राज्य

Bihar Election: घटक दल बिगाड़ सकता है समीकरण, राजग और महागठबंधन में फंसा सीटों का पेंच

Bihar Election: घटक दल बिगाड़ सकता है समीकरण, राजग और महागठबंधन में फंसा सीटों का पेंच

पटनाः-बिहार विधानसभा चुनाव से पहले राज्य में सीटों को लेकर राजनीतिक दाव-पेंच जारी है। राज्य दोनों ही प्रमुख अलायंस NDA और Grand Alliance के घटक दल में सीटों के बंटवारे को लेकर उठापटक जारी है। जहां एक तरफ एनडीए के घटक दलों में सीटों की संख्या को लेकर अभी तक कोई सहमति नहीं बनी है, वहीं महागठबंधन में भी कुछ ऐसा ही देखने को मिल रहा है, यहाँ भी सहयोगी दल अलग रास्ता अख्तियार करने की संकेत दे रहे हैं। सीटों को लेकर दोनों प्रमुख गठबंधनों के घटक दलों में तल्ख तेवर दिख रहा है।

राजग का एक घटक दल लोजपा सीट बंटवारे से खुश नहीं हैं। लिहाजा लोजपा की प्रतिदिन इसको लेकर बैठकें भी हो रही है। पार्टी ने इस बात के भी संकेत दिए हैं कि अगर उनकी मांग नहीं मानी गयी तो वो अलग होकर उन 143 सीटों पर अपने उम्मीदवार खड़े करेंगे जहाँ नितीश वाली जदयू के प्रत्याशी खड़े होंगे यानि जहाँ भाजपा नहीं होगी। वैसे भी पार्टी प्रमुख ने कई बार नितीश के कार्यशैली पर भी उंगलियां उठाते रहे हैं।

एक जानकारी के अनुसार लोजपा आगामी विधानसभा चुनाव में एनडीए से अलग रास्ते पर चलने के लिए लगभग अब तैयार हो चुकी है, जिसका फैसला पार्टी प्रमुख चिराग के हाथों में है। वहीं भाजपा भी इस मामले में दिलचस्पी न के बराबर ले रही है।

उधर, महागठबंधन में कांग्रेस का भी सीट शेयरिंग को लेकर नाराज चल रही है। बताया जा रहा है कि महागठबंधन के सबसे बड़े घटक राष्ट्रीय जनता दल ने कांग्रेस को 65 सीटों पर चुनाव लड़ने का प्रस्ताव दिया है, जिसपर वह तैयार नहीं है। एक अन्य सूत्र के अनुसार कांग्रेस को राजद ने 58 विधानसभा सीटों के साथ एक लोकसभा सीट का भी फार्मूला दिया है। इस बीच कांग्रेस स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक के बाद कमेटी के अध्यक्ष अविनाश पांडेय ने सभी सीटों पर प्रत्याशी उतारने की बात कही है। अगर बात नहीं बनी तो कांग्रेस ने महागठबंधन से अलग होकर सभी सीटों पर चुनाव लड़ने की घोषणा कर सकती है। हालांकि, इस पर अंतिम फैसला पार्टी प्रमुख सोनिया गांधी को ही करना है।

Leave a comment