छत्तीसगढ़

अकलतरा के वार्ड नं 13 - 14 में पानी निकासी नहीं होने से नगरवासी परेशान, लोगो के घरों में घुसा पानी

यश लाटा @ BBN24 : अकलतरा नगर पालिका के वार्ड नं 13 व् 14 में पानी निकासी नहीं होने से यहाँ रहने वाले लोग परेशान है , यहाँ घरों में पानी भर गया है और इस ऒर कोई भी ज़िमेदार अधिकारी व् जनप्रतिनिधि ध्यान नहीं दे रहा है जिससे वार्डवासी में आक्रोश देखा जा रहा है वही वार्डवासियों ने इसकी शिकायत भी नगर पालिका में की है उसके बाद भी इस और कोई भी पहल नहीं की जा रही है

जांजगीर चापा - अवैध रेत परिवहन कर रहे हैं हाइवा ने कार को मारी टक्कर,  4 लोगों की हालत गंभीर,

आशीष कश्यप - bbn24news.com 【शिवरीनारायण थाना के लोहर्षी गांव की घटना】 - जांजगीर चाम्पा जिले में आज सुबह रेत से भरे एक हाईवा ने एसयूवी कार को जोड़दार टक्कर मार दी, टक्कर इतनी जबरदस्त थी की एसयूवी के परखच्चे उड़ गए और उसमें सवार चार शख्स अंदर ही फस गए। काफी मशक्कत के बाद सभी को निकाल कर पामगढ़ के सामुदायिक स्वास्थ्य पहुंचाया गया जहां से उनकी गंभीर स्थिति को देखते हुए बिलासपुर रेफर कर दिया गया। वही दुर्घटनाकारित हाईवा छोड़कर ड्राइवर मौके से फरार हो गया जिसकी तलाश पुलिस कर रही है। घटना शिवरीनारायण थाना क्षेत्र के लोहर्षी गांव की है घटना के बाद मौके पर जाम की स्थिति निर्मित हो गई जिसे संभालने के लिए पुलिस बल मौके पर पहुंचा तब जाकर स्थिति नियंत्रित हुई। बताया जा रहा है कि बलौदाबाजार जिला के भटगांव के रहने वाले लोग इलाहाबाद से अस्थि प्रवाहित कर वापस घर लौट रहे थे, जिस दौरान महानदी से अवैध रेत उत्खनन परिवहन में लगे हाईवा ने उन्हें अपनी चपेट में ले लिया घटना में एसवी सवार सभी लोगों की हालत गंभीर बनी हुई है, फिलहाल बाकी घायलों का बिलासपुर में इलाज जारी है मगर डॉक्टरों ने स्थिति गंभीर बताई है।

नदी में फंसे ग्रामीणों को रेस्क्यू कर निकाला गया

दंतेवाड़ा - सोमवार तक़रीबन १ बजे ज़िला दंतेवाड़ा के बारसूर थाना क्षेत्र में बहने वाली इंद्रावती नदी के कोड़नार-मूचनार घाट के पास मँझधार में फँसे होने की ख़बर पुलिस अधीक्षक श्री अभिषेक पल्लव आईपीएस को मिली। तत्काल श्री पल्लव अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री सूरज सिंह परिहार आईपीएस के साथ मौक़े पे रवाना हो गए। इस बीच ज़िला कमांडेंट को बचाव टीम मौक़े पे रवाना करने का निर्देश देकर जगदलपुर पुलिस कंट्रोल रूम के माध्यम से SDRF की टीम को भी तैय्यार रहने के निर्देश दिए गए। मौक़े पर स्थानीय अनुविभागिय पुलिस अधिकारी और थाना प्रभारी भी मौजूद थे। मौक़ास्थल का मुआयना करने पर पाया गया की २१ लोग मँझधार में शासन द्वारा प्रदान मोटर बोट का मोटर खराब होने से फँस गए हैं किंतु एक चट्टान पर बैठे हैं।आंकलन बाद जगदलपुर टीम को रोका गया और स्थानीय टीम से ४ फ़ेरी में सभी २१ लोगों (३ बच्चों समेत) को सुरक्षित बाहर निकाला गया। इस बीच कोई ग्रामीण आवेश में नदी में ना चला जाए इसके लिए पुलिस ने रस्सी पार्टी भी लगायी और समझाईश भी दी गयी। पूरा अभियान शाम ४.३० बजे समाप्त हुआ।इस दौरान सूचना मिलने पर कलेक्टर दंतेवाड़ा भी घटनास्थल पर पहुँच गए। स्थानीय ग्रामीणों को कहते सुना गया कि पहले भी इस तरह की घटनाएँ हुई हैं परंतु पहली दफ़ा है कि कलेक्टर-एस॰पी॰ और अन्य वरिष्ठ अधिकारी स्वयं घटनास्थल पर उपस्थित हुए। यह पुलिस प्रशासन एवं सिविल प्रशासन की बढ़ती जन-संवेदनशीलता का प्रतीक है।

