क्राइम

03 घंटे घण्टे के अन्दर आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार

प्रार्थी बुधराम कर्ष पिता गणेश राम कर्ष ग्राम भोगहापारा शिवरीनारायण जिला जांजगीर चाम्पा के थाना आकर रिपोर्ट दर्ज उक्त की दिनांक 27/05/20 को प्रार्थी बुधराम अपने इ-रिक्शा में रानीसत्ती एजेन्सी शिवरीनारायण से एक इन्वाइट एवं एक बैटरी को ग्राम छिर्रा के राजेन्द्र साहू पिता बाबू लाल के यहा छोड़ने जा रहा था कि करीब दोपहर 02 बजे ग्राम घटमडवा के आगे कुम्हारी में रोड ईट भट्ठा के पास TVS मोटर सायकल 03-04 लोग आये और जबरजस्ती रुकवाकर गाली गलौच करते हुये चप्पल से मारपीट के इन्वाइट क़ीमत 4800/रु एवं बैटरी 12300/रु. को लूट कर भग गये की रिपोर्ट की जानकारी वरिष्ठ अधिकारी दिया जाकर आरोपियों की विरूद्ध धारा 341,394 भादवि तहत लूट कायम कर तत्काल थाना प्रभारी ओपी त्रिपाठी के मार्गदर्शन में थाना स्तर पर टीम गठित कर फरार अज्ञात आरोपियों की पता तलाश करने के दौरान मुखबिर से सूचना मिला कि आरोपी अपने सकुनत ग्राम कुम्हारी में छिपे हुये है कि सूचना पर वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत कराकर मुखबिर के बताये स्थान पर पहुँच कर घेराबंदी कर आरोपीगण 01 पूरी राम साहू पिता उदेराम, 02 महेंद्रदास पिता दुकालू दास उम्र 28 साल,

03 शैलेंद्र श्रीवास पिता देवालाल श्रीवास उम्र 25 साल,

04 प्रेमलाल पटेल पिता होरीलाल पटेल उम्र 36 सकिनान कुम्हारी थाना गिधौरी को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से इंवेटर कीमती 4800 एक टी वी एस स्टार मोटरसाइकिल एवं एक हीरो साइकिल को जप्त किया जाकर आरोपियों को मान. न्यायालय के आदेश पर उप जेल बलौदाबाजार भेजा गया

स्कुल स्कार्लशीप दिलवाने के बाहने गाव के बाहर ले जाकर युवक ने किया दुष्कर्म आरोपी फरार भाटापारा ग्रामीण पुलिस जांच में जुटी

 भाटापारा के ग्राम पंचायत टोनाटार मे कक्षा सातवी की नबालिक छात्रा को स्कुल स्कार्लशीप दिलवाने के बाहने गाव के बाहर ले जाकर किया दुष्कर्म, घटना स्थल पर पिडिता को छोड फरार हुए अज्ञात आरोपी भाटापारा ग्रामिण थाना पुलिस  जाॅच में जुटी  तीन दिन बीत जाने के बाद ग्रामिण थाना पुलिस के हाथ खाली। 

 भाटापारा के ग्राम पंचायत टोनाटार मे 20 मई को दोपहर करीब ढाई बजे दो युवको के द्वारा मोटर सायकिल मे गाॅव पहुच कर कक्षा सातवी की नबालिक छात्रा के घर पहुचे और घर मे उपस्थित परिजन को बताया गया कि स्कुल मे स्कुल स्कार्लशीप  दिया जा रहा है। जिसमे पिडिता का नाम होना भी बताकर मोटर साईकिल मे बैठाकर स्कुल ले जाने की बात कही गई , और छात्रा को मोटर साईकिल मे बैठाकर ग्राम पाटन के खार मे ले जाकर दुष्कर्म कर घटना स्थल पर ही छोडकर फरार हो गए, शाम करीब पाॅच से छः बजे पिडिता घर पहुची और आपबीत परिजनो को सुनाई पिडिता व परिजनो के द्वारा करीब रात आठ बजे भाटापारा ग्रामिण थाना पहुचकर शिकायत दर्ज कराए  गया ग्रामिण थाना पुलिस विभिन्न धाराओ के तहत शिकायत दर्ज कर मामले की जाॅच मे जुट गई,
वर्सन
 एस आई यशवंत सिह ग्रमीण थाना
 ग्रामिण थाना प्रभारी एस आई यशवंत सिह का कहना है कि पिडिता से पूछताछ करने पर पिडिता के द्वारा आरोपी के संबंध मे कुछ भी जानकारी देने मे असर्मथ हो रही है, हमारे द्वारा अज्ञात आरोपी की खोजबीन की जा रही है, बहुत ज्यल्द आरोपी को गिरफतार कर लिया जाएगा।

