छत्तीसगढ़

मस्तूरी मुख्यालय से महज 3 पर किलोमीटर स्थित ग्राम पंचायत मुड़पार खोरसी की सड़क जर्जर ग्रामीण परेशान

मस्तूरी सन्नी रघु यादव : मस्तूरी मुख्यालय से महज 3 पर किलोमीटर स्थित ग्राम पंचायत मुड़पार खोरसी के सड़क की जर्जर स्थिति से ग्रामीण काफी परेशान हैं 4500 की जनसंख्या वाले ग्राम पंचायत ग्राम पंचायत के ग्रामीण जर्जर सड़क को लेकर कई बार उच्च अधिकारियों से शिकायत भी कर चुके हैं बावजूद इसके सड़क की ना तो मरम्मत कार्य हुआ है और ना ही बचे हुए सड़क को पूरा किया जा रहा है जवाबदार अधिकारियों का गोल मटोल बातों से 13 साल बीत चुके हैं और खोरसी की सड़क पेंड्री नेशनल हाईवे रोड में जाकर मिलती है लेकिन 13 साल पूर्व 91 लाख रुपये की मंजूरी मिली थी उसके बावजूद भी रोड को विभागीय अधिकारियों के द्वारा पूर्ण नहीं कराया गया जिसके कारण आज भी सड़क की स्थिति जस की तस गड्ढा नुमा बना हुआ है स्कूली बच्चों को बरसात के दिनों में विद्यालय पहुंचने में बहुत सारी कठिनाइयां होती है खोरसी से मस्तूरी पहुंचने के लिए अगर रोड सही सलामत हो तो 10 मिनट का रास्ता है। वही जर्जर स्थिति के नाम से मस्तूरी मुख्यालय पहुंचने में 30 से 45 मिनट लगता है। 13 सालों से ग्राम पंचायत के ग्रामीण रोड की समस्या से जूझ रहे हैं लेकिन ऊपर के उच्च अधिकारी सिर्फ स्टीमेट भेज चुके हैं करके बहानेबाजी में 13 साल गुजार दिए। ऐसी ही हाल मुड़पार से मस्तूरी लवन हाईवे मार्ग को जोड़ता है जोकि विगत 15 वर्षों से मरम्मत नहीं होने के कारण सड़क की स्थिति बद से बदतर हो चुकी है जिसकी शिकायत ग्राम के जनप्रतिनिधि लोग कई बार लिखित में आवेदन कर चुके हैं बावजूद इसके अभी तक सड़क को मरम्मत के नाम पर कुछ भी नहीं किया गया है प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत बनी यह रोड मरम्मत के अभाव में बड़े-बड़े गड्ढों में तब्दील हो चुकी है बार-बार शिकायत वा सूचना देने के बाद भी ग्रामीणों को कोई प्रकार की सड़क के नाम से राहत नहीं मिल पा रही है। मस्तूरी मुख्यालय से इतनी करीबी होने के कारण भी रोड की स्थिति इतनी बस से बदतर है तो मस्तूरी मुख्यालय से दूर वाले गांव की स्थिति क्या होगी।

प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत 2.50 किलोमीटर की सड़क वेद परसदा से मुड़पार होते हुए खोरसी होकर पेंड्री नेशनल हाईवे में जोड़ना था। लेकिन प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अधिकारी सड़क निर्माण सिर्फ 1 किलोमीटर वेद परसदा से मुड़पार तक ही करके छोड़ दिए थेl बाकी खोरसी से पेंड्री नेशनल हाईवे रोड तक जोड़ने वाले डेढ़ किलोमीटर की सड़क को पीडब्ल्यूडी के हवाले छोड़ दिया। जोकि बाकी अधूरा सड़क निर्माण करवाने के नाम से ग्रामवासी आज भी चक्कर काट रहे हैं। मुड़पार खोरसी सड़क की समस्या पर बजट सत्र में देकर सुकृति कराने के लिए भेज दिया गया जैसे स्वीकृति होती है मुड़पार खोरसी जर्जर सड़क के कार्य को तत्काल प्रारंभ कर दिया जाएगा। G.R. जांगड़े ई,ई पीडब्ल्यूडी बिलासपुर। पूर्व में जो प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तहत सड़क निर्माण हुए हैं उनकी मरम्मत कार्य के लिए स्वीकृति राशि के लिए बजट तैयार करके शासन को भेज दी गई है जैसे ही राशि स्वीकृति होती है जर्जर सड़कों की मरम्मत कार्य चालू करा दिया जाएगा। वरुण राजपूत ई,ई,प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना बिलासपुर।

