क्राइम

शासकीय कोयला चोरी मामले में एसईसीएल का असिस्टेंट मैनेजर सहित 4 आरोपी गिरफ्तार

रायगढ़:-एसईसीएल जामपाली घरघोड़ा कोयला खदान के अधिकारी और ट्रांसपोर्टरों के मिलीभगत में शासकीय कोयला चोरी का मामला सामने आया है। मुखबिर से मामले की भनक लगते ही पूंजीपथरा थाना प्रभारी निरीक्षक अमित सिंह ने पुलिस अधीक्षक संतोष सिंंह को जानकारी दी। जांच के दौरान एसईसीएल के असिस्टेंट मैनेजर सहित 4 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया। मामले आरोपी ने एसईसीएल जामपाली खदान के असिस्टेंट मैनेजर सुमंता कुमारा से सांठगांठ कर शासन के कोयले को चोरी कर अवैध रूप से लाभ कमाया। वाहनों की जब्ती होने पर जानकारी मिली कि आरोपी असिस्टेंट मैनेजर सुमांता कुमारा ने अपने सहयोगी आरोपी छोटू मुंशी और यशवंत साहू के साथ मिलकर खदान के गेट पर लगे कैमरे का फुटेज डिलीट कराया था। फूटेज में वाहनों के प्रवेश और कोयला लेकर निकलने के साक्ष्य मौजूद थे। आरोपी छोटू मुंशी उर्फ ईश्वर ने ट्रांसपोर्टर फरार आरोपी त्रिलोचन उर्फ बबलू और दीपक कुमार से बातचीत कर उनके वाहन से कोयला चोरी करने के लिए खदान में असिस्टेंट मैनेजर सुमांता कुमारा व कुछ व्यक्तियों के साथ अपराधिक सांठगांठ किए थे। मामले में योगेश कुमार सिंह उर्फ शंभू खैरवार (27) निवासी जयराम नगर कछार थाना मस्तूरी जिला बिलासपुर, हाल हनुमान चौक घरघोड़ा व बूम बैरियर आॅपरेटर जाम पाली कोल माइंस, ईश्वर प्रसाद साहू उर्फ छोटू साहू (32) निवासी कूड़ेकेला थाना घरघोड़ा जिला रायगढ़,यशवंत कुमार (21) कोसमघाट थाना घरघोड़ा जिला और सुमांता कुमारा ( 40) निवासी देवगांव थाना ब्रजराजनगर जिला झाड़सुगुड़ा उड़ीसा को गिरफ्तार किया गया। अन्य आरोपी फरार हंै, जिनकी तलाश की जा रही है। प्रकरण को सामने लाने में निरीक्षक अमित सिंह थाना प्रभारी पूंजीपथरा, पूंजीपथरा के सहायक उपनिरीक्षक चंदन सिंह नेताम , एएसआई जीपी बंजारे, आरक्षक बालचंद राव, धर्मेंद्र सिंह, विनोद शर्मा भगवती प्रसाद रत्नाकर की विशेष भूमिका रही।

पुलिस ने चार मोटरसाइकिल चोरों को धर दबोचा: चोरी की 8 मोटर सायकिल बरामद

छतीसगढ़ : बिलासपुर : अजीत मिश्रा :

बिलासपुर। शहर में मोटरसाइकिल चोरी की बढ़ती घटनाओं से आखिरकार पुलिस विभाग को एक बड़ी कामयाबी मिली है। पुलिस ने मुखबीर चार बाइक चोरों को धर दबोचने में सफलता हासिल की है। बाइक चोरी के आरोप में धरे गए  इन 4 लोगों में से दो बाइक चोर नाबालिग हैं। 22 फरवरी को तेलीपारा से एक्टिवा चोरी होने के बाद सक्रिय हुई पुलिस लगातार चोरों की तलाश कर रही थी। इसी दौरान पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि दो लड़के चोरी की मोटरसाइकिल बेचने की फिराक में ग्राहकों की तलाश कर रहे हैं ।सूचना पाने के बाद पुलिस ने गांधी चौक के पास घेराबंदी करते हुए तिफरा निवासी महेश उर्फ सोनू मानिकपुरी और अशोक नगर स्थित निवासी सतपाल उर्फ कोरा साहू को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो पता चला कि वे दोनों अपने  दो नाबालिग साथियों के साथ मिलकर शहर के अलग-अलग हिस्सों से मोटरसाइकिल और स्कूटी की चोरी कर रहे थे, जिन्हें उन्होंने अलग-अलग जगहों में छुपा कर रखा था। सिटी कोतवाली पुलिस ने महेश मानिकपुरी से तीन मोटरसाइकिल और सतपाल से एक मोटरसाइकिल जप्त की तो वही इनके दोनों नाबालिग साथियों के पास से चार स्कूटी और एक मोटरसाइकिल बरामद की गई है। चोरी की 8 मोटरसाइकिल और स्कूटर की कीमत 1 लाख 60 हज़ार के आसपास आंकी गई है ।पता चला कि ये सभी चारों आरोपी मौका पाकर टू व्हीलर पार किया करते थे ।जिन्हें कम कीमत पर लोगों को बेच दिया जाता था। इस मामले में दो आरोपियों को जेल भेज दिया गया है तो वही दो अन्य नाबालिगों को  बाल सुधार गृह भेज दिया गया है।

