ज्योतिष

 कृष्ण जन्माष्टमी का धूम अपने आराध्य के दर्शन के लिए लोग बड़ी संख्या में मंदिरों सहित  घरो में लगाए भगवान के झूले

कृष्ण जन्माष्टमी का धूम अपने आराध्य के दर्शन के लिए लोग बड़ी संख्या में मंदिरों सहित घरो में लगाए भगवान के झूले

देशभर में जन्माष्टमी धूमधाम से मनायी जा रही है। बांके बिहारी का इंतजार श्रद्धालु बेसब्री से कर रहे हैं। मथुरा-वृंदावन के मंदिरों को खास तरह से सजाया गया है। अपने आराध्य के दर्शन के लिए लोग बड़ी संख्या में मंदिरों सहित घर-घर भगवान के झूले सजाएंगे  और विशेष आराधना होगी। मंदिरों में मोहक झांकी के साथ ही भगवान के दर्शन होंगे। विभिन्ना मंदिरों में मध्य रात्रि भगवान का जन्मोत्सव मनाया जाएगा। इस अवसर पर भगवान को झूला झुलाने और उनकी एक झलक पाने के लिए भक्तों की कतार लगेगी। बाल-गोपाल की रहेगी धूम विभिन्ना चौक-चौराहों पर दही-हांडी की प्रतियोगिता होगी। गीत-संगीत के साथ ही बाल-गोपालों की धूम रहेगी। बाजे-गाजे के साथ ही गोपालों की टोलियां निकलेंगी और दही-हांडी प्रतियोगिता के साथ कृष्ण जन्मोत्सव देर रात्रि तक रहेगा। 
विशेष संयोग के साथ भगवान का जन्मोत्सव मनेगा। 25 अगस्त को सूर्योदय के साथ ही अष्टमी तिथि का आगमन हो रहा है। अष्टमी तिथि 25 अगस्त को रात्रि 8.13 बजे तक रहेगी। इससे पूरे समय अष्टमी तिथि का प्रभाव रहेगा। इसके साथ ही मध्य रात्रि भगवान कृष्ण के जन्मोत्सव के समय रोहिणी नक्षत्र का भी संयोग रहेगा। इससे कृष्ण जन्माष्टमी भगवान कृष्ण के जन्म के समय बनने वाले संयोगों के साथ विशेष फलदायी रहेगी।

Leave a comment