मरवाही के भाटाटिकरा प्रा शाला भवन का हाल बेहाल

मरवाही : मरवाही विकासखंड के भाटाटिकरा प्राथमिक शाला भवन की छत स्वतन्त्रता दिवस के सांस्कृतिक कार्यक्रम में लगे लाऊड स्पीकर की आवाज से उखड़ कर जगह जगह से गिरने लगी लगी थी,जिसमे किसी को नुकसान नही पहुंचा था,जानकारी विभाग तक पहुंचा दी गयी थी।पर अब तक किसी अधिकारी ने कोई सुध नही ली।विभाग शायद किसी बड़े दुर्घटना का इंतजार कर रहा। प्राथमिक शाला के पास कोई अतिरिक्त भवन नही होने से बच्चों को बरसात में कहीं और नही बैठाया जा सकता,क्षतिग्रस्त भवन की छत देखकर ही स्थिति भयावह हो जाती है।अतिरिक्त कक्ष न होने से पढ़ाई भी अवरुद्ध हो रही,लिहाजा पलकों में रोष है।छत से सरिया नजर आने लगा है,पंखे झूल गए हैं,विकास खंड मुख्यालय से लगभग 20 किमी दूर जंगल के बीच बसे गांव के इस स्कूल तक विभागीय लोग शालेय मूल्यांकन को नही पहुंचते। घटना को एक सप्ताह हो गया,पर प्रशाषन आंख बंद कर बड़े दुर्घटना का इंतज़ार कर रहा।

छत्तीसगढ़ हाई कोर्ट के अधिवक्ता हनुमान प्रसाद अग्रवाल ने सुप्रीम कोर्ट में शपथ पत्र पेश कर खुद को भगवान राम का वंशज होने का किया दावा

अजीत मिश्रा :

-बिलासपुर छत्तीसगढ़ हाई कोर्ट के अधिवक्ता हनुमान प्रसाद अग्रवाल ने सुप्रीम कोर्ट में शपथ पत्र पेश कर खुद को भगवान राम का वंशज होने का दावा किया है। बिलासपुर के देवरीखुर्द निवासी हनुमान ने अग्र भागवत में किए गए उल्लेख का जिक्र करते हुए कहा कि कुश की पीढ़ी के राजा बल्लभ देव के पुत्र महाराजा अग्रसेन सूर्यवंशी क्षत्रिय थे।

-अग्रवाल समाज के पितृ पुस्र्ष महाराजा अग्रसेन भगवान श्रीराम के पुत्र कुश के प्रपोत्र हैं। महाराजा इक्ष्वाकु के कुल में महाराजा माधांता, महाराजा दिलीप, भगीरथ, कुकुत्स्य, महाराजा मास्र्त, महाराजा रघु, भगवान श्रीराम आदि का जन्म हुआ। इसी कुल में महाराजा अग्रसेन का जन्म हुआ। उनके पिता महाराजा वल्लभ सेन थे ।महाराजा अग्रसेन के 18 पुत्र थे। वर्तमान में देश में रह रहे अग्रवाल भगवान श्रीराम की 34वीं पीढ़ी हैं। महाराज अग्रसेन का इतिहास 5189 वर्ष पुराना है। उन्होंने रामजन्म भूमि विवाद में इस तथ्य को शामिल करने की मांग की है।अग्रवाल ने दावा किया है कि अग्र भागवत ग्रंथ महाभारत काल से पहले लिखा गया है। ग्रंथ में एक जगह उल्लेख है कि परीक्षित के पुत्र जन्मेजय ने नागों की हत्या के पाप से मुक्ति पाने के लिए अग्र भागवत का कथा का श्रवन किया। तब उन्हें नागों की हत्या के दोष से मुक्ति मिली। इस ग्रंथ को वेद व्यास ने ही लिखा है। शपथ पत्र में अग्रवालों के वैश्य होने के संबंध में तर्क पेश किया है कि महाराजा अग्रसेन के 18 पुत्र थे। उनके पुत्रों ने यज्ञ किया। उस समय पशु बलि प्रथा थी। 17 बलि देने के बाद उन्हें बलि से घृणा हो गई और क्षत्रिय के बजाय वैश्य बन गए। इसके अलावा यह भी कहा जाता है कि मां लक्ष्मी ने उन्हें आशीर्वाद दिया। लक्ष्मी के आशीर्वाद से अग्रवाल वैश्य बन गए।

