बड़ी खबर

अंबिकापुर मेडिकल कालेज में 4 घंटे के भीतर 4 नवजातों की मौत स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव दिल्ली दौरा रद्द स्वास्थ्य विभाग की विशेष टीम को भी अंबिकापुर बुलाया गया….

रायपुर 17 अक्टूबर 2021। अंबिकापुर मेडिकल कालेज में 4 घंटे के भीतर 4 नवजातों की मौत के बाद हड़कंप मच गया है। स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव अपना दौरा खत्म कर दिल्ली से सीधे सरगुजा पहुंच रहे हैं। कल अंबिकापुर मेडिकल कालेज में 4 नवजात बच्चों की मौत के बाद जमकर हंगामा हुआ था, इस घटना को लेकर सड़क जाम भी हुआ था। आरोप था कि मेडिकल कालेज में डाक्टरों और स्टाफ नर्स की लापरवाही की वजह से बच्चों की जान गयी है। इस घटना की सूचना जैसे ही स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव को हुआ, वो तत्काल दिल्ली दौरा छोड़कर सरगुजा लौट रहे हैं। वो 3.30 बजे अंबिकापुर पहुंचेंगे। नवजात की मौत के मामले में स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने बिलासपुर और रायपुर से स्वास्थ्य विभाग की विशेष टीम को अंबिकापुर पहुँचने के लिए निर्देशित किया है। आपको बता दें कि कल सुबह साढ़े तीन बजे से 7 बजे के बीच मेडिकल कालेज में 4 नवजात की मौत हुई थी। जिसके बाद नाराज परिजनों ने मुख्य सड़क जाम कर दिया था। परिजन स्वास्थ्य मंत्री को बुलाने को बात पर अड़े हुए थे। हालांकि डाक्टर का कहना है कि बच्चे प्री मेच्योर थे, जिसकी वजह से उनकी मौत हुई है। जानकारी के मुताबिक सूरजपुर जिले के बैजनाथपुर निवासी उदय सिंह ने अपने 4 दिन के नवजात बच्चे को 12 अक्टूबर को दोपहर 1 बजे तबियत खराब होने पर भर्ती कराया था। उसे एसएनसीयू में रखा गया था।16 अक्टूबर की सुबह 3.30 बजे मौत हो गई। वहीं राजपुर निवासी महेश ने अपने डेढ़ महीने के बच्चे को 13 अक्टूबर को एसएनसीयू में भर्ती कराया था। यहां इलाज के दौरान 16 अक्टूबर की सुबह 4 बजे मौत हो गई। दरिमा निवासी देवानंद ने अपने 27 दिन के नवजात को 19 सितंबर को भर्ती कराया था। यहां इलाज के दौरान 16 अक्टूबर की सुबह 5 बजे मौत हो गई। इसी तरह उदयपुर निवासी बालकेश्वर ने दो दिन के नवजात शिशु को 15 अक्टूबर को भर्ती कराया था। 16 अक्टूबर की सुबह 6.45 बजे उसकी मौत हो गई।

रायपुर स्टेशन में खड़ी ट्रेन में हुआ ब्लास्ट….CRPF के 6 जवान हुए घायल….पुलिस टीम मौके पर

रायपुर 16 अक्टूबर 2021। रायपुर से एक ब्लास्ट की खबर आ रही है। ये ब्लास्ट रायपुर रेलवे स्टेशन पर हुआ है। इस घटना में CRPF के जवान घायल हुए है। हादसा डेटोनेटर के फटने से हुआ है। ये ब्लास्ट सुबह करीब साढ़े 6 बजे हुआ। जानकारी के मुताबिक खड़ी ट्रैन में ये ब्लास्ट हुआ है। जानकारी के मुताबिक प्लेटफॉर्म नम्बर 2 पर एक ट्रेन खड़ी थी , जिसके बाथरूम के पास एक डेटोनेटर फटा है। घटना के बाद ट्रेन के बोगी में काफी खून पसर गया। वहीं पुलिस की टीम भी तत्काल मौके पर पहुंची। फिलहाल ट्रैन रवाना हो गया है। जानकारी के मुताबिक सुबह करीब साढ़े 6 बजे स्टेशन पर ये हादसा हुआ है। जानकारी के मुताबिक CRPF के जवान डेटोनेटर को एक बोगी से दूसरे बोगी में ले जा रहे थे, उसी दौरान ये ब्लास्ट हो गया, इस घटना में 6 जवान जख्मी हो गये। घायल जवान को रायपुर के नरायणा हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। जवानों का इलाज अभी चल रहा है, सभी की स्थिति अभी सामान्य है। घायल जवानों में चवन विकास लक्ष्मण, रमेश लाल, रविंद्र कर, सुशील, दिनेश कुमार पैकरा के नाम शामिल हैं।

