राजनीति

पूर्व मुख्यमंत्री व राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ रमन ने ली प्रेस वार्ता

Danteshwar kumar दंतेवाड़ा:- lदन्तेवाड़ा उपचुनाव पर सरकार के निर्देश पर बेलगाम अधिकारियों पर कसा तंज । रमन सिंह ने ली प्रेस वार्ता । कहा विगत तीन दिनों से भूपेश सरकार के इशारे पे जिला प्रशासन षड़यंत्र कर रही है । मुझे मेटापाल ,नकुलनार,तुमनार में सभा करने से रोका जा रहा है । भूपेश बघेल की सरकार योजनाबद्ध तरीके से काम कर रही है । हमे सभा के लिए दिल्ली चुनाव आयोग से परमिशन लेना पड़ रहा है । और पांच घंटे के धरने के बाद यह अनुमति मिलती है । बीजेपी के नेता और कार्यकर्ता अंदरूनी इलाको में प्रचार के लिए न जा सके माहौल बनाया जा रहा है वही कांग्रेसी कार्यकर्ताओं को सुरक्षा देकर अंदरूनी इलाको में प्रचार के लिए भेजा जा रहा है प्रदेश की कांग्रेस सरकार को हर मोर्चे पर फेल बताते हुए पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने जबरदस्त निशाना साधा । रमन सिंह ने कहा कि दन्तेवाड़ा नक्सल क्षेत्र होने के बाद भी भाजपा की सरकार ने यहां के बहुमुखी विकास की परिकल्पना को मूर्त रूप देते हुए काफी काम किया । फिर चाहे वह सड़कों का निर्माण हो , स्वस्थ्य योजना हो या स्वसहायता महिला समूहों के जरिये गरीब महिलाओं की आर्थिक प्रगति का काम हो । भाजपा प्रत्याशी ओजस्वी मंडावी को जीत दिलाने और जिले में ठप्प पड़े विकास कार्यों को पुनर्जीवित करने के लिए उन्होंने मतदाताओं से सहयोग की अपेक्षा की । नरवा, घुरवा योजना के कीचड़ में पशुओं के फंसने से उनकी हानि की बात करते हुए इसे एक बिना सोची समझी योजना बताया ।सुकमा के तत्कालीन कलेक्टर एलेक्स पाल में द्वारा अपनी रिहाई के लिए नक्सलियों को 50 करोड़ रुपये देने के सवाल पर डॉ रमन ने मजाकिया लहजे में कहा कि देना तो दूर उल्टा एलेक्स पाल नक्सलियों का ही खा कर आ गए आर्थिक दृष्टिकोण से उनका पारिवारिक बैकग्राउंड काफी कमजोर बताते हुए रमन सिंह ने कहा कि वो 5 रुपये भी नहीं दे सकते थे ।

शहर में दो स्थानों पर अंडरब्रिज के लिए विधायक ने रेलमंत्री को लिखा पत्र

महासमुंद। विधायक विनोद सेवनलाल चंद्राकर ने रेलमंत्री पीयूष गोयल को पत्र लिखकर महासमुंद शहर में दो स्थानों पर अंडरब्रिज निर्माण के लिए पत्र लिखा है। विधायक श्री चंद्राकर ने कहा कि अंडरब्रिज निर्माण होने से ट्रैफिक समस्या से मुक्ति मिल सकेगी। विधायक श्री चंद्राकर ने केंद्रीय रेल मंत्री श्री गोयल को पत्र लिखकर महासमुंद शहर के दो स्थानों शंकर नगर वार्ड नं 1 तिवारी हाॅस्पिटल के पीछे तथा दलदली रोड रेलवे स्टेशन के आगे अंडरब्रिज निर्माण की स्वीकृति दिलाने की मांग की है। उन्होंने पत्र में बताया है कि मेन रोड में ट्रैफिक का दबाव अधिक रहता है जिसके कारण लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। लिहाजा दोनों स्थानों पर अंडर ब्रिज निर्माण की आवश्यकता है। इसके लिए लंबे समय से भी मांग की जा रही है। वैसे भी शहर व रायपुर की ओर जाने के लिए एकमात्र तुमगांव रोड से ही जाया जा सकता है। इस परेशानी को इमलीभाठा व दलदली मार्ग पर रेलवे अंडरब्रिज बनाकर दूर किया जा सकता है।

उप चुनाव दंतेवाड़ा विधानसभा क्षेत्र के ग्राम पंचायतों में ग्रामीणों के बीच पहुंचे बस्तर महाराजा श्री कमलचंद्र भंजदेव

बस्तर महाराजा को देख ग्रामीणों में उत्साह का माहौल..

Danteshwar kumar (Chintu)

दंतेवाड़ा:- ग्राम वासियो को संबोधित करते हुए महाराजा कमलचंद्र भंजदेव ने कहा आप लोग मेरे परिवार हो अगर आपको कस्ट होती है तो मुझे भी कस्ट होता है।कांग्रेस की सरकार ने चना से लेकर नमक तक बंद किया आयोडीन की कमी से बच्चे कुपोषण में जासकते है।श्री महाराज ने कांग्रेस को तंज कसते हुए कमल फूल में बटन दबाकर श्रीमती ओजस्वी भीमा मंडावी को भारी मतों से विजय बनाने की लोगो से अपील की..साथ में जिला पंचायत सदस्य विनायक गोयल, ने भी अपने उदबोदन मे पिछले डॉ रमन सिंह की सरकार विकास शिक्षा रोजगार बिजली सड़क और ऐसी कई उपलब्धि को देखते हुए एवं अभी की कांग्रेस सरकार की कार्य को देखते हुए ग्राम वासियो को बीजेपी में वोट डालने के लिए आह्वान किया..इस प्रचार के कार्यक्रम में मौजूद बस्तर जिला पंचायत सदस्य मनीराम कश्यप,ने भी बीजेपी में वोट डालने की बात कही,तोकापाल मण्डल महामंत्री विजय भारद्वाज, गणेश यादव,राहुल ठाकुर, कई नेता उपस्थित थे।एवं प्रवीर शेना के कार्यकर्ता भी इस उप चुनाव के प्रचार में मौजूद थे।

