नई दिल्ली - मुख्यमंत्री का नाम फाइनल दोपहर तक चार्टर प्लेन से रायपुर पहुंचेंगे कांग्रेसी दिग्गज, छत्तीसगढ़ आने के बाद तय होगा मुख्यमंत्री का नाम   |   नई दिल्ली - मुख्यमंत्री पद के सभी दावेदार पहुंचे राहुल गांधी के बंगले ताम्रध्वज,टी एस सिंहदेव भूपेश बघेल व महंत बंगले के अंदर तो शिव डहरिया, देवेंद्र यादव, जयसिंह अग्रवाल बंगले के बाहर है मौजूद   |   रायपुर - सार्वजनिक स्थान पर सरेआम शराब पीते गंज थाना पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया   |   रायपुर - मुजगहन थाना इलाके के ग्राम सिवनी में युवक से बिना किसी कारण गाली गलौज मारपीट का मामला सामने आया है   |   तेलंगाना: के. चंद्रशेखर राव ने ली मुख्यमंत्री पद की शपथ   |   रायपुर - कांग्रेस विधायक दल की बैठक खत्म, राहुल गांधी थोड़ी देर में करेंगे सीएम का फैसला   |   रायपुर - सत्ता पलट होते ही प्रशासनिक विभागों में मची खलबली, DSP की मौजूदगी में खुफिया विभाग ने जलाए कई अहम दस्तावेज   |   रायपुर - भूपेश बघेल के बंगले पर आपस में भिड़े समर्थक, जमकर हुई मारपीट   |   रायपुर दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के दुर्ग स्टेशन से प्रारंभ होने वाली ट्रेनों की सफाई के लिए आधुनिक, ’स्वचालित कोच वाशिंग प्लांट’की स्थापना जल्द   |   बलौदा बज़ार भाटापारा - कलेक्टर ने धान उठाव के कार्य में तेजी लाने के दिए निर्देश डीमओ को कहा ज्यादा से ज्यादा अब तक 1.98 लाख मीटरिक टन धान की हुई खरीदी   |  

 

राजनीति


पत्रकार खबरीलाल की त्वरित टिप्पणी ::- लड़ाई पद, पावर और प्रतिष्ठा का !
Posted Date : 15-December-2018

पत्रकार खबरीलाल की त्वरित टिप्पणी ::- लड़ाई पद, पावर और प्रतिष्ठा का !

