ज्योतिष

संसार में मां की ममता हे सर्वोपरि  - पं.गीताप्रसाद तिवारी

संसार में मां की ममता हे सर्वोपरि - पं.गीताप्रसाद तिवारी

 

हेमंत जयसवाल @ BBN24NEWS.COM

 

 बिर्रा में श्रीमद देवी भागवत का तीसरे दिन महिषासुर वध की कथा

 

 बिर्रा-भगवान की पूजा अर्चना करने से जो फल प्राप्त होता है उससे सौ गुना मातारानी की पूजन-अर्चन से प्राप्त होता है क्योंकि माता की महिमा अपार है।उक्त बातें नवरात्रि पर्व के सुअवसर पर जीवेन्द्र कश्यप परिवार द्वारा आयोजित संगीतमय  श्रीमद देवी भागवत कथा के तृतीय दिवस की कथा में महिषासुर मर्दन की कथा का विस्तार से वर्णन करते हुए व्यासाचर्य पं.गीताप्रसाद तिवारी ने कहा।उन्होंने कहा कि माता की वंदना करने से धन के साथ संतान व यशकीर्ति प्राप्त होती है।माता की वंदना सब करते है क्योंकि मां की ममता सर्वोपरि है।कथा के बीच बीच में संगीत के माध्यम से जसगीत में श्रोता झुमते रहते हैं।आज कथा श्रवण करने सह आचार्य पं.जितेन्द्र तिवारी, पं.नेमीशरण तिवारी,पं.ब्रजेश दुबे,मुख्य यजमान श्रीमती कौशिल्या-जीवेन्द्र कश्यप, जीवनलाल यादव,घनश्याम कश्यप, हिरेन्द्र कश्यप,भगवान प्रसाद, कांशीराम, अभिराम, रामकृपाल, राजकुमार, लखनलाल तिवारी, फिरतूराम गुप्ता, फेकूलाल,रामकृष्णो कश्यप, नंदकुमार,उमेश कश्यप, एम के तिवारी, कमल कश्यप, सौखीलाल, शोषकप्रसाद,सुरेशचंद कर्ष,कुलदीप, राजू कश्यप,पेमेन्द्र, पंचराम,राधेश्याम कश्यप, मनोजकुमार सहित भारी संख्या में महिला श्रद्धालु उपस्थित होकर देवी भागवत का श्रवण कर रहे है

 

संबंधित तस्वीर

Leave a comment