छत्तीसगढ़

लकवाग्रस्त बीमार प्रधान पाठक का फर्जी हस्ताक्षर कर पुत्र द्वारा वेतन 4 साल से किया जा रहा आहरण..... मामले की जिला कलेक्टर एवं जिला शिक्षा अधिकारी से शिकायत

कसडोल :- चार साल से लकवाग्रस्त प्रधान पाठक पिता का फर्जी हस्ताक्षर कर शिक्षक ( पं ) पुत्र द्वारा पिता। का वेतन आहरण किए जाने की शिकायत जिला शिक्षा अधिकारी एवं जिलाधीश से कर फर्जी हस्ताक्षर करने वाले शिक्षक ( पं ) के विरूद्ध कार्यवाही करने की मांग की गई है ।

प्राप्त जानकारी के अनुसार प्राथमिक शाला चितावर विकास खण्ड बलौदाबाजार में प्रधानपाठक के पद पर पदस्थ लोमन सिंह साहू वर्ष 2015 से लकवाग्रस्त हो गया है जिसकी जानकारी छिपाते हुए शाला के पाठकान पंजी में उसके पुत्र अशोक साहू जो कि स्वयं शिक्षक ( पं ) वर्ग 3 में पदस्थ है , के द्वारा अपने बीमार पिता का फर्जी हस्ताक्षर कर लगातार वेतन आहरण किया जा रहा है । इस आशय की लिखित शिकायत शिक्षा अधिकारी ए के भार्गव तथा जिला कलेक्टर कार्तिकेय गोयल को शिकायतकर्त्ता संजय यादव शिवरीनारायण निवासी ने किया है ।अपने शिकायत में संजय यादव ने कहा है कि चूंकि उक्त व्यक्ति स्वयं शिक्षक ( पं ) के पद पर पदस्थ है और जानबूझकर उसके द्वारा इस तरह का पाठकान में अपने पिता का फर्जी हस्ताक्षर किया है जो कि अपराध की श्रेणी में आता है ।उन्होंने उक्त व्यक्ति के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही करने की मांग की है ।इस मामले में बताया जाता है कि प्रधान पाठक लोमन सिंह साहू के लकवाग्रस्त होने की जानकारी संकुल प्रभारी एवं संकुल समन्वयक को है फिर भी उनके द्वारा भी कोई कार्यवाही नहीं करना उनके कार्यशैली पर सवालिया निशान लगाता है ।लकवाग्रस्त बीमार पिता का फर्जी हस्ताक्षर कर लगातार चार साल से वेतन आहरण किया जा रहा है और संबंधित अधिकारियों को इस बात की जानकारी नहीं होने की बात आम लोगों में चर्चा का विषय बना हुआ है ।बहरहाल मामले की शिकायत जिला शिक्षा अधिकारी एवं कलेक्टर को प्रेषित किए जाने की खबर से संबंधित शिक्षक ( पं ) अशोक साहू एवं परिजनों में हड़कम्प मच गया है ।

महिला एवं बाल विकास, स्वास्थ्य विभाग तथा ईमामी द्वारा विश्व कृमि नाशक दिवस पर विविध कार्यक्रम