@ नेताओं में यदि आपसी सहमति नहीं बन रही हैं तो हाई कमान किसी आदिवासी नेता को सीएम बना दे।। @ 11 दिसंबर 2018 को छत्तीसगढ़ समेत चार अन्य राज्यों के विधानसभा चुनाव 2018 के मतगणना हुए जिसमे छग, मध्यप्रदेश और राजस्थान में कांग्रेस ने बीजेपी को पटखनी देकर सरकार में काबिज हुए। सबसे आश्चर्य घटनाक्रम छत्तीसगढ़ में हुआ। बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने छग में 65 प्लस का टारगेट दिया था। लेकिन चुनाव में ऐसी आंधी चली की अमित शाह का टारगेट छग कांग्रेस पार्टी ने पूरा कर दिया और बीजेपी केवल 15 सीटों में सिमट कर रह गयी। यह लैंडस्लाइड विक्ट्री प्रदेश में भूपेश और टीएस के नेतृत्त्व और कार्यकर्ताओं के अथक मेहनत से ही संभव हो पाया। 15 वर्षों के भाजपा शासन को एक ही झटके में छग की जनता ने उखाड़ फेंका। मतगणना पश्चात कांग्रेस हाई कमान को मप्र, राजस्थान के लिए जद्दोजहद करनी पड़ी की किसे सीएम बनाया जाए क्यों कि दोनों राज्यों में सीएम पद हेतु केवल दो ही उम्मीदवारों के बीच लड़ाई थी जिसे राहुल गांधी द्वारा सुलझा लिया गया लेकिन जबरदस्त पेंच फंसी छत्तीसगढ़ के सीएम चयन में। वह भी इसलिए क्यों कि छत्तीसगढ़ से 4 दावेदार खड़े हो गए - भूपेश बघेल, टीएस सिंहदेव, चरणदास महंत एवं ताम्रध्वज साहू। ऐसी स्थिति चुनाव के पहले या मतगणना के पहले नहीं थी। उस वक़्त केवल दो ही नाम थे - छग प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल और नेता प्रतिपक्ष सरगुजा नरेश टीएस सिंहदेव। मतगणना पश्चात चरणदास महंत , ताम्रध्वज साहू के साथ एक दो और दावेदार सामने आ गए। शाहिद नन्द कुमार पटेल के बाद भूपेश बघेल और टीएस बाबा की जोड़ी ने कांग्रेस को सींचा और सामंजस्य बनाते हुए कार्यकर्ताओं में एक नई जान फूंकी और विजय दिलवाया। आलाकमान को केवल भूपेश बघेल और टीएस सिंहदेव को ही बुलाकर राजस्थान और मप्र की तरह फैसला करना था। ऐसा प्रतीत हो रहा है कि हाई कमान की गलती या चूक कहें, यहीं पर हुई जिससे मतगणना के 4 दिन बाद भी छग के सीएम के नाम का ऐलान नहीं हो पाया। पर्यवेक्षक मल्लिकार्जुन खड़गे, छग प्रभारी पीएल पुनिया और छग के चारों कद्दावर नेता के साथ राहुल गांधी की मीटिंग हुई, सोनिया गांधी से भी मुलाकात हुई फिर भी कोई रास्ता नहीं निकला। चारों दावेदार जितना भी मीडिया के सामने आपस मे कुछ न होने की बात करे लेकिन खिचड़ी कुछ अलग ही पक रही थी जिसे स्वयं राहुल गांधी एंड टीम सुलझा नहीं पा रहे थे। 16 दिसंबर 2018 को फिर इन सभी की मीटिंग होने की संभावना है तथा रायपुर स्थित कांग्रेस मुख्यालय में विधायक दल की बैठक पश्चात औपचारिक रूप से सीएम का चेहरा सामने आएगा। क्या प्रदेश / देश से कुर्सी इतनी प्यारी है कि नेतागण अपने महात्त्वकांक्षाओं की बलि नहीं चढ़ा पा रहे थे। उन्हें इतना तो समझना था कि सीएम कोई भी बने पर हम सभी को साथ मिलकर किसानों का दुःख दूर करना है, बिजली बिल आधा करना है, बेरोजगारों को 2500 रुपये महीना भत्ता देना है, शराब मुक्त प्रदेश बनाना है, जनता और कार्यकर्ताओं का काम करना है और विकास की गंगा बहाना है जिससे आगे भी वे सत्ता पर काबिज रह सके।
पत्रकार खबरीलाल रिपोर्ट ::- 15 दिसंबर को राजीव भवन में कांग्रेस विधायक दल की महत्वपूर्ण बैठक ।।
Posted Date : 14-December-2018

पत्रकार खबरीलाल रिपोर्ट ::- 15 दिसंबर को राजीव भवन में कांग्रेस विधायक दल की महत्वपूर्ण बैठक ।।

 अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के छत्तीसगढ़ प्रभारी पी.एल. पुनिया, छत्तीसगढ़ के पर्यवेक्षक मल्लिकार्जुन खड़गे, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल, कांग्रेस विधायक दल के नेता टी.एस. सिंहदेव, पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत, कांग्रेस कार्यसमिति सदस्य और दुर्ग के लोकसभा सदस्य ताम्रध्वज साहू दिल्ली से विशेष विमान के द्वारा 15 दिसंबर को रायपुर आएंगे। रायपुर आने के बाद राजीव भवन रायपुर के प्रथम तल में स्थित संचार विभाग के पत्रकारवार्ता कक्ष में कांग्रेस विधायक दल की बैठक होगी, जिसमें छत्तीसगढ़ के नए मुख्यमंत्री के नाम की घोषणा की जाएगी।
पत्रकार खबरीलाल रिपोर्ट ::- राफेल में भाजपा कर रही है बचकानी बयानबाजी : कांग्रेस ।।
Posted Date : 14-December-2018

पत्रकार खबरीलाल रिपोर्ट ::- राफेल में भाजपा कर रही है बचकानी बयानबाजी : कांग्रेस ।।