पुरानी रंजिश के चलते कुदारी से सिर हमला एक व्यक्ति गम्भीर रुप घायल

ग्राम पंचायत कुम्हारी मे पुरानी रंजिश के चलते कुल्हाड़ी पर जान लेवा सिर पर हमला करने का मामला प्रकाश मे आया है मिली जानकारी के अनुसार कुम्हारी निवासी हरिराम पटेल पिता पंचुराम पटेल 41वर्ष अपने खपरीडीह खारपर स्थित खेत पर ईटा भट्टा लगाने दिया गया था जिसमे दोनो के बीच पुराना लेन देन विवाद चल रहा था जिसमे हरिराम पटेल ने इस वर्ष गर्मी मे धान का फसल लगाया था जिसे देखने के लिये शनिवार सुबह 9बजे के आसपास गया हुआ था और गांव के ही छत्तुराम प्रधान पिता जगेश्वर प्रधान 45वर्ष ने भी खेत पर ईटा भट्टा देखने गया हुआ था और दोनो के बीच मे पुरानी बातो को लेकर गाली गलौज हुआ जिसमे छत्तुराम प्रधान ने कुल्हाड़ी (कुदारी)मे प्राण घातक सिर पर हमला कर दिया गया। और हरिराम पटेल गम्भीर घायल तथा की खुन से लथपथ हो गये ।घटना सुचना ग्रामीण दी गई और तत्काल घायल गम्भीर को कसडोल अस्पताल ले जाया गया ईलाज चल रहा है गिधौरी पुलिस एस ई आर डी साहु ने बताया गया कीहरिराम ने एक वर्ष पहले खेत मे ईटा बनाने और बराबर करने तथा चार ट्रीप ईटा देने के लिये बात किया गया था लेकिन छत्तुराम प्रधान खेत बराबर नही किया न ही ईटा दिया गया उसी बात लेकर गंदगी गंदगी गलौज किया और जान से मारने की धमकी देते हुये सर के दाहिने तरफ कुदारी से हमला किया ।है। आरोपी खिलाफ अपराध क् 129/20धारा 294.506 223.तहत पंजीबद्ध कर विवेचना किया जा रहा है

अवैध सट्टा लिखते ₹5000 नकदी के साथ बिलाईगढ़ पुलिस ने एक व्यक्ति को किया गिरफ्तार…

बिलाईगढ़ थाना क्षेत्र अंतर्गत एक व्यक्ति को सट्टा लिखते पुलिस ने गिरफ्तार किया है।मिली जानकारी के अनुसार थाना प्रभारी बिलाईगढ़ राजेश साहू के नेतृत्व में ग्राम नगरदा में अवैध सट्टा चलाने की सूचना पर थाना बिलाईगढ़ पुलिस द्वारा रेड कार्रवाई कर आरोपी समारू बंजारे पिता हिराराम उम्र 49 वर्ष साकिन नगरदा जो की अवैध रूप से सट्टा लिखते पकड़ा गया, आरोपी के कब्जे से नगदी रुपये 5000/- दो नग सट्टा पट्टी लिखा कागज एवं एक नग पेन जप्त कर अपराध क्रमांक 99/2020 धारा 4(क) जुआ एक्ट के तहत प्रकरण पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया है

थाना गिधौरी द्वारा अवैध रूप से अपने घर के बड़ी में मादक पदार्थ गांजा के पौधा लगाने वाले आरोपी को पड़के

क्षेत्रों में लॉक डाउन के दौरान दीगर राज्य से आये मजदूर को कोरेटाईन करनेकरने एवं लॉक डाउन पालन कराने हेतु निर्देशित किया गया है इसी तारतम्य में थाना प्रभारी गिधौरी टुण्ड्रा उप.निरीक्षक ओम प्रकाश त्रिपाठी के नेतृत्व में वरिष्ठ अधिकारियों के आदेश का कड़ाई से पालन हेतु लगतार थाना क्षेत्र में ग्रामों दीगर राज्य से आये हुये मजदूरों को चेकिंग कर रहे थे कि मुखबीर से सूचना मिला कि ग्राम टुंड्रा के धनीराम देवांगन द्वारा अपने घर बाड़ी में अवैध रूप से मादक पदार्थ गांजा का पौधा लगाया है कि सूचना पर वरिष्ठ अधिकारियों को मुखबिर की सूचना से अवगत कराकर वरिष्ठ अधिकारियों के दिशानिर्देश एवं थाना प्रभारी ओ.पी. त्रिपाठी के मार्ग दर्शन में थाना गिधौरी स्टाफ के मुखबिर द्वारा बताये गये स्थान पर जाकर रेड कार्यवाही कर आरोपी धनीराम देवांगन पिता दिलहरण ग्राम टुंड्रा के घर बाड़ी की तलाशी लेने पर 08 नग अवैध मादक पदार्थ गांजा जुमला 04 किलो 300 ग्राम जुमला करीबन 10,000/रु को जप्त कर कब्जा पुलिस लिया गया आरोपी के विरुद्ध NDPS एक्ट तहत कार्यवाही कर मान. न्यायालय के आदेश पर उपजेल बलौदाबाजार भेजा गया

आर्थिक अनियमितता के मामले में निलंबित डीजी आईपीएस मुकेश गुप्ता के खिलाफ ई ओ डब्ल्यू ने की एफआईआर दर्ज