विकसित दंतेवाड़ा की नींव रखने के लिए भाजपा के पक्ष में वोट करें जनता....बाफना

Danteshwar kumar (Chintu)

दंतेवाड़ा: जिले में उप चुनाव प्रचार के जोर पकड़ने से सभी की नजर सत्तारूढ़ कांग्रेस और मुख्य विपक्षी दल भाजपा पर टिक गई है । प्रदेश में चुनाव अमूमन दोनों पार्टियों के बीच हुए हैं , ऐसे में तीसरा मोर्चा या छोटे दल चुनाव परिणाम पर कोई खास असर नहीं डाल पाए हैं । मुख्य विरोधी भाजपा, सत्तारूढ़ दल कांग्रेस के खिलाफ मोर्चाबंदी में जुट चुकी है। दंतेवाड़ा उपचुनाव के प्रचार में किसी भी प्रकार की कोई कमी न रह जाए इसके लिए प्रदेश भाजपा ने अपने मौजूदा विधायकों के साथ प्रदेश के तमाम दिग्गजों को मैदान में उतार दिया है। जगदलपुर विधानसभा के पूर्व विधायक संतोष बाफना भी अपनी ओर से भाजपा प्रत्याशी के प्रचार के समर्थन में किसी भी प्रकार की कमी ना रह जाए इसके लिए श्री बाफना ने दंतेवाड़ा में ही स्थाई रूप से डेरा डाल दिया है । बाफना अपने प्रभार के ग्रामीण क्षेत्रों में डोर टू डोर प्रचार करके भाजपा के पक्ष में वोट मांग रहे हैं । भाजपा प्रत्याशी श्रीमती ओजस्वी मंडावी के लिए घर-घर प्रचार करते हुए एवं ग्रामीण क्षेत्र के पोलिंग बूथ में उपस्थित ग्रामीण जनों एवं कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए श्री बाफना ने कहा कि आप सभी ने जो प्यार और आशीर्वाद 5 वर्षों के लिए दंतेवाड़ा के लाडले बेटे को दिया था अब वही आशीर्वाद श्रीमती ओजस्वी मंडावी को देना है। इस बार आप सिर्फ वोट नहीं डालने वाले , बल्कि एक विकसित दंतेवाड़ा की नींव रखने वाले हैं। दंतेवाड़ा को विकास की पटरी पर लाने का काम जिस प्रकार भीमा मंडावी जी ने किया था आज वैसे ही नेतृत्व की दंतेवाड़ा और यहां की जनता को आवश्यकता है, और ऐसा नेतृत्व सिर्फ श्रीमती ओजस्वी मंडावी ही दे सकती हैं। इस प्रचार अभियान के दौरान विपक्षी दल के लोग भी आपके पास आएंगे , आपका भी कर्तव्य है कि उनसे सवाल पूछे , क्यों 70 वर्षों तक हमें बिजली, पानी, राशन ,स्वास्थ्य मूलभूत सुविधाओं से वंचित रखा । श्री बाफना ने केंद्र सरकार की जन कल्याणकारी योजनाओं को प्रदेश में लागू न करने पर कांग्रेस सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि वर्तमान सरकार आए दिन कर्ज लेकर प्रदेश को कर्ज के तले दबाने का काम कर रही है, किंतु प्रदेश की जनता को राहत देना तो दूर बल्कि लोगों के कल्याण के लिए बनाई गई योजनाओं पर पाबंदी लगाने का काम बदस्तूर जारी है । ऐसी ही एक महत्वपूर्ण योजना आयुष्मान भारत योजना जिसकी शुरुआत ही छत्तीसगढ़ प्रदेश से हुई इस योजना के आने से छत्तीसगढ़ प्रदेश के गरीबों को यह विश्वास था कि, अब पैसों की कमी बेहतर स्वास्थ्य के आड़े नहीं आएगी। मुफ्त इलाज लाखों परिवारों को बीमारी के साथ-साथ भीषण गरीबी से बचा रहा था उस पर भी पाबंदी लगाकर कांग्रेस की सरकार ने अपनी मंशा व्यक्त करते हुए यह साबित कर दिया कि वह कभी गरीबों की हितैषी नहीं हो सकती। ग्रामीण क्षेत्रों के पोलिंग बूथों पर बैठक लेने के पश्चात पूर्व विधायक श्री बाफना ने गीदम साप्ताहिक बाजार में प्रत्येक दुकानदार व आम जन से मिलकर भाजपा प्रत्याशी के लिए समर्थन मांगा। इस प्रचार अभियान के दौरान सर्वश्री जिलाध्यक्ष अभिमन्यु सोनी ,मनीष सुराना, रमेश डागा, अनिल जॉर्ज , राकेश कुशवाह, संतोष गुप्ता , राहुल असरानी, सुभाष यादव , मनोज गुप्ता, श्रीकांत राव , राजा गुप्ता, राजेंद्र, अर्जुन, अजय अवस्थी , मोहन वटी , श्याम सिंह , संतोष त्रिपाठी, संग्राम सिंह राणा, रूपेश जैन और बड़ी संख्या में भाजपा के कार्यकर्ता उपस्थित थे।