एक ही समय पर दो स्थानों पर शासकीय नौकरी करना पड़ा महँगा ...हुई कठोर कारावास एवं अर्थदण्ड की सजा

न्यायायिक दंडाधिकारी प्रथम श्रेणी न्यायालय पामगढ़ श्रीमान शिव प्रकाश त्रिपाठी द्वारा एक ही समय पर दो स्थानों पर शासकीय नौकरी कर दोनो स्थानों की उपस्थिति पंजी पर झूठा हस्ताक्षर कर छल करने के आरोपी मनोज कुमार साहू को भादवि की अलग2धाराओं में कठोर कारावास एवं अर्थदण्ड की सजा सुनाई गई। आरोपी मनोज कुमार साहू वर्ष 2010 से अप्रैल2013 तक जिला कोरबा,विकास खंड पोड़ी उपरोड़ा अंतर्गत पनगवा स्थित शा पूर्व माध्यमिक शाला में शिक्षाकर्मी के पद पर कार्यरत रहते हुए, जिला जांजगीर चाम्पा अंतर्गत खरौद स्थित लक्ष्णमेश्वर महाविद्यालय में विज्ञापित प्रयोगशाला परिचालक के पद पर आवेदन किया जिसमे फरवरी2013 को आरोपी का नियुक्ति आदेश जारी हुआ जिसमें आरोपी द्वारा 01 मार्च 2013 को पदभार ग्रहण कर कार्य प्रारम्भ किया गया,दूसरी ओर आरोपी पनगवा शाला में भी शिक्षाकर्मी के पद पर अप्रेल 2013 तक कार्यरत रहा तथा मार्च-अप्रेल2013 में उक्त दोनों संस्थाओं में से एक स्थान पर उपस्थित होता था परंतु दोनो संस्थाओं की उपस्थिति पंजी पर बाद में स्वयं का झूठा हस्ताक्षर कर अपनी उपस्थित दर्शा कर दोनो संस्थाओं से वेतन प्राप्त करता था। आरोपी के उक्त कृत्य की शिकायत प्राप्त होने पर थाना शिवरीनारायण द्वारा आरोपी के विरुद्ध धारा 420,467,468,471 भादवि के अंतर्गत अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना प्रारम्भ की गई,विवेचना दौरान दोनों संस्थाओं में विवादित समयावधि में आरोपी की उपस्थिति सम्बन्धी दस्तावेजो को जब्त कर परीक्षण किया गया एवं दोनो संस्थाओं में आरोपी के साथ विवादित समय पर कार्य करने वाले व्यक्तियों के कथन लिए गए जिसमें शिकायत सही पाई गई शेष विवेचना पूर्ण कर चालान विचारण हेतु माननीय न्यायिक दंडाधिकारी प्रथम श्रेणी न्यायालय पामगण में पेश किया गया। पामगढ़ न्यायालय में चालान प्रस्तुति के पश्चात न्यायालय में गवाहों-दस्तावेजो के परीक्षण-प्रतिपरीक्षण,तर्क के बाद माननीय न्यायिक दंडाधिकारी प्रथम श्रेणी न्यायालय पामगढ़ श्रीमान शिव प्रकाश त्रिपाठी द्वारा आरोपी मनोज कुमार साहू के विरुद्ध लगाए गए आरोपो को सही पाते हुए उसे दोषी पाया एवम भादवि की धारा420 के तहत 02 वर्ष कठोर कारावास,धारा 467 के तहत 03 वर्ष कठोर कारावास,468 के तहत 02 वर्ष कठोर कारावास एवम 471 तहत 06 माह कठोर कारावास एवम अर्थदंड की सजा सुनाई। शासन की ओर से प्रकरण में लोक अभियोजन अधिकारी,अकलतरा एस.अग्रवाल एवं पामगढ़ के नवनियुक्त सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी अनिल सिंह ने पैरवी की।

