छत्तीसगढ़

संलग्नीकरण समाप्त करने राज्य कर्मचारी संघ ने की जिलाधीश से मांग

कोरबा:-राज्य कर्मचारी संघ छग के कोरबा जिलाध्यक्ष एस एन शिव एवं जिला उपाध्यक्ष सुरेन्द्र कुमार खुंटे ने जिलाधीश कोरबा के नाम ज्ञापन पत्र सौंपकर संलग्नीकरण समाप्त करने की मांग की। श्री शिव ने अवगत कराया कि पोड़ी उपरोड़ा विकासखंड अंतर्गत संचालित शासकीय हाई स्कूल पतुरियाडांड में व्याख्याता अंग्रेजी के पद पर श्री चंदराम देवांगन की नियुक्ति छात्रों को अंग्रेजी विषय अध्यापन के लिए की गई है। लेकिन श्री देवांगन ने संलग्नीकरण का ऐसा खेल खेला कि वर्ष 2017 में ही अपना संलग्नीकरण पोड़ी उपरोड़ा विकासखंड के ही शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय मोरगा में करा लिया। यहाँ भी अध्यापन कार्य को छोड़कर तत्कालीन जिला शिक्षा अधिकारी एवं बाबू से मिलीभगत कर नियम विरुद्ध प्राचार्य का प्रभार भी हथिया लिया। बात यहीं खतम नहीं हुई। विभागीय सांठगांठ ऐसा कि संलग्न संस्था में प्राचार्य पद के साथ आहरण एवं संवितरण अधिकार भी हासिल किया। ज्ञात रहे कि संलग्न संस्था में किसी अधिकारी या कर्मचारी को वित्तीय प्रभार नहीं दिया जाता। इधर राज्य शासन ने संलग्न कर्मचारियों को मूल संस्था हेतु कार्यमुक्त करने आदेश किया जाता है, लेकिन सेटिंग का खेल खेलने वाले अप्रभावित ही रहते हैं। इस मामले को राज्य कर्मचारी संघ गंभीरता से ले रहा है। अभी संघ ने श्री देवांगन को उनके मूल संस्था शासकीय हाई स्कूल पतुरियाडांड हेतु कार्यमुक्त करने जिलाधीश से मांग किया है।

जांजगीर नेशनल हाईवे 49 पर सड़क किनारे पेड़ पर लटकते हुआ मिला युवक का लाश, पुलिस टीम मौके पर

जांजगीर चांपा:-जांजगीर जिले के नेशनल हाईवे 49 ओवर ब्रिज अकलतरा के पास साईं ढाबा के करीब एक पेड़ पर एक युवक कि लटकते हुए लाश मिली है। घटना की सूचना पर डायल 112 टीम साथ ही थाना पुलिस मौके पर पहुंची है। मिली जानकारी के अनुसार मृतक युवक का नाम जसवाल प्रजापति उम्र 40 वर्ष निवासी बिलासपुर के रूप में पहचान हुई है। मौके पर घटनास्थल पर बाइक भी बरामद हुआ है पुलिस के द्वारा शव को नीचे उतरवाकर पंचनामा किया गया जिसके बाद उसे एंबुलेंस के माध्यम से पोस्टमार्टम के लिए हॉस्पिटल भेजवाया गया है। मामले में पुलिस ने मर्ग कायम किया है खबर लिखे जाने तक घटना की जांच में जुटी हुई है।

गुंडा निगरानी बदमाशों की पुलिस ने ली परेड, एसपी ने दिए सख्त निर्देश

बिलासपुर:-गौरेला पुलिस कंट्रोल रूम के समक्ष क्षेत्र के गुंडा निगरानी बदमाशों का पुलिस ने परेड ली। उन्होंने निगरानी बदमाशों की वर्तमान में रहने के बारे में जानकारी ली। सभी गुंडा एवं निगरानी बदमाशों की चरित्र के संबंध में जानकारियां प्राप्त कर सभी को विशेष समझाइश देकर छोड़ा गया। उन्हें किसी भी प्रकार के अपराध में संलिप्त नहीं रहने के लिए निर्देश दिए गए। अच्छे चाल-चलन, चरित्र एवं अपराध से दूर रहने वाले गुंडा एवं निगरानी रजिस्टर में दर्ज अत्यधिक उम्र दराज गुंडा एवं निगरानी बदमाश को माफी बदमाश के रूप में सम्मिलित करने प्रतिवेदन भेजने थाना प्रभारियों को निर्देश दिए।

एसपी के निर्देश पर थाना-चौकी प्रभारियों को अपने अपने क्षेत्र में विशेष निगरानी तंत्र निर्मित कर सभी क्षेत्र में अपराधियों पर सूक्ष्म निगरानी रखने हिदायत दी गई थी। आदतन अपराधियों पर लगाम लगाए जाने के लिए आदतन किस्म के अपराधियों पर गुंडा एवं निगरानी फाइल खोल कर सतत इन पर निगरानी रखने और इनके आपराधिक गतिविधियों पर रोक लगाने भी सभी थाना प्रभारियों को निर्देशित किया गया है।

इसी कड़ी में एडिशनल एसपी रामगोपाल करियारे ने जिले के थाना-चौकी के गुंडा एवं निगरानी बदमाशों की फाइल में दर्ज गुंडा एवं निगरानी बदमाशों का परेड पुलिस नियंत्रण कक्ष के परिसर में कराई गई एवं गुंडा निगरानी बदमाशों के वर्तमान निवास, उनके द्वारा की जा रही व्यवसाय एवं निवास क्षेत्र में उनके चरित्र के संबंध में जानकारी प्राप्त की।

