छत्तीसगढ़

न्यायधानी बिलासपुर में पीड़िता न्याय के लिए दर दर भटकने को मजबूर ..पढ़े पूरी खबर

अजीत मिश्रा @ BBN24NEWS

न्यायधानी बिलासपुर में एक पीड़िता न्याय के लिए दर दर भटकने को मजबूर है । पीड़िता ने पुलिस आरक्षक पर गम्भीर आरोप लगाते हुए बिलासपुर एसपी और कलेक्टर से न्याय की गुहार लगाई है । वही महिला की शिकायत के बाद पुलिस ने पीड़िता को जांच के बाद कार्यवाही का आश्वाशन दिया है 
पीड़ित महिला पेशे से वकील है पीड़िता का आरोप है कि सीपत थाने में पदस्थ आरक्षक सुरजीत जायसी ने पहले तो उसे प्रेमजाल में फंसाकर अंतरजातीय विवाह किया और उसके बाद विवाह में मिलने वाली राशि अपने पास रख ली । महिला का आरोप है कि आरक्षक ने अपनी पुलिस वर्दी का रौब दिखाते हुए उसके साथ जमकर मारपीट की इतना ही नही आरक्षक और उनके परिजनों ने दहेज की मांग करते हुए उसे मानसिक प्रताड़ित करते हुए घर से भी निकाल दिया 
महिला का आरोप है कि कई बार पुलिस से शिकायत के बाद भी पुलिस इस मामले में आरक्षक और परिजनों पर कोइ कार्यवाही नही कर रही है महिला ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि चूंकि आरक्षक पुलिस विभाग से जुड़ा हुआ है इसलिए पुलिस उस पर कार्यवाही नही कर उसे बचा रही है 
न्याय की उम्मीद में पीड़िता ने आज बिलासपुर पुलिस कप्तान से गुहार लगाते हुए आरक्षक के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की मांग की है वही इस मामले पुलिस के अधिकारी का कहना है कि मामला पारिवारिक है जिसको लेकर महिला थाना में कॉन्सलिंग कराई जाएगी यदि इससे बात बनती है तो दोनों का समझौता करा दिया जाएगा।।

छत्तीसगढ़ शासन के राजस्व मंत्री जय सिंह अग्रवाल पहुचे बिलासपुर , छत्तीसगढ़ भवन में कांग्रेसी कार्यकर्ताओं के साथ की बैठक

अजीत मिश्रा @BBN24NEWS

राजस्व मंत्री  जय सिंह पत्रकारों से बात चीत करते हुए कहा कि बिजली की कटौती नही हो रही है आंधी तूफान के चलते ये सब समस्या हो रही है रही बात बिजली हाफ की तो छत्तीसगढ में कांग्रेस की सरकार आते ही हम अपने वादों में खरे उतरे है और 10 दिनों में बिजली बिल हाफ किया है और रही राजस्व विभाग की तो जब भाजपा की सरकार थी तो राजस्व विभाग में बहुत भ्रस्टाचार हुई थी लेकिन जब से हमारी छत्तीसगढ़ में सरकार है तब से कोई गड़बड़ी नही हुई है और अगर गड़बड़ी पाई जाती है तो कोई भी हो उसे बक्सा नही जाएगा उसे तुरंत सस्पेंड करने का आदेश मैं स्वयें करूँगा

सभी विभागों में कर्मचारियों की कमी के कारण बहुत से कार्यो में विलंब हो रहा है जल्दी ही कर्मचारियों की कमी की समस्या का  समाधान की जाएगा ,,साथ ही राजस्व  विभाग के पेंडिंग कामो को जल्द से जल्द पूरा करने की बात कही 

घोड़े की ग्लैण्डर बैक्टीरिया से दुर्ग में उपचार के दौरान हुई मौत

सूर्यकान्त यादव @ BBN24NEWS

 

