राजधानी

कृषि उत्पादन आयुक्त ने उन्नत बीजों एवं उर्वरक की उपलब्धता, भण्डारण और वितरण की समीक्षा की

जिलों में 4 लाख 37 हजार क्विंटल उन्नत बीज 
एवं 6 लाख 13 हजार मीट्रिक टन उर्वरक का भण्डारण

समिति स्तर पर शिविर लगाकर खाद-बीज वितरण कराने के निर्देश

रायपुर,  30 मई 2019  अपर मुख्य सचिव एवं कृषि उत्पादन आयुक्त   के.डी.पी. राव ने कल यहां मंत्रालय में आगामी खरीफ सीजन के लिए किसानों को कृषि आदान सामग्रियों बीज एवं रासायनिक खाद की मांग, उपलब्धता एवं भण्डारण की समीक्षा की। उन्होंने सभी संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि वे क्षेत्र के अधिकारियों तथा जिला कलेक्टर्स से नियमित संवाद एवं समन्वय रखते हुए आवश्यकता अनुसार उन्नत बीज एवं उर्वरक की उपलब्धता सुनिश्चित रखें। 

समीक्षा बैठक में बीज विकास निगम के अधिकारियों द्वारा बताया कि प्रदेश में 8 लाख 50 हजार 550 क्विंटल बीज की मांग के विरूद्ध 4 लाख 37 हजार 725 क्विंटल उन्नत किस्म के बीजों का भण्डारण विभिन्न जिलांे में कर दिया गया है, जिसमें से अभी तक समितियों के माध्यम से 77 हजार 817 क्विंटल एवं विभाग तथा अन्य संस्थाओं के द्वारा 5,133 क्विंटल, इस प्रकार कुल 82 हजार 946 क्विंटल उन्नत किस्म के बीज का वितरण किया गया है।

इसी प्रकार संचालक कृषि एवं महाप्रबंधक मार्कफेड द्वारा बताया गया कि 10 लाख 50 हजार 550 मीट्रिक टन उर्वरक मांग के विरूद्ध 6 लाख 13 हजार 265 मीट्रिक टन उर्वरक जिलो में भण्डारण कर दी गयी है, जिसमें से समितियों के माध्यम से अब तक 53 हजार 410 मीट्रिक टन एवं निजी विक्रेताओं के माध्यम से 14 हजार 263 मीट्रिक टन इस प्रकार कुल 67 हजार 673 मीट्रिक टन उर्वरक का वितरण किया जा चुका है। 

बैठक में संचालक कृषि, प्रबंध संचालक बीज एवं कृषि विकास निगम, प्रबंध संचालक छत्तीसगढ़ राज्य सहकारी विपणन संघ एवं प्रबंध संचालक, राज्य सहकारी बैंक (अपेक्स बैंक) को क्षेत्र में किसानों के मांग अनुसार बीज की उन्नत किस्मों एवं उर्वरकों का समय पर पर्याप्त भण्डारण करने तथा समिति स्तर पर शिविर लगाकर वितरण करने के निर्देश दिए गए। इसी तरह उन्हें बीज एवं उर्वरक के सही एवं समुचित उपयोग करने के संबंध में सम सामयिक तकनीकी सलाह उपलब्ध कराने के निर्देश भी दिए गए। इसी तरह लिफलेट एवं पाम्पलेट के माध्यम से भी किसानों को खेती-किसानी को उन्नत बनाने की समझाईश देने के निर्देश दिए गए। 

बैठक में  भीम सिंह, संचालक कृषि  जन्मेजय महोबे, प्रबंध संचालक बीज निगम,   एच.के. नागदेव, प्रबंध संचालक अपेक्स बैंक  एम.एल. सिरदार, महाप्रबंधक मार्कफेड एवं   एम.एस. केरकेट्टा, अपर संचालक संचालनालय कृषि उपस्थित थे।

मदिरा दुकानें अब पुराने समय पर खुलेंगी और बंद होगी : भीड़ नियंत्रित करने पुराना समय हुआ लागू