बलौदाबाजार :- कलेक्टर कार्तिकेय गोयल, जिला कार्यक्रम अधिकारी विपिन जैन की प्रेरणा तथा ईमामी सीमेंट लिमिटेड के यूनिट हेड अनंत कुमार महोबे तथा टेक्निकल हेड दिलीप कुमार शर्मा के सतत् मार्गदर्शन में शासन के महिला एवं बाल विकास विभाग, स्वास्थ्य विभाग तथा ईमामी सीमेंट के संयुक्त तत्वाधान में आज ग्राम ढनढनी विश्व कृमिनाशक दिवस के अवसर पर कृमिनाशक दवा वितरण, वेक्टर जनित रोगों के रोकथाम व बारिस के मौसम मे होने वाले रोगों पर जागरुकता, आंगनवाडियों को खिलौने वितरण तथा फलदार पौधा रोपण कार्यक्रम का आयोजन किया गया । कार्यक्रम में मुख्य रुप से कलेक्टर कार्तिकेय गोयल, पुलिस अधीक्षक श् नीतु कंमल, जिला कार्यक्रम अधिकारी विपिन जैन, परियोजना अधिकारी मुन्नी पंत, खण्ड चिकित्सा अधिकारी डॉ. के.एस.बंजारे, डॉ. राकेश प्रेमी नोडल, सहायक चिकित्सा अधिकारी डॉ.अविनाश केसरवानी, सृष्टि शर्मा, विकास जायसवाल, सेक्टर सुपरवाईजर निर्मला वर्मा, साथ ही ईमामी सीमेंट की ओर से धंनंजय सिह, चन्द्रशेखर उपाध्याय उपस्थित थे । गांव की ओर से सरपंच पाकदास मानिकपुरी, उपसरपंच श्रीमती बांधेकर, सचिव काशीराम, ग्राम सहायक, पंचगण, गणमान्य नागरिक महिलाएं, स्व सहायता समूह की महिलाएं, माध्यमिक शाला के शिक्षकगण तथा बच्चे बडी संख्या में उपस्थित थे । कार्यक्रम का शुभारंभ मां सरस्वती की पूजा से की गयी । तत्पश्चात् डॉ के.एल. बंजारे ने वेक्टर जनित तथा बारिश के मौसम में होने वाली बीमारियां,सावधानियां तथा इससे बचने के उपाय के बारे में जानकारी दी । उन्होने बारिश में सबसे ज्यादा फैलने वाले रोग मलेरिया तथा डेंगु के बारे मे बहूत ही सरल शब्दों में विस्तार से बताया । इसके पश्चात् कलेक्टर कार्तिकेय गोयल ने विश्व कृमिनाशक दिवस के महत्व को बताते हुए कहा कि डॉ बंजारे ने स्वास्थ संबंधित जितनी भी बाते बतायी है उसे सभी अमल में लाएं एवं स्वस्थ रहें । तत्पश्चात् धनंजय सिंह ने विकास कार्यक्रमों की आवश्यकता पर जोर डालते हुए कहा कि हमारे संयंत्र प्रमुख अनंत कुमार महोबे तथा सिनियर वाईस प्रेसीडेंट ;तकनीकी द्ध दिलिप कुमार शर्मा ने गांव के विकास को हमेशा सर्वाच्च प्राथमिकता दी है जिसमें शिक्षा, स्वास्थ्य तथा कौशल विकास सर्वोपरि है । उन्होने आगे कहा कि ईमामी सीमेंट सी.एस.आर.विभाग, शासन की योजनाओं बेहतर क्रियानवयन के लिए पूरा प्रयास कर रही है जिससे सभी हितग्राहियों को लाभ मिले और बेहतर परिणाम मिल सके । कार्यक्रम की अगली कडी में कलेक्टर कार्तिकेय गोयल, जिला कार्यक्रम अधिकारी विपिन जैन ने ईमामी सीमेंट के सौजन्य से दोनो आंगनवाडियों को बच्चों के लिए शिक्षणिक खिलौने प्रदान किए । इसके पश्चात् सभी आंगनवाडियों तथा स्कूल के बच्चों को कृमिनाशक टेबलेट खिलाया गया । तदूपरांत आंगनवाडी तथा स्कूल परिसर मे फलदार पौधे का रोपण किया गया साथ ही ग्रामीणां को भी फलदार पौधा वितरित किया गया । ग्राम सरपंच पाकदास मानिकपुरी ने अपने उद्बोधन में शासन के महिला एवं बाल विकास विभाग, स्वास्थ्य विभाग तथा ईमामी सीमेंट के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित इस बहूउद्देशीय कार्यक्रम की प्रशंसा करते हुए आभार व्यक्त करते हुए धन्यवाद ज्ञापित किया साथ ही हर्ष जाहिर करते हुए कहा कि यह हमारे लिए बहूत सौभाग्य की बात है कि शासन तथा ईमामी सीमेंट की ओर से हमारे गांव के विकास के लिए निरंतर विभिन्न कार्यक्रमों का संचालन किया जा रहा है । हमें इन कार्यक्रमों का लाभ लेना चाहिए तथा इसी तरह लाभपरक गतिविधियां संचालित होती रहे इसके लिए हमें भी मदद करना चाहिए ।

समर्थन मूल्य पर धान और मक्का खरीदी के लिए नए किसानों का पंजीयन 16 अगस्त से 31 अक्टूबर तक

बलौदाबाज़ार :- खरीफ विपणन वर्ष 2019-20 में समर्थन मूल्य पर धान और मक्का खरीदी के लिए 16 अगस्त से 31 अक्टूबर तक नए किसानों का पंजीयन किया जाएगा।इस दौरान केवल ऐसे किसानों का पंजीयन होगा जिन्होंने वर्ष 2018-19 में समर्थन मूल्य पर धान खरीदी के लिए पंजीयन नहीं करवाया था। कलेक्टर कार्तिकेया गोयल ने उप पंजीयक सहकारी संस्थाएं,समस्त तहसीलदारों और जिला केंद्रीय सहकारी बैंक के नोडल अधिकारी को इस आशय के निर्देश जारी कर दिए हैं। उन्होंने निर्देश दिए हैं कि जारी दिशा निर्देशों के अनुरूप निर्धारित प्रक्रियानुसार किसानों का पंजीयन पूर्ण सावधानी से करें।उन्होंने कहा कि खरीफ सीजन में धान और मक्के के अलावा छत्तीसगढ़ में बहुत सी फसलें ली जाती हैं इस बात की विशेष सावधानी रखें कि धान और मक्के के रकबों में अन्य फसलों का रकबा शामिल न हो। किसानों के धान के रकबे का अलग और मक्के के रकबे का अलग पंजीयन होगा।उन्होंने कहा कि अन्य फसल के रकबों के धान अथवा मक्के का विक्रय हेतु पंजीयन न हो। उल्लेखनीय है कि पंजीयन के इच्छुक धान और मक्का फसल लेने वाले नवीन किसानों को निर्धारित प्रारूप में समस्त जरूरी दस्तावेज के साथ तहसील कार्यालय में जमा करना होगा। आवेदन में दी गई धान और मक्के के रकबे सहित पूरी जानकारी का सत्यापन पटवारियों के माध्यम से किया जाएगा।इसके बाद संबंधित किसान का पंजीयन होगा। धान बीज उत्पादक किसानों का पंजीयन बीज निगम के साथ साथ समिति में भी करना होगा।साथ ही यदि कोई किसान किसी अन्य संस्था की भूमि लीज पर लेकर अथवा रेगहा -अधिया पद्धति में धान अथवा मक्के की खेती करता है तो पंजीयन के समय उसको जानकारी देनी होगी।साथ ही संस्था भी अपनी जमीन के बी 1 ,खसरा और उनकी जमीन पर खेती करने वाले किसान की जानकारी समिति को उपलब्ध कराएगी। इस जानकारी के आधार पर किसानों की रजामंदी के बाद पूर्ण विवरण सहित पंजीयन किया जाएगा। इसके बाद समर्थन मूल्य की राशि का भुगतान किसानों के खाते में किया जाएगा। इस तरह वास्तविक किसानों को समर्थन मूल्य का लाभ मिलेगा। पंजीयन के दौरान किसानों का आधार नंबर भी जरूरी होगा।अगर किसी किसान के पास आधार नंबर न हो तो तत्काल जिला प्रशासन द्वारा तत्काल किसान का आधार पंजीयन करवाया जाएगा।किसी भी किसान को आधार नंबर न होने बीके कारण पंजीयन से वंचित नहीं किया जाएगा।यदि मक्का अथवा धान बेचने से पहले पंजीकृत किसान की मृत्यु हो जाती है ति तहसीलदार के द्वारा किसान के परिवार के नामांकित व्यक्ति के नाम से खरीदी की जाएगी। गौरतलब है कि वर्ष 2018-19 में पंजीकृत किसानों को पुनः पंजीयन की आवश्यकता नहीं है। किन्तु यदि किसी पंजीकृत किसान को कोई संशोधन करवाना है तो समिति मॉड्यूल के माध्यम से संशोधन की व्यवस्था प्रदान की जाएगी। प्राथमिक कृषि सहकारी समिति को वर्ष 2018-19 में पंजीकृत किसानों की मुद्रित सूची दर्ज भूमि और धान अथवा मक्के के रकबे की जानकारी सहित क्षेत्र के पटवारी को उपलब्ध करवानी होगी। इसके बाद पटवारी द्वारा राजस्व रिकॉर्ड में मिलान कर जानकारी का सत्यापन किया जाएगा। इसके बाद सत्यापित जानकारी के आधार पर समिति द्वारा डेटा एंट्री की जाएगी। डेटा एंट्री के बाद समिति द्वारा अंतिम सूची का प्रकाशन किया जाएगा।

