राज्य

		डॉ. रामविजय शर्मा का  कोल्हापुर (महाराष्ट्र) के जैन धर्म के तीर्थ यात्रियों द्वारा सम्मान किया

डॉ. रामविजय शर्मा का कोल्हापुर (महाराष्ट्र) के जैन धर्म के तीर्थ यात्रियों द्वारा सम्मान किया

राकेश साहू@bbn24

जांजगीर /मालखरौदा - विगत दिनों बलौदा के तहसीलदार डॉ. रामविजय शर्मा का कोल्हापुर (महाराष्ट्र) के जैन धर्म के अनुयायियों द्वारा बलौदा विश्राम ग्रह में सम्मान किया गया । उल्लेखनीय है कि संत षिरोमणि आचार्य विद्या सागर जी महाराज का दर्षन करने तथा सम्मेद षिखर (झारखण्ड) सममेद षिखर का दर्षन करने जैन धर्म के तीर्थ यात्रीगण कोल्हापुर (महाराष्ट्र) से पैदल यात्रा करते हुए जा रहे थे तथा बलौदा विश्राम गृह मे विश्राम किये । यहीं पर डॉ. राम विजय शर्मा का जैन धर्म के तीर्थ यात्रियों द्वारा टोपी, जैनी गमछा तथा मोती की माला भेंट कर सम्मान किया गया । कोल्हापुर से 41 दिनचलकर बलौदा पहुचे थे वे स्वच्छ भारत अभियान तथा भारत बोलो इंडिया नही का नारा भी दे रहे थे । इस अवसर पर भाऊसो बाबूराव हुलिकिरे, चन्द्रकांत भाऊ चोंगुले, राजकुमार शांतिनाथ पाटिल, संदीप सातगोड़ा पाटिल,निलेष जिन्नपा षिरोटे, तेजपाल कुमार मुदकाना, सुनील कुमार खवाटे, पोपट बाबू बोरगावे, रत्नंजय रावसो पाटिल, अभिनंदन बाबू इंगले, उत्तम नषेवाकोकी, षितल बाबू खरोसे विषेष रूप् से डॉ. रामविजय शर्मा का सम्मान किये। डॉ रामविजय शर्मा ने इस अवसर पर सभी तीर्थ यात्रियों को कुषल पद यात्रा की शुभकामनाएं दी। डॉ. शर्मा ने अपने उद्बोधन में बताया कि सम्मेद षिखर पर जैन धर्म के 24 तीर्थंकरों में से 20 तीर्थंकरों का निर्वाण हुआ था इसलिए सम्मेद षिखर जैन धर्म के अनुयायियों के लिए सबसे पवित्र स्थल है।

Leave a comment