मुख्यमंत्री रायपुर और दुर्ग जिले में आयोजित दशहरा उत्सव में शामिल होंगे

रायपुर, 14 अक्टूबर 2021/मुख्यमंत्री भूपेश बघेल 15 अक्टूबर को राजधानी रायपुर और दुर्ग जिले में आयोजित दशहरा उत्सव कार्यक्रम में शामिल होंगे। मुख्यमंत्री बघेल के निर्धारित दौरा कार्यक्रम के अनुसार 15 अक्टूबर को पूर्वान्ह 11.55 बजे रायपुर हेलीपेड से प्रस्थान कर दोपहर 12 बजे दुर्ग जिले के पाटन तहसील के ग्राम कुरूदडीह पहुंचेंगे और वहां स्थानीय कार्यक्रम में शामिल होने के बाद 1.20 बजे रायपुर आएंगे। मुख्यमंत्री बघेल शाम 6 बजे रायपुर की डब्ल्यू.आर.एस. कालोनी में आयोजित दशहरा उत्सव में शामिल होंगे। इसके बाद वे 6.45 बजे रावण भाठा मैदान पहुंचेंगे और वहां दशहरा उत्सव में शामिल होंगे। मुख्यमंत्री श्री बघेल रात्रि 7 बजे रावणभाठा मैदान से कुम्हारी जिला दुर्ग के लिए प्रस्थान करेंगे। वे 7.15 बजे कुम्हारी, 7.40 बजे चरौदा और 7.55 बजे भिलाई-03 में आयोजित दशहरा उत्सव में शामिल होंगे।

मुख्यमंत्री ने माता के दरबार में समूह की 15 महिलाओं द्वारा दी गई टोकरी में पूजन सामग्री एवं प्रसाद चढ़ाया

* रायपुर, 11 अक्टूबर 2021/ मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल आज डोंगरगढ़ में मां बम्लेश्वरी के चढ़ावे के लिए महिला स्व-सहायता समूह की महिलाओं द्वारा हस्तनिर्मित बांस की टोकरी में पूजन सामग्री लेकर दर्शन करने पहुंचे। मुख्यमंत्री ने समूह की 15 महिलाओं द्वारा बनाई गई टोकरी में प्रसाद चढ़ाया। उन्होंने समूह की महिलाओं को प्रोत्साहित भी किया। उल्लेखनीय है कि बंसोड़ जाति की महिलाएं अपने परंपरागत हुनर से टोकरी बनाती हैं। उन्हें बिहान समूह से जोड़कर बांस उपलब्ध कराया गया है। खुशी महिला स्वसहायता समूह की बुजुर्ग महिला श्रीमती रमशीला मुख्यमंत्री से मिलकर उत्साहित एवं प्रसन्न थी। समूह की महिलाओं ने कहा कि जिला प्रशासन के प्रयासों से रोजगार मिलने के साथ ही हुनर को एक नई पहचान मिली है। समूह के महिलाओं के आय में वृद्धि करने के लिए जिला प्रशासन द्वारा विशेष प्रयास किए जा रहे हैं। टोकरी में पूजन सामग्री ले जाने से माता मंदिर परिसर प्लास्टिक मुक्त रहेगा। इस अवसर पर समूह की महिलाएं श्रीमती दुनीबाई साहू, श्रीमती नागेश्वरी सिन्हा, श्रीमती कविता देशलहरे, श्रीमती हिमेश बग्गा ने मुख्यमंत्री से मिलकर खुशी जाहिर की। श्रद्धालु बांस की टोकरी में माता रानी को पूजन सामग्री चढ़ा रहे हैं। इस बरस माँ बम्लेश्वरी के चरणों में महिला स्वसहायता समूह द्वारा उगाए गए फूल चढ़ाए जा रहे हैं। जिला प्रशासन की पहल पर गौठान के स्वसहायता समूह की महिलाएं व्यापक स्तर पर गेंदे की खेती कर रही हैं। डोंगरगढ़ विकासखंड के ग्राम कलकसा एवं पटपर सहित कई ग्रामों में गेंदे की खेती की जा रही है। कलेक्टर श्री तारन प्रकाश सिन्हा ने स्थानीय स्तर पर फूलों की मांग को देखते हुए समूह की महिलाओं को फूलों की खेती के लिए प्रोत्साहित किया। डोंगरगढ़ में अधिकांशतः फूल कोलकाता से आते हैं। ऐसे में स्थानीय स्तर पर फूलों की आपूर्ति के लिए समूह की महिलाओं को प्रेरित किया जा रहा है। जिसके सुखद परिणाम रहे हैं। कलकसा में 3 एकड़ में गेंदे की खेती की जा रही है तथा ड्रिप सिंचाई करते हुए आधुनिक तकनीक का प्रयोग किया जा रहा है। जिले के पटपर, मोखला सहित कई गौठान ग्रामों में गेंदे की खेती की जा रही है।