राजनांदगांव के घोड़े की ग्लैण्डर बैक्टीरिया से दुर्ग में उपचार के दौरान मौत हो गई । घोड़े से मनुष्य तक फैलने वाली इस घातक बैक्टीरिया को लेकर प्रशासन अलर्ट हो गया है। इस बैक्टीरिया से पीड़ित एक अन्य घोड़े को मारने की वैटनरी विभाग ने शासन से अनुमति मांगी है। वैटनरी विभाग के अनुसार जिस उक्त बैक्टरिया से मृत और पीड़ित घोड़ा मुकुंद नगर का है।इस कारण मुकुंद भवन क्षेत्र से और राजनांदगांव शहर के अलग अलग क्षेत्र जंहा घोड़ा रखा हुआ है वँहा अब जांच शुरू हो गई है। घोड़ो का ब्लड सैम्पल भी लिया जा रहा है।घोड़ो में इस तरह की बीमारी पाए जाने 10 किलोमीटर रेडियस क्षेत्र में घोड़ो को डाक्टरो की टीम देख रेख में रख रहे है।इस तरह की घोड़े की बीमारी मनुष्य में बहोत तेजी से फैलती है इसका परिणाम बहोत की खतर नाक होता है। 2010 और 2013 में इस तरह की बीमारी फैली थी।

 

जल संसाधन विभाग फिर एक बार आया सुर्खियों में,आरएसएस के कार्यक्रम के लिए सभाकक्ष देने से किया इनकार

 
 अजीत मिश्रा @ BBN24NEWS


  सुदर्शन प्रेरणा मंच के कार्यक्रम के लिए किया गया था आरक्षित। 

 कार्यक्रम के महज 24 घण्टे पहले रद्द किया आदेश। 

 आयोजको  का आरोप राजनीति दबाब के चलते आबंटन किया गया निरस्त।

 विभागीय अधिकारी ने किया राजनैतिक दबाव से इनकार।

कहा-सरकारी भवन यूं ही नही दिया जाता किसी को।


 अभी भवन का किराया और अन्य दर भी नही हुआ है निर्धारित-आर.पी. साव।
 

छत्तीसगढ़ में  न्यायधानी का नाम से प्रसिद्ध शहर बिलासपुर में आर एस एस के कार्यक्रम सरकारी भवनों में नहीं हो पाएंगे ।  दरअसल यह कहना उस विभागीय अधिकारी का है जिसने आर एस एस के कार्यक्रम के लिए सरकारी भवन देने से इनकार किया है।  इस बात को लेकर आरएसएस के वरिष्ठ पदाधिकारियों में खासी नाराजगी है।  आनन-फानन में तिलक नगर स्थित सरस्वती शिशु मंदिर  स्कूल भवन मैं अपने कार्यक्रम के आयोजन की तैयारी की लेकिन साथ ही सरकारी अधिकारियों के इस प्रयोग का खुले शब्दों में आलोचना किया है दरअसल राष्ट्रीय स्वयं सेवक दल के एक अंग श्री सुदर्शन प्रेरणा मंच ने एक व्याख्यान माला का आयोजन करना चाहा था विषय था भारतीय संविधान एवं हिंदुत्व इस कार्यक्रम में प्रमुख वक्ता के रूप में आरएसएस के ही पुष्पेंद्र कुमार शामिल हो रहे हैं। आरएसएस के वरिष्ठ पदाधिकारियों ने स्पष्ट किया है कि अगर इस तरह के भेदभाव पूर्ण व्यवहार भविष्य में होते रहे तो उनके द्वारा इसका सड़कों पर आकर भी विरोध करना लाज़मी हो जाएगा।
 

मुसाफिरों की प्यास बुझाने वाली संस्था आवाम ए हिंद सोशल वेलफेयर कमिटी को किया गया सम्मानित

