लिए दुलदुला जनपद के ग्राम पंचायत बंगुरकेला एवं दुलदुला पहुंचे। जहां उन्होंने चारागाह और गौठान के महत्व को विस्तार से लोगों को समझाया और दुलदुला में 22 और बंगुरकेला में 19 एकड़ भूमि का चिन्हांकन सर्वसहमति से किया। कार्य प्रारंभ करने हेतु अधिकारियों को निर्देषित किये। नरवा, गरवा, घुरूवा एवं बाड़ी के सरंक्षण एवं संवर्धन से ग्रामीण अर्थव्यवस्था मजबूत होगी। ये बात आज सीईओ जिला पंचायत श्री शर्मा ने दुलदुला और बंगुरकेला में पहुंचकर ग्रामीणों से कहा। उन्होंने गोठान एवं चारागाह के महत्व को विस्तार से बताया। शासन के मंषानुरूप गौठान और चारागाह विकसित करने के संबंध में चर्चा की। साथ ही दुलदुला और बंगुरकेला में सर्वसम्मति से चिन्हित 22 एवं 19 एकड़ भूमि का जायजा लिया। श्री शर्मा ने कहा कि नरवा, गरवा, घुरूवा एवं बाड़ी योजना शासन कि महत्वकांक्षी योजना है जिसका क्रियांवयन समय सीमा पर बेहतर ढंग से हो। उन्होंने कहा कि गांव में चारागाह और गौठान निर्माण से मवेषियों को हर प्रकार की सुविधाएं मिलेगी, पषुओं को सुरक्षा मिलेगा, पशुओं के द्वारा दिये गये गोबर से जैविक खाद बनाया जायेगा जिससे अच्छी आमदनी होने के साथ साथ फसलें भी अच्छी होंगी। श्री शर्मा ने कहा कि गौठान एवं चारागाह के संचालन के लिए चारागाह विकास समिति बनाई जाएगी। जिसके गावं में ही लोगों को रोजगार के अवसर मिल सकेंगे। गांव में गौठान बनने से गौसंवर्धन और इससे जुड़ी आजीविका के विकास के साथ ही किसानों को मवेषियों द्वारा फसल चरने की समस्या से छुटकारा मिलेगा। किसान खरीफ के साथ साथ रबी की फसल भी ले सकेंगे। उन्होंने कहा ये कार्य तभी सफल होगें जब इन कार्यों में अधिक से अधिक जनसहभागिता सुनिष्चित की जाए। इस अवसर पर कार्यपालन अभियंता ग्रामीण यांत्रिकी सेवा श्री एन.एस सिदार, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत दुलदुला श्री प्रेम सिंह मरकाम, सहायक परियोजना अधिकारी मनोज रमाकांत मिश्रा, कार्यक्रम अधिकारी सुश्री सरोज विष्वकर्मा, दुलदुला सरपंच श्री क्लेमंट लकड़, सचिव श्री रामदेव नायक, बंगुरकेला सरपंच श्रीमती सुमति बाई, सचिव श्री गोविंद प्रसाद एवं रोजगार सहायक व ग्रामीण उपस्थित थे।

सिलादेही में तीन दिवसीय श्री हरि कथा 23 से

आशीष कश्यप - BBN24

सतगुरु आशुतोष महाराज जी के सानिध्य में-दिव्य ज्योति जागृति संस्थान द्वारा आयोजित

बिर्रा-सतगुरु आशुतोष महराज जी के सानिध्य में बाजार चौक पुरानी बस्ती सिलादेही में तीन दिवसीय श्री हरि कथा का आयोजन 23 से  25 फरवरी को शाम 4 से 6 बजे तक किया गया है।जिसमें महात्मागण,संगीतकारों द्वारा भगवान श्री हरि के लीलाओं की विभिन्न प्रसंगों एवं सुमधुर भजनों के माध्यम में से व्याख्यान किया जाएगा।पुराणों एवं धार्मिक ग्रंथों में वर्णित आध्यात्मिक रहस्यों का विस्तार से वर्णन किया जाएगा।इस आयोजन का मुख्य उद्देश्य ईश्वर के अवतार लेने के पीछे क्या कारण,श्रीराम चरित मानस के सात कांड की आध्यात्मिक विवेचना, शास्त्रों के अनुसार परमात्मा की भक्ति की शास्वत विधि क्या है? तथा नवधाभक्ति की महता पर प्रकाश डाला जाएगा।इस अवसर पर गुरु दीक्षा(ब्रम्हज्ञान)भी दिया जाएगा।आयोजन को लेकर दिव्य ज्योति जागृति संस्थान व ग्रामवासी जूटे हुए हैं।

 

बिर्रा-शिवरीनारायण मार्ग पर हमेशा के लिए बंद हो भारी वाहनों की आवाजाही

आशीष कश्यप/BBN24/ *(शिवरीनारायण मेले को लेकर भारी वाहनों का रूट बदला गया)* केरा-शिवरीनारायण मार्ग पर बडे बडे मालवाहक ट्रक,हाईवा, कैप्सूल व ट्रेलर की आवाजाही से इस मार्ग पर काफी दबाव रहता है और आए दिन दुर्घटनाएं होती रहती है जिससे लोग जान जोखिम डालकर सफर करते है।लेकिन अभी 15 दिवसीय शिवरीनारायण मेले के कारण भारी वाहनों की आवाजाही पर रोक लगाने हर समय बिर्रा थाना स्टाफ व यातायात पुलिस बस स्टैंड चौक पर मुस्तैदी के साथ ड्यूटी निभा रही है।इस समय बडे वाहनों को भटगांव होते हुए भेजा जा रहा है जिससे इस रूट पर दबाव कुछ कम हुआ है।क्षेत्र के लोगों का कहना है कि हमेशा के लिए बिर्रा-केरा-शिवरीनारायण मार्ग पर भारी वाहनों की आवाजाही पर रोक लगानी चाहिए।जिससे बडे पैमाने पर विशालकाय वाहनों से छुटकारा मिल सके।