स्कूल भवन का छज्जा गिरा स्कूली बच्चे बाल बाल बचे,,

नीलकमल सिंह ठाकुर

मुंगेली :- सरकार सर्व शिक्षा अभियानो के माध्यम से शिक्षा को बढ़ावा देने का दावा करती हो लेकिन कड़वी सच्चाई का सामना करने का नैतिक साहस भी सायद विभागों के पास नही है।सेतगंगा विकासखण्ड का प्राथमिक शाला माराड़बरी में लंबे अरसे से बेहद जर्जर भवन में संचालित हो रही हैं।यही वजह हैं कि यह का छत का पलास्टर भरभरा कर गिर पड़ा,यह गनीमत रही कि उस वक्त बच्चे मैदान में खेल रहे थे नही तो कोई बड़ा हादसा होना तय था वही जब कक्षा में छत गिरने से बच्चे और पालक दहशत में हैं।जाहिर है उस वक्त अगर बच्चे कक्षा में मौजूद होते तो जान लेवा हो सकता था या गम्भीर चोट लग सकते थे।

बच्चे रोज जान जोखिम में डालकर स्कूल जाने को मजबूर हैं, इसकी शिकायत कई बार शिक्षा विभाग में की गयी हैं लेकिन स्कूल दुरुस्त करने में कोई दिलचस्पी नही दिखाई गई।वही पूरे जिले में 49 स्कूलों की चिन्हांकित किया गया हैं मरम्मत कार्य कराए जाने के लिए आज 5 माह से पैसा आबंटित हो चुका है,ऐसा भी नही है कि शिक्षा विभाग में मरम्मत के नाम से पैसा नहीं आया है,अभी भी 10 लाख 5 महीने से विभाग के फंड में रखा है जो स्कूल मरम्मत के लिए आवंटन हुआ था मगर अधिकारियों की उदासीनता के चलते आज तक कोई भी स्कूलों में मरम्मत नही कराया गया हैं या फिर कोई अनहोनी घटना होने का इंतजार कर रहे है जिले के अधिकारी ये समझ से परे है।

लोरमी के मनियारी उफनती नदी पारकर स्कूल जाने को मजबूर बच्चे,नदी में बहते समय कुछ हिम्मती युवको ने बचाई जान,,

नीलकमल सिंह ठाकुर

मुंगेली(लोरमी)- जिले में लगातार हो रही मूसलाधार बारिश के कारण कई अप्रिय घटनाएं सामने आ रही हैं। ऐसी ही एक घटना गुरुवार को हुई, जब लोरमी की मनियारी नदी में रपटा पार करते एक स्कूली छात्र बह गया। मौके पर मौजूद कुछ हिम्मती युवकों ने कूदकर छात्र की जान बचाई।

मुंगेली जिले में हो रही लगातार बारिश से नदी-नाले उफान पर हैं। कई इलाकों पर पानी खतरे के निशान से ऊपर बह रहा है। लेकिन जिला प्रशासन द्वारा सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम नहीं किए गए हैं। ना ही पानी से उफन रही नदियों पर सूचना के बोर्ड लगाए गए हैं। ग्रामीण खतरे के निशान से ऊपर बह रह नदी-नालों को जान जोखिम में डालकर पार कर रहे हैं। ताजा मामला आज का है, जब लोरमी के मनियारी नदी को पार कर रहा छात्र नदी के साथ बह गया। कुछ युवकों ने बच्चे को बहते देखा तो पानी में कूदकर उसकी जान बचा ली।

आज की घटना से ये भी पता चल रहा है कि इलाके के स्कूली बच्चे पानी से लबालब नदियों को पार कर स्कूल जाने को मजबूर हैं। बहरहाल, जिला प्रशासन ने यदि समय रहते इसकी सुध नहीं ली तो बड़ी दुर्घटना भी हो सकती है।

