छत्तीसगढ़

मरवाही उप चुनाव की तारीख की घोषणा होने के बाद गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही जिले में आदर्श आचार सहिंता लागू

मरवाही:- मरवाही उप चुनाव की तारीख की घोषणा होने के बाद गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही जिले में आदर्श आचार सहिंता लागू कर दिया गया है। इस संबंध में GPM कलेक्टर ने जारी करते हुए निर्देश दिया है। कलेक्टर के निर्देश में कहा गया है कि कोई भी व्यक्ति घातक अस्त्र शस्त्र जैरो बंदूक, पिस्टल, राइफल, रिवाल्वर, तलवार, फरसा, भाला, लाठी, चाकू, छूरा, कुल्हाड़ी, बरछी, गुप्ती, त्रिशुल, खुखरी एवं अन्य प्रकार के घातक हथियार तथा विस्फोट, सामग्री लेकर किसी भी सार्वजनिक स्थान, आम सड़क, रास्ता, सार्वजनिक सभाओं एवं अन्य स्थानों पर लेकर नहीं चलेगा। कलेक्टर ने कहा है कि काई भी राजनीतिक दल या व्यक्ति सशस्त्र पुलिस नहीं निकालेगा और न हीं आपत्तिजनक पोस्टर वितरित करेगा। निर्देश में कहा गया है कि यह आदेश उन शासकीय अधिकारियों, कर्मचारियों पर लागू नहीं होगा जिन्हें अपने कार्य सम्पादन के लिए लाठी या शस्त्र रखना आवश्यक है यह आदेश उन शासकीय कर्मचारियों पर भी लागू नहीं होगा जिन्हें चुनाव व मतदान के दौरान कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए पुलिस अधिकारी नियुक्त किया गया है यह आदेश उन व्यक्तियों पर भी लागू नहीं होगा जिन्हें शारीरिक दुर्बलता, वृद्धावस्था तथा लगड़ापन होने के कारण सहारे के रूप में लाठी रखना आवश्यक होता है। निर्देश में कहा गया है गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही जिले के अंतर्गत कोई भी व्यक्ति या व्यक्तियों का समूह विना सक्षम प्राधिकारी के अनुमति के न तो कोई सभा करेंगा, न कोई रैली या जुलूस निकाल सकेगा, न ही कोई धरना देगा।

यह आदेश का उल्लंघन करने वाले व्यक्ति/दल भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत दण्डनीय होगा। कलेक्टर ने निर्देश में कहा कि प्रकरण के तथ्यों एवं परिस्थितियों को देखते हुए इस आदेश के संबंध में संबंधितों को सूचना पत्र जारी कर सुनवाई सम्यक रूप से संभव नहीं है अतः यह एकपक्षीय आदेश पारित किया जाता है।

कलेक्टर ने कहा है कि यह आदेश तत्काल प्रभाव से जारी होने के तिथि से विधानसभा उप निर्वाचन कार्य संपन्न होने तक की अवधि दिनांक 12.11.2020 तक के लिए जिले में प्रभावशील रहेगा।

राजधानी में अनलॉक होते ही बाजारों में उमड़ी भीड़, निगम ने 300 से अधिक लोगों से वसूला 38380 रुपए जुर्माना

रायपुर:-राजधानी रायपुर में मंगलवार को लॉक डाउन हटते ही सुबह से बाजारों में भीड़ उमड़ी। लोग बगैर मास्क पहने, सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाते पकड़े गए। कलेक्टर डॉ. एस भारतीदासन के आदेश व नगर निगम रायपुर आयुक्त सौरभ कुमार और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय यादव के निर्देशानुसार सभी 10 जोनों में अभियान चलाया गया। जोनों के नगर निवेश, स्वास्थ्य, राजस्व विभाग की टीमों ने नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की। अनलॉक राजधानी के पहले दिन ही 300 से अधिक लोगों पर नियमों का उल्लंघन करने पर कार्रवाई की गई। पुलिस टीम के साथ मिलकर जोन के बाजारों में मास्क नहीं लगाने वाले, सामाजिक दूरी का नियम तोड़ने वाले और लॉकडाउन नियम तोड़ने वालों और दुकानदारों से जुर्माना वसूला गया। लॉकडाउन खुलने के बाद पहले दिन सुबह से ही नगर निगम के सभी 10 जोनों की टीमों ने पुलिस टीम के साथ मिलकर विभिन्न बाजारों में सुबह 6 बजे से ही नजर रखी। दोपहर 12 बजे तक नगर निगम की लगभग 30 टीमों ने विभिन्न बाजारों में 300 से अधिक लोगों पर कार्रवाई की। कुल 38380 रुपए का जुमार्ना वसूल किया।

