बड़ी खबर

भारतमाला योजना के अंतर्गत छत्तीसगढ़ के तीन राजमार्ग होंगे शामिल : मुख्यमंत्री के आग्रह पर मिली अनुमति

 
  रायपुर, 05 फरवरी 2021 छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने नई दिल्ली में आज केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री   नितिन गडकरी से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने राज्य की आवश्यकताओं और समस्याओं से अवगत कराते हुये नक्सल प्रभावित और औद्योगिक क्षेत्रों के विकास के लिए सड़क परिवहन सुविधाएं बढ़ाए जाने का आग्रह किया। मुख्यमंत्री के आग्रह पर केंद्रीय मंत्री  गडकरी ने आवश्यक कारवाई के लिए तत्काल अधिकारियों को निर्देशित किया। वहीं, भारतमाला योजना अंतर्गत तीन राजमार्गों को शामिल करने की अनुमति भी प्रदान की।
    मुलाकात के दौरान बघेल ने छत्तीसगढ़ में राष्ट्रीय राजमार्गों और सैद्धांतिक राष्ट्रीय राजमार्गों के चौडीकरण, उन्नयन, पुनर्निर्माण के लिए प्रस्तावित कार्यों को अनुमति देने का आग्रह किया।  बघेल ने भारत माला योजना के अंतर्गत तीन राजमार्गों को शामिल करने की मांग भी की है।
    जिस पर तत्काल कार्रवाई करते हुये केंद्रीय मंत्री ने राज्य में लगभग 20 हजार करोड़ के सड़क निर्माण कार्यों की सहमति देते हुये रायगढ़-धरमजयगढ़ मार्ग, अम्बिकापुर-भैसामुड़ा-वाड्रफनगर-धनगांव-बम्हनी-रेनुकुट-बनारस मार्ग और पंडरिया-बजाग-गाड़ासरई मार्ग को भारतमाला योजना में शामिल करने की अनुमति प्रदान की। इसके अलावा पूर्व में इस योजना में सम्मिलित रायपुर-दुर्ग बायपास, रायपुर-विशाखापट्टनम मार्ग और बिलासपुर-उरगा मार्ग का निर्माण कार्य शीघ्र प्रारम्भ करने के अनुरोध को भी केंद्रीय मंत्री ने स्वीकार किया है।
    मुलाकात के दौरान  बघेल ने वार्षिक योजना 2020-21 के अंतर्गत मुंगेली से पोंडीमार्ग और मदांगमुड़ा से देवभोग ओडिशा सीमा तक निर्माण कार्य की स्वीकृत, राष्ट्रीय राजमार्ग चांपा-कोरबा-कटघोरा मार्ग के अत्यंत खराब स्थिति और राष्ट्रीय राजमार्गों पर विद्यमान लेवल क्रॉसिंग पर आरओबी निर्माण की ओर भी केंद्रीय मंत्री का ध्यान आकर्षित कराया। वहीं, मुख्यमंत्री ने रायपुर से धमतरी मार्ग के चौड़ीकरण एवं उन्नयन कार्य की धीमी गति पर संबंधितों को कार्य की गति बढ़ाने हेतु निर्देशित करने की बात कही।
    केंद्रीय मंत्री  नितिन गडकरी ने राजमार्गों के विकास संबंधी अन्य विभिन्न प्रस्तावों पर जल्द से जल्द सकारात्मक पहल करने का आश्वासन दिया है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री के सचिव तथा लोक निर्माण विभाग के सचिव सिद्धार्थ कोमल परदेशी भी उपस्थित थे।

IMPORTANT NEWS :- बजट 2021 न्यूज़ : बजट में आम आदमी के काम की खबर, जानें क्या सस्ता और क्या महंगा....

A Report By : Mr Yash Kumar Lata ( Co-Editor / BBN24News )

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज वित्तीय वर्ष 2021-2022 के लिए बजट पेश किया. कोरोना काल में पूरे देश को वित्त मंत्री से बड़े एलान की उम्मीद थी. वित्त मंत्री ने भी लोगों को निराश नहीं किया. कई सेक्टर में वित्त मंत्री ने खजाना खोल दिया.

बजट 2021 में ये चीजें हुईं महंगी

- मोबाइल और चार्जर महंगा

- तांबे का सामान महंगा

- सूती कपड़े महंगे

- इलेक्ट्रॉनिक सामान महंगा

- कॉटन के कपड़े महंगे

- रत्न महंगे

- लेदर के जूते महंगे

- सोलर इन्वर्टर महंगा

- सेब महंगा

- काबुली चना महंगा

- यूरिया महंगा

- डीएपी खाद महंगी

- चना दाल महंगी

- पेट्रोल-डीजल महंगा

- शराब महंगी (शराब पर 100 प्रतिशत सेस लगेगा)

- ऑटो पार्ट्स महंगे

क्या क्या सस्ता हुआ?