IPS अफसर दीपांशु काबरा को बनाया जनसंपर्क विभाग का आयुक्त, किसी पुलिस अधिकारी को पहली बार दिया गया यह पद

रायपुर राज्य सरकार ने 1997 बैच के IPS अफसर दीपांशु काबरा को जनसंपर्क विभाग का आयुक्त बना दिया है। वे डॉ. एस. भारतीदासन की जगह यह जिम्मेदारी संभालेंगे। बताया जा रहा है, छत्तीसगढ़ में ऐसा पहली बार हो रहा है, जब किसी पुलिस अफसर को सरकार के कामकाज के प्रचार-प्रसार से जुड़े विभाग की जिम्मेदारी दी गई है। पिछली सरकारों के भी प्रिय अफसरों में शुमार रहे काबरा अभी तक परिवहन विभाग में एडिशनल कमिश्नर की जिम्मेदारी संभाल रहे थे। नए आदेश के मुताबिक काबरा के पास परिवहन विभाग की यह अतिरिक्त जिम्मेदारी बनी रहेगी। उन्हें छत्तीसगढ़ संवाद का मुख्य कार्यपालन अधिकारी भी बनाया गया है। मुख्यमंत्री सचिवालय में सचिव की जिम्मेदारी संभाल रहे 2003 बैच के IAS सिद्धार्थ कोमल परदेशी अब जनसंपर्क विभाग के भी सचिव होंगे। उनके पास लोक निर्माण और खनिज संसाधन विभाग की जिम्मेदारी पहले से है। कुछ महीने पहले जनसंपर्क की सहयोगी संस्था संवाद के अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी बनाए गए राज्य प्रशासनिक सेवा के अधिकारी सौमिल रंजन चौबे को जनसंपर्क विभाग का संचालक बनाने का आदेश हुआ है। पिछले फेरबदल में जिला पंचायत से हटाई गईं, 2016 बैच की IAS तुलिका प्रजापति को कृषि विभाग में उपसचिव बनाया गया है। लंबे समय से सामान्य प्रशासन विभाग की जिम्मेदारी संभाल रहे संविदा अधिकारी डीडी सिंह को मुख्यमंत्री सचिवालय में सचिव की जिम्मेदारी मिली है। उनके पास सामान्य प्रशासन और आदिम जाति विकास विभाग विभाग के सचिव की जिम्मेदारी बनी रहेगी। उन्हें केवल जनसंपर्क और इलेक्ट्रॉनिक्स विभाग की जिम्मेदारी से मुक्त किया गया है।

गूगल से नंबर सर्च कर CM को किया फोन: कह डाली अपनी बात ।

दिव्यांग युवक ने कहा- घर की स्थिति खराब, ट्राइसाइकिल मिल जाती तो सहूलियत होती, 2 दिन में मुख्यमंत्री खुद देने पहुंचे बिलासपुर छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में में एक दिव्यांग युवक ने CM भूपेश बघेल को फोन कर ट्राईसाइकिल की मांग कर दी। इसके बाद सीएम ने खुद बिलासपुर आने पर उसे ट्राईसाइकिल तोहफे में दी। CM के हाथों मिले इसे तोहफे से दिव्यांग की खुशी का कोई ठिकाना नहीं था। मस्तूरी विकासखण्ड के ग्राम मुड़पार निवासी 25 साल के रवि कश्यप दिव्यांग है। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की संवेदनशीलता के बारे में मैंने सुना था। शुक्रवार के दिन गूगल से उनका नंबर खोज कर नंबर की वैधता परखने के लिए मैंने उन्हें सीधे फोन कर दिया। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने तसल्ली से उनकी पूरी बात सुनी और ट्राईसाइकिल की उनकी मांग को पूरा करने के संबंध में भरोसा भी दिया। इसके दो दिन बाद रविवार के दिन बिलासपुर प्रवास के दौरान सकरी हेलिपेड पर मुख्यमंत्री बघेल ने रवि कश्यप को ट्राईसाइकिल देकर अपनी शुभकामनाएं दी। परिवार की आर्थिक स्थिति खराब कश्यप ने बताया कि उनके परिवार की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं है। पिता की आमदनी से ही छह सदस्यीय परिवार का भरण-पोषण होता है। रवि ने सीएम भूपेश बघेल को धन्यवाद देते हुए कहा कि उनकी संवेदनशील पहल की वजह से ही उसे ट्राईसाइकिल दो दिन के भीतर ही मिल गई।