इस दौरान गुंडा एवं निगरानी बदमाशों को किसी भी प्रकार के अपराध में संलिप्त नहीं रहने एवं किसी भी अपराधिक संगठनों, गिरोह, समूहों का सदस्य नहीं बनने समझाइश दी। उनके गुजर बसर के बारे में जानकारी प्राप्त कर उन्हें समाज में सदैव अच्छे आचरण एवं उच्च नैतिक चरित्र का परिचय देते हुए समाज की मुख्यधारा में जोड़ने के लिए प्रेरित किया, साथ ही अपने घर, परिवार एवं बच्चों के भविष्य को बेहतर बनाते हुए स्वस्थ समाज एवं अपराध मुक्त समाज बनाए जाने के लिए कहा गया।

छ.ग.प्रदेश महामंत्री श्री अर्जुन तिवारी आज पंडरिया विधानसभा क्षेत्र के जनसम्पर्क दौरे पर रहे, दिए आदिवासी नेता को श्रद्धांजलि!

पंडरिया/कवर्धा-:प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री एवम पंडरिया जनपद पंचायत के पूर्व अध्यक्ष श्री अर्जुन तिवारी आज पंडरिया विधानसभा क्षेत्र के वनांचल ग्राम कुकदूर में स्वर्गीय जगतराम पुसांम (मोटर सिह जी) के निज निवास में पहुँचकर श्रद्धांजलि अर्पित कर मृतात्मा के शोक संतप्त परिवारजनो से मिलकर ढाँढस जताया,ततपश्चात कुई-कुकदूर में मां चंडी मन्दिर में दर्शन लाभ प्राप्त कर मत्था टेके व माँ भवानी की आशीर्वाद लिए! उसके बाद पंडरिया लोक निर्माण विभाग के विश्राम गृह में पंडरिया क्षेत्र के विभिन्न ग्रामों से आए हुए स्थानीय जनप्रतिनिधियों एवं वरिष्ठ कांग्रेसजनो एवं पार्टी के निष्ठावान व समर्पित पदाधिकारियों से मेल-मुलाक़ात कर उनके कुशल क्षेम जानें व उनसे विचार विमर्श किए। इस बैठक में देवतुल्य क्षेत्रवासियों, कांग्रेस के कर्मठ पदाधिकारियों एव निष्ठावान कार्यकर्ताओं की बड़ी संख्या में उपस्थिति रही सभी से मिलकर अनेक मुद्दों पर चर्चा किया! क्षेत्रवासियों का आशीष एवम अपनापन मुझें निरतंर कार्य करने का ऊर्जा देता है आज के इस दौरा कार्यक्रम के दरमियान श्री साधुराम कोठारी सरपंच कुई, शिवनाथ महोबिया सरपंच , ताराचंद ठाकुर जी, ताराचंद जैन जी, गणेश राज, शिव गुप्ता जी, गुड्डा खान जी,रमेश मरकाम जी, आजुराम क्रिसे हरीश मुराली जी,श्री नवीन जायसवाल जी ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष पंडरिया,पारस बंगानी जी पूर्व उपाध्यक्ष जनपद पंचायत पंडरिया एवम जनपद सदस्य, श्री श्याम कश्यप जी उपाध्यक्ष जिला कांग्रेस कमेटी बिलासपुर,रोहित गबेल जी भुवालपुर पूर्व प्रदेश महामंत्री अन्य पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ट,श्री रामेश्वर गबेल दाऊ जी भुवालपुर, श्री अशोक कश्यप जी पूर्व जिलाध्यक्ष अन्य पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ, श्री छन्नूलाल कश्यप जी पेंड्रीखुर्द अध्यक्ष सरपंच संघ,श्री पालेश्वर चंद्राकर पूर्व जनपद सदस्य,श्री रामकुमार ठाकुर जी पूर्व अध्यक्ष ब्लॉक कांग्रेस कमेटी पंडरिया वर्तमान महामंत्री, चंद्रभान सिंह ठाकुर उपाध्यक्ष ब्लॉक कांग्रेस कमेटी पंडरिया,श्री संजू तिवारी जी पंडरिया,श्री सुरेश चंद्राकर सरपंच प्राणकपा, श्री रघुराई चंद्राकर जी सरपंच प्रतिनिधि महली, रोहित चंद्राकर जी सरपंच प्रतिनिधि बघरा, मनीराम साहू जी सरपंच प्रतिनिधि मोहतरा, राजेंद्र चंद्रवंसी जी पूर्व ब्लॉक अध्यक्ष कवर्धा, तामस्कर यादव ब्लॉक सचिव, विजय बंगानी जी पंडरिया,कालू सलूजा जी वरिष्ट कांग्रेसि एवं पत्रकार पांडातराई, प्रदीप जायसवाल जी पार्षद पांडातराई,वैभव ठाकुर जी पंडरिया, प्रदीप यादव पंडरिया, रवि मानिकपुरी जी पंडरिया,प्रकाश यादव पूर्व पार्षद पांडातराई, सतीश पात्रे जी पत्रकार रवि सिह राजपूत जी पंडरिया, श्री गोरे सिह बैस दसरंगपुर,मो.रिजवान खान,अधिवक्ता श्री अवनीश कश्यप जी,पालन सिह जी,रविशंकर सिंह ठाकुर जी, सुरेश सिंह ठाकुर जी सराई पतेरा पांडातराई, सन्तोष साहू जी दशरंगपुर, कुंजबिहारी चंद्रवंसी दशरंगपुर,श्री त्रिलोक निर्मलकर जी,श्री रामकुमार गायकवाड़ जी पंडरिया, गौरी शंकर चंद्राकर तरवरपुर,चंद्रकुमार साहू जी पांडातराई, विष्णु चंद्रवंसी जी पांडातराई,अरुण साहू जी पलानसरी चंद्रभूषण तिवारी जी किशुनगड़,बलदाऊ साहू पलानसरी,रमेश चंद्रवंसी जी पलानसरी,श्री कुमार चंद्राकर जी किशुनगड़, सुजल सिह ठाकुर पंडरिया,श्री दल्लू चंद्राकर किशुनगड़, श्री दानी कश्यप पेंड्रीखुर्द, रामकिशुन चंद्रवंसी जी कान्हाभैरा,अजित कश्यप पेंड्रीखुर्द, गोवर्द्धन ध्रुव ख़ैरझिटी नया,एवम सैकड़ो की तादाद में कांग्रेस जन उपस्थित रहे!

