छत्तीसगढ़

रंगों संग गीतों की सरगम,उड़ी गुलाल थिरके कदम, महिला प्रकोष्ठ की होली स्नेह उल्लास का संगम,

दो वर्ष की महामारी की विपदा और सिमटे सिमटे हालात तथा सीमित जीवन शैली के माहौल में इस वर्ष कुछ बदलाव देखने को मिल रहा है,एवं घटते कोरोना संक्रमण ने समाज को एक बार फिर उन्मुक्त उल्लास से भर दिया जिसकी बानगी होली में स्पष्ट रुप से नजर आयी,लोगों ने जमकर होली खेली तथा होली मिलन जैसे आयोजनों की प्रक्रिया भी प्रारंभ होती हुई नजर आ रही है,इसी कड़ी में सरयूपारी ब्राम्हण महिला प्रकोष्ठ द्वारा सरयू सदन में स्नेह एवं उल्लास के साथ होली मिलन का आयोजन किया गया। _____________________ सरस्वती वंदना से शुभारंभ _____________________ रंग गुलाल एवं सुमधुर गीतों से सराबोर आयोजन की शुरुवात माँ सरस्वती के आराधना से संपन्न हुई जिसके तहत समाज के वरिष्ठ सदस्यों द्वारा सरस्वती माता की प्रतिमा में माल्यार्पण के पश्चात उपस्थित सभी महिला सदस्यों द्वारा सरस्वती वंदना की गयी, तथा स्वर की देवी से उमंग उल्लास एवं आपसी स्नेह प्राप्ति की प्रार्थना करते हुए समाज में सुखमय वातावरण की कामना की गई। _____________________ नृत्य गीतों की रंगारंग प्रस्तुति _____________________ होली के सुरमयी गीतों के बीच उडते रंग और गुलाल तथा थिरकते कदमों से महिला सदस्यों द्वारा नृत्य की अभिनव प्रस्तुति से समूचा वातावरण स्नेह और उल्लास से सराबोर हो गया, विभिन्न होली के गीतों के साथ सभी सदस्यों द्वारा जमकर होली खेली गयी,तथा एक दूसरे पर रंग गुलाल लगाकर होली की शुभकामनाएं दी गयी। _____________________ स्वनिर्मित व्यंजनों का स्वाद _____________________ रंग गुलाल एवं मनोहारी नृत्यों की छटा बिखरेती इस आयोजन की समापन कड़ी महिलाओं द्वारा घर में ही बनाए गये व्यंजनों से स्वल्पाहार के रुप में संपन्न हुई, स्नेह एवं उल्लास का संगम लिए इस यादगार आयोजन को सफल बनाने मे डा निशा नरेन्द्र शर्मा, कविता शर्मा, उषा मिश्रा, सुषमा मिश्रा, केसर शर्मा, मालती त्रिपाठी, प्रमिला शर्मा, निकिता शर्मा,संध्या शर्मा, भावना मनीष शुक्ला, आशा तिवारी,सरोज तिवारी, सुनिला पाण्डेय, निशा आनंद शर्मा, कल्पना शर्मा, सरिता मुकेश शर्मा,रश्मि तिवारी, रितु शर्मा,प्रियंका तिवारी,उषा पाण्डेय, शालिनी शर्मा, आदि का सराहनीय योगदान रहा।

छत्तीसगढ़ मनवा कुर्मी क्षत्रिय समाज के सम्मेलन में शामिल हुए मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल

मोपका काॅलेज का नामकरण स्वर्गीय रामनाथ वर्मा एवं ग्राम तिल्दाबांधा में पानी की अतिरिक्त व्यवस्था की घोषणा ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूती देने में गौठानों की अहम भूमिका,ग्रामीण आजीविका का महत्वपूर्ण केन्द्र बनेगा गौठान बलौदाबाजार,20 मार्च 2022/मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने आज जिला मुख्यालय स्थित पं.चक्रपाणि हायर सेकेण्डरी स्कूल प्रांगण में आयोजित बलौदाबाजार राज कुर्मी क्षत्रिय समाज के 4 थे राज अधिवेशन में शामिल हुए। उन्होंने समाज के पूर्वजों को श्रद्धासुमन अर्पित कर सम्मेलन का शुभारंभ किया। श्री बघेल ने सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए मोपका काॅलेज का नामकरण स्वर्गीय रामनाथ वर्मा एवं ग्राम तिल्दाबांधा में पानी की अतिरिक्त व्यवस्था घोषणा की। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि समाज के विकास के लिए समय के साथ निर्णय में परिवर्तन किया जा रहा है। कुर्मी समाज प्रगतिशील समाज है। समाज मे व्याप्त विभिन्न विसंगतियों को दूर करने सार्थक कदम उठाए जा रहे है। किसी भी समाज मे परिवर्तन के लिए शिक्षा बहुत आवश्यक है।कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि राज्य के अन्नदाताओं की आर्थिक स्थिति को मजबूत करने विभिन्न योजनाएं क्रियान्वित की जा रही है। बच्चों को अंग्रेजी माध्यम में शिक्षा प्रदान करने में राज्य में स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम स्कूल खोले गए है। राज्य में गोधन योजना से रोजगार और आय के नए स्रोत प्रारंभ हुए हैं। जिसके पास पहले कोई रोजगार नहीं होता था। वे गोबर बेचकर लाभ कमा रहे हैं। इसी तरह सरकार गोठान योजना के माध्यम से गोधन की रक्षा कर रहा है। गौठान में वर्मी कंपोस्ट का निर्माण किया जा रहा है। गोधन न्याय योजना की पूरे देश में सराहना की जा रही है। गांव की परंपरा को पुनर्जीवित करने का काम सरकार द्वारा किया जा रहा है। योजनाओं को चलाने के लिए सभी की भागीदारी जरूरी है। खेतों में फसल उत्पादन के लिए वर्मी कंपोस्ट का उपयोग कर बीमारियों से बचा जा सकता है। हमे केवल सरकारी नौकरी में ध्यान नही देना है,व्यवसाय के तरफ लोगों को बढ़ाना है। वर्तमान में खेती के रकबा में वृद्धि हुआ है और इसके प्रति लोगों का रुझान बढ़ा है,देशी उत्पादों की खरीदी के लिए मूल्य निर्धारित किया जा रहा है सभी गांव में रूरल इंडस्ट्रियल पार्क बनाया जाएगा गांधी जी के सपनों को साकार करने की दिशा में सरकार निरंतर कार्य कर रहा है। उन्होंने 23 प्रतिभाशाली विद्यार्थियों को समाज की ओर से सम्मानित भी किया। सम्मेलन की अध्यक्षता कुर्मी समाज के केन्द्रीय अध्यक्ष चोवाराम वर्मा ने की। इस अवसर पर राज्यसभा सांसद श्रीमती छाया वर्मा,संसदीय सचिव एवं विधायक चंद्रदेव राय,शकुन्तला साहू,जिला पंचायत अध्यक्ष श्री राकेश वर्मा,पाठ्य पुस्तक निगम अध्यक्ष शैलेष नितिन त्रिवेदी,छत्तीसगढ़ राज्य खनिज विकास निगम के अध्यक्ष श्री गिरिश देवांगन,पूर्व विधायक श्री जनकराम वर्मा सहित समाज के जनप्रतिनिधि एवं पदाधिकारी गण विशेष रूप से उपस्थित थे। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने मुख्य अतिथि की आसंदी से सम्मेलन में कहा कि 18 साल बाद हमे आज लगता है कि कोई छत्तीसगढ़िया का सरकार आया है। हमने छत्तीसगढ़िया के अस्मिता को जगाने एवं छत्तीसगढी संस्कृति को बचाने लगातार कार्य हमारे सरकार द्वारा किया जा रहा है। जिसमें स्थानीय तीज त्योहार समेत व्यजनों को भी बढ़ावा दिया जा रहा है। उन्होंने छत्तीसगढ़ में नई सरकार के गठन के बाद धान खरीदी की मात्रा और किसानों की संख्या में निरंतर वृद्धि हो रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि गौठान को हम केवल गाय-बैल को एकत्र कर रखने का केवल ठौर हीं नहीं बल्कि इसे ग्रामीण आजीविका के महत्वपूर्ण केन्द्र के रूप में विकसित कर रहे हैं। स्थानीय महिलाएं वर्मी कम्पोस्ट के साथ ही धूप,अगरबत्ती सहित स्थानीय जरूरत की तमाम चीजें तैयार कर रही हैं। खाली पड़े जमीन पर साग-सब्जी उपजा कर अतिरिक्त आमदनी भी अर्जित कर रहे हैं। इस दौरान उन्होंने पुष्पा वर्मा द्वारा लिखित चित्रोत्पला प्रेमदीप पुस्तक का विमोचन किया।कुर्मी क्षत्रिय समाज के केन्द्रीय अध्यक्ष चोवा राम वर्मा ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि हमें गर्व है कि कुर्मी समाज के वंशज है और इस प्रदेश का मुख्या हमारे समाज का पुत्र है उन्होंने कहा कि आज समाज में बेटी बेटे की शादी को लेकर जो समस्या उत्पन हो रही है वो समाज को चिंता में डाल दिया है वहीं उन्होंने आगे कहा कि आने वाले समय में हम सभी के सहयोग से महाअधिवेशन में विधवा विवाह के लिए विशेष नियम बनाने का प्रयास करेंगे जिससे अल्प समय में हमारी छोटी उम्र की माता बहन बेटियां जो किसी हादसे के कारण विधवा हो जाती है उसका पुनः विवाह होने से अपनी जिंदगी सम्मान के साथ जी सकेंगे ।उन्होंने कफन दफन के नियमो को भी कड़ाई से लागू करने के साथ साथ समाज में अनिवार्य सहयोग राशि के लिए जोर देते हुए कहा कि इससे समाज की ताकत बड़ती है। उन्होंने आगे कहा कि कुर्मी समाज में कभी भी नेत्तुव कर्ता की कमी नहीं रही और नहीं दानदाताओं की हमारा समाज अन्य समाज के लिए हमेशा प्रेरणा देने वाला रहा है। वही श्री वर्मा ने कहा कि ग्राम विकास और स्वराज के गांधी जी के सपने को मुख्यमंत्री श्री बघेल आगे बढ़ा रहे हैं। इस अवसर पर विपिन बिहारी वर्मा, महामंत्री रघुनंदन लाल वर्मा ,के के नायक, खोडस कश्यप ,कौशल्या वर्मा ,धमेंद्र सरसिहा,चंद्रशेखर परगनिया , ठाकुर राम वर्मा, दशरथ वर्मा, जागेश्वर वर्मा, दुलारी वर्मा,भुवनेश्वर वर्मा , इंजीनियर रामकुमार वर्मा, मोती वर्मा कुशल वर्मा, डोमेश्वरी वर्मा, राकेश वर्मा, लक्ष्मी बघेल लक्ष्मी वर्मा सीमा वर्मा सरिता बघेल सुनीता वर्मा नूतन वर्मा दुर्गा वर्मा, टेसू लाल, चंद्रशेखर वर्मा मीडिया प्रभारी, सिंह, कपिल कश्यप, नरेंद्र वर्मा,किरण वर्मा , कलेक्टर डोमन सिंह,एस पी दीपक झा सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण और कुर्मी समाज के राजप्रधान और पदाधिकारी व सामाजिक कार्यकर्ता मौजूद थे।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने डॉ खूबचंद बघेल जी की अष्टधातु से निर्मित 7 फिट ऊंची प्रतिमा का किया अनवारण

बलौदाबाजार,20 मार्च 2022/मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज जिला मुख्यालय स्थित गौरवपथ के समीप डॉ खूबचंद बघेल जी की अष्टधातु से निर्मित 7 फिट ऊंची प्रतिमा का अनावरण किया। इस दौरान उन्होंने प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। साथ ही उन्होंने प्रतिमा की प्रशंसा करतें हुए स्थानीय जनप्रतिनिधियों सहित नगर पालिका परिषद बलौदाबाजार की पूरी टीम को बधाई दी। इस मौके पर कैबिनेट मंत्री डॉ शिवकुमार डहरिया, नगर पालिका परिषद अध्यक्ष चित्तावर जायसवाल समेत सभी पार्षद गण एवं कुर्मी समाज के वरिष्ठ पदाधिकारी गण उपस्थित रहे।