निगम अधिकारियों के मुताबिक कार्रवाई निरंतर सभी 10 जोनों के बाजारों में निरंतर जारी रहेगी। सभी जोन के बाजारों में हैण्ड लाउडस्पीकर की सहायता से घूम-घूमकर लोगों से नियमों का पालन करने मास्क अनिवार्य रूप से पहनने, सामाजिक दूरी नियम का पालन करने आव्हान किया जा रहा है। निरंतर नोवल कोरोना वायरस के संक्रमण के प्रसार को कारगर तरीके से रोकने आवश्यक कार्य होने पर ही बाजार में आने का आव्हान किया जा रहा है। सुबह से जारी कार्रवाई में नगर निगम जोन 1 की टीम ने 17 लोगों से 1700 रुपए जुर्माना मास्क नहीं पहनने पर वसूला। जोन 2 की टीम ने जोन कमिश्नर के नेतृत्व में मास्क नहीं पहनने पर 48 लोगों से 4800 रुपए जुर्माना वसूला। जोन 3 की टीम ने 22 लोगों से 3600 रुपए जुर्माना वसूला। जोन 4 की टीम ने 23 लोगों से 2600 रुपए जुर्माना वसूला। जोन 5 ने 48 लोगों से 5600 रुपए जुर्माना वसूला। जोन 6 की टीम ने संतोषी नगर बाजार में सड़क बाधा के कारण व्यवसायी से 2000 रुपए सड़क बाधा शुल्क वसूला। टिकरापारा नंदी चौक में तरूण सब्जी बाजार संतोषी नगर में अभियान चलाकर सुबह 6 बजे से दोपहर 12 बजे तक नियम तोड़ने वालो से 5000 रुपए जुर्माना वसूला। जोन 7 ने मास्क नहीं पहनने वाले 38 लोगों से 3750 रुपए जुर्माना वसूला। इसी प्रकार जोन 8 की टीम ने मास्क नहीं पहनने पर 27 लोगों से 2700 रुपए जुर्माना वसूला। जोन 9 की टीम ने बिना मास्क घूम रहे 85 लोगों से 5730 रुपए जुर्माना वसूला। जोन 10 की टीम ने बिना मास्क घूम रहे 28 लोगों से 2800 रुपए जुर्माना वसूला।

पीसीसी चीफ मोहन मरकाम कल जाएंगे गिरौदपुरी

रायपुर:-प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम बुधवार को सुबह 6 बजे रायपुर निवास बस्तर बाड़ा से गिरौदपुरी धाम के लिये रवाना होंगे। सुबह 9 बजे गिरौदपुरी पहुंचकर गुरूबाबा घासीदास के जन्म स्थली बाबा धाम का दर्शन करेंगे। दोपहर 12 बजे ग्राम बालपुर जिला बलौदाबाजार पहुंचकर विधायक चंद्रदेव राय के पितृशोक कार्यक्रम में परिवारजनों से भेंट करेंगे। शाम 5 बजे ग्राम कुरूद धमतरी पहुंचकर पूर्व विधायक डॉ. चंद्रहास साहू जी के शोक कार्यक्रम में परिवारजनों से भेंट करने के बाद प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम शाम 6 बजे रायपुर निवास बस्तर बाड़ा के लिये रवाना होंगे।