उपचुनाव के स्टार प्रचारक के रूप में उभरे पीसीसी अध्यक्ष मोहन मरकाम

बी बी एन 24 शैलेश गुप्ता

छत्तीसगढ़ (दंतेवाड़ा) । नक्सल हमले में शहीद हुए भाजपा विधायक के मौत के बाद ख़ाली हुए दंतेवाड़ा विधानसभा सीट पर उपचुनाव में कांग्रेस व भाजपा समेत अन्य दलों ने भी भारी ताकत छोंक रखी है।

परंतु प्रदेश कांग्रेस कमेटी के नवनियुक्त अध्यक्ष व कोंडागांव विधायक ने इस उपचुनाव में अपनी धुंवाधार प्रचार व रणनीति के चलते विरोधियों की नींद उड़ा रखी है।

आपको बतादेकि मोहन मरकाम के प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बनने के बाद उनके नेतृत्व में राज्य में यह पहला चुनाव है, जहां उनके नेतृत्व में पार्टी के प्रदर्शन के बाद उनकी नेतृत्व क्षमता पर भी सवाल या वाहवाही मचनी तय है।

परंतु कोंडागांव विधानसभा क्षेत्र से लगातार दूसरी बार विधायक बने मोहन मरकाम की नेतृत्व क्षमता की संगठन के साथ विरोधियों के दल के समर्थकों के मन में भी उनके प्रचार के तरीके की तारीफ़ हो रही है।

आपको अवगत करा देंकि इस चुनाव के परिणाम से आगामी नगरीय निकाय व पंचायत चुनाव पर भी असर पड़ने का असार है।

लोकतंत्र की दुहाई देने वाले भाजपा के नेताओ का असली चेहरा हुआ बेनकाब- लालू राठौर

डॉ रमन सिंह व अजीत जोगी का ज़िलेभर के कांग्रेसियो ने किया पुतला दहन, नान घोटाला एव अंतागढ़ टेप कांड को लेकर कांग्रेसियों ने की जमकर नारेबाजी

Danteshwar kumar (chintu)

बीजापुर: प्रदेश के अंतागढ़ विधानसभा उपचुनाव में हुई लोकतंत्र की हत्या मामले में मंतुराम पवार और नागरिक आपूर्ति निगम (नान) भ्रष्टाचार मामले में शिवशंकर भट्ट के बयान में प्रदेश के दो पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह और अजित जोगी का नाम आने से स्पष्ट हो गया है कि उक्त दोनों मामलों में दो पूर्व मुख्यमंत्रीयों की संलिप्तता उजागर हुई है कांग्रेस पार्टी संघटन हमेशा से प्रकरण की जांच की मांग करते आ रही है जांच प्रक्रिया के आगे बढ़ने से जैसे जैसे खुलासा हो रहा है जिससे तिलमिलाए दोनों पूर्व मुख्यमंत्रीयों द्वारा हास्यास्पद बयान दे रहे है और दोनों नेता अपनी अपनी पार्टी भाजपा और जनता कांग्रेस जे का चेहरा है। और दोनों प्रकरण में उनका चाल चरित्र उजागर हुआ है। भ्रष्टाचार और लोकतंत्र की हत्या में दोनों की संलिप्तता उजागर हुई है।

राज्य कांग्रेस सरकार पर उक्त दोनों पूर्व मुख्यमंत्रीयों द्वारा किये जा रहे अनर्गल बयान बाजी को गम्भीरता से लेते हुए छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष मोहन मरकाम ने समस्त ज़िला/शहर, नगर/ब्लॉक कांग्रेस कमेटी मुख्यालय में दो पूर्व मुख्यमंत्रीयों का पुतला दहन किये जाने का निर्णय लिया गया था। उक्त निर्णय के तारतम्य में ज़िला मुख्यालय बीजापुर के साथ साथ ब्लॉक मुख्यालयो क्रमशः भोपाल पटनम, भैरमगढ़, अवापली, बीजापुर में पुतला दहन कर जमकर नारेबाजी की। इसी दौरान जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष श्री लालू राठौर ने भाजपा पर तंज कसते हुए कहा कि "*लोकतंत्र की दुहाई देने वाले भाजपा के नेताओ का असली चेहरा उजागर हो गया है, अब भाजपा के मुँह से लोकतंत्र शब्द कहना शोभा नही देता। "* पुतला दहन कार्यक्रम में मुख्य रूप से बस्तर क्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण की सदस्य श्रीमती नीना रावतीया उद्दे, ज़िला पंचायत उपाध्यक्ष शंकर कुड़ियाम, ज़िला कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता श्री ज्योति कुमार, ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष हुखमी चन्द्र खत्री, आई टी सेल महासचिव प्रवीण उद्दे, नगर के पार्षद प्रवीण डोंगरे, कलाम खान, महेश बेलसरिया, युवा कांग्रेस अध्यक्ष एजाज खान, श्यामू गुप्ता, आनद नक्का, ऋषभ बघेल, मुकेश देवांगन, सदाशिव राणा, जितेंद्र हेमला, इमरान खान, अंजीव यादव, अभिजीत ठाकुर के अलावा बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता उपस्थित थे।

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के आहवान पर मानव मंदिर चौक पर पुर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह और पुर्व मुख्यमंत्री अजित जोगी का पुतला दहन

सूर्यकान्त यादव :