स्टील से बने सामान

तांबे का सामान

चमड़े से बने सामान

ड्राई क्लीनिंग सस्ती

लोहे के उत्पाद सस्ते

पेंट सस्ता

स्टील के बर्तन सस्ते

इंश्योरेंस सस्ता

बिजली सस्ती

जूता सस्ता

नायलॉन सस्ता

पॉलिस्टर सस्ता

तांबे का सामान सस्ता

कृषि उपकरण सस्ते

छत्तीसगढ़ में पंजीकृत किसानों में से रिकार्ड 95.38 प्रतिशत किसानों ने समर्थन मूल्य पर बेचा धान

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ में लागू की गई किसान हितैषी नीतियों और समर्थन मूल्य पर धान खरीदी की बेहतर व्यवस्था के कारण खरीफ विपणन वर्ष 2020-21 में कुल पंजीकृत किसानों में से रिकार्ड 95.38 प्रतिशत किसानों ने धान बेचा। धान बेचने वाले किसानों की संख्या इस साल सबसे अधिक है। इस वर्ष पंजीकृत 21 लाख 52 हजार 475 किसानों में से 20 लाख 53 हजार 483 किसानों ने अपना धान बेचा है। छत्तीसगढ़ में नई सरकार के गठन के बाद समर्थन मूल्य पर धान बेचने वाले किसानों की संख्या, कुल पंजीकृत रकबा, बेचे गए धान के रकबे, धान बेचने वाले किसानों के प्रतिशत के साथ-साथ कुल उपार्जित धान की मात्रा में भी उल्लेखनीय वृद्धि दर्ज की गई है। वर्ष 2020-21 में राज्य गठन के 20 वर्षों में इस वर्ष छत्तीसगढ़ में सर्वाधिक 92 लाख मीट्रिक टन से अधिक धान खरीदी का नया कीर्तिमान बना है।

बिलासपुर... सराफा व्यपारी को दुकान में घुसकर गोली मारकर लूट का मामला,, झारखंड से 3 बिलासपुर से 2, 5,आरोपी गिरफ्तार

सीसीटीवी में कैद हुआ था मामला,,,

,,

आरोपियों से 2कट्टा 3 कारतूस सहित मोटर साईकल बरामद,,

25 जनवरी शाम को सकरी थानांतर्गत सती श्री ज्वेलर्स में बंदूक के दम पर लूट करने की कोशिश,,

ब्यापारी आलोक सोनी के हाथ में लगी थी गोली,,,,

मामले को गृह मंत्री ताम्रध्वज ने लिये थे संज्ञान,,

8 टीम 700 संदेहियों 200 सीसीटीवि कैमरे देखे गए,,,

पुरे मामले का खुलासा sp प्रशांत अग्रवाल ने की

महत्वपूर्ण सुराग आरोपियों से छूटे हुए बैग से मिला और जिसके बाद पुलिस आरोपियों तक पहुंचने में कामयाब रही।

उसलापुर और सकरी के बीच सतीश श्री ज्वेलर्स में पिछले 25 जनवरी को हुए गोलीकांड और लूट की कोशिश के मामले में पुलिस आरोपियों तक पहुंच गई है। इस मामले में 5 लोगों की गिरफ्तारी की गई है। इसका खुलासा जिला पुलिस कप्तान प्रशांत अग्रवाल ने किया। पुलिस ने इस मामले में 3 लोगों को झारखंड से गिरफ्तार किया है। जबकि दो आरोपी बिलासपुर से पकड़े गए हैं। सती श्री ज्वेलर्स डकैती के प्रयास के मामले का खुलासा करते हुए बिलासपुर एसपी ने बताया कि घटना के 4 दिन बाद ही आरोपियों को पकड़ने में कामयाबी मिल गई है ।इस मामले में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और गृह मंत्री साहू ने प्रकरण की गंभीरता को गंभीरता से लेते हुए आरोपियों को जल्दी से जल्दी पकड़ने के निर्देश दिए थे।

दिल्ली में बम ब्लास्ट , इजरायली दूतावास के पास बड़ा धमाका, स्पेशल टीम मौके पर पहुंची

मिडिया रिपोर्ट से मिली जानकारी के अनुसार दिल्ली में इजरायल दूतावास के बाहर जोरदार धमाका हुआ है. इस धमाके में किसी के घायल होने की खबर नहीं है लेकिन टीवी रिपोर्ट्स की मानें तो कई गाड़ियों के शीशे इस धमाके की वजह से टूट गये हैं. यह धमाका लगभग शाम के 5 बजकर 5 मिनट पर हुआ है.

