राज्य

 आज कर्नाटक में होगा सियासी समीकरण का  बहुमत परीक्षण, किसका रहेगा भारी पलड़ा, किसकी रहेगी सरकार

आज कर्नाटक में होगा सियासी समीकरण का बहुमत परीक्षण, किसका रहेगा भारी पलड़ा, किसकी रहेगी सरकार

  दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के बाद कर्नाटक के नए मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा आज शनिवार शाम 4 बजे तक विधानसभा में अपनी सरकार बचाने बहुमत साबित करेंगे। दूसरी ओर जेडीएस-कांग्रेस ने भाजपा विधायक केजी बोपैया को प्रोटेम स्पीकर बनाने के गवर्नर के निर्णय के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। बता दें कि सबसे वरिष्ठ सदस्य को ही प्रोटेम स्पीकर बनाया जाता है। इस मामले पर सुप्रीम कोर्ट में शनिवार सुबह 10:30 बजे से सुनवाई हो रही है। जारी सियासी उठापठक के बीच भाजपा कांग्रेस अपने पक्ष में आंकड़े होने का दावा कर रहे हैं। सीएम येदियुरप्पा ने कहा कि वह सुप्रीम कोर्ट के आदेश का पालन करेंगे। बहुमत साबित करने को लेकर वह 100 प्रतिशत आश्वस्त हैं। 

बता दें कि शुक्रवार को कोर्ट ने राज्यपाल वजूभाई वाला के उस फैसले को पलट दिया, जिसमें उन्होंने भाजपा सरकार को बहुमत साबित करने के लिए 15 दिन का समय दिया था। इतना ही नहीं कोर्ट ने येदियुरप्पा के उस मांग को भी ठुकरा दिया, जिसमें उन्होंने बहुमत साबित करने के लिए सोमवार तक का वक्त मांगा था।
  
बयानों के बीच कांग्रेस-जेडीएस ने कहा है कि ईमानदारी से सब कुछ हुआ, तो भाजपा सरकार की हार तय है। विपक्ष खेमे के सीएम पद के उम्मीदवार एचडी कुमारस्वामी ने कहा कि उन्हें गठबंधन के विधायकों पर पूरा भरोसा है।
इधर, जेडीएस नेता कुमार स्वामी का आरोप है कि भाजपा ने उनके दो विधायकों को हाईजैक कर लिया है पर मुझे विश्वास है कि वो जल्द लौट आएंगे।

- कांग्रेस ने एक ऑडियो क्लिप जारी किया है, जिसमें एक शख्स एक विधायक से कह रहा है कि पुरानी बातें भूल जाओ। आधी रात से तुम्हारे अच्छे दिन शुरू हो जायेंगे।

विधायकों पर पहरा

- आज बहुमत साबित होने के बीच कांग्रेस-जेडीएस ने अपने विधायकों को हैदराबाद के होटल में रखा है। सभी देर रात बेंगलुरु के लिए रवाना हुए।

-  भाजपा ने अपने विधायकों को सबसे पहले पार्टी ऑफिस बुलाया। बाद में सभी को बेंगलुरु के एक होटल में ले जाया गया, जहां से वे शनिवार की सुबह वह सीधे विधानसभा जायेंगे।

यह है समीकरण 

कुल सीट- 224

मतदान- 222

आंकड़ों का गणित

दो सीटों से कुमारस्वामी जीते, उनकी एक सीट और एक  प्रोटेम स्पीकर  की सीट घटाने पर-

कुल संख्या : 220

बहुमत : 111 पर

भाजपा : 104

कांग्रेस + जेडीएस : 116

'येदि'  जीत सकते हैं यदि...

यदि कांग्रेस-जेडीएस के सात विधायक फ्लोर टेस्ट दौरान अनुपस्थित रहें तो सीटों की संख्या 213 रह जायेगी। तब बहुमत के लिए 107 सीटें चाहिए होंगी। येदियुरप्पा अन्य तीन विधायकों के समर्थन से बहुमत साबित कर सकते हैं।
साभार 

Leave a comment