 निलंबित DG मुकेश गुप्ता के खिलाफ FIR, 3 करोड़ रुपए की गड़बड़ी का आरोप
रायपुर। एमजीएम, मिक्की मेहता मेमोरियल ट्रस्ट में हुए आर्थिक अनियमितता के मामले में निलंबित डीजी आईपीएस मुकेश गुप्ता के खिलाफ ईओडब्ल्यू ने एफआईआर दर्ज कर ली है। आरोप है कि गुप्ता ने गरीब तबके को चिकित्सीय सुविधा दिलाने के नाम पर अपने पद और प्रभाव का दुरूपयोग किया और छत्तीसगढ़ सरकार से तीन करोड़ रूपए का अनुदान हासिल किया। लेकिन अनुदान राशि से चिकित्सीय सुविधा के बजाय बैंक का कर्ज अदा करके वित्तीय अनियमितता बरती गई। जांच में यह तथ्य भी सामने आया है कि नियम कानून को ताक में रखकर चेरिटेबल ट्रस्ट का संचालन निजी लाभ के लिए किया जाता रहा।
मानिक मेहता की शिकायत के बाद ईओडब्ल्यू ने अपने प्रारंभिक जांच में सामने आए तथ्यों के आधार पर निलंबित आईपीएस अधिकारी मुकेश गुप्ता, एमजीएम के मुख्य ट्रस्टी जयदेव गुप्ता और डायरेक्टर डा. दीपशिखा अग्रवाल के विरूद्ध भादवि की धारा 420, 406, 120 (बी) तथा भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम 1988 की धाराओं के तहत एफआईआर दर्ज किया है। गौरतलब है कि मुकेश गुप्ता छत्तीसगढ़ में भाजपा शासनकाल में प्रभावशाली अधिकारी थे, सरकार बदलते ही उनके खिलाफ एक के बाद एक कारनामें उजागर हो रहा है।
ईओडब्ल्यू के अधिकारियों के मुताबिक दिनांक 14.01.2002 को  मुकेश गुप्ता के पिता  जयदेव गुप्ता द्वारा अपने व   मुकेश गुप्ता के अभिन्न परिचितों को ट्रस्टी बनाते हुये मिकी मेमोरियल ट्रस्ट रायपुर का पंजीयन सार्वजनिक न्यास रायपुर से कराया। पंजीयन क्रमांक 247 पर ट्रस्ट का पंजीयन हुआ। मिकी मेमोरियल ट्रस्ट के प्रमुख ट्रस्टी जयदेव गुप्ता स्वयं थे और ट्रस्ट डीड की शर्तो के अनुसार ट्रस्ट का कानूनी उत्तराधिकारी नियुक्त करने का अधिकार केवल ट्रस्ट के प्रमुख ट्रस्टी के अधिकार में था। अन्य ट्रस्टी या बोर्ड को कोई अधिकार नहीं था। इस प्रकार ट्रस्ट एवं ट्रस्ट की संपत्ति को निजी नियंत्रण में रखने एवं ट्रस्ट पर एक निजी परिवार को एकाधिकार रखने व वर्चस्व बनाये रखने की पूर्व नियोजित योजना थी। ट्रस्ट डीड के अनुसार ट्रस्ट के अगले कानूनी उत्तराधिकारी  जयदेव गुप्ता के परिवार के ही सदस्य  मुकेश गुप्ता को ही रहना था।
ट्रस्ट पंजीयन होने के बाद ट्रस्ट को आयकर अधिनियम की धारा 12(ए) एवं 80(जी) की छूट एवं विदेशों से अनुदान व विनिमय के लिये एफसीआरए की मान्यता प्राप्त हो गई थी।
 
  मुकेश गुप्ता आईपीएस छ.ग. राज्य, प्रभावशाली अधिकारी के रूप में प्रख्यात व पदस्थ थे एवं मिकी मेमोरियल ट्रस्ट का अप्रत्यक्ष रूप से संचालन करते थे, जोकि दस्तावेजों से प्रमाणित है।
 
वर्ष 2002 में पंजीयन होने के उपरांत मिकी मेमोरियल ट्रस्ट को छ.ग. राज्य व देश-विदेश से चंदा व दान मिलना प्रारंभ हो गया, जिससे ट्रस्ट की संपत्ति में अप्रत्याशित रूप से वृद्धि होने लगी।
 
ट्रस्ट के पंजीयन के बाद प्रधान ट्रस्टी द्वारा सार्वजनिक लोक न्यास अधिनियम 1951 के प्रावधानों का वर्षानुवर्ष खुला उल्लंघन करते हुये ट्रस्ट के ट्रस्टी परिवर्तन की सूचना आय-व्यय का लेखा-जोखा पंजीयक/शासन को न देकर व अन्य आज्ञात्मक प्रावधानों का जानबूझकर खुला उल्लंघन किया गया ताकि ट्रस्ट के गोरख धंधे की जानकारी शासन से छिपी रहे। पंजीयक लोक न्यास द्वारा ट्रस्ट से दान-दाताओं की सूची, आय के स्त्रोत, आय-व्यय की जानकारी मांगे जाने पर भी मिकी मेमोरियल ट्रस्ट द्वारा उपलब्ध नहीं करायी गयी थी।
 
मिकी मेमोरियल ट्रस्ट द्वारा विधानसभा रोड़ सड्डू रायपुर में ट्रस्ट के पैसे से भूमि खरीदकर एमजीएम आई हास्पीटल का निर्माण किया गया, इस भवन निर्माण में विभिन्न नियमों व नगर पालिका अधिनियम की धज्जियां उड़ायी गयी। एमजीएम आई इंस्टीट्यूट के भवन निर्माण के अनुज्ञा की कार्यवाही के दौरान प्रधान ट्रस्टी द्वारा निगम के समक्ष झूठे शपथ पत्र व दस्तावेज प्रस्तुत किये गये। शासन से तथ्य छुपाकर अनुज्ञा प्राप्त की गई तथा बिना भवन पूर्णतः प्रमाण पत्र के अवैध रूप से ट्रस्ट द्वारा एमजीएम आई इंस्टीट्यूट का संचालन प्रारंभ कर दिया गया।
 
