छत्तीसगढ़

शराब दुकान को बंद कराने जा रहे जेसीसीजे के कार्यकर्ताओं को हुई जेल प्रदेश अध्यक्ष कराने पहुंचे बेल

जांजगीर चाम्पा:-जनता कांग्रेस जोगी द्वारा जांजगीर जिले के बाराद्वार में स्कूल के नजदीक संचालित शराब दुकान को बंद कराने के लिए विगत 5 दिनों से अनशन किया जा रहा था जिस पर आश्वासन के पश्चात अनशन समाप्त कर दिया गया था,लेकिन कार्यवाही नहीं होने पर फिर से प्रदर्शन करने जा रहे जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़(जे) के कार्यकर्ताओं को शासकीय कार्य में व्यवधान उत्पन्न करने के आरोप में दस जुलाई की देर रात 5 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया जिसकी पैरवी करने जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़(जे) के अध्यक्ष अमित जोगी स्वयं आज अपर जिला एवं सत्र न्यायालय सक्ती पहुंचे और छत्तीसगढ़ सरकार के साथ साथ जांजगीर जिला प्रशासन की तीखी आलोचना करते नजर आए एवं कांग्रेस द्वारा विधानसभा चुनाव में किए गए शराबबंदी के वादे को याद दिलाया। उन्होंने कहा कि शराब दुकान के खिलाफ आवाज उठाना कब से शासकीय कार्य मे बाधा हो गया किसी के इशारे पर 5 बेकसुर लोगों को जेल में डाल दिये हैं व अन्य 19 लोगों को पुलिस ढूंढ रही है पूरे गांव में मातम पसरा हैं किसी के घर चूल्हा नही जल रहा हैं। प्रदेश अध्यक्ष अमित जोगी के साथ समीर अहमद बबला, कमल जायसवाल, युवा संभाग अध्यक्ष प्रशांत त्रिपाठी, युवा लोकसभा अध्यक्ष कमल भार्गव, अनुसूचित जाति प्रकोष्ठ जिलाध्यक्ष गणेश चालाक, गोपाल गौतम, पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष सुख भाई खुंटे, चंद्रपुर विधानसभा अध्यक्ष राजेंद्र टंडन, चित्र कुमार निराला, सुरेंद्र बघेल, अर्जुन साहू, रविंद्र मल्होत्रा,समय लाल जांगड़े,भरत निर्मलकर, महावीर राठौर, फागूराम, कमलेश त्रिवेदी, किशन बरेठ, श्रीमती ललिता रात्रे, श्रीमती राजेश्वरी त्रिवेदी सहित भारी संख्या में जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के कार्यकर्ता उपस्थित थे।

कन्नौजे ने किसान बनकर खेत में की रोपाई, श्री विधि से हाईब्रिड धान की रोपाई कर किया निरीक्षण