झीरम घाटी नक्सली हमला मामले में छत्तीसगढ़ सरकार की याचिका को SC ने किया खारिज

रायपुर:-झीरम घाटी नक्सली हमले को लेकर छत्तीसगढ़ सरकार की याचिका को सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दिया है। इस याचिका में 25 मई 2013 में बस्तर जिले की झीरम घाटी हमले में 29 लोगों की मौत के मामले और गवाहों के परीक्षण को शामिल किया गया था। राज्य सरकार चाहती थी कि इस मामले में अतिरिक्त गवाहों से पूछताछ करने का विशेष न्यायिक आयोग को निर्देश दिया जाए। पीठ से वरिष्ठ वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि न्यायिक आयोग ने छह महत्पूर्ण गवाहों की गवाही दर्ज करने के अनुरोध को खारिज करते हुए जांच बंद कर दी थी। न्यायमूर्ति अशोक भूषण की अध्यक्षता में वाली पीठ में न्यायमूर्ति आर एस रेड्डी और एम आर शाह भी शामिल थे। उन्होंने कहा कि आप चाहते हैं कि विशेषज्ञ गवाह की जांच हो लेकिन आयोग इस पर सहमत नहीं थे। आप भले ही आयोग का कार्यकाल बढ़ा दें लेकिन पैनल ने अपनी कार्यवाही बंद कर दी है।

कृषि बिल के खिलाफ कांग्रेसियों का पैदल मार्च, मोहन मरकाम समेत अन्य दिग्गज बैठे धरने पर

रायपुर:-कृषि ​बिल के विरोध में आज छत्तीसगढ़ कांग्रेस कमेटी के प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम सहित विधायक धनेंद्र साहू, विकास उपाध्याय, कुलदीप जुनेजा, समेत अन्य कई दिग्गज नेता धरने पर बैठे हैं। कांग्रेसियों ने राजीव भवन से राजभवन तक पैदल यात्रा कर राज्यपाल अनुसुईया उइके को ज्ञापन सौंपने पहुंचे। कांग्रेसी सड़क पर ही धरने में बैठ गए। गौरतलब है कि केंद्र की मोदी सरकार द्वारा संसद में पास किए गए कृषि कानूनों का देशभर में विरोध हो रहा है। खासतौर पर किसान और कांग्रेस इसका विरोध कर रहे हैं।

बड़े पाड़रमुड़ा के सरपंच- सचिव पर लगा 14 वें वित्त के राशि का गबन करने का आरोप

पंचो द्वारा जनपद सीईओ से लेकर जिला कलेक्टर तक किया गया है शिकायत

मालखरौदा/ ग्राम पंचायत अधिनियम आदि के तहत प्रत्येक ग्राम पंचायतों को गांव के विकास और जनता के मदद के लिए मूलभूत या 14 वें वित्त आदि योजना के तहत सरकार ग्राम पंचायतों में लाखो रुपये देती है सिर्फ यही विश्वास करके ग्राम के सरपंच सचिव उन पैसों का सही उपयोग कर सके और गांव के लोगो का मदद कर सके और गांव का विकास कर सके मगर सरकार और जनता के विश्वास को तोड़कर पैसो का दुरुपयोग करने और अपने जेब भरने वाले भी कई सरपंच सचिव यहा होते हैं, कुछ ऐसे ही उदाहरण हमें जाँजगीर चापा जिले के मालखरौदा जनपद पंचायत में देखने को मिला जहां ग्राम पंचायत बड़े पाड़रमुड़ा में सरपंच अनीता प्रकाश धिरहे और तत्कालीन सचिव अश्वनी चंद्रा पर 14 वें वित्त के राशि दो लाख नब्बे हजार को फर्जी तरीके और बिना प्रस्ताव के आहरण करके गबन करने का आरोप लगा है।