बिलासपुर : डॉक्टर ने शादी का झांसा दे कर नर्स का किया , दैहिक शोषण , मामला दर्ज

बिलासपुर : डॉक्टर द्वारा शादी का झांसा देकर करीब डेढ़ साल से नर्स का दैहिक शोषण किया जाता रहा। इस मामले में सिविल लाइन थाने में मामला दर्ज कर लिया गया है। सिविल लाइन थाने में दर्ज प्राथमिकी के अनुसार मंगला चौक स्थित कृष्णा अस्पताल में कार्यरत रिंग रोड क्रमांक 2 निवासी डॉ दीपक बंजारे ,कृष्णा अस्पताल में ही कार्यरत 24 वर्षीय गंगानगर निवासी नर्स को मोहब्बत के जाल में फंसा कर उसके साथ लगातार शारीरिक संपर्क बनाता रहा। डॉक्टर ने नर्स से शादी का वायदा किया था ।बताया जा रहा है कि 23 अगस्त 2018 से डॉक्टर लगातार नर्स के साथ जिस्मानी रिश्ते कायम कर रहा था, लेकिन जब भी नर्स उसे शादी की बात कहती तो वह टाल जाता । इसके बाद डॉ का व्यवहार बदल गया। खुद के छले जाने का एहसास होने पर नर्स ने सिविल लाइन थाने में बलात्कार का मामला दर्ज कराया है । इस मामले में सिविल लाइन पुलिस ने बलात्कार के आरोपी डॉक्टर दीपक बंजारे को फिलहाल हिरासत में ले लिया है , वही आरोप लगाने वाली नर्स का मुलाहिजा किया जा रहा है।

मोटर सायकल चोरी करके भागे दो चोर को पुलिस ने किया गिरफ्तार

छतीसगढ़ : मुलमुला : मुलमुला ग्राम सेवईडिह निवासी रामभरोस फरिश्ता. और उसके दोस्त जयपाल सूर्यवंशी.देवेन्द्र सूर्यवंशी. तीनों जो फोरलेन में गार्ड का काम करता था रोज कि तरह रात्रि में काम पर आया और अपने मोटर सायकल को सडक किनारे खडा करके अपने अपने काम में चला गया। काम से जब वापस आए तो देखा मोटरसाइकिल गायब था । उसके बाद थाना मुलमुला में मोटरसाइकिल चोरी होने का रिपोर्ट दर्ज कराया पुलिस के द्वारा पतासाजी करने पर दिनांक 23.02. 2020 को ग्राम पकरिया निवासी राहुल केंवट एवं जितेंद्र केंवट को चोरी के मोटरसाइकिल सहित पकड़ा गया जिसमें रिमांड पर जेल भेज दिया गया

चलती ट्रेन में चाय बेचने की आड़ में चोरी की घटना को देते थे अंजाम..पुलिस ने ऐसे किया खुलासा