सुमंत सिन्हा@ कांकेर. प्रभारी कलेक्टर एवं ब्म्व् जिला पंचायत कांकेर डॉ. संजय कन्नौजे 12 जुलाई को कांकेर विकासखण्ड के ग्राम पुसवाड़ा में किसान छबिलाल के खेत में आधुनिक कृषि पद्धति श्री विधि से हाईब्रिड धान की रोपाई कर उनके खेत में जाकर निरीक्षण किया, और वहां रोपाई को देखकर स्वंय खेत में किसान छबिलाल व वहां काम करने वाले कसानों के साथ खेत में धान रोपाई करने लगे। वहां 25-30 मिनट खेत में काम किया, प्रभारी कलेक्टर को खेत मे रोपाई करते देखकर उनके साथ आये सभी जिला स्तर अधिकारी व गांव वाले भी रोपाई करने लगे। उसके पश्चात् प्रभारी कलेक्टर डॉ. संजय कन्नौजे ने ग्राम पुसवाड़ा के सभी किसानों से चर्चा कर वहां बोआई व फसल के संबंध में जानकारी लिया। गांव वालों को उन्नत हाईब्रिड का प्रयोग कर श्री विधि से खेती करने व रबी सीजन में मूंग, उड़द, दलहन फसल लेने हेतु प्रोत्साहित किया। वहां के किसानों को कृषि विभाग से मिलने वाले मिनीकीट सामग्री स्पे्रयर व उड़द, दाल बीज पैकेट का वितरण किया। प्रभारी कलेक्टर डाॅ. संजय कन्नौजे ने प्रगतिशील किसान चन्द्रशेखर साहू के बाड़ी में लगाये 2 एकड़ केले व 4 एकड़ सब्जी लगे बाड़ी का अवलोकन किया। साहू के द्वारा उन्नत तरीके से व कृषि विभाग के द्वारा दिये जा रहे सब्सिडी से ड्रीप सिंचाई कर 3-4 लाख रूपये के केले बेचे जाने से बहुत प्रसन्नचित हुये व बाकि किसानों को भी इस प्रकार खेती करने हेतु प्रोत्साहित करने के लिए कृषि विभाग के अधिकारी को निर्देशित किया। ग्राम पंचायत पुसवाड़ा के सरपंच के द्वारा गांव के बीचो-बीच नाले में बरसात में बाढ़ आने व गांव में पानी घुसने की समस्या बताने पर प्रभारी कलेक्टर द्वारा मनरेगा से दीवार बाल्क हेतु प्रस्ताव भेजने हेतु निर्देश दिये। इसके पश्चात् प्रभारी कलेक्टर डाॅ. संजय कन्नौजे द्वारा हायर सेकण्डरी स्कूल, प्राथमिक शालाा व आश्रम शाला पुसवाड़ा की निरीक्षण कर वहां बच्चों की उपस्थिति, शिक्षकों की उपस्थिति व वहां की समस्याओं की जानकारी लिया। अनुपस्थित प्राचार्य मदन मोहन सिंह ठाकुर व अनुपस्थित शिक्षको को कारण बताओं नोटिस जारी किया। पानी की समस्या बातये जाने पर गांव के सरपंच को 14वे वित्त से पाइप लाईन बिछाकर आश्रम में स्कूल तक पाइप लाईन डालकर पानी लाने निर्देश दिये। निरीक्षण के दौरान उप संचालक कृषि आनंद नेताम, एसपीओ राज गुप्ता, पुसवाड़ा के सरंपच रामचरण कोर्राम व अन्य ग्रामीणजन उपस्थित थे।

करंट से हुई युवक की मौत

सुमंत सिन्हा@ भनुप्रतापपुर। दुर्गूकोंदल ब्लाक के उयकापारा गोंडपाल में बिजली करेंट से युवक की मौत, उयकापारा निवासी 21 वर्षीय युवक शेरसिंह जाड़े का अपने खेत में रोपा लगाने ट्यूबेल चालू करने के दौरान करेंट के चपेट में आ गया जिसका अस्पताल में ईलाज के दौरान मौत हो गया| मृतक युवक बी.ए. प्रथम वर्ष का छात्र था| दुर्गूकोंदल में शव का पोस्टमार्टम कर परिजनों को सौंप दिया गया|