मुख्यमंत्री बघेल ने केन्द्रीय खाद्य मंत्री गोयल को लिखा पत्र राज्य के किसानों के हित में भारतीय खाद्य निगम में 24 लाख मेट्रिक टन चावल की अनुमति की मात्रा बढ़ाकर 40 लाख मैट्रिक टन करने का किया अनुरोध

धान लंबी अवधि तक खुले में रखे होने पर धान की गुणवत्ता प्रभावित होने की आशंका

अनुमति नही मिलने पर सरप्लस धान के निराकरण में लगभग राशि रू. 2500 करोड़ की राज्य को होगी आर्थिक हानि

रायपुर, 29 जनवरी 2021 मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने केन्द्रीय उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्री पीयूष गोयल को पत्र लिखकर राज्य के किसानों के हित में सहानुभूतिपूर्वक विचार करते हुए खरीफ विपणन वर्ष 2020-21 में राज्य की पीडीएस की आवश्यकता से अतिरिक्त समस्त सरप्लस धान का चावल केन्द्रीय पूल अंतर्गत उपार्जन किये जाने के लिए भारतीय खाद्य निगम में 24 लाख मैट्रिक टन चावल की अनुमति की मात्रा को वृद्धि कर 40 लाख मैट्रिक टन उपार्जित किये जाने की अनुमति यथाशीघ्र प्रदाय करने का अनुरोध किया है ।

श्री बघेल ने अपने पत्र में लिखा है कि- छत्तीसगढ़ प्रदेश में खरीफ विपणन सीजन में किसानों से न्यूनतम समर्थन मूल्य पर धान का उपार्जन विकेन्द्रीकृत उपार्जन योजना के अंतर्गत खाद्य विभाग भारत सरकार के साथ हुए एम.ओ.यू. के तहत की जाती है । प्रदेश में खरीफ विपणन वर्ष 2020-21 में 28 जनवरी, 2021 की स्थिति में विकेन्द्रीकृत उपार्जन योजनांतर्गत समर्थन मूल्य पर 20.29 लाख किसानों से 90 लाख मैट्रिक टन धान का उपार्जन किया जा चुका है एवं धान खरीदी का कार्य दिनांक 31 जनवरी, 2021 तक किया जावेगा ।

छत्तीसगढ़ प्रदेश में खरीफ विपणन वर्ष 2020-21 हेतु समर्थन मूल्य पर धान खरीदी के लिए किसानों का पंजीयन राजस्व विभाग के माध्यम से बोए गए धान के रकबे का भौतिक सत्यापन एवं गिरदावरी के पश्चात किया गया एवं उक्तानुसार पंजीकृत किसानों से ही धान का उपार्जन किया गया है। छत्तीसगढ़ प्रदेश में धान की कृषि यहां के निवासियों के आजीविका का प्रमुख साधन है । प्रदेश में नक्सल प्रभावित क्षेत्रों (एलडब्ल्युई) में भी वन अधिकार पट्टाधारी किसानों का पंजीयन किया जाकर धान की खरीदी का कार्य किया गया है । वनांचलों में निवासरत कृषकों से उनकी उपज की समर्थन मूल्य पर खरीदी नक्सल समस्या के उन्मूलन में सहायक सिद्ध होगी ।

खरीफ विपणन वर्ष 2020-21 के लिए भारत सरकार की खाद्य सचिवों की बैठक में छत्तीसगढ़ के लिए 60 लाख मैट्रिक टन चावल केन्द्रीय पूल में लिये जाने की सैद्धांतिक सहमति प्रदान की गई है, इससे वर्तमान में उपार्जित लगभग 89 लाख मैट्रिक टन धान का निराकरण संभव हो सकेगा। किंतु खाद्य विभाग भारत सरकार द्वारा खरीफ वर्ष 2020-21 में भारतीय खाद्य निगम में केन्द्रीय पूल अंतर्गत 24 लाख मैट्रिक टन चावल (16 लाख मैट्रिक अन उसना एवं 8 लाख मैट्रिक टन अरवा) ही लिये जाने की अनुमति प्रदान की गई है । राज्य की पीडीएस हेतु 20 लाख मैट्रिक टन चावल की आवश्यकता होगी एवं इसके अतिरिक्त 3 लाख मैट्रिक टन चावल का स्टॉक नागरिक आपूर्ति निगम द्वारा रखा जावेगा । इस प्रकार कुल उपार्जित होने वाले 47 लाख मैट्रिक टन चावल से 70.50 लाख मैट्रिक टन धान का निराकरण संभव हो सकेगा । राज्य में खरीफ वर्ष 2020-21 में लगभग 93 स्डज् चावल उपार्जित होना अनुमानित है ।

बघेल ने पत्र में लिखा है कि- एम.ओ.यू. की कंडिका 18 के तहत उपार्जित धान में से राज्य की पीडीएस की आवश्यकता के अतिरिक्त चावल का स्टॉक भारतीय खाद्य निगम को प्रदाय किये जाने के निर्देश हैं, अतः उक्त प्रावधानों के तहत भारत सरकार द्वारा राज्य की आवश्यकता के अतिरिक्त शेष समस्त सरप्लस धान का अनुपातिक चावल 40 लाख मैट्रिक टन को भारतीय खाद्य निगम में केन्द्रीय पूल अंतर्गत लिये जाने का अनुरोध है। यदि भारत सरकार द्वारा उपरोक्त हेतु अनुमति प्रदान नहीं की जाती है तो सरप्लस धान के निराकरण में लगभग राशि रू. 2500 करोड़ की आर्थिक हानि संभावित है, जो राज्य शासन को वहन करनी पड़ेगी। यह स्थिति अत्यंत ही चिंतनीय है ।