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल का किया गया आत्मीय स्वागत

बलौदाबाजार,20 मार्च 2022/डॉ खूबचंद बघेल की अष्टधातु से निर्मित प्रतिमा अनवारण,छत्तीसगढ़ मनवा कुर्मी क्षत्रिय समाज बलौदाबाजार राज सम्मेलन एवं सर्व ब्राम्हण समाज के शपथ ग्रहण समारोह में बलौदाबाजार पहुँचे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का स्थानीय हैलीपैड पहुँचने पर उनका आत्मीय स्वागत किया गया। हैलीपेड में कृषक कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष सुरेंद्र शर्मा,पाठ्य पुस्तक निगम अध्यक्ष शैलेष नितिन त्रिवेदी,जिलाध्यक्ष हितेंद्र ठाकुर,जिला पंचायत अध्यक्ष राकेश वर्मा,विद्याभूषण शुक्ला,निगम मंडल सदस्य सतीश अग्रवाल,अनुसूचित जनजाति आयोग सदस्य गणेश ध्रुव,कलेक्टर डोमन सिंह पुलिस अधीक्षक दीपक झा,डीएफओ के आर बढई,अपर कलेक्टर राजेन्द्र गुप्ता,सीईओ डॉ फरिहा आलम सिद्की सहित जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का आत्मीय स्वागत किया। इस दौरान कैबिनेट मंत्री डॉ शिव कुमार डहरिया उपस्थित रहे।

छत्तीसगढ़ी व्यजंनों सहित राजस्थानी व्यजनों से महक उठी बिहान मेला

विकासखंड के 210 समूहों द्वारा 55 स्टॉल से रिकॉर्ड 2 लाख रुपये से अधिक की हुई बिक्री जनप्रतिनिधियों सहित कलेक्टर शामिल होकर बढ़ाया महिला समूह का उत्साह बलौदाबाजार,16 मार्च 2022/ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत आज चौथे विकासखंड स्तरीय बिहान मेले का आयोजन जिला मुख्यालय स्थित पंडित चक्रपाणि उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के प्रांगण में जनपद पंचायत बलौदाबाजार के द्वारा किया गया। जिसमें विकासखंड के 210 समूहों द्वारा 55 स्टॉल के माध्यम से महज 7 घण्टो में रिकॉर्ड 2 लाख 3 हजार 740 रुपये की बिक्री महिला स्व सहायता समूहों के द्वारा किया गया है। जिसमें जनप्रतिनिधियों सहित कलेक्टर शामिल होकर महिला समूह का उत्साह बढाया। बिहान मेले में छत्तीसगढ़ी व्यजंनों सहित राजस्थानी व्यंजन आकर्षण का केंद्र रहा है। जिसमें सबसे ज्यादा चर्चा ग्राम खरचा के महिला स्व सहायता समूह के द्वारा बनाया गया घेवर का रहा। कार्यक्रम का का शुभारंभ संसदीय सचिव एवं विधायक कसडोल सुश्री शकुन्तला साहू,जिला पंचायत अध्यक्ष राकेश वर्मा,जनपद पंचायत पंचायत अध्यक्ष सुमन योगेश वर्मा सहित अन्य अतिथियों ने दीप प्रज्वलित कर की। इस मौके पर सभी अतिथियों ने स्टालों का निरीक्षण कर जमकर खरीदारी भी गयी। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सुश्री शकुन्तला साहू ने छत्तीसगढ़ शासन के योजनाओं के संबंध में कहा कि ग्रामीण आजीविका मिशन योजना के तहत ग्रामीण क्षेत्र की गरीब महिलाओं को आर्थिक रूप से संपन्न करने के लिए बिहान योजना से जोड़कर रोजगार मूलक कार्य उपलब्ध करा रहीं हैं। इस योजना ने ग्रामीण महिलाओं की जिंदगी बदल दी है। साथ ही स्व सहायता समूह के रूप में संगाठित कर उन्हें क्षमतावर्धन आवश्यक प्रशिक्षण प्रदान कर स्वरोजगार प्रदान किया जा रहा है।जिला पंचायत अध्यक्ष राकेश वर्मा,कृषक कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष सुरेन्द्र शर्मा ने ग्रामीण आजिविका के महत्व एवं मुख्यमंत्री के सपनों के बारे में विस्तृत से बताया।इस मौके पर अध्यक्ष हितेन्द्र ठाकुर ,जिला पंचायत सदस्य परमेश्वर यदु ,जनपद सदस्य कोमल वर्मा, ललिता यदु,मधु ध्रुव,कलेक्टर डोमन सिंह,जिला पंचायत सीईओ डॉ फरिहा आलम सिद्की,एसडीएम प्रतिष्ठा ममगाईं, सहायक परियोजना अधिकारी के के साहू,सहायक परियोजना अधिकारी एनआरएलएम मुरली कांत यदु, जनपद पंचायत सीईओ अनिल झा समेत जिला पंचायत के अधिकारी कर्मचारी एवं विभिन्न विभागों के अधिकारी गण एवं क्षेत्र के सरपंच और महिला स्व सहायता समूह के बहने मौजूद रहे। कलेक्टर को भाया पर्स मेले में स्टॉल निरीक्षण के दौरान कलेक्टर डोमन सिंह को महिला स्व सहायता समूहों के द्वारा बनाये गए पर्स उन्हें खूब पसंद आया। उन्होंने अपने गुड़िया के लिए पर्स एवं मास्क खरीदे। जिला पंचायत सीईओ ने भी मिट्टी के कुकर,आचार एवं पापड़ एवं एसडीएम प्रतिष्ठा ममगाईं ने हर्बल गुलाल की खरीदी की है। इसके साथ ही मनरेगा अधिकारी केके साहू ने रोजगार सहायकों के साथ खरीदारी की गयी। होली के त्यौहार होने के चलते सभी बहनों ने आपस मे एक दूसरे को गुलाल लगाकर होली का उत्सव मनाया।

