देश

Jio ने दिया बड़ा झटका, देने होंगे प्रति मिनट के इतने पैसे

रिलायंस जियो ने अपने ग्राहकों को बड़ा झटका दिया है। जियो के ग्राहकों को अब फोन पर बात करने के लिए पैसे देने होंगे। जियो के एक बयान के मुताबिक ग्राहकों को किसी दूसरी कंपनी के नेटवर्क पर कॉल करने के लिए प्रति मिनट 6 पैसे देने होंगे। जियो ने कहा है कि 6 पैसा प्रति मिनट का शुल्क केवल तब तक जारी रहेगा जब तक TRAI अपने वर्तमान रेगुलेशन के अनुरूप IUC को समाप्त नहीं कर देता।


गांधी जयंती के मौके पर राजस्थान सरकार का फैसला, पूरे राज्य में तंबाकू पर बैन

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने गांधी जयंती के मौके पर राज्य में तंबाकू उत्पादों पर प्रतिबंध लगाने का एलान किया है. कांग्रेस ने अपने जन घोषणा पत्र में तंबाकू पर प्रतिबंध की बात कही थी. उसी को ध्यान में रखते हुए यह प्रतिबंध लागू किया गया है. देशभर में हजारों लोग तंबाकू से होने वाले कैंसर की वजह से मरते हैं.


पढ़े BBN24 न्यूज़ पर वो पांच चीजें जो गांधी जी को पसंद थी

- महात्मा गांधी को दाल-चावल खाना बहुत पसंद था, इसमें कार्बोहाइड्रेट की मात्रा बहुत होती है इसी कारण उन्हें दाल-चावल खाना पसंद था। - गुजराती परिवार में पैदा होने के कारण बचपन से ही उन्हें रोटी खाना पसंद था। - वो अपने खाने में अक्सर छाछ और दही शामिल करते थे। - इसके अलावा खाने में उन्हें उबले बैंगन पसंद थे। - गांधी जी शुद्ध और सात्विक भोजन को ही अच्छा मानते थे, उबली मूली और चुकंदर भी उन्हें पसंद था।


पेट्रोल-डीजल की कीमतों में भारी तेजी,,

मिडिया रिपोर्ट से प्राप्त जानकारी के अनुसार मंगलवार को राष्ट्रीय राजधानी समेत देश के कई महानगरों में पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़ोत्तरी देखी गई है। दिल्ली में आज पेट्रोल 22 पैसे की भारी तेजी के साथ 74.13 रुपये प्रति लीटर पर और डीजल 14 पैसे की बढ़ोत्तरी के साथ 67.07 रुपये प्रति लीटर पर बिक रहा है। वहीं कोलकाता में पेट्रोल 22 पैसे की बढ़त के साथ 76.82 रुपये प्रति लीटर और डीजल 14 पैसे की तेजी के साथ 69.49 रुपये प्रति लीटर पर बिक रहा है।

पंजाब में हथियार भेजने के लिए पाकिस्तान कर रहा है ड्रोन का इस्तेमाल: पंजाब सीएम

पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने कहा है कि पाकिस्तान राज्य में हथियार भेजने के लिए ड्रोन्स का इस्तेमाल कर रहा है। अमरिंदर ने केंद्र सरकार से वायुसेना और सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) को ज़रूरी कदम उठाने को लेकर निर्देश देने की अपील की। दरअसल, पंजाब पुलिस ने खालिस्तान ज़िंदाबाद फोर्स (केज़ेडएफ) के एक आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया है।

ATM में पैसे फंसने पर आपको मिलेगा हर्जाना

मिडिया रिपोर्ट के अनुसार आरबीआई ने बैंकों को टर्नअराउंड टाइम को लेकर नया आदेश जारी किया है। दरअसल, ट्रांजेक्शन फेल संबंधी कई तरह की शिकायतों को देखते हुए आरबीआई ने बैंकों को सख्त निर्देश दिया है कि अगर ट्रांजेक्शन फेल हो जाते हैं तो जल्द से जल्द इसे ठीक किया जाए। अगर इसके लिए ग्राहकों को कोई हर्जाना बनता है तो इसका भुगतान भी समय पर होना चाहिए। आरबीआई ने कहा कि यह कदम ग्राहकों के कॉन्फिडेंस को बढ़ाने के लिए उठाया गया है

महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर पदयात्रा करेगी कांग्रेस

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर कांग्रेस पार्टी पदयात्रा का आयोजन करेगी। दिल्ली में पदयात्रा में पार्टी सुप्रीमो सोनिया गांधी शामिल होंगी। यात्रा पार्टी के दिल्ली प्रदेश के दफ्तर से सुबह 9 बजे शुरू होगी इसके बाद 7000 लोगों की मानव श्रृंखला के साथ 11 बजे सुबह राजघाट पहुंचेगी। इसमें पार्टी कार्यकर्ताओं को गांधी के आदर्शों पर चलने और साम्प्रदायिक से लड़ने की शपथ दिलाई जाएगी।

राहुल गांधी का आरोप सरकार कश्मीर की राजनीति में आतंकियों को भरना चाहती है

राहुल गांधी ने जम्मू-कश्मीर के पूर्व सीएम फारूक अब्दुल्ला को पब्लिक सेफ्टी एक्ट (PSA) के तहत हिरासत में लिए जाने पर कहा कि सरकार अब्दुल्ला जैसे राष्ट्रवादी नेताओं को हटाने की कोशिश कर रही है, जिसका मकसद आतंकियों को कश्मीर की राजनीति में भरना है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि सरकार को जम्मू-कश्मीर में आतंकियों के लिए जगह बनानी बंद कर देनी चाहिए और जल्द से जल्द सभी राष्ट्रवादी नेताओं को छोड़ देना चाहिए।

आज के युवा पीढ़ी ही भारत के संस्कृति को आगे बढ़ाकर देश के मान को बढ़ा सकते हैं।

रायपुर ज्योतिष एवं द्वारका शारदा पीठ के पीठाधीश्वर जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानन्द सरस्वती महाराज अपना 70 वां चातुर्मास्य व्रत अनुष्ठान के समापन के पश्चात आज बिलासपुर पधारे एयर चिचिरदा में स्थित हरीश शाह के फार्म हाउस में विराजित हैं। पूज्य महाराजश्री से आशीर्वाद प्राप्त करने आये भक्तों एवं शिष्यों को उन्होंने कहा कि हम सभी सनातन धर्मियों को मिलकर गौ हत्या को रोकना होगा। गौ के गोबर से लोग कंडे बनाकर रोजगार करते हैं, गोबर गैस से खाना पकाते हैं, दूध से घी, मक्खन आदि बनाकर उससे रोजगार करते हैं और स्वयं भी इस्तेमाल करते हैं। आज के समय मे खेती किसानी हेतु गोबर खाद का इस्तेमाल कर शुद्ध अनाज उत्पन्न करना चाहिए। रोजाना हम प्रत्येक महिलाओं , बच्चीयों पर अत्याचार, उत्पीड़न , रेप जैसे जघन्य अपराध हम समाचार पत्र में पढ़ते हैं। इनके पीछे छुपी होती है काम वासना और नशा इस हेतु आग में घी का कार्य करती है। आज शराब युवा पीढ़ियों को अंधकार में ले जा रहा है और घरों को बर्बाद कर रहा है। देव भूमि उत्तराखंड में शराब कारखाने का हमने पुर जोर विरोध कर इसे पवित्र बनाये रखने हेतु आग्रह किया था साथ ही हमने कुछ दिन पहले ही केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी को पत्र के माध्यम से अनुरोध किया है कि जो बाईपास रोड उक्त क्षेत्र में बन रहे हैं उसे जोशी मठ के सामने से ले जाएं जिससे धर्मालंबियों को जोशी मठ - ज्योतिर्मठ तथा आदि गुरु शंकराचार्य के तप तपस्या के बारे में जानकारी प्राप्त कर सके। जो भी व्यक्ति बद्रीनाथ दर्शन करने हेतु जाते हैं वे उस रास्ते के मध्य में पढ़ने वाले ज्योतिर्मठ में रुकते हैं फिर विश्राम पश्चात आगे बढ़ते हैं। आज के समय मे व्यक्ति अधर्म प्रिय होते जा रहे हैं और शॉर्टकट पद्धति से गलत रास्ते से उपार्जन कर रहे हैं। समाज के लोगों को सत्संग करना चाहिए जिससे उनके मन मस्तिष्क में सकारात्मक ऊर्जा का संचयन हो सके। शंकराचार्य महाराज 17 सितम्बर को दोपहर को तीन दिन प्रवास हेतु रायपुर स्थित शंकराचार्य आश्रम हेतु प्रस्थान करेंगे। उक्त जानकारी शंकराचार्य आश्रम के समन्वयक व प्रवक्ता सुदीप्तो चटर्जी ने विज्ञप्ति के माध्यम से दिया।