@ राफेल मामले की जांच संयुक्त संसदीय सचिव से की जाये ।। वरिष्ठ अधिवक्ता प्रशांत भूषण एवं अन्य लोगों की याचिकायें निरस्त होने पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुये प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने भाजपा के बयानों को बचकाने बयान निरूपित किया है। भाजपा को यह भी नहीं मालूम कि सर्वोच्च न्यायालय का क्या अधिकार क्षेत्र, कांग्रेस ने राफेल मामले में याचिका ही नहीं दायर की थी।  प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने पूछा है कि राफेल में आज बड़ी-बड़ी बयानबाजी करने वाले अमितशाह बतायें कि संयुक्त संसदीय समिति की जांच क्यों नहीं करवाते? राफेल घोटाले की सुप्रीम कोर्ट में याचिका क्या कांग्रेस ने लगाई थी जो भाजपा भ्रष्टाचार में मदमस्त होकर खोखली बयानबाजी कर रही है। प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि राफेल के रहस्य की अनेकों परते है। राफेल में भ्रष्टाचार की अनेकों परते है। राफेल मामले की सही जांच संयुक्त संसदीय समिति ही कर सकती है। बोफोर्स मामलें में जिन लोगो ने मांग कर के संयुक्त संसदीय समिति गठित करवायी थी, वो ही आज राफेल मामले में संयुक्त संसदीय समिति गठित करने से क्यों बच रहे है? आखिर राफेल मामले में क्या छिपाना चाहती है मोदी सरकार? मोदी सरकार राफेल विमानों की कीमतों में हुए तीन गुना बढ़ोतरी का कारण जनता को बताने में क्यों घबरा रही है? राफेल विमानों के विनिर्माण में सरकारी कंपनी एचएएल से भागीदारी छीन कर अनिल अंबानी की कंपनी को ठेका देने का कारण क्या है, मोदी सरकार जनता से क्यों छुपा रही है?
रायपुर संभाग की 20 विधानसभा सीट जहा है पूरा छत्तीसगढ़ का नजर
Posted Date : 20-November-2018

रायपुर संभाग की 20 विधानसभा सीट जहा है पूरा छत्तीसगढ़ का नजर

रायपुर,  बलौदाबाजार-भाटापारा, गरियाबंद,धमतरी और महासुमंद जिले इस संभाग में शामिल हैं. यही वो संभाग है जहां से भाजपा ने साल 2013 के चुनाव में निर्णायक बढ़त हासिल की और 20 में से 15 सीटों पर कब्जा जमाया. कांग्रेस महज 4 सीटों पर सिमट गई, जबकि महासमुंद सीट से निर्दलीय प्रत्याशी ने जीत दर्ज की.
 
रायपुर संभाग की 20 सीटें- 
रायपुर जिला की सीटें- रायपुर पश्चिम, रायपुर उत्तर, रायपुर दक्षिण, रायपुर ग्रामीण, आरंग, धरसींवा, अभनपुर.
गरियाबंद जिला की सीटें- राजिम, बिन्द्रानवागढ़
धमतरी जिले की सीटें- सिहावा, कुरुद, धमतरी.
महासमुंद जिले की सीटें- सराईपाली, बसना, खल्लारी, महासमुंद.
बलौदा-बाजार- भाटापारा जिले की सीटें- बलौदा बाजार, भाटापारा, बिलाईगढ़, कसडोल.

रायपुर संभाग के 5 जिलों के 20 प्रत्याशी आमने-सामने- 
रायपुर ग्रामीण: बीजेपी के नंदे साहू के सामने कांग्रेस के सत्यनारायण शर्मा.
रायपुर पश्चिम: बीजेपी के राजेश मूणत के सामने कांग्रेस के विकास उपाध्याय.
रायपुर दक्षिण: बीजेपी के    बृजमोहन अग्रवाल के सामने कांग्रेस के कन्हैया अग्रवाल.
रायपुर उत्तर: बीजेपी के श्रीचंद सुंदरानी के सामने कांग्रेस के कुलदीप जुनेजा.
भाटापारा: बीजेपी के शिवरतन शर्मा के सामने कांग्रेस के सुनिल महेश्वरी.
आरंग: बीजेपी के संजय ढीढी के सामने कांग्रेस के    शिव कुमार डहरिया.
अभनपुर: बीजेपी के चंद्रशेखर साहू के सामने कांग्रेस के धनेंद्र साहू.
सिहावा: बीजेपी की    पिंकी शिवराज शाह के सामने कांग्रेस की लक्ष्मी ध्रुव.
कुरुद: बीजेपी के अजय चंद्राकर के सामने कांग्रेस के लक्ष्मीकांत साहू.
धमतरी: बीजेपी की रंजना साहू के सामने कांग्रेस के गुरुमुख सिंह होरा.
राजिम: बीजेपी के    संतोष उपाध्याय के सामने कांग्रेस के अमितेश शुक्ला.
बिंद्रानवागढ़:  बीजेपी के डमरूधर पुजारी के सामने कांग्रेस के संजय नेताम.
बलौदा बाजार: बीजेपी के टेसु धुरंधर के सामने कांग्रेस के जनक राम वर्मा.
बिलाईगढ़: बीजेपी की सनम जांगड़े के सामने कांग्रेस के    चंद्रदेव प्रसाद राय.
कसडोल: बीजेपी के    गौरीशंकर के सामने कांग्रेस के अग्रवाल कुंतला साहू.
सरायपाली: बीजेपी के श्याम तांडी के सामने कांग्रेस के किस्मत लाल नंद.
बसना: बीजेपी के डीसी पटेल के सामने कांग्रेस के देवेंद्र बहादुर सिंह.
महासमुंद: बीजेपी के पूनम चंद्राकर के सामने कांग्रेस के विनोद चंद्राकर.
खल्लारी: बीजेपी की मोनिका साहू के सामनने कांग्रेस के द्वारिकाधीश यादव.