जांजगीर के वसुंधरा में किया गया आरक्षण का विरोध

पंकज दुबे

प्रदेश में स्वतंत्रता दिवस का जश्न मनाया जा रहा था। उसी दिन मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आरक्षण का प्रतिशत बढ़ा कर पिछड़े वर्ग के लोगों को सौगात दी। लेकिन यह सौगात एक नया बवाल लेकर आई। भूपेश सरकार ने जो आरक्षण कि दर तय की वह 72 फ़ीसदी हो गई है। इस 72 फीसदी जातिगत आरक्षण को लेकर सामान्य वर्ग के युवाओं का विरोध शुरू हो गया। गुरुवार को सैकड़ों की संख्या में युवाओं ने जांजगीर स्थित वसुंधर उद्यान में सभा आयोजन किया जिसमें आने वाले दिवस में पुरजोर विरोध करने का निर्णय लिया इस सभा मे समस्त क्षेत्र के सामान्य वग के लोग सामिल हुए ।

कृष्णा जन्माष्टमी व गणेश चतुर्थी के नज़दीक आते ही शहर में मूर्तिकार मूर्तियों को दे रहे है अंतिम रूप

कोंडागांव से संवाददाता शैलेश गुप्ता :

कृष्णा जन्माष्टमी व गणेश चतुर्थी के नज़दीक आते ही शहर में मूर्तिकार भगवान कृष्ण व गणेश जी की मूर्तियां बनाना आरंभ कर चुके हैं। मूर्तिकारों द्वारा प्रतिवर्ष पीढ़ी गत पीढ़ी मूर्ति बनाने की परंपरा को इन कलाकारों द्वारा जारी रखा गया है। कोंडागांव शहर के चक्रधारी टेराकोटा आर्ट्स के संचालक पवन चक्रधारी ने बताया कि उनका परिवार वर्षों से मिट्टी से मूर्तियां गढ़ने का काम करते आ रही है। मूर्ति बनाने की कला उन्हें अपने नाना व पिताजी से मिली है। बस्तर अंचल में टेराकोटा के नाम से प्रसिद्ध मिट्टी की मूर्तियां बनाने की कला जग प्रसिद्ध है। चक्रधारी टेराकोटा आर्ट्स के संचालक पवन चक्रधारी को पर्यावरण हित को ध्यान में रखते हुए मिट्टी के मूर्तियों को बढ़ावा देने के लिए छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा सम्मान पत्र से नवाज़ा गया है। पवन चक्रधारी ने बताया कि मूर्तियां वे आर्डर के अनुसार बनाते हैं इनके द्वारा बनाई गई मूर्तियां विभिन्न आकार में उपलब्ध है। और उनके संस्था द्वारा मुर्तिया मिट्टी का इस्तेमाल करके ही बनाया जाता है ताकि उनका विसर्जन विधी विधान से किया जा सके व यह पर्यावरण हेतु भी नुकसानदायक नही होता है।