प्रसिद्ध समाजसेवी और आदिवासियों के मसीहा प्रभुदत्त खेड़ा की दोबारा बगड़ी तबीयत

अजीत मिश्रा@ -प्रसिद्ध समाजसेवी और आदिवासियों के मसीहा प्रभुदत्त खेड़ा की दोबारा तबीयत बिगड़ गई है. शहर के अपोलो अस्पताल में उनका इलाज चल रहा है. अपोलो प्रबंधन का कहना है कि उनके ठीक हो जाने तक उनका अपोलो में रूटीन इलाज जारी रहेगा और विशेष परिस्थितियों में उन्हें दिल्ली एम्स भी भेजा जा सकता है. प्रोफेसर प्रभुदत्त खेड़ा की तबीयत बिगड़ी, बिलासपुर अपोलो में इलाज जारीखेड़ा की उम्र 92 साल से अधिक है और वे कुछ महीने पहले ही बिलासपुर के अपोलो अस्पताल में इलाज के लिए आ चुके हैं. खेड़ा दिल्ली विवि में अध्यापन का काम कर चुके हैं और साल 1980 से अचानकमार क्षेत्र में आदिवासी बैगाओं को जागरूक करने में जुटे हैं. गांधीवादी प्रोफेसर खेड़ा अभ्यारण्य शिक्षण समिति छपरवा से संचालित हायर सेकंडरी स्कूल में नियमित रूप से शिक्षण के कार्य से जुड़े हुए हैं. प्रोफेसर खेड़ा ने हिन्दू कॉलेज दिल्ली में बतौर रीडर सेवाएं दी हैं. खेड़ा गणित और मनोविज्ञान विषय में एमए की डिग्री ली है और दिल्ली यूनिवर्सिटी से ही पीएचडी की उपाधि भी हासिल की है.

मूलभूत सुविधाओं को लेकर नगर वासियों ने की यहाँ के कार्यलय में तालाबंदी पढ़े पूरी खबर