अजीत मिश्रा

बिलासपुर:-जिले के तोरवा थाना क्षेत्र के पावर हाउस रोड में दो आरोपी के पास से चोरी का माल नगद रकम एक एयर पिस्टल और  लाखो रुपये का माल के साथ  तोरवा पुलिस ने धर दबोचा,जिनको हिरासत में लेकर और पूछताछ की जा रही है।। इस मामले का खुलासा करते हुए सिविल लाइन सीएसपी राम नारायण यादव और तोरवा थाना प्रभारी जेपी गुप्ता ने बताया कि पेट्रोलिंग कर रही पुलिस को सूचना मिली कि दो लोग पावर हाउस रोड में सोने और चांदी के जेवरात को बेचने में लगे है इस सूचना पर तोरवा थाना प्रभारी जेपी गुप्ता ने टीम बनाकर उनसे ग्राहक बन कर  संपर्क साधा और उनके पास रखे समान को देखने के बाद माल सहित थाना ले आया गया।।जहाँ उनसे पूछताछ की गई तो चोरी का माल होना स्वीकार किया और आरोपी मुकेश पटेल उर्फ पांतलु के पास से सोने चांदी के जेवरात और नगद रकम 40000 रुपए और एक एयर पिस्टल बरामद हुआ।।वही दूसरा आरोपी राजेन्द्र साहू जिसके पास से इलेक्ट्रॉनिक वैट मसीन सोने चांदी के जेवरात और नगद 60000 रुपये बरामद हुआ।।दोनो आरोपी तोरवा थाना क्षेत्र के ही और येलोग ट्रैन में चाय बेचने का काम करते थे और वही मौका पाकर ये लोग चोरी की घटना को अंजाम देते थे।।सभी चोरी बिलासपुर से जयपुर जाने वाले मार्ग की ट्रेन में ही चोरी की घटना को अंजाम दिए है।।वही अभी पुलिस इनसे और पूछताछ में लगी है ऐसा बताया जा रहा है कि इनसे और माल बरामद होने की आंशका है।।

जी॰पी॰एम॰ पुलिस द्वारा 24 घंटे के भीतर लूट का किया गया ख़ुलासा

( बिलासपुर / छतीसगढ़ )


सभी आरोपी गिरफ़्तार, कुल मशरूका बरामद

 दिनांक 17.02.2020 दोपहर 02:40 बजे पर कल्चरी नगर पीपल के पेड़ के पास प्राइवेट टीचर चाँदनी जायसवाल अपने स्कूल से पढ़ा कर वापस लौट रही थीं कि बाइक सवार तीन नवयुवक पास से गुज़रे फिर थोड़ी दूरी पर बाइक रोक कर वापस आए और उनका पर्स छीनकर भाग गए।

पर्स मे 2000 नगद और 12000 रुपए क़ीमत का मोबाइल रखा हुआ था। इसकी सूचना चाँदनी ने थाना गौरेला पुलिस को दी। जिसपर पुलिस ने तत्काल हरकत मे आते हुए अपराध दर्ज किया और वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशन में विवेचना शुरू कर दी। पर्याप्त पतासाजी कर अपराध में लिप्त तीनो आरोपियों अतुल गुप्ता पिता अंजनी गुप्ता उम्र 19 वर्ष विनय केवट पिता दुःखरन उम्र 20 वर्ष और योगेश सोनवानी संतराम सोनवानी उम्र 19 वर्ष ( तीनो पेंडरा थाना क्षेत्र निवासी ) को सीसीटीवी फूटेज से पहचान करवाके गिरफ़्तार कर लिया गया और अपराध 38/2020 धारा 392 आई॰पी॰सी॰ में न्यायिक रिमांड पे भेज दिया गया। 

अपराधियों के पास से चाँदनी की निशानदेही का लाल लेडिस पर्स और उसमें रखे 2000 नगद और 12000 क़ीमत का मोबाइल फोन बरामद करने के साथ साथ घटना में प्रयुक्त TVS अपाचे बाइक भी ज़ब्त कर ली गई है।

बिलासपुर : नाबालिक को अपने घर लेजाकर उसके साथ किया दुष्कर्म, आदतन आरोपी कई बार जा चुका है जेल , पुलिस ने किया गिरफ्तार

( बिलासपुर / छतीसगढ़ )

सिरगिट्टी पुलिस ने मुस्तैदी दिखाते हुए महज 6 घण्टे के भीतर दोबारा किया गिरफ्तार

दरअसल पूरा मामला सिरगिट्टी थाना क्षेत्र के तिफरा का है जिसमे बीते दिनों राजा वैष्णव नामक युवक ने पास में ही रहने वाली नाबालिक को अपने घर लेजाकर उसके साथ दुष्कर्म करने की कोशिश की। जिसके बाद नाबालिक वहाँ से भागते हुए अपने घर पहुँची और पूरी घटना की जानकारी अपने पिता को दी। माता पिता के द्वारा दर्ज fir के बाद सिरगिट्टी पुलिस ने लड़के को गिरफ्तार कर गहन पूछताछ के बाद उसने चोरी के एक अन्य मामले में भी अपनी संलिप्तता स्वीकारी। इससे पहले की पुलिस दोनो मामले में कागजी कार्यवाही कर पाती राजा वैष्णव मौके का फायदा उठाते हुए थाने से चकमा देकर फरार हो गया। मामले की गंभीरता को देखते हुए सिरगिट्टी थाना के टी आई यू एन शांतकुमार व टीम ने बड़ी मुस्तैदी से पूरे इलाके की छानबीन की और आरोपी को मजह 6 घंटो के भीतर दोबार गिरफ्तार कर लिया। जहां उसकी होशियारी धरी की धरी रह गई। बाद में आरोपी के ऊपर पंजीबद्ध धाराओं में थाने से भागने का धारा जोड़ी गयी। इस तरह आरोपी के ऊपर कुल 3 अलग अलग धाराओं के तहत मामला दर्ज कर उसे न्यायालय के समक्ष पेश किया गया।