भानुप्रतापपुर 15 जुलाई से शुरू होगी सुबह रेल सेवा

सुमंत सिन्हा@

भानुप्रतापपुर क्षेत्र की जनता के लंबे इंतजार और प्रयास के बाद रेलवे अब आगामी 15 जुलाई से सुबह की रेल सेवा प्रारंभ करने जा रही है सुबह केवटी से रायपुर तक जाने वाली यह गाड़ी 4:45 बजे सुबह केवटी आएगी और 5:00 बजे रवाना होगी इसके बाद दूसरी ट्रेन दोपहर भानुप्रतापपुर आएगी केवटी से सुबह छूटने वाली वाली ट्रेन तड़के 4:00 बजे दल्ली राजहरा से रवाना होकर 4:45 बजे केवटी पहुंचेगी और 5:00 बजे केवटी से रवाना होकर रायपुर के लिए जाएगी परंतु यह बताना भी उचित होगा कि फिलहाल रेलवे द्वारा इस सेवा को ट्रायल बेस पर चलाया जा रहा है अगले 15 दिनों तक यह सेवा परीक्षण के लिए चलेगी इस दौरान यदि क्षेत्र की जनता का रिस्पांस रेलवे प्रशासन को अच्छा मिलता है इसे निरंतर किया जाएगा अन्यथा यात्रियों के अभाव में यह सेवा बंद भी की जा सकती है इसलिए मैं क्षेत्र की जनता से अपील करता हूं कि इस सेवा को निरंतर बनाए रखने हेतु अधिक से अधिक संख्या में इस सेवा का लाभ लें और इससे यात्रा करें ताकि रेलवे प्रशासन को क्षेत्र की ओर से एक संदेश जा सके इस क्षेत्र में रेल सेवा की अधिकतम आवश्यकता है

स्कूल में किया गया वृक्षारोपण

सुबोध थवाईत@BBN24NEWS:

कोटमी सोनार । श्री लक्ष्मण कांति सेवा संस्थान द्वारा संचालित एस बी एस पब्लिक स्कूल स्टेशनपारा में वृक्षारोपण किया गया कार्यक्रम में  मुख्यरूप से सरपंच संतकुमार नेताम ,संस्था अध्यक्ष हरेंद्र सिंह चौहान के द्वारा स्कुल मैदान में वृक्षारोपण किये गए । इस अवसर पर शिक्षक, शिक्षिकाए उपस्थित थे |

महाविद्यालय में किया गया वृक्षारोपण

सन्नी यादव@BBN24NEWS
शासकीय  पातालेश्वर महाविद्यालय मस्तूरी में एनएसएस के द्वारा वृक्षारोपण सप्ताह चलाया गया जिसमें पूरे हफ्ते भर महाविद्यालय के खेल मैदान में और प्रांगण  के अलग-अलग हिस्से में एनएसएस के बच्चों और प्रोफेसरों के द्वारा वृक्षारोपण किया गया जिसमें बरगद पीपल नीम आदि छायादार वृक्ष लगाया गया इस अवसर पर आदि बच्चे और प्रोफेसर उपस्थित रहेप्रोफेसर डॉक्टर बीएल मंडलोई श्री  नवीन रेलवानी किरण ठाकुर दुर्गा वाजपाई सुजाता सैमुअल अशोक राव भोंसले, श्री एम आर कुर्रे, सुनील यादव, संदीप साहू,  कांति अंचल( रासेयो कार्यक्रम अधिकारी) स्वयं सेवकों में सुनीता कुर्रे, संदीप दिवाकर, भानमती सोनी, संध्या आलम,रूपेश कुमार ,एवं अन्य लोमस माहेश्वरी।

शासकीय उप स्वास्थ्य केंद्र में लगभग पिछले 1 हफ्ते से लगा हुआ है ताला , बी एम ओ को नहीं है जानकारी ....पढ़े पूरी खबर

सन्नी यादव@BBN24NEWS :