पूर्व विधायक और ब्रेवरेज कार्पोरेशन के अध्यक्ष रहे युद्धवीर सिंह का निधन

बैंगलोर:-चंद्रपुर के पूर्व विधायक संसदीय सचिव और ब्रेवरेज कार्पोरेशन के अध्यक्ष रहे युद्धवीर सिंह का देहावसान हो गया है। वे लीवर के गंभीर संक्रमण से जूझ रहे थे, और किडनी भी सुचारु काम नहीं कर रही थी। सुबह क़रीब चार बजे युद्धवीर का देहावसान हुआ। युद्धवीर सिंह के देहावसान के बाद उनके समर्थकों को करारा झटका लगा है। धारा के विपरीत तैरना और फ़ायर ब्रांड अंदाज वाला इस युवा नेता के जाने से पैलेस गहरे शोक में डूब गया है।

पंजाब के नए मुख्यमंत्री के नाम का हुआ ऐलान, ये नेता लेंगे कैप्टन अमरिंदर की जगह

चंडीगढ़:-पंजाब के नए मुख्यमंत्री के नाम का ऐलान हो गया है. कैप्टन अमरिंदर सिंह के बाद अब चरणजीत सिंह चन्नी पंजाब की कमान संभालेंगे. रविवार को कांग्रेस की अंतरिक्ष अध्यक्ष सोनिया गांधी ने जाखड़ के नाम पर मुहर लगाई है. पंजाब प्रभारी ने ट्वीट करते हुए इसकी घोषणा की है. सूत्रों के हवाले से खबर है कि पंजाब में सीएम पद के लिए कांग्रेस में इंटरनल वोटिंग हुई, जिसमें सुनील जाखड़ को सबसे ज्यादा वोट मिले. वहीं सुखजिंदर सिंह रंधावा दूसरे स्थान पर और परनीत कौर तीसरे स्थान पर रहीं. लेकिन पार्टी हाईकमान ने सिख उम्मीदवार पर बड़ा दांव खेलते हुए चरणजीत सिंह चन्नी के नाम पर मुहर लगा दी. नए सीएम की रेस में अंबिका सोनी का नाम भी शामिल था. लेकिन उन्होंने खराब सेहत का हवाला देकर मुख्यमंत्री बनने से इनकार कर दिया था. उन्होंने सिख चेहरे को सीएम बनाने का सुझाव दिया था।

पंजाब में हैं 58 फीसदी सिख मतदाता

बताते चलें कि पंजाब में सिख धर्म को मानने वाले मतदाताओं और निवासियों की संख्या 58 फीसदी है. यानी ज्यादातर लोग सिख धर्म को मानते हैं. जबकि 38 फीसदी मतदाता हिंदू धर्म से ताल्लुख रखते हैं और दलित जनसंख्या 32 फीसदी है. इतना ही नहीं, पंजाब में भी अभी तक जितने भी मुख्यमंत्री बने हैं, वो सभी सिख रहे हैं. सिर्फ तीन ही ऐसे मुख्यमंत्री आए जो हिंदू धर्म से थे. लेकिन पंजाब के सामाजिक ताना-बाना देखते हुए कांग्रेस हाईकमान ने अबकी बार एक ऐसे सिख नेता को मुख्यमंत्री की कुर्सी पर बैठाया है जो दोनों खेमों को मंजूर है.

पंजाब कांग्रेस पर सीएम गहलोत का बयान

पंजाब के मामले पर राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने ट्वीट किया, कैप्टन साहब पार्टी के सम्मानित नेता हैं और मुझे उम्मीद है कि वो आगे भी पार्टी का हित आगे रखकर ही कार्य करते रहेंगे. इसलिए ऐसे समय में हम सभी कांग्रेसजनों की जिम्मेदारी देश हित में बढ़ जाती है. हमें अपने से ऊपर उठकर पार्टी और देश हित में सोचना होगा।

उन्हें जिस पर विश्वास है उसे मुख्यमंत्री बनाएं’, अमरिंदर सिंह ने बताया आखिर क्यों छोड़ा ‘कैप्टन’ का पद

चंडीगढ़: सियासी घमासान के बीच अमरिंदर सिंह ने सीएम पद से इस्तीफा दे दिया है। अमरिंदर सिंह ने आज दोपहर राज्यपाल से मुलाकात कर उन्हें अपना इस्तीफा सौंपा। राज्यपाल को इस्तीफा सौंपने के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह ने बड़ी बात कही है। अमरिंदर सिंह ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि मैंने सुबह कांग्रेस अध्यक्ष से बात की थी और मैंने उन्हें कह दिया था कि मैं इस्तीफा दे रहा हूं। मुझे अपमानित महसूस हो रहा था, इसलिए मैंने इस्तीफा दे दिया। अब उन्हें (कांग्रेस अध्यक्ष) जिसपर विश्वास है उसे मुख्यमंत्री बनाएं। इस दौरान उन्होंने कांग्रेस छोड़ने की बात को खारिज करते हुए कहा कि फिलहाल मैं पार्टी का सदस्य बना हुआ हूं। पिछले कुछ महीनों मे तीसरी बार ये हो रहा है कि विधायकों को दिल्ली में बुलाया गया। मैं समझता हूं कि अगर मेरे ऊपर कोई संदेह है, मैं सरकार चला नहीं सका, जिस तरीके से बात हुई है मैं अपमानित महसूस कर रहा हूं।