ग्राम पंचायत बड़े पाड़रमुड़ा के ग्राम उपसरपंच और पंचो ने इसकी शिकायत मालखरौदा जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी, एसडीएम सक्ती,जिला सीईओ और कलेक्टर से लिखित में शिकायत किया है। ग्राम के उपसरपंच और पंचो ने बताया की ग्राम के सरपंच पति द्वारा बहुत ज्यादा मनमानी किया जा रहा है हमारे द्वारा कोई भी जान कारी पूछने पर हमें कुछ भी बताया नही जाता है मुझे तुम लोगो से कोई लेना देना नही है बोलते है, हमारे बिना ही उनके द्वारा प्रस्ताव बनाया जा रहा है इसकी शिकायत हमने किया है और करिबन 20- 25 दिन पहले जांच टीम जांच के लिए ग्राम आये हुये थे तब हमारे द्वारा लिखित में बयान प्रस्तूत कर दिया गया है मगर आज इतने दिनो के बाद भी जांच प्रतिवेदन प्राप्त न होना और न ही कोई कार्यवाई होना जांच अधिकारियो पर सवाले निशान उठाता है। हम आपको बता दे की मालखरौदा क्षेत्र में कई ऐसे ग्राम पंचायत है जहा पर सरपंच- सचिव पर ऐसी शिकायत हो चुकी है मगर अभी तक किसी पर भी कोई कार्यवाई नहीं हो पाया है जिससे ग्रामीण और शिकायतकर्ता जिम्मेदार अधिकारीयों पर सवाल उठा रहे की आखिर क्यू कार्यवाई नही किया जा रहा है क्या अधिकारियो की इन सब कार्यो में मिलीभगत है या मामला कुछ और ही है??

शिकायत प्राप्त हुआ है जांच चल रही है यदि शिकायत सही पाया जाता है तो कार्यवाही जरुर किया जायेगा तीर्थराज अग्रवाल (जिला पंचायत सीईओ जाँजगीर)

जांच चल रही है कार्यवाई किया जायेगा संदीप सिंह पोयाम (मालखरौदा सीईओ)

मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराने सड़क पर उतरे एसएसपी और कलेक्टर

रायपुर:-एसएसपी और कलेक्टर सुबह 7 बजे से निकले शहर का हाल देखने। मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग के पालन का किया निरीक्षण। बाजार का भी किया भ्रमण। आपको बता दे की आज से रायपुर अनलॉक हो रहा है। कोरोना संक्रमण के चलते 21 से 28 सितंबर तक रायपुर में लगाए लॉकडाउन को खत्म कर दिया गया है। शहरों में आज से बाजार खुलेगा। अब रविवार को भी पूर्ण लॉकडाउन खत्म कर दिया गया है। सराफा, कपड़ा, ऑटोमोबाइल, किराना व सुपर बाजार, इलेक्ट्रॉनिक्स समेत सारे संस्थान खुल जाएंगे, लेकिन दुकानें और प्रतिष्ठान रात्रि आठ बजे तक ही खोले जा सकेंगे। दुकान संचालकों को कोरोना के मद्देनजर स्वास्थ्य विभाग की गाइडलाइन का पालन करना जरूरी होगा। इस बार सभी दुकानों व व्यावसायिक प्रतिष्ठानों को बंद करने का समय रात्रि आठ बजे है।

पुलिस वालो की हत्याओं में शामिल 8 लाख के इनामी नक्सली ने किया सरेंडर

दंतेवाड़ा:-लोन वर्राटू अभियान के तहत 8 लाख के इनामी नक्सली ने सोमवार दंतेवाड़ा पुलिस अधीक्षक के सामने सरेंडर कर दिया है। सरेंडर करने वाले इस नक्सली का नाम कोसा मरकाम है। कोसा, नक्सलियों की उत्तर बस्तर कमेटी मे काम करते हुए शीर्ष माओवादियों के साथ काम कर चुका है। यह अपने साथ लाइट मशीन गन रखता था। इससे उसने कई बार पुलिस के लोगों पर हमले किए हैं. पुलिस के मुताबिक कोसा, साल 2018 में नारायणपुर जिले की एक घटना में शामिल था। इसमें इरपानार के जंगलों में नक्सलियों ने पुलिस पार्टी पर फायरिंग की थी। इस वारदात में 4 पुलिस जवान शहीद हुये थे। साल 2019 मे कांकेर जिले के परतापुर माहला क्षेत्र में भी इस तरह का हमला नक्सलियों ने किया था। बीएसएफ के 4 जवान इस घटना में शहीद हो गए थे।

जगदलपुर में पत्रकारों के सिर पर बंधी पट्‌टी, बोले- मैं भी कमल शुक्ला मुझे भी गोली मारो

 