राजधानी की प्रमुख सामाजिक एवम जनहित संस्था अवाम ए हिन्द सोशल वेलफेयर कमेटी, रामनगर, रायपुर ने अपने 45 वें जल वितरण कार्यक्रम में स्थानीय रायपुर रेल्वे स्टेशन के सभी प्लेटफार्म में उमस से व्याकुल रेलयात्रियों को लगभग 1500 लीटर ठंडा आर.ओ. पानी का वितरण कर राहत पहुंचाने का प्रयास किया। आज सम्पन्न हुए इस जनहित कार्यक्रम का नेतृत्व करते हुए संस्थापक श्री मोहम्मद सज्जाद खान जी के साथ पंडित अनिल शुक्ल, डॉ. भीष्म प्रकाश शर्मा, अनिला शर्मा, जुबैर खान, दिव्यांश शर्मा, शेख नजीर, शेख ज़ुबैर, प्रीति जैन तथा अन्य उपस्थित सदस्यों ने सक्रिय योगदान दिया। संस्था द्वारा किये जा रहे शहर में जल एवम शरबत वितरण कार्यक्रम एवं अनेक जनहित उल्लेखनीय कार्यों से प्रभावित होकर, तपस्या सामाजिक सेवा संस्थान, रायपुर ने आज आनन्द भवन, ब्राह्मणपारा, रायपुर में सम्मानित किया। उपरोक्त जानकारी, संस्था के संस्थापक, मो. सज्जाद खान ने जारी एक बयान में दी है।

कबीर जयंती कार्यक्रम मे शामिल हुए पुर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह

सूर्यकान्त यादव @ BBN24 -पुर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह अपने विधान सभा क्षेत्र के अलग अलग गाँव मे कबीर जयंती के कार्यक्रम मे सिरकत की...साथ ही पुर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह अपने निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार राजाभानपुरी गाँव पहुचे जहा पत्रकारो  द्वारा पुछे गए सवाल मे रमन सिंह ने कहा कि मांगी लाल अग्रवाल को जो कहना वह उसने कह दिया जो होना ता वह हो गया...इस मामले मे अब डाँ रमन सिंह क्या कह सकते है.....दरासल पुरा मामला यह है,कि मांगी लाल अग्रवाल द्वारा भाजपा नेताओ पर यह आरोप लगाया गया था,कि भाजपा नेता उसके उपर दबाव बना रहे कि बीजली कम्पनी और अन्य लोगो पर मानहानि का दवा करे.....इस मामले मे रमन सिंह कुछ भी ज्यादा बोलते बचते रहे........गौरतलब है,कि मांगी लाल अग्रवाल ने कुछ दिन पुर्व बिजली कम्पनी और प्रदेश सरकार के खिलाफ एक वीडियो वायरल किया जिसमे कहा गया कि बिजली बार बार रोजना गोल होती है....इसमे बिजली कम्पनी और प्रदेश सरकार का इंवटर कम्पनी के साथ साठगाठ है...जिसके कारण बार-बार लाईट गोल (बिजली)हो रही है....जिसके कारण मांगी लाल अग्रवाल पर राजद्रोह को मामला दर्ज कर लिया गया था,....जिसे मुख्यमंत्री भुपेश बघेल के पहल पर राजद्रोह का धारा हटाया गया...अब ये पुरा मामला राजनीतिक रंग ले रहा है....