बैंक प्रबंधक की तानाशाही से परेशान ग्रामीणों व शिवसैनिकों ने किया विरोध प्रदर्शन

कोंडागांव नगर से शैलेश गुप्ता

कोंडागांव: ग्रामीण अंचलों में बैंकिंग सुविधा को दुरुस्त करने शासन प्रशासन की विभिन्न योजनाएं क्रियांवयित हैं वही कोंडागांव ज़िला मुख्यालय से महज 12 किलोमीटर दूर बनियागांव ग्राम पंचायत में संचालित छत्तीसगढ़ राज्य ग्रामीण बैंक के प्रबंधक की तानाशाही के चलते ग्रामीणों को कई परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। ग्रामीणों का आरोप हैकि अपने खाते से पैसे निकालने घण्टो कतार में खड़े रखने के बाद बैंक के कर्मचारी द्वारा बताया जाता हैकि बैंक में पर्याप्त धनराशी नही होने के कारण आज भुगतान नही किया जा सकता। वही एक स्थानीय ग्रामीण युवक ने सभी दस्तावेज प्रस्तुत करने के बाद भी व्यवसाय के लिए लोन हेतु बार - बार चक्कर कटवाने की बात बताई है। आपको बता देकि ग्रामीण व आदिवासी अंचल होने के कारण क्षेत्र की आमजनता को कोसो दूर से चलकर बैंक आना पड़ता है और सुबह से अपने रोजमर्रा के कामकाज को छोड़कर यहां आने के बाद दिन भर कभी कोई कर्मचारी नही है तो कभी मशीन खराब है या अन्य बहाने बताकर शाम होते बैंक का समय खत्म हो गया कहकर ग्रामीणों को खाली हाथ लौटा दिया जाता है। वही बैंक की प्रिंटिंग मशीन कई दिनों से ख़राब होने का हवाला देते हुए पासबुक में एंट्री भी नही किया जा रहा है। वही बैंक प्रबंधक ने व्यवसाय व अन्य जरूरतों के लिए लोन मांगे जाने पर लोन का सीजन नही हक़ी करके आवेदनकर्ताओं को लौटा देने की भी शिकायत किया गया। बुजुर्ग महिला - पुरुष, महिलाओं सभी को घण्टो कतार में खड़ा करने के बाद भी बैंक के कर्मचारियों द्वारा सही सुविधा नही दिया जा रहा है। क्षेत्र के निवासियों व आसपास के ग्रामीणों की शिकायत पर आज शिवसेना के युवा इकाई युवासेना के विधानसभा अध्यक्ष अंकित मिश्रा के नेतृत्व में बैंक के प्रबंधक से इस विषय पर चर्चा हेतु बैंक परिसर में सभी एकत्रित हुए तो बनियगांव स्थित छत्तीसगढ़ राज्य ग्रामीण बैंक के अड़ियल प्रबन्धक बाहर आकर उनसे चर्चा करने भी नही निकले इससे ग्रामीणों में काफ़ी आक्रोश उत्पन्न हुआ। फिर आमजनता के प्रतिनिधि के रूप में युवासेना के विधानसभा अध्यक्ष अंकित मिश्रा को प्रबन्धक के तकरीबन 2 घंटे बाद अंदर बुलाया और अंकित मिश्रा ने ग्रामीणों से आ रही सारी शिकायत बैंक प्रबंधक के सामने रखते हुई जल्द से जल्द बैंक की व्यवस्था दुरुस्त करने का निवेदन किया है। उन्होंने चैनल से बात करते हुए कहा हैकि जल्द से जल्द बैंक प्रबंधक द्वारा व्यवस्था दुरुस्त नही किया गया तब आमजनता को हो रही परेशानियों को दूर करवाने युवासेना उग्र प्रदर्शन के लिए बाध्य होगी।

72 फीसदी जातिगत आरक्षण को लेकर सामान्य वर्ग के युवाओं का विरोध

अजीत मिश्रा: बिलासपुर

प्रदेश में स्वतंत्रता दिवस का जश्न मनाया जा रहा था। उसी दिन मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आरक्षण का प्रतिशत बढ़ा कर पिछड़े वर्ग के लोगों को सौगात दी। लेकिन यह सौगात एक नया बवाल लेकर आई। भूपेश सरकार ने जो आरक्षण कि दर तय की वह 72 फ़ीसदी हो गई है। इस 72 फीसदी जातिगत आरक्षण को लेकर सामान्य वर्ग के युवाओं का विरोध शुरू हो गया।