कांग्रेस भवन के सामने भी किया विरोध,ज्ञापन सौंपा

जगदलपुर:-जगदलपुर में वरिष्ठ और युवा पत्रकारों ने कांकेर कांड के खिलाफ आवाज बुलंद की। पत्रकारों ने सिर पर पट्‌टी बांधकर मारपीट में घायल कांकेर के पत्रकार कमल शुक्ला के समर्थन में विरोध प्रदर्शन किया। पत्रकारों ने हाथ में एक पोस्टर भी थाम रखा था, इस पर लिखा था मैं भी कमल शुक्ला, मुझे भी गोली मारो। दरअसल कांकेर में पत्रकार कमल शुक्ला से मारपीट करने वाले कांग्रेस नेता गफ्फार मेमन ने थाना परिसर में लायसेंसी पिस्तौल से गोली मारने की धमकी दी थी। इस मामले में आरोंपियों पर कार्रवाई की मांग के साथ पत्रकारों ने अपर कलेक्टर अरविंद एक्का को संभागीय कमिश्नर के नाम ज्ञापन भी सौंपा।

नेताओं पर हो कार्रवाई, कलेक्टर एसपी को हटाया जाए

कांकेर में दो दिन पहले भ्रष्टाचार की खबरों के उजागर होने से नाराज कांग्रेसियों ने कमल शुक्ला पर जानलेवा हमला किया। थाना परिसर में गुंडागर्दी की। पूरा हंगामा पुलिस के सामने ही हुआ। इसलिए जगदलपुर में पत्रकारों ने मांग की है इस मामले में कलेक्टर और एसपी पर भी कार्रवाई होनी चाहिए। पत्रकारों ने दो टूक कहा है कि 1 अक्टूबर तक अगर इस मामले में कार्रवाई नहीं हुई तो 2 अक्टूबर को बस्तर के सारे पत्रकार मुख्यमंत्री निवास रायपुर में धरना देने के लिए मजबूर हो जाएंगे।

कोविड सेंटर मे हो रहा मरीजों का बेहतर इलाज,मानसिक तनाव दूर करने के लिए मरीजों को योगा और डांस भी करा रहे

मदन खांडेकर

गिधौरी /बिलाईगढ़-:-एक तरफ जहां वैश्विक कोरोना महामारी लगातार बढ़ रहा है और जिसे देखते हुए बलौदाबाजार जिले के सभी विकास खण्डों में साथ ही जिला बलौदाबाजार मे कोविड सेंटर खोला गया जिसके मद्देनजर लगातार स्वास्थ्य विभाग द्वारा लोगो का कोरोना टेस्ट कर रही है और जो व्यक्ति पाजिटिव निकल रहे है उन्हे कोविड सेंटर मे रखा जा रहा है। तांकि उस व्यक्ति का बेहतर से इलाज हो सके जहा बलौदाबाजार जिले मे बढ़ते संक्रमण को देखते हुए बिलाईगढ़ विकासखंड मे कोविड केयर सेंटर खम्हरिया मे स्वास्थ्य विभाग द्वारा बनाया गया है। जहा बिलाईगढ़ क्षेत्र के मरीजों का बेहतर इलाज हो रहा है। वही नजदीक मे ही इलाज मिल जाने की वजह से लोगो मे खुशी का महौल देखी जा रही है। साथ ही मानसिक तनाव दूर करने के लिए मरीजों को योगा और डांस भी करा रहे है। आपको बता दे कि जिले मे लगातार बढ़ते कोरोना प्रकोप को देखते हुए डीएव्ही मुख्यमंत्री पब्लिक स्कूल खम्हरिया को कोविड केयर सेंटर बनाया गया है। जहा कोविड सेंटर के प्रभारी रोशन देवांगन ने बताया कि 5 सितंबर को कोविड केयर सेंटर चालू हुआ है जिसमे अभी तक 198 मरीज की भर्ती किया गया है जिसमे से 128 स्वस्थ होकर अपने घर लौट गए है। और साथ ही अभी वर्तमान मे 55 लोगो का इलाज कोविड केयर सेंटर मे चल रहा है। वही डाक्टर रोशन ने आगे बताया कि 14 कोरोना मरीज का आक्सीजन लेवर डाऊन होने की वजह से उन्हे जिला अस्पताल रिफर भी किया गया है। मीडिया की टीम ने जहां कोविड केयर सेंटर मे भर्ती मरीजों से जब हमने दूर से बात किया तो उनका कहना है कि यहां किसी प्रकार की कोई भी समस्या नही है समय समय पर नाश्ता और खाना के साथ उचित इलाज भी मिल रहा है। साथ ही हमारा अच्छे से इलाज यहा हो रहा है और समय - समय मे चेक अप कर हमे दवाई दि जा रही है।