मस्तूरी मुख्य कार्यालय से लगभग 2 किलोमीटर के दूरी पर स्थित ग्राम वेद परसदा के शासकीय उप स्वास्थ्य केंद्र में लगभग पिछले 1 हफ्ते से लगा हुआ है ताला. रोजाना मरीज आ रहे हैं लेकिन उन्हें निराश होकर लौटना पड़ रहा है. वेद परसदा के उप स्वास्थ्य केंद्र में लगभग 4/5 गांव के मरीज रोजाना अपने इलाज के दौरान उप स्वास्थ्य केंद्र आ रहे हैं वहां डॉक्टर व सिस्टर की नहीं रहने से मरीजों को परेशानियों का सामना उठाना पड़ रहा है और बेवजह झोलाछाप डॉक्टरों से इलाज करवाने के लिए मजबूर हो रहे हैं.l वेद परसदा उप स्वास्थ्य केंद्र आए दिन विवादों में रहते हैं कभी मरीजों से दवाई के नाम पर  मोटी रकम वसूली जाती है तो कभी कमीशन खोरी के अभाव में मरीजों को  शासकीय दवाइयां उपलब्ध ना कराकर प्राइवेट मेडिकल ओ में पर्ची देकर भेज दिया जाता है. कभी भी वेद परसदा के उप स्वास्थ्य केंद्र में शासकीय दवाइयां उपलब्ध नहीं रहता.  डीलवरी केश के लिए नजदीक के ग्रामीण रात या फिर दिन को कभी भी आ जाते हैं लेकिन 1 हफ्ते से डॉक्टरों के मौजूदगी नहीं होने से डिलीवरी केस वाले पेशेंट को भी बहुत सारी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। वेद परसदा का स्वास्थ्य केंद्र इतना फ्रीडम व आजादी युक्त है कि आसपास के लोगों की कंट्रक्शन कम चलते हैं तो सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में सीमेंट रखने के उपयोग में आते हैं स्वास्थ्य केंद्र के सामने में ही ईट व गिट्टी रेती जैसे सामग्रियों को डम करके रख दिया गया है और स्वास्थ्य केंद्र के कमरों में सीमेंट के बोरी डम करके रखा गया है मरीजों को बैठने के लिए ठीक से जगह उपलब्ध नहीं करा पा रही है और इधर कंट्रक्शन वालों के सीमेंट छड़ रही थी रखने के लिए स्वास्थ्य केंद्र के कमरों को मुहैया करा दिया जाता है। वेद परसदा के स्वास्थ्य केंद्र उच्च अधिकारियों का इतना विश्वसनीय केंद्र है कि यहां आज तक कोई भी अधिकारी कभी भी निरीक्षण करने नहीं पहुंचे हैं। इसलिए यहां आए दिन कभी भी किसी समय ताला लगा कर यहां के डॉक्टर बाहर चले जाते हैं या फिर कहीं घूमने चले जाते हैं।

हमें इस बारे में कोई जानकारी नहीं है नहीं लिखित में वहां से कोई लेटर प्राप्त हुआ और अगर ऐसा बात है तो गांव से आ रहे मरीजों को तकलीफ हो रही है तो उस पर जांच करवाता हूं और करवाने के बाद सही पाए जाने पर कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जाएगी
 नंदराज कंवर
बी एम ओ  मस्तूरीl

पढ़े एसा क्या हुआ कि गुस्साए लोगों ने प्राचार्य का फूंका पुतला लगाए मुर्दाबाद के नारे

सुमंत सिन्हा@BBN24NEWS
भानूप्रतापपुर। निजी स्कूल सेंट जोसेफ के प्राचार्य बीजू एम के द्वारा स्कूली छात्र-छात्राओं को प्रार्थना के समय भारत माता की जय पर प्रतिबंध लगाने के मामले को लेकर अभिभावक और हिंदू संगठन के लोगों ने मुख्य चौक में प्राचार्य की पुतला दहन किया और मुर्दाबाद के नारे लगाए साथ ही तहसीलदार को ज्ञापन सौंपते हुए कहा है कि इस मामले की सूचना से जांच कर दोषी प्राचार्य के खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज किया जाए।

शहर के पुलिस लाईन में श्रद्धांजलि कार्यक्रम का किया गया आयोजित

सूर्यकान्त यादव @ bbn24news

10वर्ष पूर्व राजनांदगांव जिले के नक्सल प्रभावित क्षेत्र मानपुर के कोरकोट्टी, मदनवाड़ा और सीतागांव में राजनांदगांव जिले के तत्कालीन एसपी विनोद कुमार चौबे सहित 29 जवान नक्सली मुठभेड़ में शहीद हुए थे। उनके शहादत की आज 10वीं बरसी पर शहर के पुलिस लाईन में श्रद्धांजलि कार्यक्रम आयोजित किया गया।