मुंगेली कलेक्टर ने दो दिन से हो रही बारिश में जलभराव की स्थिति से निपटने अधिकारियों को दिए निर्देश,,

नीलकमल सिंह ठाकुर

मुंगेली- जिले में दो दिनों से हो रही बारिश से नदी नालों का जलस्तर तेजी से बढने लगा है। जिससे मुंगेली और लोरमी के कई वार्डो में जलभराव की स्थिति बनने लगी है। लोरमी के वार्ड नंबर 7और 13में स्थिति बहुत गंभीर हो गई है और सैकडों घरों में पानी घुसने लगा है। जिससे लोगो की परेशानी बढ गई है। इन वार्डो में नाली निर्माण नही होने के कारण ऐसे हालात बने है और लोगो का घर से बाहर निकलना भी मुश्किल हो गया है।

गुरुवार को लोरमी तहसीलदार अविनाश सिंह ने मौके पर पहुंच कर हालात का जायजा लिया है। पानी निकासी की व्यवस्था को लेकर अधिकारियों से चर्चा की जा रही है। जिससे जलभराव से निपटा जा सके। फिलहाल मूसलाधार बारिश जारी है और बारिश नही थमी तो स्थिति और खराब हो सकती है। वही जिले के कलेक्टर डा.एस एन भुरे ने भी एलर्ट जारी किया है।

खाद्य विभाग में तबादला, 3 खाद्य और 8 सहायक फूड ऑफिसर के ट्रांसफर, देखें लिस्ट

रायपुर :- राज्य सरकार ने खाद्य विभाग के 11 अधिकारियों का ट्रांसफर किया है। खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग से जारी आदेश में 3 खाद्य अधिकारी और 8 सहायक खाद्य अधिकारी का तबादला किया है। 

तस्वीरें:- भारी बारिश के चलते कांकेर में जनजीवन पूरी तरीके से अस्त-व्यस्त

शैलेश गुप्ता

कांकेर:- बस्तर के कांकेर जिला में पिछले रात से भारी बारिश के चलते कई लोगों के घरों में पानी भर गया है ।जलस्तर इतना अधिक है कि स्थानीय पुलिस थाने में भी जलभराव हो चुका है ।वहीं स्थानीय जनता के साथ-साथ सरकारी कार्यालयों में भी जलभराव से काफी नुकसान उठाना पड़ रहा है और लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है ।जलभराव की वजह से पूरी तरीके से यहां की जनजीवन पूरी तरीके से अस्त-व्यस्त है।

फर्जी सूची देकर डकार लिए हितग्राहियों की राशि

रमेश साहू

जांजगीर-चांपा:- जैजैपुर क्षेत्र के ग्राम पंचायत सिरली में शौचालय निर्माण में फर्जीवाड़ा की शिकायत कलेक्टर तक पहुंची है। शिकायत के मुताबिक हितग्राहियों का फर्जी नाम बताकर राशि आहरण कर लिया गया है, जबकि इस पंचायत में 214 हितग्राहियों के लिए शौचालय बनना था। शिकायतकर्ता के मुताबिक सिरली में सौ शौचालय हितग्राहियों ने बनवाया है तो वहीं 80 शौचालय सरपंच सचिव ने बनवाया है। इसके अलावा 34 हितग्राहियों की सूची फर्जी तरीके से जिला पंचायत में पेश कर राशि आहरण कर ली गई है। इसके बावजूद हितग्राहियों को अब तक प्रोत्साहन राशि तक नसीब नहीं हो सकी है। शिकायत में यह भी कहा गया है कि शौचालय का निर्माण प्राक्कलन के अनुरूप करने के बजाय स्तरहीन किया गया है। उसने मिलीभगत कर स्तरहीन कार्य का मूल्यांकन व सत्यापन करने का आरोप लगाया है। शिकायतकर्ता ने 14वें वित्त की राशि को बगैर निर्माण किए आहरण करने का भी आरोप लगाया है। शिकायत में कहा गया है कि कुम्हारी पठान से परसदा की ओर डब्ल्यूबीएम रोड, मनरेगा में भी फर्जी मस्टररोल के जरिए राशि निकाली गई है। जबकि अब तक निर्माण पूरा नहीं हो सका है।

शिवसेना ने किया जनसमस्याओं के निराकरण की मांग लेकर एकदिवसीय धरना

जांजगीर - चांपा :- ज़िला शिवसेना इकाई द्वारा ज़िला अध्यक्ष ओंकार सिंह गहलोत जी के नेतृत्व में ज़िले के सभी विकासखण्ड के शिवसैनिकों, युवासेना, महिला सेना, किसान सेना , कामगार सेना कार्यकर्ताओं की विशाल संख्या के साथ ज़िले में व्याप्त जनसमस्याओं को लेकर एक दिवसीय धरना प्रदर्शन कर महामहिम राज्यपाल छत्तीसगढ़ शासन के नाम ज्ञापन सौंपा गया। उक्त कार्यक्रम में मुख्यातिथि के रूप में युवासेना के प्रदेश सचिव अरुण पाण्डेय, शिवसेना प्रदेश सचिव एचएन सिंह, कोरबा ज़िला अध्यक्ष रवि मेज़रवार, बिलासपुर ज़िला अध्यक्ष अजय शर्मा, प्रदेश सह प्रवक्ता ओमप्रकाश साहू, युवासेना कोंडागांव विधानसभा अध्यक्ष अंकित मिश्रा, जांजगीर - चांपा शिवसेना से चंदन धीवर, दिलेश्वर विश्वकर्मा, चंद्रशेखर बरेठ, शुभम राजपूत, सौरभ केशवानी, हुलेश चंद्रा, राजेन्द्र चंद्रा, किसान सेना ज़िला अध्यक्ष धनाराम साहू, ब्लॉक अध्यक्ष चंद्रपुर कार्तिक साहू, ब्लॉक अध्यक्ष शक्ति बलभद्र पटेल, ब्लॉक प्रभारी जैजैपुर वेद प्रकाश चंद्रा, ब्लॉक प्रभारी अकलतरा पवन मनहरण युवासेना से त्रिदेव राय, लक्षण चौहान, दिलेश्वर पटेल, सोनू यादव, कोषाध्यक्ष संतराम टंडन, सन्तोष बरेठ, सूरज दास, दिलीप कुमार सुर्यवंशी समेत सैकडों कार्यकर्ता उपस्थित रहें।