कोचिंग डिपो बिलासपुर में स्वैच्छिक रक्त-दान शिविर का हुआ आयोजन

अजीत मिश्रा @ BBN24 साउथ ईस्ट सेंट्रल रेलवे मजदूर कॉंग्रेस, बिलासपुर द्वारा कोचिंग डिपो बिलासपुर में स्वैच्छिक रक्त दान शिविर का आयोजन छत्तीसगढ़ आयुर्वेदिक संस्थान (सिम्स), बिलासपुर के सहयोग से किया गया। इस अवसर पर अपर मंडल रेल प्रबंधक, श्री सौरभ बंदोपाध्याय, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ जी.के.चक्रवर्ती, साउथ ईस्ट सेंट्रल रेलवे मजदूर कॉंग्रेस के जोनल महासचिव श्री के.एस.मूर्ति, अध्यक्ष श्री तपन चटर्जी, वरि.मंडल यांत्रिक इंजीनियर(समन्वय) श्री ललित धुरंधर, वरिष्ठ मंडल कार्मिक अधिकारी श्री उदय कुमार भारती, उपाध्यक्षा, सेक्रो श्रीमती बनश्री बंधोपाध्याय व अन्य अधिकारीगण उपस्थित थे। अतिथियों के स्वागत पश्चात् शिविर का शुभारंभ मुख्य अतिथि श्रीमती सुषमा राजगोपाल, अध्यक्ष, सेक्रो, बिलासपुर मंडल द्वारा किया गया। शिविर में श्री बी कृष्ण कुमार, मंडल समन्वयक, बिलासपुर द्वारा रक्तदान शिविर के उद्देश्य के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारियां दी गई। इस अवसर पर अपने उद्बोधन में श्रीमती सुषमा राजगोपाल ने इस कार्यक्रम की सराहना करते हुए उन्हें इस शुभ अवसर पर बुलाने के लिए धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि मजदूर कांग्रेस अनेक सामाजिक कार्यक्रमों का आयोजन कर कर्मचारी हित में बेहतर कार्य कर रही है। इस पुनीत कार्य के आयोजन के लिए उन्हें बधाई दी। मंडल रेल प्रबंधक श्री आर.राजगोपाल ने इस सराहनीय कार्य के लिए बधाई दी तथा भविष्य में इसप्रकार के आयोजन करते रहने के लिए प्रेरित किया। उपस्थित सभी द्वारा स्वैच्छिक रक्तदान शिविर की सराहना की गई। इस अवसर पर लगभग 50 से अधिक रेलवे के अधिकारियों एवं रेलकर्मियों द्वारा स्वैच्छिक रक्त-दान किया गया जिसमें महिला कर्मचारी भी शामिल थीं। शिविर को सफल बनाने में साउथ ईस्ट सेंट्रल मजदूर कॉंग्रेस के जोनल उपाध्यक्ष आशुतोष स्वर्णकार, केंद्रीय कोषाध्यक्ष दिलीप कुमार स्वाइन, संयुक्त महामंत्री लक्ष्मण राव , शाखा सचिवगण गौरीशंकर आईच, डीडी महेश, लोकनाथ पटेल,एमडब्ल्यू इस्लाम, बालकृष्ण बंगारी मजदूर कांग्रेस के अन्य सक्रिय पदाधिकारी आरके यादव, धीरज गुलहरे, विशाल दमाई ,के व्ही जगदीश राव, एम रवि , विश्वनाथ काशी, अजीत कुमार गौतम, पंकज कुमार सिंह, उत्तम कुमार, विनोद बावसकर, आनंद कृष्णन आदि ने महत्वपूर्ण निभाई।

पेन्शन अदालत में प्राप्त सभी मामलों का किया गया तत्काल निराकरण

अजीत मिश्रा@BBN24 रेलवे बोर्ड द्वारा जारी आदेशानुसार बिलासपुर मण्डल में हर तिमाही पेन्शन अदालत का आयोजन किया जाता है। जिसमें पेन्शन से सम्बन्धित समस्याओ का निराकरण किया जाता है। इसी संदर्भ में मंडल रेल प्रबंधक सभाकक्ष में आज दिनांक 17 जून 2019 को प्रातः 11.30 बजे से पेन्शन अदालत का आयोजन किया गया। इस पेन्शन अदालत में केवल 01 आवेदन प्राप्त हुआ था। प्राप्त आवेदन पर अपर मंडल रेल प्रबंधक श्री सौरभ बंदोपाध्याय की विशेष उपस्थिति में वरि. मंड़ल वित प्रबंधक अनुज कुमार, मंडल कार्मिक अधिकारी-2 श्री लिंगराज राउत, सहा.मंडल वित्त प्रबंधक श्री सोरेन, पेंशन सेवा समिति के पदाधिकारियों एवं आवेदक के मध्य गहन विचार-विमर्श कर रेलवे नियमानुसार उक्त मामले का तत्काल निराकरण किया गया। इस पेन्शन अदालत में मुख्य कार्यालय अधीक्षक बंदोबस्त श्री एल.एस.पैकरा, मुख्य कल्याण निरीक्षक श्री हारून होरो तथा कार्मिक एवं लेखा विभाग के अनेक कर्मचारी उपस्थित थे।

