बड़ी खबर

बिलासपुर : आजादी के नारे से गूंजा केंद्रीय विश्वविद्यालय ,एनएसयूआई ने किया जमकर हंगामा, सेंट्रल यूनिवर्सिटी के खिलाफ खोला मोर्चा...पढ़े पूरी खबर

बिलासपुर छत्तीसगढ़

A REPORT BY :: अजीत मिश्रा

0 प्रशासनिक भवन के बाहर लगाए नारे।

0 कुलपति पर लगाया भ्रष्ट और अनैतिक होने का आरोप ।

0 कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने दर्ज कराई मौजूदगी।

0  विश्वविद्यालय में बढ़ी सुरक्षा व्यवस्था। 

0  कुलपति अंजिला के इस्तीफे की मांग।

0  विश्वविद्यालय बना आर.एस.एस. का गढ़-प्रदर्शनकारी।

छत्तीसगढ़ के बिलासपुर स्थित केंद्रीय विश्वविद्यालय RRS का गढ़ बन चुका है।  यहां हर तरह भ्रष्टाचार है और अव्यवस्था अपने चरम में है। इतना ही नही तमाम अव्यवस्था और गड़बड़ियों के लिए यहां की कुलपति अंजिला गुप्ता जिम्मेदार है।  ये सारे आरोपों कांग्रेसियों ने लगाए हैं। यही कारण है कि, मंगलवार को एनएसयूआई ने सेंट्रल यूनिवर्सिटी के बाहर जमकर विरोध प्रदर्शन किया गया वही इस मौके पर देश के कई विश्वविधालय की तर्ज में यहाँ पर भी आजादी जैसे नारे लगाए गए।। काफी हो हंगामे के बाद बिलासपुर सिटी मजिस्ट्रेट को मामला शांत कराने वहाँ आना पड़ा और इसी बीच विरोध प्रदर्शन कर कांग्रेसी राष्ट्रपति के नाम ज्ञपन सौंपा।।विरोध प्रदर्शन में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और यूथ कांग्रेस के पदाधिकारियों भी शामिल हुए। विश्व विद्यालय के  प्रशासनिक भवन के बाहर मुख्य दरवाजे पर चढ़कर प्रदर्शनकारियों ने जमकर हंगामा मचाया। विश्वविद्यालय शिक्षा का मंदिर है जहां इस तरह के विरोध प्रदर्शन आरोप-प्रत्यारोप से  साबित हो जाता है कि यहां स्थिति कितनी गंभीर है।  गौरतलब है कि एक दिन पहले ही सेंट्रल यूनिवर्सिटी के कुलपति अंजिला गुप्ता ने बिलासपुर कांग्रेस के जिला अध्यक्ष और एनएसयूआई के पदाधिकारियों के खिलाफ नामजद शिकायत दर्ज की है।  वही दूसरे ही दिन कांग्रेसियों के द्वारा इतना उग्र प्रदर्शन हुआ है।  साफ है कि, विश्वविद्यालय के लिये आने वाले दिन कितने कठिनाइयों से भरे होंगे। दूसरी तरफ कांग्रेस के वरिष्ठ नेता विजय केसरवानी ने साफ शब्दों में  कुलपति आंजनी गुप्ता पर गंभीर आरोप लगाए हैं साथ ही उनके मनमानी और दादागिरी के खिलाफ ऐसे ही प्रदर्शन लगातार  करने की बात कही है। 

बिलासपुर : त्रिस्तरिय पंचायत चुनाव शुरू , मतदान में ग्रामीणों ने दिखाया उत्साह , तकरीबन 5 हज़ार से ज्यादा मतदानकर्मी की ड्यूटी ,पढ़े पूरी खबर

A REPORT BY: अजीत मिश्रा

0 कुल 4लाख 67 हजार मतदाता।

0 इस बार 50 जनपद सदस्य मैदान में।

0 कुल 258 सरपंच और 3876 पंच के बीच मुकाबला।

0 पहले चरण में बिल्हा मस्तूरी में मतदान।

0 दोनों ब्लॉकों के 10 जिला पंचायत में चुनाव। 

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की शुरुआत हो चुकी है पहले चरण में बिलासपुर के मस्तूरी और बिल्हा ब्लॉक के कुल 10 जिला पंचायतों के लिए चुनाव हो रहे हैं। इसमें तकरीबन चार लाख 67 हजार मतदाता मतदान करेंगे।  वही चुनाव लड़ रहे उम्मीदवारों के जिक्र करें तो यह साफ हो जाता है कि, इस बार काफी बड़ी संख्या में लोग चुनाव लड़ रहे हैं। इसमें 50 जनपद सदस्य, 258 सरपंच और 3876 पंच पद के उम्मीदवार मैदान में है। दूसरी तरफ चुनाव को संपन्न कराने के लिए निर्वाचन आयोग ने तकरीबन 4900 मतदान कर्मी और अधिकारियों को डियूटी में तैनात किया है।  सुरक्षा के लिहाज से इसी अनुपात में मतदान केंद्र और उसके बाहर भी  पुलिस बल तैनात किए गए हैं।  पूर्व निर्धारित समय के हिसाब से सुबह 7:00 बजे से लेकर दोपहर 3:00 बजे तक मतदान हुए और इसके बाद मतपत्रों की गणना की व्यवस्था है। पंचायत चुनाव में आम मतदाताओं का भी उत्साह देखने लायक रहा। 