बुधवार को सैकड़ों की संख्या में युवाओं ने कलेक्टोरेट पहुंचकर निर्णय को वापस लेने के लिए नारेबाजी की। वहीं संविधान के दायरे में आरक्षण दिए जाने की मांग की। इस दौरान युवाओं ने सरकार को चेताया कि जल्द ही इस मामले में निर्णय लिया जाना चाहिये। दरअसल 15 अगस्त को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने खुशी जताते हुए प्रदेश में अनुसूचित जनजाति, अनुसूचित जाति तथा अन्य पिछड़ा वर्ग को आरक्षण की दर को बढ़ा दिया। मुख्यमंत्री ने अनुसूचित जनजाति को 32 प्रतिशत, अनुसूचित जाति को 13 प्रतिशत तथा अन्य पिछड़ा वर्ग को 27 प्रतिशत आरक्षण दिए जाने की घोषणा कर डाली। घोषणा के बाद सामान्य वर्ग के युवाओं ने सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया युवाओं का कहना था कि आरक्षण के खिलाफ नहीं है। लेकिन प्रदेश सरकार ने जो निर्णय लिया है, यह गैर संवैधानिक है इस निर्णय से प्रदेश के लाखों युवाओं को मेहनत करने के बाद भी रोजगार नहीं मिल पाएगा।

संतान की दीर्घायु के लिए रखा जाता है कमरछठ (हलषष्ठी) व्रत

मस्तूरी सन्नी रघु यादव : ग्राम पंचायत मुड़पार मे माताओं ने आज अपने संतान की दीर्घायु के लिए कमरछठ (हलषष्ठी) व्रत रखा। सुबह से ही पूजा के तैयारी लगे हुए थे सगरी बनाकर उसमें जल डालकर पूजा अर्चना की। माताओं ने बच्चों की पीठ पर छुई का पोता लगाकर इनकी लंबी उम्र की कामना की। चौक-चौराहों में आज पसहर चावल एवं पूजन सामग्री की जमकर बिक्री हुई। इस अवसर पर पंडितों ने विधि विधान से पूजा करवाई। महिलाओं ने पूजा के लिए बनाई गई सगरी (तालाब कुंड) की परिक्रमा की और गीत गाए। पूजा में पसहर चावल व छह प्रकार की भाजी का भोग लगाया गया और प्रसाद को ग्रहण कर महिलाओं ने व्रत तोड़ा। महिलाएं आज सुबह स्नान-ध्यान कर दोना व टोकनी में पूजन सामग्री लेकर पूजा स्थल पर पहुंचीं और पूजा स्थल को गोबर से लीपा व गड्ढा खोदकर सगरी बनाई।कुंड के चारों ओर मुरबेरी का पेड़, ताग, पलाटा की शाखा बांधकर हरछठ को गाड़ा तथा भगवान गणेश, शंकर, माता पार्वती की पूजा की। पूजा के दौरान पसहर चावल के व्यंजन का भोग लगाया, साथ ही महुआ, चना, भैंस के दूध, दही, घी, जौ, गेहूं, धान मक्का आदि भी अर्पित कर पूजा अर्चना की।

भाजपा प्रवक्ता गौरीशंकर के खिलाफ शिकायत लेकर प्रेस क्लब अध्यक्ष सहित पत्रकार जन पुलिस आधीक्षक रायपुर के पास पहुचे