आदिवासी महिला को बेल्ट से पीटने वाले थाना प्रभारी चमरा राम चंद्रा निलंबित। एस पी की कार्यवाही

बलोदाबाजार:-पलारी थाना में पदस्थ थाना प्रभारी चमरा राम चंद्रा को पुलिस अधीक्षक ने आज नाबालिग लड़की एवं उसकी मां से मारपीट करने लापरवाही बरतने एवं भ्रष्टाचार के लिए पैसे मांगने के आरोप में पुलिस अधीक्षक ने उन्हें निलंबित कर दिया। उनके ऊपर लगे आरोपों की जांच के लिए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पीतांबर पटेल को आदेशित किया गया है। निलंबन के दौरान वह रक्षित आरक्षी केंद्र बलोदा बाजार में अपनी उपस्थिति देंगे। ज्ञात हो कि दो-तीन दिनों पहले गुमशुदा नाबालिक अपने घर वापस आ गई थी। जिसकी सूचना मां बेटी दोनों देने के लिए थाने पहुंचे थे। जहां थाना प्रभारी चमरा राम चंद्रा द्वारा मेडिकल करवाने के लिए पहले जबरन थाने में बिठाया गया। उसके बाद उनके द्वारा 20000 रूपए की मांग की गई। पैसा ना देने पर मारपीट की गई । मामले की भनक लगते ही आदिवासी समाज सहित तमाम लोगों ने थाने में जमकर हंगामा और किया घेराव किया। एसपी को ज्ञापन सौंपा। आदिवासी महिला के साथ किए गए दुर्व्यवहार और भ्रष्टाचार के आरोपों को देखते हुए पुलिस अधीक्षक ने तत्काल प्रभाव से उन्हें निलंबित कर दिया। ज्ञात हो की चमरा राम चंद्रा पर पूर्व से भी दो विभागीय जांच चल रही हैं। जो पिछले 1 वर्षों से लंबित हैं। और पुलिस अधीक्षक की टेबल पर पड़ी है। उनकी जांच भी लटका कर रखी गई है। जबकि पुलिस महकमे के आलाकमान का स्पष्ट निर्देश है कि जिस पुलिस अधिकारी के विरुद्ध विभागीय जांच चल रही है उसे किसी थाने का प्रभार नहीं दिया जा सकता। इसके बावजूद पुलिस अधीक्षक द्वारा बिना जांच पूर्ण किए ही उन्हें थाना प्रभारी बनाकर रखा गया था। कई बार शिकायत करने के बावजूद उन पर कोई कार्यवाही नहीं की गई थी। वर्तमान में ही कुछ दिनों पूर्व जब बड़े पैमाने पर पुलिस अधीक्षक द्वारा104 निरीक्षक उपनिरीक्षक आरक्षक को का तबादला किया गया था तब भी चमरा राम चंद्रा का स्थानांतरण नहीं किया गया। यदि समय रहते पुलिस के जिम्मेदार इस मामले में संज्ञान लेते तो शायद आज यह नौबत नहीं आती।

पुलिस अधीक्षक का स्थानांतरण आदेश रद्दी की टोकरी में, कुर्सी छोड़ने को तैयार नहीं थानेदार, 1 सप्ताह बाद भी पद पर जमे