अजीत मिश्रा@BBN24 : नेता और अधिकारी जब दोनों को आम जन मानस से कोई सरोकार ना हो तो वहाँ का हाल क्या होगा ये तो आप समझ सकते है जब आम जन मानस इनके खिलाफ मोर्चा खोल दे तो क्या होगा ऐसा ही एक मामला बिलासपुर  शहर से लगे हुए नगर पंचायत सिरगिट्टी के लोगों में सोमवार को उस वक्त खासा आक्रोश देखने को मिला, जब लगातार अपनी मूलभूत सुविधाओं को मांगने पर नगर पंचायत अधिकारी जनप्रतिनिधियों द्वारा पूरी नहीं करने पर आक्रोशित नागरिकों ने नगर पंचायत कार्यालय में तालाबंदी कर जमकर मुर्दाबाद के नारे लगाने लगे।और जनता उस वक्त ज्यादा आक्रोशित हो गये, जब नगर पंचायत की CMO मैडम सुबह 11 बजे से 3 बजे तक ऑफिस में नही पहुंची। वही मौके पर जनप्रतिनिधि अध्यक्ष,पार्षद रहते हुए मिडिया के सामने आने से बचते रहें। घंटो अपने ऑफिस में दुबके नजर आयें। बता दे की सिरगिट्टी नगर पंचायत के लोगों का आरोप है। की भूमिहीन,जरूरतमंद लोगों को नगर पंचायत आवास व पट्टे नहीं दे रही है।और पानी बिजली खंबे नाली जैसे मुलभुत सुविधाओं की मांग के लिए बार बार पंचायत और जनप्रतिनिधि के पास चक्कर लगाने मजबूर हो गये है।आरोप है की पंचायत के अधिकारी जनप्रतिनिधियों की मिली भगत से संपन्न लोगों को और अपने चहेतो को यह सब सुविधा दे रही है चेहरा देखकर पट्टा एलाट किया जा रहा है। यह सब प्रशासनिक लापरवाही एवं नगर पंचायत प्रतिनिधियों की मनमानी के चलते हो रहा है।और गरीबों को इससे वंचित किया जा रहा है। वही नगर पंचायत ऑफिस में अध्यक्ष श्रीमती केशरी इन्गोले के पति सुन्दर सिंह द्वारा पंचायत के हर कार्य में हस्तक्षेप आम लोगों से हुज्जत बाजी व अध्यक्ष जैसे सम्माननीय पद के रहते हुए उनके कुर्सी पर आकर बैठने को लेकर मजिस्ट्रेट ने कार्यवाही करने की बात कही  तमाम मांगो को लेकर नगर पंचायत ऑफिस में नागरिकों ने उग्र आन्दोलन करते हुए तालाबंदी कर दिया गया। मामला बढ़ते देख आला अधिकारियों में हडकंप मच गया।वही आनन फानन में तुरंत पुलिस बल उसके बाद सीटी मजिस्ट्रेट तुरंत मौके पर पहुँचे। जिन्होंने सभी की शिकायत मिलने व सुनने के बाद जाँच कर उचित कार्यवाही की आश्वासन दिया। वही सिटी मजिस्ट्रेट के आश्वासन के बाद भी आक्रोशित नागरिकों का गुस्सा कम नही हुआ।तब सिटी मजिस्ट्रेट ने खुद बंद कमरे में आम जनता और नगर पंचायत के जनप्रतिनिधियों सहित कर्मचारियों से चर्चा की।जिसके बाद उन्होंने समस्याओं की गम्भीरता को लेकर,नगरपंचायत की अधिकारियो को जमकर फटकार लागई और सभी समस्याओं पर जल्द से जल्द निराकरण करने का निर्देश दिया।उनके द्वारा अल्टीमेटम देते हुए पानी और रोड़ नाली को दुरुस्त करने का 1 हप्ते का निर्देश दिया।और 17 तारीख को फिर से मोनेटरिंग करने की बात कही की। करीब लगभग दो घन्टे बंद कमरे मे चली इस चर्चा में मीडिया को दूर रखा गया, और वही जनता की सभी समस्याओं के समाधान को लेकर निर्णय लेने की बात कह कर मामले को रफादफा कर आश्वासन तक ही सिमित रखा। ऐसे में यह देखना होगा कि सालो से पुराने ढर्रे पर मनमानी तौर से चल रहे नगर पंचायत कार्यालय की कार्यप्रणाली पर और आज के   इस आन्दोलन व तालाबंदी का कितना असर होता है।

स्कूल की बाउंड्री वॉल के अंदर, सरकारी जमीन पर कई ग्रामीणों ने बसा दिया घर ....

