राजनीति

कैबिनेट में  शिक्षाकर्मी के स्थान पर 12 दिसंबर को जश्न का एजेंडा पर चर्चा शर्मनाक : गीतांजली पटेल

कैबिनेट में शिक्षाकर्मी के स्थान पर 12 दिसंबर को जश्न का एजेंडा पर चर्चा शर्मनाक : गीतांजली पटेल

जांजगीर चन्द्रपुर:- प्रदेश सरकार के कैबिनेट की बैठक में शिक्षाकर्मी संघ व रसोईया संघ की मांगों को एजेंडा में शामिल न कर डॉ रमन सिंह की सरकार 12 दिसंबर को 14 वर्षों के पूर्ण होने के उपलक्ष में पूरे प्रदेश में जश्न मनाने के लिए आज की कैबिनेट में चर्चा किए जाने पर जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के नेत्री श्रीमती गीतांजली पटेल ने कहा कि लगता है सरकार इस बार 12 दिसंबर को अपने फेयरवेल (विदाई )पार्टी का आयोजन स्वयं कर रही है। प्रदेश के तमाम वह लोग जो प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से चाहे वह शिक्षाकर्मी हो चाहे पालक या विद्यार्थी जो शासकीय स्कूलों व शिक्षा से जुड़े हुए है वह आज के कैबिनेट की बैठक से यह आशा संजोये हुए थे कि शायद सरकार आज की कैबिनेट में सरकार शिक्षाकर्मियों के कुछ मांगो को मानकर, कुछ मांगो का आंशिक समर्थन कर अपने राजनीतिक चातुर्यता के द्वारा प्रदेश के नौनिहाल विद्यार्थियों के भविष्य की चिंता कर स्कूल आरंभ करायेगी ।किन्तु जिस प्रकार प्रदेश की मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह व उनके मंत्रिमंडल के साथी इस गंभीर विषय पर किसी प्रकार की चर्चा के योग्य ना मानते हुए जश्न मनाने के अजेंडा पर चर्चा कि यह इस बात का प्रमाण है कि लगातार 14 वर्ष सत्ता सुख पूरे मंत्रिमंडल को अहंकारी बना दिया है और अब इन्हें आम जनता की समस्याओं से कोई वास्ता नहीं रह गया। जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ की नेत्रीने कहा कि प्रदेश की किसान अपने उपज का उचित मूल्य ना मिलने के कारण प्रतिदिन आत्महत्या करते रहे एवं सरकार ने उस दौरान पांच दिवसीय राज्यउत्सव मनाकर जनता के पैसों की फ़िज़ूल खर्ची की । यदि सरकार चाहती तो पांच दिवसीय राज्यउत्सव के स्थान पर उन पैसों को गरीब किसानों के आर्थिक स्वावलंबन में उपयोग कर सकती थी जो राज्य उत्सव से बढ़कर अन्नदाता का उत्सव होता । आज भी सरकार 12 दिसंबर को 14 वर्ष पूरे होने के उत्सव के नाम पर होने वाले पैसों के फ़िज़ूल खर्ची को रोक कर उन पैसों से शिक्षाकर्मी की वेतन वृद्धि या उन्हें इंक्रीमेंट देकर भी प्रदेश की स्कूलों में पढ़ाई आरंभ करवा सकती है जब स्कूलों में अध्ययन अध्यापन का माहौल होगा प्रदेश का नौनिहाल शाला गणवेश में स्कूल जाना पुनः आरंभ करेगा वह डॉ रमन सिंह या उनके मंत्री की 14 वर्ष के उत्सव से बढ़कर प्रदेश का शिक्षित होने का उत्सव होगा।

Leave a comment