बलौदाबाजार:-बलौदाबाजार जिले में पुलिस अधीक्षक आई के एलेसेला ने 13 सितंबर को थाना प्रभारियों से लेकर हवलदार आरक्षकों के 104 स्थानांतरण आदेश जारी किए थे। इनमें से कई प्रभावशाली थानेदार अभी भी अपनी कुर्सी पर जमे हुए हैं। और उन्होंने एसपी के आदेश को नकारते हुए अपने स्थानांतरण को 1 सप्ताह बाद भी स्वीकार नहीं किया है। जिससे प्रश्न यह उठता है कि थाना प्रभारी यस पी के आदेश की अवहेलना कर रहे हैं, या फिर यह सारा कार्य एसपी के संरक्षण में उनके दिशा निर्देशन में हो रहा है। इनमें दो थाना प्रभारी बहुचर्चित हैं । यातायात थाना प्रभारी प्रमोद सिंह को हटाए जाने को लेकर भारतीय जनता पार्टी के जिला अध्यक्ष डॉ सनम जांगड़े ने धरना प्रदर्शन और आंदोलन किया था। इसी तरह सिटी कोतवाली थाना प्रभारी महेश ध्रुव को हटाने के लिए विधायक प्रमोद शर्मा ने चक्का जाम हड़ताल धरना प्रदर्शन एवं आंदोलन किया था। जिसके बाद पुलिस अधीक्षक ने बड़े पैमाने पर विभाग में फेरबदल किया था। किंतु इस फेरबदल का असर अभी तक जिला मुख्यालय में दिखाई नहीं दे रहा है। कई थाना प्रभारी 8 दिन बीतने के बाद भी अभी तक अपनी कुर्सी पर जमे हुए हैं, एवं कुर्सी छोड़ने के लिए तैयार नहीं है। स्थानांतरण होने के बावजूद उनका पद ना छोड़ना या तो उच्चाधिकारियों के संरक्षण को दर्शाता है, या फिर उच्चाधिकारियों के आदेश की अवहेलना। बहरहाल दोनों में से कोई भी कारण हो, सवालिया निशान पुलिस विभाग की कार्यप्रणाली पर उठा रहे हैं। इस संबंध में विधायक प्रमोद शर्मा ने कहा कि दिखावा के लिए पुलिस अधीक्षक द्वारा स्थानांतरण किया गया है, किंतु यदि उन्हें नहीं हटाया जाता है तो हम बहुत जल्द उग्र आंदोलन फिर से करेंगे। इसी तरह डॉक्टर सनम जांगड़े ने इस मामले को भूपेश बघेल सरकार के संरक्षण में अराजकता असामाजिक तत्वों और अवैध वसूली को बढ़ावा देने का परिणाम बताया। डॉक्टर सनम जांगड़े ने कहा कि यह सारा खेल भूपेश बघेल की सरकार जानबूझकर करवा रही है। और सिर्फ अवैध उगाही का काम कर रही हैं। पुलिस अधीक्षक को मालूम था कि निरीक्षक सोनसाय मौर्य का प्रमोशन होने वाला हैं। उसके बावजूद जानबूझकर उनका स्थानांतरण यातायात थाने में किया गया, जो कि सरासर गलत है। और प्रमोशन होने के बाद उनके स्थान पर अन्य किसी निरीक्षक का अभी तक यातायात में स्थानांतरण न करना असामाजिक तत्व और अवैध वसूली कर्ताओं को बढ़ावा देने वाली मानसिकता को दर्शाता है।

20 दिन के भीतर खोखरी सरपंच की कुर्सी गई, पंचों ने अविश्वास प्रस्ताव लाकर सरपंच को हटाया

जांजगीर चाम्पा:-पामगढ़ ब्लॉक के ग्राम पंचायत खोखरी के सरपंच के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पारित होने के बाद ग्राम पंचायत खोखरी में आतिशबाजी कर खुशियाँ मनाई गई। पंचों सहित ग्रामवासियों ने आतिशबाजी कर रंग गुलाल लगाकर जश्न मनाया ग्राम पंचायत खोखरी के सरपंच के विरुद्ध अविश्वास प्रस्ताव लगाया था। जिसके पास होने के बाद सरपंच कुमार साहू को पदमुक्त कर दिया है। इस दौरान पामगढ़ तहसीलदार एवं जनपद पंचायत पामगढ़ के अधिकारी कर्मचारी व पंचायत स्पेक्टर मौजूद थे। पंचों ने बताया की सरपंच द्वारा मनमाने ढंग से कार्य किया जाता था आहरण राशि का विकास कार्यों में उपयोग नहीं किया जाता और न ही इसकी जानकारी किसी भी पंच को दी जाती है। इस मनमानी से परेशान होकर सरपंच के खिलाफ पंचायत मे अविश्वास प्रस्ताव लाया गया।

खोखरी के पंचों ने बताया कि सरपंच को हटाने के लिए 01 सितंबर को ग्राम पंचायत खोखरी 20 वार्ड है जिसमें से 20 पंच अविश्वास देने के लिए एसडीएम कार्यालय पहुंचे थे पंचों के द्वारा अविश्वास प्रस्ताव लगाया गया था। जिसमें पक्ष में 17 व विपक्ष में 4 वोट पड़े । इस प्रकार कुमार साहू को सरपंच पद से हटाने का प्रस्ताव पारित पास हो गया।

इस दौरान जनपद पंचायत पामगढ़ के अधिकारी कर्मचारी पंचायत इंस्पेक्टर पंचायत सचिव व ग्रामीण उपस्थित थे।

यातायात थाने से प्रमोद सिंह का ट्रांसफर होते ही 50 गमले गायब, जन सहयोग से किया गया था सौंदर्यीकरण।

बलौदाबाजार/ बलौदाबाजार जिला मुख्यालय में स्थित यातायात थाने का सौंदर्यीकरण प्रमोद सिंह के थाना प्रभारी रहते हुए जन सहयोग से किया गया था। प्रमोद सिंह ने लोगों से सहयोग लेकर काफी मेहनत की और यहां का सौंदर्यीकरण करवाया। पेड़ पौधे लगवाए। मैदान का समतलीकरण किया। थाने का अद्भुत सौंदर्य देखते बनता था। किंतु उनके स्थानांतरण होते ही यातायात थाने से अचानक 50 गमले चोरी हो गए। जो कि पूरे नगर में चर्चा का विषय बना हुआ है। आखिर प्रमोद सिंह के रहते किसी परिंदे के पर मारने की हिमाकत नहीं होती थी। किंतु उनके स्थानांतरण होते ही आखिर चोरों ने सौंदर्यीकरण के लिए लगाए गए गमलों पर हाथ साफ कैसे कर दिया। वह भी एक दो नहीं पूरे 40-50 गमले गायब हुए हैं।

सुनील महेश्वरी की मांग पर जिला सहकारी बैंक के अध्यक्ष पंकज शर्मा ने सिमगा ब्रांच का नाम दिवंगत वरिष्ठ कांग्रेसी एवं सहकारिता नेता स्वर्गीय प्रमोद राव भोसले के नाम करने की घोषणा ....