शनि यादव@मस्तूरी : जनपद पंचायत से महज 6 किलोमीटर दूर ग्राम पंचायत बेलटुकरी मे पंचायत के जनप्रतिनिधियों की घोर लापरवाही सामने आई है जहां स्कूल की बाउंड्री वॉल के अंदर की सरकारी जमीन पर कई ग्रामीणों की घर बसा दिया गया है। एक तरफ जहां स्कूल की बाउंड्रीवाल को बेजा कब्जा के वजह से पूरा नहीं किया जा सकता जिसकी वजह से आए दिन स्कूल के सामने जानवर घुस जाते हैं और बच्चों के खेलने की जगह को जानवर खराब कर देते हैं लगातार जानवरों के आने के वजह से स्कूल के सामने कीचड़ ही कीचड़ हो गया है । स्कूल बाउंड्री के अंदर लगे फुल फुलवारी भी जानवर नुकसान कर दिया , दूसरी तरफ समस्या यह है की जनप्रतिनिधियों के द्वारा जिन ग्रामीणों को स्कूल के बाउंड्रीवॉल के अंदर बसाया गया है या जिनका घर बनाया गया है उनके सामने बहुत बड़ी समस्या खड़ी हो गई बारिश के दिनों में अगर इनका घर टूटता है तो इनके पास रहने के लिए घर नहीं । अगर इनके घर को तोड़ भी दिया जाता है तो स्कूल की बाउंड्री वाल कंप्लीट नहीं हो पाएगी। जबकि सरपंच और गांव के जनप्रतिनिधियों को यह पहले से पता था की स्कूल की बाउंड्रीवाल होनी है इसके बावजूद इतनी बड़ी लापरवाही सरपंच और उसके जनप्रतिनिधियों के द्वारा बरती गई ।अब देखा जाए तो एक तरफ गांव के सैकड़ों विद्यार्थियों छात्र छात्राओं का भविष्य का सवाल है दूसरी तरफ गांव के उन गरीब परिवारों का समस्या बढ़ जाएगा जो वहां पर कब्जा करके बसे हुए हैं इन सब में सरपंच की और गांव के जनप्रतिनिधियों के मिलीभगत से इनकार नहीं किया जा सकता। स्कूल के बाउंड्री वॉल में कब्जा करने वाले रामेश्वर साहू परमेश्वर साहू राजकुमार साहू इन्हीं तीनों भाइयों ने स्कूल के बाउंड्री वॉल के अंदर बेजा कब्जा कर घर बना लिया है। गांव के कुछ लोगों ने उन लोगों के खिलाफ शिकायत भी की है तो उन्होंने फर्जी तरीके से बनवाए हुए जमीन का पट्टे का बहाना बना कर दिखा रहे हैं। जिस पट्टे को तहसीलदार ने खुद फर्जी साबित कर दिया है। जिसका मामला अभी भी मस्तूरी राजस्व विभाग में चल रहा है। ........................................... लखन दिनकर के कार्यकाल में यह घर बनाया गया था मेरे कार्यकाल में यह घर नहीं बनाया गया है रामेश्वर परमेश्वर राजकुमार तीनों भाइयों को मैं कई बार समझाया था कि इस घर को तोड़ दो इसमें बच्चों का भविष्य खराब हो रहा है पर वह नहीं माने रामेश्वर साहू पूर्व सरपंच। ........................................... मैंने एसडीएम कार्यालय मस्तूरी और मस्तूरी बी, ओ, ऑफिस में इस बात की सूचना लिखित में दे दिया है बेजा कब्जा धारियों का कहना है कि उनके पास 5 एकड़ का पट्टा है इसलिए केस कोर्ट में लंबित है और यह पुरा क्रियाकलाप पूर्व सरपंच के शासनकाल में हुआ है चैतराम बंजारे सरपंच बेलटुकरी पंचायत. ......................................... हमें ग्राम पंचायत से यह जानकारी मिली थी की स्कूल के बाउंड्रीवॉल के अंदर बेजा कब्जा कर घर बना लिया गया है जिसको हमने मस्तूरी दंडाधिकारी के पास भेज दिया है इसमें जो एक्शन लेना है एसडीएम साहब या तहसीलदार साहब भी ले सकते हैं सीबी टेकॉम विकास खंड शिक्षा अधिकारी मस्तूरी. ........................................... मेरे पास मामला नहीं आया है तहसीलदार के पास आया हुआ और ऐसी बात है तो उस पर एक्शन जरूर लिया जाएगा क्योंकि यह बच्चों के भविष्य का सवाल है इसका कुछ ना कुछ रास्ता जरूर निकाला जाएगा वीरेंद्र लकड़ा मस्तूरी एसडीएम. ...........................................

एसडीएम कार्यालय में किया गया वृक्षारोपण

शनि यादव@ मस्तूरी : एसडीएम कार्यालय में बड़े ही उत्साह पूर्वक से दर्जनों छायादार एवं फलदार पौधों का वृक्षारोपण कार्य किया गया । इस अवसर पर मस्तूरी एसडीएम बीरेंद्र लकड़ा,तहसीलदार मनोज खण्डेय,कानूनगों सी.एम. पांडेय सहित क्षेत्र के सरपंच जनप्रतिनिधि,पटवारी के अलावा विभागीय कर्मचारी उपस्थित थे। मस्तूरी एसडीएम वीरेंद्र लकड़ा ने वृक्षारोपण के फायदे के बारे में बताते हुए कहा कि प्रत्येक व्यक्ति को वृक्षारोपण कार्य करने और साथ ही उसकी रक्षक करने का सलाह भी दिया और लोगों से अपील किया कि अधिक से अधिक संख्या में लोगों को वृक्ष रोपड़ के मामले में जागरूक हो और दूसरों को किया जाए। और ग्राम पंचायतों के खाली स्थानों में पौधे लगाकर हरियाली नुमा बनाए जाने की सलाह दी।