लगातार नक्सल समस्या से जुझ रहे राजनांदगांव जिले में अमन के लिए 12 जुलाई 2009 को सुरक्षाबल के 29 जवानों ने अपनी शहादत दी थी। देश की ये पहली घटना थी जब नक्सली हमले में किसी एसपी की शहादत हुई थी। 10 वर्ष बाद भी इस दिन की याद कर लोगों की आंखे नम हो जाती है। आज पुलिस लाईन में आयोजित कार्यक्रम में शहीदों की तस्वीरों को देकर उनके परिजन फफक पड़े। शहीदों की 10 वीं बरसी के अवसर पर पुलिस लाईन में आयोजित श्रद्धांजलि कार्यक्रम में देशभक्ति के गीतों के बीच शहीदों के चित्रों पर पुष्पांजली अर्पित की गई। इस अवसर पर पुलिस अधिकारियों सहित शहीदों के परिजन शामिल हुए।

शहादत दिवस दिवस के अवसर पर 12 जुलाई 2009 के शहीदों के परिजनों को पुलिस विभाग के द्वारा शाॅल और श्रीफल देकर शहादत को नमन ंिकया गया। कार्यक्रम में उपस्थिति लोगों ने सभी शहीदों की तस्वीरों पर पुष्पांजलि अर्पित कर उन्हें अपनी श्रद्धांजलि दी, साथ ही इस अवसर पर  वृक्षारोपण और रक्तदान शिविर का भी आयोजन किया गया। शहीदों के सम्मान को लेकर दुर्ग रेंज के आईजी ने कहा कि एक माह के भीतर शहीदों की प्रतिमा उनके गांव में लगवा दी जाएगी। आईजी ने कहा कि पूरा पुलिस विभाग शहीदों के परिजनों के सुख और दुख में शामिल है।

दस वर्ष पूर्व 12 जुलाई 2009 को राजनांदगांव जिले के कोरकोट्टी में नक्सलियों से लड़ते हुए 29 जवानों ने अपनी शहादत दे दी थी और अब दस साल बाद इन जवानों के परिवार शहीद जवानों के सम्मान की लड़ाई लड़ रहे हैं। शहीद जवानों के गांव में उनकी प्रतिमा स्थापित करने के लिए परिजन कई बार विभागीय कार्यालय से लेकर मुख्यमंत्री तक अपनी गुहार लगा चुके हैं लेकिन अब तक इन शहीदों की प्रतिमा उनके गृहग्राम में स्थापित नहीं हुई है। ऐसे में अब शहीद के परिजन शाहीदों के सम्मान के लिए जद्दोजहद कर रहे हैं।  

एक ही शिक्षक के भरोसे चल रहे हैं मिडिल स्कुल

 

बिलाईगढ़- गुलाब दीवान @BBN24 :

छत्तीसगढ़ सरकार एक ओर बच्चों को सरकारी स्कुल आने का अभियान चलती हैं।तो वही दूसरी तरफ शिक्षा विभाग के अधिकारी शिक्षा के स्तर को सुधारने का कोई प्रयास नही करते हैं।जिसे कारण पालक अपने बच्चों को सरकारी स्कुल में न पढ़ा कर निजी स्कुल में पढ़ते हैं।जिसे बच्चों की पढ़ाई अच्छे से हो क्योंकि ऐसे कई सरकारी स्कुल हैं जहां आज भी एक ही शिक्षक के भरोसे चल रहा है। बिलाईगढ़ विकासखण्ड के अंतर्गत ग्राम पंचायत रोहिना के मिडिल स्कुल 3 वर्ष से एक ही शिक्षक के भरोसे चल रहा हैं।जहां छटवीं से आठवीं तक में कुल 85 की संख्या में छात्रों को एक ही शिक्षक पढ़ा रहे हैं।और शिक्षक के नही होने के कारण आठवीं के छात्रों के द्वारा छठवीं सातवीं को पढ़ाया जा रहा है।इसे अंदाजा लगाया जा सकता हैं कि पढ़ाई कैसी होती होगी।