भाटापारा/सिमगा सहकारी बैंक में आयोजित कार्यक्रम में शामिल हुए जिला सहकारिता बैंक के अध्यक्ष पंकज शर्मा ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि किसानों की मूलभूत समस्याओं का निराकरण समय सीमा के अंतर्गत करने के लिए सिटीजन चार्टर बनाया जाएगा ।बैंक में कर्मचारियों की संख्या बढ़ाई जाएगी ,जिससे किसानों की समस्या का सामना ना करना पड़े ।इसके साथ ही साथ बैंक के सामने सैड का निर्माण किया जाएगा। जिससे जिससे किसानों को गर्मी और बरसात से राहत मिल सके। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे कांग्रेस नेता सुनील महेश्वरी ने कहा कि सहकारिता ग्रामीण एवं कृषक अर्थव्यवस्था रीढ़ की हड्डी है ।इस संस्था में पंकज शर्मा जैसे सक्रिय व्यक्ति की नियुक्ति से सहकारिता के क्षेत्र में मजबूती आएगी। विशेष अतिथि के रूप में उपस्थित जिला कांग्रेस अध्यक्ष हितेंद्र ठाकुर ने अपने संबोधन में कहा कि प्राथमिक सहकारी समिति के माध्यम से धान की खरीदी ,खाद राशन , ऋण का वितरण जैसे महत्वपूर्ण कार्य की मनिट्रिंग ,प्रबंधन पंकज शर्मा के माध्यम से होना है। जिन्होंने बचपन से अपने पिता सतनारायण शर्मा से सहकारिता को देखा है और सीखा है। जोकि सहकारिता के क्षेत्र में मील का पत्थर साबित होगा। कार्यक्रम का आयोजन जिला सहकारी बैंक सिमगा के द्वारा किया गया था कार्यक्रम में 50 से अधिक महिलाओं का सम्मान करते हुए उन्हें साड़ी वितरण किया गया। पंकज शर्मा के पहुंचने पर अजीत भट्ट हितेश साहू के नेतृत्व में मोटरसाइकिल रैली में उन्हें नगर भ्रमण कराया गया। कार्यक्रम में प्रमुख रूप से नगर पंचायत अध्यक्ष भागवत सोनकर ,जनपद अध्यक्ष वीणा आडील, ,जिला पंचायत सदस्य अभिनव यदु ,नगर पंचायत उपाध्यक्ष अविनाश दास, ,जिला प्रवक्ता केतुमान साहू, जिला किसान कांग्रेस अध्यक्ष रामबिलास साहू ,,नरेंद्र शुक्ला, ,रिंकू भाटिया, कोमल टंडन, गंगा ओगरे ,नरेंद्र साहू ,जिला कांग्रेस उपाध्यक्ष सुनीता यादव, पार्षद कान्हा यदु ,पाषर्द अब्दुल खान ,पार्षद संजय कोशले , पार्षद प्रतिनिधी मनीष सोनी पूर्व पार्षद राहुल शर्मा ,तिलक देवांगन, जिला सचिव गोपाल शर्मा, एल्डरमैन मुकेश साहू सत्यजीत सेन्डे आदि सहित बहुत संख्या में उपस्थित थे।

रिश्वत नही देने पर आदिवासी महिला व बच्चो को थाने दार ने बेल्ट से पीटा ......पलारी थाना प्रभारी सी आर चंद्रा पर आरोप लगाते हुए महिला ने एस पी से की शिकायत ....

