छत्तीसगढ़

बिलासपुर में रेत का अवैध खनन जारी ,एनजीटी के आदेश के बाद भी अवैध खनन जोरो पर ,विभागीय अधिकारी कार्रवाई का कर रहे हैं दावा, पढ़े पूरा मामला

बिलासपुर में रेत का अवैध खनन जारी ,एनजीटी के आदेश के बाद भी अवैध खनन जोरो पर ,विभागीय अधिकारी कार्रवाई का कर रहे हैं दावा, पढ़े पूरा मामला

अजीत मिश्रा bbn24news : बिलासपुर हाई कोर्ट और एनजीटी के निर्देश के बावजूद बिलासपुर में रेत के अवैध खनन बदस्तूर जारी है । लगातार रेत के अवैध खनन की शिकायतें विभाग को मिल रही है इस पर कार्रवाई होती है और बाकी सब सेटिंग से संभव होता है । वही रेत खदानों के आवंटन को लेकर भी राज्य सरकार ने नीति में बदलाव किया है । विभागीय अधिकारियों का दावा है कि नई नीति के तहत के खदानों के आवंटन से सरकार को रॉयल्टी पहले से बेहतर ढंग से प्राप्त होगी साथ में रेत के अवैध खनन पर भी रोक लगेगा। प्रदेश सरकार के नई खनन नीति के तहत बिलासपुर सभी 32 रेत खदानों को 3-3 के यूनिट में बाटकर आबंटन किया जाएगा। फिलहाल नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल के आदेश के अनुसार बारिश लगने के बाद 16 जून से 15 अक्टूबर तक रेत के खनन में पाबंदी है । जहाँ नदी की सेहत को लेकर एक तरफ जिला प्रशासन लगातार जागरूकता कार्यक्रम चला रही है तो, वहीं दूसरी तरफ रेत माफियाओं की सक्रियता के कारण अवैध खनन अब भी जारी है। विभागीय अधिकारियों की मानें तो इस तरह की शिकायतें हैं उन्हें मिल रही है खनिज अधिकारी एमआर मालवीय की मानें तो इस पर समय-समय पर कार्रवाई होती रहती है लेकिन पूरी तरह रोक लगा पाने में वह भी असमर्थ हैं। । अवैध रेत खनन की शिकायत है तो रोजाना सैकड़ों की संख्या में खनिज विभाग पहुंचती है लेकिन कार्रवाई गिने-चुने ही होते हैं क्योंकि ज्यादातर मामले खनिज विभाग के अधिकारी ले देकर सेट कर लेते हैं ऐसे स्थिति में जाहिर सी बात है कि जो रेत माफिया सकरी है उन्हें सरकारी संरक्षण मिल जाता है दूसरी तरफ सरकार की नीतियों और कोर्ट और एनजीटी के निर्देशों को ताक पर रख विभागीय अधिकारी पूरा खेल खेल जाते हैं।

Leave a comment