 आबकारी उपायुक्त ने किया स्पष्ट, विधानसभा चुनाव के कारण दुकानों का समय किया गया था कम, अब पहले के समय पर खुलेंगी और बंद होंगी दुकानें

 रायपुर, 30 मई 2019 प्रदेश में विधानसभा चुनाव के चलते जिले के सभी मदिरा दुकानों के खुलने तथा बंद होने के समय में एक-एक घण्टें की कमी की गई थी,  जिसे अब पहले जैसा समय कर दिया गया है। अर्थात अब मदिरा दुकानें पूर्वान्ह 11 बजे खुलेंगी और रात्रि 10 बजे बंद होंगी। चुनाव के चलते दुकानों के खुलने का समय दोपहर 12 बजे और बंद होने का समय रात्रि 9 बजे निर्धारित किया गया था जिसे पूर्ववत कर दिया गया है। दुकानों का समय बढ़ाया नही गया है बल्कि पहले जैसा ही किया गया है।

    आबकारी उपायुक्त रायपुर ने यह स्पष्ट किया है कि वर्ष 2017-18 से जिले की फुटकर मदिरा दुकानों का पूर्वान्ह 11 बजे खुलने और समय रात्रि 10 बजे बंद करने का आदेश प्रभावशील था। किन्तु विधानसभा चुनाव 2018 के परिप्रेक्ष्य में कलेक्टर रायपुर द्वारा कानून एवं व्यवस्था को बनाए रखने हेतु उक्त आदेश में संशोधन करते हुए दुकानों के खुलने और बंद होन के समय में एक-एक घंटे की कमी की गई थी अर्थात खुलने का समय दोपहर 12 बजे तथा बंद करने का समय रात्रि 9 बजे निर्धारित किया गया था।
 
    कानून व्यवस्था की दृष्टि से और दुकानों में भीड़ को नियंत्रित करने हेतु जिला कलेक्टर द्वारा विधानसभा चुनाव के समय जारी आदेश को संशोधित करते हुए अब पुराने समय को ही लागू किया गया है जिसके अनुसार अब दुकानें चुनाव के पहले की तरह दोपहर 12 बजे के एक घंटा पूर्व अर्थात 11 बजे खुलेंगी तथा रात्रि 9 बजे के एक घंटे पश्चात् अर्थात् रात्रि 10 बजे बंद होगी। उन्होंने बताया कि छत्तीसगढ़ के अन्य जिलों में भी मदिरा दुकानों के खुलने और बंद होने का यही समय निर्धारित है।

जिम्मेदारीपूर्वक और कार्य दबाव के बीच पत्रकार शासन के समक्ष लाते है समाज की समस्याएं भूपेश बघेल : मुख्यमंत्री द्वारा वरिष्ठ पत्रकारों का सम्मान

रायपुर मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने आज शाम रायपुर प्रेस क्लब में वरिष्ठ पत्रकारों को प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया। उन्होंने कहा कि जिम्मेदारीपूर्वक और अत्यधिक कार्य दबाव के बीच पत्रकार साथी समाज की समस्याओं को शासन के समक्ष लाते हैं। आज समाचार प्रेषण की तत्परता तथा बदलते मीडिया के स्वरूप तथा समाचारों की तेज गति को देखते हुए पत्रकारिता पर पहले से ज्यादा कार्य दबाव बढ़ा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य शासन की सोच और मंशा है कि पत्रकारों साथियों को कार्य की दृष्टि से अच्छी सुविधाएं मिलनी चाहिए। अगर इस संबंध में प्रेस क्लब को सुविधाजनक बनाने या मीडिया की कार्यक्षमता बढ़ाने के संबंध में मांग प्राप्त होती है तो उसे पूरा करने का प्रयास किया जाएगा। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने मोतीबाग स्थित रायपुर प्रेस क्लब के स्वर्गीय मधुकर खेर स्मृति भवन में 28 लाख रूपए की लागत से बनाए गए भव्य स्वागत द्वार, फौव्वारे के सौन्दर्यीकरण तथा टेबल टेनिस रूम, फोटो जर्नलिस्ट रूम एवं सेन्ट्रल हाल में नवीन सुविधाओं का लोकार्पण किया।