श्री बघेल ने लिखा कि - भारत सरकार द्वारा खरीफ विपणन वर्ष 2020-21 में 575.36 लाख मैट्रिक टन धान का उपार्जन 20 जनवरी 2021 तक किया गया है, जो खरीफ विपणन वर्ष 2019-20 में समान अवधि में उपार्जित धान की मात्रा 466.22 लाख मैट्रिक टन से 23.41 प्रतिशत अधिक है । छत्तीसगढ़ प्रदेश में खरीफ विपणन वर्ष 2020-21 में उपार्जित धान की मात्रा 90 लाख मैट्रिक टन गत वर्ष खरीफ विपणन वर्ष 2019-20 में उपार्जित धान की मात्रा 83.94 लाख मैट्रिक टन से 7.2 प्रतिशत अधिक है अतः उपरोक्त से स्पष्ट है कि छत्तीसगढ़ प्रदेश में खरीफ विपणन वर्ष 2020-21 में उपार्जित धान की मात्रा का गत वर्ष खरीफ विपणन वर्ष 2019-20 में उपार्जित धान की मात्रा से तुलनात्मक वृद्धि राष्ट्रीय औसत के अंतर्गत है ।

मुख्यमंत्री ने लिखा है कि - राज्य शासन द्वारा खरीफ विपणन वर्ष 2020-21 में न्यूनतम समर्थन मूल्य के अतिरिक्त किसी भी प्रकार का बोनस भुगतान की घोषणा प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष रूप से नहीं की गई है । पूर्व में भारत सरकार द्वारा राज्य में प्रचलित “राजीव गांधी किसान न्याय योजना के संबंध में वस्तुस्थिति की चाही गई जानकारी राज्य शासन के द्वारा खाद्य विभाग भारत सरकार को प्रेषित की गई है ।

छत्तीसगढ़ शासन द्वारा न्यूनतम समर्थन मूल्य के अतिरिक्त बोनस भुगतान के संबंध में किसी प्रकार की प्रेस-विज्ञप्ति जारी नहीं की गई है । समर्थन मूल्य पर उपार्जन उपरांत धान खरीदी केन्द्रों एवं संग्रहण केन्द्रों में खुले में रखा हुआ है । धान लंबी अवधि तक खुले में अनिराकृत स्थिति में रखे होने पर धान की गुणवत्ता प्रभावित होने की आशंका बनी रहती है ।

श्री बघेल ने केन्द्रीय मंत्री से किसान हित से जुड़े उपरोक्त विषय पर सहानुभूतिपूर्वक विचार करते हुए खरीफ विपणन वर्ष 2020-21 में राज्य की पीडीएस की आवश्यकता से अतिरिक्त समस्त सरप्लस धान का चावल केन्द्रीय पूल अंतर्गत उपार्जन किये जाने के लिए भारतीय खाद्य निगम में 24 लाख मैट्रिक टन चावल की अनुमति की मात्रा को वृद्धि कर 40 लाख मैट्रिक टन उपार्जित किये जाने की अनुमति यथाशीघ्र प्रदाय किये जाने का अनुरोध किया है।

Chhattisgarh : अब बिलासपुर में भी उतर सकेंगे 72 सीटर विमान

मुख्यमंत्री श्री बघेल की पहल पर बिलासपुर एयरपोर्ट का उन्नयन हुआ 3 सी कैटेगरी में

बिलासपुर में पहले 40 सीटर विमान ही उतरने की सुविधा थी

उत्तर छत्तीसगढ़ की पूरे देश से एयर कनेक्टिविटी हुई मजबूत

रायपुर BBN24 जनवरी 2021

छत्तीसगढ़ की न्यायधानी बिलासपुर के बिलासा बाई केवटिन एयरपोर्ट में अब 72 सीटर विमान उतर सकेंगे। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की पहल पर बिलासपुर के एयरपोर्ट का उन्नयन 3 सी कैटेगरी में हो गया है। भारत सरकार के नागर विमानन विभाग के महानिदेशक कार्यालय द्वारा बिलासपुर एयरपोर्ट के 2 सी लाइसेंस को अपग्रेड कर 3 सी कैटेगरी का लाइसेंस जारी कर दिया गया है।

बिलासपुर के चकरभाठा स्थित एयरपोर्ट को 3-सी कैटेगरी के लाइसेंस मिलने से पर अब यहां 72 सीटर एयरक्राप्ट उतर सकेंगे जबकि इसके पूर्व 2 सी कैटेगरी का लायसेंस होने की वजह से 40 सीटर एयरक्राप्ट ही यहां उतर सकते थे। 72 सीटर एयरक्राप्ट के संचालन से बिलासपुर सहित पूरे उत्तर छत्तीसगढ़ की जनता को बड़ी सुविधा मिलेगी और पूरे देश से उनकी एयर कनेक्टिविटी मजबूत होगी।

छत्तीसगढ़ सरकार ने बिलासपुर की जनता की भावना को देखते हुए यह पहल की और भारत सरकार के नागर विमानन विभाग से इसकी मंजूरी मिल गई है।