बाराद्वार फाटक आवश्यक रखरखाव हेतु रहेगा बंद

अजीत मिश्रा@ BBN24 रेलवे प्रशासन द्वारा दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के बिलासपुर मंडल के अंतर्गत बाराद्वार यार्ड किमी. 649/21-23 पर स्थित मानव सहित समपार संख्या 328 (बाराद्वार फाटक) को, दिनांक 18 जून 2019 को रात 10.00 बजे से दिनांक 19 जून 2019 प्रातः 08.00 बजे तक वार्षिक मरम्मत कार्य हेतु सड़क यातायात के लिए बंद करने का निर्णय लिया गया है।

डॉक्टरों के विरुद्ध बढ़ती हिंसा के विरोध में एक दिवसी हड़ताल , बंद रहे सभी निजी अस्पताल

सूर्यकान्त यादव @ BBN24-- डॉक्टरों के विरुद्ध बढ़ती हिंसा के विरोध में इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने एक दिवसी हड़ताल करने का निर्णय लिया है 17 जून से सुबह 6:00 बजे से 18 जून सुबह 6:00 बजे तक सभी निजी अस्पताल बंद रहेंगे हालांकि मरीजों को जांच के लिए सेवा दी जाएगी इमरजेंसी में सहायता डॉक्टरों द्वारा प्रदान की जाएगी...देश में डॉक्टरों के विरूद्ध हिंसा को लेकर आज राजनांदगांव में डॉक्टरों ने भी प्रदर्शन कर विरोध जताया.. डॉक्टरों के विरुद्ध बढ़ती हुई हिंसा की घटनाओं और वर्तमान में पश्चिम बंगाल के एनआरएस मेडिकल कॉलेज के रेजिडेंट डॉक्टरों के साथ हुई कुर्ता पूर्ण मारपीट की घटना के विरोध में आईएमए के निर्देशानुसार डॉक्टर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं...इंडियन मेडिकल एसोसिएशन डॉक्टरों और हॉस्पिटल के विरूद्ध हिंसा पर एक राष्ट्रीय कानून की मांग कर रहे हैं संगठन ने डॉक्टरों और स्वास्थ्य सेवा प्रतिष्ठानों पर हिंसा के खिलाफ 10 संशोधित नीति घोषित की है अहिंसात्मक मारपीट को रोकने के लिए राष्ट्रीय चिकित्सा सुरक्षा कानून बनाने की मांग कर हड़ताल कर रहे हैं.. इसी कड़ी में आज इस प्रदर्शन में शहर भर के सीनियर और जूनियर सहित मेडिकल कॉलेज में अध्ययनरत डॉक्टर भी शामिल हुए।

अकलतरा क्षेत्र में बिजली की आंखमिचौली से क्षेत्रवासी त्रस्त...

(Edited By : YASH LATA) - अकलतरा शहर और अकलतरा के ग्रामीण इलाकों में बिजली कि आंख मिचौली से ग्रामीण त्रस्त हो गए है। आपको बतादे कि इन दिनों अकलतरा व् गांवों में हमेशा हर रोज कई घंटों तक बंद कर दिया जा रहा है। गर्मी इतना है कि आदमी का जीना बेहाल सा हो गया वही यहाँ बिजली विभाग की लचर व्यवस्था सुधरने का नाम ही नही ले रही है। अकलतरा इलाके में रोजाना बिना जानकारी के कई घण्टो तक बिजली की सफ्लाई बंद कर दी जाती है वही पूछने पर बिजली विभाग के अधिकारी कर्मचारी अलग अलग जानकारी देकर लोगो को कोई फाल्ट तो कोई मेन्टेन्स का काम चल रहा बोलकर जानकारी देते है इतना ही नही अचानक अगर थोड़ी सी हवा तूफान आयी तो मानो बिजली का बंद होना आम बात सी है । अब देखने वाली बात यह है कि इस और कोई राजनीतिक दल कोई पहल करता है या ये बिजली बंद का सिलसिला जारी रहेगा