कार्यक्रम में मुख्यमंत्री श्री बघेल ने रायपुर प्रेस क्लब के वरिष्ठ पत्रकारों सर्वश्री जयशंकर प्रसाद शर्मा ’नीरव’, सुहास राजिमवाले, शेषकरण जैन, एम.ए.जोसेफ, आसिफ इकबाल, शंकर पाण्डेय, कौशल किशोर मिश्र का सम्मान किया। कार्यक्रम में स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम, नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिव कुमार डहरिया, विधायक एवं पूर्व मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल, विधायक श्री विनोद चन्द्राकर महापौर श्री प्रमोद दुबे उपस्थित थे।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए  बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि रायपुर प्रेस क्लब देश के जाने माने प्रेस क्लब में एक है। यहां के वरिष्ठ पत्रकारों का सम्मान होना सराहनीय बात है। प्रेस क्लब के अध्यक्ष   दामू आम्बेडारे ने प्रेस क्लब में उपलब्ध करायी जा रही नवीन सुविधाओं की जानकारी दी और कहा कि ऐसे प्रयास भविष्य में भी होते रहेंगे। उन्होंने कहा रायपुर प्रेस क्लब छत्तीसगढ की पत्रकारिता का साक्षी है और करीब 50 साल पुराने इसके गौरवशाली इतिहास में यहां के पुरखों ने स्वस्थ पत्रकारिता की अवधारणा की कल्पना की थी। प्रेस क्लब के सदस्यों ने इस दायित्व को जिम्मेदारीपूर्वक निवर्हन किया है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने पत्रकारों को मकान दिलाने की मांग पूरी ही है। शीघ्र ही मकानों का आवंटन किया जाएगा। उन्होंने पत्रकारों की मांग के संबंध में ज्ञापन भी सौंपा।

 इस अवसर पर प्रेस क्लब के महासचिव  प्रशांत दुबे, उपाध्यक्ष   प्रफुल्ल ठाकुर, कोषाध्यक्ष शगुफ्ता शीरीन, संयुक्त सचिव अंकिता शर्मा और गौरव शर्मा ने अतिथियों का स्वागत किया। कार्यक्रम के प्रारंभ में मुख्यमंत्री ने दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया।

स्वामी विवेकानंद एयरपोर्ट में कॉमन सर्विस सेंटर की शुरूआत - 250 प्रकार की सुविधाएं होंगी

 

रायपुर। रायपुर एयरपोर्ट देशभर में पहला एयरपोर्ट बन गया है जहां पर कॉमन सर्विस सेंटर की शुरूआत हुई है। इस कॉमन सर्विस सेंटर में 250 प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध रहेगी। बता दें कि डिजिटल इंडिया कार्यक्रम के तहत यह कॉमन सेंटर शुरू हुआ है। कार्यक्रम की शुरूआत सीएसी के सीईओ डॉ. दिनेश त्यागी और एयरपोर्ट के डायरेक्टर राकेश सहाय की मौजूदगी में हुई सर्विस सेंटर में नागरिक सेवाओं, पासपोर्ट आवेदन, पैन कार्ड आवेदन, श्रमिक पंजीकरण, सरकार कल्याण योजना आवेदन, खाद्य लाईसेंस, ऑनलाइन बिजली भुगतान और ऑनलाइन पेंशन बीमा सहित 250 प्रकार की सेवाएं उपलब्ध रहेंगी।

लापरवाही का खामियाजा भुगत रहे ठेकेदारों ने घेरा निगम कार्यालय

 