ट्रस्ट द्वारा वर्ष 2004 से एमजीएम आई इंस्टीट्यूट का संचालन प्रारंभ कर दिया गया था। 
 
एमजीएम नेत्र संस्थान भवन को एसबीआई बैरन बाजार रायपुर में बंधक रखकर अस्पताल हेतु चिकित्सा उपकरण खरीदने के लिये 3 करोड़ रूपये का टर्म लोन तथा 10 लाख रूपये का कैश क्रेडिट लोन ट्रस्ट द्वारा लिया गया था।
 
दिनांक 13.09.2004 को लोन लेने के उपरांत अल्प अवधि में अप्रैल 2005 में ट्रस्ट का लोन एकाउण्ट अनियमित हो गया। लोन की प्रक्रिया में  मुकेश गुप्ता आईपीएस का बिना किसी अधिकार के बैंक में हस्तक्षेप किया गया। बंधक भवन एमजीएम आई हास्पीटल का बैंक अधिकारियों को निरीक्षण कराया गया। बैंक के अभिलेख में  मुकेश गुप्ता का नाम ट्रस्ट का मेन ड्राईविंग फोर्स एवं ट्रस्ट के संचालन के मुख्य कर्ता-धर्ता के रूप में उल्लेखित है। प्रभावशाली पुलिस अधिकारी शासकीय सेवा में रहते हुये   मुकेश गुप्ता द्वारा ट्रस्ट का लोन एकाउण्ट अनियमित एवं एनपीए होने पर दिनांक 13.09.2006 से कई बार बैंक के अधिकारियों को आश्वस्त कराते रहे कि, ट्रस्ट की आर्थिक स्थिति शीघ्र सुधर जाएगी एवं लोन एकाउण्ट नियमित होकर कर्ज अदायगी की जावेगी। बैंक को न तो समय पर लोन की राशि का ब्याज मिल पा रहा था और न ही लोन की किस्त अदा हो रही थी। अंततोगत्वा बैंक अधिकारियों ने कहा कि- ’’यदि दिसम्बर 2006 तक ऋण/ब्याज की अदायगी प्रारंभ नहीं हुई तो ट्रस्ट के विरूद्ध वसूली की कार्यवाही प्रारंभ कर दी जाएगी।’’
 
वर्ष 2005-06 में जब मिकी मेमोरियल ट्रस्ट की माली हालत खस्ता थी, ट्रस्ट एनपीए के दौर से गुजर रहा था, उसी दौरान एमजीएम आई इंस्टीट्यूट की डायरेक्टर  डाॅ. दीपशिखा अग्रवाल के कंसलटंेसी फीस में अप्रत्याशित रूप से कई गुना वृद्धि हो रही थी। यह भी आश्चर्यजनक तथ्य है।
 
इस पर प्रधान ट्रस्टी जयदेव गुप्ता एमजीएम की डायरेक्टर डाॅ.  दीपशिखा अग्रवाल के साथ   मुकेश गुप्ता ने पूर्व नियोजित योजना के तहत् छ.ग. राज्य शासन से गरीब जनता को निःशुल्क मोतियाबिंद के आॅपरेशन की सुविधा आमजनों व शासकीय कर्मचारियों की रियायत दर पर चिकित्सा, मेडिकल स्टाफ को विशिष्ट चिकित्सा हेतु प्रशिक्षण देने के नाम पर 3 करोड़ रूपये का अनुदान लिया। यद्यपि अनुदान हेतु वित्तीय वर्ष 2006-07 में बजट 1 करोड़ रूपये का था किंतु, राज्य शासन ने गरीब एवं आमजनता को चिकित्सा सुविधा के कार्य को सर्वोच्च प्राथमिकता देते हुये अन्य मद से 1 करोड़ रूपये अतिरिक्त शामिल करते हुये वित्तीय वर्ष 2006-07 की राशि 2 करोड़ रूपये एवं वर्ष 2007-08 की राशि 1 करोड़ कुल 3 करोड़ रूपये एमजीएम को गरीबों के निःशुल्क मोतियाबिंद आॅपरेशन, आमजन तथा शासकीय कर्मचारियों को विशिष्ट चिकित्सा सुविधा का लाभ तथा मेडिकल स्टाफ को विशेष प्रशिक्षण देने हेतु सशर्त अनुबंध के तहत् राज्य शासन ने एमजीएम आई इंस्टीट्यूट को जनहितार्थ चिकित्सा हेतु प्रदान किया था।
 
मिकी मेमोरियल ट्रस्ट के प्रधान ट्रस्टी, एमजीएम आई इंस्टीट्यूट की डायरेक्टर एवं   मुकेश गुप्ता ने अपनी योजना के अनुसार शासन से 3 करोड़ रूपये का अनुदान गरीबों एवं आमजनता, शासकीय कर्मचारियों को स्पेशलाईज्ड चिकित्सा सुविधा देने का शासन को विश्वास दिलाकर सशर्त प्राप्त किया था, किंतु अनुदान की राशि 3 करोड़ रूपये का उपयोग बैंक का कर्ज पटाने के लिये किया।
 