सीआरपीएफ़ जवान देश की सुरक्षा व्यवस्था के साथ संभाल रहे शिक्षा व्यवस्था,,पढ़े पूरी खबर

छत्तीसगढ़ (बस्तर) शैलेश गुप्ता। बस्तर संभाग मुख्यालय जगदलपुर के कारली स्तिथ केंद्रीय रिज़र्व पुलिस फ़ोर्स की ई/80 बटालियन के जवान देश के प्रति अपनी सुरक्षा के साथ सामाजिक कर्तव्य समझ शिक्षा व्यवस्था भी संभाल रहे हैं।

मामला बस्तर ज़िला का है जहां ज़िला मुख्यालय से चंद दूर स्थित सीआरपीएफ़ के बटालियन के जवानों को जब विगत स्वतंत्रता दिवस समारोज़ में स्कूल में आमंत्रित किया गया था।

स्कूल में शिक्षकों की कमी देखकर सीआरपीएफ़ के सहायक कमांडेंट के मन मे स्कूली बच्चों को बेहतर शिक्षा देने का विचार उनके मन में आया।

सीआरपीएफ के सहायक कमांडेंट राजेश कुमार सिंह और उनकी टीम ने अपने बटालियन के नज़दीक संचालित विद्यालय में शिक्षकों का अभाव देखते हुए अपने टीम के सदस्यों के साथ स्कूल में शिक्षक की भूमिका भी निभा रहे हैं।

अपने वरिष्ठ अधिकारी कमांडेन्ट अमिताभ कुमार, सीआरपीएफ के सामने इस हेतु चिंता व्यक्त करते हुए अपने ड्यूटी के बाद समय में स्कूली बच्चों को पढ़ा कर उनके उज्ज्वल भविष्य के लिए सार्थक प्रयास कर सकने की मंशा व्यक्त करते संपूर्ण समस्या से उन्हें अवगत कराया।

वरिष्ठ अधिकारी ने भी शिक्षकों के अभाव में स्कूली बच्चों की शिक्षण कार्य बाधित होने की जानकारी मिलने पर सहायक कमांडेंट राजेश सिंह के सुझाव को सही समजगते हुए उन्हें रिक्त समय में स्कूल में बतौर शिक्षक अपनी सेवा के लिए उनकी सराहना किया है।

सहायक कमांडेंट राजेश सिंह व उनकी टीम ने वरिष्ठ अधिकारी द्वारा उनके कार्य की सराहना करने व बच्चों की शिक्षा व्यवस्था हेतु सहयोग करने के लिए उनका धन्यवाद दिया है।

अब यात्रियों को हमसफर रेल गाडि़यों में कम किराए पर मिलेंगी आधुनिक सुविधाएं

“हमसफर रेल गाडियों के किराए को युक्तिसंगत बनाया गया और परिवर्तनीय किराया प्रणाली के स्थान पर एक निश्चित प्रणाली की व्ययवस्था की गई”

“हमसफर रेलगाडियों का आधार किराया घटाया गया, तत्काल किराया भी घटाकर उसे सामान्य तत्काल किराए के बराबर किया गया”

“अभी मौजूद केवल तृतीय श्रेणी के वातानुकूलित डिब्बों के साथ ही अतिरिक्त शयनयान डिब्बे भी लगाए जाएंगे”