जबकि नियम के अनुसार 35 छात्रों को पढ़ाने के लिए एक शिक्षक होना चाहिए।लेकिन नही होने के कारण पालक अपने बच्चों को सरकारी स्कूलों में न पढ़ा कर निजी स्कूलों में पढ़ा रहा है।जिससे बच्चों की सभी विषय का अच्छे से पढ़ाई हो।अकेले शिक्षक होने के कारण बच्चों की पढ़ाई सभी विषय का नही हो रहा है।जिसके कारण मजबूरी में पालक अपने बच्चो को पैसे खर्च कर निजी स्कूलों में पढ़ा रहे हो।जिसकी शिकायत पलको ने कई बार विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी से किया है।लेकिन अभी तक कोई शिक्षक का बेवस्था नही किया है।जिसे छात्रों की सभी विषय का पढ़ाई नही हो पा रहा है।जिससे सरकारी स्कूलों में छात्रों की संख्या लगातार कम होते जा रहे हैं।

जिला शिक्षा अधिकारी की अनुमति बिना कोई स्कूल फीस नहीं बढ़ा सकता : भार्गव

बढ़ाई गई फीस वापस लेने के निर्देश डीईओ ने ली निजी स्कूल प्रबंधन की बैठक


बलौदाबाजार, 11 जुलाई 2019 : जिला शिक्षा अधिकारी  ए.के.भार्गव ने कहा कि कोई भी निजी स्कूल मनमाने तरीके से फीस नहीं बढ़ा सकते हैं। उन्हें बाकायदा इसका तार्किक कारण बताते हुए फीस बढ़ाने का अनुमोदन लेना होगा। पालकों से सहमति लेने के बाद जिला शिक्षा अधिकारी इसका अनुमोदन करेंगे।   भार्गव आज यहां जिला ग्रंथालय के सभाकक्ष में निजी स्कूल प्रबंधन की बैठक को सम्बोधित करते हुए इस आशय के निर्देश दिए। बैठक में निजी स्कूलों के संचालक, प्राचार्य एवं उनके प्रतिनिधि उपस्थित थे। उन्होंने बिना अनुमोदन के फीस बढ़ाये कुछ स्कूलों को फीस वृद्धि वापस लेने की सख्त हिदायत दी है। अन्यथा उनकी मान्यता रद्द करने पर विचार किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि जिले में लगभग 300 निजी स्कूल संचालित हैं, जिनमें हजारों बच्चे नर्सरी से लेकर कक्षा बारहवीं तक पढ़ाई करते हैं।

     जिला शिक्षा अधिकारी   भार्गव ने बैठक में साफ कहा कि सरकार के नियम-कायदों का पालन करने की शर्त पर उन्हें स्कूल संचालन की अनुमति प्रदान की गई है। यदि ऐसा नहीं किया गया तो हमें मजबूर होकर कार्रवाई करनी पड़ेगी। उन्होंने कहा कि शिक्षा एवं अपने बच्चों के भविष्य के प्रति जनता जागरूक हो गई है। निजी स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों के पालक अब संगठित भी हो गए हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार शिक्षा के स्तर को बढ़ाने के लिए संवेदनशील है। इसमें सभी स्कूलों को सहयोग करना होगा। उन्होंने बच्चों के प्रति प्रेम और संवेदनशीलता के साथ पेश आने के निर्देश दिए। उन्होंने हाल ही में गरियाबंद में घटित हादसा की जानकारी देते हुए इस तरह की नौबत नहीं आने देने को कहा है। श्री भार्गव ने कहा कि निजी स्कूलों में भी प्रशिक्षित शिक्षकों द्वारा पढ़ाये जाने का प्रावधान है। कुछ स्कूलों में बगैर बी-एड, डीएड के टीचर रखे जाने पर आपत्ति करते हुए समय-सीमा में प्रशिक्षित टीचर रखने को कहा है। 