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के आहवान पर जिला कांग्रेस कमेटी और शहर कांग्रेस कमेटी ने मानव मंदिर चौक पर पुर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह और पुर्व मुख्यमंत्री अजित जोगी का पुतला दहन किया...कांग्रेस भवन से कांग्रेसी पुतला लेकर निकले और मानव मंदिर चौक मे दोनो पुर्व मुख्यमंत्री के खिलाफ जमकर नारे बाजी की और दोनो मुख्यमंत्री के मुर्दाबाद के नारे लगाये....पुर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह के विधान सभा क्षेत्र राजनांदगाँव मे कांग्रेसीयो ने अपनी ताकत दिखाई और यहा जमकर नारेबाजी की....पुर्व मुख्यमंत्री अजित जोगी का नाम अंतागढ टेप कांट मे सामने आने का आरोप लगाकर उनका पुतला दहन किया गया और पुर्व मुख्यमंत्री का नाम नान घोटाले मे आने पुर रमन सिंह का भी पुतला कांग्रेसीयो द्वारा दहन किया गया....दोनो पुर्व मुख्यमंत्री पर कांग्रेसीयो ने लोक तंत्र की हत्या करने और अपने ताकत का गलत उपयोग करने का भी आरोप लगाया.....

भाजपा का घोटाला, भाजपा के कार्यकाल में ही खुला था, कांग्रेस तो जांच आगे बढ़ा रही है।

रायपुर/14 सितंबर 2019। नान घोटाला रमन सिंह जी के मुख्यमंत्री रहते हुए भाजपा सरकार में हुआ। नान घोटाले को रमन सिंह के समय ही एंटी करप्शन ब्यूरो (एसीबी) ने पकड़ा। अभियुक्तों की गिरफ्तारी भी उसी समय हुई। उसी समय जप्त डायरी से पता चला कि पैसा सीएम, सीएम मैडम और ऐश्वर्या रेसीडेंसी में जाता था। अब एक व्यक्ति शिवशंकर भट्ट ने अदालत में शपथपूर्वक बयान देकर जो बातें कहीं है, वे नान घोटाले की भयानकता को दर्शाती है। अनुमान लगाया गया था कि कुल 36000 करोड़ रूपये का नान घोटाला हुआ है लेकिन शिवशंकर भट्ट के बयान से लगता है कि घोटाला कहीं बड़ा था। बयान में भारतीय जनता पार्टी कार्यालय, तत्कालीन मुख्यमंत्री रमन सिंह के घर पर और दूसरे भाजपा नेताओं के घर पैसा पहुंचाने के विवरण दिए गए हैं। इस बयान से साबित हो गया है कि डायरी में दर्ज सीएम रमन सिंह ही थे, सीएम मैडम उनकी पत्नी वीणा सिंह ही थीं। कांग्रेस उम्मीद करती है कि इस बयान के बाद नए सिरे से जांच की जाएगी और सच सामने आएगा। पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह जी ने अंतागढ़ मामले में मंतूराम पवार और नान के मामले में शिवशंकर भट्ट के बयान पर हास्यास्पद प्रतिक्रिया दी है। वे कह रहे हैं कि काग्रेंस की सरकार दबाव डालकर बयान दिलवा रही है। सच यह है कि दोनों मामले भाजपा सरकार के दौरान ही दर्ज हुए थे। कांग्रेस विपक्ष में रहते हुए जो आरोप लगा रह थी, उसके सबूत भी एक-एक करके मिल रहे थे। सच यह है कि भाजपा सरकार ने दबाव डालकर सच को सामने आने से रोक रखा था। अब जब सरकार बदली है और यह विश्वास हो गया है कि अब भाजपा के नेता किसी तरह से कोई नुक़सान नहीं पहुंचा सकते तो सच सामने आ रहा है। मंतूराम पवार और शिवशंकर भट्ट के बयान बताते हैं कि दोनों पर कितना दबाव पूर्ववर्ती सरकार का रहा होगा। रमन सिंह जी दरअसल डरे हुए हैं कि इन दोनों बयानों के बाद शेष मामलों में भी लोग खुलकर सामने आने लगे तो उनके कार्यकाल के सारे घोटालों का सच सामने आ जाएगा। जैसा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी ने विधानसभा में कहा था, अभी तो कुछ फ़ाइलों की धूल झाड़ी गई है, अभी नई जांच तो बाक़ी है। रमन सिंह सच जानते हैं और यह भी जानते हैं कि अगर सच सामने आए तो उनका क्या हश्र होगा।

उपचुनाव में भाजपा हार का बहाना ढूँढने तरह तरह के हथकंडे अपना रही है - विक्रम शाह मंडावी

Danteshwar kumar (chintu)