बलौदा बाज़ार आदिवासी महिला के साथ पलारी थाना प्रभारी सी आर चंद्रा ने थाने में ही जमकर मारपीट कर दिया, इतना ही नही महिला के 2 मासूम बच्चो को भी थाने में बेदम पिटाई कर उनसे थाने का शौचालय तक साफ कराया।आदिवासी परिवार का बस कसूर इतना था कि थाने दार साहब के द्वारा मांगी गई रिश्वत नही मिली ।।जीससे साहब इतना नाराज हुए की महिला समेत बच्चो को बड़े ही बेदर्दी से मारपीट की।पूरा मामला बलोदा बाजार जिले के पलारी थाने का है दरसल पूरा मामला पलारी थाने का है जहाँ सावरा डेरा में रहने वाली एक महिला ने अपने नाबालिग बेटी की गुम होने की सूचना थाने में दर्ज कराई थी,कुछ दिन पहले सावरा डेरा में रहने वाली नाबालिग बच्ची अपनी माँ से किसी बात पर नाराज होकर बिना बताए अपनी बड़ी मम्मी के घर दूसरे गांव चली गयी थी ,जिसकी सूचना पीड़ित आदिवासी परिवार ने थाने में दर्ज कराई थी ,बावजूद पलारी पुलिस ने किसी प्रकार की कोई भी खोजबीन नही की ,इधर नाबालिग बच्ची का गुस्सा शांत होते ही वह अपने घर वापस लौट आयी।नाबालिग बच्ची के शकुशल घर वापस आ जाने से परिजन बेहद खुश थे ।वही नाबालिग की वापस घर आने की सूचना पीड़ित परिवार ने थाने में देदी।इधर थानाप्रभारी सी आर चंद्रा साहब में नाबालिग और उसकी माँ को थाने में सुबह करीब 9 बजे बुला लिया और पूछताछ के नाम पर लगातार प्रताड़ित करता रहा।नाबालिग का मेडिकल टेस्ट कराने के नाम पर थानाप्रभारी लगातार दबाव बनाते रहा ,अंततः थाना प्रभारी ने केश खत्म करने के लिए 20 हजार रुपये की रिश्वत की मांग की ,इधर पीड़ित परिवार ने पैसे न होने का हवाला देते रहे पैसे नही देने पर माँ समेत नाबालिग बच्ची को भी थाने में करीब 8 बजे तक बिना खाना खिलाये बैठाए रखे,पीड़ित आदिसवासी महिला शुगर और बीपी की मरीज भी है वो लाख थाना प्रभारी सी आर चंद्रा से मिन्नते करते रही कि उसको कुछ खाने दिया जाए ,लेकिन थाना प्रभारी सी आर चंद्रा का पत्थर दिल जरा सा भी नही पसीजा, इधर महिला लोगो से मदद मांगती रही ,करीब शाम को 7 बजे पलारी की ही वरिष्ठ वकील चंचला चौबे को इस बात की भनक लगी तब जाकर थाने पहुची और थानाप्रभारी सी आर चंद्रा को उनको तत्काल छोड़ने का आग्रह किया,रात करीब 8 बजे माँ और बेटी को थाने से छोड़ तो दिया गया लेकिन थाना प्रभारी सी आर चंद्रा गुस्से से बौखला उठे।ठीक उसके दूसरे दिन प्रभारी सी आर चंद्रा ने सुबह सुबह पीड़ित महिला के सुवर चरा रहे 2 मासूम बच्चो को मोहल्ले से उठाकर थाने ले आया जहाँ बिना कुछ कहे उनकी जमकर लात घुसो से पिटाई कर दी इतना ही नही मासूम बच्चो में एक मानसिक रूप से विकलांग भी है ,जिनसे थाने का सौचालय तक को साफ कराया गया,बच्चो को थाने ले जाने की बात सुनते पीड़ित माँ दौड़ाते हुए थाने पहुँची और बच्चो की दुर्दशा देख प्रभारी से उनके बच्चो का कसूर पूछने लगी,फिर क्या था थाना प्रभारी सी आर चंद्रा ने अपना आपा खो दिया और महिला की थाने के अंदर ही जमकर लात घुसो से बेल्ट से बेरहमी से पिटाई कर दी, माँ समेत पूरे परिवार को प्रभारी सी आर चंद्रा ने सुबह से रात तक भूखे बैठा कर बेदम पिटाई करता रहा ।इधर जब घटना की जानकारी मोहल्लेवासियों को हुई तब देर रात सभी महिलाएं थाने पहुँचे जिसके घंटो तक हाई वोल्टेज विरोध प्रदर्शन शुरू हुआ ।इधर मामला बिगड़ता देख प्रभारी सी आर चंद्रा ने सभी को रिहा कर दिया लेकिन जब बाहर आकर पीड़ितों ने अपनी आप बीति बताई जिसके बाद थाने परिषर में ही मोहल्ले भर के लोगो ने थाना प्रभारी सी आर चंद्रा के खिलाफ विरोध प्रदर्शन में बैठकर जमकर हंगामा मचाया।हंगामे में साहब फिर से अपना आपा खो बैठे और फिर महिलाओं से ही धक्का मुक्की करने लगे,रिश्वत की पैसे नही मिलने से प्रभारी सी आर चंद्रा साहब कानून ही भूल गए ,देर रात तक जब हंगामा शांत नही हुई तब जाकर बलौदाबाजार डीएसपी मौके पर पहुँच कर मामला शांत कराया और कार्यवाही का आश्वाशन दिया , जिसके बाद आज भी पलारी के आदिवासी मोहल्ले के वासी आज एसपी से मिलने बलौदाबाजार पहुँचे जब उन्होंने पलारी थाना प्रभारी सी आर चंद्रा पर कड़ी कार्यवाही करते हुए उन्हें तत्काल पलारी थाने से हटाने की मांग की है ,पीड़ितों ने 3 दिन के भीतर कार्यवाही नही किये जाने पर उग्र आंदोलन की चेतावनी दी है। लेकिन इस घटना ने पुलिस के कार्यशैली पर एक बड़ा दाग लगा दिया है।जहाँ आदिवासीयो पर जुर्म रोकने कई बड़े कानून बनाये जाते है वही इस तरह की घटना वो भी एक महिला और मासूम बच्चो के साथ होना पुलिस और सरकार पर एक बड़ा सवालिया निशान खड़ी करती है।फिलहाल जिले के एडिशनल एसपी पीताम्बर पटेल ने मामले की गंभीरता से जांच कराने की बात तो कही है ,अब देखना होगा कि इस मामले में कब तक कार्यवाही होती है ,या फिर यह मामला ठंडे बस्ते में चला जायेगा ......बड़ा सवाल है

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रतिनिधि राघवेंद्र कुमार सिंह के द्वारा सीसी रोड का भूमि पूजन एवं लोकार्पण

अकलतरा अकलतरा विकासखंड के ग्राम परसदा में प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रतिनिधि राघवेंद्र कुमार सिंह जी के मुख्यअतिथि में सी.सी.रोड का भूमिपूजन एवं लोकार्पण किया गया, जिसमें सुनीता संतोष यादव ,सरपंच ग्राम पंचायत मुड़पार , पंच -हरीश यादव , महेन्द्र मानसर , विश्वास यादव, हेमंत यादव ,राजू मानसर ,तुलेश्वर मानसर , शिवशंकर मानिकपुरी , एवं भगवानदीन यादव, मोहनदास ,अमरीका यादव, दिल मानिकपुरी, गजपति मानसर सहित ग्रामवासी उपस्थित रहे।

