राज्य

दिल्ली-यूपी बार्डर और अप्सरा बार्डर पर प्रवासी मजदूर बड़ी संख्या में बस का कर रहे हैं इंतजार

दिल्ली-यूपी बार्डर और अप्सरा बार्डर पर प्रवासी मजदूर बड़ी संख्या में बस का कर रहे हैं इंतजार

नई दिल्लीः दिल्ली-यूपी बार्डर और अप्सरा बार्डर पर प्रवासी मजदूर बड़ी संख्या में जमा हो रहे है। यहां भारी भीड़ को देखकर ऐसा लग रहा है कि किसी को कोरोना संक्रमण का कोई डर नहीं हैं। लॉकडाउन के नियमों की लोग खुले तौर पर धज्जियां उड़ा रहे हैं। कोई शारीरिक दूरी का पालन नहीं हो रहा है। 

सूत्रों के मुताबिक, औरैया सड़क हादसे के बाद यूपी सरकार के उस आदेश के बाद यह भीड़ जुटी है जिसमें कहा गया है कि जो मजदूर पैदल जा रहे हैं उन्हें प्रशासन बस उपलब्ध कराएगा। बॉर्डर पर मजदूर लाइन लगाकर बस का इंतजार कर रहे हैं। लोगों से पूछने पर उन्होंने कहा कि वो अपने घर वापस जाना चाहते हैं। 

उधर सहारनपुर-अंबाला हाईवे पर बिहार के प्रवासी श्रमिकों को पुलिस ने रोका तो उनका गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंच गया। उन्होंने सहारनपुर-अंबाला हाईवे पर हंगामा कर दिया और पूरा हाईवे जाम कर दिया। ये सभी अपने घर बिहार वापस जाना चाहते हैं लेकिन पुलिस ने इन्हें रोक दिया है। इसी वजह से मजदूरों ने सरकार के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी और अंबाला हाई-वे जाम कर दिया।

प्रवासी श्रमिकों ने प्रशासन से मांग की है कि या तो उन्हें आगे बढ़ने दिया जाए या फिर उनकी वापसी के लिए ट्रेन या किसी अन्य साधन की व्यवस्था की जाए। अन्यथा वो अब यहीं बैठे रहेंगे, कहीं नहीं जायेंगे। सभी लोग नीतीश सरकार और केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर रहे हैं। हालात काफी तनावपूर्ण नजर आ रहे हैं। टकराव की स्थिति को देखते हुए प्रशासन ने हाईवे पर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया है।

उधर मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश के रीवा के चाकघाट बॉर्डर पर पुलिस ने प्रवासी मजदूरों को रोकना शुरू किया। प्रवासी मजदूर इतनी बड़ी संख्या में आ रहे हैं इसका अंदाजा पुलिस को भी नहीं था लिहाजा स्थिति सुधरने के बजाय बिगड़ती हुई दिखाई दी। भारी संख्या में प्रवासी मजदूर जब रोक दिए गए तो वह खाने की मांग करने लगे। प्रशासन इसके लिए तैयार नहीं था। रात 11 बजे तक मजदूरों को खाना नहीं मिला तो उन्होंने हंगामा शुरू कर दिया और हाईवे भी जाम कर दिया।

ज्ञात हो कि उत्तर प्रदेश के औरैया जिले में शनिवार को हुए भीषण सड़क हादसे के बाद सीएम योगी ने एक बार फिर से सभी अधिकारियों से प्रवासी मजदूरों के पैदल चलने पर रोक लगाने को कहा है। वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को जारी आदेश में स्पष्ट तौर पर सीएम योगी ने कहा कि किसी भी प्रवासी नागरिकों को पैदल, अवैध या असुरक्षित गाड़ियों से यात्रा न करने दिया जाए। इसी के चलते बार्डर पर टकराव की स्थिति बनी हुई है।

Leave a comment