पूर्व विदेश मंत्री स्व,सुषमा स्वराज को मुंगेली जिला भाजपा कार्यकर्ताओ ने दी भावभीनी श्रधांजलि,,

नीलकमल सिंह ठाकुर : मुंगेली- पूर्व विदेश मंत्री स्व सुषमा स्वराज जी को मुंगेली जिला भाजपा कार्यालय में श्रद्धासुमन अर्पित कर श्रद्धांजलि दी गई। इस अवसर पर उनके द्वारा देश व पार्टी को दिए योगदान को याद करते हुए वरिष्ठ नेता गिरीश शुक्ला ने उनके कार्यो से कार्यकर्ताओं को अवगत कराते हुए उनके असमय चले जाने को अपूर्णीय क्षति बताया। इस अवसर पर गिरीश शुक्ला, द्वारिका जायसवाल, मोहन भोजवानी,शैलेश पाठक,प्रेम आर्य,राजेन्द्र वैष्णव,शिवप्रताप सिंह,सुनील पाठक,मानस सिंह बैस,शिवकुमार बंजारा,कोटूमल दादवानी,जयप्रकाश मिश्रा, मुकेश रोहरा,शैलेन्द्र तिवारी,आशीष मिश्रा, प्रवीण सोनी,अन्नू सोनी,कलीम बागडी, नन्दकिशोर सिंह,जीवन पटेल,रामशरण यादव,अनीश जैन,राजीव श्रीवास,पंकज सोनी,आसिफ खोखर,अरुण राजपूत,मन्नू नितेश भारदुवाज उमाशंकर बघेल मांडले, माधव राजपूत,रघुराई राजपूत आदि कार्यकर्ता गण उपस्थित रहे।

