राजनीति

भारतीय जनता पार्टी सदस्यता अभियान में शामिल हुए पूर्व कलेक्टर और भारतीय जनता पार्टी के नेता ओपी चौधरी

 

 

 

अजीत मिश्रा

बिलासपुर:- बिलासपुर में भारतीय जनता पार्टी सदस्यता अभियान में शामिल हुए पूर्व कलेक्टर और भारतीय जनता पार्टी के नेता ओपी चौधरी ।छह जुलाई से ग्यारह अगस्त तक जारी संगठन पर्व के दौरान भारतीय जनता पार्टी नए सदस्यों को पार्टी के साथ जोड़ रही है इसी प्रयास में लगातार बड़े चहरे बिलासपुर पहुंच रहे है शानिवार को पूर्व आईएएस और विधान सभा चुनाव में खरसिया से चुनाव लड़ने वाले प्रदेश कार्य समिति के सदस्य ओपी चौधरी बिलासपुर पहुंचे,जहाँ से  वे कार्यकर्ताओं के साथ अलग अलग मंडलों में पहुचें और लोगों को भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता दिलाई रेलवे छेत्र पहुंचने से पहले ओपी चौधरी नेहरू चौक के पास स्थित एक कोचिंग सेंटर पहुचे जहाँ नई पीढ़ी को भारतीय जनता पार्टी की रीति और नीति से अवगत कराते हुवे मिस्ड कॉल के माध्यम से पार्टी की सदस्यता दिलाई ।। पत्रकारों से चर्चा के दौरान ओपी चौधरी कई मुद्दों पर बेबाक होकर पत्रकारों ने उनसे दंतेवाड़ा के लाइवलीहुड जमीन घोटाले पर सवाल किया तो ओपी चौधरी ने इसे भेद भाव पूर्ण कार्यवाही करार देते हुवे कहा की सत्य कुछ समय के लिए परेसान जरूर हो सकता है लेकिन हार नही सकता दंतेवाड़ा के लाइवलीहुड जमीन के मामले में फिलहाल जांच चल रही है इस मामले में ओपी चौधरी का कहना है कि बिस पच्चीस लाख की जमीन में कैसे कड़ोड़ो का घोटाला मुमकिन है इस मामले में वे खुद को निर्दोष होने साबित होने का दावा कर रहे है साथ ही एबी कहा कि इस मामले में उन पर आरोप लगाने वाले के खिलाफ मानहानि का दावा करेंगे उन्नव रेप केस के मुद्दों पर उन्होंने साफ साफ कहा कि जो गलत है वो हर हाल में गलत है चाहे उसमे उनके ही पार्टी का नेता क्यों ना सामिल हो भारतीय जनता पार्टी ने इस मुद्दे पर आरोपी कुलदीप सेंगर को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाकर यह संदेश दिया है कि वह इस तरह के लोगों को बर्दाश्त नही करती बहुजन समाज पार्टी और समाजवादी के पूर्व नेता सेंगर की वजह से भारतीय जनता पार्टी की छवि धूमिल होने की बात उन्होंने स्वीकार की पत्रकारों से चर्चा के दौरान पूर्व कलेक्टर ने दावा किया की मौजूदा प्रयासों से भारतीय जनता पार्टी की सदस्य संख्या में कम से कम बिस प्रतिसत का इजाफा होगा बिलासपुर पहुचे भाजपा नेता ओपी चौधरी का स्वागत भाजयुमो द्वारा किया गया इस मौके पर उनके साथ जिला अध्यक्ष दीपक सिहं और कई भाजपा नेता उनके साथ मौजुत रहे

मुद्दई लाख बुरा चाहे तो क्या होता है : कांग्रेस .........गांव वालों के साथ-साथ शहरी गरीबों को भी मिट्टी तेल दिये जाने का कांग्रेस ने किया स्वागत

रायपुर:- 13 लाख राशन कार्ड धारको के मिट्टी तेल कोटे में केन्द्र सरकार के द्वारा कटौती किये जाने के बावजूद राज्य की कांग्रेस की भूपेश बघेल की सरकार द्वारा अब ग्रामीण राशन कार्ड धारको के साथ-साथ शहरी गरीबों को भी मिट्टी तेल दिये जाने के फैसले का कांग्रेस ने स्वागत किया है। प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि छत्तीसगढ़ राज्य के 13 लाख राशन कार्ड धारकों के हित के खिलाफ केन्द्र की भाजपा सरकार के फैसले के बावजूद भूपेश बघेल सरकार के इस गरीब समर्थक निर्णय से पूरे राज्य में खुशी की लहर दौड़ गयी है।