जांजगीर चापा : बंदूक से शादी समारोह में हुई जमकर फायरिंग

प्रियांश केशरवानी@BBN24 : - जाजंगीर चाम्पा जिले के शिवरीनारायण थाना अन्तर्गत बीती रात एक शादी समारोह में चार लोगों ने भरमार बंदूक से से जमकर हवाई फायरिंग की. जिसमे फायरिंग की आवाज सुनकर कुछ बाराती सहम उठे और कुछ तो उसका लुफ्त उठा रहे थे. वही दूसरी तरफ बैंड बाजे की धुन में बाराती डांस भी कर रहे थे. ये सब होता देख स्थानीय लोगों ने इसकी सूचना डायल 112 को दी जिस पर पुलिस तत्काल हरकत में आई और चार लोगों को अपने हिरासत में लिया. लेकिन गिरफ्तारी फायरिंग करने वालों की नहीं, बल्कि जिनके नाम पर बंदूक का लाइसेंस था उनकी की गई. मिली जानकारी के अनुसार राजा केवट की शादी हो रही थी, जिसके बारात के दौरान भरमार बंदूक में बारूद भरकर सार्वजनिक जगह में फायरिंग की गई. जिनके लाइसेंसी बंदूक से फायरिंग की गई उनको बंदूक फसल सुरक्षा के लिए दी गई थी. लेकिन उन्होंने इसका उपयोग पैसों के लिए गलत तरीके से इस्तेमाल किया है. पुलिस ने 7 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है. चार को गिरफ्तार किया है जिनमें परदेशी लाल, राजालाल, पाण्डू सिकारी, इतवार सिंह है. बिना अधिकारी के अनुमति लिए बगैर फायरिंग करने और लाइसेंस शस्त्र का उलंघन करने मामले में आरोपियों के खिलाफ 295/19, 296/19, 297/19 एवं 298/19 धारा 30, 39 के तहत मामला दर्ज किया गया है. प्रशिक्षु डीएसपी एवं थाना प्रभारी अभिषेक पैकरा ने बताया कि शादी समारोह में हवाई फायरिंग करने वाले 7 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. लाइसेंस नियमों का उलंघन मामले में 4 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. तीन अन्य आरोपियों की तलाश की जा रही है. अब सवाल यह उठ रहा है कि लाइसेंसी धारियों को गिरफ्तार कर पुलिस इसे सफलता बता रही है. जबकि फायरिंग करने वाले अभी तक फरार चल रहे हैं. जिनकी अब तक गिरफ्तारी नहीं हुई है.

दुनिया को अलविदा कहने के बाद 16 वर्षीय उमेश लोगों की नजरों में बने हीरे ...पढ़े पूरी खबर

प्रियांश केशरवानी@BBN24 पिथौरा (महासमुंद) - बेटे की मौत के बाद पिता और परिजनों ने अहम फैसला लेते हुए उसका नेत्र दान कर दिया. जिससे कि उसके आंख से दूसरों की जीवन रौशन हो सके. परिजन तो बेटे का पूरा अंग दान करना चाहते थे, लेकिन अच्छे से व्यवस्था नहीं होने की वजह से अंग दान नहीं किया जा सका. दरअसल पूरा मामला महासमुंद जिले पिथौरा ब्लांक के अरंड गांव का है. जहां रविवार को 11वीं का छात्र उमेश पटेल खेत में काम कर रहा था, उसी दौरान करंट के चपेट में आ गया. पिता देवानंद पटेल सहित परिजन उसे अस्पताल लेकर पहुंचे, यहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. होनहार बालक के मौत से दु:खी परिवार ने एक बड़ा फैसला करते हुए पिथौरा में ही नेत्र निकाल ली गई. फिर देर शाम अंतिम संस्कार कर दिया गया. मृतक के परिजन उमेश की किडनी, लीवर, नेत्र और जरुरत का अंग दान करना चाहते थे, जिससे जरूरतमंद की मदद हो जाए, लेकिन पिथौरा अस्पताल में व्यवस्था नहीं होने और शव पेटीफ्रीजर की भी व्यवस्था नहीं होने की वजह से अंग नहीं निकाला गया. महासमुंद के प्रभारी सीएमएचओ डॉ आरके परदल ने बताया कि नेत्र के अलावा अन्य अंगों का दान लेने के लिए स्थानीय स्तर पर व्यवस्था नहीं है. जिस वजह से बाकी अंग नहीं निकाला जा सका. इसकी व्यवस्था रायपुर के अस्पतालों में हैं.

