राज्य

 आनंदी बेन बनी मप्र की राज्यपाल, चीफ जस्टिस ने दिलाई शपथ

आनंदी बेन बनी मप्र की राज्यपाल, चीफ जस्टिस ने दिलाई शपथ

भोपाल  - मध्यप्रदेश की नवनियुक्त राज्यपाल आनंदी बेन पटेल को राजभवन में आयोजित गरिमामय समारोह में हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस हेमंत गुप्ता ने शपथ दिलाई। गुजरात की पूर्व मुख्यमंत्री पटेल के शपथ ग्रहण समारोह में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह सहित लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन, विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह, सहित विभिन्न धर्मों के प्रतिनिधि उपस्थित रहे। 

राज्यपाल बनने से पहले आनंदीबेन पटेल गुजरात की मुख्यमंत्री व राज्यसभा सदस्य रह चुकी हैं। 21 नवंबर 1941 को जन्मी पटेल मोहिनाबा हाई स्कूल अहमदाबाद की प्राचार्य के पद से सेवानिवृत्त हुई थीं। 
गौरतलब है कि रामनरेश यादव का कार्यकाल समाप्त होने के बाद से राज्य के राज्यपाल का अतिरिक्त प्रभार ओम प्रकाश कोहली के पास था। पटेल के शपथ लेते ही राज्य को पूर्णकालिक राज्यपाल मिल गया है।

जीवन परिचय व सियासी सफर
आनंदीबेन मफतभाई पटेल का जन्म 21 नवंबर 1941 को खरोद, विजयपुर तालुका, मेहसाणा जिले में हुआ।
एमएससी, एमएड (गोल्ड मेडलिस्ट) हैं।
अहमदाबाद के मोहिनाबा हाई स्कूल से प्राचार्य पद से सेवानिवृत्त हैं।
1994 से 1998 तक राज्य सभा सदस्य रहीं।
10वीं गुजरात विधानसभा: 1998 से 2002 तक (मांडल विधानसभा क्षेत्र) से विधायक रहीं।
वर्ष 1998 से 1999 तक शिक्षा राज्य मंत्री (वयस्क शिक्षा रहित) (स्वतंत्र प्रभार), महिला एवं बाल कल्याण (स्वतंत्र प्रभार) रहीं।
वर्ष 1999 से 2002 तक शिक्षा (प्रारंभिक, माध्यमिक, वयस्क) व महिला एवं बाल कल्याण मंत्री रहीं।
11वीं गुजरात विधानसभा: (पाटन विधानसभा क्षेत्र) से साल 2002 से 2007 तक सदस्य रहीं।
इस दौरान शिक्षा (प्रारंभिक, माध्यमिक, वयस्क), उच्च एवं तकनीकी शिक्षा, महिला एवं बाल कल्याण, खेल, युवा एवं सांस्कृतिक गतिविधि मंत्री भी रहीं।
12वीं गुजरात विधानसभा: (पाटन विधानसभा क्षेत्र) वर्ष 2007 से 2012 तक विधायक रहीं।
राजस्व, आपदा प्रबंधन, सड़क एवं भवन, राजधानी परियोजना, महिला एवं बाल कल्याण मंत्री 4 जनवरी 2008 से 25 दिसम्बर 2012 तक रहीं।
26 दिसम्बर 2012 से 21 मई 2014 तक राजस्व, सूखा राहत, भूमि सुधार, पुनर्वास, पुनर्निर्माण, सड़क एवं भवन, राजधानी परियोजना, शहरी विकास और आवास मंत्री रहीं।
22 मई 2014 से 7 अगस्त 2016 तक गुजरात राज्य की प्रथम महिला मुख्यमंत्री रहीं।
एक नजर आनंदीबेन की उपलब्धियां
वर्ष 1988 से 90 एवं 1992 से 96 तक अध्यक्ष राज्य महिला मोर्चा, बीजेपी।
वर्ष 1990 से 1992 तक गुजरात में बीजेपी की उपाध्यक्ष रहीं।
बीजेपी महिला मोर्चा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की 8 वर्ष तक सदस्य रहीं।
स्कूली शिक्षा के दौरान मेहसाणा में स्कूल स्पोर्ट्स फेस्टिवल 1988 में 'वीर बाला' पुरस्कार मिला।
वर्ष 1990 में गुजरात के 'श्रेष्ठ शिक्षक' पुरस्कार से सम्मानित किया गया।
राष्ट्रीय स्तर के 'श्रेष्ठ शिक्षक' सम्मान से सम्मानित हुईं।
मोहिनता कन्या विद्यालय की दो छात्राओं को बचाने के लिए राज्य सरकार ने 'वीरता पुरस्कार' से नवाजा।
आनंदीबेन पटेल को ज्योति संघ, अहमदाबाद द्वारा 'चारूमति योद्धा पुरस्कार' से सम्मानित किया गया।
वर्ष 1999 में पटेल जागृति मंडल, मुंबई द्वारा 'सरदार पटेल पुरस्कार' दिया गया।
वर्ष 2000 में श्री तपोधन ब्राह्मण विकास मण्डल द्वारा 'विद्या गौरव' पुरस्कार दिया गया।
वर्ष 2005 में पटेल समुदाय द्वारा 'पाटीदार शिरोमणि' पुरस्कार दिया गया।
आपको अम्बु भाई पुरानी व्यायाम विद्यालय, राजपीपला द्वारा भी सम्मानित किया गया।

Leave a comment