प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने जानकारी दी है कि कांग्रेस ने 20 जुलाई को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम के नेतृत्व में केन्द्र की मोदी सरकार के खिलाफ मिट्टी तेल कोटे में कटौती, दाल भात केन्द्रों में चांवल कटौती, शक्कर कारखानों से शक्कर उठाना बंद किया आदि मांगो को लेकर आंदोलन किया। मोदी सरकार ने पहले दाल भात केन्द्रों, छात्रावासो का चांवल बंद किया। शक्कर कारखानों से शक्कर उठाना बंद किया। केन्द्र की मोदी भाजपा की सरकार ने छत्तीसगढ़ के कैरोसीन मिट्टी तेल कोटे में कटौती जैसे गरीब विरोधी फैसलों से छत्तीसगढ़ को नुकसान पहुंचाया है। 12.90 लाख लगभग 13 लाख राशन कार्डो के धारको को कैरोसीन का वितरण प्रभावित हो गया। कांग्रेस ने छत्तीसगढ़ राज्य को केरोसिन आवंटन कोटे को वर्तमान 1.15 लाख किलोलीटर से 1.58 लाख किलोलीटर किये जाने की मांग की थी। छत्तीसगढ़ में वर्ष 2016 से आरंभं ‘‘उज्जवला’’ योजना में 26.79 लाख कनेक्शन वितरित किये जा चुके है। भारत सरकार की नीति अनुसार ‘‘उज्जवला’’ योजनान्तर्गत वितरित कनेक्शनों की संख्या में वृद्धि के आधार पर राज्य को केरोसिन का आबंटन 1.72 लाख लीटर के स्थान पर 1.15 लाख किलोमीटर कर दिया गया है। पहली तिमाही 28764 कि.लि. दिया गया, दूसरी तिमाही 17880 कि.लि. किया गया, जिससे 38 प्रतिशत की कटौती की गयी। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने 26 मार्च 2019 को पत्र लिखकर कैरोसीन की कोटा बढ़ाने की मांग की थी। छत्तीसगढ़ को 2015-16 कैरोसिन मिट्टी तेल 1.7 लाख कि.लि. दिया जाता था, जिसे 2018-19 में 1.15 लाख कि.लि. करने की मांग की थी।

राजीव भवन में कांग्रेस की दो महत्वपूर्ण बैठक : कांग्रेस सरकार की योजनाओं का लाभ हितग्राहियों तक पहुंचाने में कांग्रेसजनो की भूमिका पर होगी चर्चा

रायपुर:- छत्तीसगढ़ में भूपेश बघेल की कांग्रेस सरकार बनने के बाद सभी क्षेत्रों में उपलब्धियां अर्जित की गयी है। इन योजनाओं को जन-जन तक घर-घर तक पहुंचाने के लिये हितग्राहियों के लिये बनाई गयी योजनाओं का लाभ उन तक पहुंचे। हितग्राहियों को इन योजनाओं की सही जानकारी मिले, कांग्रेस सरकार द्वारा बनायी गयी योजनाओं का वास्तविक लाभ हितग्राहियों तक पहुंचे यह सुनिश्चित करने में कांग्रेसजनों की बड़ी भूमिका है। इसी पर विचार करने के लिये। 27 जुलाई 2019 शनिवार को प्रदेश कांग्रेस के मुख्यालय राजीवन भवन रायपुर में दोपहर 12 बजे प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक होगी और इसी दिन दोपहर 1 बजे प्रदेश पदाधिकारियों, जिला एवं ब्लाक कांग्रेस कमेटी तथा मोर्चा संगठन-प्रकोष्ठ एवं विभाग के अध्यक्षों की अतिआवश्यक बैठक रखी गयी है। इन दोनों ही बैठकों में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल एवं प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम विशेष रूप से उपस्थित रहेंगे। बैठकों में राज्य की कांग्रेस सरकार के 6 माह के कार्यकाल के उपलब्धियों को आम जनता तक पहुंचाने की कार्ययोजना पर चर्चा होगी।