21 से 27 मार्च तक होगा स्वस्थ बालक बालिका स्पर्धा का आयोजन

जिले में 1 लाख 50 हजार से अधिक बच्चों को होगा वजन, पोषण के स्तर का होगा पहचान बलौदाबाजार,16 मार्च 2022/कलेक्टर श्री डोमन सिंह के निर्देश पर जिले में 6 वर्ष से कम आयु के बच्चों का पोषण स्तर ज्ञात करने के लिए 21 से 27 मार्च 2022 तक स्वस्थ बालक बालिका स्पर्घा का आयोजन किया जाएगा इस स्पर्धा में जिले के 1 लाख 50 हजार से अधिक बच्चों का वजन लिया जाएगा। जिला कार्यक्रम अधिकारी ने इस संबंध में वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम् से स्वस्थ बालक बालिका स्पर्धा प्रशिक्षण में जिले सभी परियोजना अधिकारीपर्यवेक्षक इत्यादि को निर्देशित किया गया साथ ही अभियान को सफल बनाने हेतु सूक्ष्म कार्ययोजना से अवगत कराया गया। स्वस्थ बालक बालिका उद्देश्य 0 से 06 वर्ष आयु के बच्चों के पोषण स्थिति में सुधार, कुपोषित बच्चों के साथ-साथ स्वस्थ बच्चों पर अधिक ध्यान देना। लबच्चों के स्वास्थ्य पोषण से संबंधित मुद्दों पर मुदाय का भावनात्मक जुड़ाव पैदा करना है। जिले में 1956 आंगनबाड़ी केन्द्र संचालित है वहां की आंगनबाड़ी कार्यकर्ता द्वारा प्रत्येक आं.बा. केन्द्र के लिए निर्धारित तिथि तय कर वहां के 6 वर्ष तक के सभी बच्चों का एक ही दिन में वजन लिया जाएगा। पोषण सतर ज्ञात करने हेतु पालक भी गूगल प्ले स्टोर से पोषण ट्रैकर एप्प इंस्टाल कर रजिस्टेशन कर बच्चों का वजन पश्चात् पोषण स्तर की प्रमाण पत्र प्राप्त कर सकते है।

सफाई अभियान जारी,सभी कार्यालयों में हुई साफ सफाई

बलौदाबाजार,12 मार्च 2022/ कलेक्टर डोमन सिंह के निर्देश पर आज जिलें के सभी शासकीय कार्यालयों में विशेष सफाई अभियान चलाया गया। आज स्वयं कलेक्टर श्री सिंह बने अपने कोर्ट रूम का सफाई किया। साथ ही उन्होंने परिसर में स्थित विभिन्न कार्यालयों का भी निरीक्षण किया। इसके साथ ही सभी विभागों के कर्मचारियों ने अपने कार्यालय के अलावा परिसर की भी सफाई की है। इसी तरह जिला मुख्यालय, विकासखंड मुख्यालयो स्थित अन्य शासकीय कार्यालयों में भी सफाई अभियान चलाया गया एवं उस सभी का फोटो,वीडियो एक विशेष ग्रुप के माध्यम से शेयर किया गया।गौरतलब है कि कलेक्टर ने प्रत्येक दूसरे एवं तीसरे शनिवार को विशेष सफाई अभियान चलाने के निर्देश दिए है। साथ ही सफाई के पश्चात सँयुक्त एवं डिप्टी कलेक्टर के टीम द्वारा सफाई का निरीक्षण कर मूल्यांकन किया जाता है। जिसमे उत्कृष्ट प्रदर्शन पर उक्त विभाग कार्यालय को समय सीमा के बैठक में कलेक्टर द्वारा पुरूस्कृत किया जाता है। पहले माह में की सफाई में जिला कोषालय, दूसरे में अपर कलेक्टर कार्यालय एवं भू अभिलेख शाखा ने बाजी मारी थी। ततुरतुरिया सहित कसडोल विकासखंड के 40 गावों में विशेष स्वच्छता अभियान जनपद पंचायत सीईओ हरिशंकर चौहान के विशेष आव्हान पर ततुरतुरिया सहित कसडोल विकासखंड के 40 गावों में साप्ताहिक 2 घन्टे स्वच्छता अभियान ग्राम पंचायतो के जनप्रतिनिधियों एवं ग्रामीणों द्वारा की जा रही है। आज इसके तहत राम वनगमन पथ अंतर्गत तुरतुरिया में जनपद पंचायत कसडोल के कर्मचारियों एवं स्थानीय ग्रामीणों के द्वारा परिसर स्थल का साफ सफाई किया गया। इन गांवों में प्रमुख रूप से देवरीकला ,दर्रा,कटगी,अमरुवा, मुडपार,गिधौरी,खपरीडीह,चाटीपली, नवापारा,छतवन,चंदन ,हसुवा, बोरसी, बरपाली, कौवताल, कुम्हरी, आमुरुवा, गिरौद शामिल

सखी वन स्टॉप सेंटर के 5 वर्ष पुरे हुए,1001 प्रकरण किये गए दर्ज 946 का हुआ निराकरण

