राजनीति

खराब मौसम के बीच..चुनावी सभा को संबोधित करने पहुँचे सीएम भूपेश बघेल।

खराब मौसम के बीच..चुनावी सभा को संबोधित करने पहुँचे सीएम भूपेश बघेल।

BBN24NEWS.COM

 

 मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आज चुनाव प्रचार करने कोंडागॉव के गोलावंड पहुंचे।हालांकि तय समय से विलम्ब में पहुंचे,वही ख़राब मौसम के बावजूद जनसैलाब कार्यक्रम में डटा रहा क्योकि इस संवेदनशील क्षेत्र में पहली बार किसी मुख्यमंत्री का आगमन हुआ था।

जहां चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा कि आचार संहिता खत्म होते ही गरीबों को 35 किलो चावल मिलेगा

मुख्यमंत्री बघेल ने पीएम नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि मोदी के बहुत से रूप है, कभी चाय वाला, कभी फक़ीर, कभी चौकीदार ऐसे कई रूप है. 10 लाख का सूट पहनने वाला फ़क़ीर कैसे हो सकता है,सीएम भूपेश बघेल ने कहा मोदी से सवाल पूछुंगा और सवाल पूछना जुर्म है तो भूपेश बघेल भी अपराधी है. उन्होंने कहा कि सवाल यह है कि गरीबों के खाते में 15 लाख कब आएंगे,विदेश से काला धन कब आएगा, किसानों के फसल की कीमत कब डेढ़ गुना होगी, अमित शाह के बेटे ने 50 हजार से 80 करोड़ कैसे कमा लिया. ऐसे कई सवाल है क्योंकि ये देश का सवाल है।

लोकसभा चुनाव में कांग्रेस का फोकस बस्तर पर है। यही वजह है कि लगातार कांग्रेस के बड़े नेताओं का बस्तर में दौरा हो रहा है. विधानसभा चुनाव में मिली जोरदार सफलता के बाद फरवरी महीने में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बस्तर का दौरा किया था। लोहंडीगुड़ा विकासखण्ड के धुरागांव में आयोजित आदिवासी कृषक अधिकार सम्मेलन में आदिवासियों को संबोधित करने के साथ टाटा स्टील से वापस ली गई जमीन किसानों को वापस की गई थी।

गौरतलब है कि बीते दो दशक से यह संसदीय सीट भाजपा के कब्जे में है विधानसभा चुनाव 2018 में बस्तर के आदिवासियों ने कांग्रेस को थोक में समर्थन दिया था, जिसका परिणाम रहा कि बस्तर लोकसभा की 8 विधानसभा की सीटों पर जिनमे कोंडागांव, नारायणपुर, बस्तर, जगदलपुर, चित्रकूट, बीजापुर, कोंटा और दंतेवाड़ा में केवल दंतेवाड़ा की सीट भाजपा जीत पाई थी, शेष सातों सीटों पर कांग्रेस ने जीत हासिल की थी। कांग्रेस सरकार बनाने में बस्तर का बहुत बड़ा योगदान रहा है ||

Leave a comment