बिलासपुर : सुषमा स्वराज को दी गई श्रद्धांजलि

अजीत मिश्रा : भारतीय जनता पार्टी पश्चिम मंडल ने 7 अगस्त बुधवार शाम 5:00 बजे मंडल कार्यालय में स्वर्गीय सुषमा स्वराज जी को श्रद्धांजलि अर्पित की गई इस अवसर पूर्व एल्डरमैन मनीष अग्रवाल ने श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा की श्रीमती सुषमा स्वराज जी ऐसी कुशल महिला राजनीति नेत्री थी कि ना सिर्फ भारतीय जनता पार्टी के नेता एवं कार्यकर्ता बल्कि देश के सभी दलों के नेता तथा देश की जनता भी उन्हें पूरा सम्मान देती रही सुषमा जी प्रखर ए ओजस्वी वक्ता थी राजनीति सफर में उन्होंने संगठन के साथ साथ राज्य एवं केंद्र में महत्वपूर्ण पदों पर कार्य किया देश की पहली महिला विदेश मंत्री पद पर रहते हुए विदेशों में भी अपनी प्रतिभा एवं कुशल राजनीतिक अनुभव के साथ भारत सरकार के साथ अन्य राष्ट्रों में भी भारत के संबंधों को मधुर बनाया विदेश मंत्री रहते हुए कई ऐसे अवसर आए जब उन्होंने पाकिस्तान जैसे देशों से भी अपने हिंदुस्तान के नागरिकों एवं महिला बहनों को अपने देश वापस लाने में बहुत बड़ी अहम भूमिका अदा की देश ही नहीं अन्य देशों में उन्होंने देश के जिन माताओं बहनों बच्चों का शासन-प्रशासन सत्ता के सदुपयोग से जो उनके लिए सुविधा और नेक कार्य किया है उसको भुलाया नहीं जा सकता स्वर्गी सुषमा नाम में ही मां शब्द छिपा है इस बात को उन्होंने अपने विभिन्न राजनीतिक पदों पर रहते हुए सिद्ध किया है सुषमा जी जहां संसद में अपने अभी भाषण से विरोधियों के छक्के छुड़ा दिया करती थी उसी तरह संसद के बाहर विरोधियों से उतनी ही उनकी घनिष्ठ मित्रता व्यवहार सदैव रहा सांसद संगठन एवं सरकार में मंत्री के रूप में या दिल्ली के मुख्यमंत्री के रूप में रहते हुए सदैव एक महिला राजनीतिक नेत्री ने देश और संगठन के साथ साथ पारिवारिक एवं सामाजिक कार्यों को भी बखूबी अंजाम देते हुए तीज के पर्व पर सभी राजनीतिज्ञों महिलाओं एवं समस्त दल के नेताओं के साथ साथ मीडिया के सभी साथियों को सदैव कार्यक्रम आयोजित कर आमंत्रित करना और पूरे रीति-रिवाज के साथ कार्यक्रम को देश की संस्कृति सामाजिक समरसता बनाए रखने में हमेशा अग्रणी रही हैं सुषमा स्वराज जी के बिलासपुर प्रवास के समय दो बार उनसे भेंट मुलाकात करने का अवसर एवं उनका ओजस्वी वक्तव्य भाषण सुनने का मौका भी मिला वह बहुत सौम्य सरल और संगठन की दृष्टि से अनुशासन को बनाए रखने वाली महिला नेत्री रही हैं देश जागा तो यह कौन सो गया एक मुखर आज मौन हो गया इन्हीं बातों के साथ सुषमा स्वराज जी को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए ईश्वर से कामना करते हैं प्रभु उन्हें अपने श्री चरणों में स्थान दें श्रद्धांजलि सभा के अवसर पर मंडल के सदस्यता प्रभारी श्री रमेश लालवानी जी ने बताया कि सुषमा जीना सिर्फ हिंदी अंग्रेजी बल्कि संस्कृत भाषा पर भी अच्छी पकड़ रखती थी वे जब संस्कृत में कोई श्लोक पढ़ती थी तब उनकी विद्वता की बड़े-बड़े पंडित भी कायल हो जाते थे जब वह संसद में विरोधियों पर बरसती थी बड़े-बड़े दिग्गज नेता भी उनके सामने नतमस्तक हो जाते थे उनको पार्टी ने जो भी दायित्व दिया उन्होंने पूरी निष्ठा एवं कर्मठता के साथ सभी दायित्वों का निर्वहन करते हुए भारतीय जनता पार्टी को सदैव आगे बढ़ाया उन्होंने कभी भी किसी पद का चाहत नहीं रखी ऐसी महान नेत्री के निधन से ना सिर्फ पार्टी के कार्यकर्ता बल्कि देश के लिए अपूरणीय क्षति हुई है जिसकी पूर्ति होना संभव नहीं है इस अवसर पर मंडल महामंत्री अजीत सिंह भोगल ने श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि श्रीमती सुषमा स्वराज जी भारतीय जनता पार्टी के संगठन में अनुशासन हीनता को कभी बर्दाश्त नहीं करने वाली नेत्री रही हैं सदैव पार्टी सर्वोपरि इस बात पर उन्होंने जोर दिया स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेई जी से लेकर आज तक एसएससी प्रधानमंत्री श्रीमान नरेंद्र मोदी जी के साथ सदैव संगठन एवं सत्ता के तालमेल को बखूबी निभाते हुए पार्टी हित में कार्य करते हुए आज वह हमारे बीच से चली गई हम सभी कार्यकर्ता उनके दिखाए हुए मार्गो पर चल कर भारतीय जनता पार्टी को और आगे बढ़ाएं यही हम सब की श्रद्धांजलि उनके लिए है श्रद्धांजलि सभा में मंडल अध्यक्ष सहदेव कश्यप आनंद दुबे सुकांत वर्मा कार्तिक यादव राहुल पमनानी सुभाष देना वैभव गुप्ता अमित चतुर्वेदी हिमांशु गुप्ता निखिल तिवारी ध्रुव कोरी त्रिलोचन सिंह बेस कलेश्वर सूर्यवंशी दीपक श्रीवास्तव प्रसाद देशमुख पार्षद अंजना वर्मा पार्षद संजय गुप्ता सीमा कुटिया रे श्रीमती चंदना गोस्वामी सुशीला चंद्रवंशी प्रतिभा संजीत मिश्रा अर्पिता दुबे सुरजीत सिंह चावला चरणजीत सिंह शेरा भास्कर राव प्रहलाद दुसेजा वीरेंद्र वर्मा मुकेश भारत मिश्री लाल रजक सुखविंदर सिंह बिट्टू चंदना गोस्वामी श्रीमती भास्कर रोहित केवट सहित पदाधिकारी एवं कार्यकर्ताओं ने पुष्प अर्पित कर अपनी श्रद्धांजलि देते हुए 2 मिनट का मौन धारण किया और जब तक सूरज चांद रहेगा सुषमा जी का नाम रहेगा इन्हीं बातों के साथ सभी कार्यकर्ताओं ने अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की

देश की पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के आकस्मिक निधन पर भाजपा कार्यकर्ताओं ने गहन शोक व्यक्त किया

भाटापारा : देश की पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के आकस्मिक निधन पर भाजपा कार्यकर्ताओं ने गहन शोक व्यक्त किया है एक संदेश में विधायक शिवरतन शर्मा ने कहा कि अब वह ओजस्वी वाणी हमें सुनाई नहीं देगी उनकी वाणी में मधुरता थी विदेश मंत्री रहते हुए उन्होंने अपनी अमिट छाप छोड़ी थी विदेश में फंसे भारतीयों के एक ट्वीट पर ही वह मदद को तैयार रहती थी। मुक। बधिर गीता बिटिया जो अनजान वस पाकिस्तान चली गई थी उसे सकुशल वापस लाया ऐसे कई उदाहरण हैं। जिसमे उन्होने। मदद। की