एक ओर तो शासन से ट्रस्ट ने आमजन को विशिष्ट चिकित्सा सुविधा देने के नाम पर राज्य शासन से 3 करोड़ रूपये की राशि का अनुदान प्राप्त किया, वहीं दूसरी ओर श्री मुकेश गुप्ता बैंक के अधिकारियों को पद का प्रभाव दिखाकर ट्रस्ट की संपत्ति की कुर्की की कार्यवाही को रूकवाया तथा श्री मुकेश गुप्ता के पद के प्रभाव के कारण ट्रस्ट का कर्ज सेटलमेंट प्रकरण 18.12.2007 में अस्वीकृत होने के बाद भी बैंक अधिकारियों ने पुनः समझौता प्रकरण को प्रक्रिया में लाया एवं सामान्य प्रक्रिया से भिन्न युनिक (विशेष) लोन सेटलमेंट प्रकरण की श्रेणी में लाकर बैंक के 24 लाख रूपये शुद्ध घाटे में मिकी मेमोरियल ट्रस्ट केे लोन प्रकरण का समझौता के तहत् निपटारा किया गया।
 
 मुकेश गुप्ता के प्रभाव के कारण मिकी मेमोरियल ट्रस्ट को बैंक से 24 लाख रूपये का लाभ पहुचा तथा शासन के विश्वास से छलकर ट्रस्ट ने गरीबों का निःशुल्क मोतियाबिंद, कार्निया, रेटिना, ग्लूकोमा आदि ईलाज न कर एवं आमजन को विशिष्ट नेत्र चिकित्सा रियायती दर पर उपलब्ध न कराकर अनुदान की राशि 3 करोड़ रूपये का उपयोग निजी कर्ज चुकाने में ट्रस्ट द्वारा किया गया है। जांच के दौरान यह तथ्य भी प्रकाश में आया है कि, मिकी मेमोरियल ट्रस्ट के प्रधान ट्रस्टी  जयदेव गुप्ता नाम मात्र के लिये, औपचारिक रूप से ही प्रधान ट्रस्टी थे, किंतु ट्रस्ट के संचालन में   मुकेश गुप्ता की महत्वपूर्ण भूमिका थी। ट्रस्ट के संचालन, दान, भवन निर्माण आदि सभी कार्यो में   मुकेश गुप्ता के प्रभाव से प्रभावित रहते थे एवं नियम कानून को ताक में रखकर चेरिटेबल ट्रस्ट का संचालन निजी लाभ के लिये किया जाता था।
 
आवेदक  मानिक मेहता, द्वारका नई दिल्ली द्वारा प्रेषित शिकायत की जांच पर उपरोक्त तथ्य पाये जाने पर  मुकेश गुप्ता आईपीएस (निलंबित डीजी छ.ग.),   जयदेव गुप्ता प्रधान ट्रस्टी मिकी मेमोरियल ट्रस्ट, विधानसभा रोड़ रायपुर, डाॅ.  दीपशिखा अग्रवाल, ट्रस्टी मिकी मेमोरियल ट्रस्ट रायपुर एवं डायरेक्टर एमजीएम आई इंस्टीट्यूट व अन्य के विरूद्ध राज्य आर्थिक अपराध अन्वेषण ब्यूरो  में लिया गया है 

मालिक का एटीएम कार्ड चुराकर लगाया लाखों का चूना .....आरोपी गिरफ्तार

मामला नर्मदा नगर में रहने वाले राकेश शर्मा ने सिविल लाइन थाने में शिकायत दर्ज कराई थी। कि उनके महाराष्ट्र बैंक अकाउंट से 1 लाख 40 000 रु की रकम किसी ने निकाल ली है। पुलिस ने इस मामले में जांच करते हुए महाराष्ट्र बैंक से बैंक डिटैल और एटीएम से सीसीटीवी फुटेज प्राप्त किया। जिसके आधार पर आरोपी की पहचान हो गयी। एटीएम से पैसा निकालने वाला कोई और नहीं बल्कि उनका ही पूर्व कर्मचारी कस्तूरबा नगर निवासी गोलू उर्फ राजेश सारथी था।

आरोपी की जानकारी होते ही पुलिस ने उसे धर दबोचा। पूछताछ में खुलासा हुआ कि आरोपी राजेश सारथी, राकेश शर्मा के फर्म शिवम बिल्डर्स में काम करता था। इसी दौरान उसने राकेश शर्मा का एटीएम पार कर दिया। उसे एटीएम पासवर्ड की जानकारी थी इसलिए उसने इस एटीएम कार्ड का इस्तेमाल करते हुए 1,40,000 रु निकाल लिए थे। इतना ही नहीं इस्तेमाल के बाद उसने एटीएम कार्ड को तोड़ कर फेंक भी दिया था। पुलिस ने राजेश सारथी के पास से बैंक से निकाली गई एक लाख 40,000 में से एक लाख 25, 000 रु जप्त कर लिए हैं तो वहीं चोरी की गई एटीएम भी क्षत-विक्षत हालत में प्राप्त कर ली गई है।