चोरी की घटना को अंजाम देने वाले दो आरोपी गिरफ्तार सूने मकान में किया करते थे चोरी

सूर्यकान्त यादव @BBN24 : राजनांदगांव-- कुछ महिने पूर्व हुई चोरी की घटना मे दो आरोपी गिरफ्तार सुने मकान का ताला तोड़कर कर नगद सहित सोने चांदी की चोरी करने वाले आरोपी गिरफ्तार लगभग 3 लाख के समान की थी चोरी पुलिस द्वारा चोरी किये समान बरामद मामला खैरागढ थाना क्षेत्र के ठेलकाडीह का सूने मकान का ताला तोड़कर सोने चांदी के जेवर सहित नगदी चोरी करने वाले दो शातिर चोरों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है...प्रार्थी रेवती खरे परिवार सहित बाहर गई हुई थी घर सुना था ठेलकाडीह स्थित उनके मकान में अज्ञात चोरों द्वारा 13 अप्रैल को चोरी की गई प्रार्थी द्वारा इसकी सूचना खैरागढ़ थाने को दी गई एफआईआर के बाद खैरागढ़ पुलिस और साइबर सेल लगातार मामले में खोजबीन कर रहे थे..इसी बीच खैरागढ़ पुलिस और साइबर सेल को बड़ी सफलता मिली है प्रार्थी के घर चोरी करने वाले दो आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है वहीं आरोपियों के पास से सोने-चांदी के जेवरात बरामद किए गए हैं वहीं आरोपियों द्वारा नगद राशि खर्च कर लेने की बात कही गई है..वही गिरफ्तार आरोपी में से एक आरोपी पूर्व में भी चोरी के मामले में गिरफ्तार हो चुका है..वहीं पुलिस ने टीम बनाकर लगातार मुखबिर के सूचना प्राप्त कर जानकारी जुटा रहे थे इसी बीच दो संदिग्ध लड़कों को एक्टिवा स्कूटी में घूमते देखा गया सूचना पर टीम द्वारा घेराबंदी कर उक्त दोनों लड़कों को ठेलकाडीह से गिरफ्तार किया गया..प्रारंभिक पूछताछ में गोलमोल जवाब देकर पुलिस को गुमराह करने का प्रयास किया कड़ाई से पूछताछ में आरोपी युवकों ने करीब 3 माह पूर्व किए अपने चोरी को स्वीकार कर लिया गया वहीं आरोपी संजय कुमार और रमाकांत साहू को पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है.. वहीं इस पूरे मामले का खुलासा आज पुलिस अधीक्षक कार्यालय में प्रेस वार्ता के माध्यम से किया गया।

बारिश के मौसम के साथ ही छोटे बड़े सभी नदी नालो में मानो जीवन प्रवाहित होने लगता है।...पढ़े ये खास रिपोर्ट

विशेष रिपोर्ट■ संतोष साहू @ BBN24: कसडोल - कसडोल से मात्र 8 किमी की दूरी पर सिरपुर मार्ग पर बोरसी गॉव से 3 किमी अंदर घने जंगलो और छोटी छोटी पहाड़ियों के बीच सुरम्य वादियों में *कुटन नाला जलप्रपात* इन दिनों अपने यौवन की दहलीज पर खड़ा है। पत्थरों के बीच से बलखाती सुंदर सी जलधारा सफेद चमकते झरने के रूप में तब्दील होकर एक कुंड में समाहित हो जाती है, जो आगे नाले के रूप में परिवर्तित हो जाती है। लगभग 4 महीनों तक चलने वाला यह प्रपात बेहद खूबसूरत है। यहां तक पहुंचने कच्चे रास्ते और छोटे पेडों के बीच से गुजरते हुए जंगली फूलों के पेड़ मन को विभोर कर देता है। पलारी की तरफ से अमेठी महानदी को पर कर कसडोल मार्ग होते हुए जाया जा सकता है। सावधानी बरतें-प्रपात के नीचे कुंड में पत्थरों की दीवारों पर मधुमक्खियों के छत्ते हैं जिससे दूर रहें। वही कसडोल से पिथौरा मार्ग में 9 किलोमीटर पर स्थित है बहुत ही रमणीय झरना सिद्धखोल । जहाँ 100 फिट की गहराई में कलकल करती बूंदों का गुच्छा गुंजायमान हो रहा है । सोनाखान वन परिक्षेत्र द्वारा यहाँ पानी, शेड व सुरक्षा के लिए बर्बेटिंग किया गया है । रोजाना सैकड़ो पर्यटक प्रेमी आनंद उठा रहे है ।

सड़क किनारे खुन से लथपथ बैल को पकरिया के स्थानीय पत्रकार व मोह्हले वासियो के द्वारा किया गया उपचार