बिलासपुर पुलिस को 103 नग गुम हुवे मोबाईल,बरामद करने में मिली सफलता

पुलिस अधीक्षक बिलासपुर  प्रशांत अग्रवाल (भा.पू.से.) द्वारा जिले में गुम हुये मोबाईलो की तलाश कराकर उनके वास्तविक स्वामी को वापस कराने के उददेश्य से सायबर सेल बिलासपुर की टीम को दिशा निर्देश दिये जिसके परिपालन में उप पुलिस अधीक्षक सायबर सेल बिलासपुर  विश्व दीपक त्रिपाठी के नेतृत्व मंे सायबर सेल की टीम द्वारा विगत करीब 01 माह में लगातार कार्यवाही करते हुये गुमे हुये मोबाईलो की तलाश में लगे हुये थे इस दौरान कुल 103 नग गुमे हुये मोबाईल को बरामद करने में बिलासपुर पुलिस को सफलता प्राप्त हुई है। उक्त बरामद किये हुये मोबाईल फोन को पुलिस अधीक्षक बिलासपुर द्वारा सायबर सेल बिलासपुर में समारोह आयोजित कर उनके वास्तविक स्वामियो को वापस प्रदाय किया गया।
गुमे हुये मोबाईल को सायबर सेल की टीम द्वारा जिला एवं राज्य के अलावा दिगर राज्य के कलकत्ता, रिवा, अनूपपूर आदि स्थानो से भी काफी परिश्रम के बाद मोबाईल बरामद किया गया है इस दौरान मोबाईल प्राप्त करने आये हुये लोगो ने पुलिस के इस प्रयास की काफी सराहना किया तथा लम्बे समय से गुमे हुये अपने मोबाईल को बिलासपुर पुलिस की मदद से प्राप्त करने पर काफी हर्षित हुये तथा बिलासपुर पुलिस को साधूवाद देते हुये भविष्य में भी इसी प्रकार सराहनीय कार्य करने के लिये शुभकामनायें ज्ञापित किये। 
 बिलासपुर जिले में कार्यरत सायबर सेल विगत 2008 से लगातार कार्य करते हुये महत्वपुर्ण अपराधो को सुलझाने में विशेष भुमिका का निर्वाहन किया है विगत कुछ वर्षो से तारबाहर थाना परिसर के भवन में सायबर सेल कार्यालय संचालित था जिसमें रखरखाव एवं बैठक व्यवस्था समुचित न होने से कार्यरत कर्मचारियों को काफी असुविधा हो रही थी तथा बारिश के मौसम में भी कार्यालय के छत से पानी का रिसाव होने से उपकरणो के रख रखाव में समस्या होती थी तथा विभाग के कई महत्वपुर्ण उपकरण के खराब हो जाने की संभावना बनी रहती थी । पुलिस अधीक्षक बिलासपुर  प्रशांत अग्रवाल (भा.पू.से.) द्वारा सायबर सेल का भ्रमण कर उपरोक्त समस्याओ से रूबरू होकर उनके निराकरण हेतु अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर एवं ग्रामिण बिलासपुर तथा उप पुलिस अधीक्षक यातायात/सायबर सेल बिलासपुर  विश्व दीपक त्रिपाठी एवं सुबेदार  सोनू वर्मा को निर्देश देकर शीध्र कार्यालय के पुर्ननिर्माण मे कार्य प्रारम्भ करने का निर्देश दिये थे जिसके  परिपालन में लगातार कार्य सम्पादित कर आज दिनाॅक 17 फरवरी 2020 को सायबर सेल कार्यालय का पुर्न-लोकार्पण नवीन साज-सज्जा तथा नवीन उपकरणो के साथ पुलिस अधीक्षक बिलासपुर प्रशांत अग्रवाल (भा.पू.से.) के कर कमलो से सम्पादित हुआ ।
 