पूर्व सहायक आरक्षक का नक्सलियों ने किया अपहरण, एसपी दिव्यांग पटेल ने की पुष्टि

बीजापुर:-छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिले से इस वक्त बड़ी खबर आ रही है. जानकारी के मुताबिक माओवादियों ने पूर्व सहायक आरक्षक का अपहरण किया है. आरक्षक की पत्नी ने की माओवादियों से पति को छोड़ने की अपील की है. SP दिव्यांग पटेल ने घटना की पुष्टि की.

नये टीआई रविन्द्र अनंत के कमान संभालने के बाद अवैध कारोबारीयों पर ताबड़तोड़ कार्यवाही

जांजगीर-चांपा:- बिर्रा थाने कि कमान जब से नये टीआई रविन्द्र अनंत ने संभाली है तब से अवैध कारोबारीयों में हड़कंप मंच गया है, टीआई द्वारा लगातार अवैध शराब, सड्डा, जूआ पर ताबड़तोड़ कार्यवाही कि जा रही हैं, जिससे क्षेत्र में टीआई कि प्रसंशा हो रही हैं।। ज्ञात हो कि बिर्रा क्षेत्र में जूआ, सड्डा, अवैध शराब विक्रेता कि शिकायत लगातार मिल रही थी जिसे लगाम लगाने के लिए बिर्रा टीआई ने मुहिम छेड़ दी है, इसी कड़ी में बिर्रा थाना प्रभारी रविन्द्र अनंत ने बिर्रा निवासी संतोष कश्यप पिता स्व. धनीराम कश्यप 50 वर्ष के संजय नगर ps बिर्रा के घर के छत में प्लास्टिक के ड्रम में रखे 160 पाव देशी मदिरा शराब कुल 28.800 लीटर जुमला कीमती 9600/ रुपये को जप्त किया गया और आबकारी एक्ट की धारा 34 (2) के तहत कार्यवाही कर आरोपी को गिरफ्तार कर न्याययिक रिमांड पर भेजा गया, इस कार्य मे निरीक्षक रविन्द्र अनंत,उप निरीक्षक दशरथ नागवंशी,आरक्षक वीरेंद्र टंडन,लक्ष्मी कश्यप, अश्वनी जायसवाल कमलेश लहरे की भूमिका सराहनीय रही।।

बिलासपुर : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गृह मंत्री अमित शाह और आरएसएस जैसे हिन्दू संगठन के खिलाफ गाली गलौच और अभद्र टिप्पणी , मुस्लिम युवक के खिलाफ मामला दर्ज कराने , बीजेपी और हिन्दूसंगठन के लोग ने थाना कोतवाली पहुँच कर जमकर की नारेबाजी

बिलासपुर : देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गृह मंत्री अमित शाह और आरएसएस जैसे हिन्दू संगठन के खिलाफ गाली गलौच और अभद्र टिप्पणी फेसबुक में मुस्लिम युवक ने की जिसके खिलाफ कार्यवाही की मांग को लेकर बीजेपी और हिन्दूसंगठन के लोग थाना कोतवाली पहुँच कर जमकर नारेबाजी कर अपना विरोध दर्ज कर रहे है।।