प्रधानमंत्री आवास के लिए भटक रहे है राष्ट्रपति के दत्तक पुत्र

,देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बेघर गरीब परिवार को पक्का मकान मुहय्या कराने के लिए प्रधानमंत्री आवास योजना का शुभारम्भ किया ।वहीं छत्तीसगढ़ राज्य के मुंगेली जिले को चरण बद्ध तरीके से प्रधानमंत्री आवास बनाने का जिम्मा मिला हैं वहीँ कलेक्टोरेट परिसर में 19 ऐसे हितग्राही परिवार पहुंचे जो कि राष्ट्रपति के दत्तक पुत्र कहलाते हैं । बता दें कि बैगा आदिवासी जाती राष्ट्रपति के दत्तक पुत्र कहलाते हैं जो मुंगेली जिले के लोरमी विकासखंड में अचानकमार्ग वन परिक्षेत्र स्थित ग्राम पंचायत छपरवा के आश्रित ग्राम तिलईडबरा के निवासी हैं ।जो साल भर से अपने आवास के लिए दर दर जनप्रतिनिधियों व अधिकारियों के चक्कर काट रहे जहाँ कोई सुनवाई न होने से हताश निराश कलेक्टर से फरियाद लगाने जिला मुख्यालय पहुंचे। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत इन 19 परिवारों को भी इस योजना में आवास की स्वीकृति मिली थी जहाँ सारी औपचारिकता पूरी कर ये परिवार भी अपने मकान के सपने संजोय पुराने मकान तोड़ बैठे,वही ग्राम के सरपंच सचिव द्वारा ये आश्वासन दिया की आवास हम बना कर देंगे जो राशि आपके खाते में आये उसे हमे देना जिस पर भोले भाले ग्रामीण 19 बैगा आदिवासी परिवारों ने अपने बैंक खाते में आए प्रथम किश्त के 48 ,,48,,,हज़ार सरपंच सचिव के हाथों सौंप दिये वही ग्रामीणों अनुसार सरपंच द्वारा 2 ,,3,,ट्रैक्टर दिखावे रूपी मटेरियल ईंट रेत लाया गया उसे भी कुछ दिनों बाद वापस ले लिया गया।व साल भर ग्रामीणों को गुमराह किया गया जिसकी फरियाद लेकर सभी बैगा आदिवासी परिवार कलेक्टर से गुहार लगाने 50 km की दूरी तय कर सरपंच सचिव पर गंभीर आरोप लगाते कलेक्टर को शिकायत ज्ञापन सौंपा । वही परिवारों की फरियाद सुन कलेक्टर डॉ सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने उचित कार्यवाही कर बैगा परिवारों को जल्द से जल्द आवास पूर्ण कराने का भरोसा दिलाया। एक ओर जहाँ शासन ने गरीब परिवारो को पक्का मकान उपलब्ध कराने का बेडा उठाया है वहीं दुसरी ओर जिले के कई योग्य हितग्राही अभी भी अधिकारी,कर्मचारी व जनप्रतिनिधियों की निष्क्रियता के चलते योजनाओं के लाभ से वंचित हो रहे है,,,

मवाद से गल गई थी पैर की हड्डी, डेढ़ साल में नौ सेंटीमीटर हड्डी बढ़ाकर इलिजारो तकनीक से दी युवती को नई जिंदगीअम्बेडकर के आर्थोपेडिक डिपार्टमेंट के डॉक्टरों की संयुक्त सफलता