एक महत्व पूर्ण यात्री अनुकूल कदम उठाते हुए रेल मंत्रालय ने हमसफर रेलगा‍डि़यों के किराए को तर्कसंगत बनाने का फैसला किया है जिससे ऐसी रेलगाडि़यों में यात्रा करना सस्ता और आरामदायक हो सके । भारतीय रेल यात्रियों को इससे बड़ी राहत मिलेगी जो अब कम दरों पर हमसफर रेल गाडि़यों की आधुनिक सुविधाओं का आनंद ले सकेंगे । सबसे पहले इन रेलगाडि़यों की मौजूदा परिवर्तनीय किराया प्रणाली को खत्म किया गया है जिसका अर्थ है कि अब केवल एक निश्चित किराया प्रणाली होगी । दूसरा हमसफर गाडि़यों का आधार किराया सुपरफास्ट मेल एक्सप्रेस गाडि़यों के नहीं बल्कि मेल और एक्सप्रेस गाडि़यों के आधार किराए का मात्र 1.15 गुना ही होगा जिससे इनकी दरें घटेंगी । तीसरा हमसफर गाडि़यों का तत्काल किराया भी सामान्य. आधार किराए के मौजूदा 1.5 गुना से घटाकर 1.3 कर दिया गया है। तत्काल किराए की ये दरें सामान्य तत्काल किराए के नियमों के अनुरूप अधिकतम और न्यूनतम होंगी । इसका अर्थ यह है कि अब इन गाडि़यों का तत्का‍ल किराया मेल और एक्सप्रेस गाडि़यों के सामान्य तत्काल किराए के बराबर कर दिया गया है । चौथा, इन रेलगाडि़यो में अभी मौजूद केवल तृतीय श्रेणी के वातानुकूलित डिब्बों के अतिरिक्त, वातानुकूलित शयनयान डिब्बे आवश्यकता तथा जोनल रेलवे के फैसलों के अनुरूप लगाए जाएंगे । पांचवा, पहले चार्टिंग के बाद करेंट बुकिंग के तहत टिकट अन्य रेलगाडि़यों में लागू बेसिक किराए और अन्य सभी अनुपूरक शुल्क के साथ 10 प्रतिशत की छूट के साथ बेचे जाएंगे। पीआरएस प्रणाली में आवशयक बदलाव करने के बाद संशोधित किराया संरचना को अग्रिम आरक्षण अवधि में लागू किया जाएगा । हमसफर रेलगाडि़यों में शयनयान श्रेणी के अतिरिक्त डिब्बे लगाने का काम 13 सितंबर 2019 से शुरु हो चुका है। आनंद विहार-इलाहबाद हमसफर एक्सडप्रेस गाड़ी में ऐसे चार डिब्बे लगाए गए हैं । किराए पर तय आरक्षण शुल्क , सुपरफास्ट चार्ज और जीएसटी शुल्क अतिरिक्त देना होगा । खान पान शुल्क वैकल्पिक होगा । पहला आरक्षण चार्ट जारी होने के बाद खाली रह गए बर्थ को करेंट बुकिंग के लिए जारी किया जाएगा। इसके बेसिक किराए में 10 प्रतिशत की छूट दी जाएगी लेकिन आरक्षण शुल्क , सुपरफास्ट चार्ज जैसे निर्धारित अनुपूरक शुल्क पूरे देय होंगे । अग्रिम आरक्षण अवधि 120 दिनों की होगी । वारंट पर टिकट जारी करने की अनुमति दी जाएगी । टिकट रद्द करने और धनवापसी के सामान्य निमय लागू होंगे ।

लापरवाह वन विभाग के कर्मचारी , मगरमच्छ पकड़ने के 4 घंटे बाद पहुचे , ग्रामीणों में आक्रोश