बीजापुर- पूर्व वन मंत्री महेश गागड़ा के बयान पर प्रति क्रिया देते हुए बीजापुर के विधायक एवं बस्तर क्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष विक्रम शाह मंडावी ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा कि शाहिद महेंद्र कर्मा जी एवं उनका पूरा परिवार दंतेवाड़ा के साथ साथ पूरे बस्तर सम्भाग भर में हमेशा लोगों के सेवा में लगी रहती है यही कारण है की इस परिवार के साथ लोगों का लगाव हमेशा रहा है, इस बात को सिवाय महेश गागड़ा को छोड़ सभी मानते है। जिस ऑडीओ को महेश गागड़ा ने पेश कर राजनीति करने का प्रयास किया है इससे उनकी कमज़ोर सोच व कमज़ोर मानसिकता उजागर होती है, वास्तव में वे विधानसभा चुनाव 2018 में हुए अपनी हार को आज तक पचा नही पा रहे है और अब दंतेवाड़ा में चटपटा रहे है, इसलिए वे शाहिद कर्मा जी के परिवार पर उलजुलूल आरोप लगा रहे है, इससे ये तो साबित होता है कि उन्हें लोकतंत्र पर भरोसा नही है, इसलिए वे सस्ती राजनीति करने के लिए तरह तरह के बयानबाज़ी कर रहे है कि "किस तरह हार का टिकरा शाहिद कर्मा परिवार और कांग्रेस पार्टी पर डाला जाय" इसका बहाना ढूँढने में लगे हुए है और ख़बरों में कैसे बने रहे इसमें लगे हुए है। भाजपा और उसके मंत्रीयों ने लगातार पंद्रह साल भ्रष्टाचार किया और अंतागढ उपचुनाव में लोकतंत्र की हत्या करवा दी तब उन्हें लोकतंत्र की याद नही आई। भाजपा के नेताओं का सिर्फ़ एक ही काम बाक़ी है कि किसी भी तरह लोगों को गुमराह करो, लोगों के बीच में झूठ पे झूठ फैलाओ, लोगों को ठगो और किसी तरह अपना काम निकालो। लेकिन जनता भाजपा की क़तनी और करनी को अच्छी तरह समझती है। साथ ही भाजपा को सलाह देते हुए कहा कि भाजपा के लोग घर घर जाए और लोगों से माफ़ी माँगे की हम लोगों ने आप लोगों से झूठ बोला था। प्रदेश के यशस्वी मुख्य मंत्री व किसान पुत्र माननीय भूपेश बघेल जी के निर्णयों से प्रदेश के हर व्यक्ति ख़ुशहाल है मुख्यमंत्री जी का हर निर्णय एतिहासिक है जिसकी चर्चा भारतवर्ष में हो रही है और लोगों में एक नही उम्मीद जागी है, दन्तेवाड़ा का उपचुनाव कांग्रेस की उम्मीदवार श्रीमती देवती कर्मा भारी मतो से जीत रही है।

नाॅनबजटेड कार्यो में होगा डीएमएफ का उपयोग - प्रभारी मंत्री टी एस सिंहदेव।

शासी परिषद की बैठक संपन्न 140 करोड़ के कार्यो का अनुमोदन जांजगीर-चांपा छत्तीसगढ़ शासन के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री एवं जिले के प्रभारी टीएस सिंहदेव ने कहा कि डीएमएफ मद का उपयोग केवल नाॅनबजटेड कार्यो के लिए किया जायेगा। शासकीय योजनाओं के गेप की फिलिंग के लिए इस फण्ड का उपयोग किया जायेगा। जिला खनिज न्यास मद के सदस्यों से चर्चा कर प्राथमिकता के आधार पर कार्य स्वीकृत किये जाएंगे। बड़े एवं दीर्घकालीन कार्यो के लिए तीन अथवा पांच साल की कार्ययोजना भी तैयार की जायेगी। प्रभारी मंत्री श्री सिंहदेव ने उक्त बाते आज कलेक्टर कार्यालय के सभाकक्ष में आयोजित जिला खनिज न्यास मद के शासी परिषद की बैठक में कही। शासी परिषद के सदस्यों द्वारा कुल 140 करोड़ रूपये के कार्यो का अनुमोदन किया गया। बैठक में छत्तीसगढ़ विधानसभा के अध्यक्ष डाॅ चरणदास महंत, जांजगीर-चांपा विधायक श्री नारायण प्रसाद चंदेल, जैजैपुर विधायक श्री केशव चन्द्रा, चन्द्रपुर विधायक श्री रामकुमार यादव, पामगढ़ विधायक श्रीमती इन्दु बंजारे, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री नंदकिशोर हरबंश, नगर पालिका चांपा के अध्यक्ष श्री राजेेश अग्रवाल, सक्ती नगर पालिका के अध्यक्ष श्री श्यामसुंदर अग्रवाल, पुलिस अधीक्षक श्रीमती पारूल माथुर सहित संबंधित विभाग के अधिकारी उपस्थित थे। कलेक्टर श्री जनक प्रसाद पाठक एवं जिला पंचायत के सीईओ श्री तीर्थराज अग्रवाल ने डीएमएफ से संबंधित प्राप्त प्रस्तावों की विस्तृत जानकारी प्रस्तुत की। प्रभारी मंत्री ने कहा कि डीएमएफ मद के लिए राज्य सरकार के नये निर्देशों का कड़ाई से पालन किया जायेगा। न्यास द्वारा संपादित कार्यों की सोशल आडिट एवं महालेखाकार आडिट कराई जाएगी। जिले के 234 गांव खदानों से प्रत्यक्ष प्रभावित हैं एवं 648 गांवों को अप्रत्यक्ष प्रभावित गांव की श्रेणी में रखा गया है। कुल बजट का 50 प्रतिशत राशि प्रत्यक्ष प्रभावित गांवो में और 50 प्रतिशत राशि अप्रत्यक्ष प्रभावित गांवों में उपयोग किया जायेगा। विशेष परिस्थिति में शासी परिषद् के पूर्वानुमोदन से प्रत्यक्ष प्रभावित का 10 प्रतिशत राशि अप्रत्यक्ष क्षेत्र में व्यय किया जा सकेगा। श्री सिंहदेव ने बताया कि राज्य सरकार के निर्देशानुसार कुल बजट का 60 प्रतिशत उच्च प्राथमिकता क्षेत्र मंे एवं 40 प्रतिशत अन्य प्राथमिकता वाले कार्यों पर व्यय किया जाना है। प्रभारी मंत्री ने बड़ी संख्या में जिले के युवाओं का सेना में चयन होने पर प्रशंसा की। युवाओं के सेना में भर्ती के प्रति रूचि को प्रोत्साहित करने के लिए प्रशिक्षण हेतु कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिये। जिले के अन्य क्षेत्रों में भी परीक्षा पूर्व प्रशिक्षण केन्द्र प्रारंभ करने के लिए भी प्रस्ताव रखा गया। कौशल विकास से प्रशिक्षित युवाओं को प्राथमिकता के साथ स्वरोजगार के लिए ऋण उपलब्ध कराने एवं अन्य रोजगार में नियोजित करने के लिए डीएमएफ मद का उपयोग करने पर भी चर्चा की गई। जिले के असिंचित क्षेत्रों में ंिसंचाई सुविधा उपलब्ध कराने के लिए नये पम्प कनेक्शन, काडा नाली निर्माण आदि के भी प्रस्ताव तैयार करने को कहा गया। इसके अलावा शासन की योजना से वंचित दिव्यांगों को प्राथमिकता के अनुसार कृत्रिम अंग उपलब्ध करवाने के लिए भी प्रस्ताव तैयार करने कहा गया। खिलाड़ियों की रूचि के अनुसार जिला मुख्यालय में खेल अकादमी गठन करने पर भी चर्चा की गई।

पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह और राजेश मूणत पर अब तक भाजपा ने कार्यवाही क्यों नहीं की? - शैलेश नितिन त्रिवेदी

रायपुर/11 सितंबर 2019। अंतागढ़ मामले में मंतूराम पवार के निष्कासन के बाद भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विक्रम उसेंडी के बयान पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुये प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री और संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि दोनों ही भाजपा नेताओं रमन सिंह और राजेश मूणत ने भाजपा की बी टीम के साथ मिलकर लोकतंत्र की हत्या की। भाजपा बतायें कि मंतूराम पवार द्वारा अदालत में धारा 164 के तहत दिये गये कलमबद बयान के बाद भाजपा पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह और पूर्व मंत्री राजेश मूणत पर अनुशासनात्मक कार्यवाही अब तक क्यों नहीं की? पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह के ऊपर पैसों के लेनदेन का, पुलिस से दबाव डाल कर नाम वापसी का आरोप मंतूराम पवार ने लगाया तो भाजपा ने मंतूराम को तो पार्टी से निकाल दिया, लेकिन पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह और पूर्व मंत्री राजेश मूणत से इन गंभीर आरोपों पर सफाई मांगने की जरूरत तक भी क्यों नहीं समझी? दोनों भाजपा नेताओं रमन सिंह और राजेश मूणत पर भाजपा द्वारा कोई कार्यवाही नहीं करने का मतलब साफ है अंतागढ़ में लोकतंत्र की हत्या में पूरी भाजपा भी भाजपा की बी टीम के साथ शामिल थी। प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री और संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि अंतागढ़ उपचुनाव में भाजपा सरकार द्वारा सत्ता बल के दुरूपयोग का जीताजागता उदाहरण कांकेर में देखने को मिला था, जब तत्कालीन प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल को होटल में नजरबंद किया गया, सुरक्षा के नाम पर रमन सिंह सरकार की पुलिस द्वारा मिलने जुलने वालों पर नजर रखी गयी होटल की बिजली रातभर काट दी गयी। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव पंकज महावर के घर रात 03.30 बजे धमतरी और कांकेर के पुलिस बल ने 20-25 गुण्डों और 40-50 कमांडों के साथ आक्रमण किया। दीवार लांघकर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव पंकज महावर के घर का दरवाजा तोड़ा गया। 6 निर्दलीय प्रत्याशियों को बंदूक की नोक पर पुलिस और इन असामाजिक तत्वों के साथ अपहरण करके ले जाया गया और नाम वापसी करवायी गयी। पुलिस खाकी वर्दी में भाजपा कार्यकर्ताओं की तरह आचरण कर रही है और गुण्डों की मदद कर रही है। प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री और संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि भारतीय जनता पार्टी ने अंतागढ़ उपचुनाव में हारने की डर से आतंक दबाव और खरीद फरोख्त की राजनीति कर इस प्रकार की घटनाओं को अंजाम दिया था। अंतागढ़ में भाजपा लोकतंत्र की हत्या की गुनहगार थी और है। कांग्रेस उम्मीदवार मंतूराम पवार को देखकर निर्दलीयों ने नाम वापस ले लिया जैसे बातें करके भाजपा के तत्कालीन प्रदेश अध्यक्ष धरमलाल कौशिक भाजपा के पाप की गठरी को हल्का करने का असफल प्रयास किया था। भाजपा द्वारा सब कुछ अंतागढ़ उपचुनाव को पैसे से प्रभावित करने के लिये इस तरह के हरकते की है। भाजपा का अंतागढ़ का उपचुनाव हारना तय हो चुका था। दर्जन भर निर्दलीयों की नाम वापसी इस बात का जीताजागता सबूत था कि मंतूराम पवार के नाम वापसी के लिये तर्क और नाम वापसी के लिये बताये गये कारण पूरी तरह से गलत था। समर्थकों के आपस विवाद के कारण नाम वापसी का थोथा तर्क भाजपा ने दिया था। क्या भाजपा निर्दलियों के समर्थकों में भी आपसी विवाद की बात कहकर इतनी बड़ी संख्या में निर्दलीय उम्मीदवारें की नाम वापसी के औचित्य को साबित करती? निर्दलीय प्रत्याशीगणों को पुलिस प्रशासन के कब्जे में लेकर दबाव डालकर नाम वापस करवा लिया गया। राज्य की भाजपा सरकार के इस कृत्य से निश्चित रूप से अंतागढ़ विधानसभा उपचुनाव निष्पक्ष व पारदर्शी संपन्न होना संभव ही नहीं रह गया था। अंतागढ़ उपचुनाव में राज्य की सत्तारूढ़ भाजपा सरकार चुनाव में तय शुदा हार से बचने के लिये अपने सरकारी संसाधनों का भरपूर दुरूपयोग किया था। पुलिस प्रशासन के माध्यम से सरकार उम्मीदवारों को भय, दबाव और प्रलोभन देकर प्रत्याशियों पर नाम वापसी हेतु दबाव बनाया गया था। अंतागढ़ उपचुनाव के संदर्भ में शिकायत लेकर भारत निर्वाचन आयोग नई दिल्ली में कांग्रेस के एक प्रतिनिधिमंडल ने 2 सितंबर 2014 को दोपहर 12 बजे मुलाकात की थी। इस प्रतिनिधिमंडल में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल, कांग्रेस विधायक दल के नेता टी.एस. सिंहदेव, प्रदेश कांग्रेस सचिव पंकज महावर और कांकेर जिला अध्यक्ष नरेश ठाकुर शामिल थे।