इन बैठकों की जानकारी देते हुये प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि सार्वजनिक वितरण प्रणाली में राशन कार्ड नवीनीकरण, नरवा, गरूवा, घुरवा, बाड़ी योजना के जमीनी क्रियान्वयन, वृक्षारोपण और वृक्षों के संरक्षण जैसे अनेक क्रांतिकारी कार्य कांग्रेस की भूपेश बघेल सरकार ने शुरू किये है, जिसमें आमजन के साथ-साथ कांग्रेस कार्यकर्ताओं को अहम भूमिका निभानी है। खासकर बस्तर, सरगुजा के संदर्भ में कांग्रेस सरकार की उपलब्धियों को भी रेखांकित करने पर भी चर्चा इन दोनों ही बैठकों में होगी। कांग्रेस की भूपेश बघेल सरकार द्वारा किसानों का कर्जा माफ, 2500 रू. प्रतिकि्ंवटल में धान खरीदी, किसानों का 200 करोड़ सिंचाई कर माफ, 400 यूनिट तक बिजली बिल आधा किया गया, छोट प्लाटो की रजिस्ट्री शुरू करने जैसी बड़ी उपलब्धियों पर भी इस बैठक में चर्चा होगी।

युवा जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ ने बिजली कटौती की समस्या को लेकर प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर की नारेबाजी , मुख्यमंत्री के नाम एडीएम को सौपा ज्ञापन

सूर्यकान्त यादव : राजनादगांव-- युवा जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के सैकड़ो कार्यकर्ताओ ने कलेक्ट्रेट परिसर के सामने बिजली कटौती की समस्या को लेकर प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी किया और मुख्यमंत्री के नाम एडीएम को ज्ञापन शौपा।  -- युवा जनता कांग्रेस के सैकड़ो कार्यकर्ताओ ने आज कलेक्ट्रेट कार्यलय के गेट के सामने जमीन पर बैठकर कांग्रेस सरकार के खिलाफ नारेबाजी किया और प्रदेश सरकार के ऊपर अघोषित बिजली कटौती करने का आरोप लगया वही युवा जनता जोगी कांग्रेस के विधानसभा अध्यक्ष नविन अग्रवाल ने कहा की जिले में अकाल की स्थिति है ऐसे में किसानो को 24 घंटे बिजली की आवश्यकता है ताकि अल्प वर्षा से कुछ हद तक भू जल स्त्रोतों से पूर्ति हो लेकिन अत्यंत दुर्भायजनक है की किसानो की बिजली कटौती बढ़ती जा रही  है जिले में घंटो बिजली गोल हो रही है जिससे जिले में भयावह की स्तिथि पैदा हो चुकी है लगातार लो वोल्टेज बिजली कटौती से फसलों को नुकसान हो रहा है अगर एक हप्ते के अंदर में सुधर नहीं होगी तब पुरे जिले भर में बिजली दफ्तर का घेराव करने की बात कही।वही इस पुरे मामले को लेकर युवा जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के कार्यकर्ताओ ने मुख्यमंत्री के नाम एडीएम को ज्ञापन शौपा ,वही एडीएम मोटवानी ने कहा की बिजली कटौती को लेकर ज्ञापन शौपा गया है उस पर जल्द ही इनकी मानगो को पूरा किया जाएगा।

कृषक ऋण माफी तिहार शुरू"" विधायक शकुंतला ने किसानों को वितरित किए ऋण माफी के प्रमाण पत्र

