राजनीति

बेगुसराय है सबसे हॉट सीट , तय करेगा 2019 के बाद की राजनीति

बेगुसराय है सबसे हॉट सीट , तय करेगा 2019 के बाद की राजनीति

सिमरिया घाट के तट पर बसा  बेगुसराय कभी भी किसी के नाम का मोहताज नही रहा है महान कथाकार और कवि  रामधारी सिंह दिनकर की धरती है बेगुसराय , इस जिले के अपना एक अलग की मिजाज है कहा जाता है कि बिहार कि मिजाज समझना है तो बेगुसराय को समझिए

दिनकर ने दिल्ली पर व्यंग करते हुए कहा था

भारत धूलों से भरा आंसुओं से गीला भारत अब भी व्याकुल विप्ति के घेरे में

दिल्ली में तो खूब ज्योति की चहल पहल पर भटक रहा सारा देश अंधेरे में

शाय़द यही कारण रहा है कि बेगुसराय की हवा बड़ी गरम बहा करती है नरेनद्र मोदी की काशी से लेकर राहुल के अमेठी और सोनिया की रायबरेली सीटें बीआईपी तो हैं लेकिन इस बार के चुनाव में चर्चित और हॉट सीट बेगुसराय की है क्योकी बीजेपी के फारय ब्रांड नेता गिरीराज सिंह भी यहां नहीं आना चाहते थे , कारण है इस बार जेएनयू से निकले छात्र नेता कन्हैया कुमार का यहां से चुनाव लड़ना अब बेगुसराय सिर्फ गिरीराज सिंह के लिए ही नही बल्कि बीजेपी के लिए भी प्रतिष्ठा  की सीट बन चुकी है बेगुसराय में 29 तारिख को वोटिंग होनी है , इस से पहले दोनो दलो ने अपनी अपनी ताकत झोंक दी है , जब हम ये कह कह रहे है की बेगुसराय 2019 के बाद की राजनिति को बदल सकता है तो इसके  पीछे की सारी राजनैतिक बिसात को समझने की जरूरत है

 अगर बेगुसराय से कन्हैया कुमार जीतते है तो कही ना ही मोदी के उग्र हिन्दूत्तव और राष्ट्रवाद की राजनिति को झटका लगेगा, यही कन्हैया फैक्टर बिहार के अंदर भी बदलाब जायेगा जैसे तेजस्वी के सामने अपनी झवि को बचाए रखने की होगी वहीं दूसरी ओर आरजेडी का माय समीकरण भी बिखरेगा

प्रगति राज जो युवा पत्रकार है उनका मानना है कि अब यहां सिर्फ भाजपा बनाम कन्हैया ही है

वो कहते है जिला कम्यूनिस्ट विचारधारा का गढ़ रहा है पुराने कार्यकर्ताओं को लग रहा है की उनको एक नया नेता मिल गया है, वहीं दूसरी ओर गिरिराज सिंह भावनाओं के आधार पर वोट मांग रहे है वो बार बार कहते है कि सिमरिया से मेरा पुराना नाता रहा है

बहरहाल दिनकर ने ये भी लिखा है

मेरे या से मेरा पुराना नाता रहा है

बहरहाल दिनकर ने ये भी लिखा है

मेरे भीतर एक आग है , जो बुझती नही हैं

तो फिर वह मुझे जला क्यों नही डालती है ?

 

Leave a comment