बिजली की आंखमिचौली से क्षेत्रवासी त्रस्त

(शनि सूर्यवंशी) पकरिया - सब स्टेशन नरियरा अंतर्गत ग्रामीण इलाकों में बिजली कि आंख मिचौली से ग्रामीण अक्सर त्रस्त रहते है। आपको बता दे कि नरियरा सब स्टेशन के पकरिया फीडर अंतर्गत झलमला, पकरिया, नवागांव, लगरा ,खपरी टांड, इन गांवों में हमेशा हर दिन हर रोज बिजली गुल कर बिना वजह कई घंटों तक बंद कर दिया जाता है। गर्मी इतना है कि आदमी का जीना बेहाल सा हो गया वही यहाँ के सब स्टेशन का लचर व्यवस्था सुधरने का नाम ही नही ले रहा है। जिससे लोगो को बिजली से राहत मिल नही पा रहा है। पकरिया फीडर के लोग बताते है कि रोजाना बिना जानकारी के कई घण्टा तक बिजली की सफ्लाई बंद कर दी जाती है वही पूछने पर बिजली विभाग के अधिकारी कर्मचारी अलग अलग जानकारी देकर लोगो को गुमराह करते है कोई फाल्ट तो कोई मेन्टेन्स का काम चल रहा बोलकर अपना अपना पल्ला झाड़ने का काम करते है जिससे इनके गलत जानकारी से लोगो में गुस्सा पनप रहा है । इतना ही नही अचानक अगर थोड़ी सी हवा तूफान आयी तो मानो बिजली का बंद होना आम बात सी है 1 दो घंटे के लिए नही पूरे रात से सुबह के होते तक बंद कर दिया जाता है जो कि सुबह से इतना तेज गर्मी चिलचिलाती धूप में बिजली के कारण पीने खाना बनाने तक के लिए लोगो को पानी तक मुनासिब नही हो पाता है वही कई ऐसे मोह्हले है जहाँ हैंडपंप नही है जिससे वहा के लोगो को काफी ज्यादा दूर तक पानी भरने लाने में तकलीफ होता है । इस तरह के कई समस्या है जिससे आम आदमी को पानी के लिए झूझना पढ़ रहा है। वही गर्मी में दोपहर को तो बिजली नही होने के वजह से इंसान अपने स्तर पर नीम पीपल बरगद जैसे पेड़ो के जगह छांव में पूरा दोपहर से दिन तक गर्मी से बचने के लिए आराम करते दिखाई पड़ते है। इतना ही नही अगर रात में कही बिजली की तार टुटा खंभा गिरा पेड़ गिरा तो सबस्टेशन में ऑपरेटर को कर्मचारी को फ़ोन लगाओ तो रात में उनका रटारटाया जवाब रहता है फाल्ट हो गया वही बात जब सुबह पता चलता है कि कही छोटा सा तार में पेड़ के वजह से टूटा हुआ पड़ा रहता है। वही आज के दिन शनिवार की बात करे तो सुबह से लगातर चालू बंद चालू बंद का खेल खेला जा रहा है वही बिजली की आंख मिचौली सुबह से दोपहर तक चल रहा है जिससे लोग भारी परेशान नजर आ रहे है। पूछने पर बिजली विभाग के कर्मचारी बता रहे है कि पकरिया फाल्ट है वही उनके अधिकारी अकलतरा से 33 केवी बंद है बोलते है अब ये बात कितना सच झूठ है ये तो अब उनके कर्मचारी अधिकारी ही जान पाएंगे । वही इनदिनों लगातार बिजली कि आवाजाही से क्षेत्रवासि भारी ज्यादा परेशान है साथ ही पकरिया फीडर के उपभोक्ताओं को बिजली से छुटकारा नही मिलते दिख रहा है।