रायपुर। नगर निगम के अफसरों की लापरवाही का खामियाजा ठेकेदारों को भुगतना पड़ रहा है। निगम अफसरों ने खनिज विभाग को रायल्टी भुगतान जमा नहीं किया। इसी वजह से ठेकेदारों का भुगतान निगम की ओर से नहीं किया जा रहा है। आज नगर निगम के पंजीकृत ठेकेदारों ने निगम कार्यालय का घेराव कर निगमायुक्त से चर्चा की।

आयुक्त ने तत्काल समस्या का निदान कर ठेकेदारों की भुगतान राशि देने की बात की है। बता दें कि ठेकेदारों को नगर निगम की ओर से भुगतान देने से पहले खनिज रायल्टी भुगतान कर नगर निगम अफसरों को चालान जमा करना होता है, लेकिन नगर निगम के अफसरों ने चालान जमा नहीं किया। इसी वजह से नगर निगम के अंतर्गत काम करने वाले दो सौ से ज्यादा ठेकेदारों को करोड़ों रुपए का भुगतान नहीं किया गया है। आज नगर निगम के पंजीकृत ठेकेदारों ने नगर निगम का घेराव कर निगमायुक्त से चर्चा  की। निगम आयुक्त शिव अनंत तायल ने ठेकेदारों को आश्वासन देते हुए कहा कि खनिज विभाग में रायल्टी चालान नगर निगम की ओर से जमा किया जाएगा। उन्होंने यह भी कहा कि खनिज विभाग में चालान जमा होते ही ठेकेदारों का भुगतान कर देंगे।

सीआरपीएफ जवानों ने पेश की मिसाल, तपती गर्मी में राहगीरों को ​पिलाया शर्बत

 

रायपुर। सीआरपीएफ के जवानों ने मानवीय पहल करते हुए पुराने पीएचक्यू के सामने राहगीरों को शर्बत पिला कर एक मिसाल पेश की है। तपती गर्मी में मंगलवार को जवानों ने राह पर आने जाने वाले राहगीरों को शर्बत पिलाया है। जवानों का कहना है कि अक्षय तृतीया के दिन लोगो की प्यास बुझाने से पुण्य मिलता है और लोगों को इससे राहत मिलती है। सीआरपीएफ के सीईओ का कहना है कि ऐसी मानवीय पहल अक्सर करते रहते हैं।

 

डायल 112 में तैनात आरक्षक से मारपीट, बलवा का हुआ मामला दर्ज

 

रायपुर। भरेंगाभाठा स्थित यादव ढाबा के पास सात से आठ युवकों ने एक राय होकर डायल 112 में तैनात आरक्षक से मारपीट किए। पीड़ित आरक्षक की शिकायत पर अभनपुर पुलिस ने बलवा का मामला दर्ज किया है। बता दें कि मोहनलाल भंडारी डायल 112 में आरक्षक के पद पर भर्ती है। जिससे ट्रक चालक से मारपीट की सूचना पर वह भरेंगाभाठा स्थित यादव ढाबा के पास पहुंचा था और आरोपियों से पूछताछ कर रहा था। जिसे आरोपियों ने तुम कौन होते हो कहते हुए 7 से 8 लोगों ने एक राय होकर आरक्षक मोहनलाल से गाली-गलौज कर मारपीट किया। पीड़ित आरक्षक की शिकायत पर अभनपुर पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ धारा 147, 148, 149, 294, 506, 323, 186, 332 के तहत अपराध दर्ज किया है।

छतीसगढ़ : मुख्यमंत्री सहायता कोष से ओड़िशा को 11 करोड़ रुपये की राशि देने की घोषणा

 