जिले में कृषक ऋण माफी तिहार आज से शुरू हो गया है। पहले दिन जिले की 5 प्राथमिक कृषि साख सहकारी समितियों में शिविर का आयोजन किया गया। विधायक शकुंतला साहू कसडोल,अमेरा ,कोदवा में आयोजित शिविरों में शामिल हुईं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की किसान हितैषी योजनाओं से किसानों को न केवल कर्ज के बोझ से मुक्ति मिली है बल्कि उनकी आर्थिक स्थिति भी सुधर रही है। सुश्री साहू ने शिविरों में किसानों को कर्ज माफी का प्रमाणपत्र वितरित किया।इस दौरान उन्होंने समिति परिसर में पौधरोपण भी किया। जिला केंद्रीय सहकारी बैंक के नोडल अधिकारी श्री एल पी साहू ने बताया कि आज कसडोल,बलौदाबाजार,सुहेला,कोदवा और अमेरा की समितियों में विशेष शिविरों का आयोजन किया गया था। जहाँ लाभान्वित किसानों का नाम और कर्जमाफी की राशि का वाचन किया गया। उन्होंने बताया कि इन पाँचों समितियों के 4809 किसानों का 17 करोड़ 46 लाख 35 हजार रुपए का ऋण माफ किया गया है। कसडोल समिति में 945 किसानों का 3 करोड़ 7 लाख 78 हजार 366 रुपए बलौदाबाज़ार समिति में982 किसानों का 4 करोड़ 29 लाख 20 हजार 345 रुपए, अमेरा में 723 किसानों का 2 करोड़ 91 लाख 50 हजार 814 ,कोदवा में 911 किसानों का 3 करोड़ 47 लाख 47 हजार 967 रुपए और सुहेला में 1248 किसानों का 3 करोड़ 70 लाख 37 हजार 584 रुपए का कर्ज माफ किया गया है। जिसमें राज्य सरकार की महत्वाकांक्षी परियोजना नरवा गरवा घुरुआ बाड़ी से संम्बधित गतिविधियों के बारे में बताया गया। साथ ही कृषि ,उद्यानिकी, मछलीपालन और पशुपालन विभाग द्वारा किसानों के लिए संचालित योजनाओं की जानकारी भी दी गई।

हरियाणा की राजनीति में 5 पार्टियों की होगी अहम भूमिका

सिरसा:- इस बार हरियाणा के चुनाव में 5 पार्टी अपनी दमदारिता के साथ अपनी दावेदारी पेश करेंगे ।जिसमे बीजेपी, कांग्रेस, इन्डियन नेशनल लोक दल,जननायक जनता पार्टी, हरियाणा लोकहित पार्टी मैदान में होंगे। हालांकि आने वाला वक्त ही बताएगा कि जनता किसके सर पर ताज पहनाएगी किसे मिलेगा मात किसे मिलेगा हरियाणा की जनता का प्यार।

हरियाणा की राजनीति में फिर बड़े बदलाव के संकेत

सिरसा:- जैसे-जैसे हरियाणा में विधानसभा चुनाव नजदीक आ रहे हैं चुनावी हलचल तेज हो रही है l गोपाल कांडा की हरियाणा लोकहित पार्टी अब 5 सीटों के बजाय 12-15 सीटों पर चुनाव लड़ सकती है। सूत्रों की माने तो सिरसा कालावाली रतिया रानिया कुछ सीट मे साथ साथ 11 सीटो के लिए गोपाल कांडा ने एक प्राइवेट सर्वे कंपनी को सर्वे का काम दिया है वह 11 सीटें हैं मेवात व असन्ध नीलोखेड़ी घरौंदा या फिर जिन जिन सीटों पर आजाद उम्मीदवार जीतते आ रहे हैं । उन पर गोपाल कांडा की पैनी नजर है सूत्रों की मानें तो गोपाल कांडा ने अपना डेरा सिरसा मे जमा लिया है और उनके भाई गोविंद कांडा रानिया की बागडोर संभाल रहे हैं । इस बार कांडा बंधु किसी भी चीज को हल्के में नहीं ले रहे हैं और चुनावी मैदान में इस बार पूरी तैयारी के साथ आ रहे हैं। हालांकि हरियाणा की जनता किसे देगी प्यार और किसे ठुकराएगी या तो आने वाला समय ही बताएगा ।लेकिन इस बार हरियाणा की राजनीति में हरियाणा लोकहित पार्टी को कम नहीं आंका जा सकता क्योंकि इस बार हरियाणा में पांच बड़ी पार्टी मैदान में है।