खबरीलाल रिपोर्ट (16-11-2018, कवर्धा)::- आज मैं भरोसा लेकर जा रहा हूँ और चयन से सोऊंगा की पंडरिया और कवर्धा की सीट पर कमल खिलेगा - डॉ रमन।।
Posted Date : 16-November-2018

खबरीलाल रिपोर्ट (16-11-2018, कवर्धा)::- आज मैं भरोसा लेकर जा रहा हूँ और चयन से सोऊंगा की पंडरिया और कवर्धा की सीट पर कमल खिलेगा - डॉ रमन।।

कवर्धा में विशाल रोड शो करने के पश्चात डॉ रमन ने अपने गृह नगर कवर्धा में जनता को संबोधित करते हुए कहा कि - आज मैं भरोसा लेकर जा रहा हूँ कि कवर्धा जिले की जनता पंडरिया से भाजपा प्रत्याशी मोतीराम चंद्रवंशी और कवर्धा विधानसभा से प्रत्याशी अशोक साहू को आप सभी अपना आशीर्वाद प्रदान कर जबरदस्त लीड के साथ दोनों विधानसभा में कमल खिलाएंगे। कल तक मुझे थोड़ा थोड़ा था कि 2 हजार, ढाई हजार लीड से क्या होगा पर आज के रोड शो और अपार जनसमर्थन देखकर भरोसा हो गया कि आप सभी मिलकर दोनों विधानसभाओं में अवश्य कमल खिलाएंगे। चुटकी लेते हुए डॉ रमन ने अपने शैली में कहा कि कांग्रेस के हमारे मित्र गंगाजल लेकर घूम रहे हैं जो अच्छी बात है लेकिन हमारे छत्तीसगढ़ में गंगाजल का इस्तेमाल कब किया जाता है यह सभी को मालूम है इस पर पूरा परिसर तालियों की गूंज से गूंज उठा । डॉ रमन ने कहा कि यही कवर्धा मुझे पार्षद बनाया, विधायक बनाया, सांसद बनाया, केंद्र में मंत्री बनाया और मुख्यमंत्री भी बनाया। मुझे पूरा भरोसा अपने कवर्धा जिले के जनता के ऊपर है कि वे ज्यादा से ज्यादा लीड से हमारे दोनों प्रत्याशी मोतीराम चंद्रवंशी और अशोक साहू को जिताएंगे। हमारी सरकार आ गयी तो जो विकास अभी हो रहे हैं उसकी रफ्तार आगामी 5 वर्षों के लिए बहुत ज्यादा बढ़ जाएगी। इस सभा मे सांसद अभिषेक सिंह, जिलाध्यक्ष राम कुमार भट्ट, पूर्व विधायक डॉ सियाराम साहू, अन्य वरिष्ठ नेतागण और जनता उपस्थित थे।
पत्रकार खबरीलाल विशेष ::- कृति देवी चुनाव लड़ने से पीछे हटी; कवर्धा में होगा अब रोचक मुकाबला ।।
Posted Date : 15-November-2018

पत्रकार खबरीलाल विशेष ::- कृति देवी चुनाव लड़ने से पीछे हटी; कवर्धा में होगा अब रोचक मुकाबला ।।