युवती को परेशान करने वाला युवक चढ़ा मस्तूरी पुलिस के हत्थे

सूरज सिंह : मस्तुरी

प्रार्थी की बहन कुमारी राधिका सरकंडा साइंस कॉलेज में फाइनल की पढ़ाई कर रही है जिसकी ग्राम मुड़पार के रोहित नाम के लड़का से दोस्ती हो गया था उसी दोस्ती के कारण रोहित प्रार्थीया की बहन से शादी करना चाहता था प्रार्थीया की बहन और परिवार के लोग शादी करने से इंकार कर दिए तब रोहित डहरिया जबरदस्ती शादी करूंगा कह कर परेशान करने लगा मेरे से शादी नही करेगी तो किसी और से शादी नहीं करने दूँगा वह जान से मार डालूंगा की धमकी देता था जिससे परेशान होकर प्रार्थीया की बहन कुमारी राधिका उम्र 21 साल दिनांक 12,04,2020 को बिना बताए घर से कहीं चली गई है जिस पर थाना में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई गई है रोहित डहरिया दिनांक 26,04,2020 को दोपहर करीब 1:00 बजे प्रार्थीया के घर आकर परिवार वालों को मां बहन की अश्लील गाली दिया और बोला मेरी प्रेमिका को कहां छिपा कर रखे हो मेरे से मिलने नहीं देते कह कर गुस्से में प्रार्थीया के घर अंदर जबरदस्ती घुस कर जान से मार डालूंगा की धमकी देने लगा व घर वालो पे हमला किया राधिका नहीं मिलेगी तो पूरे परिवार को जान से खत्म कर दूंगा की धमकी देने लगा रोहित डहरिया घर के अंदर घुसकर हमला करने लगा जिसके कारण हम लोग बहुत डरे हुए हैं डर के कारण एवं लाकडाउन होने से रिपोर्ट करने नहीं आ सके आज दिनांक को 05,05,5020 को प्रार्थिया अपने रिश्तेदार के साथ रिपोर्ट करने थाना आई है जिस पर थाना मस्तूरी में आरोपी के विरुद्ध अपराध 164/2020 धारा 294,452,506,भादवि के तहत आरोपी को गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर माननीय न्यायालय प्रस्तुत किया गया

शराब तस्कर को पुलिस ने किया गिरफ्तार

सूरज सिंह : मस्तुरी : छतीसगढ़ 

पचपेड़ी थाना प्रभारी एम डी अनंत ने बताया कि हम लोग कोरोना महामारी लाक डाउन पेट्रोलिंग पर निकले थे तो ग्राम भ्रमण व बेरियर चेक के पश्चात वापस थाना बेरियर के पास वाहन नाकाबंदी के दौरान पटाइडीह की ओर से एक मोटर साइकिल में दो लोग आए जिन्हें रोक कर चेक करने पर मोटर साइकिल चालक के पीछे बैठे ब्यक्ति एक काला रंग के पिठ्ठू बैग को बीच मे रखकर बैठा था बैग को चेक करने पर बैग के अंदर 5 नग पन्नी में करीब एक एक लीटर व 11 नग पन्नी में आधा आधा लीटर प्रत्येक में भरा महुआ शराब मिला लगभग साढ़े दस लीटर मिला जिन्हें शराब रखने व परिवहन करने के संबंधी वैध दस्तावेज पेस करने हेतु धारा 91 जा फ़ौ की नोटिस दिया गया जो अपने नोटिस में कोई भी वैध दस्तावेज नही होना लिखित में दिया जिनका नाम पता पूछने पर मोटरसाइकिल चालक अपना नाम गोविंद नायक पिता शिव नायक उम्र 28 वर्ष पीछे बैठा ब्यक्ति अपना नाम नवीन साहू पिता पलटू राम साहू उम्र 25 वर्ष उक्त आरोपियों के कब्जे से दो गवाह के समक्ष शराब को व मोटरसाइकिल क्र cg 04 kp 8865 बजाज डिस्कवर मुता,जब्ती पत्रक के जब्त कर कब्जा पुलिय लिया गया आरोपियों का कृत्य अजमानतीय होने पर विधिवत हिरासत में लिया गया और आबकारी एक्ट के तहत कार्यवाही किया जा रहा है

महुवा दारू बेचने वालों पर कि गई कार्यवाही : मस्तुरी

मस्तुरी थाना अंतर्गत ग्राम परसदा वेद में मस्तुरी पुलिस द्वारा महुवा दारू बेचने वालों पर ताबड़तोड़ कार्यवाही जारी है ताजा मामला मस्तुरी से लगे परसदा वेद की है जहाँ शांति प्रसाद भारती पिता संतोष भारती उम्र 22 वर्ष को 09 लीटर महुआ शराब कीमत लगभग 1800 रुपये बिक्री रकम 1600 कुल जुमला 3400 रुपये मस्तुरी पुलिस ने क्षेत्र में हो रहे महुआ शराब के अवैध बिक्री को रोकने के लिए मुखबिर लगा रखा है जिसके फलस्वरूप आज एक मुखबिर से सूचना मिली और मस्तुरी थाना प्रभारी फैजुल शाह के नेतृत्व में उनकी टीम द्वारा घेरा बंदी कर कोचिये को पकड़ा गया जिस पर धारा 34(2),36,59,(क)आबकारी एक्ट के तहत कार्यवाही की गई आपको बताते चले कि पुलिस अवैध रूप से महुआ शराब बेचने वालों पर शक्ति से निपट रही है और कड़ी कार्यवाही भी कर रही है