(शनि सुर्यवंशी) पकरिया- मुलमुला थानांतर्गत ग्राम पकरिया में मेन रोड नहर के पास बीते रात को लगभग 9 बजे के करीब एक अज्ञात वाहन ने सड़क पर खड़े मवेशी बैल को टक्कर मार कर भाग निकला वही घटना के बाद से मवेशी बैल लहूलुहान सड़क किनारे पड़ा था वही बैल के शरीर का पेट के पास का आधा अंग बाहर निकल आया था वही घटना की जानकारी जब पकरिया के स्थानीय युवा पत्रकार शनि सुर्यवंशी को लगा तो उन्होंने सबसे पहले गांव के रहने वाले गाय का उपचार करने वाले तिहारू राम मेहर को बुलाकर बाइक से घटना स्थल लाया गया उसके बाद नहर के पास रहने वाले मनबोधि यादव , मोहन पांडेय , नीलकमल यादव , नीलू यादव , नीलेश यादव , आरती सुर्यवंशी , रामभरोश सारथी भगोली सुर्यवंशी सहित ये सभी लोगो ने बेजुबान घायल बैल को बचाने के लिए घर से बाहर आये और लगातार एक घण्टे तक बैल को नीचे बंध कर रस्सी से रखा गया था जिससे बैल के लगा हुआ हिस्सा पर 20 टांका लगाया गया साथ ही बैल का मलहम कर उपचार किया गया वही लोगो ने मदद कर अहम भूमिका निभाई है साथ ही मानवता की मिसाल पेश किया है जिससे घायल बैल का उपचार सुचारू रूप से हो पाया साथ ही इस तरह का सरहानीय कार्य के लिए गांव के लोगो ने इनकी प्रंशसा किया है।

कृषि सामग्री बेचने वाले 4 दुकान निलंबित जिला स्तरीय जांच टीम की छापामार कार्रवाई

बलौदाबाजार, 8 जुलाई 2019/ कृषि विभाग की जिला स्तरीय जांच टीम ने अनियमितता के चलते 4 दुकानों के लाईसेंस निलंबित कर दिए हैं। उनका लाईसेंस तीन दिन के लिए निलंबित किया गया है। जांच टीम ने सहायक संचालक कृषि श्री एस.एस.पैकरा के नेतृत्व में कल सरसीवां-भटगांव इलाके की कृषि आदान बेचने वाले 4 दुकानों में छापामार कार्रवाई की। टीम ने सरसीवां के मेसर्स उमा कृषि केन्द्र, महामाया ट्रेडर्स (खाद) महामाया ट्रेडर्स (कीटनाशक) एवं भटगांव के विश्वनाथ साहू कृषि केन्द्र की जांच में लाईसेंस की शर्तों का उल्लंघन पाया। अनियमिता में प्रमुख रूप से दुकानों में कालातीत दवाईयां रखा जाना, किसानों को बिल नहीं दिया जाना, दवाई कम्पनियों के स्रोत प्रमाण पत्र सत्यापित नहीं कराया जाना एवं विक्रय केन्द्रों के लाईसेंस प्रदर्शित नहीं किया जाना आदि शामिल हैं। कार्रवाई में जांच टीम के सदस्य एसडीओ कृषि श्री जयइन्द्र कंवर, उर्वरक निरीक्षक श्री बी.एल.साहू तथा आरएईओ श्री सीमांचल गौड़ शामिल थे। कृषि विभाग ने खाद के 4 नमूनों के अमानक पाये जाने पर उनका विक्रय प्रतिबंधित कर दिया है। ये खाद बीईसी फर्टिलाइजर्स, खेतान केमिकल्स एण्ड फर्टिलाईजर्स लिमिटेड और नेशनल फर्टिलाईजर्स लिमिटेड कम्पनी के हैं। इनका सेम्पल सेठ हीरालाल एण्ड सन्स पलारी,तेजश्वनी ट्रेडर्स सरसीवां, डबल लाॅक कसडोल एवं प्राथमिक कृषि सोसायटी,सिमगा से लिया गया था। उप संचालक श्री मानकर ने बताया कि फिलहाल जिले में खाद के 110 तथा बीज के 130 नमूना लेकर जांच के लिए लैब भेजा गया है। अभी तक प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार 51 खाद मानक एवं 5 अमानक पाए गए हैं। बीज के 111 नमूनों के परिणाम आ गए है, जिसमें 109 मानक एवं दो बीज अमानक स्तर का पाया गया है। अमानक नमूनों पर विक्रय प्रतिबंध कर दिया गया है। उल्लेखनीय है कि खेती-किसानी के काम में तेजी आने के साथ ही खाद-बीज एवं कीटनाशक दवाईयों का कारोबार भी बढ़ गया है। इसके चलते किसानों को सही दाम एवं गुणवत्ता के खाद-बीज मिले, इसे सुनिश्चित करने के लिए कृषि विभाग द्वारा कार्रवाई का सिलसिला शुरू किया गया है।