दो कृषि दवाई दुकानों को शो कॉज़ नोटिस उप संचालक की कार्यवाही।

भाटापारा कृषि सोपान छाबडीया बीज भण्डार एवम लखन जानकी पेस्टिसाइडस में कृषि विभाग का छापा गड़बड़ी पर दो कृषि दवाई दुकानों को शो कॉज़ नोटिस उप संचालक की कार्यवाही बलौदाबाजार, 20 सितम्बर 2021/ कृषि विभाग की जिला स्तरीय निरीक्षण टीम ने आज भाटापारा में स्थानीय उर्वरक एवं कीटनाशक निरीक्षक टीम की उपस्थिति में कपि सोपान एवं छाबडीया बीज भण्डार, लखन जानकी पेस्टिसाइडस का औचक निरीक्षण किया गया । निरीक्षण में लखन जानकी पेस्टिसाइड्स में मूल्य सूची, स्कंध प्रदर्शन तथा निर्धारित प्रपत्र में बिल बुक एवं रजिस्टर का संधारण नहीं होना पाया गया । इसी प्रकार कृषि सोपान में भी कीटनाशक मूल्य सूची, स्कंध प्रदर्शन तथा निर्धारित प्रपत्र में बिल बुक एवं रजिस्टर संधारण नहीं पाया गया। दोनो ही विक्रेताओं को चेतावनी के साथ नोटिस जारी कर तीन दिवस के भीतर जवाब प्रस्तुत करने हेतु निर्देश दिया गया है। जिले में कृषि आदान का भण्डारण वितरण सुचारु रुप से संचालित हो सके, इसी उद्देश्य से लगातार छापेमारी की कार्रवाई कृषि विभाग द्वारा लगातार जारी है। कृषकों को सूचित किया जा रहा है कि कृषि आदान से संबंधित किसी भी प्रकार की शिकायत हो तो विकासखण्ड के वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी कार्यालय में लिखित में सूचना प्रस्तुत करें जिससे त्वरित कार्रवाई किया जा सके। वर्तमान में डबल लॉक में पर्याप्त मात्रा में उर्वरक भण्डारित है। जिन समितियों में खाद उपलब्ध नही है, वहा से मांग प्राप्त होने पर त्वरित भण्डारण कराया जावेगा।

पत्नी की हत्या के बाद खुदकुशी कर ली:शराब पीकर रोज झगड़ा करती थी पत्नी; रिटायर्ड PWD कर्मचारी ने गला काटकर मार डाला, फिर खुद भी फांसी लगाकर जान दे दी।

पेंड्रा छत्तीसगढ़ के गौरेला-पेंड्रा-मरवाही में PWD के रिटायर्ड कर्मचारी ने घरेलू विवाद के चलते गला काटकर अपनी पत्नी की हत्या कर दी। इसके बाद खुद भी जान दे दी। रिटायर्ड कर्मचारी का शव पत्नी की लाश के पास ही फंदे से लटकता मिला है। बताया जा रहा है कि महिला रोज शराब पीकर झगड़ा करती थी। इसको लेकर गांव में पंचायत भी हुई थी। सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने दोनों शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है। घटना मरवाही थाना क्षेत्र की है। जानकारी के मुताबिक, करगीकला गांव निवासी समय लाल पनिका (65) लोक निर्माण विभाग (PWD) से रिटायर्ड हुआ था। वह अपनी पत्नी सुशीला बाई (50) के साथ रहता था। सुशीला उसकी दूसरी पत्नी थी। बताया जा रहा है कि सुशीला और समय लाल के बीच अक्सर घरेलू विवाद होता था। इसके चलते कई बार सामाजिक बैठक भी बुलाई गई। दोनों को समझाया गया, लेकिन कोई नतीजा नहीं निकला। हैडपंप पर पड़ोसी महिला पानी भरने गई तो शव लटकता देखा पुलिस ने बताया कि रविवार दोपहर करीब 1 बजे पड़ोस में रहने वाली मीराबाई हैडपंप पर पानी भरने के बाद लौट रही थी। इसी दौरान उसने देखा कि समय लाल के घर का दरवाजा खुला हुआ है। अंदर समय लाल फंदे से लटका हुआ था। इसके बाद मीराबाई ने इसकी सूचना सरपंच पति विशाल सिंह उरैती को दी। इसके बाद सभी समय लाल के घर पहुंचे तो देखा कि उसका शव फंदे से लटक रहा था और पास में ही सुशीला की गर्दन कटी लाश पड़ी थी। पति को बेटियों से भी नहीं मिलने देती थी सुशीला ग्रामीणों ने बताया कि समय लाल की 4 बेटियां हैं और उनकी शादी हो चुकी है। सुशीला शराब पीने की आदी थी। इसी बात को लेकर घर में झगड़ा भी होता था। बेटियों की शादी के बाद सुशीला ने समय लाल को उनसे मिलने से भी रोक दिया था। इसके चलते वह काफी परेशान रहता। सुशीला को पंचायत और स्थानीय लोगों ने कई बार समझाया, लेकिन वह मानती ही नहीं थी। फॉरेंसिक टीम ने घटना स्थल से साक्ष्य एकत्रित किए हैं थाना प्रभारी नरेंद्र सिंह ने बताया कि बिलासपुर से आई फारेंसिक टीम ने घटना स्थल से साक्ष्य एकत्रित किया है। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के बाद स्थिति और स्पष्ट हो पाएगी। उन्होंने कहा कि परिजनों ने आशंका जताई है कि घटना का कारण आपसी विवाद हो सकता है। पुलिस ने मौके से एक हंसिया बरामद किया है। उसी से महिला की गर्दन काटे जाने की आशंका है।

