छत्तीसगढ़

जांजगीर-चांपा जिले में कोरोना की जांच हुई आसान शुरू हुआ आरटीपीसीआर लैब कलेक्टर ने किया वायरोलॉजी लैब का उद्घाटन

जांजगीर-चांपा जिले में कोरोना की जांच हुई आसान शुरू हुआ आरटीपीसीआर लैब कलेक्टर ने किया वायरोलॉजी लैब का उद्घाटन

जांजगीर-चांपा 19 मई 2022/ जांजगीर-चांपा जिले में अब कोरोना की जाँच आसान हो गई है। पुराने जिला अस्पताल परिसर के भवन में वायरोलॉजी लैब स्थापित हो जाने से यहाँ आरटीपीसीआर (रियल टाइम पॉलीमेरसे चैन रिएक्शन) जाँच के लिए बाहर सैम्पल भेजने की जरूरत भी नहीं पड़ेगी। आधुनिक सुविधायुक्त लैब में प्रतिदिन 300 मरीजों की आरटीपीसीआर जांच हो सकेगी। कलेक्टर श्री जितेंद्र कुमार शुक्ला ने आमनागरिकों की सुविधा के लिए आज इस वायरोलॉजी लैब का शुभारंभ किया। उन्होंने वायरोलॉजी लैब की स्थापना को जिले के लिए एक बड़ी उपलब्धि बताते हुए कहा कि आने वाले समय में मुख्यमंत्री इस लैब का औपचारिक उदघाटन करेंगे। पुराने जिला अस्पताल परिसर में वायरोलॉजी लैब का शुभारंभ करने के साथ कलेक्टर श्री शुक्ला ने यहाँ उपलब्ध सुविधाओं का निरीक्षण किया। उन्होंने तकनीकी विशेषज्ञों से कोरोना जाँच की प्रक्रिया जानी। कलेक्टर ने कोरोना जाँच के दौरान सैम्पल संग्रहण में विशेष सावधानी बरतने के भी निर्देश दिए। इस दौरान उन्होंने कहा कि जांजगीर-चाम्पा जिलेवासियों के लिए यह बड़ी उपलब्धि है। यहाँ के निवासियों को कोरोना जाँच के लिए बाहर निर्भर नहीं रहना पड़ेगा। आज बहुप्रतीक्षित माँग पूरी हुई है। लैब के स्थापना के पश्चात जाँच प्रक्रिया आसान होंगी। रिपोर्ट भी जल्दी मिलने के साथ सही मिलेगी। कलेक्टर ने कहा कि कोरोना की जाँच जितनी जल्दी होगी, उतनी ही। जल्दी हम अपने जिले को कोरोना मुक्त बना पाएंगे। उन्होंने कोरोना से बचने के लिए जारी गाइडलाइन का पालन करने और मास्क पहनने की भी अपील की। सिविल सर्जन ने बताया कि वायरोलॉजी लैब के माध्यम से संदिग्ध कोरोना मरीजों का नाक एवं गले का स्वैब लेकर आरटीपीसीआर जांच प्रशिक्षित कुशल टीम द्वारा की जाएगी। पहले जांच रिपोर्ट मिलने में देरी होती थी। जिला अस्पताल में सैंपल लेने व वायरोलॉजी लैब में जांच के पश्चात उसी दिन रिपोर्ट मिल जाएगी और संबंधित व्यक्ति के मोबाइल नंबर पर रिपोर्ट भेजा जाएगा। भविष्य में इस लैब में हेपेटाइटिस वायरल लोड एवं अन्य कई वायरस की मात्रा जानने में आसानी होगी। इस अवसर पर मुख्य स्वास्थ्य एवं चिकित्सा अधिकारी डॉ राजेश कुमार, सिविल सर्जन डॉ अनिल जगत, लैब इंचार्ज डॉ अश्वनी राठौर, डॉ आर.ए.एल ठाकुर, डीपीएम विभा टोप्पो, साइंटिस्ट डॉ. डेनिश मीका, सहित टेक्निकल स्टाफ उपस्थित थे।

Leave a comment