अजीत जोगी और अमित जोगी पर एफआईआर के मामले में प्रदेश गरमाई में सियासत

अजीत जोगी और अमित जोगी पर एफआईआर के मामले में प्रदेश में सियासत गरमा गई है । एक तरफ अमित जोगी ने अपने एक वायरल वीडियो के माध्यम से इस कार्रवाई को दुर्भावनापूर्ण करार दिया है और इसमें मजिस्ट्रियल या सीबीआई जांच की मांग की है तो वहीं दूसरी ओर इस मामले में गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने बयान देते हुए कहा है कि सारी कार्रवाई परिस्थितिजन्य है दुर्भावनापूर्ण नहीं । गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू ने कहा कि इस मामले में उन्हें सिर्फ शुरुआती जानकारी ही मिली है । उन्होंने इस कार्रवाई को राजनीति से प्रेरित नहीं बताया । गृहमंत्री ने कहा कि पुलिस को प्रथम दृष्टया जैसी परिस्थिति दिखी उसके अनुसार ही निर्णय लिया गया। गृहमंत्री ने कहा कि जोगी परिवार के खिलाफ सरकार या पुलिस बदले की राजनीति नहीं कर रही है। आपको जानकारी दें कि बीते 15 तारीख को मरवाही सदन में जोगी परिवार के केयर टेकर सन्तोष कौशिक ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली । पीएम रिपोर्ट में भी आत्महत्या की पुष्टि हो गई है । इस मामले में मृतक के परिजन ने सिविल लाइन थाने में आत्महत्या के लिए दुष्प्रेरिणा का आरोप लगाते हुए जोगी पिता-पुत्र के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई है जिसके बाद से प्रदेश की सियासत गरमा गई है ।

पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के बंगले में वहां के केयरटेकर संतोष कौशिक के द्वारा सुसाइड किए जाने का मामला अब लेने लगा राजनीतिक रंग

छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के बंगले में वहां के केयरटेकर संतोष कौशिक के द्वारा सुसाइड किए जाने का मामला राजनीतिक रंग लेते जा रहा है दरअसल 2 दिन पहले पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के बंगले में एयर टिकट का काम करने वाले संतोष को सुसाइड कर लिया था परिजनों का आरोप है सुसाइड करने से आधे घंटे पूर्व संतोष कौशिक से घर पर फोन करके बताया कि जोगी की परिवार के लोग उन पर चांदी के बर्तन का चोरी करने का आरोप लगा रहे हैं और उन्हें जेल भेजने की धमकी दे रहे हैं और फोन करने के आधे घंटे बाद संतोष कौशिक ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली जिसके बाद से ही संतोष कौशिक के परिजन गांव की कहां थी नाराज है और कल संतोष कौनसी के शव को लेकर रायपुर कोरबा मार्ग पर चक्का जाम कर दोस्तों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की मांग की थी जिसके बाद संतोष मौसी के भाई ने सिविल लाइन थाने में अजीत जोगी और उसके बेटे अमित जोगी खिलाफ अपने भाई को आत्महत्या के लिए उकसाने के लिए प्रेरित करने का आरोप लगाया है पूरे मामले पर सिविल लाइन थाने में अजीत जोगी और अमित जोगी के खिलाफ धारा 306 और 34 के तहत मामला दर्ज कर ले गया है इस एफ आई आर के बाद से ही यह आत्महत्या का मामला राजनीतिक रंग ले चुका है एक और जहां अमित जोगी ने f.i.r. को राजनीति से प्रेरित बताते हुए पूरे मामले की मजिस्ट्रियल या सीबीआई जांच की मांग की है वही छत्तीसगढ़ के गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू में इस पूरे प्रकरण में किसी भी प्रकार की राजनीति होने से इनकार किया है और कहा है कि थाने में मामला दर्ज है नियमों के तहत हुआ है और जो भी होगा जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी

जोगी परिवार पर एफ आई आर दर्ज होने के बाद भी। प्रदेश के गृह मंत्री को नहीं है पूरे मामले की जानकारी।

जोगी परिवार पर एफ आई आर दर्ज होने के बाद भी। प्रदेश के गृह मंत्री को नहीं है पूरे मामले की जानकारी। जानकारी लेने के बाद ही कुछ कहने की होगी स्थिति- मंत्री। गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने स्पष्ट किया सरकार का पक्ष। कहा-राजनीति से प्रेरित नहीं है कार्यवाही । पुलिस को प्रथम दृष्टया जैसी परिस्थिति है निर्णय लेना पढ़ रहा है। बीते दिन विधानसभा में व्यस्त होने की वजह से नहीं ले पाए जानकारी-गृहमंत्री। जोगी परिवार के खिलाफ सरकार या पुलिस बदले की राजनीति नहीं कर रही- गृहमंत्री । ऐसा आरोप लगाना गलत-गृहमंत्री।

जोगी बगलें के केअर टेकर आत्महत्या मामले में आया अमित जोगी का ट्वीट। केयर टेकर के परिजनों ने सिविल लाइन में दर्ज कराया है मामला।

जोगी बगलें के केअर टेकर आत्महत्या मामले में आया अमित जोगी का ट्वीट। अपने ऊपर किये गए FIR को राजनीति से प्रेरित बताया। पूरे मामले की न्यायिक मजिस्ट्रेट या CBI से जांच करवाने की बात कही। पूरे मामले को लेकर अमित जोगी और अजित जोगी के खिलाफ 306 का मामला हुआ है दर्ज। केयर टेकर के परिजनों ने सिविल लाइन में दर्ज कराया है मामला। अमित जोगी ने पीड़ित परिवार के प्रति सहानुभूति जाहिर की । वही खुद के ऊपर हुए f.i.r. को राजनीति से प्रेरित बताया । राजनीतिक षड्यंत्र के तहत सत्ताधारी कांग्रेस सरकार ने फंसाया-अमित। सरकार पर लगाये गम्भीर आरोप। कांग्रेस पर बदला की राजनीति करने का आरोप।

