ज्योतिष

लक्ष्मी और नारायण को पुरुसुक्त और लक्ष्मीसूक्त से अभिषेक विशेष फलदायी होता है।

लक्ष्मी और नारायण को पुरुसुक्त और लक्ष्मीसूक्त से अभिषेक विशेष फलदायी होता है।

ज्योतिष गुरु पंडित भानुजी महाराज शुक्ल लखनऊ से रायपुर पधारे हैं तथा उन्होंने अपने भक्त ऋद्धिपद के निवास में कहा कि ज्योतिष वेद का चक्षु है जिसके द्वारा मनुष्य के भूत, वर्तमान और भविष्य को जाना जा सकता है। यह सौ प्रतिशत विज्ञान है तथा गणित का भी बहुत बड़ा योगदान है। जैसे सात दिन होते हैं वैसे सात ग्रह होते हैं। आगामी 7 मई 2019 को अक्षय तृतीया है इसमें तैत्रीय योग आ रहा है जो कि व्यवसायियों के लिए तथा वैवहाहिक जीवन एवं शिक्षा से सम्बंधित व्यक्तियों को विशेष लाभ देगा। इस दिन देवी लक्ष्मी एवं नारायण की पूजन करना चाहिए क्यों कि शास्त्रों में संकेत दिया गया है कि इसी दिन लक्ष्मी-नारायण का मिलन हुआ था। साथ ही माता लक्ष्मी और नारायण को पुरुसुक्त और लक्ष्मीसूक्त से अभिषेक करने से उनकी कृपा प्राप्त होती है। इस दिन प्रारम्भ किया गया कोई भी कार्य सिद्ध होता है तथा व्यक्ति को सफलता दिलाता है।

Leave a comment