राजनांदगांव में पूर्व मंत्री ने किया सुसाइड:

रजिंदरपाल सिंह भाटिया ने अपने घर में फांसी लगा ली, खुदकुशी की वजह स्पष्ट नहीं; खराब सेहत की वजह से परेशान रहने की बात आ रही राजनांदगांव छत्तीसगढ़ के पूर्व मंत्री रजिंदरपाल सिंह भाटिया ने आत्महत्या कर ली। रविवार शाम करीब साढ़े 7 बजे उन्होंने अपने छुरिया स्थित घर में फांसी लगा ली। भाटिया राजनांदगांव के छुरिया में अपने छोटे भाई के साथ रहते थे। शाम को वह घर पर अकेले थे। उनके भाई जब घर पहुंचे तो भाटिया अपने कमरे में फांसी पर लटके मिले। आत्महत्या का कारण फिलहाल साफ नहीं हो सका है। खबर है कि वो कुछ दिनों से खराब सेहत की वजह से परेशान चल रहे थे। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने रजिन्दर पाल सिंह भाटिया के निधन पर गहरा दुःख प्रकट किया है। भाटिया के आत्महत्या करने की खबर से इलाके के लोग बेहद हैरान हैं। खबर मिलते ही पुलिस की टीम मौके पर पहुंची। अब तक किसी तरह का सुसाइड नोट मिलने की पुष्टि नहीं है। पुलिस घर वालों से भी पूछताछ की जा रही है। भाटिया एक बार अविभाजित मध्यप्रदेश में और छत्तीसगढ़ राज्य गठन के बाद दो बार विधायक निर्वाचित हुए थे। राजनीतिक सफर भाटिया ने परिवहन मंत्री और CSIDC के चेयरमैन का पद भी संभाला। वर्ष 2014 के विधानसभा चुनाव में जब उन्हें भाजपा की ओर से टिकट नहीं दिया गया तो उन्होंने निर्दलीय चुनाव लड़ा। उस समय कांग्रेस के भोलाराम साहू विधायक चुने गए। उस चुनाव में निर्दलीय लड़े भाटिया दूसरे स्थान पर रहे और भाजपा के विजय साहू को तीसरा स्थान मिला था। कौन थे राजिंदरपाल सिंह भाटिया 25 अक्टूबर 1949 में नई दिल्ली में जन्मे रजिंदरपाल की स्कूली शिक्षा राजनांदगांव में ही हुई थी। छात्र राजनीति से वो सार्वजनिक क्षेत्र में आए। उनकी पत्नी भूपिन्दर कौर एक बेटा और दो बेटियां हैं। कुछ साल पहले पत्नी का निधन हो गया था। भाटिया छुरिया में अपने भाई के साथ अकेले ही रह रहे थे। इंटरमीडिएट की पढ़ाई के बाद छुरिया में खेती किसानी के पारिवारिक काम को भी संभाला। साल 1978 से भाटिया राजनीति में सक्रिय हुए। 1980 में भाजपा के ब्लाक अध्यक्ष बने। 1993 में पहली बार चुनाव जीता, 1998 और 2003 में भी विधान सभा के लिए निर्वाचित हुए। साल 2004 में राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार)- वाणिज्य, उद्योग, सार्वजनिक उपक्रम, ग्रामोद्योग और परिवहन विभाग का जिम्मा संभाला।

आम जनों की सेवा ही सबसे बड़ा पुरुषार्थ है-राघवेंद्र कुमार सिंह

अकलतरा:-असंगठित क्षेत्र प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष तनवीर आलम और उनके लोगों के द्वारा ग्राम मुर्लीडीह में स्वास्थ्य शिविर का आयोजन कराया गया जिसमें 100 लोगों का वैक्सीनेशन और लगभग 250 लोगों का इलाज प्रदेश काँग्रेस प्रतिनिधि श्री राघवेंद्र कुमार सिंह जी के मुख्य आतिथ्य में सम्पन्न हुआ। इस पर मुख्य अतिथि प्रदेश काँग्रेस प्रतिनिधि ने बताया कि आमजनों की सेवा ही सबसे बड़ा पुरुषार्थ है और उन्होंने सफल आयोजन के लिए असंगठित क्षेत्र के लोगों को बधाई प्रेषित किया। इस अवसर पर डॉ अर्पिता सिंह , सेनानी देवांगन, अब्दुल रहिस, श्रीमती सतीस कुमारी दिव्य, गौरीशंकर कौसिक, श्रीमती अंजनी जीवन, शिव दयाल साहू, दिलीप, श्रीमती उषा बर्मन, ने लोगो का इलाज किया और आयोजन कार्यकर्ताओं में मुर्लीडीह सरपंच कमलेश पाटले, जिला सचिव गुरुदेव जोगी, व नगर अध्यक्ष दीप पाटले, विधानसभा उपाध्यक्ष विवेक रात्रे,आशीष नवरंग, चंद्रशेखर यादव, संजीत रात्रे, जसवंत जोगी, जयगोपाल यादव, आदि लोग मौजूद रहे।।
Previous123456789...317318Next