प्रियंका गांधी वाड्रा की गिरफ्तारी का जमकर विरोध,CM योगी का किया पुतला दहन

सूर्यकान्त यादव@BBN24NEWS.COM : राजनांदगांव-- शहर जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष कुलबीर छाबड़ा ने कहा कि प्रियंका गांधी पीड़ितों के परिवार से मिलने जा रही थीं..उनको बिना किसी आदेश पर गिरफ्तार कर लिया गया. उनको बिना कारण बताए रोका, पीड़ित परिवारों से मिलने के लिये. ये लोकतंत्र पर हमला है.. हम इसकी निंदा करते हैं. हमने योगी आदित्यनाथ का पुतला दहन किया है. किसी से मिलने जाने पर इस स्वतंत्र भारत पर क्यों रोका जा रहा है. प्रियंका गांधी को बिना कारण बताए रोका जा रहा है, कहा जा रहा है कि वहां स्थिति खराब हो जाएगी. ये लोग राहुल गांधी और प्रियंका गांधी से घबरा गए हैं. इसलिए ऐसा कदम उठा रही है..बता दें कि उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले के घोड़ावल क्षेत्र में गांव के मुखिया और उनके समर्थकों ने बीते 17 जुलाई को जमीन के विवाद को लेकर दस लोगों को मौत के घाट उतारने के साथ 28 लोगों को गंभीर रुप से घायल कर दिया था.. घटना के पीड़ितों से मुलाकात के लिए सोनभद्र जाते समय कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को मिर्जापुर में रोक लिया गया..इस पर प्रियंका गांधी सड़क पर ही धरने पर बैठ गईं, जिसके बाद उन्हें हिरासत में ले लिया गया.प्रियंका गांधी को हिरासत में लिए जाने के विरोध में कांग्रेस पार्टी ने राष्ट्रीय स्तर पर विरोध-प्रदर्शन करने का फैसला लिया है, जिसको लेकर कांग्रेस महासचिव वेणुगोपाल ने भी पत्र जारी किया है।

वर्तमान सांसद अरुण साव बंगले की राजनीति से परेशान

 

 

अजीत मिश्रा : BBN24NEWS

देश में लोकसभा चुनाव को लगभग 2 महीने पुूर्ण हो चुके है पर अब तक बिलासपुर के पूर्व सांसद लखनलाल साहू सरकारी बंगले पर जमे हुवे  है, वही बिलासपुर के वर्तमान सांसद अरुण साव अपना काम वर्तमान में निजी आवास से ही पूरा कर रहे वही अब बिलासपुर के बीजेपी सांसद के  बंगला को लेकर फिर से सियासत तेज हो गई है बिलासपुर के नव नियुक्त सांसद जो अब तक बंगले के लिए इंतजार में है वही इस जिले के एक नवनियुक्त अधिकारी के लिए इस शहर में दो बंगले अलाट है जिसमे एक मे बड़े जोर से काम चल रहा है जिसमे लाखो रुपये लोकनिर्माण विभाग खर्च कर रहा है।। बंगला को लेकर जब सांसद अरुण साव से फ़ोन में बात हुई तो उन्होंने ने बताया कि सांसद बनने के बाद से बिलासपुर संसदीय क्षेत्र से आम जनता मेरे से मिलने मेरे निजी आवास में आते है जहां पर उनके बैठने और रुकने में काफी दिक्कत का सामना उनको करना पड़ रहा है वही अभी बरसात के मौसम में पानी गिर जाने के कारण आस पड़ोस के घरों में उनको बारिस से बचने के लिए उनके घरों में आश्रय लेना पड़ता है।।वही कालोनी में लोगो के आने जाने और गाड़ियों के कारण कालोनी के लोगो को भी दिक्कत आ रही है इन्ही सब कारणों के कारण 23 मई को परिणाम आने के बाद से मुझे जिला प्रशासन की तरफ से कोई भी बंगला अलॉट नही किया गया तो मैंने बिलासपुर कमिश्नर को बंगला अलाट करने के लिए आवेदन दिया जो 20 दिन के लगभग होने को है लेकिन अभी तक कोई भी बंगला के संबंध में जिला प्रशासन ने कोई ठोस पहल नही की।

 

 

पत्रकारिता विश्वविद्यालय के नाम बदलने की पत्रकारों के मांग को nsui के प्रदेश सचिव---हनी बग्गा ने किया समर्थन