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव 2018 दिन ब दिन रोचक होते जा रहे हैं। कुछ दिनों पूर्व कांग्रेस से टिकट नहीं मिलने के कारण कवर्धा के राजा योगी राज निर्दलीय चुनाव लड़ने की घोषणा कर दी। उन्हें मनाने टीएस बाबा, मोहम्मद अकबर, ममता चंद्राकर राज महल पहुंचे पर बात नहीं बनी। अचानक रानी साहिबा कृति देवी को कवर्धा विधानसभा से निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनावी जंग में लड़ने हेतु भेजा गया, प्रचार प्रसार भी जोर शोर से शुरू हो गया, नाम वापसी का अंतिम दिन भी चला गया, लेकिन 14 नवंबर 2018 को राहुल गांधी के कवर्धा दौरा के पश्चात 15 नवंबर 2018 को कृति देवी ने चुनाव नहीं लड़ने का फैसला किया और अपना समर्थन पूर्ण रूप से कांग्रेस और कांग्रेस प्रत्याशी मोहम्मद अकबर को देने की बात कही। अब यहां समझने की जरूरत है कि पहले राजा साहब पंडरिया विधानसभा से निर्दलीय चुनाव लड़ने की घोषणा किये, उसके बाद अपने धर्म पत्नी कृति देवी को कवर्धा विधानसभा से निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में उतारा। अब दोनों राजा और रानी चुनाव नहीं लड़ रहे हैं। यह राजनीति समझ से परे है और जनता भी भ्रमित नजर आ रही है। जब चुनाव ही नहीं लड़ना था तो नामांकन क्यों दाखिल किए गए और रानी साहिबा का क्यों प्रचार प्रसार शुरू किया गया। अब सबसे अहम सवाल यह उठता है कि राहुल गांधी से बंद कमरे में क्या चर्चा हुई ? कयास ये लगाए जा रहे हैं कि - राजा साहब लोकसभा के लिए टिकट हेतु यह कदम उठाये हैं या कांग्रेस की सरकार बनने पर किसी महत्त्वपूर्ण निगम, मंडल में रानी साहिबा के लिए अध्यक्ष का पोस्ट या कुछ और... । जो भी हुआ इससे अब कवर्धा विधानसभा में मुकाबला रोचक हो गया है। एक तरफ अकबर तो दूसरी तरफ अशोक साहू। अब देखना यह है कि बाजी कौन मार ले जाता है। अकबर पुराने धुरंधर राजनीतिज्ञ हैं वे भी बिसाद जरूर बिछा लिए होंगे। डॉ रमन सिंह और अभिषेक सिंह का भी प्रतिष्ठा दांव पर लग गया है क्यों कि कवर्धा उनका गृह जिला है और दो विधानसभा है। जनता निगाहें लगाकर बैठी है कि बाप-बेटे की जोड़ी ऐसा कौन सा शतरंज का चाल देंगे कि कवर्धा और पंडरिया विधानसभा उनके झोली में आ जाये। केवल अब 3 दिन ही प्रचार हेतु शेष रह गए हैं और प्रचार थमने के दूसरे दिन ही मतदान होगा। अब पूरे राज्य की निगाहें कवर्धा, पंडरिया, राजनांदगाँव और खरसिया विधानसभा पर लगा हुआ है जहां स्वयं डॉ रमन का प्रतिष्ठा दांव पर है। 11 दिसंबर तक सभी को इंतेजार करना होगा जब ईवीएम खुलेगा। तब तक जय जोहार जय छत्तीसगढ़।
चरण दास मंहत की पत्नी ने सम्हाला चुनावी मोर्चा
Posted Date : 14-November-2018

चरण दास मंहत की पत्नी ने सम्हाला चुनावी मोर्चा

जांजगीर चाम्पा:- इन दिनों जिले के सक्ति विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस प्रत्याशी चरणदास महंत की पत्नी ज्योत्सना महंत पत्नी धर्म निभाते हुए दिख रही है दरअसल में सक्ति विधानसभा प्रत्याशी चरण दास महंत प्रदेश स्तरीय नेता होने के कारण व्यस्तता में होते हैं इसी कारण उनकी धर्मपत्नी ज्योत्सना महंत मोर्चा संभाले हुए दिख रही हैं लगातार वह जनसंपर्क कर रही हैं उनका कहना है कि लोगों का काफिला उनके साथ जाना यह साबित कर रहा है कि क्षेत्र की जनता उनके साथ हैं साथ ही साथ ज्योत्सना महंत सरकार पर निशाना साधते हुए कह रही है कि सरकार की विफलताओं के कारण ही सक्ति विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस का विधायक होगा साथ ही साथ पूरे प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनेगी
योगी का हेलीकॉप्टर ईंधन खत्म हुआ खत्म, सभा को संबोधित करने के बाद  आधे घंटे से अधिक समय तक यहां रूके रहे
Posted Date : 14-November-2018