पामगढ़ में एनएसयूआई के कार्यकर्ताओं ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन को बेरोजगारी दिवस मानकर बेचा भजिया।

लोकेशन, पामगढ़ जांजगीर-चांपा जिले में एनएसयूआई के कार्यकर्ताओं ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 17 सितंबर जन्म दिवस को बेरोजगारी दिवस मानकर जांजगीर जिले के हर चौक चौराहों में चाय भजिया बेचकर बेरोजगारी दिवस मनाया गया इसी कड़ी में पामगढ़ अंबेडकर चौक में भी कांग्रेस के जिला अध्यक्ष चौलेश्वर चंद्राकर छाया सांसद रवि भारद्वाज अनुसूचित जाति विभाग के प्रदेश संयोजक सरोज सारथी के उपस्थिति में एनएसयूआई के विधानसभा अध्यक्ष निखिल दिव्य विधानसभा कार्यकारी अध्यक्ष विजय यादव ब्लॉक अध्यक्ष लिंकन रात्रे के नेतृत्व में सैकड़ों एनएसयूवाई के कार्यकर्ता अम्बेडकर चौक में भजिया तल कर और चाय बेचते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन को बेरोजगारी दिवस के रूप में मनाते हुए नजर आए और केंद्र सरकार नरेंद्र मोदी के मुर्दाबाद के नारे लगाते हुए उन्हें पद से इस्तीफा देने की मांग की , इस अवसर पर कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता अजय दिव्य कल्याण बर्मन घांसी राम चौहान प्रदीप बनर्जी बंटी थवाईत शिखर कौसिक आकाश यादव योगेंद्र साहू उदल कश्यप राहुल टंडन, कर्ण कुमार साहू जितेश कुर्रे रितिक सोनी अमन प्रदीप श्रीवास देवेन्द्र साहू राजा बंजारे अजय वर्मा राजेक मनु पटेल हिमांशु गुप्ता रितेश निर्मलकर सतकुमार पात्रे पंकज बंजारे सावन साहू महेंद्र बंजारे ध्वजराम यादव गोकुल यादव जयसिंह यादव प्रवीण पैगवार अरविंद पटेल यूसुफ खान सागर पटेल जितेन्द्र गुस रंजीत सहित भारी संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

भूपेन्द्र पटेल होंगे गुजरात के अगले मुख्यमंत्री, विधायक दल की बैठक में हुआ फैसला

अहमदाबाद:-गुजरात के मुख्यमंत्री पद को लेकर चल रहा कयासों का दौर अब खत्म हो गया है. विधायक दल की बैठक के बाद बीजेपी की ओर से भूपेन्द्र पटेल का नाम फाइनल किया गया है. भूपेन्द्र पटेल अब गुजरात के अगले मुख्यमंत्री ( Next Gujarat CM) होंगे. इससे पहले गुजरात के मुख्यमंत्री पद से विजय रुपाणी के इस्तीफा देने के बाद से नए मुख्यमंत्री ( Next Gujarat CM) के नामों को लेकर चर्चा तेज हो गई थी. लेकिन अब गांधीनगर में हुई विधायक दल की बैठक में नए सीएम का नाम फाइनल हो गया है।

रायपुर : वैष्णो देवी में अचानक मिले छत्तीसगढ़ के किसान से सांसद श्री राहुल गांधी ने हालचाल पूछा : किसान ने कहा- बहुत अच्छा काम करत हे हमर सरकार उन्हें बताया कि गोबर बेचकर 85 हजार कमाए, स्कूटी भी खरीद ली