परिवारों में छाया मातम सड़क हादसे में तीन युवको की मौत

पंकज दुबे @ BBN24 : थाना मुलमुला अंतर्गत बीती रात करीब 10 बजे मुलमुला आदर्श ढाबा से खाना खा कर मोटरसाइकल पर निकलने वाले युवक नारायण दास पिता पंचमदास उम्र 35 वर्ष निवासी ग्राम सिल्ली तह पामगढ़ गजेंद्र उर्फ रिंकू उम्र 25 वर्ष पिता रूपेश निवासी ग्राम सिल्ली तह पामगढ़ संजू केवट पिता श्याम्बरन केवट उम्र 21 वर्ष निवासी रिसदा थाना मस्तूरी के युवक रायगढ़ से बिलासपुर शिवरीनारायण पामगढ़ मार्ग से होकर चलने वाली महाराजा क्रमांक OD17 C 0074 बस से आदर्श ढाबा के पास तीनो युवक सामने से जा टकराये जिसे गजेंद्र और अंजू की मौके पर ही मौत होगई एवं 108 की सहायता से नारयण दास को आनन फानन में पामगढ़ सी एस सी लेजाया गया अस्पताल में डॉक्टरों ने उसे भी मृत घोषित करदिया ।

मुंगेली जिले के प्रभारी मंत्री टी.एस.सिंह देव के स्वागत करने कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने सरकारी नियम की उड़ाई धज्जियां,,

 

नीलकमल सिंह ठाकुर

मुंगेली - जिले के प्रभारी मंत्री बनने के बाद टीएस सिंहदेव पहली बार मुंगेली के प्रवास पर रहे वही उनके दौरे को देखते हुए राज्य सरकार द्वारा प्रोटोकॉल जारी किया गया था लेकिन उसी प्रोटोकॉल को कांग्रेसी कार्यकर्ता तोड़ते हुए नजर आए। वही पुलिसकर्मियों को भारी मसक्कत करनी पड़ी इन कांग्रेसी कार्यकर्ताओं को रोकने के लिए, प्रभारी मंत्री की स्वागत के लिए ऐसी होड़ लगी थी कि सभी कांग्रेसी कार्यकर्ता पीछे रहने को तैयार नही थे।


 आपको बता दें कि प्रभारी मंत्री टीएस सिंहदेव नगर भ्रमण करने के बाद मुंगेली सर्किट हाउस पहुंचे जहां वे विश्राम कक्ष में जा रहे थे उसी दौरान बड़ी संख्या में कांग्रेसी कार्यकर्ता उनसे मिलने के लिए विश्राम कक्ष की ओर बढ़ रहे थे। वहीं राज्य सरकार के द्वारा प्रभारी मंत्री के लिए जारी प्रोटोकॉल को देखते हुए मुंगेली पुलिस द्वारा सभी जगह सुरक्षा के चाक-चौबंद इंतजाम किए गए थे लेकिन प्रभारी मंत्री के विश्राम कक्ष में जाने के बाद कांग्रेसियों को विश्राम कक्ष तक न पहुँचे इसके लिए पुलिस को कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। आपको बता दें कि प्रोटोकॉल को ध्यान में रखते हुए मुंगेली पुलिस अधीक्षक सी डी टंडन खुद ही कांग्रेसियों को रोकने के लिए कमान की जिम्मेदारी ली। जिसके बाद पुलिस की कड़ी मशक्कत के बाद सभी कांग्रेसी कार्यकर्ता विश्राम कक्ष के गेट से बाहर किये। जिस तरह से किसी मंत्री या नेता के लिए राज्य सरकार द्वारा प्रोटोकॉल जारी होता है। उस प्रोटोकॉल को गंभीरता से लेते हुए पूर्व मंत्री और नेताओं की सुरक्षा की पूरी जिम्मेदारी पुलिस प्रशासन की रहती है लेकिन मुंगेली के कांग्रेसी कार्यकर्ताओं द्वारा जिले के प्रभारी मंत्री के प्रोटोकॉल को तोड़ते हुए देखा गया। और ये पहली बार नही हुआ है कि कांग्रेस के बड़े नेता या मंत्री आये और कांग्रेस के कार्यकर्ताओ द्वारा किसी नियम या सरकारी प्रोटोकाल का पालन किया हो। 
बहरहाल देखना यह होगा कि कांग्रेसी कार्यकर्ताओं द्वारा किए गए इस कृत्य पर प्रदेश कांग्रेस कमेटी और जिला कांग्रेस कमेटी किस तरह से एक्शन लेती है।