योगी का हेलीकॉप्टर ईंधन खत्म हुआ खत्म, सभा को संबोधित करने के बाद आधे घंटे से अधिक समय तक यहां रूके रहे

रायगढ़ :-भाजपा के स्टार प्रचारक उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बुधवार को कबीर 12.45 बजे रायगढ़ पहुंचे। मिनी स्टेडियम में रायगढ़ जिले के पांचो विधानसभा के प्रत्याशियों के पक्ष में आमजन को संबोधित किया। योगी आदित्यनाथ के रायगढ़ पहुंचते ही भाजपा कार्यकर्ताओं ने उनका जोरदार स्वागत किया। जनसभा में हजारों की संख्या में लोग शामिल हुए थे। रायगढ़ के मिनी स्टेडियम में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कांग्रेस पर करारा प्रहार किया। उन्होंने कहा कांग्रेस और कुशासन एक दूसरे के प्रतीक है। योगी ने कहा कि देश में कांग्रेस ने 55वर्षों तक शासन किया और विरासत में आतंकवाद, अराजकता, भ्रष्ट्राचार एवं छ.ग. में नक्सलवाद दिया। उन्होंने उ.प्र. कांग्रेस अध्यक्ष के छ.ग. मे दिए बयान को लेकर कहा ए लोग नक्सलवादियों को क्रांतिकारी कह कर शहादत देने वालों का अपमान किया। योगी आदित्यनाथ ने कहा की कांग्रेस ने यह कोई पहली बार नहीं किया है यह कांग्रेस की फितरत बन गयी है। कांग्रेस के इस दुरभिसंधि को समाप्त करने के लिए लोकतंत्र में अवसर पांच साल में आता है। उन्होंने कांग्रेस पर हमलावर होते हुए यह भी कहा कि कांग्रेस की भ्रष्टनीति के कारण बिहार, उत्तरप्रदेश, मध्यप्रदेश,उड़ीसा बीमारू राज्य कहलाते थे। यहां 15 वर्षों में रमनसिंह के नेतृत्व में विकास की शानदार यात्रा बढ़ाई है। छत्तीसगढ़ डबल इंजन मोटर बन गया है, विकास के नये कीर्तिमान स्थापित किए गये हैं। रमनसिंह के नेतृत्व में चौथीबार सरकार छत्तीसगढ़ को देश के अग्रणी राज्यों की पंक्ति में खड़ा करेगा। योगी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के द्रारा कराए जा रहे कार्यों एवं केंद्र सरकार के जहां विभिन्न योजनाओंक्षकी मुक्तकंठ से प्रशंसा की वहीं छ.ग. में हर वर्ग के लिए संचालित योजनाओं की सराहना की। उन्होंने भाजपा प्रत्याशियों के पक्ष में मतदान करने का आह्वान करते हुए कहा कि विपरित परिस्थितियों के बावजूद बस्तर क्षेत्र में 70 फीसदी मतदान हुआ है। दूसरे चरण के मतदान में 20 नवंबर को 85 फीसदी मतदान करने का उन्होंने आह्वान करते हुए कहा कि छ्त्तीसगढ़ में चौथीबार रमन सरकार, एक आदर्श सरकार बनाने में योगदान दें। उन्होंने कहा कि 15 वर्षों में छत्तीसगढ़ ने एक बीमारू राज्य की श्रेणी से निकल कर विकसित राज्य की श्रेणी में अपनी जगह बनाई है। गांव-गरीब और किसान के विकास के लिए जो मॉडल यहां की सरकार ने तैयार किए, उन्हें उत्तर प्रदेश सहित कई दूसरे राज्यों ने भी अपनाया है। राज्य को अभी और ज्यादा तेज गती से विकास करना है और विकास के इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए यहां फिर से डॉ रमन के नेतृत्व में भाजपा की सरकार बनना जरूरी है।

हेलीकॉप्टर का ईंधन खत्म

वहीं योगी आदित्यनाथ जब सभा को संबोधित कर यहां से कोरबा के लिए रवाना होने वाले थे तभी पता चला कि उनके हेलीकॉप्टर का ईंधन खत्म हो गया है। फिर आनन फानन में पेट्रोल मंगाया गया। जिसके बाद वे यहां से रवाना हुए। इस दौरान वे सभा को संबोधित करने के बाद करीब आधे घंटे से अधिक समय तक यहां रूके रहे।