रायपुर, 9 सितंबर 2021सांसद राहुल गांधी की आज वैष्णो देवी के दर्शन के लिए पदयात्रा के दौरान छत्तीसगढ के एक किसान परिवार के साथ अचानक मुलाकात हुई। गांधी ने किसान और उसके परिवार को पास बिठाकर उनके साथ कुछ समय व्यतीत किया। उन्होंने उनसे हालचाल पूछा तो किसान ने उत्साह के साथ उन्हें छत्तीसगढ़ की भूपेश बघेल सरकार की किसान हितैषी योजनाओं के बारे में बताया। किसान ने कहा - "हमर सरकार बहुत अच्छा काम करत हे।" किसान ने श्री राहुल गांधी से कहा कि अभी सरकार को सिर्फ ढाई साल ही हुए हैं, भूपेश जी किसानों, वनवासियों के लिए बहुत अच्छा काम कर रहे हैं। भूमिहीन खेतिहर मजदूरों को 6 हजार रुपए दे रहे हैं। किसान ने उन्हें बताया कि उसने गोधन न्याय योजना में गोबर बेच कर अब तक 85 हजार रुपए की कमाई कर ली है। इन पैसों से एक स्कूटी भी खरीदी है। किसान ने कहा कि गौठान में भी हमारे यहां बहुत अच्छे काम हो रहे हैं।

धर्मातरण कराने वाले विधर्मी अपने कुकृत्यों से बाज आये वरना सुधार देगे- रतन यादव।

*विश्वहिन्दु परिषद एवं बजरंग दल ने धर्मातरण के विरूद्ध निकाली जनआक्रोश रैली* *राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपकर कार्यवाही की करी मांग* बलौदाबाजार- विश्व हिन्दु परिषद एव बजरंग दल द्वारा प्रदेश मे बढ रहे धर्मांतरण का विरोध करते हुए बजरंग दल के प्रांतीय संयोजक रतन यादव के नेतृत्व मे आज जनआक्रोश रैली निकालकर विरोध प्रदर्शन करते हुए विधर्मी लोगो के विरूद्ध कार्यवाही की मांग को लेकर राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा गया। प्रदेश मे भोले भाले जनता को गुमराह कर अपने समाज मे धर्मातरण करवाने वालो के विरूद्ध विश्व हिन्दु परिषद एवं बजरंग दल ने प्रांतीय संयोजक रतन यादव के नेतृत्व मे पलारी संडी गिर्रा मे विशाल जनआक्रोश रैली निकालकर आक्रोश प्रकट किया और इन विधर्मी लोगो के विरूद्ध कार्यवाही की मांग को लेकर राज्यपाल के नाम पलारी तहसीलदार को ज्ञापन सौंपा। सौंपे गये ज्ञापन में प्रदेश सहित जिले मे हो रहे धर्मातरण को बंद करने , धर्मांतरित हुए लोगो के सूची जारी कर उनके जातिप्रमाण पत्र पर उनकी जाति एवं धर्म का उल्लेख किया जावे। चर्च भूमि एवं श्मसान भूमि आबंटित करने से पहले यह जांच की जाये कि उस ग्राम क्षेत्र मे ईसाई धर्म समुदाय के लोग है या नही । जनजाति समाज की पंरपराओ का जनजाति व्यक्ति नही मानता उनको चिन्हांकित कर उन नामो को सार्वजनिक किया जावे। गौरक्षा पर बने कानून का सख्ती से पालन किया जावे गौ तस्करी बंद करने हेतु सरकार उचित कदम उठावे एवं बिना अनुमति के खरीदी बिक्री करने पर रोक लगाई जावे साथ ही खरीदी बिक्री की सूची सार्वजनिक की जावे । हिन्दुओ की आस्था को ठेस पहुचाने वालो पर सख्त