मिलिये मंत्री से कार्यक्रम में उच्च एवं तकनीकी शिक्षा मंत्री उमेश पटेल 12 सितम्बर को राजीव भवन में कांग्रेसजनों से मिलेंगे

रायपुर/11 सितंबर 2019। 12 सितंबर 2019 गुरूवार को मिलिये मंत्री से कार्यक्रम में उच्च एवं तकनीकी शिक्षा मंत्री उमेश पटेल दोपहर 3 बजे से राजीव भवन में बैठेंगे। इस दौरान मंत्री उमेश पटेल अपने विभाग से संबधित समस्याओं का कांग्रेस के कार्यकर्ताओं, पदाधिकारियो और जनसामान्य से मुलाकात कर प्राप्त शिकायत एवं सुझाव पर आवश्यक कार्यवाही करेंगे।

मंत्री ताम्रध्वज साहू के नगर आगमन पर जाँजगीर मोड़ अकलतरा में विधानसभा युवा कांग्रेस के अध्यक्ष अविनाश साहू के नेतृत्व में किया गया स्वागत

A REPORT BY : YASH KUMAR LATA

छत्तीसगढ़ शासन के गृह, जेल, लोकनिर्माण, पर्यटन एवं धार्मिक न्यास विभाग के मंत्री ताम्रध्वज साहू का 9 सितंबर को माता कर्मा भवन भूमि पूजन एवं छत्तीसगढ़ गौरव अवार्ड 2019 शिक्षक सम्मान समारोह में अकलतरा नगर आगमन हुआ। नगर आगमन के पूर्व जाँजगीर मोड़ अकलतरा में अकलतरा विधानसभा युवा कांग्रेस के अध्यक्ष अविनाश साहू के नेतृत्व में स्वागत किया गया। इस अवसर पर जिला युवा कांग्रेस के उपाध्यक्ष मून शफिक़, प्रशांत शर्मा, युकां उपाध्यक्ष दीक्षांत चन्द्राकर, महासचिव राजेश्वर कश्यप, उमेश पटेल, आयुष पाण्डेय, अभिजीत सोनवानी, विजय यादव, विकास भारद्वाज, योगेश पाटले, अजय टंडन, अभिषेक, सुरज, मनोज टंडन, विवेक, चन्द्र्हास केवट, नवीन लहरें सहित युवा कांग्रेसी उपस्थित थे।

निरक्षरों को साक्षर बनाना हमारी सबसे बड़ी जिम्मेदारी, बच्चों का भविष्य गढ़ने सभी का सहयोग आवश्यक - मुख्यमंत्री

Danteshwar kumar (chintu)

बीजापुर :- मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मासिक रेडियो कार्यक्रम ‘लोकवाणी’ की दूसरी कड़ी में प्रदेशवासियों को सम्बोधित करते हुए सभी को विश्व साक्षरता दिवस की बधाई दी और कहा कि प्रदेश के सभी लोग साक्षर हो, आज हम यह संकल्प लेते है। उन्होंने कहा कि राज्य की 25 फीसदी आबादी निरक्षर है। इन्हें साक्षर बनाना हमारी सबसे बड़ी जिम्मेदारी है। उन्होंने अपने लोकवाणी कार्यक्रम के माध्यम से साक्षर एवं सक्षम लोगों से इसमें योगदान की अपील की।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने जनसामान्य के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि शिक्षा को बेहतर बनाने के संबंध में बड़े निर्णय लिए जा रहे है। सवा लाख शिक्षाकर्मियों का संविलियन किया गया है। शेष शिक्षाकर्मियों का संविलियन भी नियमानुसार समयावधि पूरा होने पर किया जाएगा। उन्होंने राज्य में 15 हजार नियमित शिक्षकों के भर्ती की भी बात कही। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के लोकवाणी कार्यक्रम को सामूहिक रूप से सुनने की व्यवस्था जनपद कारयालय बीजापुर के सभाकक्ष में की गई थी। कलेक्टर श्री के डी कुजाम, जनपद पंचायत अध्यक्ष सहित अन्य अधिकारी कर्मचारी, गणमान्य नागरिक एवं बड़ी संख्या में विद्यार्थी उपस्थित थे। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कहा कि राज्य में शिक्षा का अधिकार कानून को विस्तारित किया गया है। इस कानून के तहत 12वीं कक्षा तक निःशुल्क शिक्षा के अधिकार का विस्तार किया गया है। श्री बघेल ने कहा कि आरक्षण सामाजिक न्याय की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम साबित होगा। लोकवाणी कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने बताया कि प्रदेश में शिक्षकों की नियमित भर्ती की प्रक्रिया शुरू की गई है। कॉलेजों में भी डेढ़ हजार प्राध्यापकों की भर्ती होगी। युवाओं को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि युवाओं में उद्यमिता का विकास और प्रोत्साहन हमारी सबसे बड़ी प्राथमिकता है। मुख्यमंत्री बघेल ने इस कड़ी में पूछे गए सवालों का जवाब देते हुए कहा कि उनकी सरकार ने 18 साल में पहली बार शिक्षाकर्मियों को ट्रांसफर की सुविधा दी है। राज्य में 1 लाख 45 हजार शिक्षाकर्मी हैं, जिसमें से 1 लाख 25 हजार का संविलियन कर लिया गया है। शेष का संविलियन भी निर्धारित समय-सीमा, उनकी 8 साल की सेवा पूरी होने पर हो जाएगा, जहां तक 15 हजार शिक्षकों की भर्ती का मामला है, तो मैं आपको बताना चाहता हूं, इसमें कहीं कोई दिक्कत नहीं है। व्यापम द्वारा परीक्षा ली जा चुकी है। परिणाम आते ही यह कार्य आगे बढ़ाया जाएगा। मैं आप सब से आग्रह करता हूँ कि अब अपना 100 प्रतिशत योगदान देकर बच्चों का भविष्य बनाने में जुट जाएं। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने लोकवाणी में अतिथि शिक्षकों, शिक्षा मितान, शिक्षा मित्र जैसी योजनाओं के बारे में भी पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए बताया कि हमारी सरकार ने आते ही, एक ओर तो नियमित भर्ती की प्रक्रिया शुरू की, वहीं दूसरी ओर प्लेसमेंट एजेंसियों की दुकानदारी बंद की। उन्होंने कहा कि हमने कॉलेजों में लगभग डेढ़ हजार प्राध्यापकों की कमी पूरा करने के लिए प्रक्रिया शुरू की थी, लेकिन माननीय हाईकोर्ट से स्टे हो जाने के कारण कार्यवाही रूक गई है। माननीय हाईकोर्ट में शासन का पक्ष रखने प्राथमिकता से कार्यवाही की जा रही हैं। मुख्यमंत्री ने एक सवाल के जवाब में बताया कि छत्तीसगढ़ देश का सबसे पहला राज्य बन गया है, जिसमें शिक्षा का अधिकार कानून को विस्तार दिया है। राज्य सरकार सभी बच्चों और विशेषकर बालिका शिक्षा के लिए प्रतिबद्ध है। लोकवाणी कार्यक्रम सुनने के पश्चात् कलेक्टर कुजाम ने उपस्थित जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों से इस संबंध में उनके विचार जाने और उनसे लोकवाणी कार्यक्रम की अगली कड़ी के लिए विषय के संबंध मे सुझाव मागे ।