जांजगीर चाम्पा जिले के हड़ताली एनएचएम कर्मियों ने खत्म किया धरना प्रदर्शन, काम पर वापस लौटे

जांजगीर चाम्पा:-जिले के हड़ताली एनएचएम संविदा स्वास्थ्यकर्मियों ने नियमितिकरण और हड़ताल अवधि की कार्यवाही शून्य करने के आश्वासन के बाद धरना प्रदर्शन स्थगित कर दिया है। सोमवार से जिले के सभी साढ़े 3 सौ एनएचएम स्वास्थ्यकर्मी काम पर लौट गए हैं। इस आशय का पत्र उन्होंने मुख्य चिकित्सा एवं स्वस्थ अधिकारी डॉ.एसआर बंजारे के समक्ष उपस्थित हो कर दिया है।गौरतलब है कि जांजगीर चाम्पा जिले में पदस्थ साढ़े 3 सौ एनएसएम स्वास्थ्यकर्मी मांगे पूरी नहीं होने पर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गए थे। इस वजह से कोरोना काल में जिले की स्वास्थ्य व्यवस्था भी चरमरा गई थी। इस दौरान एनएचएम कर्मियों ने धरना प्रदर्शन दो थानों में गोबर एकत्रित करने और बेचने के साथ ही सरकार की सद्बुद्धि के लिए यज्ञ भी किया था और उसका परिणाम भी अब सार्थक रूप ले चुका है।

कोरोना संक्रमित की मृत्यु होने पर सुरक्षित परिवहन और अंतिम संस्कार करवाने के लिए कलेक्टर ने किए आदेश जारी

जांजगीर-चांपा:-कलेक्टर यशवंत कुमार ने जिले के एक 40 वर्षीय पुरूष की कोरोना वायरस से मुत्यु हो जाने पर मृतदेह के सुरक्षित परिवहन एवं अंतिम संस्कार के लिए निर्देश जारी किया है। दरअसल जिले के सक्ती तहसील के ग्राम नगरदा निवासी 40 वर्षीय पुरूष की मेकाहारा रायपुर में कोरोना संक्रमण से मुत्यु हो गई। कलेक्टर मृतदेह के सुरक्षित परिवहन एवं अंतिम संस्कार के लिए निर्देश जारी किया है। निर्देश के परिपालन में एसडीएम भास्कर मरकाम ने आरआई प्रदीप बंजारे, महेश देवागंन, पटवारी भूपेन्द्र बरेठ, आरएचओ चन्द्रप्रकाश कश्यप और सुपरवाइजर आरव्ही राठौर की ड्यूटी लगाई है। जारी आदेश में कहा है कि कोविड-19 के प्रोटोकाल का पालन करते हुए परिवारजनों की सहमति पर शव को सुपुर्दगी में लेकर अंतिम संस्कार निर्धारित मुक्तीधाम पर कराना सुनिश्चित करें।

कांग्रेस शासन में पूरे प्रदेश में चल रहा गुंडाराज : केदार कश्यप

जगदलपुर:-कांकेर में पत्रकारों पर हुए हमले पर पूर्व मंत्री केदार कश्यप ने कलमकारों का समर्थन किया है। उन्होंने कहा है कि छतीसगढ़ में वर्तमान कांग्रेस शासन में पूरे प्रदेश में गुंडाराज और माफियाराज चल रहा है। कांग्रेसी अपनी कारगुजारियों को छिपाने अब पत्रकारों पर हमला कर रहे हैं। हमारे देश में मीडिया को चौथा स्तंभ का सम्मानित दर्जा प्राप्त है। जिस तरह कांग्रेसी और कांग्रेस संरक्षण प्राप्त गुंडे, रेत माफिया खुलकर पुलिस थाना के सामने पत्रकारों पर खुलेआम हमला करने का दुःसाहस कर रहे हैं वह लोकतंत्र की आजादी का सीधा उल्लंघन है। पत्रकार कांग्रेसियों के अवैध धंधों की पोल खोल रहे हैं, जिससे ये लोग मारपीट में उतारू हो गए हैं।