रायपुर.: पं. जवाहर लाल नेहरू स्मृति चिकित्सा महाविद्यालय, रायपुर से सम्बद्ध डॉ. भीमराव अम्बेडकर स्मृति चिकित्सालय के अस्थि रोग विभाग के डॉक्टरों ने करीब डेढ़ वर्ष पूर्व एक सड़क दुर्घटना में गंभीर रूप से घायल महिला मरीज को डेढ़ साल के लम्बे व क्रमबद्ध उपचार के बाद फिर से अपने पैरों में खड़े होकर चलने के काबिल बना दिया। दुर्घटना में महिला मरीज के कूल्हे की हड्डी, जांघ की हड्डी और पैर की हड्डी बुरी तरीके से क्षतिग्रस्त हो गई जिससे धीरे-धीरे मवाद आना शुरू हो गया था। अस्थि रोग विभाग के विभागाध्यक्ष एवं आर्थोपेडिक सर्जन डॉ. एस. एन. फूलझेले के मार्गदर्शन तथा एनेस्थेसिया विशेषज्ञ डॉ. प्रतिभा जैन शाह के सहयोग से हुए इस ऑपरेशन में डॉ. राजेन्द्र अहिरे, डॉ. सौरभ जिंदल, डॉ. गौतम कश्यप तथा डॉ. अभिषेक तिवारी की मुख्य भूमिका रही। इस उपचार में सबसे पहले डॉक्टरों ने जांघ की हड्डी को जोड़ा फिर कमर की हड्डी को और सबसे अंत में पैर की हड्डी को “इलिजारो” तकनीक से जोड़ा। इस विधि से प्रतिदिन एक-एक मिलीमीटर हड्डी को इलिजारो उपकरण के जरिये बढ़ाते हुए कई महीनों के अथक प्रयास के बाद औसतन 8 से 9 सेमी. हड्डी बढ़ाकर मवाद के कारण गली हुई हड्डी के स्थान पर बढ़ी हुई नई हड्डी को जोड़ा। दुर्घटना की गंभीरता इस बात से समझी जा सकती है कि मरीज जब चिकित्सालय में आयी तब बेहोशी की अवस्था में थी और तत्काल उसे पांच यूनिट रक्त चढ़ाया गया। मरीज की बीमारी को चिकित्सकीय भाषा में ”इनफेक्टेड गेप नॉन यूनियन फ्रेक्चर टिबिया फिबुला विद मल्टीपल इंजरी“ कहते हैं। अभनपुर की निवासी 27 वर्षीय मरीज निरंतर फॉलोअप हेतु चिकित्सालय आ रही है। मरीज के मुताबिक, इलाज के उचित प्रबंधन के जरिये ही मैं अपने पैरों में दुबारा खड़ी हो सकी। इन डेढ़ सालों में मेरा इलाज निः शुल्क हुआ। ■ *क्या है इलिजारो तकनीक* इलिजारो सिस्टम आर्थाेपेडिक सर्जरी में उपयोग की जाने वाली बाहरी फिक्सेशन का एक प्रकार है, जो हड्डियों को लंबा या पुनर्व्यवस्थित करती है। इलिजारो तकनीक का उपयोग आमतौर पर जटिल और खुले हुए हड्डियों के फ्रेक्चर या हड्डियों के टूटने पर किया जाता है। इसका नाम सोवियत संघ के आर्थाेपेडिक सर्जन ”गैवरिल अब्रामोविच इलिजारोव“ के नाम पर रखा गया है, जिन्होंने इस तकनीक को आगे बढ़ाया। इसमें एक बाह्य फिक्सेटर होता है जिसमें स्टेनलेस स्टील या टाइटेनियम के छल्लों या रिंग से हड्डी को फिक्स किया जाता है। ये छल्ले आपस में एडजेस्टेबल नट के माध्यम से छड़ों से जुड़े रहते हैं। एडजेस्टेबल अर्थात् अपनी सहूलियत के अनुसार इन्हें एडजेस्ट किया जा सकता है। इलिजारो तकनीक से उपचार करने वाले डॉक्टर व स्पोर्ट्स इंजरी विशेषज्ञ डॉ. राजेन्द्र अहिरे बताते हैं कि हड्डी और नरम उत्तक शरीर में दुबारा निर्मित हो सकते हैं। उपचार की इस विधि में कुछ समय बाद हड्डियों की लम्बाई बढ़ने लगती है। हड्डियों के बढ़ने के कारण जहां पर हड्डी टूट गई है वहां की हड्डी को लम्बा कर सकते हैं। इसमें मनुष्य के स्वयं के शरीर की हड्डी को कट करके ट्रांसपोर्ट करके वहां नई हड्डी को बनाकर प्रत्यारोपित किया जा सकता है। यह तनाव के सिद्धांत पर कार्य करती है। ■ *ऐसे हुआ उपचार* डॉ. राजेन्द्र अहिरे बताते हैं कि मरीज मोटरसाइकिल से गिर गई थी व बहुत ही गंभीर में स्थिति में थी। वह पॉलीट्रामा की शिकार थी। दुर्घटना में बहुत सारी चोटें अलग-अलग स्थानों पर लगी थीं इसलिए उपचार के पहले चरण में हमने सबसे पहले मरीज की स्थिति को स्थिर किया। फिर कूल्हे व जांघ के फ्रेक्चर का इलाज किया। उसके बाद घुटने की हड्डी टूट गई थी, उसको रॉड लगाकर ठीक किया लेकिन हमारे लिए सबसे ज्यादा चुनौती थी कि पैर के घाव से निरंतर मवाद आना। ऐसे में किसी और विधि से हड्डी को जोड़ना मुनासिब नहीं लग रहा था इसलिए हम लोगों ने इलिजारो तकनीक को अपनाया। इस तकनीक से उपचार के लिए मरीज का सहयोग भी जरूरी होता है क्योंकि प्रतिदिन फिक्सेशन के स्क्रू को एक तय पैमाने के अनुसार ऊपर-नीचे करना होता है। ■ *आर्थ्रोस्कोपी से इलाज की सुविधा* विभागाध्यक्ष डॉ. एस. एन. फूलझेले कहते हैं कि घुटने तथा कूल्हे के जोड़ों के प्रत्यारोपण के साथ ही साथ, बच्चों में क्लब फुट व सीमा पर तैनात घायल जवानों के घुटने तथा लिगामेंट के उपचार के लिये अस्थि रोग विभाग दिनोंदिन प्रसिद्ध होता जा रहा है। यहां हड्डियों के ट्यूमर का ऑपरेशन होने के साथ-साथ, आर्थ्रोस्कोपी के जरिये विशेष प्रक्रिया से हड्डियों की बीचों-बीच स्थित लिगामेंट का पुनर्निमाण कर जोड़ों की समस्या से मरीज को राहत दी जाती है। घुटने में स्थित लिगामेंट के रप्चर हो जाने या चोट लग जाने के प्रकरणों में आथ्रोस्कोपी यंत्र एक वरदान है। इसकी मदद से क्रुशिएट, मेनिसकस या कार्टिलेज की मरम्मत करना हो, साइनोबियम या कटे-फटे मांस के टुकड़े को बाहर निकालना हो, जोड़ के अंदर इन्फेक्शन, टीबी या ट्यूमर हो ठीक करना हो या जोड़ के अंदर पानी भरे होने पर ऊतक जांच (बायोप्सी) के लिए नमूना लेना हो सभी प्रकार के जांच व शल्य क्रिया आर्थ्रोस्कोपी की मदद से बड़ी आसानी से की जा सकती है। ■उपलब्ध उपचार सुविधा पॉलीट्रामा, नेगलेक्टेड ट्रामा, आर्थ्रोस्कोपिक रिकंस्ट्रक्शन सर्जरी, ज्वाइंट रिप्लेसमेंट सर्जरी हिप तथा नी रिप्लेसमेंट सर्जरी (कूल्हे तथा घुटने के जोड़), कैंसर ट्यूमर का ऑपरेशन , बच्चों में जन्मजात विकृति क्लब फुट का इलाज इत्यादि। ■ *विशेषज्ञ की टीम डॉ. एस. एन. फुलझेले (विभागाध्यक्ष), डॉ. विनीत जैन, डॉ. राजेन्द्र अहिरे, डॉ. नीतिन वले, डॉ. प्रणय श्रीवास्तव, डॉ. अभिषेक तिवारी, डॉ. सौरभ जिंदल, डॉ. संजय नाहर।