रोजगार

कठिन समय मे मनरेगा योजना बनी ग्रामीणों का सहारा- बीजापुर

कठिन समय मे मनरेगा योजना बनी ग्रामीणों का सहारा- बीजापुर

Danteshwar kumar ( chintu) 

बीजापुर-  नोवेल कोरोना वायरस के महामारी के चलते देश सहित बीजापुर क्षेत्र में लॉक डाउन की स्थिति बनी हुई है।
शासन के निर्देशों का कड़ाई से पालन करते हुए जिले में  सोशल डिस्टेसिंग के साथ ग्रामीण पंजीकृत परिवार महात्मा गांधी नरेगा के विभिन्न निर्माण कार्यों में लगे हैं। लॉक डाउन के इस कठिन समय में महात्मा गांधी नरेगा योजना जिले के ग्रामीणों की आर्थिक सहायता के लिए मददगार साबित हो रही है।जिले में महात्मा गांधी नरेगा अंतर्गत 32 ग्राम पंचायतों में 78 कार्य चल रहे हैं जिसमें  3665 मजदूर कार्यरत हैं।

जिला पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी पोषण चंद्राकर ने बताया कि मैदानी अमलों को  निर्देश दिये गए हैं कि किसी भी स्थिति में एक ही स्थान पर लोगों का जमावड़ा न हो। इस बात का  विशेष  विशेष ध्यान रखने पंचायतो को निर्देश दिए गए हैं। महात्मा गांधी नरेगा योजना से पंचायतों में हो रहे कार्यो में सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करते हुए कार्य संपादित किया जाने योजना से जुड़े मैदानी अमलों को कहा गया है। साथ ही कार्य स्थल पर हाथ धुलाई की व्यवस्था आवश्यक रूप से किये जाने को निर्देश दिए गए हैं। श्री चंद्राकर ने  बताया कि राज्य शासन द्वारा महात्मा गांधी नरेगा के कार्यों को कोरोना संक्रमण से बचाव के नियमों का सावधानी पूर्वक पालन कराते हुए रोजगार का अवसर उपलब्ध कराने के निर्देश जारी किये गए हैं।
जनपद पंचायत बीजापुर क्षेत्र में 3 ग्राम पंचायतों में 7 कार्य चल रहे है जिसमें 167 मजदूर कार्यरत है। जनपद पंचायत भोपालपट्टनम क्षेत्र में 12 ग्राम पंचायतों में 30 कार्य चल रहे है जिसमें  879 मजदूर कार्यरत हैं। जनपद पंचायत भैरमगढ़ क्षेत्र में 11 ग्राम पंचायतों में 19 कार्य चल रहे हैं जिसमें 1311 मजदूर कार्यरत हैं। जनपद पंचायत उसूर क्षेत्र में 6 ग्राम पंचायतों में 22 कार्य चल रहे हैं जिसमें 1307 मजदूर कार्यरत हैं।

Leave a comment