बिलासपुर एयरपोर्ट से 72 सीटर विमान के संचालन से बिलासपुर, कोरबा, रायगढ़, सरगुजा, चिरमिरी, सूरजपुर, बलरामपुर, कोरिया में स्थित औद्योगिक और खनन इकाईयों में कार्यरत अधिकारी-कर्मचारियों को इसका लाभ होगा वहीं इससे इस क्षेत्र में व्यापार और पर्यटन को भी बढ़ावा मिलेगा साथ ही महानगरों में मौजूद चिकित्सीय सुविधाओं तक इस पूरे अंचल की पहुंच अब और आसान हो जाएगी। 72 सीटर विमान के संचालन से न केवल लोगों को न्यायधानी बिलासपुर पहुंचने में आसानी होगी बल्कि बिलासपुर सहित पूरे उत्तर छत्तीसगढ़ की जनता की देश के अन्य महानगरों तक पहुंच सुगम होगी।

रायपुर : मुख्यमंत्री ने किया जिला चिकित्सालय कांकेर में सिटी स्कैन मशीन का लोकार्पण

रायपुर, BBN24, जनवरी 2021

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने आज शाम कोमलदेव जिला चिकित्सालय कांकेर में सिटी स्कैन मशीन का लोकार्पण किया। जिला चिकित्सालय में दो करोड़ 28 लाख रूपये की लागत से आम जनता की सुविधा के लिए सिटी स्कैन मशीन लगाया गया है। जिला चिकित्सालय में नवीन सिटी स्कैन मशीन स्थापित होने से अब लोगों को सिटी स्कैन कराने हेतु अन्यत्र नहीं जाना पडे़गा।

इस अवसर पर कांकेर जिले के प्रभारी मंत्री गुरु रुद्रकुमार, उद्योग मंत्री श्री कवासी लखमा, संसदीय सचिव एवं कांकेर विधायक श्री शिशुपाल शोरी, कोंडागांव विधायक श्री मोहन मरकाम, मुख्यमंत्री के संसदीय सलाहकार श्री राजेश तिवारी, कलेक्टर श्री चंदन कुमार, पुलिस अधीक्षक श्री एम आर अहिरे सहित स्थानीय जनप्रतिनिधि और अधिकारी उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज 72वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर बस्तर संभाग के मुख्यालय जगदलपुर के लालबाग मैदान में ध्वजारोहण कर परेड की सलामी ली

BBN24News :: मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने आज 72वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर बस्तर संभाग के मुख्यालय जगदलपुर के लालबाग मैदान में ध्वजारोहण कर परेड की सलामी ली। उन्होंने जनता के नाम संदेश का वाचन किया।

बड़ी खबर बिलासपुर : बिलासपुर के सर्राफा दुकान में चली गोली, कारोबारी से बंदूक की नोक पर आरोपियों ने लूट की वारदात को दिया अंजाम

बिलासपुर में देर शाम एक सर्राफा कारोबारी से बंदूक की नोक पर आरोपियों ने लूट की वारदात को अंजाम दिया है। घटना में बीच बचाव करने आये कारोबारी के हाथ में गोली लग गयी है, जिसे गंभीर हालत में अपोलो अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जानकारी के मुताबिक घटना सकरी थाना क्षेत्र से लगे सती श्री ज्वेलर्स दुकान की है। देर शाम पांच से छह बदमाश ज्वेलरी दुकान के अंदर घुसे और लूट करने लगे। ज्वेलरी लूटते हुये देख जब कारोबारी ने आरोपियों को रोकने की कोशिश की तो आरोपियों में एक ने अपने पास रखी बंदूक से गोली चला दी। घटना में शराफा कारोबारी आलोक सोनी के हाथ में गोली लगी है। घटना के बाद सभी आरोपी फरार बताए जा रहे है। फिलहाल वारदात की सूचना के बाद मौके पर एसपी प्रशांत अग्रवाल सहित पुलिस के आला अधिकारी पहुंचे हुये है।

विशिष्ट सेवा एवं सराहनीय सेवा, और वीरता पदक के लिए पुलिस अधिकारी/कर्मचारियों के नाम की घोषणा देखे लिस्ट....

रायपुर 25 जनवरी। गणतंत्र दिवस के अवसर पर केंद्र सरकार द्वारा विशिष्ट सेवा एवं सराहनीय सेवा, और वीरता पदक प्राप्तकर्ता पुलिस अधिकारी/कर्मचारियों के नाम की घोषणा की गई है। विशिष्ट सेवा 01 एवं सराहनीय सेवा पदक के लिए 10 पुलिस अधिकारियों/ कर्मचारियों और वीरता पदक के लिए 8 पुलिस अधिकारियों/ कर्मचारियों के नामों की घोषणा की गई है।

गणतंत्र दिवस-2021 के अवसर पर विशिष्ट सेवा एवं सराहनीय सेवा पदक प्राप्तकर्ता अधिकारी/कर्मचारियों के नामः-