छत्तीसगढ़ के संगीत के भीष्मपितामह कहे जाने वाले खुमान साव की याद में स्वरधारा कार्यक्रम का हुआ आयोजन

सूर्यकान्त यादव @ राजनांदगांव-- राजनांदगांव छत्तीसगढ़ के संगीत के भीष्मपितामह कहे जाने वाले खुमान साव के याद में आज पद्म श्री गोविंदराम निर्मलकर ऑडिटोरियम में उन्हें श्रद्धांजलि देने के लिए स्वरधारा कार्यक्रम का आयोजन किया गया है..इस कार्यक्रम में स्वर्गीय खुमान लाल साव को याद करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दी जा रही है स्वर्गीय खुमान लाल साव के अस्थि कलश को रखकर यह आयोजन किया जा रहा है। -- छत्तीसगढ़ की समृद्धशाली लोक सांस्कृतिक परंपरा में रचे बसे गीतों और विलुप्त होती लोक धुनों को परिमार्जित कर तथा आधुनिक कवियों की छत्तीसगढ़ी रचनाओं को स्वरबद्ध कर उसे लोकप्रियता की दृष्टि से फिल्मी गीतों के समकक्ष खड़ा देने वाले खुमान साव ही थे..खुमान साव ने अपने जीवन काल का संपूर्ण समय लोक कला को हर परिस्थिति में जीवित रखने के लिए संघर्ष किया इस कारण छत्तीसगढ़ की लोक संस्कृति को बचाने वालों की सूची में उनका नाम सम्मान से लिया जाता है...संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार से सम्मानित स्वनाम धन्य लोक संगीतकार खुमान लाल साव सही अर्थों में छत्तीसगढ़ के सांस्कृतिक दूत है जिन्होंने अपनी विलक्षण संगीत साधना और पांच हजार मंचीय प्रस्तुतियों के माध्यम से छत्तीसगढ़ महतारी का यश चहुंओर फैलाया है साव का जन्म 5 सिंतबर 1929 को डोंगरगांव के समीप खुर्सीटिकुल नामक गांव में एक संपन्न माल गुजार परिवार में हुआ..उन्होंने नाचा के युग पुरूष मंदराजी दाऊ की रवेली नाचा पार्टी में शामिल होकर अपनी प्रतिभा का परिचय दिया..छत्तीसगढ़ की स्वर कोकिला कही जाने वाली कविता वासनिक ने स्वर्गीय खुमान लाल साव के याद में शोक स्वरांजलि कार्यक्रम का आयोजन पदम श्री गोविंदराम निर्मलकर ऑडिटोरियम में किया है वहीं कविता वासनिक का कहना है कि मैं स्वर्गीय खुमान लाल साव की शिष्य रही हूं उन्होंने छत्तीसगढ़ी लोक संगीत लोक कला में नई दिशा दी है पूरे छत्तीसगढ़ में छत्तीसगढ़ी लोकगीत संगीत को लेकर उन्हें याद किया जाएगा।