A REPORT BY : अजीत मिश्रा

बिलासपुर खारंग जलाशय खुटाघाट नहर में सुबह ग्रामीणों ने एक मगरमच्छ को देखकर वन विभाग को सूचना दिया।जहां पर 4 घंटे बीत जाने के बाद भी वन विभाग के रेंजर डिप्टी रेंजर नहीं पहुंचे।जिसके चलते ग्रामीण खूद मगर को पकड़ने के लिए नहर में उतर गए।वही कुछ देर बाद कर्मचारी पहुंचे जिन्होंने ग्रामीणों की मदद से मगर को पकड़कर खुटाघाट डेम में सुरक्षित छोड़ा। सुबह नहर में नहाने गए महिलाओं ने एक मगरमच्छ को देखकर अपने परिजनों को इसकी जानकारी दि।तब उन्होंने इसकी जानकारी वन विभाग को दिया।लेकिन सूचना के बाद भी रतनपुर रेंजर डिप्टी रेंजर नहर में नहीं पहुंचे।जिसके चलते ग्रामीण 10 बजे करीब मगर को नहर में पकड़ने के लिए उतर गए।जहां उन्होंने मगर को पकड़कर बाहर निकाला।जिसके बाद मगर रस्सी को तोड़कर फिर से नहर में चला गया यह देखकर ग्रामीण खुद दोबारा मगर को पकड़ने के लिए पानी में उतर गए।वही कुछ देर बाद वन विभाग के कर्मचारी पहुंचे वहा उन्होंने ग्रामीणों की मदद से मगर को जाली में पकड़ कर खुटाघाट डेम में सुरक्षित छोड़ दिया।इस दौरान मगर को देखने के लिए आसपास के गांव से ग्रामीणों की बड़ी संख्या में भीड़ इकट्ठा हो गई थी ।

प्लास्टिक मुक्त भारत: PM नरेंद्र मोदी ने मथुरा से की अभियान की शुरुआत

पीएम नरेंद्र मोदी बुधवार को मथुरा के वेटरनरी विश्वविद्यालय में पशु आरोग्य मेले का शुभारंभ करेंगे और देशभर के लिए 40 मोबाइल पशु चिकित्सा वाहनों को झंडी दिखाएंगे। पीएम मोदी आज कई हजार करोड़ की परियोजनाओं का उद्घाटन करेंगे, इसके साथ ही पशुओं में होने वाली अलग-अलग बीमारियों के टीकाकरण कार्यक्रम की भी शुरुआत करेंगे। योजना का मकसद गाय व अन्य जानवरों को सड़क पर फैली गंदगी की वजह से प्लास्टिक खाने से बचाना है।

नहीं है आसान चांद को छू पाना, 40 से ज्यादा बार फेल हुए अमेरिका और रूस


भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी इसरो का चंद्रयान 2 मिशन अपनी तय योजना के मुताबिक पूरा नहीं हो सका। इससे देश में एक तरह जहां मायूसी का माहौल है वहीं देश के उम्मीद है कि इसरो बिना वक्त गवाएं एकबार फिर से चांद को छूने की अपनी तैयारी में जुट जाएगा। अगर चंद्रयान 2 चांद की सतह पर सही से उतर जाता तो भारत ऐसा करने वाला दुनिया का चौथा देश बन जाता। साथ ही चांद के साउथ पोल पर उतरने वाला भारत पहला देश होता।
हालांकि ऐसा नहीं हो सका है। लैंडर का अंतिम समय में जमीनी स्टेशन से संपर्क टूट गया और भारत की चांद को छूने की हसरत फिलहाल पूरा नहीं हो सका। भारत से पहले चंद्रमा पर दुनिया के केवल 6 देशों या एजेंसियों ने अपने यान भेजे हैं, जिनमें सिर्फ 3 देश- अमेरिका, रूस और चीन को ही चांद पर पहुंचने में अबतक सफलता मिली है।
इन सबके बीच सबके मन में बस यही सवाल उठ रहा है कि इस मिशन में इसरो से कहां पर चूक हो गई। आंकड़ों पर गौर करें तो भारत के मिशन चंद्रयान को मिलाकर चंद्रमा पर अबतक कुल 110 मिशन हुए हैं। इनमें 61 सफल रहे हैं जबकि 43 असफल हुए हैं। यानी पिछले 6 दशक में मून मिशन में तकरीबन 60 फीसदी मौकों पर ही सफलता मिली है। वहीं अभी तक चंद्रमा की सतह पर सॉफ्ट लैंडिग के लिए कुल 38 बार कोशिश की गई है। जिसमें से 52 फीसदी प्रयास ही सफल रहे हैं।