से सख्त कार्यवाही की जानी चाहिए जो कि एफआईआर के बावजुद भी नही की जा रही है। जो व्यक्ति इसाई धर्म को ग्रहण करने की बात करता है उनका नाम कलेक्टर महोदय के पास रखा धर्मातरित पंजी मे अंकित है क्या यदि नही है तो धर्म परिवर्तन कैसे माना जावेगा । रोंहिग्या एवं बंगलादेशी मुसलमानो की अवैध धुसपैठ पर सरकार को सख्त कदम उठाने चाहिए और इसकी जांच उन्हे जिला बलौदाबाजार भाठापारा ही नही वरन पूरे प्रदेश से बाहर करना चाहिए। गांवो मे ईसाई एवं मुस्लिम समाज की जनसंख्या नही होने के बावजुद अवैध रूप से धर्मांतरण के उददेश्य से बनाये गये प्रार्थना सभा,चर्च मस्जिद मदरसो एवं मजारो को चिन्हांकित कर नष्ट किया जाये। हिन्दु धर्म छोडकर अन्य धर्म अपनाने वालो को भारतीय संविधान के द्वारा दिये गये जातिगत आरक्षण एवं अन्य लाभो से पूर्णत विमुख किया जावे । हिन्दुओ का धर्मांतरण कराने एवं हिन्दु धर्म के विरूद्ध षडयंत्र कर अपमानित करने वालो के विरूद्ध सख्त कार्यवाही की जाये। बजरंग दल के प्रांत संयोजक रतन यादव ने कहा कि हमने आज राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौपकर मांग की है कि हिन्दु धर्म को विधटित करने वालो के विरूद्ध सख्त से सख्त कार्यवाही की जावे । साथ ही उन्होने मुख्यमंत्री को आडे हाथो लेते हुए कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बधेल कहते है कि धर्मातरण की शिकायत पर सख्त कार्यवाही की जायेगी । हमने ऐसे कितनो केस दिये है पर उन्होने आज तक कार्यवाही नही की है यह उनकी कथनी और करनी को दर्शाता है । मै आज साफ करना चाहता हुं कि धर्मातरण को बढावा देने वाले विघर्मी को विश्वहिन्दु परिषद और बजरंग दल कदापि बर्दाश्त नही करेगा और इनका शांतिपूर्वक पूरजोर विरोध करेगा और उसके बाद नही माने तो ठोकने से भी पीछे नही हटेगा। इस अवसर पर प्रांत प्रचार प्रमुख हेमंत वर्मा, विभाग सेवा प्रमुख डा विकास मिश्रा, विहिप जिलाध्यक्ष अभिषेक (मिकी) तिवारी, जिलामंत्री राजेश केशरवानी, जिला सुरक्षा प्रमुख दलजीत सिह चांवला, उपाध्यक्ष कृष्णकांत पांडेय, जिला संयोजक रवि वर्मा, कोषाध्यक्ष शिवप्रकाश तिवारी, सेवाप्रमुख पुलक विश्वास, सेवा सहप्रमुख लक्ष्मेंन्द्र अग्रवाल, सहसमरसता प्रमुख अमित केशरवानी, धर्माचार्य पंकज शुक्ला, अखाडा प्रमुख सुनील ठाकुर, मातृशक्ति संयोजिका तुलेश्वरी धुरंधर, दुर्गावाहिनी संयोजिका राधिका वैष्णव , वासुदेव ठाकुर, अश्वनी चंद्राकर, शंभुनाथ क्षत्रीय, प्रमोद सेन, राकेश साहू, नारायण वैष्णव , अतुल शर्मा, देव साहू, वासु वर्मा, पकंज साहू, गायत्री साहू, प्रतिक सोहेल, पारसद्वीप, दीपक साहू चंदन, सहित बडी संख्या मे विश्वहिन्दु परिषद एव बजरंग दल पलारी संडी गिर्रा के बडी संख्या मे कार्यकर्ता मौजुद थे ।