राजेश सोनी बनाये गए स्वर्णकार युवा क्रांति मंच के प्रदेश सोशल मीडिया प्रभारी,राष्ट्रीय संरक्षक एवं सलाहकार ने की नियुक्ति।

तखतपुर निवासी राजेश सोनी को स्वर्णकार युवा क्रांति मंच में प्रदेशस्तर पर बड़ी जिम्मेदारी दी गयी है।उन्हें छत्तीसगढ़ प्रदेश के सोशल मिडिया प्रभारी पद पर नियुक्त किया गया है,एवं गौतम सोनी को बिलासपुर जिले की जिम्मेदारी दिया गया है।मंच के पदाधिकारियो ने इस नियुक्ति के लिए राष्ट्रीय अध्यक्ष अभय सोनी जी एवं राष्ट्रीय संरक्षक एवं सलाहकार सुरेश सोनी जी का आभार व्यक्त किया है।सुरेश सोनी जी ने इस नियुक्ति पर अपने विचार प्रकट करते हुए कहा की संगठन में युवाओ के आने से समाज के कार्यो में गति आएगी। राजेश सोनी लगातार सामाजिक कार्य से जुड़े हुए है।15 जून को इन्ही के द्वारा मुख्यमंत्री को किये गए ट्वीट से तखतपुर के शिक्षाकर्मी को उनके चार महीने से लंबित वेतन 24 घंटे के अंदर मिला था। इस मौके पर राजेश सोनी ने कहा की राष्ट्रीय अध्यक्ष ने जो मुझ पर विश्वास किया उन पर खरा उतरने का सार्थक प्रयास करूँगा एवं स्वर्णकार समाज को मजबूत कर सामाज हित की दिशा में काम करने का संकल्प लिया। इस नियुक्ति पर हर्ष व्यक्त करते हुए प्रदेश उपाध्यक्ष श्री राजेश सोनी एवं प्रदेश सचिव कैलाश सोनी द्वारा शुभकामनाये दिया गया।वही प्रदेश उपाध्यक्ष श्री दिना सोनी ने कहा की समाज की विभिन्न गतिविधियों एवं कार्यक्रमो को प्रदेशस्तर पर प्रचार प्रसार की जिम्मेदारी एवं समाज में जागरूकता हेतु कार्य करेंगे। छत्तीसगढ़ नारीशक्ति प्रभारी श्रीमती दुर्गा सोनी ने शुभकामनाये देते हुए कहा की जमीन से जुड़ा व्यक्ति समाज में प्रतिनिधि करे तो सफलता निश्चित है। उसे कोई नही रोक सकता। छत्तीसगढ़ नारीशक्ति अध्यक्ष श्रीमती दीपिका मुकेश सोनी ने बधाई देते हुए कहा की जो समाजहित में निःस्वार्थ भाव से सेवा करता है उसे ऊचाई हासिल करने से कोई नही रोक सकता।ऐसे व्यक्ति के समाज में प्रतिनिधि करने से समाज जरूर लाभान्वित होगा। राजेश सोनी के प्रदेश सोशल मिडिया प्रभारी नियुक्त होने पर तखतपुर के सोनी भाइयो एवं शुभचिंतको में हर्ष व्याप्त है एवं मंदिरो में पूजा अर्चना करके समाज की उन्नति हेतु प्रार्थना किया गया।।