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ओड़िशा में आए समुद्री चक्रवाती तूफान फोनी से हुए क्षति को देखते हुए ओड़िशा की सहायता के लिए मुख्यमंत्री सहायता कोष से 11 करोड़ रुपये की राशि देने की घोषणा की है। उल्लेखनीय है कि फोनी तूफान के उपरांत मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ओड़िशा के मुख्यमंत्री नवीन पट्नायक से दूरभाष पर चर्चा की थी और ओड़िशा के इस विपदा की कठिन परिस्थितियों में राज्य को हर संभव मदद देने की पेशकश की थी। उन्होंने ओड़िशा की मुख्यमंत्री से यह भी कहा था कि ओड़िशा राज्य के इस संकट की घड़ी में छत्तीसगढ़ राज्य और यहां की जनता ओड़िशा राज्य और वहां की जनता के साथ खड़ी है और हर संभव सहायता के लिए तैयार है।

 

 

 

 

 

 

 

देह व्यापार में लिप्त 8 युवतियों और 3 युवकों को पुलिस ने पकड़ा

रायपुर। राजधानी पुलिस ने शनिवार को छापा मारकर सेक्स रैकेट को पकड़ा है। इसमें 8 युवतियों के साथ 3 युवक को पुलिस ने गिरफ्तार है। पुलिस ने शनिवार को एक स्पा सेंटर और इम्प्रेसिया कालोनी अमलीडीह स्थित एक फ्लैट में छापा मारा। इसमें देह व्यापार में संलिप्तत 8 युवतियों और तीन युवकों पकड़ा। बता दें कि हाल ही में पुलिस ने स्पा सेंटर पर छापा मारा था और युवतियों को गिरफ्तार किया था।

प्रदेश के इन शहरों को लेकर मौसम विभाग ने किया अलर्ट जारी

फेनी  को लेकर प्रदेश के कुछ जिलों में अलर्ट जारी किया गया है। फेनी चक्रवात से निपटने के लिए मौसम विभाग ने कमर कस ली है। मौसम विभाग की माने तो सभी जिलों में इसका प्रभाव देखने को मिल रहा है। वहीं कलेक्टर, तहसीलदार, एसडीएम सहित सभी अधिकारियों को इससे जागरूक करने की बात कही गई है। वहीं मौसम विभाग फेनी से होने वाले क्षति को लेकर भी बैठक किया जा रहा है। मिली जानकारी के अनुसार बैठक में अपने जिले के सभी अधिकारियों को लोगों को जागरूक करने की जिम्मेदारी दे दी गई है।

बैठक में पटवारी सहित आला अधिकारियों को क्षति होने पर राजस्व पुस्तिका परिपत्र 6-4 के प्रवधानों के तहत आर्थिक अनुदान देने की बात कही जा रही है। ओड़िशा से जुड़े शहर महासमुंद, बलौदाबाजार जिले में ज्यादा प्रभाव की आशंका जताई जा रही है। राज्य के मुख्य सचिव के निर्देशन के बाद अमला फैनी चक्रवात को लेकर मुस्तैद है।

 

मौसम विभाग की टीम मुश्तैद

 

मौसम विभाग ने दो शहरों को लेकर सबसे ज्यादा चिंता जाहिर किया है जिसमें महासमुंद और बलौदा बाजार को शामिल किया गया है। इन दोनों शहरों में राजधानी रायपुर से मौसम विभाग ने टीम रवाना कर दिया है। बताया जा रहा है कि ओड़िशा से लगे होने के कारण तूफान की स्थिति सबसे ज्यादा यहां बनी हुई है।

कोण्डागांव में मरीन ड्राईव बनवाकर ही रहुंगा - अरुण पाण्डेय्

रायपुर: छत्तीसगढ़ राज्य के प्रत्येक शहर में मरीन ड्राईव निर्माण की मांग कर रहे शिवसेना नेता अरुण पाण्डेय् ने बस्तर संभाग के कोण्डागांव जिला मुख्यालय स्थित प्राचीन बांधा तालाब के सरंक्षण व सौंदर्यीकरण के विषय को उठाकर जनांदोलन में बदल दिया है।

