छत्तीसगढ़

पिता ने अपने जवान बेटे को खोया : मोटर्स और फाइनैंस कंपनी की दादागिरी के चलते युवक ने कि आत्महत्या...पढ़े पूरी खबर

पिता ने अपने जवान बेटे को खोया : मोटर्स और फाइनैंस कंपनी की दादागिरी के चलते युवक ने कि आत्महत्या...पढ़े पूरी खबर

 

सूर्यकान्त यादव @ bbn24news

कटारिया मोटर्स और बजाज फाइनैंस की दादागिरी के चलते युवक ने किया आत्महत्या, बजाज फाइनैंस कम्पनी के दादागिरी के चलते पिता ने अपने जवान बेटे को खोया, 50 हजार देने के बाद बिना बताये कंपनी 4 दिन मे गाडी को ले गई, गाडी वापस नही मिलने के कारण युवक नरेश ने किया आत्महत्या, परिवार ने 50 हजार के साथ बेटे का खोने का गम से है मानसिक रुप से परेशान, कंपनी के दादागिरी के चलते बेटे की आत्महत्या करने की कंपनी के खिलाफ डोंगरगांव थाने मे की लिखित शिकायत।डोंगरगांव थाना क्षेत्र के रेस्ट हाऊस कैम्पस के रहने वाले नरेश गुनेन्द ने मोटरसाइकिल और बजाज फाइनैंस कम्पनी के दादागिरी के चलते मानसिक रूप से परेशान युवक ने जहर सेवन कर आत्महत्या कर ली जिसकी शिकायत परिजनो ने कंपनी के खिलाफ डोंगरगांव थाने मे लिखित शिकायत की है जिस पर पुलिस मामला दर्ज कर विचेचना मे जुटी है। 

 राजनांदगांव जिले में फाइनैंस कम्पनी की दादागिरी के किस्से लगातार सूनने को मिल रहा है ऐसा ही एक मामला डोंगरगांव थाना मे आया है डोंगरगांव थाना क्षेत्र के रेस्ट हाऊस कैम्पस में रहने वाले केशव राम गुनेन्द के पुत्र 23 वर्षीय नरेश गुनेन्द ने 19 जून को दुर्ग जिले के कृष्णा टाकीज़ रोड रिसाली भिलाई के कटारिया मोटर्स मे 50 हजार रूपये देकर पूरी फार्मेल्टी देकर केटिम नामक बाईक खरीदी जिस पर बजाज फांईनेस ने 6 हजार 8 सौ रूपये का किस्त 3 साल के लिए बनाया जिसके बाद युवक ने 50 हजार देकर अपने बडे भाई रोशन के नाम से फांईनेस करवा करवाया और 50 हजार की रसीद और गाडी लेकर डोंगरगांव आ गये और दो दिन से तीन दिन तक गाडी मे घूमते रहे लेकिन बजाज फाइनैंस कम्पनी को ऐसा क्या हुआ या क्या मानसिकता बनाई जिसके बाद 23 जुलाई को रात 11 बजे से रात 3 बजे तक युवक ने घर मे युवक के माता पिता को परेशान करता रहा और बजाज फाइनैंस कम्पनी के लोग बीना बताये गाडी को युवक के घर से भिलाई वापास ला लिया और जब सूबह युवक उठा और अपने मोटरसाइकिल को घर पर नही दिखा तो डोंगरगांव थाने मे गाडी चोरी की रिपोर्ट लिखाई जिस पर पता चला की गाडी को बजाज फाइनैंस कम्पनी के लोग ले गये है जिस पर युवक नरेश गुनेन्द के पिता केशव और बडे भाई रोशन गुनेन्द ने भिलाई कटारिया मोटर्स पहुचकर गाडी लाने की जानकारी ली जिस पर कटारिया मोटर्स ने बजाज फाइनैंस को गाडी लाने की बात करते फाइनैंस नही होने की बात करते बजाज फाइनैंस अपनी दादागिरी करते गाव से पहुचे लोगो को डाऊंन प्रमेंट 50 हजार रूपये मे 15 से 20 हजार काटे की बात करते परिजन के एकाउंट पर रूपये डालने की बात कहकर मोटरसाइकिल को वापस नही जिसके बाद युवक के पिता और बडे भाई भिलाई से डोंगरगांव के वापस आ रहे थे तभी गाडी के प्रेमी नरेश ने अपने पिता को फोन कर पूछा की पापा गाडी को ला रहे है क्या जिस पर पिता ने बजाज फाइनैंस की दादागिरी बाते को बताया और गाडी नही देने और रूपये भी नही लौटाने की बात को अपने लडके को फोन पर जानकारी दी जिसपर गाडी के शौकीन 23 वर्षीय नरेश ने गाडी नही मिलने और बजाज फाइनैंस रूपये लेने के बाद भी गाडी को नही देने पर मानसिक रूप से परेशान होकर 24 जून को शाम 4 से 5 बजे बीज जहर सेवह कर आत्महत्या कर मौत को गले लगा लिया वही पिता और भाई रास्ते पर थे वे घर ही नही पहुचे थे और पिता को बेटे का खोने का संदेश मिला जिसके बाद जवान बेटे जाने के गम से ऊपर नही पाये है वही पुत्र की जान जाने के बाद युवक के पिता ने कटारिया मोटर्स रिसाली भिलाई और बजाज फाइनैंस कम्पनी के दादागिरी से परेशान और मानसिक रूप से परेशान होकर युवक की आत्महत्या करने की लिखित शिकायत डोंगरगांव थाने मे की है वही इस पूरे मामले मे डोंगरगांव थाना ने मामला दर्ज कर मामले की जांच मे जूटी है। 

Leave a comment