छत्तीसगढ़

नदी में फंसे ग्रामीणों को  रेस्क्यू कर निकाला गया

नदी में फंसे ग्रामीणों को रेस्क्यू कर निकाला गया

दंतेवाड़ा - सोमवार तक़रीबन १ बजे ज़िला दंतेवाड़ा के बारसूर थाना क्षेत्र में बहने वाली इंद्रावती नदी के कोड़नार-मूचनार घाट के पास मँझधार में फँसे होने की ख़बर पुलिस अधीक्षक श्री अभिषेक पल्लव आईपीएस को मिली। तत्काल श्री पल्लव अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री सूरज सिंह परिहार आईपीएस के साथ मौक़े पे रवाना हो गए। इस बीच ज़िला कमांडेंट को बचाव टीम मौक़े पे रवाना करने का निर्देश देकर जगदलपुर पुलिस कंट्रोल रूम के माध्यम से SDRF की टीम को भी तैय्यार रहने के निर्देश दिए गए। मौक़े पर स्थानीय अनुविभागिय पुलिस अधिकारी और थाना प्रभारी भी मौजूद थे। मौक़ास्थल का मुआयना करने पर पाया गया की २१ लोग मँझधार में शासन द्वारा प्रदान मोटर बोट का मोटर खराब होने से फँस गए हैं किंतु एक चट्टान पर बैठे हैं।आंकलन बाद जगदलपुर टीम को रोका गया और स्थानीय टीम से ४ फ़ेरी में सभी २१ लोगों (३ बच्चों समेत) को सुरक्षित बाहर निकाला गया। इस बीच कोई ग्रामीण आवेश में नदी में ना चला जाए इसके लिए पुलिस ने रस्सी पार्टी भी लगायी और समझाईश भी दी गयी। पूरा अभियान शाम ४.३० बजे समाप्त हुआ।इस दौरान सूचना मिलने पर कलेक्टर दंतेवाड़ा भी घटनास्थल पर पहुँच गए। स्थानीय ग्रामीणों को कहते सुना गया कि पहले भी इस तरह की घटनाएँ हुई हैं परंतु पहली दफ़ा है कि कलेक्टर-एस॰पी॰ और अन्य वरिष्ठ अधिकारी स्वयं घटनास्थल पर उपस्थित हुए। यह पुलिस प्रशासन एवं सिविल प्रशासन की बढ़ती जन-संवेदनशीलता का प्रतीक है।

Leave a comment