बलौदाबाजार,11 मार्च 2022/विपत्ति ग्रस्त महिलाओं को आपातकालीन सहायता प्रदान करने के उद्देश्य से जिला मुख्यालय के सँयुक्त जिला कार्यालय परिसर के नजदीक ही सखी वन स्टॉप सेंटर का संचालन 10 मार्च 2017 से निरंतर किया जा रहा है। ‘‘सखी‘‘ वन स्टॉप सेंटर का मुख्य उद्देश्य सभी आयु वर्ग की महिलाओं को घर के भीतर व बाहर घरेलु हिंसा, लैंगिक हिंसा, टोनही प्रताड़ना, दहेज प्रताड़ना, यौन उत्पीड़न, बाल विवाह, एसिड अटैक, बलात्कार, मानव तस्करी आदि जैसे अपराधो के विरूद्ध एक ही छत के नीचे सलाह, संरक्षण व मार्गदर्शन प्रदान करना है। सखी वन स्टॉप केन्द्र 24 घंटे 7 दिन निरंतर सेवा हेतु तत्पर है। केन्द्र द्वारा पीड़ित महिलाओं केा आवश्यकतानुसार चिकित्सकीय परामर्श, काउंसलिंग, विधिक सहायता, पुलिस सहायता एवं आश्रय प्रदान किया जाता है। केन्द्र प्रशासक कु तुलिका परगनिहा द्वारा बताया गया कि, सखी वन स्टॉप सेेंटर में फरवरी 2022 तक 1001 प्रकरण दर्ज किया गया है, जिसमें 946 प्रकरण निराकृत कर 55 प्रकरण लंबित है,वर्तमान तक 386 पीड़िताओं को आश्रय सुविधा, 178 पुलिस सुविधा,196 चिकित्सा सुविधा, 77 विधिक सुविधा उपलब्ध करवाया जा चुका है। कोविड लॉकडाउन के दौरान भी सखी वन स्टॉप सेंटर 24/7 दिन संचालित रहा, जिसमें 120 से अधिक प्रकरण दर्ज किया गया है एवं 50 से अधिक पीड़िताओं को इस दौरान आश्रय सूविधा प्रदान किया गया है। वर्तमान तक 523 काउंसलिंग किया गया है, जिसमें से कई प्रकरणों में काउंसलिंग कर घरेलु विवाद से अलग हुए पति-पत्नि को एक किये जाने में सखी सेंटर की अहम भुमिका रही है एवं 48 भटकती अवस्था में मिली महिलाओं से 38 को उनके परिजन से मिलवाया गया अन्य महिलाएँ बलिकाएँ को अन्य आश्रय गृह आश्रय हेतु भेजा गया। सखी वन स्टॉप सेंटर में सबसे अधिक दर्ज होने वाले प्रकरण घरेलु हिंसा से संबंधित है, जो कि 432 है, जिनमें से 299 पीड़िताओं को काउंसलिंग सुविधा उपलब्ध करवाया गया है एवं 55 पीड़िताओं को आश्रय सुविधा उपलब्ध करवाया गया है। सखी वन स्टॉप सेंटर द्वारा मानसिक विक्षिप्ता से संबंधित 27 प्रकरण दर्ज किये गये है, जिनमें से 15 को चिकित्सकीय ईलाज हेतु राज्य मानसिक चिकित्सालय सेंदरी, बिलासपुर भेजा गया एवं अन्य पीड़िताओं को जिला चिकित्सालय बलौदाबाजार से परिक्षण करवाकर उनके परिजन के सुपुर्द करवाया गया। विगत 5 वर्षाें से केन्द्र प्रशासक कु तुलिका परगनिहा, परामर्शदाता श्रीमती कविता वर्मा,केस वर्कर ज्योति ताडीं, तमन्ना जांगड़े, वीणा साहू, नीलम साहू, आई.टी.वर्कर सोनचंद घृतलहरे, बहुद्देशीय कार्यकर्ता पांचो साहु, अंजु पटेल, विद्या साहु एवं दिव्या कैवर्त्य कार्यरत है तथा स्वास्थ्य विभाग से प्रतीभा चेलक, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण से वकिल रुबि वर्मा पीएलवी हेमलता वर्मा, इश्वरी घृतलहरे, महिला आरक्षक चंद्रकला भारती,नगर सैनिक सुलेखा डहरिया सखी मे अपनी सेवाएं दे रही है। पीड़ित महिलाएँ सखी वन स्टॉप सेंटर से संपर्क न. 7089383268 एवं महिला हेल्पलाइन 181(टोल फ्री नं ) के माध्यम से संपर्क कर सकती है। सखी वन स्टॉप सेंटर अपने उद्देश्यों को पूरा करने में सफल रही है एवं पीड़ित महिलाओं के लिए एक वरदान बनकर सामने आ रही है। कलेक्टर ने दी बधाई कलेक्टर श्री डोमन सिंह ने सखी सेंटर के 5 वर्ष पूरे होने पर सखी सेंटर के सभी कर्मचारियों को बधाई दिए है। उन्होंने कहा आप सभी इसी तरह पूरी लगन एवं मेहनत के साथ कार्य करते है। इसी तरह महिला एवं बाल विकास विभाग जिला कार्यक्रम अधिकारी एल आर कच्छप ने भी सखी सेंटर के 5 वर्ष होने पर शुभकामनाएं संदेश प्रेषित किए

80 से अधिक महिला स्व सहायता समूहों ने किया अपने उत्पादों का प्रदर्शन,73 हजार रुपये से अधिक की हुई बिक्री,हाथों हाथ बिके उत्पाद