रायपुर भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता द्वारा रायपुर प्रेस क्लब के सदस्य के खिलाफ सोशल मीडिया में अभद्र टिप्पणी एवं पत्रकार के खिलाफ झूठी शिकायत दर्ज करने के मामले को लेकर प्रेस क्लब अध्यक्ष सहित पत्रकार जन पुलिस आधीक्षक रायपुर को ज्ञापन एवं शिकायत दर्ज करवाने पहुंच कर मामले की निष्पक्ष जांच की मांग की गई। रायपुर प्रेस क्लब अध्यक्ष के नेतृत्व फ़ोटो-वीडियो जनलिस्ट एसपी कार्यालय पहुँचे। और पिछले 16 अगस्त को टेलिबन्धा थाना क्षेत्र में जोमैटो डिलीवरी बॉय के साथ हुए घटना को लेकर शिकायत दर्ज करने के लिये आवेदन पुलिस कप्तान को दिया। जोमैटो के डिलीवरी बॉय के स्कूटी पर भाजपा प्रवक्ता गौरीशंकर के द्वारा अपनी कार से ठोकर मारा था जिससे जोमैटो कर्मचारी और उसका स्कूटी भी क्षतिग्रस्त हुवा था जिसकी शिकायत भी डिलीवरी बॉय द्वारा किया है। इसी मामले में तेलीबांधा थाना की महिला पुलिस सब इंसेक्टर को भी इस मामले में धमकी दी गई हैजिसकी शिकायत भी महिला उप सब इंस्पेक्टर दिव्या शर्मा द्वारा भी एफआईआर दर्ज करवाया गया है। एसपी को दिए आवेदन में कहा है कि सोशल मीडिया में पत्रकार को अपशब्द कहा और शिकायत में पत्रकार ने कहा कि अगर मुझे कुछ हुवा तो उसका जिम्मेदार भाजपा प्रवक्ता गौरी शंकर श्रीवास होगा बताया। और इससे अपनी जान को खतरा बताया। सदस्यों ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक रायपुर से पूरे मामले व घटना क्रम की वीडियो से पूरे मामले की जानकारी देते हुए पूरे घटना क्रम पर चर्चा किया। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने इस पूरे मामले की निष्पक्ष जांच कराने की बात कही ।

कौशल विकास योजना के तहत नए वीटीपी के पंजीयन हेतु आवेदन आमंत्रित

जिला कौशल विकास प्राधिकरण में मुख्यमंत्री कौशल विकास योजना के अंतर्गत संचालित कौशल प्रशिक्षण कार्यक्रमों के बेहतर क्रियान्वयन हेतु नए वीटीपी का पंजीयन किया जाना है।वीटीपी के रूप में पंजीकृत होने के लिए इच्छुक फर्म,कंपनी ,सोसायटी अथवा शासकीय संस्थाएं डब्ल्यू डब्ल्यू डब्ल्यू डॉट सी एस एस डी ए डॉट सी जी डॉट एनआईसी डॉट इन पर ऑनलाइन आवेदन कर सकते है। इस वेबसाइट पर पंजीयन हेतु निर्धारित योग्यता,शुल्क एवं अन्य प्रावधानों की जानकारी भी उपलब्ध है। इसके अलावा जिला कौशल विकास प्राधिकरण बलौदाबाज़ार कक्ष क्रमांक 70 में कार्यालनयीन समय सुबह 10.30 से 5.30 बजे तक संपर्क किया जा सकता है।

जमीन हथियाने के लिए जेठ और दामाद ने खेत मे छिड़क दिया कीटनाशक और दे रहे जान से मारने की धमकी,प्रशासन से वृद्धा ने की शिकायत..

मस्तूरी : सन्नी रघु यादव :