  डीईओ ने राज्य सरकार द्वारा अनुमोदित किताबों के बाहर किताब पढ़ाई की भी जानकारी ली। उन्होंने कहा कि पालकों पर अनावश्य खर्च का बोझ नहीं डाला जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि निजी स्कूल द्वारा पालक एवं बच्चों को किसी दुकान विशेष से सामग्री खरीदने के लिए बाध्य नहीं किया जा सकता है। वे अपनी सुविधा के अनुरूप किसी भी दुकान से सामान खरीद सकते हैं। उन्होंने वाहनों को भी दुरूस्त और सुरक्षित रखने के निर्देश दिए। आरटीओ एवं राज्य सरकार के संपूर्ण दिशा-निर्देशों का पालन किया जाना चाहिए। वाहनों में सीसीटीव्ही कैमरे भी रखा जाए ताकि हर तरह की गतिविधि का रिकार्ड रखा जा सके। श्री भार्गव ने कहा कि बरसात की शुरूआत में स्कूल परिसर एवं शौचालयों में सांप-बिच्छु होने की आशंका रहती है। इसलिए शिक्षक अथवा उनका कर्मचारी स्कूल खुलने के साथ ही पहले अच्छी तरह से निरीक्षण कर लें। उन्होंने पुस्तक वितरण की भी समीक्षा की।   भार्गव ने कहा कि आरटीई का दायरा अब कक्षा 8वीं से बढ़ाकर 12 वीं तक कर दिया गया है। निजी स्कूल सर्वोच्च प्राथमिकता के साथ इनका पालन सुनिश्चित करें।  अशासकीय शाला संचालक संघ के अध्यक्ष  एस.एम. पाध्येय ने राज्य सरकार के तमाम नियमों एवं दिशा-निर्देशों का पालक करने का भरोसा दिलाया। उन्होंने कहा कि केवल पैसा कमाने नहंी बल्कि गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा, समाज सुधार एवं सेवा की भावना से निजी स्कूलों का संचालन किया जा रहा है।


 

संत जोसफ स्कूल के प्रिंसिपल ने स्कूल में भारत माता की जय बोलने पर लगाई रोक,, स्कूल में हंगामा

सुमंत सिन्हा@BBN24 : भानुप्रतापपुर :

भानुप्रतापपुर के नामचीन निजी विद्यालय संत जोसेफ इंग्लिश मीडियम स्कूल में नए आए प्राचार्य ने स्कूल में प्रार्थना के बाद *भारत माता की जय* बोलने पर प्रतिबंध लगा दिया था। इस तरह की खबर व्हाट्सएप में पिछले दो-तीन दिनों से चल रही थी इस बात की सच्चाई पता लगाई गई और पुष्टि हिने पर नगरबके गणमान्य नागरिक स्कूल पहुँचे और हंगामा किया। प्रिंसिपल ने कहा मैन मना नहीं किया है,,,, इसके बाद समस्त लोगो के सामने प्रार्थना कराया गया और और सबके सामने भारत माता की जय की जयकारा लगाया गया। तनाव की स्थिति को देखते प्रशासन भी सतर्क ही गया और स्कूल में तहसीलदार, बीईओ, बीरआरसी, थाना प्रभारी और पुलिस बल पहुँच गए। प्रिंसिपल ने कहा प्रतिदिन भारत माता की जय बोला जाएगा कोई प्रतिबंध नहीं है। उल्लेखनीय है कि लगभग 15 दिन पूर्व स्कूल के प्राचार्य ने सभी बच्चों एवं वहां के शिक्षकों को भारत माता की जय बोलने से मना किया था। इसमे प्रमुख रूप से अभिभावक, हिन्दू संगठन, गणमान्य नागरिक पहुँचे थे।

सड़क बनाने डाली मिट्टी कीचड़ से चलना हुआ मुश्किल

सुमंत सिन्हा@BBN24 :