पत्रकारों द्वारा रायपुर स्थित पत्रकारिता विश्वविद्यालय का नाम बदलने हेतु उच्च शिक्षा मंत्री को सौपा गया ज्ञापन न केवल छत्तीसगढ़ के पत्रकारों की मांग है बल्कि छतीसगढ़ की जनता की मांग है. छत्तीसगढ़ अनेक महापुरुषों एवं मूर्धन्य पत्रकारों की कर्मभूमि है जिसे पूर्वर्ती भाजपा शासन द्वारा अनदेखा कर बीजेपी के पूर्व-राष्ट्रीय अध्यक्ष व संघ के प्रचारक कुशाभाऊ ठाकरे के नाम पर रख कर छत्तीसगढ़ के पत्रकारिता के एक मात्र संस्थान का राजनीतिक उद्देश्यों की पूर्ति करने का कार्य किया है जिसका  NSUI के प्रदेश सचिव हनी बग्गा एवं nsui संगठन ने भर्त्सना की है और पत्रकारों की विश्वविद्यालय के नाम बदलने की मांग को पूर्ण समर्थन करता है जिस प्रकार राजा राममोहन राय नें आधुनिक भारतीय समाज के निर्माण में जो चिंगारी जगाई थी उसके वाहक के रूप में छत्तीसगढ़ में वैचारिक सामाजिक क्रांति के अलख जगाने का काम किसी ने पूरी प्रतिबद्धता से किया है तो निर्विवाद रूप से यह कहा जायेगा कि वह छत्तींसगढ के प्रथम पत्रकार व हिन्दी की प्रथम कहानी एक टोकरी भर मिट्टी के रचईता पं. माधवराव सप्रे जी ही थे। इन्होंनें छत्तीसगढ के पेंड्रा से ‘छत्तीसगढ मित्र’ पत्रिका का प्रकाशन सन् 1900 में से आरंभ किया था। माधव राव सप्रे जी के सामाजिक वैचारिक क्रांति के अलख को जगाये रखने के लिए छत्तीसगढ़ के एक मात्र पत्रकारिता विश्वविद्यालय का नाम परिवर्तित कर राष्ट्रभाषा हिंदी के उन्नायक, प्रखर चिंतक, मनीषी संपादक, स्वतंत्रता संग्राम सेनानी और सार्वजनिक कार्यों के लिये समर्पित कार्यकर्ताओं की श्रृंखला तैयार करने वाले प्रेरक-मार्गदर्शक गुरु कर्मयोगी माधव राव सप्रे जी के नाम पर या छत्तीसगढ़ राज्य के स्वप्न दृष्टा पत्रकार, छत्तीसगढ़ से राष्ट्रीय समाचार पत्र के संपादक के पद पर पहुंचने वाले  वे पहले संपादक नौ ओलंपिक खेलों और तीन एशियाई खेलों की रिपोर्टिंग करने वाले निर्भीक पत्रकारिता से छत्तीसगढ़ का नाम देश में रोशन करने वाले व्यक्तित्व से नई पीढ़ी को प्रेरणा लेने और मूल्य आधारित पत्रकारिता को प्रोत्साहन देने वाले मूर्धन्य पत्रकार श्री चंदू लाल चंद्राकर जी के नाम पर पत्रकारिता विश्वविद्यालय का नाम रखा जाना चाहिए.
 

छग विधानसभा:- इंदु बंजारे ने कहा कब तक होगा शराबबंदी मंत्री जी ने क्या जवाब दिया पढ़े पूरी खबर

रायपुर:- विधानसभा के मानसून सत्र में आज शराब बंदी के सवाल पर पामगढ़ बसपा विधायक इंदू बंजारे ने सरकार को घेरने की कोशिश की। आपको बता दे की मौजूदा सरकार कांग्रेस ने अपने चुनावी घोषणा पत्र में प्रदेश में शराबबंदी की बात कही थी मगर अब तक शराबबंदी नहीं हो पाई है। विधायक ने सरकार से पूछा कि प्रदेश में शराब बंदी कब तक होगी।इस पर जवाब देते हुए मंत्री मो.अकबर ने कहा कि इसके लिए सरकार ने समिति गठित कर दी है। गठित समिति और अध्ययन दल के रिपोर्ट के बाद शराबबंदी लागू की जाएगी। इसके बाद विपक्ष ने जनघोषणा का हवाला देकर हंगामा किया।

छग विधानसभा:- चंदेल ने पूछा कलिंगा विश्वविद्यालय ने अब तक कितने लोगो को दी PHD की डिग्री...लखमा के अनुपस्थिति पर विपक्ष ने उठाये सवाल

 