बिलासपुर. अपनी बेटी के साथ गुजर बसर कर रही एक वृद्ध महिला को डरा धमकाकर उसके खेत में जहरीला कीटनाशक का छिड़काव कर धान की फसल को नुकसान पहुंचाने का एक मामला सामने आया महिला का आरोप है कि उसके जेठ और दामाद जमीन हड़पने के चक्कर में आए दिन उसे डराते धमकाते रहते हैं वहीं इस मामले की शिकायत कर पीड़िता ने एसपी और कलेक्टर से न्याय की गुहार लगाई है। मस्तूरी थाना क्षेत्र के ग्राम रलिया निवासी हर बाई कुर्रे की गांव में करीब 2 एकड़ जमीन है जिसमें वह पिछले 25 वर्षों से काबिज हैं। को मिले शिकायत पत्र में पीड़िता ने बताया है कि वह अपनी बेटी के साथ रहती हैं और जीवन यापन के लिए उक्त कृषि भूमि पर धान लगाती हैं बीते दिनों उसके जेठ लक्ष्मी कुर्रे और दामाद संजू पात्रे खेत को हथियाने के फिराक से उसे डरा धमकाकर परेशान कर रहे हैं उसके खेत मे कीटनाशक का छिड़काव कर पूरे धान की खेती को बर्बाद कर दिया पीड़िता का आरोप है कि जब इस बात की जानकारी उसने जेठ और दामाद से ली तो उन्होंने खेत को हथियाने के एवज में उसकी जान लेने तक की धमकी दी है वही इस घटना को लेकर पीड़िता काफी डरी सहमी हुई है वृद्धा ने बताया कि धान बुवाई के बाद उसे करीब 20 से 30 बोरी धान की आवक होती है जिसे कीटनाशक डालकर बर्बाद कर दिया गया पीड़िता ने न्याय की गुहार लगाते हुए कलेक्टर और एसपी से मामले की शिकायत की है।

फासला छोटा कर नए जिले से जुड़ना चाहता है,पसान क्षेत्र...पढ़े पूरी खबर

सुबीर चौधुरी : मरवाही

स्वतंत्रता दिवस के पर मुख्यमंत्री ने बहुप्रतीक्षित 23 वर्ष पुरानी मांग को पूरा करते हुए नए जिले के रूप में पेंड्रा गौरेला मरवाही के रूप में क्षेत्र को बड़ी सौगात दी।व्यंग्यात्मक रूप में क्षेत्र के लोग आपस मे यह चर्चा करते नजर आए की स्वतंत्रता दिवस में मानो आजादी मिली हो। पेण्ड्रा गौरेला मरवाही के जिले की घोषणा के बाद आसपास के ग्रामीण इलाके और पेण्ड्रा कोटमी से लगा हुआ क्षेत्र पसान जो वर्तमान में कोरबा जिले अंतर्गत आता है, उसे पेण्ड्रा गौरेला मरवाही में जोड़ने की मांग जोरो पर है ।वर्तमान में पसान से कोरबा जिले की दूरी लगभग 110 किलोमीटर है। व पसान से पेंड्रा की दूरी महज 25 किमी है। साथ ही पसान आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र है, पसान अंतर्गत 42 पंचायतें आती है, इन 42 पंचायतों के साथ पसान के सरपंच जनपद सदस्यों ने पत्र लिखकर मुख्यमंत्री से मांग की है, कि उन्हें गौरेला पेण्ड्रा मरवाही में जोड़ा जाए । क्षेत्रवासियों का कहना है कि पसान से कोरबा का फासला काफी लंबा है,वहीं पसान कोरबा जिले के आखरी छोर पर है, जिससे पसानवासियो को काफी परेशानियों को सामना करना पड़ता है । छोटी से छोटी जरूरतों के लिए पसानवासियो को जिले मुख्यालय के लिए 110 किलोमीटर का सफर करना पड़ता है,और इस सफर में पूरा दिन बीत जाता है । साथ ही जिला मुख्यालय से दूरी होने की वजह से क्षेत्र का विकास भी नही हो रहा है । वही ग्रामीण अंचल में बसे हुए ग्रामीणों को अपनी समस्याओं के निराकरण के लिए जिले के आखरी छोर से मुख्यालय जाने में 8 से 10 घंटे का सफर कर जिला मुख्यालय पहुँचते है,पेंड्रा गौरेला मरवाही से जुड़ने के बाद यह समय घटकर कि 1 घण्टे का हो जाएगा।कोरबा दूर होने की वजह से, कई बार ऐसा होता है, कि अधिकारियों से मुलाकात नही होती, समय की बर्बादी होती है, और साथ ही खर्च भी काफी पड़ता है। क्षेत्रवासियों का कहना है कि अगर पसान को गौरेला पेण्ड्रा मरवाही जिले में शामिल किया जाता है तो ग्रामीणों को जिला मुख्यालय पास पड़ेगा जिससे ग्रामीणों को काफी सुविधाएं हो जाएगी । और साथ ही ग्रामीणों को समय और खर्च की भी बचत होगी । गौरेला पेण्ड्रा मरवाही के जिले बनने की घोषणा के बाद पसान वासियो द्वारा जमकर अतिशबाजी की गई और मिठाईयां बांट कर खुशियां जताई गई क्योकि गौरेला पेण्ड्रा मरवाही के जिला बनने के बाद पसान वासियों में एक खुशी की झलक थी कि अगर पसान को गौरेला पेण्ड्रा मरवाही में जोड़ा जाएगा, तो जिला मुख्यालय से संबंधित सारी चीजें आसान हो जाएगी व क्षेत्र उत्तरोत्तर विकास करेगा ।