भानूप्रतापपुर आसुलखार से अलवरखुर्द तक प्रधानमंत्री सड़क योजना के तहत 4 किलोमीटर की सड़क बनाई जा रही है जिसका निर्माण काफी धीमी गति से किया जा रहा है बारिश होने के कारण यहां सड़क पर ठेकेदार के द्वारा डाली गई मिट्टी कीचड़ में तब्दील हो चुकी है यहां पैदल चलना भी मुश्किल हो गया है इस क्षेत्र से कई गांव के लोग इस सड़क से आवागमन करते हैं साथ ही स्कूल के छात्र-छात्राएं भी इसी सड़क से आते जाते हैं कीचड़ होने के कारण छात्र-छात्राएं बेहद परेशान हैं ग्रामीणों ने सड़क में तत्काल निर्माण करने की मांग की है।

साइकिल की चैन चढ़ा रहे छात्र को बाइक ने मारी टक्कर मौत

सुमंत सिन्हा@BBN24 :

भानूप्रतापपुर । दुर्गुकोंदल थाना क्षेत्र के स्कूल से लौट रहे छात्र की साइकिल की चैन उतर गई छात्र ने इससे सड़क पर ही चढ़ा रहा था इसी दौरान तेज रफ्तार से आ रही बाइक ने ठोकर मार दी जिससे छात्र की मौत हो गई जानकारी के अनुसार ग्राम सिहारी निवासी प्रदीप दुग्गा 10 वर्ष पांचवी का छात्र है स्कूल से अपनी साइकिल से लौट रहा था इसी दौरान चहचाड मोड़ के पास उसकी साइकिल की चैन उतर गई छात्र ने से सड़क पर ही चढ़ा रहा था इसी दौरान शिवनी निवासी परमानंद ध्रुव अपनी बाइक से कोदापाखा से दुर्गुकोंदल जा रहा था तेज रफ्तार होने के कारण बाइक मोड़ पर अनियंत्रित हो गया और सड़क पर चैन चढ़ा रहे प्रदीप को टक्कर मार दी जिससे चोट लगी लेकिन वह घर चले गया दूसरे दिन अंदरूनी चोट होने के कारण तबीयत बिगड़ने लगी तभी से परिजन अस्पताल ला रहे थे रास्ते में ही उसकी मौत हो गई हादसे में बाइक सवार भी गंभीर रूप से घायल हो गया जिसे रिफर किया गया है पुलिस बाइक चालक के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच कर रही हैl

दो घर जमाई में आपसी विवाद पर मारपीट, एक कि मौत

सुमंत सिन्हा@BBN24 :

भनुप्रतापपुर। ग्राम आमाकोट में दो लमसेना (घर जमाई) आपसी विवाद में भिड़ गए इस में एक की मौत हो गई जानकारी के अनुसार आमाकोट की मंगलू राम गावड़े के तीन बेटी हैं बड़ी बेटी का विवाह दूसरे गांव हो गया इसके बाद दो बेटियों के लिए मंगू राम ने लमसेना घर जमाई रखा इसमें शनिराम हुर्रा और किशोर ध्रुव दोनों आपस में साडू हुए इसमें अक्सर विवाद के चलरे शनिराम अपने गांव मीचेसुखाई चला जाता था बुधवार को शनिराम वापस आया और अपनी पत्नी से विवाद कर रहा था इसी बीच उसका साडू किशोर खेत से आ गया उसने शनिराम के साथ विवाद करते हैं मारपीट करने लगा इसके बाद किशोर फिर से खेत चले गया जब खेत से वापस आ रहा था तो शनिराम बाड़ी में छुपकर इंतजार कर रहा था इसी बीच किशोर को लगा उसे मारने वाला है यह सोचकर गांव के ही मेहर सिंह पोटाई को बुलाया और दोनों को देखकर शनिराम भागने लगा रास्ते में ही गिर गया जिससे यह दोनों उससे मारपीट की जिसे शनिराम की मौत हो गई जिंदा समझकर उसे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भानुप्रतापपुर में लाया गया जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया थाना प्रभारी शशि कला उईके ने बताया पूरा मामला सिकसोड थाना क्षेत्र का है यहां शून्य में मर्ग कायम कर शव को पंचनामा कराकर परिजनों को सौंप दिया गया है शरीर में चोट के निशान हैं। मामला सिकसोडथाना भेजा जाएगा।