कश्यप ने कहा कि भाजपा इसका पुरजोर विरोध करती है। उन्होंने कहा कि भूपेश सरकार के कार्यकाल में हिंसा का माहौल निर्मित हो रहा है और लगातार पत्रकारों पर कहीं न कहीं झूठे मामले दर्ज कर पत्रकारों के लिखने की आजादी पर रोक लगाने और कांग्रेस के भ्रष्टाचार को छिपाने का प्रयास किया जा रहा है जो बर्दाश्त के बाहर है। उन्होंने कहा कि हमलावरों के खिलाफ कड़ी से कड़ी काईवाई होनी चाहिए और पत्रकारों को उचित न्याय मिलना चाहिए। पूर्व मंत्री कश्यप ने कहा कि मीडियाकर्मियों को कार्य करने के लिए सुरक्षा देने की जिम्मेदारी राज्य सरकार की होती है, लेकिन उन्हीं के कार्यकर्ता गुंडे बन कर छत्तीसगढ़ में भय का माहौल बना रहे हैं जो अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर कुठाराघात है।

छत्तीसगढ़ जनजाति गौरव समाज के प्रदेश पदाधिकारियों की घोषणा

रायपुर:-जनजाति समाज के गौरवशाली परंपरा को पुनर्स्थापित करने के उद्देश्य से छत्तीसगढ़ राज्य के समस्त जनजाति समाज प्रमुखों की एक वर्चुअल बैठक राष्ट्रीय अजजा आयोग के पूर्व अध्यक्ष नंदकुमार साय, राज्यसभा सांसद रामविचार नेताम, छग राज्य अजजा आयोग के पूर्व अध्यक्ष देवलाल दुग्गा एवं पूर्व मंत्री केदार कश्यप की उपस्थिति में संपन्न हुई।

वर्चुअल बैठक को संबोधित करते हुये नंदकुमार साय ने कहा कि जनजाति समाज का अतीत बहुत ही गौरवशाली रहा है और इसीलिए हमें अपना भविष्य भी गौरवशाली बनाना है। मध्यभारत के इस क्षेत्र में हमारे पूर्वजों ने लंबे समय तक शासन किया है। हमारे पूर्वजों के शासनकाल में सभी समाज के लोग आपसी सामंजस्य और सौहार्द्र के साथ रहते हुये सनातन धर्म का पालन करते आये हैं। हमें अपने उस गौरवशाली इतिहास की जानकारी अपने युवा पीढ़ी को देना है तथा जनजाति समाज मे शिक्षा का प्रचार-प्रसार करते हुये अपने संवैधानिक अधिकारों को प्राप्त करना है।

राज्यसभा सांसद रामविचार नेताम ने अपने संबोधन में कहा कि जनजाति समाज के इस गौरवशाली इतिहास और परंपरा को देखते हुये कुछ राष्ट्रविरोधी विघटनकारी तत्व जनजाति समाज को तोड़ने व समाज मे विभेद उत्पन्न करने का षडयंत्र कर रहे हैं। हमे इस षडयंत्र को दूर करने के लिये सम्पूर्ण जनजाति समाज को जागरूक करना होगा और इसी उद्देश्य की पूर्ति के लिये छत्तीसगढ़ में जनजाति गौरव समाज की स्थापना की जा रही है।

तत्पश्चात सर्वसम्मति से छत्तीसगढ़ गौरव समाज के प्रदेश पदाधिकारियों, संभागीय अध्यक्षों तथा महिला/युवा/ कर्मचारी संगठन प्रमुखों की घोषणा की गई है, जो निम्नानुसार है।