राष्ट्रीय राज मार्ग क्रमांक 30 पर अगर आप सफर कर रहे तो अब टोल टैक्स भी देना पड़ेगा ..... कोंडागांव टोलप्लाजा पे मिलने वाली सुविधाएं चालू हो या नही हो लेकिन टेक्स तो देना ही पड़ेगा

शैलेश गुप्ता

कोंडागांव:- आपको बता दे केंद्र सरकार की तरफ़ से देश के सभी टोल प्लाजा पर खानपान की सुविधा, प्रसाधन की सुविधा, हवा व पंचर बनाने की सुविधा सहित अन्य जरूरी सुविधाओं पूर्ण रूप से निशुल्क शुरू करने का निर्देश है। लेकिन अभी तक एन एच 30 पर शुरू होने वाले टोल टैक्स पर कोई भी सुविधा नही है ।

टोल टैक्स अचानक शुरु होने से कुछ वाहन चालकों को पैसे नही होने के कारण थोड़ी परेशानी हुई तब टोलप्लाज़ा के प्रबंधन द्वारा उन्हें इस बार टेक्स में छूट देते हुए आगे जाने दिया गया।

टोलप्लाज़ा के आरंभ होने से आसपास के शहरों में राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण द्वारा लगाए विद्युत पोलो पर जहां आजतक रोशनी नही जली है, अब उनके भी आरंभ होने का रास्ता साफ़ हो गया है। आपको बताना चाहेंगे कि इन विद्युत पोलो पर रोशनी दौड़ते ही जगदलपुर ज़िला के भानपुरी व फरसागुड़ा, कोंडागांव ज़िला के बनियागांव व ज़िला मुख्यालय की सड़कें जगमगा उठेंगी।

टोलप्लाज़ा पर टैक्स वसूली तो आरंभ कर दिया गया है पर अब देखना यह है कि इन विद्युतपोलो पर प्रकाश की व्यवस्था कब तक आरंभ होती है।

निजी स्कूलों की मनमानी, लोगो ने सुरु की मुहिम ....निकाली मौन रैली

बिलासपर के निजी स्कूल के द्वारा नए शिक्षण सत्र में छात्रों के एडमिशन से लेकर कॉपी पुस्तक के नाम  हो रही लूट के विरोध में मंगलवार को गांधी चौक से लेकर नेहरू चौक तक मौन रैली निकाली गई । नेहरू चौक पर स्कूलो की मनमानी के खिलाफ धरना प्रदर्शन किया और स्कूलो पर नकेल कसने के लिए अभिभावक ने ज्ञापन सौंप ऐसे निजी स्कूल संचालकों पर कार्यवाई की मांग की।

बस अनियंत्रित होकर गड्ढे में गिरी, 8 यात्री घायल

बीजापुर:- जिले से एक सड़क हादसे की खबर आ रही है। जानकारी के अनुसार बीजापुर से कटे कल्याण जाने वाली बस दुर्घटनाग्रस्त हो गई। बताया जा रहा है कि बीजापुर से कटे कल्याण जा रही बस अनियंत्रित होकर समलूर जोड़ान के पास गड्ढे में गिर गई है। दुर्घटना के बाद बस पर सवार यात्रियों में अफरा तफरी मच गई। दुर्घटना में 8 लोग जख्मी हुए हैं। बस का नम्बर CG04 E 1403 है।