बिलासपुर : सकरी क्षेत्र में खिलौने की दुकान संचालक के साथ मारपीट कर पैसे और दुकान से सामान लूटने की घटना को अंजाम देने वाले आदतन अपराधी को पुलिस ने किया गिरफ्तार

BBN24NEWS -बिलासपुर के सकरी क्षेत्र में खिलौने की दुकान संचालक के साथ मारपीट कर पैसे और दुकान से सामान लूटने की घटना को अंजाम देने वाले आदतन अपराधी को सकरी पुलिस ने ग्रिफ्तार कर हिरासत में लिया।।सकरी पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार सकरी थाना क्षेत्र के अंतर्गत सागर होम्स निवासी राजू धारी की   खिलौने दुकान है राजू धारी अपनी दुकान में बैठा था तभी दैहान पारा सकरी का रहने वाला  लच्छी लोहार स्कूटी गाड़ी में एक साथी के साथ आया और  उसकी दुकान में आकर गाली गलौच करते हुए उससे पैसे की मांग किया मना करने पर जान से मारने की धमकी दिया और उसके जेब मे हाथ डाल कर जबरदस्ती 500 रुपये लूट लिया और जाते जाते दुकान में रखे टेडी खिलौने को उठा लिया और वह वहाँ से चला गया जिसके बाद दुकान संचालक सकरी थाना पहुँच कर घटना की जानकारी दी जहाँ पर उसकी शिकायत पर अपराध पंजीबद्ध कर आरोपी की पता सजी में लगी पुलिस ने आरोपी को धर दबोच लिया और लूट का सामान और नगद उसके पास बरामद कर लिया।इसके पहले भी यह आरोपी लूट और कई बड़ी घटना को अंजाम दे चुका है जिसके खिलाफ कई मामले थाने में दर्ज है आरोपी एक निगरानी शुदा बदमाश है ।।

लड़कियों को दिल्ली भेजने वाला तस्कर गिरफ्तार- बीजापुर

Danteshwar kumar ( chintu) बीजापुर: घरेलू काम-काज करवाने नाबालिग लड़कियों को दिल्ली भेजने वाला एजेंट को गिरफ्तार किया गया है । बीजापुर पुलिस ने एजेंट को राजनांदगांव से गिरफ्तार किया । बीजापुर पुलिस ने मामले की जानकारी देते हुए कहा कि आरोपी के द्वारा अब तक 3 युवतियों को दिल्ली ले जाकर छोड़ा गया है जिसमे से सभी को पुलिस के द्वारक बीजापुर लाकर परिजनों को सौप दिया गया है। कोमला- मिंगाचल से करीब 5 युवतियों को ले जा चुका है दिल्ली। एक नाबालिक युवती की आत्महत्या के बाद हुआ था मामले का खुलासा। और युवतियो के दिल्ली में होने पुलिस जता रही आदेश। एहतियातन एक टीम दिल्ली में पतासाजी कर रही है। आरोपी के खिलाफ 353, 363 और 370 और पोस्को एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है। गिरफ्तार आरोपी संतोष कुडियम बीजापुर के दुगोली गांव का है निवासी। आरोपी पर एक नाबालिग लड़की से लैंगिक शोषण का भी है आरोप। SP दिव्यांग पटेल ने दी मामले की जानकारी।

बिलासपुर- स्कूली छात्रा को कार से लिफ्ट देकर ,मारने की दी धमकी फिर किया दुष्कर्म ...आरोपियों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