शराब तस्करी के मामले में भाजपा के पूर्व सांसद प्रतिनिधि अनिल गुप्ता व तेज सिंह हुआ गिरफ्तार तीसरा साथी हुआ फरार तलाश जारी विद्युत विभाग की गाड़ी का हो रहा था इस्तेमाल

कबीरधाम जिले के कुकदूर थाना पुलिस ने दो ऐसे शराब तस्करों को पकड़ा है, जो सरकारी गाड़ी में शराब की तस्करी कर रहे था. आरोपियों के पास से 105 पेटी शराब बरामद की गई है, जिसकी कीमत 5 लाख रुपए है। कुकदुर पुलिस ने शराब तस्करी के आरोप में गिरफ्तार दो आरोपियों को तो जेल भेज दिया है।लेकिन इन आरोपियों के साथ तीसरा साथी भी था।जो कि ग्राम लटुआ बलौदाबाजार का रहने वाला है।उक्त आरोपी मौके से फरार हो गया था। टीआई बृजेश सिन्हा ने बताया कि आरोपी को पकड़ने के लिए अलग से एक पुलिस टीम गठित की गई है। उल्लेखनीय है कि कुकदूर पुलिस ने दो गाड़ियों में 105 पेटी शराब के साथ दो आरोपियों को गिरफ्तार किया था।एक अन्य आरोपी जीतू पिता मालिक नायक निवासी लटुवा (बलोदाबाजार) पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया था। उसे पकड़ने के लिए पुलिस ने टीम गठित की है। पुलिस टीम आरोपी को गिरफ्तार करने के लिए बलौदा बाजार जाएगी। इसके पहले जिन दो आरोपियों को पुलिस ने पकड़ कर जेल भेजा है उनमें से एक अनिल गुप्ता बलौदा बाजार में सांसद प्रतिनिधि रह चुका है। पकड़े गए आरोपी की फोटो सोशल मीडिया में खूब वायरल हो रही है

इसकी जानकारी बलोदाबाजार पुलिस को थी लेकिन पूर्व सांसद का प्रतिनिधि होने के कारण पुलिस उस पर कार्रवाई करने के लिए पीछे हटती रही।लेकिन इस बार जब कुकदुर पुलिस को तस्करी की जानकारी मिली तो पुलिस ने उसे रंगे हाथ पकड़ लिया और उसे जेल भेज दिया।
 गिरफ्तार आरोपी बलौदाबाजार निवासी अनिल गुप्ता और तेज सिंह है। थाने में इन्हें छुड़ाने बलौदाबाजार के विधायक प्रमोद शर्मा भी पहुंचे। पुलिस का कहना है कि जो शख्स थाने आया था, वह विधायक है, यह हम पहचान नहीं पाए। न ही उन्होंने अपना परिचय दिया था। आरोपियों को कोर्ट में पेश कर जेल भेजा गया है। कुकदूर थाने के प्रभारी बृजेश सिन्हा ने बताया कि हमें सूचना मिली थी कि मध्यप्रदेश से बजाग के रास्ते शराब तस्करी की जा रही है, हमने नाकाबंदी कर चेकिंग की और तस्कर पकड़े गए। आरोपी शराब तस्करी के लिए छत्तीसगढ़ विद्युत् वितरण कंपनी की गाड़ी का इस्तेमाल कर रहे थे. इस बात की जांच की जा रही है कि तस्करी के विद्युत विभाग की गाड़ी का इस्तेमाल कैसे हुआ।
वर्सन

प्रमोद शर्मा विधायक बलौदा बाजार 

इस पुरे मामले में बलौदाबाजार के विधायक प्रमोद शर्मा कहना है की  जब भी मेरा कोई कार्यकर्ता या शुभ चिंतक मुसीबत में रहेगा तो जहा वो बुलाएगा वह  मै जाऊंगा और मै थाना गया था | कुछ लोग राजनितिक भेदभाव के चलते मेरी छवि धूमिल करने में लगे हुए है उससे कोई फर्क नहीं पड़ता 

 वर्जन...

बृजेश सिन्हा :टीआई थाना कुकदूर एमपी से शराब तस्करी कर रहे तीन में से दो आरोपी गिरफ्तार हुए थे फरार आरोपी जीतू को पकड़ने के लिए पुलिस टीम बलोदा बाजार भेजी जाएगी..