गौरतलब होकि शिवसेना नेता अरुण पाण्डेय् ही वह प्रथम व्यक्ति है जिन्होने कोण्डागांव में मरीन ड्राईव बनाने की मांग उठाया है। आरएसएस से एक चर्चा के दौरान उन्होने स्पष्ट किया कि प्राचीन तालाबों व पर्यावरण के संरक्षण के साथ  नगर वासियों के लिये एक आक्सीजोन निर्मित करना सबसे आसान तरीका है। इस प्रकार से तालाबों के संरक्षण के साथ पर्यावरण की सुरक्षा के साथ ही शहर सुंदरता भी बढ़ जाती है. उन्होने कहा कि कोण्डागांव शहर में एक मरीनड्राईव बनवाकर ही रहुंगा,चाहे इसके लियेजनांदोलन भी करना पड़े कदम पीछे नही हटाउंगा.

विदित होकि शिवसेना नेता राज्य में अपने  आक्रामक छवि के कारण जाने जाते हैं, परंतु पर्यावरण संरक्षण, तालाबों के संरक्षण व पशु सेवा के प्रति भी उनका लगाव राज्यभर के युवाओं के लिये प्रेणता का स्रोत है। जब आप कुछ अच्छा करने कि इच्छा रखनते हैं तो जब कुछ करने का ठान लेते हैं तब सारी अच्छी ताकते आपके साथ हो जाती हैं, यह कहावत कोण्डागांव में मरीन ड्राईव निर्माण की मंशा लिये शिवसेना नेता अरुण पाण्डेय् ने चरितार्थ कर दिखाया है। उनके इस मुहिम में लगातार शहर के युवा जुड़ रहे हैं, वाट्स अप ग्रुप, फेसबुक व यूट्यूब पर चैनल बनाकर लोग कोण्डागांव में मरीनड्राईव की मांग को अपना समर्थन दे रहे हैं।

छतीसगढ़ : सेक्स रैकेट का खुलासा

रायपुर -- कबीरनगर पुलिस टीम ने सेक्स रैकेट चलाने वाले मां-बेटा सहित 5 आरोपी को गिरफ्तार किया है। मामले का खुलासा करते हुए सिविल लाइन सीएसपी अभिषेक माहेश्वरी ने बताया कि कबीरनगर निवासी आशा वर्मा अपने पुत्र मुकेश वर्मा के साथ मिलकर देह व्यापार का संचालन कर रही थी। आरोपी मुकेश वर्मा अपने प्रेमजाल में लड़कियों को फंसाकर देह व्यापार के दलदल में धकेलता था। पुलिस ने नाबालिग सहित कुल 5 लोगों को गिराफ्तार किया गया है। 2 पीड़ित महिलाओं को पुलिस ने महिला बाल विकास को सौंपने की बात कही है। पुलिस ने बताया कि अब तक के पूछताछ में कुल 20 से 25 लोगों के बारे में जानकारी मिली है। आरोपी मां-बेटे दुर्ग, राजनांदगांव और रायपुर में युवतियों को सप्लाई करता थे। पकड़े गए आरोपियों में एक लड़का नाबालिग है।

रविन्द्र चौबे के स्वास्थ में सुधार हेतु हुआ कुशदक जल से अभिषेक।

रायपुर स्थित जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानन्द सरस्वती के आश्रम में छग शासन के कैबिनेट मंत्री रविन्द्र चौबे के जल्द स्वास्थ्य लाभ हेतु विशेष अर्चन के साथ ललिता सहस्त्रनाम का पाठ हुआ तथा सिद्धेश्वर महादेव का कुशदक जल से आचार्य धर्मेन्द्र महाराज ने आश्रम प्रमुख ब्रह्मचारी डॉ इंदुभवानन्द के सान्निध्य में सम्पन्न किया। ब्रह्मचारी डॉ इंदुभवानंद महाराज द्वारा महा मृत्युंजय का जाप भी शंकराचार्य आश्रम में निरन्तर करवाया जा रहा है जिससे रविन्द्र चौबे के स्वास्थ्य में जल्द सुधार हो। इसी तारतम्य में सलदाह स्थित सपाद लक्षेश्वर धाम के ब्रह्मचारी ज्योतिर्मयानंद महाराज के द्वारा निरन्तर हनुमान चालीसा का पाठ किया जा रहा है। इसके साथ ही बेमेतरा स्थित भद्र काली, करमू चंडी, रायपुर स्थित महामाया मन्दिर, सुतियापाट हिंगलाज में भी पूजन और अर्चन किया गया है। ज्ञात हो कि रविन्द्र चौबे शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानन्द सरस्वती महाराज के शिष्य हैं जिस हेतु गुरु परिवार के सदस्यगण एमएल पांडेय, नरसिंह चंद्राकर, ज्योति नायर, पंकज वर्मा, एलपी वर्मा, हरीश शाह , श्रीकृष्ण तिवारी, भूपेंद्र पांडेय, सोनू चंद्राकर, रत्नेश शुक्ला , राम कुमार शर्मा आदि ने भगवती राजराजेश्वरी का पूजन कर उनके जल्द स्वास्थ्य लाभ की कामना किये।