खाने पीने की मामूली विवाद ने एक की ली जान , तो दूसरा गया जेल

 बलरामपुर आकाश साहू

बलरामपुर बलंगी चौकी अंतर्गत ग्राम पंचायत हरदीबहरा में  दो चचेरे भाइयों के आपसी विवाद ने ली एक की जान तो दूसरे को ऊपर हुआ 302 का अपराध पंजीबद्ध पुलिस चौकी बलंगी बलंगी प्रभारी  ने मामले की गंभीरता को  समझते हुए इसकी सूचना तत्काल पुलिस अधीक्षक बलरामपुर टीआर कोसमा  एवं  अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रशांत  करतलम को दी जिनके जिनके मार्गदर्शन एवं  पुलिस अनुविभागीय अधिकारी वाड्रफनगर ध्रुवेश कुमार जायसवाल के  निर्देशन पर आरोपी के विरुद्ध  अपराध पंजीबद्ध कर  मामले की विवेचना की जा रही थी पुलिस चौकी में दर्ज रिपोर्ट के अनुसार मामला 27 -4 -2020 का है दोनों चचेरे भाइयों में खाने पीने की मामूली बात को लेकर विवाद इतना गंभीर रूप ले लिया की आरोपी के द्वारा मृतक बाबूलाल के ऊपर डंडे से वार कर दिया जिससे बाबूलाल गंभीर रूप से घायल हो गया  जिससे गंभीर चोट आने की वजह से  उसकी स्थिति  नाजुक हो गए  एवं गंभीर स्थिति में अस्पताल सीएससी रघुनाथनगर में  भर्ती कराया गया जहां पर स्थिति  में सुधार ना होता देख  आहात गंभीर स्थिति में अंबिकापुर रेफर किया गया जहां उपचार के दौरान बाबूलाल ने दम तोड़ दिया मृतक के रिपोर्ट पर आरोपी भाई बीरबल सिंह पिता रामकिशन उम्र 35 वर्ष को पुलिस ने गिरफ्तार कर पुलिस चौकी में दर्ज अपराध क्रमांक के तहत धारा 294, 506 बी, 302 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर आरोपी को न्यायिक रिमांड पर कोर्ट में पेश किया गया जहां से आरोपी को जेल भेज दिया गया

जुआ खेलते 8 आरोपी गिरफ्तार , कोतवाली पुलिस कि कार्यवाही

बिलासपुर छत्तीसगढ़ : अजीत मिश्रा :

बिलासपुर सिटी कोतवाली थाना क्षेत्र के अंतर्गत एक मकान में  जुआ खेल रहे आठ लोगो को कोतवाली पुलिस ने जुआ में दाव की  नगद रकम  और तास पत्ती के साथ ग्रिफ्तार कर थाना लाया गया।।जानकारी के अनुसार कोतवाली थाना क्षेत्र के अंतर्गत कतियापारा कृष्णा नगर में राहुल आहूजा के मकान में ताश पत्ती से जुआ खेलने की सूचना  पुलिस को मिली। सूचना पर टीम द्वारा तत्काल मकान की घेराबंदी कर छापा मार कार्यवाही करते हुए वहाँ तास की पत्ती में जुआ खेल रहे आठ लोगो को धरदबोचा जहाँ उनके पास से 21300 रुपये के लगभग नगद रकम जो दाव में लगा रहे थे उसेजप्ती कर लिया गया।।

वही पकड़े गए आरोपी के नाम  है 

  (1- आकाश गुप्ता,2- विनायक गुप्ता,3- राहुल आहूजा,4- आदर्श मनवानी,5- दीपक भक्तानि,6- नीरज आहूजा,7- अजय भक्तानि,8- आकाश पंजवानी को ताश खेलते पकड़ा गया।
 शासन के लाकडाउन  नियमों का उल्लंघन करते पाया गया।। सभी के विरुद्ध सिटी कोतवाली पुलिस द्वारा जुआ एक्ट एवम धारा 188 के तहत कार्यवाही की गई।

मोटर सायकल से अवैध रूप से बिक्री हेतु महुआ शराब परिवहन करते दो आरोपी गिरफ्तार

संवादाता - प्रियांश केशरवानी ( छतीसगढ़ )

लॉक डाउन का कड़ाई से पालन हेतु निर्देशित किया गया है इसी तारतम्य में थाना प्रभारी गिधौरी टुण्ड्रा उप.निरीक्षक ओम प्रकाश त्रिपाठी  के नेतृत्व में वरिष्ठ अधिकारियों  के आदेश  का कड़ाई से पालन हेतु लगतार थाना क्षेत्र के सभी ग्रामों में सघन पेट्रोलिंग कर रहे थे कि मुखबीर से सूचना मिला कि  दो   व्यक्ति बिना नम्बर  प्लेट लाल रंग के प्लेटिना मोटर सायकल सायकल में  अवैध रूप से महुआ शराब परिवहन करते नदी के उस पार ले जा रहा है कि सूचना पर हमराह स्टाफ एवं गवाह के मौका घटना स्थल पर पहुचकर घेराबन्दी करने पर दो व्यक्ति बलौदा डेरा तरफ से आते दिखा जिसके रोकने पर नही रुके जिसे घेराबंदी के पकड़े जिसके नाम पता पूछने पर मो.सा. चालक अपना नाम परमानंद कौशिक पिता छातराम कौशिक ग्राम नवाडीह झबड़ी एवं पीछे बैठ व्यकि अपना नाम राम प्रसाद पटेल पिता  संतराम पटेल ग्राम नवाडीह झबड़ी थाना कसडोल जिला बलौदाबाजार का रहने वाला बताये पीछे बैठे राम प्रसाद द्वारा रखे बोरी को चेक करने पर बोरी के अन्दर  40 नग अवैध महुआ शराब के पाउच रखे मिला प्रत्येक पाउच में 180 एम.एल. शराब भरी हुई जुमला 7 लीटर 200 एम.एल. कीमती 720  रुपये एवं एक पुरानी इस्तेमाली प्लेटिना मोटर सायकल जुमला 10000 रु कुल कीमती 10720रुपये को जप्त कर आरोपीयो को गिरफ्तार कर आरोपीयो के विरुद्ध 34(2) आबकारी एक्ट  तहत कार्यवाही  कर उप जेल बलौदा बाजार भेजा  गया

