ज्योतिष

126 साल बाद बन रहा गणेश चतुर्थी के दिन ऐसा योग

126 साल बाद बन रहा गणेश चतुर्थी के दिन ऐसा योग

रायपुर:-गणेश जी को सभी देवताओं में पूज्यनीय माना गया है। 22 अगस्त यानी शनिवार को गणेश चतुर्थी का पर्व मनाया जाएगा। कोई भी शुभ कार्य करने से पहले गणेश जी की आरती बेहद जरूरी मानी जाती है। गणेश चतुर्थी पर लोग गणेश जी को अपने घर लाते हैं, गणेश चतुर्थी के ग्यारहवें दिन धूमधाम के साथ उन्हें विसर्जित कर दिया जाता है और अगले साल जल्दी आने की प्रार्थना की जाती है।

ज्योतिष शास्त्रों की माने तो इस साल गणेश चतुर्थी ऐसे समय में मनाई जा रही है जब सूर्य सिंह राशि में और मंगल मेष राशि में हैं। सूर्य और मंगल का यह योग 126 साल बाद बन रहा है। यह योग विभिन्न राशियों के लिए अत्यंत फलदायी होगा। गणेश चतुर्थी पर हर साल जगह-जगह झांकी पांडाल सजाए जाते थे व प्रतिमाएं स्थापित की जाती थी, लेकिन इस वर्ष कोरोना के कारण गणेश जी की झांकियों पर प्रतिबंध है। इसके साथ ही प्रतिमाओं के ऊंचाई तय की गई है।

Leave a comment