CM भूपेश बघेल 8 अप्रैल को युवाओं से करेंगे संवाद..

रायपुर -- प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एवं मुख्यमंत्री भूपेश बघेल 8 अप्रैल को सुबह 10 बजे मैट्स विश्वविद्यालय रायपुर पंडरी में युवा संवाद कार्यक्रम में शामिल होंगे। इसके बाद सुबह करीब साढ़े 11 बजे वे पुलिस ग्राउण्ड रायपुर से हेलिकाप्टर द्वारा पथरिया विधानसभा जिला मुंगेली के लिये रवाना होंगे। फिर दोपहर 12 बजे पथरिया में आमसभा और दोपहर 1.30 बजे करगीकला, कोटा विधानसभा जिला बिलासपुर में आमसभा को संबोधित करेंगे। इसके बाद दोपहर 3 बजे सकरी कसडोल विधानसभा, जिला बलौदाबाजार-भाटापारा में सामूहिक विवाह कार्यक्रम में शामिल होंगे। शाम 4.30 बजे पौंसरा में आमसभा और शाम 6 बजे चांटीडीह, बेलतरा विधानसभा जिला बिलासपुर में आमसभा को संबोधित करेंगे।

अधिक दर पर शराब बिकने की शिकायत पर तीन आबकारी उप-निरीक्षक निलंबित

रायपुर:- देशी एवं विदेशी शराब दुकानों में निर्धारित दर से अधिक दर पर शराब के विक्रय की शिकायत पर आबकारी आयुक्त द्वारा रायपुर, दुर्ग और सरगुजा जिले के तीन आबकारी उप-निरीक्षकों को निलंबित कर दिया गया है। कार्यालय आबकारी आयुक्त से जारी आदेश अनुसार उपायुक्त आबकारी कार्यालय जिला रायपुर के आबकारी उप-निरीक्षक अल्ताफ खान, कार्यालय सहायक आयुक्त आबकारी जिला-दुर्ग के आबकारी उप-निरीक्षक निधीष कोष्ठी और कार्यालय जिला आबकारी अधिकारी जिला सरगुजा के आबकारी उप-निरीक्षक रंजीत गुप्ता को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। इन आबकारी उप-निरीक्षकों के प्रभार क्षेत्र की शराब दुकानों में निर्धारित दर से अधिक दर पर शराब विक्रय की शिकायतें प्राप्त हो रही थीं। निलबंन अवधि में अल्ताफ खान का मुख्यालय कार्यालय आबकारी आयुक्त छत्तीसगढ़ रायपुर, निधीष कोष्ठी का मुख्यालय कार्यालय उपायुक्त आबकारी संभागीय उडऩदस्ता रायपुर संभाग रायपुर और रंजीत गुप्ता का मुख्यालय कार्यालय उपायुक्त आबकारी संभागीय उडऩदस्ता बिलासपुर संभाग बिलासपुर निर्धारित किया गया है। निलंबन अवधि में इन्हें नियमानुसार जीवन निर्वाह भत्ता देय होगा।