सम्पूर्ण कार्यवाही में थाना प्रभारी ओ.पी. त्रिपाठी,  प्रआर 73 मोहित लाल मालिक, आर 66 नरेश खुटे, आर 837 प्रवीण यादव, आर 710 पिलेश कुर्मी का विशेष योगदान रहा

अवैध रूप से संग्रहित किए गए 53 हजार के सागौन काष्ठ एवं चिरान जप्त

संवादाता - प्रियांश केशरवानी ( छतीसगढ़ )

वन मंडल अधिकारी बलौदाबाजार आलोक तिवारी उपवनमंडल अधिकारी कसडोल श्री उदय सिंह ठाकुर के मार्गदर्शन एवं परिक्षेत्र अधिकारी अर्जुनी टी आर वर्मा के निर्देशन में अर्जुनी परी क्षेत्र अंतर्गत सतत गश्त कर वन एवं वन्य प्राणियों की सुरक्षा हेतु कड़े कदम उठाए जा रहे हैं इसी कड़ी में अर्जुनी परी क्षेत्र के अंतर्गत आज प्रातः 8:30 बजे ग्राम अमोदी के राजकुमार वल्द बाबूलाल साहू के घर छापा मार 0.550 घ. मी. अवैध रूप से संग्रहित सागौन काष्ठ एवं चिरान जप्त किया गया जिसकी कीमत लगभग 53000.00 रूपए है उक्त कार्यवाही में भारतीय वन अधिनियम 1927 की धारा 26 एवं विनिदिर्ष्ट वनोपज रखना छ.ग. वनोपज ( व्यापार विनियमन) अधिनियम 1969 की धारा 15 एवं 16 के अंतर्गत वन अपराध कायम कर विवेचना की जा रही है

तलाशी के संपूर्ण कार्यवाही में वन परिक्षेत्र अधिकारी टी आर वर्मा के निर्देशन में किया गया साथ ही तलाशी की कार्यवाही में लक्ष्मी प्रसाद श्रीवास्तव उपवन क्षेत्रपाल, संतराम ठाकुर वनपाल, स.प.अ. अर्जुनी सुखराम छात्रे, वनपाल, महराजी संतोष चौहान स.प.अ. गिनडोला वनरक्षक हरिराम साहू, रविंद्र कुमार पांडे, चंद्रभुवन मनहरे ,तृप्ति जायसवाल ,नरोत्तम पैकरा, राजेश्वर प्रसाद वर्मा, सोहन लाल यादव, कृष्ण कुमार कुशवाहा, गिरजा प्रसाद केवर्त्य, सुशील पैकरा, प्रवीण कुमार आडिले ,खगेश्वर ध्रुव ,भानु प्रताप आजाद, धरमसिंग बरिहा, प्रेमचंद घृतलहरे, भागवत प्रसाद श्रीवास, भागीरथी सोनवानी, फिरत राम यादव, सुनीता कंवर, गोविंद राम निषाद, वन चौकीदार भरत लाल साहू तथा सुरक्षा श्रमिकों का विशेष योगदान रहा ।

महुआ शराब बेचने वाले आरोपी को पचपेड़ी पुलिस ने किया गिरफ्तार

संवाददाता : सूरज सिंह : मस्तुरी ( छतीसगढ़ )

मस्तुरी क्षेत्र के  पचपेड़ी थाना अंतर्गत ग्राम सुकुलकारी व केवतरा के बीच पुलिस द्वारा महुवा दारू पकडने का मामला सामने आया है हम आप को बताते चले की पचपेड़ी क्षेत्र मे महुवा बेचने वालो के उपर कई लोगो के ऊपर कार्यवाही कर जेल भेज दिया गया है पर कोचिये मान्ने वाले नही है पचपेड़ी पुलिस को मुखबीर के द्वारा सूचना मिला की रवि जोशी 24 वर्ष जो छोटा हाथी पिकब मे लाल बेग मे महुवा लेके जा रहा है करके तभी पेट्रोलींग पे निकले टीम को पता चला जिसमे ए एस आई राजपुत व स्टाफ के लोग मौके मे पहुच कर केवतरा व सुकुलकारी के बिच मे पुलिया के पास घेरा बंदी कर कोचिये को पकड लिया गया जहा बेग को खोल कर देखा गया तो 20 पन्नी मे अध्धी अध्धी महुआ शराब बंधा हुवा था जो कुल 10 बाटल था जिसको तुरंत रिमांड मे लेकर धारा 34(2)59 आबकारी एक्ट के तहत कारवाही कि गई