दिल्ली CM भूपेश की राहुल गांधी से मुलाकात जारी, प्रियंका से भी हो सकती है चर्चा…..उधर AICC पहुंच रहे हैं कांग्रेसी विधायक …

रायपुर 27 अगस्त 2021। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की राहुल गांधी से मुलाकात शुरू हो गयी है। अब से कुछ देर पहले ही मुख्यमंत्री भूपेश बघेल राहुल गांधी के बंगले पर पहुंचे हैं। हालांकि बैठक में राहुल गांधी के अलावे कौन-कौन मौजूद हैं, इस बारे में किसी तरह की जानकारी सामने नहीं आयी है। इधर चर्चा ये भी है कि राहुल गांधी के बाद भूपेश बघेल की मुलाकात प्रियंका गांधी से भी हो सकती है इधर दिल्ली में ही मौजूद टीएस सिंहदेव अब से कुछ देर बाद दिल्ली में छत्तीसगढ़ सदन में पहुंचे है।

राजीव गांधी किसान न्याय योजना से किसानों के जीवन में आया नया सबेरा ।

भूपेश बघेल : किसानों को 1522 करोड़ रूपए की दूसरी किस्त का हुआ भुगतान ,किसान न्याय योजना की दो किस्तों में अब तक 3047 करोड़ रूपए का भुगतान रायपुर, 20 अगस्त 2021मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पूर्व प्रधानमंत्री भारतरत्न स्वर्गीय श्री राजीव गांधी जी की जयंती ’सद्भावना दिवस’ के मौके पर आज यहां अपने निवास कार्यालय में आयोजित कार्यक्रम में कहा है कि छत्तीसगढ़ सरकार की राजीव गांधी किसान न्याय योजना किसानों के जीवन में नया सबेरा लेकर आई है। पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्री राजीव गांधी जी का नाम छत्तीसगढ़ के किसानों के लिए नई आशा का भी पर्याय है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना इस वित्तीय वर्ष के अंत तक अमल में आ जाएगी। वर्ष 2021-22 के राज्य के बजट में इस योजना को शामिल किया गया है। योजना के अंतर्गत ग्रामीण भूमिहीन मजदूरों को प्रतिवर्ष 6 हजार रूपए देने का निर्णय लिया गया है। इससे लगभग 10 लाख ग्रामीण भूमिहीन मजदूर लाभान्वित होंगे। मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में राज्य के धान एवं गन्ना उत्पादक करीब 21 लाख किसानों को राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत 1522 करोड़ रूपए आदान सहायता के दूसरी किश्त की राशि का भुगतान सीधे उनके बैंक खातों में किया। इस राशि में से धान उत्पादक किसानों के खाते में 1500 करोड़ रूपए और गन्ना उत्पादक किसानों के खाते में 22 करोड़ तीन लाख रूपए की राशि अंतरित की गई। मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में गोधन न्याय योजना के अंतर्गत पशुपालकों एवं संग्राहकों से क्रय किए गए गोबर तथा गौठान समितियों एवं महिला स्व-सहायता समूहों को कुल 9 करोड़ 03 लाख रूपए की राशि का भी ऑनलाईन अंतरण किया। इस राशि में से गोबर खरीदी के एवज में पशु पालकों और संग्राहकों को 01 करोड़ रूपए, स्व-सहायता समूहों को लाभांश के रूप में 02 करोड़ 55 लाख रूपए तथा गौठान समितियों को 05 करोड़ 48 लाख रूपए का भुगतान शामिल है। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने भिलाई निगम क्षेत्र के अंतर्गत राजीव आश्रय योजना के हितग्राहियों को पट्टे भी वितरित किए। मुख्यमंत्री ने कहा कि आधुनिक भारत के प्रणेता जन-जन के प्रिय प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्री राजीव गांधी का जन्मदिवस वंचित, शोषित, पिछड़े लोगों के लिए आशा का दिन है। उन्होंने कहा कि इस वर्ष 21 मई को राजीव जी के शहादत दिवस पर राजीव गांधी किसान न्याय योजना की प्रथम किस्त 1525 करोड़ रूपए की राशि किसानों के खाते में अंतरित की गई थी। आज इस योजना की दूसरी किस्त की राशि अंतरित की गई है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने किसानों के हित को सर्वोपरि माना है। नई सरकार के गठन के तत्काल बाद किसानों की कर्ज माफी, सिंचाई कर की माफी, बिजली बिल हॉफ करने का निर्णय लिया गया। बीते ढाई सालांे में धान के समर्थन मूल्य के रूप में किसानों को अब तक 46 हजार 640 करोड़ रूपए तथा फसल उत्पादकता आदान सहायता रूप में 12 हजार 500 करोड़ रूपए का भुगतान किया गया, जिससे किसानों का जीवन खुशहाल हुआ है। छत्तीसगढ़ में फसल का लाभदायक का मूल्य मिलने से किसानों की खेती के प्रति रूचि बढ़ी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्ष 2020-21 में किसानों से रिकॉर्ड 92 लाख टन धान की खरीदी गई और इस वर्ष लगभग एक करोड़ टन से अधिक धान खरीदी की तैयारी कर ली गई है। उन्होंने कहा कि खरीफ वर्ष 2021-22 में धान के साथ ही खरीफ की सभी प्रमुख फसलों मक्का, सोयाबीन, गन्ना, कोदो कुटकी तथा अरहर के उत्पादकों को भी प्रतिवर्ष 9000 रू. प्रति एकड़ आदान सहायता दी जायेगी। कोदो-कुटकी का न्यूनतम समर्थन मूल्य 3000 रू. प्रति क्विंटल करने का निर्णय लिया गया है। वर्ष 2020-21 में जिन किसानों ने धान विक्रय एमएसपी पर किया था, वह यदि धान के बदले कोदो कुटकी, गन्ना अरहर, मक्का, सोयाबीन, दलहन, तिलहन, सुगंधित धान अन्य फोर्टिफाइड धान की फसल लेते हैं, अथवा वृक्षारोपण करते हैं तो उसे प्रति एकड़ 9000 रू. के स्थान पर 10,000 रू. प्रति एकड़ इन्पुट सबसिडी दी जायेगी। वृक्षारोपण करने वालों को 3 वर्षों तक अनुदान दिये जाने का निर्णय लिया गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि नागरिकों को रियायती दर पर उच्च क्वालिटी की ब्रांडेड कंपनियों की जेनेरिक मेडिसिन उपलब्ध कराने के लिए श्री धनवंतरी योजना पूरे प्रदेश में लागू की जाएगी। श्री बघेल ने कहा कि राज्य सरकार ने वर्षों से लंबित नये जिला निर्माण की मांग के प्रति संवेदनशीलता दिखाते हुए पांच नये जिलों का गठन किया है। वर्ष 2020 में गौरेला-पेंड्रा-मरवाही जिले का और 15 अगस्त 2021 को मोहला-मानपुर-चौकी, सारंगढ़-बिलाईगढ़, सक्ती और मनेन्द्रगढ़ के गठन की घोषणा की गई है।
Previous123456789...101102Next