उसलापुर स्टेशन में एलईडी डिजीटल स्क्रीन बोर्ड की यात्रियों को मिली सुविधा

अजीत मिश्रा @ BBN24 -- रेलवे प्रशासन द्वारा रेलवे की गौरवशाली अतीत, उपलब्धियों एवं यात्री सहायता से संबंधित सुविधाओं से लोगों को रूबरू कराने हेतु रेलवे स्टेशनों पर एलईडी डिजीटल स्क्रीन बोर्ड की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। भारतीय रेलवे की यह एक अभिनव पहल है। इसका उद्देश्य लोगों को एक से दो मिनट अवधि की लघु फिल्मों एवं चित्रों के जरिए भारतीय रेल की समृद्ध विरासत, रेलवे की योजनाओं, उपलब्ध यात्री सुविधाओं एवं यात्री सहायता नंबरों की जानकारी यात्रियों को उपलब्ध कराने के साथ ही साथ सुरक्षित यात्रा के प्रति जागरूक करना है। ये लघु फिल्में रेलवे स्टेशनों में एलईडी डिजीटल स्क्रीन बोर्ड पर दिखाई जा रही है। रेलवे प्रशासन द्वारा उसलापुर स्टेशन को बिलासपुर के टर्मिनल स्टेशन के रूप में विकसित किया जा रहा है। इसी विकास क्रम में उसलापुर स्टेशन के प्लेटफार्म 01 में 02 एलईडी डिजीटल स्क्रीन बोर्ड की सुविधा की शुरूआत की गईं है। उसलापुर स्टेशन से प्रतिदिन हजारों यात्री सफर करते हैं। इनमें से अधिकांश लोगों के मन में भारतीय रेलवे की इतिहास, उपलब्धियां, सुविधाओं की जानकारी के अलावा यात्रा के दौरान होने वाली परेशानियों के समाधान हेतु सहायता नंबरों को जानने की जिज्ञासा रहती है। उनकी जिज्ञासाओं पर कार्य करते हुए रेलवे द्वारा ऐसी व्यवस्था की गई है जिससे स्टेशन में प्रवेश करते ही वे सारी जानकारियों से अवगत हो जाएं। डिजीटल स्क्रीन बोर्ड की सहायता से राष्ट्रीय धरोहर वर्ष 1853 से लेकर रेलवे की अब तक की विकास यात्रा को शार्ट मूवी क्लिप के जरिए छोटी-छोटी फिल्म दिखा कर यात्रियों को दिखाया जा रहा है। इससे यात्रियों को मनोरंजन के साथ ही कई तरह की जानकारियां भी मिल रही है जैसे रेलवे की पहली ट्रेन कब चली, पहली ट्रेन कहां से कहां चली, रेलवे का पुराना इंजन कैसा था साथ ही यात्रा के दौरान आने वाली परेशानियों के समाधान हेतु हेल्पलाइन नं आदि की जानकारियों को भी इसमें शामिल किया गया है।

ट्रांसपोर्टरों ने यातायात पुलिस पर लगाया आरोप , गाड़ी चेकिंग के दौरान को बिना ओवरलोड़ गाड़ियों पर भी लगाया जा रहा है जुर्माना

सूर्यकान्त यादव @ BBN24- जिले में पिछले कुछ दिनों से ओवरलोड वाहनों के खिलाफ आरटीओ विभाग और यातायात विभाग द्वारा कार्रवाई की जा रही है..जिले में लगातार ओवरलोड वाहनों और शहर के भीतरी मार्गों में वाहन को लेकर लगातार पुलिस की कार्रवाई चल रही है.. वही इस मामले को लेकर ट्रांसपोर्ट संघ ने ओवरलोड की आड़ में वाजिब लोड गाड़ियों पर भी जुर्माना लगाने का आरोप लगाया है और कार्रवाई पर विरोध जताया है..वही ट्रांसपोर्टर संघ ने यातायात विभाग पहुंचकर वाहनों पर की जा रही कार्रवाई का विरोध किया और यातायात विभाग पर अवैध वसूली का आरोप भी लगाया..वही इनका कहना है कि विभाग द्वारा जानबूझकर इस तरह की कार्यवाही की जा रही है और जो गाड़ियां शहर में चल नहीं रही उनके नाम पर भी विभाग द्वारा वसूली की जा रही है और ट्रांसपोर्टरों को परेशान किया जा रहा है..ओवरलोड की आड़ में बेवजह जुर्माना लगाने का आरोप लगाते हुए ट्रांसपोर्टर बड़ी संख्या में राजनांदगांव स्थित यातायात कार्यालय पहुंचे और यातायात विभाग द्वारा पकड़ी हुई गाड़ियों और अवैध वसूली का जमकर विरोध किया..वहीं इस पूरे मामले में संबंधित विभाग के अधिकारी कैमरे के सामने आने से बचते रहे।