राज्य

सरकारी खजाने पर पहला हक गरीबों का - मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान

सरकारी खजाने पर पहला हक गरीबों का - मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि सरकार के खजाने में गरीबों के कल्याण के लिये धन की कोई कमी नहीं होगी। सरकारी खजाने पर सबसे पहला हक गरीबों का है। उन्होने कहा कि गरीबों के कल्याण की महत्वाकांक्षी योजना संबल फिर से शुरू की गई है। इसी तरह से नगरीय क्षेत्रों की तरह ग्राम पंचायतों का मास्टर प्लान तैयार कर हर गांव का सुनियोजित विकास किया जायेगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान मंगलवार को सतना जिले के प्रवास के दौरान बीटीआई ग्राउण्ड में हितग्राही लाभ वितरण कार्यक्रम में आयोजित विशाल जनसभा को संबोधित कर रहे थे। इस मौके पर प्रदेश के पंचायत एवं ग्रामीण विकास राज्यमंत्री रामखेलावन पटेल, सांसद गणेश सिंह, विधायक जुगुल किशोर बागरी, नारायण त्रिपाठी, पूर्व विधायक प्रभाकर सिंह, शंकरलाल तिवारी, सुरेन्द्र सिंह गहरवार, जिला पंचायत की प्रधान सुधा सिंह, पूर्व महापौर ममता पाण्डेय, भाजपा जिलाध्यक्ष नरेन्द्र त्रिपाठी, लक्ष्मी यादव, योगेश ताम्रकार भी उपस्थित थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि जनता का प्यार और आशीर्वाद ही मेरी ताकत है। विन्ध्य की धरती में सरकार को असीम आशीर्वाद दिया है। इस प्यार और विश्वास को कभी टूटने नही दिया जायेगा। उन्होने आमसभा में आमजनता को दंडवत होकर प्रणाम भी किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि गणतंत्र का मतलब है, आम जनता के लिये तंत्र उनकी सेवाओं और सुविधाओं का ख्याल रखे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि गरीबों की हितकारी योजना संबल फिर से प्रारंभ की गई है। प्रदेश में 37 लाख गरीबों के नाम राशन की पात्रता सूची में जोड़े गये है। बीमारी में निःशुल्क इलाज के लिये 1 करोड़ 99 लाख लोगों को आयुष्मान भारत योजना से जोड़ा गया है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि आगामी 4 साल के भीतर मध्यप्रदेश की धरती पर सभी गरीबों को पक्के मकान मुहैया करा दिये जायेंगे। इसी प्रकार जल जीवन मिशन के तहत वर्ष 2024 तक शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों के हर घर में नल कनेक्शन देकर पेयजल उपलब्ध करा दिया जायेगा। पंचायत एवं ग्रामीण विकास राज्यमंत्री रामखेलावन पटेल ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री चौहान के नेतृत्व में राज्य सरकार ने सभी के सहयोग से मध्यप्रदेश को आत्मनिर्भर बनाने का संकल्प लिया है। शिक्षा, स्वास्थ्य, सुशासन, रोजगार, कृषि, उद्योग सहित सभी क्षेत्रों में विकास का रोडमैप बनाकर क्रियान्वयन प्रारंभ किया गया है। उन्होने आशा व्यक्त की, कि प्रदेशवासियों के सहयोग से मध्यप्रदेश पूरे देश में सबसे पहले आत्मनिर्भर बनेगा। सांसद गणेश सिंह ने अपने स्वागत भाषण में कहा कि मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सतना जिले को स्मार्ट सिटी, मेडिकल कॉलेज, बाणसागर का पानी जैसी अमूल्य सौगातें प्राथमिकता रूवरूप प्रदान की है। सतना को विन्ध्य क्षेत्र के सबसे सुन्दर शहर का स्वरूप देने 2 हजार 38 करोड़ की आगामी पंचवर्षीय कार्ययोजना पर मुख्यमंत्री जी ने गंभीरतापूर्वक समीक्षा की है।

Leave a comment