बिलासपुर- स्कूली छात्रा को कार से लिफ्ट देकर सुनसान इलाके में मारपीट व जान से मारने धमकी देकर दुष्कर्म मामले में फरार मुख्य आरोपी समेत सभी आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है, और उनके खिलाफ कार्रवाई कर रही है। बता दें, बीते 26 जनवरी को सरकंडा क्षेत्र में रहने वाली स्कूली छात्रा अपनी छोटी बहन के साथ अपने स्कूल देवकीनंदन में होने वाले सांस्कृतिक कार्यक्रम को देखकर घर लौट रही थी। जब दोनों जबड़ापारा चौक पहुंचे, तो उनके पड़ोसी दीपक सिंह ने अपनी कार में लिफ्ट देकर उसे घर छोड़ने का ऑफर दिया। उस कार में दीपक सिंह के साथ उसके कुछ दोस्त भी सवार थे। किशोरी ने साथ जाने से मना किया, लेकिन जोर देने पर वह अपनी बहन के साथ दीपक सिंह के आई10 कार क्रमांक सीजी 13 सी 3331 में बैठ गई। आरोपी दोनों स्कूली छात्राओं को घर छोड़ने की बजाय उन्हें लेकर बिरकोना क्षेत्र के सुनसान इलाके में पहुंच गए। जहां सबने चाऊमीन और कोल्ड ड्रिंक खाया। इसी बीच दीपक ने अपने दो और साथियों योगेश वर्मा और राहुल देवांगन को भी वहीं बुला लिया। इसी बीच छात्रा ने लघुशंका में जाने की बात कही तो योगेश वर्मा उसे टॉयलेट दिखाने के नाम पर पास के जर्जर मकान में ले गया, जहां उसकी नियत बिगड़ गई, और उसने स्कूली छात्रा के साथ अश्लील हरकत करना शुरू कर दिया। जब पीड़ित किशोरी ने उसे ऐसा करने से मना किया, तो योगेश ने अपना बेल्ट निकाल कर उसे मारा पीटा, और उसे डरा धमका कर उसके साथ शारीरिक संबंध बनाया। जिसके बाद उसने यह बात किसी को नहीं बताने की धमकी दी, और मौके से फरार हो गया। इस घटना के बाद कार चालक ने पीड़िता और उसकी छोटी बहन को सरकंडा पुल के पास छोड़ा और सब भाग गए। घर लौट कर पीड़ित छात्रा ने घटना का जिक्र अपने पिता और सहेली से किया। इसके बाद सरकंडा थाने में पॉक्सो एक्ट और धारा 376, 34 के तहत मामला पंजीबद्ध कर आरोपियों की तलाश शुरू की। पुलिस ने जबडापारा पुराना पुल के पास से अशोकनगर बिरकोन तक सीसीटीवी कैमरे के फुटेज चेक किए, तो उन्हें कार के लोकेशन और मालिक की जानकारी हुई, जिसके आधार पर आई 10 कार के मालिक दीपक सिंह ठाकुर को पुलिस ने सबसे पहले गिरफ्तार किया। दीपक सिंह के मोबाइल लोकेशन के आधार पर पुलिस जबड़ापारा स्थित उसके घर पहुंची, लेकिन दीपक घर से फरार था। इस बीच पुलिस को सूचना मिली, कि दीपक सिंह राजकिशोर नगर में अपने दोस्त के यहां छुपा हुआ है, और रायपुर भागने की तैयारी कर रहा है। इसके बाद पुलिस ने तत्काल घेराबंदी कर दीपक सिंह को घटना में प्रयुक्त कार के साथ धर दबोचा,नजिससे पूछताछ में अन्य आरोपियों का खुलासा हुआ। दीपक ने पुलिस को बताया, कि योगेश वर्मा, राहुल देवांगन और अन्य तीन नाबालिग दोस्तों के साथ मिलकर उन्होंने इस घटना को अंजाम दिया था, लेकिन पुलिस ने जब आरोपियों की तलाश शुरू की, तो सभी फरार हो गए। इसी बीच घटना में शामिल तीन नाबालिग आरोपी अरपा नदी के पास धर दबोचे गए, लेकिन मामले का मुख्य आरोपी योगेश वर्मा और उसका साथी राहुल देवांगन लगातार अपना लोकेशन बदल रहे थे। दोनों शातिर लगातार अलग-अलग नंबरों का भी इस्तेमाल अपने घर वालों से संपर्क में कर रहे थे, लेकिन पुलिस ने सभी पांचों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