 विशिष्ट सेवाओं के लिए पुलिस पदक:-

01.   श्री प्रदीप गुप्ता (भापुसे) संचालक, संचालनालय लोक अभियोजन, नवा रायपुर।

सराहनीय सेवाओं के लिए पुलिस पदक:-

01.   श्री सोहन लाल, उप पुलिस अधीक्षक, एसटीएफ बघेरा, दुर्ग।

02.   श्रीमती मनीषा सिंह नयन, निरीक्षक(एम), पुलिस अधीक्षक कार्यालय, जगदलपुर।

03.   श्रीमती वर्षा शर्मा, उप निरीक्षक(एम), पुलिस प्रशिक्षण विद्यालय, राजनांदगांव।

04.   श्री कमलेश कुमार सोनबोईर, उप निरीक्षक,(एम), पुलिस प्रशिक्षण विद्यालय, राजनांदगांव।

05.   श्री पी0डी0 अशोक कुमार, उप निरीक्षक(एम), एसटीएफ बघेरा, दुर्ग।

06.   श्री तुला राम बांक, सहायक उप निरीक्षक, पुलिस थाना, डोंगरगढ़, राजनांदगांव।

07.   श्री अरूण बहादुर, प्रधान आरक्षक, 12 वीं वाहिनी छसबल, रामानुजगंज-बलरामपुर।

08.   श्री केशव कुमार ध्रुव, प्रधान आरक्षक, पुलिस लाईन, जिला बीजापुर।

09.   श्री अश्वनी कुमार सिंह, प्रधान आरक्षक, डीएसबी, भिलाई, जिला दुर्ग।

10.   श्री रविन्द्र कुमार भूआर्य, आरक्षक, पुलिस थाना, चारामा, जिला कांकेर।

   गणतंत्र दिवस-2021 के अवसर पर वीरता पदक प्राप्तकर्ता अधिकारी/कर्मचारियों के नामः-

1. श्री अजय सोनकर, निरीक्षक, डीआरजी, जिला नारायणपुर।

2. श्री अब्दुल समीर, निरीक्षक, पुलिस थाना, बोरतालाब, जिला राजनांदगांव।

3. श्री रमन उसेंडी, निरीक्षक, पुलिस थाना मरदापाल, जिला कोण्डागांव।

4. श्री लीलाधर राठौर, निरीक्षक, एसएचओ पाली, जिला कोरबा।

5. श्री ओमप्रकाश सेन, कंपनी कमांडर, एसटीएफ बघेरा, जिला दुर्ग।

6. श्री संतोष हेमला, उप निरीक्षक, डीआरजी, जिला दंतेवाड़ा।

7. श्री रमेश कुमार सोरी, सहायक उप निरीक्षक, पुलिस लाईन जिला कोण्डागांव।

8. श्री टी0पी0 दिलीप, प्रधान आरक्षक, एसटीएफ बघेरा, जिला दुर्ग।

मुख्यमंत्री ने राज्य पुलिस अकादमी का नामकरण देश के महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी नेताजी सुभाषचंद्र बोस के नाम पर करने की घोषणा

रायपुर, BBN24News, जनवरी, 2021 मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज नेताजी सुभाषचन्द्र बोस की 125वीं जयंती के अवसर पर मुख्यमंत्री निवास कार्यालय में आयोजित समारोह में चंदखुरी स्थित राज्य पुलिस प्रशिक्षण अकादमी का नामकरण देश के महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी नेताजी सुभाषचंद्र बोस के नाम पर करने की घोषणा की।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज नेताजी सुभाषचंद्र बोस की जयंती की 124वीं वर्षगांठ के मौके पर पूरा देश उन्हें याद कर नमन कर रहा है। उनकी 125वीं जयंती पर पूरे साल हम उनका स्मरण करेंगे। नेताजी सुभाषचंद्र बोस ने देश की आजादी के लिए सशस्त्र संघर्ष का रास्ता अपनाया। दुनिया का भ्रमण कर आजाद हिंद फौज की स्थापना की। वे युवाओं के प्रेरणा स्त्रोत हैं। उनके स्मरण से ही जोश का संचार हो जाता है। उन्होंने कहा कि पुलिस अकादमी में प्रशिक्षण लेने वाले पुलिस अधिकारी उनसे प्रेरणा लेकर उनके आदर्शो पर चलने के लिए प्रेरित होंगे। पुलिस महानिदेशक श्री डी.एम.अवस्थी ने कहा कि राज्य पुलिस अकादमी के मुख्य द्वारा पर नेताजी सुभाषचंद्र बोस की आदमकद प्रतिमा की स्थापना की जाएगी। इस अवसर पर पुलिस अकादमी के प्रशिक्षु अधिकारी भी कार्यक्रम से ऑनलाइन जुड़े। कार्यक्रम की अध्यक्षता योजना, आर्थिक एवं सांख्यिकी मंत्री अमरजीत भगत ने की। मुख्यमंत्री के सलाहकार सर्वश्री प्रदीप शर्मा, विनोद वर्मा, श्चिर गर्ग और राजेश तिवारी, राज्य योजना आयोग के उपाध्यक्ष अजय सिंह, कृषि उत्पादन आयुक्त एवं सचिव डॉ. एम.गीता, इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. एस. के.पाटिल भी उपस्थित थे।