रायपुर:- छत्तीसगढ़ विधानसभा की कार्रवाई आज दूसरे दिन शुरू हुई। जांजगीर चाम्पा भाजपा विधायक नारायण चंदेल द्वारा पूछे गए कलिंगा विश्वविद्यालय रायपुर द्वारा कितने लोगों को पीएचडी की डिग्री प्रदान की गई है, इस मुद्दे पर विपक्ष और सत्ता पक्ष के विधायकों के बीच काफी नोकझोंक हुई। प्रश्नकाल में पहला सवाल भाजपा विधायक नारायण चंदेल ने उठाया। उन्होंने पूछा कलिंगा विश्वविद्यालय रायपुर में वर्ष 2014 से 2019 के मध्य कितने लोगों को किस-किस विषय में पीएचडी की डिग्री प्रदान की गई है। कितने पीएचडी होल्डर प्रोफेसर कार्यरत हैं। उद्योग मंत्री कवासी लखमा की अनुपस्थिति को लेकर भी विपक्ष ने खूब हंगामा किया और सदन का बहिर्गमन किया।

एआईसीसी के छत्तीसगढ़ प्रभारी पीएल पुनिया का महासमुंद जिले में कछरडीहड और रायपुर जिले में नवा गांव (अभनपुर) का दौरा

एआईसीसी के छत्तीसगढ़ प्रभारी पीएल पुनिया एआईसीसी के प्रभारी सचिव द्वय डॉ अरुण ओरांव, डॉक्टर चंदन यादव और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम सुबह 9:30 बजे सर्किट हाउस रायपुर से महासमुंद और रायपुर जिले के दो गोठान के निरीक्षण के लिए जाएंगे एआईसीसी के प्रभारियों के साथ इस दौरे में उद्योग मंत्री कवासी लखमा नगरीय निकाय मंत्री डॉ शिव कुमार डहरिया वरिष्ठ कांग्रेस नेता और अभनपुर विधायक धनेंद्र साहू प्रदेश कांग्रेस के प्रभारी महामंत्री गिरीश देवांगन महासमुंद जिले के चारों विधायक देवेंद्र बहादुर सिंह द्वारिकाधीश यादव विनोद चंद्राकर किस्मत लाल नंद महासमुंद जिला कांग्रेस अध्यक्ष आलोक चंद्राकर रायपुर ग्रामीण जिला कांग्रेस अध्यक्ष नारायण लाल कुर्रे सहित कांग्रेस के वरिष्ठ पदाधिकारी और कार्यकर्ता रहेंगे

एनएसयूआई ने राजनांदगाँव में दिग्विजय कॉलेज के सामने सुब्रमण्यम स्वामी का किया पुतला दहन

सूर्यकान्त यादव @ BBN24 :

राजनादगांव-- एनएसयूआई ने राजनांदगाँव में दिग्विजय कॉलेज के सामने भाजपा के सांसद सुब्रमण्यम स्वामी का पुतला दहन किया इस दौरान जोरदार नारेबाजी की गई।केंद्र सरकार सहित सुब्रमण्यम स्वामी के खिलाफ मुर्दाबाद के नारे लगाए गए..राजनांदगाँव एन.एस.यू.आई ने राजनांदगाँव में दिग्विजय कॉलेज के सामने भाजपा के सांसद सुब्रमण्यम स्वामी का पुतला दहन किया..भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी द्वारा कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी को दिए बयान को लेकर पूरे देश भर में उनके खिलाफ कांग्रेसी और एनएसयूआई जगह-जगह प्रदर्शन कर रही है इसी को लेकर आज राजनांदगांव एनएसयूआई ने सुब्रमण्यम स्वामी का पुतला दहन कर उनके खिलाफ नारेबाजी की नारेबाजी की..दरअसल राज्य सभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने राहुल गांधी को नशा और कोकीन का आदि बताते हुए नशेड़ी कहा था इसी मामले को लेकर देश प्रदेश सहित सभी जगहों में कांग्रेस के नेताओं और एनएसयूआई द्वारा भाजपा सांसद सुब्रमण्यम के खिलाफ लगातार विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं भाजपा के वरिष्ठ नेता और सांसद सुब्रमण्यम स्वामी के राहुल गांधी पर टिप्पणी को लेकर देश प्रदेश सहित राजनांदगांव में भी विरोध देखने को मिली।

जुर्माना के साथ राष्ट्रीय संपदा कोयला चोरी की मामला हो दर्ज - सुनीता दुबे

 

 

