राज्य

गुजरात के इट भठ्ठे में फसे मस्तुरी  के मजदूर लड़ रहे भूख से लड़ाई

गुजरात के इट भठ्ठे में फसे मस्तुरी के मजदूर लड़ रहे भूख से लड़ाई

संवाददाता : सूरज सिंह : मस्तुरी ( छतीसगढ़ )

मस्तुरी एस डी एम ने दिया हर संभव मदद का आश्वासन

कोरोना वाइरस के चलते छत्तीसगढ़ के 105 तिहाड़ी मजदूर जो लोग गुजरात के इट भठ्ठे में फंसे हैं गुजरात के चंडीसरगांव ढोलका में इनका सभी का कहना है कि उनको खाने पीने के लिए भी नही मिल रहा है ना ही गुजरात सरकार इनकी कोई मदद कर रही है आपको ये बता दे कि इनके साथ बहुत सारे बच्चे भी है जो भूखे पेट सोने को मजबूर है न शासन न ही भठ्ठे का मालिक किसी प्रकार का मदद कर रहा है

इनका यह भी आरोप है कि मालिक पहले खर्ची देता था पर लॉक डाउन हुआ तब से वो भी बंद कर दिया है जब मालिक से खर्चे के लिए या राशन के लिए पैसा या राशन मांगते है तो काम ही बंद है तो कहा से दु ऐसा बोल देते है सभी लोग चाहते है कि या तो  शासन द्वारा  खाने पीने की ब्यवस्था की जाय या हमे घर छोड़ा जाय नही तो हमारे बच्चे यह भूख से दम तोड़ देंगे संपूर्ण लॉकडाउन के चलते घर नहीं आ पा रहे और छत्तीसगढ़ शासन से गोहार लगा रहे है कि उन्हें बस घर  तक छोड़ने का ब्यावस्था किया जाए

(बोहापारा) अर्जुन भारद्वाज गोपेश्वर पाटले(केवतरा)रामरतन जांगड़े (कोहका)अजोध्या (भुईगाव)नीलकंठ राय(भगवानपाली)विजेंद्र (बोहारडीह)समयलाल(  चौवहा)राजू राय(भगवानपाली)राजू बंजारे (लवन खम्हरिया)पुरषोत्तम (मोहतरा)सुखचंद ओगरे(बीरगहनि)

लॉक डाउन की वजह से हमारे छत्तीसगढ़ के जितने भी मजदूर भाई बहन बाहर दूसरे राज्य में फसे हुए है उनका पूरा ध्यान रखा जा रहा है जो हमारी जानकारी में नही है उनको भी गांव गांव में सर्वे करा के जानकारी इक्कठा कराया जा रहा है हमारी पूरी कोशिश है कि किसी भी स्थिति में हमारे मजदूर भाई बहनो को किसी प्रकार की समस्या न हो हम लोकल प्रशासन से मिल कर पूरी मदद कर रहे है चाहे किसी भी राज्य में हो 
मोनिका वर्मा 
एस डी एम मस्तुरी

Leave a comment