BIG BREAKING NEWS : 10वीं-12वीं बोर्ड परीक्षा का टाइम टेबल हुआ जारी… 10वीं की परीक्षा अप्रैल से और 12वीं की परीक्षा मई से होगी शुरू… पढ़े पूरी खबर

छत्तीसगढ़ में बोर्ड परीक्षा 15 अप्रैल से शुरू होगी। आपको बता दे की 10वीं परीक्षा 15 अप्रैल से 1 मई तक चलेगी। वहीं 12वीं की परीक्षा 3 मई से 24 मई तक संचालित होगी। इस वर्ष छात्रों को उन्ही के स्कूलों में परीक्षा केंद्र में बैठने की व्यवस्था दी गयी है। वहीं प्रैक्टिकल परीक्षा 10 फरवरी से शुरू होगी। माध्यमिक शिक्षा मंडल ने इस बाबत निर्देश जारी कर लिया है। एक विष्य की परीभा एक दिन में 2-3 शिफ्ट में होगी।

अवैध शराब पर डीजीपी की बड़ी कार्रवाई शराब के अवैध भंडारण होने पर डीजीपी ने नवागढ़ थाना प्रभारी को किया सस्पेंड एडिशनल एसपी और एसडीओपी को जारी किया गया कारण बताओ नोटिस डीजीपी ने दुर्ग आईजी विवेकानंद सिन्हा को दिये जांच के निर्देश

रायपुर 22 जनवरी। डीजीपी श्री डीएम अवस्थी ने नवागढ़ टीआई अंबर सिंह भारद्वाज को तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया है। इसके साथ ही एडिशनल एसपी विमल बैस और एसडीओपी राजीव शर्मा को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। उल्लेखनीय है कि बेमेतरा जिले के नवागढ़ थानांतर्गत ग्राम जेवरा में गुरुवार को अवैध शराब बनाने की फैक्ट्री पकड़ी गयी थी। जिसके बाद डीजीपी श्री अवस्थी ने जिम्मेदार पुलिस अधिकारियों पर सख्त कार्रवाई की है। डीजीपी श्री अवस्थी ने इसके अतिरिक्त उक्त पूरे मामले की जांच के आदेश आईजी दुर्ग रेंज श्री विवेकानंद सिन्हा को दिये हैं। डीजीपी श्री डीएम अवस्थी ने बताया कि शराब की अवैध बिक्री, परिवहन एवं तस्करी होने पर सीधे टीआई जिम्मेदार होंगे। जिस इलाके में शराब का अवैध कारोबार होगा वहां के टीआई के विरुद्ध निलंबन की कार्रवाई की जाएगी। उल्लेखनीय है कि तीन दिन पहले ही बिलासपुर के पचपेड़ी थाना प्रभारी सुनील तिर्की को शराब की अवैध बिक्री, परिवहन और तस्करी पर प्रभावी नियंत्रण ना करने पर निलंबन की कार्रवाई की गयी थी।

भाटापारा से विधायक शिवरतन शर्मा ने लगभग 600 मोटर साइकिल के साथ भाटापारा से बलौदाबाजार तक धरने में रैली के रूप में पहुचे.....