सबसे पहले 1958 में अमेरिका ने चंद्र मिशन शुरू किया था, लेकिन उसका मिशन पाइनियर लॉन्च असफल रहा था। अमेरिका को 6 मिशन के बाद मिली। जिसके बाद अमेरिका ने 20 जुलाई 1969 को अपोलो 11 मिशन के जरिए चांद पर यान उतारा था। अमेरिका के अंतरिक्ष यात्री नील आर्मस्ट्रांग और बज एल्ड्रिन चांद पर उतरने वाले पहले और दूसरे अंतरिक्ष यात्री थे। अमेरिका ने 1958 से 1972 तक करीब 31 मिशन भेजे। इनमें से 17 फेल हो गए।

अमेरिका जहां पहली बार चंद्रमा की सतह पर अंतरिक्ष यात्री उतारने में सफल रहा। वहीं रूस यानी तत्कालीन सोवियत संघ ने चंद्रमा की सतह पर अपना यान उतारने वाला पहला देश बना। रूस के मिशन का नाम 'लूना 2' था जो 12 सितंबर 1959 को चांद की सतह पर पहुंचा। रूस के लूना 2 मिशन को कामयाबी मिली। एक साल से थोड़े अधिक समय के भीतर अगस्त 1958 से नवंबर 1959 के दौरान अमेरिका और सोवियत संघ ने 14 अभियान शुरू किए। इनमें से सिर्फ 3 - लूना 1, लूना 2 और लूना 3 - सफल हुए। ये सभी सोवियत संघ ने शुरू किए थे। रूस ने 23 सितंबर 1958 से 9 अगस्त 1976 तक करीब 33 मिशन भेजे। इनमें से 26 फेल हो गए। अमेरिका और रूस ने कुल मिलाकर 64 मिशन चांद पर भेजे, जिसमें 43 बार सफलता तो 21 बार असफलता हाथ लगी।

चीन की सतह पर चीन का यान चांगई 4 इसी साल पहुंचा है, चीन ने 8 दिसंबर 2018 को अपना मिशन लॉन्च किया था और उसका लैंडर और रोवर 3 जनवरी 2019 को चांद की सतह पर पहुंचा। चांद का वो हिस्सा जो पृथ्वी से कभी दिखता ही नहीं है, उस हिस्से पर चीन ने अपना अपना स्पेसक्राफ्ट चांग-4 उतारा था। अंतरिक्ष के क्षेत्र में इस कदम को बड़ी क्रांति माना जा रहा है। चांद के इस हिस्से को डार्क साइड कहा जाता है, जो पृथ्वी से देखा नहीं जा सकता है। इससे पहले 2013 में चीन का चांग 3 साल 1976 के बाद चांद पर उतरने वाला पहला स्पेसक्राफ्ट बना था।

आपको बता दें कि इसी साल फरवरी को इजराइल ने अपना चंद्र अंतरिक्ष यान लॉन्च किया था। लेकिन अप्रैल में चंद्र अंतरिक्ष यान बेरेशीट चांद पर लैंडिग का प्रयास करते हुए इंजन खराब होने के कारण उसका पृथ्वी से संपर्क कट गया और वह दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। चन्द्रमा पर उतरने के अंतिम चरण में अंतरिक्ष यान का संपर्क पृथ्वी पर स्थित नियंत्रण कक्ष से टूट गया। जिसके बाद इजरायल को अपने इस मिशन को असफल घोषित करना पड़ा

देश में मोटर वाहन एक्ट लागू होने के बाद सख्ती जारी, ट्रैक्टर चालक का कटा 59 हजार का चालान...पढ़े क्यों

bbn24news.....
देश में यातायात नियमों का उल्लंघन करने वालों पर कार्रवाई जारी है. अब एक ट्रैक्टर ड्राइवर का 59 हजार का चालान कटा है. गुरुग्राम के न्यू कालोनी मोड़ पर मंगलवार दोपहर सिटी ट्रैफिक पुलिस ने चालान काटा. ट्रैक्टर ड्राइवर के पास लाइसेंस, इंश्योरेंस, आरसी नहीं था. इसके साथ ही ड्राइवर शराब पीकर तेज रफ्तार में ट्रैक्टर चला रहा था और एक बाइक सवार को टक्कर मारकर मारपीट कर रहा था. चालान कटने के बाद ट्रैक्टर को सीज कर दिया गया है.