हर्बल गुलाल की रही मांग,बांस के बने कलाकृतियों ने मोहा सब का मन बलौदाबाजार,10 मार्च 2022/कलेक्टर डोमन सिंह के मार्गदर्शन में जिला पंचायत सीईओ डॉ फरिहा आलम सिद्की के नेतृत्व में महिलाओं को सशक्त एवं गौठान में बने उत्पादों को एकीकृत विक्रय विक्रय को बढ़ाने के लिए प्रत्येक विकासखंड मुख्यालयों में बिहान मेले का आयोजन किया जा रहा है। इसके तहत आज विकासखंड सिमगा में मिनी स्टेडियम परिसर में बिहान मेले का आयोजन किया गया। जिसमें 80 से अधिक महिला स्व सहायता समूहों ने अपने उत्पादों का प्रदर्शनी किया। जिसमें महज 7 घंटों में 73 हजार 456 रुपये की हुई बिक्री हुई। पूरे बिहान मेले में ग्राम बैकोनी के महिला स्व सहायता समूह द्वारा हर्बल गुलाल एवं ग्राम हिरमी महिला स्व सहायता समूहों द्वारा बनाएं गए बांस के कलाकृतियों ने सब का मन मोहा।इस मेले में जिला पंचायत अध्यक्ष राकेश वर्मा,निगम मंडल सदस्य सतीश अग्रवाल,जिला पंचायत सदस्य रमेश धृतलहरे,अदिति बाघमार,जनपद पंचायत अध्यक्ष वीणा आडिल, उपाध्यक्ष जनपद पंचायत सदस्य गंगा ओघरे, धर्मिन संतोष साहू,निधि कोमल टंडन,प्रेमिन चंद्रशेखर साहू खनिज न्यास बोर्ड के सदस्य सुनील महेश्वरी,कलेक्टर डोमन सिंह एवं जिला पंचायत सीईओ डॉ फरिहा आलम सहित बड़ी संख्या में जनप्रतिनिधियों में शामिल हुए। सभी जनप्रतिनिधियों ने खुले मन से जिला प्रशासन की अभिभव प्रयास की प्रशंसा की। जिला पंचायत अध्यक्ष राकेश वर्मा ने कहा कि महिलाओं के लिए ऐसे कार्यक्रम का आयोजन होते रहना चाहिए जिससे इनको पहचान एवं आर्थिक रूप से सशक्त होने का मौका मिलना चाहिए। कलेक्टर डोमन सिंह ने सभा को संबोधित करतें हुए गौठान में कार्य करनें वाले सभी महिला स्व सहायता समूहों के सदस्यों की कार्यो की प्रशंसा की। उन्होंने बिहान मेले के उद्देश्यों के बारे में विस्तृत से बताया। इस मौके पर विकासखण्ड में उत्कृष्ट कार्य करने वाले स्व सहायता समूहों एवं कर्मचारियों को सम्मानित किया गया। उक्त मेले में पूरे विकासखंड के अंर्तगत महिला स्व सहायता समूह के द्वारा विभिन्न गौठान में बनाये गये 50 उत्कृष्ट उत्पादों का प्रदर्शनी लगाया जा रहा है। इस मेले के उद्देश्यों के संबंध में जानकारी देते हुए जिला पंचायत सीईओ डॉ फरिहा आलम सिद्की ने बताया कि इस मेले के माध्यम से उनके उत्पादों को आम जनता तक पहुँचाने के लिए एक स्थान दिलाना है। जिससे इनकी उत्पादों की बिक्री अधिक से अधिक हो सके। इससे महिलाएं आर्थिक रूप से सशक्त हो सकती है। साथ ही इस मेले में महिला स्व सहायता समूहों को मार्केटिंग की ट्रेनिग,एक दूसरे समूहों के द्वारा बनाये गए उत्पादों की तुलना, पैकेजिंग में गुणवत्ता जैसे अन्य महत्वपू र्ण गतिविधियों को भी शामिल हुआ था। इस मौके पर जनप्रतिनिधियों एवं प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा बड़ी संख्या में उत्पाद खरीदी की गयी। मेले में शामिल संतोषी स्व सहायता समूह भटभेरा द्वारा बाड़ी में लगाएं फूलो का विक्रय किया गया। समूह की अध्यक्ष भोजा वर्मा ने बताया कि आज हमने 300 सौ रुपये के फूल हमनें बेचे है। इसी तरह ग्राम सुहेला के विधि महिला स्व सहायता समूह नीतू वर्मा ने बताया कि हमारे समूह द्वारा अगरबत्ती का निर्माण किया जाता है। आज बिहान मेले में 22 सौ रूपए के अगरबत्ती आज बेचा गया है। अभी तक हमारे समूह द्वारा 20 हजार रुपये तक का बिक्री किया गया है। हमारे समूह में 9 लोग है। लगभग 8 हजार रूपए का शुद्ध लाभ अभी तक हुआ है। उक्त मौके में तहसीलदार बलराम तम्बोली, जनपद पंचायत सीईओ पंकज देव सिंह,सहायक परियोजना अधिकारी मनरेगा केके साहू,सहायक परियोजना अधिकारी स्वच्छता मुरली यदु,जिला समन्वयक एनआरएलएम विक्रम सिंह सहित अन्य विभागों के अधिकारी कर्मचारी उपस्थित थे।आगामी 11 मार्च को पलारी 16 मार्च को बलौदाबाजार,कसडोल में 23 एवं बिलाईगढ़ में 25 मार्च को आयोजित की जाएगी। साथ ही 30 मार्च को जिला स्तर का बिहान मेले का आयोजन किया जायेगा।

2 सालों से बंद हुए सोनबरसा नेचर ट्रेल पर्यटकों के लिए होगा पुनः प्रारंभ- कलेक्टर

पर्यटकों के सुविधा के लिए, कैंटीन,गार्डन,झूला,फ़िश एक्वेरियम एवं बच्चों के लिए टैन्टिंग की रहेगी व्यवस्था बलौदाबाजार,10 मार्च 2022/जिला मुख्यालय के समीप स्थित सोनबरसा नेचर ट्रेल पर्यटकों के पुनः प्रारंभ करनें के निर्देश वन विभाग को कलेक्टर डोमन सिंह ने दिए है। आज कलेक्टर सिंह ने सोनबरसा नेचर ट्रेल का अवलोकन कर जायजा लिया। उन्होंने उक्त स्थान की प्रशंसा करतें हुए पर्यटकों की सुविधाओं को और अधिक बढ़ाने के निर्देश दिए है। जिसके तहत,कैंटीन,गार्डन,घास का लॉन,झूला,फ़िश एक्वेरियम,बनाने का निर्णय लिया गया है। इसके साथ ही बच्चों के लिए बड़ी संख्या में टैन्टिंग की भी व्यवस्था एवं सीमेंटेड कुर्सियां लगाने के लिए कहा गया है। जिससे अधिक से अधिक लोग इस स्थान पर सपरिवार आकर अपना समय व्यतीत कर सकतें है। शहर से बहुत नजदीक स्थित होने पर पर्यटन अधिक से अधिक यहां पहुँच सकतें है। लोग छुट्टियों के दिनों में बच्चों को के साथ ऐसे स्थान पर आना बेहद पसंद करते है। फ़िश एक्वेरियम मत्स्य पालन विभाग द्वारा बनाया जाएगा। जिसमें विविध प्रकार के रंग बिरंगी मछलियां रहेंगी। जो बच्चों के लिए बड़े आकर्षक के साथ ही ज्ञान वर्धक साबित होगा।गौरतलब है कि कोविड संक्रमण के चलते पिछेल 2 सालों से अधिक समय से पर्यटकों के लिए बंद कर दिए गए थे। सोनबरसा में हिरण,सोनकुत्ता,रँग बिरंगी तितलियों सहित अनेक प्रकार के वनस्पति भी बड़े पैमाने मे उपस्थित है। आस पास के ग्रामीण भी पिकनिक के लिए सोनबरसा के जंगलों में पहुँचते है। निरीक्षण के दौरान डिप्टी कलेक्टर महेश राजपूत,श्यामा पटेल सहित वन विभाग के अधिकारी कर्मचारी उपस्थित रहें।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कर्मचारियों और युवाओं को दी बड़ी सौगात....

