छत्तीसगढ़

बारिश के मौसम के साथ ही छोटे बड़े सभी नदी नालो में मानो जीवन प्रवाहित होने लगता है।...पढ़े ये खास रिपोर्ट

बारिश के मौसम के साथ ही छोटे बड़े सभी नदी नालो में मानो जीवन प्रवाहित होने लगता है।...पढ़े ये खास रिपोर्ट

विशेष रिपोर्ट■ संतोष साहू @ BBN24: कसडोल - कसडोल से मात्र 8 किमी की दूरी पर सिरपुर मार्ग पर बोरसी गॉव से 3 किमी अंदर घने जंगलो और छोटी छोटी पहाड़ियों के बीच सुरम्य वादियों में *कुटन नाला जलप्रपात* इन दिनों अपने यौवन की दहलीज पर खड़ा है। पत्थरों के बीच से बलखाती सुंदर सी जलधारा सफेद चमकते झरने के रूप में तब्दील होकर एक कुंड में समाहित हो जाती है, जो आगे नाले के रूप में परिवर्तित हो जाती है। लगभग 4 महीनों तक चलने वाला यह प्रपात बेहद खूबसूरत है। यहां तक पहुंचने कच्चे रास्ते और छोटे पेडों के बीच से गुजरते हुए जंगली फूलों के पेड़ मन को विभोर कर देता है। पलारी की तरफ से अमेठी महानदी को पर कर कसडोल मार्ग होते हुए जाया जा सकता है। सावधानी बरतें-प्रपात के नीचे कुंड में पत्थरों की दीवारों पर मधुमक्खियों के छत्ते हैं जिससे दूर रहें। वही कसडोल से पिथौरा मार्ग में 9 किलोमीटर पर स्थित है बहुत ही रमणीय झरना सिद्धखोल । जहाँ 100 फिट की गहराई में कलकल करती बूंदों का गुच्छा गुंजायमान हो रहा है । सोनाखान वन परिक्षेत्र द्वारा यहाँ पानी, शेड व सुरक्षा के लिए बर्बेटिंग किया गया है । रोजाना सैकड़ो पर्यटक प्रेमी आनंद उठा रहे है ।

Leave a comment