जनजाति गौरव समाज के सभी प्रांतीय पदाधिकारी महोदय

छत्तीसगढ़ जनजाति गौरव समाज

संरक्षक:नंदकुमार साय जी

रामविचार नेताम जी

देवलाल दुग्गा जी

केदार कश्यप जी

रिषेश्वर महाराज

राजाराम तोडम

अध्यक्ष:एम. डी. ठाकुर

उपाध्यक्ष:मोहन सिंह टेकाम

बंशीधर उरांव

चैत राम अटामि

विदेशी राम ध्रुव

यज्ञराम सिदार

महासचिव:विकास मरकाम

सचिव:डॉ गंभीर सिंह

रामलखन पैंकरा

रामजी ठाकुर

रघुराज सिंह उइके

गोपाल नाग

कोषाध्यक्ष: आर. एन. साय

प्रवक्ता:डॉ देवेंद्र माहला

इंदर भगत

परमानंद तेता

सोशल मीडिया प्रभारी: रामप्रसाद मौर्य

संभागीय अध्यक्ष

सरगुजा:परमेश्वर सिंह

बिलासपुर: देवेन्द्र प्रताप सिंह

रायपुर:बुद्धेश्वर ध्रुव

बस्तर:भोजराज नाग

दुर्ग: टेकराम भंडारी

जनजाति गौरव महिला समाज

अध्यक्ष: श्रीमती गीतांजलि परमानंद तेता

महासचिव: श्रीमती पिंकी शिवराज शाह

जनजाति गौरव युवा समाज

अध्यक्ष:भूपेंद्र नाग

महासचिव: रवि भगत

जनजाति गौरव कर्मचारी समाज

अध्यक्ष: उत्तर सिंह सिदार

महासचिव: लखेश्वर कुदराम

थाना गंगालूर क्षेत्रांतर्गत पुलिस पार्टी व माओवादी के बीच मुठभेड़, 01 माओवादी ढेर डीआरजी, एसटीएफ, कोबरा व केरिपु की संयुक्त टीम की कार्यवाही- बीजापुर

बीजापुर:-बीजापुर जिले में चलाये जा रहे माओवाद विरोधी अभियान के तहत दंतेवड़ा-बीजापुर के सीमावर्ती क्षेत्र थाना गंगालूर क्षेत्रान्तर्गत ग्राम पिडिया, डोडी, तुमनार, ईरेनार व पेददापाल के जंगलों में सूचना पर सोमवार सुबह जिला दंतेवाड़ा एवं बीजापुर की संयुक्त पुलिस टीम (डीआरजी, एसटीएफ, कोबरा एवं केरिपु बल) माओवादी विरोधी अभियान पर रवाना हुई थी । 3 दिनों से एंटी नक्सल आपरेशन पर निकले थे जवान। अलग-अलग इलाके में 4 बार हुआ माओवादियों से हुआ मुठभेड़। अभियान के दौरान सोमवार सुबह थाना गंगालूर क्षेत्रान्तर्गत ग्राम ईरेनार व पेदद्ापाल के मध्य जंगल में माओवादियों व पुलिस पार्टी के बीच मुठभेड़ हुआ । मुठभेड़ पश्चात घटनास्थल का सर्चिंग करने पर 01 अज्ञात माओवादी का शव बरामद किया गया। मौके से 01 नग *SBML* गन, 03 नग जिंदा आईईडी, 02 नग बैटरी, ईलेक्ट्रिक वायर, पिटठू, रेडियो, छाता, नक्सली पत्र, नक्सली साहित्य एवं अन्य नक्सल दैनिक उपयोग की सामग्री बरामद किया गया । सर्चिंग के दौरान घटना स्थल पर खून के धब्बे मिले और अन्य माओवादियों के मारे जाने कि सम्भावना है साथ ही दवाईयां एवं अन्य दैनिक उपयोग कि समाग्री को पुलिस पार्टी द्वारा जला कर नष्ट किया गया। वापसी के दौरान जिला बल व सीआरपीएफ 85 के जवानों द्वारा मल्लूर क्षेत्र में एक आईईडी को मौके पर निष्क्रिय किया गया।