रायपुर- मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अपना चौथा बजट पेश किया बजट के दौरान उन्होंने कर्मचारियों को पुरानी पेंशन योजना को लागू कर कर्मचारियों को एक बड़ी सौगात दी है। वही स्थानीय निवासियों याने छत्तीसगढ़ निवासी छात्रों को व्यापम और पीएससी की परीक्षा फ़ीस नहीं लगेगी । मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पिछले सप्ताह की पुरानी पेंशन योजना की बहाली के संकेत दिए थे। बताया जा रहा है, वित्त विभाग ने इसकी शुरुआती कवायद पूरी कर ली है। अनुमान है कि पुरानी पेंशन योजना लागू होने से अगले एक दशक तक सरकार पर वित्तीय बोझ नहीं आने वाला, उल्टे 1680 करोड़ रुपया सालाना की बचत होगी। यह वह राशि है जो सरकार अंशदायी पेंशन यानी नई पेंशन योजना में अपने पास से देती है। नई पेंशन योजना 2004 से लागू हुई है। उसके बाद भर्ती हुए सरकारी कर्मचारियों की संख्या तीन लाख 30-40 हजार बताई जा रही है। ये कर्मचारी 2030-32 के बाद ही रिटायर होंगे, तब सरकार पर उनके देयकों का बोझ पड़ेगा।

गिरौदपुरी मेला की तैयारियां पूरी, कलेक्टर-एसपी ने पहुँचकर लिया जायजा सुरक्षा की रहेंगी चाक चौबंद व्यवस्था

बलौदाबाजार,6 मार्च 2022/ कल से शुरू होने वाले तीन दिवसीय विश्व प्रसिद्ध गिरौदपुरी मेला की तैयारियां पूरी हो गयी है। आज कलेक्टर डोमन सिंह एवं पुलिस अधीक्षक दीपक झा ने गिरौदपुरी पहुँचकर तैयारियों का जायजा लिया। इस दौरान उन्होंने मुख्य मंदिर,गुरु निवास,मुख्य मंच, जैतखाम,मेला स्थल,पुलिस कंट्रोल स्थल, छाता पहाड़ सहित हेलीपैड एवं अन्य प्रमुख स्थलों का निरीक्षण किया। उन्होंने स्थानीय विश्राम गृह में सभी विभागों के प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बैठक कर आवश्यक दिशा निर्देश दिए है। उन्होंने बैठक में कहा आने वाले श्रद्धालुओं को किसी भी प्रकार की परेशानियां नही होनी चाहिए,उनकी तमाम सुविधाओं को खास ख्याल रखें,पेयजल पानी, स्वास्थ्य,शौचालयों में सफाई,विद्युत व्यवस्था एवं मूलभूत सुविधाओं का विशेष ध्यान देने की जरूरत होती है। साथ ही महिला स्व सहायता समूह के सदस्यों को खाद्य वितरण में विशेष ध्यान रखें। पुलिस अधीक्षक दीपक झा ने पुलिस अधिकारियों को सुरक्षा एवं पार्किंग में जरा भी कोताही नही बरतने के निर्देश दिए है। इस दौरान अपर कलेक्टर राजेन्द्र गुप्ता,जिला पंचायत सीईओ डॉ फरिहा आलम सिद्की, , डीएफओ के आर बढई अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पीताम्बर पटेल एसडीएम अनुपम तिवारी एवं मेला समिति के अन्य पदाधिकारी, महंत,राजमहन्त उपस्थित रहें।

क्लब फुट से प्रभावित 5 बच्चों का जिला हॉस्पिटल में हुआ सफल ऑपरेशन

बलौदाबाजार,5 मार्च 2022/जिला अस्पताल बलौदाबाजार में राष्ट्रीय बाल सुरक्षा कार्यक्रम के प्रयास से क्लब फुट से प्रभावित 5 बच्चों का ऑपरेशन सफलतापूर्वक किया गया। ऑपरेशन के पश्चात ये बच्चे अब सामान्य बच्चों की तरह चल -फिर सकेंगे। इस संबंध में जानकारी देते हुए सिविल सर्जन डॉ राजेश कुमार अवस्थी ने बताया कि क्लब फुट एक ऐसी स्थिति है जिसमें बच्चे के पैर अंदर की ओर मुड़े हुए होते हैं तथा तलवे एक दूसरे के सामने हो जाते हैं। पैर एक तरफ या कभी-कभी उल्टे दिखाई देते हैं। इससे प्रभावित पैर में पिंडलियों की मांसपेशियां पूरी तरह से विकसित नहीं हो पाती है जिस कारण बच्चे को चलने में असुविधा होती है। जिन बच्चों का ऑपरेशन किया गया वह हैं, ग्राम मझगाँव से 10 वर्षीय रितेश बाँधे एवं 7 वर्षीय प्रिया जांगड़े, ग्राम रामपुर से 5 वर्षीय विवेक यदु, ग्राम पासिद से 6 वर्षीय अनुराग साहू और तरेंगा से 1 वर्षीय गोविंद साहू शामिल है। 7 वर्षीय प्रिया जांगड़े की दादी गीताबाई ने बताया कि बच्ची को जन्म से ही यह समस्या थी पूर्व में एक बार दूसरे पैर में हम आपरेशन करवा चुके हैं।इस ऑपरेशन के बाद से आशा है कि बच्ची अब सामान्य तरीके से चल -फिर सकेगी । इसी प्रकार महार बाई जोकि रितेश बांधे की दादी हैं उन्होंने भी बताया कि यह ऑपरेशन पूरी तरह से निशुल्क रहा तथा दवाइयां और अन्य सुविधाएं अस्पताल के द्वारा प्रदान की गई हैं जिससे वह संतुष्ट हैं। यह रहे टीम में - सिविल सर्जन डॉ राजेश कुमार अवस्थी के मार्गदर्शन में आयोजित इस ऑपरेशन को डॉ. के एस बाजपेई, डॉ.वसीम रजा,डॉ कल्याण सिंह कुरुवंशी एवं डॉ अशोक तिवारी की टीम ने सफलतापूर्वक अंजाम दिया साथ में सिस्टर आभा खान ने सहयोग दिया। गौरतलब है कि उक्त बच्चों के क्लब फुट की प्रारंभिक रूप से पहचान भाटापारा में राष्ट्रीय बाल सुरक्षा कार्यक्रम (चिरायु) टीम द्वारा की गई थी। चिरायु के अंतर्गत आंगनबाड़ी तथा स्कूलों में बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण करने के लिए टीम जाया करती है। कलेक्टर ने दी बधाई कलेक्टर डोमन सिंह ने 5 बच्चों के सफल ऑपरेशन के लिए जिला हॉस्पिटल की पूरी टीम को बधाई दी है। साथ ही उन्होंने स्वास्थ्य विभाग की कर्मचारियों को भी बधाई दी है जो ऐसे बच्चों को चिन्हाकित कर उन्हे स्वास्थ्य लाभ मुहैया कराते है। आगें भी आप लोग ऐसे ही पूरी लगन के साथ मेहनत करतें रहें।