खुटाघाट डैम में जुआ खेलते 15 जुआरी पकड़ाए 

 बिलासपुर कोटा विधानसभा, रतनपुर पुलिस द्वारा खुटाघाट डेम में जुआ खेलते 15 जुआरी  पकड़ाए  उन सभी जुआरियों से ₹31300 नगर जप्त उन सभी  के खिलाफ रतनपुर पुलिस द्वारा जुआ एक्ट के तहत कार्रवाई की जा रही है,  रतनपुर थाने से प्राप्त जानकारी के अनुसार मुखबिर से सूचना मिली कि कुटाघाट डैम के पास  जुआ खेला जा रहा है मुखबिर की सूचना पर रतनपुर पुलिस के द्वारा छापामार कार्यवाही करते हुए 15 जुआरियों सहित ₹31300 नगद जप्त  कर पकड़ कर थाने  ले आई।। रतनपुर पुलिस ने इस मामले में तालापारा निवासी कौसर अली, राजीव गांधी चौक निवासी विजय ठाकुर, खपर गंज निवासी सोनू मसीह, तोरवा निवासी महेंद्र सिंह, तेलीपारा निवासी संजय तिवारी, जूनी लाइन निवासी सुशील अग्रवाल, मगरपारा निवासी नवाब अली ,तालापारा निवासी जावेद खान, चांटीडीह निवासी मनीष तिवारी, तिफरा निवासी राजेश बोरकर, जरहाभाटा निवासी सुनील बाटवे, तिलक नगर निवासी विकास सिंह, राजेंद्र नगर निवासी आशीष राव, कुम्हारपारा निवासी सुखराम साहू और इंदु चौक में रहने वाले विवेक लक्ष्मी को गिरफ्तार किया है, जिनके खिलाफ 13 जुआ एक्ट के तहत कार्यवाही की जा रही है।

फरार आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार

जांजगीर चापा : थाना मुलमुला के अंतर्गत ग्राम अमोरा निवासी गुलाब यादव पिता दादूराम यादव को पुलिस अधीक्षक के आदेशानुसार पंचायत चुनाव के मधेनजर वर्ष 2005 से 3 मामलों के फरार स्थाई वारंटी को थाना मुलमुला द्वारा धर दबोचा गया है। मुलमुला थाना के द्वारा टीम बनाकर आरोपी को 15 वर्षों बाद गिरफ्तार किया गया जिसमें पुलिस को बडी सफलता हासिल किया गया

अवैध रूप से गांजा परिवहन करते हुए आरोपी वाहन छोड़कर भागे

पुलिस अधीक्षक महोदया नीतू कमल के आदेशानुसार, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक बलौदा बाजार निवेदिता पाल, अनुविभागीय पुलिस अधिकारी बिलाईगढ़ संजय तिवारी के कुशल मार्गदर्शन में थाना क्षेत्रों में अवैध जुआ, सट्टा, शराब के ऊपर सख्त कार्यवाही करने निर्देश दिया गया है। इसी तारतम्य में थाना प्रभारी उप निरीक्षक ओ. पी. त्रिपाठी के नेतृत्व में आज दिनांक 19/01/ 2020 को जरिए मुखबिर से सूचना मिला की एक सफेद कलर के कार में अवैध रूप से गांजा रखकर भटगांव रोड तरफ से गिधौरी शिवरीनारायण की ओर परिवहन करते आ रहा है की सूचना पर थाना प्रभारी ओ. पी. त्रिपाठी द्वारा वरिष्ठ अधिकारियों को मुखबिर के सूचना को अवगत कराते हुए एवं हमराह स्टाफ स. उ.नि. के .आर. जांगड़े प्रधान आरक्षक 175 दिलीप टोप्पो, आरक्षक 634 कार्तिकेश्वर कश्यप, आर. 66 नरेश खुटे, आर. 710 पिलेश कुर्मी, आर. 219 अनवर कुर्रे ,आर 673 मुकेश साहू के उक्त कार को गिधौरी महानदी पुल बैरियर के पास रोकने पर आरोपियों द्वारा आई 20 कार क्र. सीजी 04 एफसी 9100 को छोड़कर भाग गये उक्त वाहन को चेक करने पर एक रेडमी कंपनी का मोबाइल एवं डिग्गी खोलकर देखने पर 38 पैकेट गांजा होना पाया गया जिसे समक्ष गवाह के तौल करने पर 36 किलो 300 ग्राम मादक पदार्थ गांजा एवं वाहन को जप्त कर कब्जा पुलिस लिया गया । जप्त गांजे की कीमत 1,45,200/-रूपये आंकी गई है। फरार वाहन मालिक एवं चालक द्वारा अवैध रूप से मादक पदार्थ रखकर परिवहन करना पाए जाने से आरोपीयो के विरुद्ध धारा 20 बी नारकोटिक्स एक्ट के तहत अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। फरार आरोपियों की तलाश जारी है।