छत्तीसगढ़

ग्रामीणों ने लगाया आरोप एलोवेरा की खेती कराने के नाम पर ठगी करने वाली महिला के खिलाफ ग्रामीण पहुंचे थाना

ग्रामीणों ने लगाया आरोप एलोवेरा की खेती कराने के नाम पर ठगी करने वाली महिला के खिलाफ ग्रामीण पहुंचे थाना

गुलाब दीवान @BBN24 NEWS - बिलाईगढ़ थाने में सैकड़ों की संख्या में टुण्डरी गांव के ग्रामीण पहुचे .वही ग्रामीणों आरोप लगाया है कि उनके ही गांव में रहने वाली महिला लीला बाई वर्मा ने एलोवेरा की खेती करने और उसमें रोजगार देने की बात कहकर करोड़ों रुपए ठग लिए. ग्रामीणों के अनुसार लीला बाई वर्मा ने ग्रामीणों से एक स्कीम के अनुसार क़िस्त क़िस्त में चौदह करोड़ रूपये लगभग जमा कराया और कहा कि वो एलोवेरा की खेती करेगी, जिससे गांव की महिलाओं को गांव में ही रोजगार मिलेगा. इस योजना के मुताबिक जो जितना पैसा जमा करेगा उसका हर महीने ग्रामीणों को पांच प्रतिशत ब्याज भी मिलेगा.रोजगार और कमीशन का झांसा दिया इस कहानी को सुनने के बाद ग्रामीण लीला बाई वर्मा के झांसे में आ गए और उसकी स्कीम में पैसा जमा करना शुरू कर दिया. स्कीम की शुरुआत में ग्रामीणों को बाकायदा 5 प्रतिशत ब्याज हर महीने मिलने लगे. इसके बाद ग्रामीणों ने बैंक से लोन लेकर लीला बाई को दे दिए, ग्रामीणों ने लीला बाई को जो पैसा दिया इसके बदले में उसके बेटे के नाम पर स्टांप में लिखा-पढ़ी करवा लिया गया. स्टांप में लिखवाने से ग्रामीणों को ये विश्वास था कि उनका पैसा कहीं नहीं जाएगा, लेकिन जब लीला बाई और उसके परिवार का भांडा फूटा तब-तक बहुत देर हो चुकी थी, लीला बाई और उसका पूरा परिवार घर में ताला जड़कर फरार हो चुका था. लीला बाई के गांव से फरार होने पर ग्रामीणों के होश उड़ गए. ग्रामीण बिलाईगढ़ थाना पहुंचे, जहां उन्होंने लीला बाई और उसके परिवार के खिलाफ थाने में शिकायत दर्ज कराई. पुलिस ने शिकायत के आधार पर लीला बाई के भाई अनिल कूम्भज और उसके पति iकार्तिकराम उर्फ़ उमेन्द्र वर्मा,उमाशंकर वर्मा iको हिरासत में ले लिया है और मामले की जांच चल रही है.अब देखना यह की क्या पुलिस प्रशासन ग्रामीणों की मदत कर राशि वापसी करवा पाते है

Leave a comment