रायपुर इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस में बाल रोग विभाग ने बेसिक नियोनेटल रिससिटेशन प्रोग्राम पर इंडियन एकेडमी ऑफ पीडियाट्रिक्स और नेशनल नियोनेटोलॉजी फोरम द्वारा समर्थित एक कार्यशाला और प्रशिक्षण आयोजित किया।

रायपुर इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस में बाल रोग विभाग ने बेसिक नियोनेटल रिससिटेशन प्रोग्राम पर इंडियन एकेडमी ऑफ पीडियाट्रिक्स और नेशनल नियोनेटोलॉजी फोरम द्वारा समर्थित एक कार्यशाला और प्रशिक्षण आयोजित किया। प्रथम गोल्डन मिनट परियोजना का मुख्य उद्देश्य छत्तीसगढ़ राज्य में शिशु मृत्यु दर को कम करना है। प्रशिक्षण में प्राध्यापकों द्वारा किया गया। जेएन मेडिकल कॉलेज रायपुर। राज्य समन्वयक डॉ ओंकार खंडवाल और डॉ आकाश लालवानी संकाय उपस्थित थे और प्रशिक्षकों डॉ प्रंकुर पांडे, डॉ पूर्णिमा मागरेकर, डॉ सिद्धार्थ थे। इस अवसर पर बाल रोग विभाग पं. जेएन मेडिकल कॉलेज रायपुर के विभागाध्यक्ष प्रो डीआर शारजा फुलझेले उपस्थित थे। कार्यक्रम का आयोजन बाल रोग विभाग रिम्स द्वारा डीन डॉ. गंभीर सिंह और निदेशक डॉ. आदिले और विभाग के संकाय डॉ रेणु काले, डॉ मेधा भागवत और डॉ चितरंजन नाइक के तत्वावधान में किया गया था। डॉक्टरों और नर्सिंग स्टाफ को प्रमाणित प्रशिक्षण दिया गया।

बसनाझर मे पंचायत प्रतिनिधियों स्वास्थ्य एवं जलवायु परिवर्तन पर तीन दिवसीय प्रशिक्षण संपन्न

खरसिया ब्लॉक अंतर्गत ग्राम पंचायत बसनाझर स्वास्थ्य मितानिन कार्यक्रम के तहत तीन दिवसीय वार्ड पंच एवं सरपंचो का प्रशिक्षण रखा गया जिसमें जैमुरा, बसनाझर तथा करूमौहा पंचायत सरपंच तथा पंचों ने प्रशिक्षण में भाग लिया जिसमें त्रिस्तरीय पंचायती राज के तहत पंचायतों के निर्वाचित पंचो का आधारभूत प्रशिक्षण तीन दिवसीय प्रशिक्षण सत्र में पंचायत प्रतिनिधियों को पंचायती राज की बारीकियों से सरकारी योजना के क्रियान्वयन के महत्वपूर्ण विषयों पर प्रशिक्षण दिया जा रहा है सरपंच तथा पंचों को उनके मौलिक अधिकार व कर्तव्य के बारे में बताया गया तथा स्वास्थ्य भारत अभियान पर्यावरण वायु प्रदूषण एवं स्वास्थ्य के महत्वपूर्ण अपनी अहम भागीदारी निभाने पर जोर दिया गया बता दें कि प्रशिक्षण में स्वास्थ्य पंचायत समन्वयक उमा भारती ने बताई की स्वच्छता मिशन के तहत प्रत्येक गांव में किसी तरह की गंदगी ना रहे लोग खुले में शौच ना जाएं इसीलिए सभी के घरों में सरकार द्वारा शौचालय का निर्माण किया गया है तथा उनको उपयोग के लिए प्रेरित भी करना हम सबकी जिम्मेदारी है उन्होंने पंचायत प्रतिनिधियों के आवाहन करते हुए कहा कि ऐसे कार्य योजना बनाई जाए कि सरकार की जनकल्याणकारी योजना का सीधा लाभ आम लोगों तक पहुंच सके इस कार्यक्रम से प्रेरित होकर सरपंच पंच ने जागरूकता दिखाते हुए अपने अपने ग्राम पंचायतों में इन कार्यों की पहल करने की बात भी कही इस मौके पर स्वास्थ्य पंचायत समन्वयक उमा भारती, जिला समन्वयक प्रदीप कुमार डनसेना, मितानिन प्रशिक्षित का श्री रेंद्र बंजारे, करुमुहा सरपंच दिलीप कुमार, बसनाझर सरपंच मनु बाई , उपसरपंच करूमौहा मेमसेन तथा तीनों पंचायत के पंच गण तथा पंचायत प्रतिनिधि उपस्थित रहे