भाटापारा। भारतीय जनता पार्टी ने धान ख़रीदी की चौपट कर दी गई व्यवस्था, किसानों की परेशानी और वादाख़िलाफ़ी को लेकर प्रदेश सरकार पर जमकर हमला बोला। शुक्रवार को प्रदेशभर में इन मुद्दों को लेकर भाजपा ने जिला स्तर पर धरना-प्रदर्शन किया और प्रदेश सरकार की विफलता, किसानों की आत्महत्या, रकबा कटौती, गिरदावरी, पिछले वर्ष ख़रीदे गए धान के लंबित भुगतान, प्रदेश सरकार द्वारा बारदाना को लेकर किए जा रहे सियासी प्रलाप, वादाख़िलाफ़ी, किसानों को ज़बरन परेशान किए जाने जैसे अनेक मुद्दों पर प्रदेश सरकार पर हमला बोलकर पार्टी ने जन-जागृति का शंखनाद किया। जिला बलौदाबाजार-भाटापारा में आहूत धरना-प्रदर्शन शामिल होने उपाध्यक्ष भाजपा,विधायक भाटापारा शिवरतन शर्मा के नेतृत्व में लगभग 600 मोटरसाइकिल के साथ विधानसभा के किसान,कार्यकर्तागण, व पदाधिकारीगण बाइक रैली के रूप में धरना स्थल तक भाजपा कार्यालय भाटापारा से बलौदाबाजार पहुचे.. उक्त रैली का नेतृत्व करते हुए स्वयं विधायक शिवरतन शर्मा भी बाइक चलाते हुए भाटापारा से रैली लेकर बलौदाबाजार तक गए.. शिवरतन शर्मा ने रैली के पूर्व भाजपा कार्यालय भाटापारा में चर्चा के दौरान कहा कि किसानों के प्रति प्रदेश सरकार ने संवेदनहीनता की सारी हदें पार कर दी हैं। किसानों का पूरा धान ख़रीदने से बचने के नित-नए बहाने करके षड्यंत्रों का जाल बुन रही प्रदेश सरकार ने पिछले दो साल में सिर्फ़ अपने किसान-विरोधी चरित्र का ही परिचय दिया है। प्रदेश के किसानों को पिछले वर्ष बेचे गए धान की क़ीमत की अंतर राशि की चौथी किश्त अब तक प्रदेश सरकार ने नहीं दी है। शिवरतन शर्मा ने कहा कि रकबा कटौती और गिरदावरी के प्रदेश सरकार के तुग़लक़ी फरमान के चलते प्रदेश के किसानों को आत्महत्या के लिए विवश होना पड़ा है। इस साल सरकार जो धान ख़रीद रही है, उसका भुगतान भी पखवाड़े और लगभग माहभर बीत जाने के बाद भी किसानों के खाते में जमा नहीं हो रहा है। श्री शर्मा ने तंज कसा कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी कहते हैं कि जिस राज्य में किसान आत्महत्या करता है वहाँ की सरकार निकम्मी है। पर दिल्ली में किसानों के आंदोलन की आड़ में झूठ और नफ़रत की सियासत कर रहे राहुल गांधी को छत्तीसगढ़ के किसानों की सुध लेने की फ़ुर्सत तक नहीं है। आज प्रदेश के गाँवों में आक्रोश फैल रहा है और किसानों के साथ खड़ी होकर उनका संबल बढ़ाने आज भाजपा धरना दे रही है। शिवरतन शर्मा ने आगे कहा कि प्रदेश सरकार ने सत्ता के लिए जो कसमें खाईं थीं, जो वादे प्रदेश की जनता और किसानों से किए थे, उन्हें पूरा करने में वह बुरी तरह विफल रही है। श्री शर्मा ने कहा कि दरअसल सरकार का पेट और जेब दारू से भर रहा है, तो ये किसानों की चिंता क्यों करेंगे? प्रदेश के मुख्यमंत्री से लेकर तमाम कांग्रेस नेता वादाख़िलाफ़ी, छलावा, धोखाधड़ी ख़ुद कर रहे हैं और अनर्गल प्रलाप कर दोष प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर मढ़ने की शर्मनाक हरक़तें कर रहे हैं। गिरदावरी और पिछले वर्ष के 13सौ करोड़ रुपए मूल्य का धान सड़ा देने पर कटाक्ष करते हुए श्री शर्मा ने कहा कि चावल जमा करने के नाम पर भी प्रदेश सरकार लगातार झूठ बोलकर किसानों और प्रदेश को ग़ुमराह करने में लगी है। उक्त अवसर पर राकेश तिवारी जिलामंत्री, मोहन बांधे पूर्व अध्यक्ष नगर पालिका,महाबल बघेल जिला मंत्री,योगेश अनन्त महमंत्री,गोपाल देवांगन महामंत्री,सुनील यदु पूर्व उपाध्यक्ष नगर पालिका,आशिष जायसवाल विधायक प्रतिनिधि, डब्लू ठाकुर मंडल अध्यक्ष ग्रामीण,रोशन साहू महामंत्री,पवन वर्मा,धनी राम साहू मंडल अध्यक्ष निपनिया, मथुरा यदु,देवक साहू,अशोक निषाद,लच्छू वर्मा,सतीश सोनी,गोलू देवांगन, पुरुषोत्तम यदु,व्यास यदु,मुकेश सोनी,लाला शर्मा,आशसि पुरोहित,दिलीप यादव,अनिल चेलक,खगेंद्र यादव,कुंजराम कोशले,देवेन्द्र साहू,भागवत साहू,वैभव तिवारी,,आशिष टोडर,श्रेणीक गोलछा,रवि वर्मा,दरवेश हबलानी, प्रकाश ठाकुर,प्रकास दुलानी,प्यारे रजक,बहोरिक यदु,गजहँस ठाकुर,शुभम राजपूत,भरत डहरिया,पिंटू धृतलहरे, रिंकू हरबंश,पवन साहू,दिलीप चक्रधारी,मोदी निषाद,रवि आडिल,देवी लाल साहू,प्रेम चौबे,मनीष मिश्रा,राजेन्द्र यादव,श्रावण ध्रुव,रोहित साहू,फागु ध्रुव,आयशा खाना, नीरा साहू,चन्द्रकला सहाय,संजय शर्मा,राजा शर्मा,सियाराम चक्रधारी,खुमान वर्मा,सुरेश वर्मा,डिगा साहू,विजय यादव,राजेश पटेल,सूरज शर्मा,सहित बड़ी संख्या में किसानजन,कार्यकतागण, पदाधिकारीगण शामिल हुए.