कोरबा - राष्ट्रीय महिला मजदूर कांग्रेस (INTUC) प्रदेशाध्यक्ष श्रीमत सुनीता दुबे ने प्रेस को विज्ञप्ति जारी कर बताया कि आर्यन कोल बेनीफिकेशन (एसीबी) इंडिया लिमिटेड दीपका के सम्पूर्ण कार्यकाल की सीबीआई जांच के मांग एवं एसईसीएल छेत्र गेवरा कुसमुंडा दीपका कोरबा खदानों की भौतिक सत्यापन सहित अन्य समस्याओं को लेकर चरणबद्ध  एसईसीएल कार्यालय घेराव की जाएगी
श्रीमती दुबे ने बताया आर्यन कोल बेनीफिकेशन (एसीबी) इंडिया लिमिटेड दीपका द्वारा 1989 / 90 से लगतार कर रहे कोयला की अफरातफरी रिजेक्टे  कोयला के नाम पर गुडवत्ता युक्त कोयला की उत्खनन भण्डार परिवहन क्रय विक्रय पर सीबीआई जांच करवा तत्काल इसके और इससे संबंधित कम्पनियों कोल वासरियो व पवार प्लांटो की कोल सप्लाई पर रोक लगाने की मांग को लेकर 4 जून को ज्ञापन दी थी जिस पर राज्य सरकार जिला प्रशासन ने कार्यवाही चालू की सीबीआई जांच के मांग को 24 जून को दीपका में धरना देते हुवे उग्र आंदोलन की चेतावनी दी थी

जिस पर दूसरे दिन सीबीआई ने जांच प्रारम्भ की पर सीबीआई द्वारा की गई कार्यवाही से असंतुष्ट हैं प्रमुख तथ्यों को नजरअंदाज कर दिखावे की कार्यवाही की जा रही है पूर्व की भांति इनको राष्ट्रीय संपदा कोयला चोरी की छूट दे रखे हैं वही राज्य शासन ने दो करोड़ 91 लाख जुर्माना लगाया हैं पर संचालक द्वारा पुनः अवैध भंडारण खनन क्रय विक्रय वर्षो से चल रहे नही रुकेगी जब तक संचालक के ऊपर राष्ट्रीय संपदा लूटने की आपराधिक मामला दर्ज न हो इस लिए इन कोलवासरीयो को बंद करते हुवे एफआरआई कराई जाए साथ ही आर्यन कोल बेनीफिकेशन (एसीबी) इंडिया लिमिटेड दीपका के सम्पूर्ण कार्यो की सीबीआई जांच, एसईसीएल और इनके बीच मे हुई एमयू को रद्द करने, भुस्थापितो को रोजगार, एसईसीएल में चल रहे फर्जीवाड़ा की खेल फर्जी नौकरी पर कार्यरत कर्मचारियों के विरुद्ध अपराधीक मामला दर्ज करने, एसईसीएल में कार्यरत ठेका कर्मचारियों की शोषड को रोक लगाने, एसईसीएल के जमीनों पर एसीबी इंडिया लिमिटेड के द्वारा बलात कब्जा अवैध निर्माण को तत्काल हटाने,दीपका कोल वासरी को शहर के अंदर संचालन करने नियम विरुद्ध जमीन देने पर कार्यवाही करते हुवे इसे बंद की जाने, एसईसीएल में कार्यरत अधिकारी सरकार की कम कोयला चोरो के ज्यादा नौकरी करते रहे है इस लिए रिटायर्ड के बाद सिंधु एन्ड कम्पनी (एसीबी) की नौकरी करने लगते हैं इन रिटायर्ड अधिकारीयो उनके परिवारों की बैंक खातों की जांच की जाए, जल, जंगल, बड़े झाड़ की जमीन, निस्तार भूमियो, नदियों, तलाबों से एसीबी की कब्जा हटाने,सहित अन्य मांगों को लेकर कल 10 जुलाई को एसईसीएल गेवरा कार्यालय की घेराव की जाएगी आंदोलन को चरणबद्ध करते हुवे 12 जुलाई को एसईसीएल कुसमुंडा 15  जुलाई को एसईसीएल दीपका ऑफिस की एवं 19 जुलाई को कोरबा एसईसीएल, 22 जुलाई को  महाप्रबंधक एसईसीएल बिलासपुर के सामने धरनाप्रदर्शन करते हुवे कोयला चोरी में एसीबी को संरक्षण देने वाले  पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह के आवास की घेराव करने को विवष होंगे